त्वचा में निखार के लिए जैतून के तेल के फायदे – Benefits of Olive Oil For Glowing Skin in Hindi

by

अस्त-व्यस्त जीवनशैली और साथ में बढ़ते प्रदूषण का असर चेहरे पर सबसे ज्यादा दिखाई देता है। ऊपर से महंगे और रसायन युक्त कॉस्मेटिक उत्पाद भी फायदे की जगह नुकसान पहुंचाते हैं। ऐसे में प्राकृतिक तरीके फायदेमंद साबित हो सकते हैं। प्राकृतिक उपचार के रूप में आप जैतून के तेल का प्रयोग कर सकते हैं। जैतून के फल से निकाले गए इस तेल को अंग्रेजी में ऑलिव ऑयल कहा जाता है और इसका वैज्ञानिक नाम है ओलीया यूरोपीय (Olea europaea) है। यह तेल खाने के लिहाज से तो अच्छा है ही साथ ही इसे त्वचा और बालों के लिए भी वरदान माना जा सकता है। त्वचा के लिए तीन तरह के जैतून तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है – एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल, वर्जिन ऑलिव ऑयल और शुद्ध जैतून का तेल। स्टाइलक्रेज के इस आर्टिकल में हम बात करेंगे कि त्वचा में निखार के लिए जैतून का तेल के फायदे क्या-क्या हो सकते हैं।

आइए, विस्तार में जानते हैं त्वचा में निखार लाने के लिए जैतून के लाभ। 

त्वचा के लिए जैतून के तेल के फायदे – Benefits of Olive Oil For Skin in Hindi 

जैतून के तेल का नियमित रूप से इस्तेमाल किया जाए, तो निम्नलिखित फायदे नजर आ सकते हैं।

  • चमकती त्वचा :  त्वचा को सुन्दर और चमकदार बनाने में जैतून का तेल लाभकारी साबित हो सकता है। जैतून के तेल में विटामिन-ई है, जो त्वचा को स्वस्थ बनाए रखने में सहायक हो सकता है (1)। इसलिए, माना जा सकता है कि चमकती त्‍वचा के लिए जैतून का तेल फायदेमंद है। 
  • एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर : जैतून के तेल में एंटीऑक्सीडेंट गुण मौजूद हैं जो फ्री रेडिकल्स से लड़कर त्वचा की कोशिकाओं को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं (2)
  • मॉइस्चराइजिंग गुण : जैतून के तेल को प्राकृतिक मॉइस्चराइजर माना जा सकता है। यह त्वचा में नमी बनाकर रखता है, जिससे रूखेपन से त्वचा को होने वाले नुकसान को कम किया जा सकता है (3)
  • ब्लैकहेड्स और व्हाइटहेड्स के लिए जैतून का तेल : ब्लैकहेड्स और व्हाइटहेड्स को एक्ने यानी मुंहासों का ही रूप माना गया है (4)। जैतून के तेल में एंटीइंफ्लेमेटरी गुण और विटामिन-ई मौजूद होता है। जैतून के तेल में मौजूद ये दोनों गुण कील-मुंहासों की समस्या से बचा सकते हैं (1)(2)
  • त्वचा को जवां बनाए : एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल में एंटी-एजिंग गुण मौजूद होते हैं। ये कोशिका स्तर पर काम करते हैं और उनके आकार और कार्य व्यवस्था को बनाए रखते हैं, जिससे त्वचा जवां रहती है (5)
  • त्वचा कोशिकाओं का निर्माण : जैतून के तेल में एंटीऑक्सीडेंट और एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होने के कारण यह त्वचा की कोशिकाओं की प्राकृतिक रूप से मरम्मत कर सकता है। साथ ही जैतून में ओलोरोपिन (Oleuropein) नाम का एक पॉलीफेनोल पाया जाता है। ये दोनों तत्व त्वचा को चमकदार बनाने के लिए त्वचा की कोशिकाओं को पोषित कर सकते हैं (6)
  • जैतून का तेल है जीवाणु नाशक: ऑलिव ऑयल में एंटीमाइक्रोबियल गुण पाए जाते हैं (6)। यह त्वचा के संक्रमण से बचाव में मदद कर सकता है, क्योंकि इसमें मौजूद ओलोरोपिन विभिन्न प्रकार के बैक्टीरिया, फंगल और वायरस को विकसित होने से रोक सकता है (7)
  • एंटीइंफ्लेमेटरी : जैतून के तेल में ओलियोकैंथोल पाया जाता है। यह तत्व आइबूप्रोफेन (ibuprofen) नामक दवा के जैसे काम कर सकता है (8)। इसलिए, माना जा सकता है कि चमकती त्‍वचा के लिए जैतून का तेल फायदेमंद है।

अभी आपने जाना कि जैतून का तेल त्वचा के लिए कितना लाभदायक है। आइए, अब जानते हैं कि त्वचा की रंगत को निखारने के लिए जैतून के तेल का प्रयोग कैसे करें।

त्वचा में निखार लाने के लिए जैतून के तेल का उपयोग – How to Use Olive Oil For Glowing Skin in Hindi

चेहरे के लिए जैतून का तेल का उपयोग कई तरीकों से किया जा सकता है। इसका उपयोग अकेले या कुछ अन्य सामग्रियों के साथ किया जा सकता है। चलिए, जानते हैं कि कैसे त्वचा की रंगत में निखार के लिए जैतून का तेल का उपयोग किया जा सकता है।

1. एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल 

  • 1 बड़ा चम्मच एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल
  • एक मुलायम कपड़ा (फेस क्लाथ)
  • गर्म पानी
कैसे इस्तेमाल करें? 
  1. अपने चेहरे पर एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल लगाएं और गोल-गोल मालिश करें।
  2. नाक, गाल और माथे की थोड़ी ज्यादा मालिश करें।
  3. जब चेहरा तेल सोंख ले, तो मुलायम कपड़े को गर्म पानी में डुबोकर निचोड़ लें।
  4. इस कपड़े को चेहरे पर तब तक दबाएं रखें, जब तक कि कपड़े का तापमान सामान्य न हो जाए।
  5. कपड़े को दोबारा पानी में डुबोकर निचोड़ें और इस बार इस कपड़े को चेहरे पर दबाएं नहीं, बल्कि इससे चेहरे को हल्के-हल्के साफ करें।
  6. फिर सूखे मुलायम तौलिये से चेहरे को पोंछ लें।
कैसे मदद करता है? 

त्‍वचा के लिए जैतून का तेल कितना उपयोगी है, यह लेख में ऊपर विस्तार से बताया गया है। अगर यहां बताए गए इस घरेलू नुस्खे से जैतून के तेल का प्रयोग किया जाए, तो रूखी त्वचा से कुछ राहत मिल सकती है, क्योंकि इसमें मॉइस्चराइजिंग गुण होते हैं। गर्म पानी से चेहरा सेंकने से चेहरे के रोम छिद्र खुल जाते हैं और त्वचा चमकदार व जवां दिखने लगती है। यही कारण है कि कई सौन्दर्य उपचारों में हॉट टॉवल का इस्तेमाल किया जाता है। ध्यान रहे कि मालिश से एडिमा जैसे दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं। इसलिए अगर किसी की त्वचा संवेदनशील है, तो चेहरे के लिए जैतून का तेल इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर करें (9)

2. नींबू के साथ जैतून के तेल के फायदे 

सामग्री :
  • 1 बड़ा चम्मच जैतून का तेल
  • 1 बड़ा चम्मच नींबू का रस 
कैसे इस्तेमाल करें?
  1. जैतून के तेल में नींबू का रस अच्छी तरह मिलाएं।
  2. इसे पूरे चेहरे पर लगाएं और एक या दो मिनट तक मालिश करें।
  3. इसे 30 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर गुनगुने पानी से चेहरा धो लें।
  4. फिर मुलायम तौलिये से चेहरा पोंछ लें। 
कैसे मदद करता है? 

नींबू में विटामिन-सी पाया जाता है, जो त्वचा के लिए अच्छा एंटीऑक्सीडेंट माना जाता है। नींबू के फायदे में सूरज की पराबैंगनी किरणों के बुरे प्रभाव से त्वचा की रक्षा करना शामिल है। इससे त्वचा को झुर्रियों से बचाया जा सकता है (10)। नींबू का रस विटामिन-सी से भरपूर होता है, जो त्वचा की रंगत को साफ करने में मदद कर सकता है (11)। इस तरह माना जा सकता है कि नींबू के साथ चेहरे के लिए जैतून का तेल इस्तेमाल किया जा सकता है।

3. शहद के साथ जैतून के तेल के फायदे 

सामग्री :
  • एक बड़ा चम्मच जैतून का तेल
  • एक चम्मच शहद
  • एक अंडे की जर्दी
कैसे इस्तेमाल करें?
  1. एक कटोरे में जैतून का तेल, शहद और अंडे की जर्दी लें। इन्हें अच्छी तरह से मिलाएं।
  2. इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और 15 मिनट तक लगा रहने दें।
  3. इसके बाद चेहरे को गर्म पानी से धो लें।
कैसे मदद करता है? 

यह फेस मास्क त्वचा को नमी प्रदान करके उसकी प्राकृतिक चमक को बरकरार रखने में मदद करता है, क्योंकि शहद में मॉइस्चराइजिंग गुण पाए जाते हैं। साथ ही इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण भी होते हैं, जो स्किन टिश्यू में जान डाल सकते हैं (12)। जैतून के तेल के साथ इसका प्रयोग त्वचा पर किसी प्रकार के संक्रमण से निजात दिला सकता है (13)। इस फेसपैक में अंडे की जर्दी है, जिसमें त्वचा को स्वस्थ रखने की क्षमता पाई जाती है। अंडे की जर्दी स्किन टिश्यू को फ्री रेडिकल्स से होने वाली क्षति से बचा सकती है (14)। चेहरे के लिए जैतून का तेल इस्तेमाल करने की सोच रहे हैं, तो ज्यादा फायदा पाने के लिए इस नुस्खे को भी अपनाया जा सकता है।

4. जैतून का तेल और हल्दी 

सामग्री :
  • एक बड़ा चम्मच जैतून का तेल
  • आधा चम्मच हल्दी पाउडर
  • दो बड़े चम्मच योगर्ट 
कैसे इस्तेमाल करें? 
  1. सभी सामग्रियों को एक साथ मिलाएं और चेहरे पर लगाएं।
  2. 10-15 मिनट के लिए फेस पैक को सूखने दें।
  3. फिर पानी से चेहरा धो लें।
  4. हल्दी छुड़ाने के लिए आप माइल्ड फेसवॉश का इस्तेमाल कर सकते हैं।
कैसे मदद करता है?

हल्दी में करक्यूमिन नाम का तत्व पाया जाता है, जो त्वचा रोगों से सुरक्षा प्रदान कर सकता है (15)। इस फेसपैक में योगर्ट का इस्तेमाल किया गया है और एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन) की वेबसाइट पर उपलब्ध एक शोध के अनुसार, योगर्ट के साथ अन्य प्राकृतिक तत्वों को मिलाकर बनाया गया फेसपैक त्वचा को सुन्दर व चमकदार बनाने के साथ इसे लोच (Elastisity) भी प्रदान कर सकता है (16)। इन दोनों तत्वों के साथ जैतून के तेल का प्रयोग त्वचा के लिए लाभदायक साबित हो सकता है।

5. जैतून और अरंडी का तेल 

सामग्री :
  • 1 चम्मच जैतून का तेल
  • 1 चम्मच अरंडी का तेल या नारियल का तेल
  • एक मुलायम कपड़ा (फेस क्लाथ)
कैसे इस्तेमाल करें?
  1. सभी तेलों को एक साथ मिलाएं और इससे चेहरे की गोलाई में मालिश करें।
  2. दो से तीन मिनट तक चेहरे की मालिश करें।
  3. इसके बाद 10 मिनट तक प्रतीक्षा करें और फिर हॉट टॉवल से चेहरा साफ करें।
कैसे मदद करता है?

नियमित रूप से त्वचा की मालिश करने से आराम महसूस होता है और त्वचा स्वस्थ रह सकती है (17)। मसाज के लिए अरंडी का तेल और जैतून का तेल अच्छा मिश्रण साबित हो सकता है। जैतून के तेल के फायदे आप ऊपर जान ही चुके हैं। अब बात करते हैं अरंडी के तेल के फायदे की। अरंडी के तेल में रिसिनोलिक एसिड होता है, जिसमें एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होता है (18)। हालांकि, अरंडी का तेल त्वचा संबंधी समस्याओं पर ज्यादा प्रभाव नहीं डालता, लेकिन कई मामलों में इससे त्वचा की खुजली, संवेदनशीलता व अल्ट्रा वायलेट किरणों के खिलाफ फायदेमंद माना गया है (19)। इसलिए, कहा जा सकता है कि त्‍वचा के लिए जैतून का तेल का उपयोग अरंडी के तेल के साथ करना बेहतर विकल्प हो सकता है।

6. सिरके के साथ जैतून के तेल के फायदे 

सामग्री :
  • आधा कप जैतून का तेल
  • एक चौथाई कप सिरका
  • एक चौथाई कप पानी
  • स्टोर करने के लिए बोतल
कैसे इस्तेमाल करें?
  1. सभी सामग्रियों को बोतल में डालें और अच्छी तरह हिला लें।
  2. अपने चेहरे पर इस मिश्रण की कुछ बूंदों को लगाएं और थोड़ी देर गोलाई में मालिश करें।
  3. इसे रात भर चेहरे पर लगा रहने दें और अगली सुबह उठकर मुंह धो लें।
  4. इस नुस्खे को रोजाना इस्तेमाल किया जा सकता है।
कैसे मदद करता है?

सिरका त्वचा के लिए अच्छा माना जाता है। एनसीबीआई के शोध में पाया गया है कि इसमें मौजूद एसिटिक एसिड हानिकारक बैक्टीरिया से होने वाले संक्रमण को रोकता है। एसिटिक एसिड में एंटीबैक्टीरियल और एंटीमाइक्रोबियल गुण पाए जाते हैं, जो चेहरे पर हानिकारक जीवाणु को पनपने से रोकने में मदद कर सकते हैं (20)

 आइए, अब जानते हैं कि जैतून का तेल इस्तेमाल करते समय किन बातों को ध्यान में रखना जरूरी है।

बचाव – Caution 

जैतून का तेल इस्तेमाल करते समय कुछ बातों को ध्यान में रखना जरूरी है, जैसे : 

  • जैतून के तेल से बने किसी भी नुस्खे को चेहरे पर लगाने से पहले चेहरे को पानी से अच्छी तरह धो लें। चेहरा पूरी तरह साफ होगा, तभी तेल त्वचा में अच्छी तरह प्रवेश कर पाएगा।
  • चेहरे से मेकअप को हटाना भी जरूरी है। अगर मेकअप वाटरप्रूफ है, तो सिर्फ पानी से काम नहीं चलेगा, किसी अच्छे मेकअप रिमूवल से चेहरे को साफ करें।
  • चेहरे पर जैतून का तेल लगाकर घर से बाहर न निकलें। बाहर निकलने पर चेहरे पर धूल-मिट्टी लग सकती है और इस सौन्दर्य उपचार का असर कम हो सकता है।
  • चेहरा धोने के बाद चेहरे को हमेशा मुलायम तौलिये से थपथपा कर पोंछना चाहिए।
  • अगर किसी को कोई त्वचा संबंधी रोग हैं, तो उपरोक्त फेसपैक का उपयोग करने से पहले त्वचा विशेषज्ञ की सलाह जरूर लेनी चाहिए। 

इस लेख में आपने जाना कि जैतून के तेल का प्रयोग त्वचा के लिए कितना लाभदायक हो सकता है। इस लेख में दी गई जानकारी आपको पसंद आएगी, ऐसी हम उम्मीद करते हैं। प्राकृतिक सौंदर्य उत्पादों का प्रयोग किसी भी तरह के नुकसान के डर से बचाता है। साथ ही इनका प्रयोग करना किफायती भी है। जैतून के तेल को सौन्दर्यवर्धक प्राकृतिक उत्पाद माना जा सकता है, जिसके बारे में हम विस्तार से बता चुके हैं। सुंदरता को निखारने के लिए और कौन-कौन से घरेलू उपचार किए जा सकते हैं, यह जानने के आप हमारे अन्य आर्टिकल पढ़ सकते हैं।

Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Auli Tyagi

औली त्यागी उभरती लेखिका हैं, जिन्होंने हरिद्वार (उत्तराखंड) से पत्रकारिता और जनसंचार में एम.ए. की डिग्री हासिल की है। औली को लेखन के क्षेत्र में दो साल का अनुभव है। औली प्रतिष्ठित दैनिक अखबार और कम्युनिटी रेडियो स्टेशन से ट्रेनिंग ले चुकी हैं। औली सामाजिक मुद्दों पर लिखना पसंद करती हैं। लेखन के अलावा इन्हें वीडियो एडिटिंग और फोटोग्राफी का तकनीकी ज्ञान भी हैं। इन्हें हिंदी और उर्दू साहित्य में विशेष रुचि है।

ताज़े आलेख

scorecardresearch