घर पर बनाये नारियल तेल फेस मास्क – Homemade Coconut Oil Face Mask in Hindi

by

स्वास्थ्य के लिए नारियल का इस्तेमाल किसी औषधि से कम नहीं। पोषक तत्वों से भरपूर नारियल का इस्तेमाल विभिन्न रूपों में किया जाता है। खासकर, नारियल का तेल विश्व भर में प्रसिद्ध है। नारियल तेल का इस्तेमाल खाना बनाने से लेकर बालों और त्वचा के लिए भी किया जाता है। यही वजह है कि स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम नारियल तेल फेस मास्क से जुड़ी जानकारी देने जा रहे हैं। यहां आप नारियल तेल फेस मास्क के विभिन्न फायदों से लेकर कैसे घर पर बनाए नारियल तेल फेस मास्क के तरीके भी जान पाएंगे। ध्यान रहे नारियल तेल लगाने के फायदे लेख में बताई गईं कुछ त्वचा समस्याओं को कम करने का काम कर सकते हैं, लेकिन ये इनका इलाज नहीं हैं।
आइए, आपको बता दें कि घर पर बनाए नारियल तेल फेस माक्स के फायदे क्या क्या होते हैं।

विषय सूची


नारियल तेल फेस मास्क के फायदे – Benefits of Coconut Oil Face Mask in Hindi

नारियल तेल फेस माक्स के फायदे नीचे बताई गईं समस्याओं के प्रभाव को कम करने में एक सहायक भूमिका निभा सकते हैं।

1. मुंहासों के लिए

मुंहासे एक ऐसी समस्या जो कभी भी किसी को भी हो सकती है। इसका न कोई मौसम होता है और न कोई समय। मुंहासे कुछ बैक्टीरिया जैसे पी.एक्ने (Propionibacterium Acnes) की वजह से भी हो सकते हैं। ऐसे में, इन बैक्टीरिया को खत्म करने के लिए नारियल तेल में मौजूद मोनोलॉरिन नामक तत्व काम कर सकता है। मोनोलॉरिन को लॉरिक एसिड से निकाला जाता है। इसमें एंटीमाइक्रोबियल गुण पाए जाते हैं, जो मुंहासे फैलाने वाले बैक्टीरिया को खत्म करने का काम कर सकता है (1)। कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय द्वारा किए गए एक शोध में पाया गया है कि लॉरिक एसिड में भी एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं, जो पी.एक्ने बैक्टीरिया को खत्म करने से मदद कर सकते हैं (2)।

2. त्वचा की नमी बनाए रखे

नारियल तेल फेस मास्क के फायदे त्वचा में नमी बनाए रखने में मदद कर सकते हैं। नारियल तेल को एमोलिएंट (Emollient) की श्रेणी में डाला गया है, जो त्वचा को नमी देने और कोमल बनाने में मदद कर सकता है। यह एक तरह का फैटी एसिड होता है, जो त्वचा की सबसे ऊपरी परत और त्वचा का निर्माण करने वाली कोशिकाओं को स्वस्थ बनाए रखने में मदद कर सकता है (3)। इसके साथ, वर्जिन कोकोनट ऑयल त्वचा में पानी और ग्लिसरॉल का सही तरीके से वितरण करता है, जिससे त्वचा में नमी बनाए रखने में मदद मिल सकती है (4)।

3. इन्फ्लेमेशन कम करे

किसी भी कीड़े या मच्छर के काटने पर नारियल का तेल लगाया जा सकता है, यह कीड़ों के काटने की वजह से हुई सूजन से राहत दे सकता है। इसके साथ, यूवी रेडिएशन की वजह से भी त्वचा में इन्फ्लेमेशन हो सकता है। ऐसे में, वर्जिन कोकोनट ऑयल में पाए जाने वाले एंटी इंफ्लेमेटरी गुण त्वचा को यूवी रेडिएशन के प्रभाव से बचाने का काम कर सकते हैं। इसके साथ यह त्वचा को कैंसर, बढ़ती उम्र से लक्षण, डर्मेटाइटिस और एक्जिमा (त्वचा पर लाल खुजलीदार चकत्ते) से बचाने में भी लाभदायक साबित हो सकता है (4)। इस प्रकार नारियल तेल फेस पैक के फायदे त्वचा को स्वस्थ बनाए रखने में मदद कर सकते हैं।
आइए, अब आपको बताते हैं कि किस तरह घर पर बनाए नारियल तेल फेस पैक।

घर पर बनाये नारियल तेल फेस मास्क – Homemade Coconut Oil Face Mask in Hindi

1. रेडियंट त्वचा के लिए शहद और नारियल तेल के फायदे

सामग्री :

  • एक चौथाई कप नारियल तेल
  • एक चम्मच शहद
  • एक चौथाई शिया बटर

विधि :

  • एक बाउल में नारियल तेल और शिया बटर लें और उसे माइक्रोवेव में रख कर पिघला लें।
  • अब बाहर निकाल कर उसे थोड़ा सा ठंडा करें और उसमें शहद मिलाएं।
  • अच्छी तरह मिलाकर, इसे फेस पर अच्छी तरह लगाएं।
  • लगभग आधे घंटे तक सूखने के बाद चेहरे को धो लें।

किस तरह की त्वचा के लिए उपयुक्त :

  • सभी प्रकार की त्वचा के लोग इसका उपयोग कर सकते हैं।

कैसे काम करता है :

नारियल तेल के साथ, शहद में भी एंटीमाइक्रोबियल गुण पाए जाते हैं, जो त्वचा को संक्रमण फैलाने वाले बैक्टीरिया से बचा सकते हैं। साथ ही यह त्वचा को यूवी किरणों से होने वाली क्षति से भी बचा सकता है और कोशिकाओं को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है। इसमें एंटी इंफ्लेमेटरी गुण भी होते हैं, जो त्वचा पर हुई सूजन को कम करने में मदद कर सकता है (5)। इसके साथ, शिया बटर एक मॉइस्चराइजर की तरह काम करता है और त्वचा की नमी बनाए रखने में मदद कर सकता है (6)। घर पर बनाए नारियल तेल फेस पैक में शहद मिलाने से त्वचा को स्वस्थ रखने और उसकी चमक बरकरार रखने मदद मिल सकती है।

2. साफ त्वचा के लिए ओवरनाइट नारियल ऑयल फेस मास्क

सामग्री :

  •  एक चम्मच नारियल तेल
  • दो से तीन बूंद टी ट्री ऑयल
  • एक स्प्रे बोतल

विधि :

  • एक कटोरी में दोनों तेलों को अच्छी तरह मिलाकर स्प्रे बोतल में भर लें।
  • रात में सोने से पहले, चेहरे को अच्छी तरह साफ कर लें और इस तेल की तीन से चार बूंद चेहरे पर लगाएं।
  • अब हल्के हाथों से चेहरे पर कुछ देर मसाज करें और सो जाएं।
  • सुबह उठ कर चेहरे को साफ पानी से धो लें।

किस तरह की त्वचा के लिए उपयुक्त :

  • संवेदनशील, रूखी और कॉम्बिनेशन त्वचा वाले लोग इसे हर रात लगा सकते हैं। तैलीय त्वचा वाले लोग इसका उपयोग हर दूसरे दिन कर सकते हैं। इसका उपयोग करते समय टी ट्री ऑयल का ज्यादा उपयोग न करें।

कैसे काम करता है :

यह तो हम ऊपर बता ही चुके हैं कि नारियल तेल में एंटी बैक्टीरियल और एंटी माइक्रोबियल गुण होते हैं, जो बैक्टीरिया से लड़कर त्वचा को साफ रखने में मदद कर सकते हैं (1) (2)। इसके साथ, टी ट्री ऑयल में भी एंटी माइक्रोबियल गुण पाए जाते हैं, जिसकी बदौलत यह त्वचा को कई तरह के बैक्टीरिया, वायरस, फंगस और संक्रमण से बचाव कर सकता है। टी ट्री ऑयल में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण भी पाए जाते हैं, जो त्वचा पर होने वाली सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं (7)।

3. रंग साफ करने के लिए हल्दी और नारियल तेल का फेस पैक

सामग्री :

  • तीन चम्मच नारियल तेल (पिघला हुआ)
  • आधा छोटा चम्मच हल्दी पाउडर
  • आधा छोटा चम्मच नींबू का रस
  • एक चम्मच शहद

विधि :

  • एक बाउल में सारी सामग्री को एक साथ मिला लें।
  • अब चेहरे को साफ करके इस पैक को लगाएं।
  • इसे लगभग 15-20 मिनट के लिए चेहरे पर लगे रहने दें।
  • अच्छी तरह सूख जाने के बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।

किस तरह की त्वचा के लिए उपयुक्त :

  • यह सभी प्रकार की त्वचा के लिए उपयुक्त है और इसका उपयोग हफ्ते में दो से तीन बार किया जा सकता है। अगर आपकी त्वचा संवेदनशील है तो इस पैक में नींबू का उपयोग न करें।

कैसे काम करता है :

घर पर बनाए नारियल तेल फेस पैक में हल्दी मिलाने से त्वचा का रंग साफ करने में मदद मिल सकती है। दरअसल, त्वचा को रंग मेलानिन नामक एक पिगमेंट से मिलता है, जिसका निर्माण कुछ खास प्रकार की सेल्स करती हैं। इस प्रक्रिया को मेलानोजेनेसिस (Melanogenesis) कहा जाता है। शरीर में मेलानिन का स्तर बढ़ने से त्वचा का रंग गहरा हो सकता है (8) (9)। एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायो टेक्नोलॉजी इनफार्मेशन) द्वारा प्रकाशित एक शोध में पाया गया है कि हल्दी मेलानोजेनेसिस की प्रक्रिया को रोकने में मदद कर सकता है, जिससे त्वचा का रंग साफ करने में मदद मिल सकती है (10)। वहीं नींबू के अर्क को एक प्राकृतिक स्किन लाइटनर माना जाता है, जिसका संतुलित मात्रा में उपयोग त्वचा को ब्लीच कर के उसका रंग साफ कर सकता है (11)।

4. ब्लैकहेड्स के लिए बेकिंग सोडा और नारियल तेल का फेस मास्क

सामग्री :

  • एक बड़ा चम्मच नारियल तेल
  • एक छोटा चम्मच बेकिंग सोडा

विधि :

  •  एक बाउल में दोनों सामग्री को अच्छी तरह मिलाकर पेस्ट बना लें।
  • इस पेस्ट को चेहरे के ब्लैकहेड्स प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं।
  • उंगलियों की मदद से चेहरे पर लगभग 10 मिनट तक मसाज करें।
  • अंत में गुनगुने पानी से चेहरा धो लें।

किस तरह की त्वचा के लिए उपयुक्त :

  • यह सभी प्रकार की त्वचा के लिए उपयुक्त है और इसका उपयोग हफ्ते में दो बार किया जा सकता है।

कैसे काम करता है :

ब्लैकहेड्स एक प्रकार के एक्ने होने होते हैं, जो अक्सर नाक के आसपास हो जाते हैं (12)। ऐसे में नारियल के तेल में मौजूद एंटीबैक्टीरियल गुण एक्ने फैलाने वाले कीटाणु को खत्म करने में मदद कर सकता है (1)। इसके साथ बेकिंग सोडा त्वचा को एक्सफोलिएट करके, ब्लैक हेड्स निकालने में मदद कर सकते हैं। हालांकि, बेकिंग सोडा इसमें कितना कारगर साबित होगा, इस पर कोई शोध उपलब्ध नहीं है।

5. ग्लोइंग त्वचा के लिए कॉफी और नारियल तेल का फेस मास्क

सामग्री :

  •  एक चम्मच नारियल तेल
  • एक चम्मच कॉफी पाउडर

विधि :

  •  एक बाउल में दोनों सामग्री को अच्छी तरह मिला लें और पेस्ट बना लें।
  • इस पेस्ट को पूरे चेहरे पर लगाएं और लगभग पांच मिनट तक उंगलियों से मसाज करें।
  • अब इसे 10-15 मिनट के लिए चेहरे पर सूखने के लिए छोड़ दें।
  • अंत में गुनगुने पानी से चेहरा धो लें।

किस प्रकार की त्वचा के लिए उपयुक्त :

  • सभी प्रकार की त्वचा पर इसका उपयोग हफ्ते में दो बार किया जा सकता है।

कैसे काम करता है :

यूवी किरणें त्वचा पर हानिकारक प्रभाव डालकर, समय से पहले बढ़ती उम्र के लक्षण दिखने का कारण बन सकती हैं। ऐसे में, कॉफी का अर्क त्वचा पर यूवी किरणों के प्रभाव को कम कर, बढ़ती उम्र के लक्षण जैसे झुर्रियां को कम कर सकता और त्वचा का लचीलापन बढ़ाने में मदद कर सकता है। इसके साथ कॉफी कोलेजन बढ़ाने में भी मदद कर सकती है (13)। इन गुणों की वजह से नारियल तेल फेस मास्क के फायदे के साथ मिल कर कॉफी त्वचा की चमक बनाए रखने में मदद कर सकती है।

6. एलो वेरा और नारियल तेल का फेस मास्क

सामग्री :

  • एक चम्मच नारियल तेल
  • एक चम्मच एलो वेरा जेल

विधि :

  •  एक बाउल में नारियल तेल और एलो वेरा जेल को अच्छी तरह मिला लें।
  • इस पेस्ट को चेहरे पर लगाकर, दो से तीन मिनट तक उंगलियों से मसाज करें और सूखने के लिए छोड़ दें।
  • लगभग 10 मिनट सूखने के बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।

किस प्रकार की त्वचा के लिए उपयुक्त :

  • यह फेस मास्क सभी प्रकार की त्वचा के लिए उपयुक्त है। इसका उपयोग हफ्ते में दो से तीन बार किया जा सकता है।

कैसे काम करता है :

नारियल का तेल त्वचा में नमी बनाए रखने में मदद कर सकता है और साथ ही इसमें मौजूद एंटीबैक्टीरियल गुण त्वचा को कई प्रकार के संक्रमण से बचा सकते हैं (3) (1)। एलो वेरा के साथ उपयोग करने से घर पर बनाए नारियल तेल फेस पैक के फायदे दोगुने हो जाते हैं। एलो वेरा में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जो त्वचा को यूवी किरणों के हारिकारक प्रभाव से बचाते हैं। इसके साथ इसमें एंटीसेप्टिक गुण भी होते हैं, जो कई प्रकार के बैक्टीरिया, वायरस और फंगस संक्रमण से त्वचा को बचा सकते हैं। एलो वेरा के मॉइस्चराइजिंग गुण त्वचा को नम और कोमल बनाए रखने में मदद करते हैं और एंटीएजिंग गुण, बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम कर सकते हैं (14)।

7. मुंहासों के लिए दालचीनी और नारियल तेल का फेस मास्क

सामग्री :

  •  एक चम्मच नारियल तेल
  • एक चम्मच ऑर्गेनिक दालचीनी पाउडर
  • आधा चम्मच शहद

विधि :

  • एक बाउल में सभी सामग्री को मिलाकर पेस्ट बना लें।
  • इस पेस्ट को मुंहासों पर लगाएं और छोड़ दें।
  • लगभग 20 मिनट के बाद चेहरे को साफ पानी से धो लें।

किस प्रकार की त्वचा के लिए उपयुक्त :

  • सभी प्रकार की त्वचा के लिए इसका उपयोग किया जा सकता है। इस मास्क का उपयोग हफ्ते में दो से तीन बार किया जा सकता है। दालचीनी का उपयोग अधिक मात्रा में करने से त्वचा पर जलन हो सकती है, इसलिए इसका उपयोग सीमित मात्रा में ही करें।

कैसे काम करता है :

एनसीबीआई द्वारा प्रकाशित एक अध्ययन में यह पाया गया है कि दालचीनी और शहद से बने पैक को एक्ने से निजात पाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। इनमें एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जो मुंहासों का कारण बनने वाले बैक्टीरिया जैसे पी. एक्ने और ए. एपिडर्मिडिस को खत्म कर सकते हैं (15)। नारियल के तेल में भी एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं। इसलिए, पैक में दालचीनी और शहद के गुणों के साथ नारियल तेल फेस पैक के फायदे बेहतर तरीके से काम कर सकते हैं।

8. ओटमील और नारियल तेल का फेस पैक

सामग्री :

  • दो चम्मच नारियल तेल (पिघला हुआ)
  • एक चौथाई कप ओटमील

विधि :

  • ओटमील को ब्लेंडर में डाल कर पाउडर बना लें।
  • अब एक बाउल में नारियल तेल और ओटमील पाउडर मिलाकर पेस्ट बना लें।
  • इस पेस्ट को चेहरे पर लगाएं और लगभग 15-20 मिनट तक सूखने दें।
  • अच्छी तरह सूख जाने के बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।

किस प्रकार की त्वचा के लिए उपयुक्त :

  • इस पैक का उपयोग हफ्ते में दो से तीन बार किया जा सकता है और यह सभी तरह की त्वचा के लिए उपयुक्त है।

कैसे काम करता है :

डर्मेटोलॉजी में ओटमील को एक कारगर उत्पाद की तरह देखा जाता है। इसमें एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट जैसे गुण होते हैं। इसका उपयोग त्वचा से जुड़ी बीमारियों जैसे डर्मेटाइटिस (त्वचा पर लाल, खुजलीदार चकत्ते) खुजली,

मुंहासे और वायरल संक्रमण से राहत पाने के लिए किया जा सकता है। इसके अलावा, ओटमील त्वचा को पराबैंगनी किरणों के हानिकारक प्रभाव से भी बचा सकता है (16)। घर पर बनाए नारियल तेल फेस पैक में ओटमील मिलाने से त्वचा को स्वस्थ बनाए रखने में मदद मिल सकती है।

9. तैलीय त्वचा के लिए नींबू, दही और नारियल तेल का फेस मास्क

सामग्री :

  • आधा चम्मच नारियल तेल
  • एक चम्मच दही
  • आधा चम्मच नींबू का रस

विधि :

  •  एक बाउल में तीनों सामग्री को मिलाकर पेस्ट बना लें।
  • अब इस पेस्ट को चेहरे और गर्दन पर लगाएं और कुछ देर सूखने दें।
  • लगभग 15 मिनट तक सूखने से बाद, चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें।

किस प्रकार की त्वचा के लिए उपयुक्त :

  • यह पैक सभी तरह की त्वचा के लिए उपयुक्त है, हालांकि इसमें नींबू होने की वजह से हम सलाह देंगे कि संवेदनशील त्वचा वाले लोग इसका उपयोग न करें।

कैसे काम करता है :

त्वचा पर एक्ने की समस्या अधिक सीबम (त्वचा पर तेल) के उत्पादन से हो सकती है। ऐसे में, दही के गुण त्वचा से एक्ने हटाकर उसे स्वस्थ बनाने में मदद कर सकते हैं। यह त्वचा से अधिक ऑयल हटाने और त्वचा में नमी बनाए रखने में मदद कर सकता है। इसके साथ, दही त्वचा को यूवी किरणों के दुष्प्रभाव से भी बचा सकता है और त्वचा के पीएच स्तर को बनाए रखने में भी मदद कर सकता है (17)। वहीं नींबू में मौजूद विटामिन-सी त्वचा को बढ़ती उम्र से लक्षण, टैनिंग, रूखी त्वचा और इन्फ्लेमेशन से बचा सकता है (18) (19)। दही और नींबू मिलाने से चेहरे के लिए नारियल तेल फेस मास्क के फायदे दोगुने हो सकते है।

10. युवा त्वचा के लिए एवोकाडो और नारियल तेल का फेस मास्क

सामग्री :

  • एक चम्मच नारियल तेल
  •  एक चौथाई चम्मच एवोकाडो का पेस्ट

विधि :

  • एवोकाडो का पेस्ट और नारियल तेल को एक बाउल में डालकर अच्छी तरह मिला लें।
  • इस मास्क को चेहरे पर लगाएं और लगभग 15-20 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • सूख जाने के बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।

किस प्रकार के लिए उपयुक्त :

  • एवोकाडो और नारियल तेल फेस मास्क के फायदे सभी प्रकार की त्वचा के लोग उठा सकते हैं। इसका उपयोग हफ्ते में तीन बार किया जा सकता है।

कैसे काम करता है :

त्वचा पर बढ़ती उम्र के लक्षण कम करने में एवोकाडो में मौजूद लिनोलिक एसिड काम कर सकता है। यह बढ़ती उम्र के लक्षण जैसे त्वचा में नमी की कमी और ढीलापन (स्किन एट्रोफी) को कम करने में मदद कर सकता है (20)। वहीं, नारियल का तेल यूवी किरणों की वजह से हो रही स्किन एजिंग को कम करने में मदद कर सकता है (4)।
घर पर बनाए नारियल तेल फेस मास्क के फायदे और विधि जानने के बाद आगे जानिए इससे जुड़ी जरूरी टिप्स।

बचाव – Caution

किसी भी फेस पैक को लगाने से पहले नीचे बताई गईं बातों का ध्यान रखना जरूरी है :

  • कोई भी फेस पैक लगाने से पहले चेहरे को अच्छी तरह साफ कर लें।
  • मास्क को लगाने के बाद घर से बाहर न निकलें। इससे त्वचा पर धूल-मिट्टी चिपक सकती है।
  • फेस पैक को धोने के बाद चेहरे को रगड़ कर न पोंछे। ऐसा करने से चेहरे की स्वस्थ कोशिकाओं को नुकसान पहुंच सकता है। हमेशा चेहरे को थपथपा कर ही पोंछे।
  • चेहरा पोंछने के बाद मॉइस्चराइजर लगाना न भूलें।
  • अगर किसी को त्वचा से जुड़ी कोई समस्या (मुंहासे या एक्जिमा) है तो किसी भी प्रकार का फेस पैक का उपयोग करने से पहले एक बार डॉक्टर से परामर्श अवश्य कर लें।
  • साथ ही फेस पैक का उपयोग करने से पहले एक बार पैच टेस्ट अवश्य कर लें।

उम्मीद करते हैं कि अब आप नारियल तेल फेस मास्क के फायदे और इसे बनाने के तरीके अच्छी तरह समझ गए होंगे। आप लेख में बताए गए टिप्स के साथ घर पर बनाए नारियल तेल फेस मास्क के फायदे उठा सकते हैं। ये फेस मास्क बहुत किफायती हैं और इनमें इस्तेमाल की जाने वाली सामग्री आसानी से आपको बाजार में मिल जाएंगी। आपको यह लेख कैसा लगा, हमें नीचे कमेंट बॉक्स में बताना न भूलें। साथ ही आप नारियल तेल फेस मास्क से जुड़ा अपना अनुभव भी हमारे साथ साझा कर सकते हैं।

Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Soumya Vyas

सौम्या व्यास ने माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय, भोपाल से इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में बीएससी किया है और इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ जर्नलिज्म एंड न्यू मीडिया, बेंगलुरु से टेलीविजन मीडिया में पीजी किया है। सौम्या एक प्रशिक्षित डांसर हैं। साथ ही इन्हें कविताएं लिखने का भी शौक है। इनके सबसे पसंदीदा कवि फैज़ अहमद फैज़, गुलज़ार और रूमी हैं। साथ ही ये हैरी पॉटर की भी बड़ी प्रशंसक हैं। अपने खाली समय में सौम्या पढ़ना और फिल्मे देखना पसंद करती हैं।

ताज़े आलेख

scorecardresearch