घर पर बनाये एंटी एजिंग फेस पैक – Homemade Anti-Aging Face Masks in Hindi

एक तय उम्र के बाद चेहरे पर झुर्रियां और महीन रेखाएं दिख सकती हैं। इनसे छुटकारा पाने के लिए लोग तरह-तरह के एंटी एजिंग उत्पादों का प्रयोग शुरू कर देते हैं। बाजार में मिलने वाले कई एंटी एजिंग उत्पाद रसायन युक्त होते हैं, जिनसे त्वचा को भारी क्षति भी पहुंच सकती है। ऐसे में घर में बनाए एंटी एजिंग फेस पैक का सहारा लिया जा सकता है। ये एंटी एजिंग फेस पैक प्राकृतिक सामग्री से बनने के कारण त्वचा के लिए लाभकारी हो सकते हैं। हमारे साथ स्टाइलक्रेज के इस लेख में जानिए 15 तरह के एंटी एजिंग फेस मास्क और इन्हें घर में बनाने की आसान विधि। इसके अलावा, लेख में आप एंटी एजिंग फेस पैक से संबंधित जरूरी टिप्स भी जान पाएंगे।

शुरू करते हैं लेख

इस क्रम में सबसे पहले जानेंगे एंटी एजिंग के लिए फेस पैक।

घर पर बनाये एंटी एजिंग फेस पैक – Homemade Anti-Aging Face Masks in Hindi

यहां हम कुछ होम मेड एंटी एंजिग फेस पैक के बारे में बता रहे हैं, जो चेहरे को जवां बनाए रखने में मददगार साबित हो सकते हैं। तो चलिए जानते हैं एंटी एजिंग के लिए फेस पैक :

1. नारियल तेल फेस मास्क

सामग्री :

  • एक चम्मच नारियल तेल
  • आधा चम्मच अनार के बीज का तेल
  • रूई

 उपयोग करने का तरीका :

  • अपने चेहरे को साफ पानी से धोकर तौलिये से साफ कर लें।
  • अब एक बाउल में दोनों तेलों को मिलाकर इसे रूई की मदद से चेहरे पर लगाएं।
  • इस पैक को लगभग एक घंटे तक चेहरे पर लगा रहने दें।
  • अंत में फेसवॉश की मदद चेहरा धो लें।
  • इस पैक को रोजाना उपयोग किया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद :

सूर्य की हानिकारक यूवी किरणों की वजह से त्वचा फ्री रेडिकल्स का शिकार हो सकती है (1)। इनकी वजह से स्किन कैंसर हो सकता है और त्वचा पर इन्फ्लेमेशन के साथ बढ़ती उम्र के लक्षण भी दिखने लग सकते हैं। इन फ्री रेडिकल्स से सुरक्षा के लिए नारियल के तेल का उपयोग किया जा सकता है। नारियल का तेल त्वचा को यूवी रेडिएशन के प्रभाव से बचा सकता है, साथ ही इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो त्वचा को इन्फ्लेमेशन से बचा सकते हैं (2)

इसके अलावा, अनार का तेल यूवी किरणों के प्रभाव को कम करके फोटोएजिंग को कम करने में मदद कर सकता है (3)। इस प्रकार नारियल के तेल का उपयोग एंटी एजिंग फेस पैक बनाने में किया जा सकता है। वहीं, ऑयली स्किन के लिए इस पैक को न लगाएं।

2. बेंटोनाइट क्ले फेस मास्क

सामग्री :

  • 2 चम्मच बेंटोनाइट क्ले
  • गुलाब के तेल की कुछ बूंदें
  • चार-पांच चम्मच पानी

 उपयोग करने का तरीका :

  • बेंटोनाइट क्ले से एंटी एजिंग फेस पैक बनाने के लिए एक बाउल में सभी सामग्रियों को मिलाकर पेस्ट बना लें।
  • फिर चेहरे को पानी से धो लें और बाद में तौलिये से साफ कर लें।
  • अब बने हुए पेस्ट को चेहरे और गले पर अच्छी तरह लगाएं।
  • लगभग 10-15 मिनट सूखने के बाद गुनगुने पानी से चेहरा धो लें।
  • इस पैक का उपयोग हफ्ते में एक बार किया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद :

त्वचा पर सूरज की यूवी किरणों का प्रभाव लगातार पड़ता रहता है। इसके चलते समय से पहले बढ़ती उम्र के लक्षण जैसे इलास्टिसिटी कम होना, झुर्रियां दिखना और फोटोएजिंग की समस्या हो सकती है (4)। ऐसे में एंटी एजिंग के लिए फेस पैक बनाने के लिए बेंटोनाइट क्ले का उपयोग किया जा सकता है। बेंटोनाइट क्ले का उपयोग सूरज की हानिकारक किरणों से बचाने के लिए सनस्क्रीन बनाने में किया जाता है।

ईरानियन जर्नल ऑफ पब्लिक हेल्थ के एक शोध में पाया गया है कि त्वचा पर यूवी किरणों का प्रभाव कम करने में बेंटोनाइट क्ले सबसे प्रभावी साबित हुई है। इस शोध में यह भी पाया गया है कि जिन सनस्क्रीन में बेंटोनाइट क्ले मौजूद होती है, वह अन्य सन लोशन से ज्यादा प्रभावशाली होती हैं (5)

3. एवोकाडो फेस माक्स

सामग्री :

  • पका हुआ आधा एवोकाडो
  • एक बड़ा चम्मच ओट्स (पिसा हुआ)

उपयोग करने का तरीका :

  • एक बाउल में एवोकाडो का गूदा निकालें और उसे मैश करके ओट्स मिला दें।
  • अब इस पैक को चेहरे पर लगाएं और 10-20 मिनट के लिए सूखने दें।
  • एक बार पैक अच्छी तरह से सूख जाए, तो चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें।
  • इस पैक का उपयोग हफ्ते में दो से तीन बार किया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद :

एवोकाडो में लिनोलिक नाम का एसिड पाया जाता है। लिनोलिक एसिड त्वचा में नमी की कमी और स्किन एट्रोफी (त्वचा की मोटाई कम होना) जैसे एजिंग के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकता है (6)। वहीं, दूसरी ओर एवोकाडो का तेल भी एजिंग के प्रभाव को कम करने में मदद कर सकता है। दरअसल, एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध के अनुसार एवोकाडो का तेल कोलेजन को बढ़ाने में मदद कर सकता है।

इससे त्वचा की इलास्टिसिटी को बनाए रखने में मदद मिल सकती है (7)। वहीं, ओट्स का उपयोग त्वचा को सूर्य की हानिकारक किरणों से बचाए रखने में मदद कर सकता है, जिससे फोटोएजिंग (यूवी किरणों से होने वाली एजिंग) से बचाव हो सकता है (8)। एंटी एजिंग फेस पैक के तौर पर एवोकाडो का इस्तेमाल किया जा सकता है।

4. केले का फेस पैक

सामग्री :

  • एक पका हुआ केला
  • दो चम्मच गुलाब जल

उपयोग करने का तरीका :

  • केले से एंटी एजिंग फेस पैक बनाने के लिए एक बाउल में पके हुए केले को अच्छी तरह मैश कर लें।
  • अब इसमें दो चम्मच गुलाब जल मिलाएं।
  • इस पैक को अच्छी तरह चेहरे व गले पर लगाएं और 20-25 मिनट तक सूखने दें।
  • पैक के अच्छी तरह सूख जाने के बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।
  • इस पैक का उपयोग हफ्ते में तीन बार किया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद :

त्वचा के लिए केले से बना फेस पैक बेहद लाभकारी हो सकता है। इससे संबंधित एक रिसर्च से जानकारी मिलती है कि, केले में एंटी एंजिग गुण मौजूद होते हैं, जो त्वचा को समय से पहले बूढ़ा होने से रोकने में मदद कर सकते हैं। इसके अलावा भी चेहरे के लिए केले के फेस पैक के और भी फायदे हैं। केला चेहरे की चमक को बनाए रखने के साथ-साथ उसे मुलायम भी बनाए रखता है।

यही नहीं, केला एक बेहतर एक्सफोलिएटर के रूप में भी जाना जाता है। यह सन बर्न से राहत पहुंचाने के साथ-साथ मुंहासों से भी त्वचा की रक्षा कर सकता है (9)। वहीं, इसमें मौजूद गुलाब जल एंटीइंफ्लेमेटरी प्रभाव प्रदर्शित कर सकता है, इससे त्वचा से जुड़ी सूजन को कम करने में मदद मिल सकती है (10)

5. चावल के पानी का फेस मास्क

सामग्री :

  • आधा कप ब्राउन राइस
  • एक कप पानी
  • फेशियल पेपर टॉवल

उपयोग करने का तरीका :

  • एक कप पानी में आधा कप ब्राउन राइस एक घंटे के लिए भिगो कर रख दें।
  • एक घंटे बाद पानी को छान लें।
  • अब फेशियल पेपर टॉवल को लगभग 5-6 मिनट के लिए चावल के पानी में भिगो लें।
  • ध्यान रखें कि पेपर टॉवल पानी में गल न जाएं।
  • अब पेपर टॉवल को पानी से निकाल कर हल्का-सा निचोड़ लें और चेहरे पर लगाएं।
  • पेपर टॉवल को लगभग 20-25 मिनट तक चेहरे पर लगे रहने दें।
  • अंत में टॉवल हटा कर साफ पानी से चेहरा धो लें।
  • चावल के पानी से घर पर बनाए एंटी एजिंग फेस पैक का उपयोग प्रतिदिन किया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद :

ब्राउन राइस खाने के फायदे तो कई सारे हैं, लेकिन इसका पानी त्वचा को समय से पहले बूढ़ा होने से रोकने में मदद सकता है। दरअसल, इससे जुड़े एक शोध में इस बात की जानकारी मिलती है कि चावल का पानी एक एंटी एजिंग एजेंट के रूप में बेहतर तरीके से काम कर सकता है (11)। इसके अलावा, ब्राउन राइस में नियासिन नाम का एक विटामिन पाया जाता है, जो अपने एंटीएजिंग गुणों के लिए जाना जाता है (12)। नियासिन झुर्रियों, पिगमेंटेशन और ढीली त्वचा के साथ-साथ मुंहासों और यूवी प्रभाव के कारण स्किन कैंसर को बढ़ने से रोकने में भी लाभदायक हो सकता है (13)

6. कॉफी फेस मास्क

सामग्री :

  • एक चम्मच कॉफी
  • एक चम्मच कोको पाउडर
  • एक चम्मच नारियल का तेल

उपयोग करने का तरीका :

  • कॉफी की मदद से एंटी एजिंग फेस मास्क घर में बनाने के लिए बताई गई सारी सामग्रियों को एक बाउल में मिला लें और पेस्ट बना लें।
  • इस पेस्ट को चेहरे व गले पर लगाएं और 15-20 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • अच्छी तरह सूख जाने के बाद हाथों को हल्का-सा गीला करें और चेहरे पर गोलाकार में घुमाएं।
  • इस तरह हाथों को गोल-गोल घुमाते हुए चेहरे को दो से तीन मिनट तक स्क्रब करें।
  • अंत में चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।
  • इस एंटी एजिंग फेस पैक को हफ्ते में दो बार उपयोग किया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद :

जैसा कि हमने बताया कि यूवी रेडिएशन त्वचा पर बढ़ती उम्र के लक्षण दिखने का एक बड़ा कारण हो सकता है। ऐसे में कॉफी से घर पर बनाए एंटी एजिंग फेस पैक का उपयोग करने से फायदा मिल सकता है। एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायो टेक्नोलॉजी इंफार्मेशन) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध में पाया गया है कि कैफीन एक प्रभावी एंटीऑक्सीडेंट को रूप में त्वचा की कोशिकाओं को यूवी रेडिएशन के प्रभाव से बचा सकता है और फोटोएजिंग को कम करने में मदद कर सकता है (14)

इसके साथ कोको पाउडर का उपयोग करने से इस पैक के फायदे दोगुने हो सकते हैं। कोको त्वचा पर प्रभावी फोटो प्रोटेक्टिव एजेंट की तरह काम कर सकता है, जिसकी मदद से बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करने में मदद मिल सकती है (15)

7. सीवीड फेस मास्क

सामग्री :

  • एक चम्मच सीवीड पाउडर
  • दो चम्मच गुनगुना पानी

उपयोग करने का तरीका :

  • सीवीड की मदद से एंटी एजिंग के लिए फेस पैक बनाने के लिए एक बाउल में दोनों सामग्रियों को अच्छी तरह मिलाकर पेस्ट बना लें।
  • इस पेस्ट को चेहरे और गर्दन पर अच्छी तरह लगाएं और 15-20 मिनट सूखने के लिए छोड़ दें।
  • अच्छी तरह सूख जाने के बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।
  • इस एंटी एजिंग फेस पैक का उपयोग हफ्ते में तीन से चार बार किया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद :

एनसीबीआई की वेबसाइट पर पब्लिश शोध के अनुसार, त्वचा के लिए सीवीडी यानी मरीन एल्गी का इस्तेमाल लाभकारी हो सकता है। दरअसल, इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण मौजूद होते हैं, जो फ्री रेडिकल्स की वजह से होने वाली एजिंग की समस्या को कम करने में मदद कर सकते हैं (16)

इसके अलावा, इसमें मौजूद कार्बोहाइड्रेट्स का उपयोग भी कई प्रकार के कॉस्मेटिक्स उत्पाद जैसे सन स्क्रीन बनाने में किया जाता है। इनमें एंटीएजिंग गुण पाए जाते हैं, जो त्वचा को यूवी रेडिएशन, इन्फ्लेमेशन और बढ़ती उम्र के प्रभाव से बचा सकते हैं (17)

8. हल्दी फेस पैक

 सामग्री :

  • एक चम्मच हल्दी पाउडर
  • दो चम्मच गुलाब जल

उपयोग करने का तरीका :

  • एक बाउल में हल्दी और गुलाब जल को अच्छी तरह मिलाकर पेस्ट बना लें।
  • इस पेस्ट को चेहरे और गर्दन पर लगाएं और लगभग 20 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • 20 मिनट के बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।
  • हल्दी और गुलाब जल से घर में बनाए एंटी एजिंग फेस पैक का उपयोग हर दूसरे दिन किया जा सकता
    है।

कैसे है फायदेमंद :

त्वचा के लिए हल्दी बेहद लाभकारी मानी जाती है। हल्दी में करक्यूमिन नाम का मुख्य कंपाउंड पाया जाता है, जो एंटीऑक्सीडेंट गुण प्रदर्शित कर सकता है, जिससे त्वचा पर बढ़ती उम्र के प्रभाव को कम करने में मदद मिल सकती है (18)। वहीं, एक अन्य रिसर्च के मुताबिक, हल्दी त्वचा की झुर्रियों को कम कर उसे जवां बनाए रखने में मदद कर सकता है। इसके अलावा, इसमें एंटी बैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण मौजूद होते हैं, जो पिंपल्स और मुंहासों से त्वचा की रक्षा कर सकते हैं।

यही नहीं, इसमें एंटी इंफ्लामेटरी प्रभाव भी होते हैं, जो सूजन को कम करने में लाभकारी हो सकते हैं। इसके अलावा, हल्दी त्वचा से अधिक तेल तो निकाल कर उसे नई चमक प्रदान करा सकती है (19)। वहीं, बता दें कि कुछ लोगों को हल्दी से एलर्जी हो सकती है, इसलिए पैच टेस्ट के बाद ही इसका इस्तेमाल करें।

जारी रखें पढ़ना

9. खीरे का फेस पैक

सामग्री :

  • आधा खीरा (कद्दूकस किया हुआ)
  • एक चम्मच नींबू का रस

उपयोग करने का तरीका :

  • एंटी एजिंग फेस पैक घर में बनाने के लिए एक बाउल में कद्दूकस किया हुआ आधा खीरा लें और उसमें एक चम्मच नींबू का रस मिला लें।
  • इस पैक को चेहरे पर 15-20 मिनट के लिए लगे रहने दें।
  • अंत में चेहरे को ठंडे पानी से साफ कर लें।
  • इस पैक का उपयोग प्रतिदिन किया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद :

जैसा कि हम पहले भी बता चुके हैं कि फ्री रेडिकल्स का प्रभाव त्वचा पर एजिंग के लक्षण दिखने की वजह बन सकता है। इनसे आराम पाने के लिए खीरे का उपयोग किया जा सकता है। खीरा प्रभावशाली एंटीऑक्सीडेंट होता है, जो फ्री रेडिकल्स के प्रभाव को कम करने में मदद कर सकता है (20)। इसके अलावा, सन बर्न से राहत दिलाने में भी खीरे का उपयोग किया जा सकता है।

यही नहीं, खीरा त्वचा को पोषण देने का काम कर सकता है। साथ ही त्वचा की जलन और सूजन को कम करने में मददगार हो सकता है (21)। वहीं, इसमें मौजूद नींबू का रस भी एंटी-एजिंग प्रभाव दिखा सकता है (22)। इस आधार पर यह कहना गलत नहीं होगा कि एंटी एजिंग के लिए खीरे का फेस पैक कारगर साबित हो सकता है।

10. आलू-गाजर फेस पैक

सामग्री :

  • एक मध्यम आकार का आलू
  • एक मध्यम आकार की गाजर
  • एक बड़ा चम्मच गुलाब जल

उपयोग करने का तरीका :

  • आलू और गाजर को छीलकर उसके छोटे-छोटे टुकड़े कर लें।
  • अब गुलाब जल के साथ टुकड़ों को ब्लेंडर में डालकर पेस्ट बना लें।
  • इस पेस्ट को चेहरे पर लगाएं और लगभग 20 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • अंत में चेहरे को ठंडे पानी से धो लें और तौलिए से थपथपा कर पोंछ लें।
  • इस एंटी एजिंग फेस पैक का उपयोग प्रतिदिन किया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद :

आलू और गाजर से बना एंटी एजिंग फेस पैक बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करने का काम कर सकता है। बता दें कि आलू को एक प्रभावी एंटी-एजिंग ब्यूटी एजेंट माना जाता है। झुर्रियों को कम करने में यह काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। यही नहीं, नियमित रूप से आलू का उपयोग त्वचा को स्वस्थ बनाए रखने के साथ-साथ उसे मुलायम और चमकदार भी बनाए रखने में मदद कर सकता है (23)

वहीं, त्वचा के लिए गाजर के फायदे भी कई सारे हैं। एक रिसर्च के मुताबिक, गाजर त्वचा को मुक्त कणों से होने वाले नुकसानों से बचा सकता है। साथ ही नई कोशिकाओं के विकास और उत्पादन में भी सहायता कर सकता है (24)। वहीं, गुलाब जल का उपयोग त्वचा की सूजन को कम करने में मदद कर सकता है (10)। ऐसे में, आलू और गाजर की मदद से एंटी एजिंग फेस मास्क घर का बना उपयोगी हो सकता है।

11. एलोवेरा फेस पैक

सामग्री :

  • दो चम्मच एलोवेरा जेल
  • आधा चम्मच नींबू का रस

उपयोग करने का तरीका :

  • एक बाउल में दोनों सामग्री को अच्छी तरह मिला लें।
  • अब इस पैक को चेहरे पर लगाएं और 10-15 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • अंत में चेहरे को ठंडे पानी से धोकर साफ कर लें।
  • इस पैक का उपयोग रोज किया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद :

त्वचा पर बढ़ती उम्र के लक्षण को कम करने के लिए एलोवेरा का उपयोग लाभकारी हो सकता है। इसमें मेटालोथायोनिन (Metallothionein) नाम का एक प्रोटीन पाया जाता है, जो यूवी रेडिएशन के प्रभाव से बचाने में मदद कर सकता है। इसके अलावा, एलोवेरा के गुण कोलेजन को बढ़ाने में भी मदद कर सकते हैं, जिससे त्वचा की इलास्टिसिटी में सुधार हो सकता है और फाइन लाइन्स कम हो सकती हैं।

एलोवेरा में पाए जाने वाले अमीनो एसिड कड़क सेल्स को नरम करके त्वचा को कोमल बनाने में मदद करते हैं और त्वचा के रोम छिद्रों को टाइट करने में भी मदद कर सकते हैं (25)। वहीं, नींबू का उपयोग भी एजिंग के प्रभाव को कम करने में सहायक हो सकता है (22)

12. मेथीदाने का फेस पैक

सामग्री :

  • एक छोटा कप मेथीदाना
  • एक चम्मच गुलाब जल

उपयोग करने का तरीका :

  • एक कप मेथीदाने को रात भर के लिए पानी में भिगोकर रख दें।
  • सुबह मेथीदाने को पानी से निकालकर गुलाब जल के साथ ब्लेंड कर लें।
  • इस पेस्ट को चेहरे पर लगाएं और लगभग 20 मिनट के लिए सूखने दें।
  • 20 मिनट के बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।
  • इस एंटी एजिंग फेस पैक का उपयोग हफ्ते में तीन से चार बार किया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद :

मेथीदाने से बने एंटी एजिंग फेस पैक का उपयोग झुर्रियों को कम करने में लाभकारी हो सकता है। बता दें कि मेथी के बीजों में एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव होते हैं, जो मुक्त कणों के प्रभाव को कम करने में मदद कर सकते हैं। यही नहीं, मेथी दानों का उपयोग त्वचा को निखारने के साथ-साथ मॉइस्चराइज और स्मूद बनाए रखने में मदद कर सकता है (26)

इसके अलावा, एक अन्य शोध की मानें, तो मेथी के दानों से बनी क्रीम त्वचा की लोच को सुधार करने में मदद कर सकती है (27)। वहीं, गुलाब जल त्वचा से जुड़ी सूजन की समस्या को कम कर सकता है (10)। इस आधार पर यह माना जा सकता है कि मेथी के दाने का उपयोग एंटी एजिंग के लिए फेस पैक बनाने में किया जा सकता है।

13. संतरे के छिलके का फेस पैक

सामग्री :

  • एक चम्मच संतरे के छिलके का पाउडर
  • एक छोटा चम्मच चंदन पाउडर
  • तीन चम्मच गुलाब जल

उपयोग करने का तरीका :

  • संतरे के छिलके से एंटी एजिंग मास्क घर पर बनाने के लिए एक बाउल में बताई गई सभी सामग्रियों को मिला लें।
  • इस पेस्ट को अपने चेहरे और गले पर लगाएं और लगभग 20 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • जब मास्क सूख जाए, तो चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।
  • इस एंटी एजिंग पैक को हफ्ते में एक बार इस्तेमाल कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद :

एंटी एजिंग के लिए संतरे का फेस पैक भी फायदेमंद हो सकता है। दरअसल, संतरे के छिलके में ऐसे कई गुण पाए जाते हैं, जो त्वचा को एजिंग के लक्षणों से बचाने का काम कर सकते हैं। इससे जुड़े एक शोध में साफ तौर से जिक्र मिलता है कि इसका उपयोग एंटी-रिंकल उत्पाद में किया जाता है।

वहीं, शोध में इसके एंटी-एजिंग प्रभाव के बारे में भी पता चलता है। यह एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होता है, जो त्वचा को फ्री रेडिकल्स के प्रभाव से बचाकर एजिंग के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है। इस प्रकार संतरे के छिलके से घर पर बनाए एंटी एजिंग फेस पैक का उपयोग किया जा सकता है (28)

14. पपीता फेस पैक

सामग्री :

  • एक चौथाई कप पका हुआ पपीता
  • एक चम्मच नींबू का रस

उपयोग करने का तरीका :

  • एक बाउल में पपीते को मैश कर लें और उसमें एक चम्मच नींबू का रस मिलाकर पेस्ट बना लें।
  • इस पैक को चेहरे और गर्दन पर लगाएं और 20 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • अंत में चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।
  • इस पैक का उपयोग प्रतिदिन किया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद :

जैसा कि लेख में बताया गया है कि फ्री रेडिकल्स एजिंग का कारण बन सकते हैं। ऐसे में पपीते से एंटी एजिंग फेस मास्क घर का बना बेहद लाभकारी हो सकता है। पपीते में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो त्वचा को ऑक्सीडेटिव डैमेज, फोटोएजिंग, झुर्रियां और महीन रेखाओं से बचाने में सहायक हो सकते हैं (29)

इसके अलावा, एक अन्य शोध में भी इस बात का साफ तौर से जिक्र मिलता है कि स्किन के लिए पपीता के फायदे कई सारे हैं। यह त्वचा की झुर्रियों को कम करने के साथ-साथ पिगमेंटेशन को साफ करने, डार्क सर्कल और टैन को कम कर सकता है। साथ ही मुंहासे को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है (30)। वहीं, नींंबू किस प्रकार फायदेमंद हो सकता है, यह हम ऊपर बता ही चुके हैं।

15. ग्लिसरीन फेस मास्क

सामग्री :

  • एक छोटा चम्मच ग्लिसरीन
  • दो विटामिन-ई कैप्सूल

उपयोग करने का तरीका :

  • विटामिन-ई कैप्सूल को काटकर बाउल में निकाल लें और उसमें ग्लिसरीन मिला लें।
  • दोनों को अच्छी तरह से मिलाकर उंगलियों की मदद से चेहरे पर लगा लें।
  • लगभग 30 मिनट के बाद ठंडे पानी से चेहरा धो लें।
  • इस प्रक्रिया को रोज रात को सोने से पहले दोहराया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद :

चेहरे पर ग्लिसरीन से बना एंटी एजिंग फेस पैक लगाने से त्वचा को फायदा मिल सकता है। ग्लिसरीन त्वचा की इलास्टिसिटी (लोच) बनाए रखने में मदद कर सकता है, जिससे त्वचा के ढीलेपन और झुर्रियों को कम करने में मदद मिल सकती है (31)। ग्लिसरीन के साथ विटामिन-ई का उपयोग पैक को और गुणकारी बना सकता है। विटामिन-ई एक प्रभावशाली एंटीऑक्सीडेंट है और त्वचा को फ्री रेडिकल्स के प्रभाव से बचाने में मदद कर सकता है (32)

16. कोका पाउडर और दूध फेस मास्क

सामग्री :

  • एक चम्मच कोका पाउडर
  • दो चम्मच दूध

उपयोग करने का तरीका :

  • सबसे पहले एक बर्तन में कोका पाउडर और दूध को अच्छे से मिला लें।
  • अब इस पैक को पूरे चेहरे पर अच्छे से लागाएं और 15 से 20 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • इसके बाद साफ पानी से चेहरे को धो लें।
  • हफ्ते में इसका इस्तेमाल दो बार कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद :

जैसा कि हमने लेख में बताया कि कोको का उपयोग यूवी किरणों के प्रभाव को कम करके फोटोएजिंग को कम कर सकता है। इससे समय से पहले चेहरे पर दिखने वाले एजिंग के लक्षण जैसे झुर्रियों और फाइन लाइन्स से बचाव हो सकता है (15)

वहीं, दूध का इस्तेमाल भी त्वचा के लिए कई मायनों में लाभकारी साबित हो सकता है। इस विषय पर हुए शोध से जानकारी मिलती है कि दूध में मौजूद अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड एंटी एजिंग और स्किन स्फॉटनिंग गुण प्रदर्शित कर सकते हैं (33)
 

17. ओट्स और शहद फेस मास्क

सामग्री :

  • एक चम्मच ओट्स
  • एक चम्मच शहद

उपयोग करने का तरीका :

  • सबसे पहले ओट्स को ग्राइंडर में पीस लें।
  • इसके बाद इसमें शहद मिलाकर एक पेस्ट तैयार कर लें।
  • फिर इस पैक को चेहरे पर लगाएं।
  • 20 मिनट बाद जब यह अच्छे से सूख जाए, तो चेहरा धो लें।
  • इस प्रक्रिया को हफ्ते में दो बार कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद :

घर पर बनाये एंटी एजिंग फेस पैक के रूप में ओट्स फेस पैक के फायदे भी कई सारे हैं। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध के अनुसार, सूर्य की हानिकारक पराबैंगनी किरणों से त्वचा की रक्षा करने में ओट्स लाभकारी साबित हो सकता है (8)। इससे सूर्य की हानिकारक किरणों की वजह से होने वाली एजिंग की समस्या से बचाव हो सकता है।

वहीं, अगर बात करें शहद की, तो त्वचा के लिए शहद का उपयोग भी लाभकारी माना जाता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर मौजूद रिसर्च के मुताबिक, हनी झुर्रियों को कम करने में मददगार साबित हो सकता है। इसके अलावा, शहद त्वचा को आराम पहुंचाने और कोमल बनाए रखने के लिए भी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है (34)। यही नहीं, एक अन्य शोध से यह भी पता चलता है कि शहद का उपयोग कई प्रकार के एंटी एजिंग क्रीम में भी किया जाता है (35)

अभी बाकी है लेख

लेख के इस भाग में जानिए कि एंटी एजिंग फेस पैक लगाते समय किन बातों का ध्यान रखना जरूरी है।

बचाव – Caution

नीचे बताई गई बातों को ध्यान में रखने से घर में बनाए एंटी एजिंग फेस पैक के गुण दोगुने हो सकते हैं :

  • कोई भी फेस पैक लगाने से पहले चेहरे को अच्छी तरह साफ करना न भूलें।
  • एंटी एजिंग फेस पैक लगाने के बाद घर से बाहर न निकलें।
  • फेस पैक को धोने के बाद चेहरे को रगड़ कर न पोंछे। ऐसा करने से चेहरे की स्वस्थ कोशिकाओं को नुकसान पहुंच सकता है। हमेशा चेहरे को थपथपा कर ही पोंछे।
  • चेहरे को पोंछने के बाद मॉइस्चराइजर लगाना न भूलें। ऐसा न करने से त्वचा रूखी पड़ सकती है।
  • अगर किसी को त्वचा से जुड़ी कोई समस्या (मुंहासे, एक्जिमा या डर्मेटाइटिस) है, तो किसी भी प्रकार का एंटी एजिंग पैक का उपयोग करने से पहले एक बार त्वचा विशेषज्ञ से सलाह अवश्य लें।
  • किसी भी फेस पैक का उपयोग करने से पहले एक बार पैच टेस्ट अवश्य कर लें।
  • रोजाना सुबह सनस्क्रीन जरूर लगाएं।

दोस्तों, अब आप समझ गए होंगे कि होममेड एंटी एजिंग फेस मास्क बनाना कोई मुश्किल काम नहीं है। पार्लर जाकर हजारों रुपए खर्च करने से बेहतर है कि आप अपने किचन और गार्डन में मौजूद सामग्रियों से घर में ही एंटी एजिंग फेस पैक बनाएं। इन पैक की सबसे अच्छी बात यह है कि ये पूरी तरह से प्राकृतिक होने के कारण इनके दुष्प्रभाव न के बराबर होते हैं। उम्मीद करते हैं एंटी एजिंग फेस पैक से जुड़ी सभी जरूरी जानकारी आपको इस लेख में मिल गई होगी। स्किन केयर से जुड़ी ऐसी और जानकारी के लिए आप हमारे अन्य लेख पढ़ सकते हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल :

सबसे अच्छा एंटी एजिंग फेस मास्क कौन-सा है?

लेख में हमने जितने भी एंटी एंजिग फेस मास्क के बारे में बताया है, वो सभी एजिंग को कम करने में प्रभावी हो सकते हैं। हालांकि, इनमें सबसे अच्छा कौन-सा फेस मास्क है, यह बता पाना थोड़ा मुश्किल है। इसलिए, बेहतर होगा कि अपने स्किन के हिसाब से ही एंटी एजिंग फेस पैक का चुनाव करें।

क्या उम्र बढ़ने के साथ फेस मास्क मदद करते हैं?

समय से पहले बढ़ती उम्र के प्रभाव को कम करने में ये फेस मास्क काफी हद तक कारगर साबित हो सकते हैं। वहीं, एक तय उम्र के बाद चेहरे पर पड़ने वाली झुर्रियों को कम करना मुश्किल हो सकता है।

क्या घर में बना एंटी-एजिंग फेस मास्क काम करता है?

हां, घर का बना एंंटी एजिंग फेस मास्क काम कर सकता है, लेकिन इसका असर दिखने में समय लग सकता है। वहीं, अपनी त्वचा के अनुसार ही किसी भी उत्पाद या सामग्री को उपयोग में लाएं।

क्या क्लिनिकल एंटी-एजिंग उपचार चुनना बेहतर है या होममेड एंटी-एजिंग फेस मास्क?

क्लिनिकल एंटी-एजिंग उपचार और होममेड एंटी-एजिंग फेस मास्क का चुनाव चेहरे की स्थिति पर निर्भर करता है। अगर त्वचा संबंधी को गंभीर समस्या है, तो क्लिनिकल एंटी-एजिंग उपचार की मदद ली जा सकती है। अन्यथा, होममेड एंटी एजिंग फेस पैक बेहतर विकल्प हो सकते हैं। अच्छा होगा कि इस विषय में बेहतर जानकारी के लिए डॉक्टरी सलाह ली जाए।

35 Sources

Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Aviriti Gautam

आवृति गौतम ने सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ बिहार से मास कम्युनिकेशन में एमए किया है। इन्होंने अपने करियर की शुरूआत डिजिटल मीडिया से ही की थी। इस क्षेत्र में इन्हें काम करते हुए दो वर्ष से ज्यादा हो गए हैं। आवृति को स्वास्थ्य विषयों पर लिखना और अलग-अलग विषयों पर विडियो बनाना खासा पसंद है। साथ ही इन्हें तरह-तरह की किताबें पढ़ने का, नई-नई जगहों पर घूमने का और गाने सुनने का भी शौक है।

ताज़े आलेख

scorecardresearch