गोटू कोला (मण्डूकपर्णी) के फायदे और नुकसान – Gotu Kola (Mandukaparni) Benefits and Side Effects in Hindi

Medically reviewed by Neha Srivastava (Nutritionist), Nutritionist
Written by

भारत में सदियों से जड़ी बूटियों का उपयोग होता आ रहा है। शरीर से जुड़ी हर छोटी-बड़ी परेशानियों से बचाव व इनके लक्षण कम करने में ये प्राकृतिक औषधियां सक्षम मानी जाती हैं। इन्हीं जड़ी-बूटियों में एक गोटू कोला यानी मण्डूकपर्णी भी है। कम ही लोग इसके नाम को जानते हैं, लेकिन गोटू कोला के फायदे अनेक हैं। इनके फायदे के साथ ही अधिक उपयोग करने से होने वाले गोटू कोला के नुकसान, जानने के लिए यह लेख पढ़ें।

विस्तार से पढ़ें

गोटू कोला के फायदे से पहले मण्डूकपर्णी के फायदे क्या हैं, यह जानते हैं।

गोटू कोला (मण्डूकपर्णी) के फायदे – Benefits of Gotu Kola in Hindi

कई तरह की स्वास्थ समस्याओं में मण्डूकपर्णी के फायदे देखे जा सकते हैं, नीचे हम इनके बारे में विस्तृत रूप से चर्चा कर रहे हैं। बस ध्यान दें कि गोटू कोला किसी भी बीमारी के उपचार में सहायक भूमिका निभा सकता है,लेकिन यह इनका सटीक उपचार नहीं है।

1. मस्तिष्क की कार्यप्रणाली के लिए

गोटू कोला दिमाग और तंत्रिका तंत्र को मजबूत बनाने और उनकी कार्यप्रणाली को बेहतर करने में सहायक हो सकता है। साथ ही यह ध्यान, याददाश्त और एकाग्रता को भी बढ़ा सकता है (1)। इसके अलावा, मण्डूकपर्णी के फायदे एक प्रभावी एंटीऑक्सीडेंट के रूप में भी देखे जा सकते हैं, जो फ्री-रेडिकल्स का प्रभाव कम कर सकते हैं। ये फ्री-रेडिकल्स सोचने समझने की शक्ति के कमजोर होने का कारण बनते हैं (2)। इस प्रकार गोटू कोला का उपयोग मस्तिष्क की कार्यप्रणाली को बढ़ाने में किया जा सकता है।

2. अल्जाइमर रोग में आराम

अल्जाइमर रोग दिमाग से जुड़ा एक विकार है। इसमें व्यक्ति की याददाश्त कमजोर हो जाती है और वह खुद का भी नाम भूलने लगता है (3)। इस बीमारी में भी मण्डूकपर्णी के फायदे देख जा सकते हैं। इंटरनेशनल जर्नल ऑफ कैंसर रिसर्च के एक अनुसार, गोटू कोला के सेवन से अल्जाइमर रोग की वजह से खोने वाली याददाश्त को बढ़ाया जा सकता है (4)।

गोटू कोला में मौजूद एशियाटिक एसिड को अल्जाइमर के लिए अच्छा माना जाता है (5)। एशियाटिक एसिड के अलावा, गोटू कोला में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट भी अल्जाइमर रोग से बचाने व लक्षण कम करने में सहायक होता है। दरअसल, अल्जाइमर होने पर दिमाग में बीटा-एमीलॉइड जम जाता है, जिसे गोटू कोला के एंटीऑक्सीडेंट कम कर सकते हैं (6)।

3. चिंता और अवसाद के लक्षणों को कम करे

कोलकाता के विभिन्न मेडिकल कॉलेजों द्वारा मिलकर की गई एक रिसर्च से पता चलता है कि गोटू कोला चिंता और अवसाद के लक्षण और उससे जुड़ी समस्याओं को कम कर सकता है। इन लक्षणों में पैनिक अटैक की समस्या यानी अचानक डर जाना या घबरा जाना, इटिंग डिसऑर्डर यानी एक बार में अत्यधिक भोजन करना, कम या बिलकुल न खाना और व्यक्तित्व में असामान्य बदलाव शामिल हैं (7)।

इसकी वजह गोटू कोला में मौजूद एंटी-स्ट्रेस और एंटी-डिप्रेशेंट प्रभाव को माना गया है (8)। साथ ही गोटू कोला एडाप्टोजेन यानी तनाव प्रतिरोधक की तरह कार्य करके शरीर को तनाव झेलने में मदद कर सकता है (7)।

4. रक्तचाप नियंत्रण में गोटू कोला के फायदे

गोटू कोला के लाभ उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने में हो सकते हैं (2)। एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार, इसमें उच्च मात्रा में टोटल फेनोलिक जैसा प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट होता है। फेनोलिक का यह उच्च स्तर इसमें मौजूद फ्लावोनोइड (कुएरसेटिन, केमफोरोल, कैटेचिन, रुटिन, एपिगेनिन और नारिंगिन) की वजह से है। ये फ्लावोनोइड उच्च रक्त को नियंत्रित कर सकते हैं। खासकर, कुएरसेटिन फ्लावोनोइड में एंटी हाइपरटेंसिव यानी उच्च रक्तचाप कम करने वाला प्रभाव होता है (9)।

5. सूजन कम करने में सहायक

गोटू कोला में मौजूद एशियाटिकोसाइड घटक में एंटी इंफ्लामेंटरी प्रभाव पाया जाता है, जो सूजन को कम कर सकता है। चूहों पर किए गए एक शोध में बताया गया है कि यह प्रभाव एडिमा यानी सूजन को कम करने में सकारात्मक प्रभाव दिखाता। साथ ही गठिया के कारण होने वाली सूजन के उपचार में भी गोटू कोला का उपयोग किया जा सकता है (2)। ऐसे में हम मान सकते हैं कि यह सूजन को कम करने में लाभकारी हो सकता है।

6. मानसिक थकान से राहत

गोटू कोला के बारे में शोध में बताया गया है कि इसमें मौजूद उच्च औषधीय गुणों के कारण इसका उपयोग यह मानसिक थकान को दूर करने में किया जा सकता है (1)। हालांकि, इसके पीछे गोटू कोला का कौन-सा गुण काम करता है, इसके बारे में विस्तृत शोध की आवश्यकता है।

7. पेट के अल्सर से आराम

पेट के अल्सर से पीड़ित लोगों को गोटू कोला का उपयोग करने से फायदे मिल सकते हैं। गोटू कोला का अर्क गैस्ट्रिक म्यूकोसा बैरियर को मजबूत और फ्री रेडिकल्स के नुकसान से बचा सकता है। गैस्ट्रिक म्यूकोसा बैरियर, पेट का वो प्रभाव है, जो पाचन के लिए आवश्यक गैस्ट्रिक एसिड को सुरक्षित रखता है। साथ ही गोटू कोला में एंटीअल्सर गतिविधि भी होती है, जो पेट के अल्सर के जोखिम को कम कर सकता है (2)।

8. स्ट्रेच मार्क्स को कम करे

जर्नल ऑफ द यूरोपियन अकेडमी ऑफ डर्मेटोलॉजी एंड वेनेरोलॉजी द्वारा किए गए एक शोध में पाया गया है कि गोटू कोला से स्ट्रेच मार्क्स को कम किया जा सकता है। रिसर्च में बताया गया है कि त्वचा पर गोटू कोला का अर्क लगाने से यह स्ट्रेच मार्क्स को बढ़ने से रोक सकता है और उनके निशान को हल्का कर सकता है। यह सेल उत्पादन और फाइब्रोब्लास्ट यानी कनेक्टिव टिश्यू के सेल बढ़ाकर स्ट्रेच मार्क्स को कम करने में मदद मिल सकती है (10)।

9. घाव भरने में गोटू कोला के फायदे

प्राचीन काल से घाव भरने के लिए गोटू कोला का उपयोग किया जा रहा है। इंडियन जर्नल ऑफ फार्मास्यूटिकल साइंसेज द्वारा किए एक शोध के अनुसार, इसका अर्क घाव को जल्दी भर सकता है। माना जाता है कि गोटू कोला का मरहम, जेल या क्रीम घाव पर लगाने से प्रभावित क्षेत्र पर सेल्स का उत्पादन करने में मदद मिल सकती है (2)।

इसके अलावा, इसमें मौजूद एशियाटिकोसाइड नामक तत्व कोलेजन को बढ़ाकर और नई रक्त वाहिकाओं के निर्माण में मदद करके घाव भरने का काम कर सकता है (2)। इस तरह मण्डूकपर्णी के फायदे घाव भरने में भी मिल सकते हैं।

10. लिवर के स्वास्थ्य के लिए लाभदायक

गोटू कोला के फायदे लिवर को स्वस्थ बनाए रखने में हो सकते हैं। दरअसल, ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस लिवर डैमेज का कारण बन सकता है। एनसीबीआई ने भी चूहों पर किए गया इससे जुड़ा एक शोध प्रकाशित किया था। रिसर्च के अनुसार, गोटू कोला एंटीऑक्सीडेंट एंजाइम को बढ़ाकर और इंफ्लेमेशन को कम करके हेपाटोप्रोटेक्टिव (लिवर डैमेज से बचाव) प्रभाव प्रदर्शित कर सकता है (11)।

11. वजन घटाने में सहायक

वजन कम करने में गोटू कोला सहायक हो सकता है। एक शोध की मानें तो गोटू कोला के एथेनॉलिक अर्क में एंटी ओबेसिटी गुण होता है, जो मोटापा कम करने में सहायक हो सकता है (12)। एक अन्य अध्ययन में पाया गया कि स्लिमिंग टी के मुख्य सामग्रियों में से एक गोटू कोला भी है (13)। इस आधार पर माना जा सकता है कि वजन कम करने में गोटू कोला कुछ हद तक प्रभावकारी हो सकता है।

12. अनिद्रा की समस्या से राहत

अनिद्रा एक आम समस्या है, जिसमें जड़ी-बूटियां काफी मददगार और सुरक्षित मानी जाती हैं। शोध के अनुसार, अनिद्रा से राहत दिलाने वाली हर्बल औषधीय में से एक गोटू कोला भी है (14)। ऐसे में मान सकते हैं कि अनिद्रा की समस्या में गोटू कोला फायदेमंद हो सकता है। हालांकि, यह स्पष्ट नहीं है कि इसमें गोटू कोला का कौन-सा गुण मदद करता है।

13. बालों के लिए फायदेमंद

गोटू कोला का उपयोग बालों के स्वास्थ्य के लिए लाभकारी हो सकता है। अध्ययन में दी गई जानकारी के अनुसार, गोटू कोला के पौधे का उपयोग हेयर केयर, बालों को काला रखने व हेयर ऑयल के निर्माण में किया जाता है (15)।

एक अन्य जानकारी के अनुसार गोटू कोला के अर्क में जैतुन का तेल मिलाकर स्कैल्प की मालिश करने से ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ावा मिलता है, जिसके कारण बाल बढ़ने के साथ ही मजबूत हो सकते हैं (16)। इस आधार पर मान सकते हैं कि यह बालों के लिए फायदेमंद हो सकता है।

आगे और भी है जानकारी

अब जानते हैं गोटू कोला में मौजूद पोषक तत्वों के बारे में।

गोटू कोला के पौष्टिक तत्व – Gotu Kola Nutritional Value in Hindi

गोटू कोला में कई प्रकार के मिनरल, प्रोटीन और विटामिन (विटामिन बी और सी) पाए जाते हैं। इनके साथ गोटू कोला में फ्लावोनोइड और पॉलीफेनॉल भी होते हैं (17)। गोटू कोला में पाए जाने वाले पोषक तत्वों पर ज्यादा शोध उपलब्ध नहीं है, इसलिए यह कहना मुश्किल होगा कि ये पोषक तत्व कितनी मात्रा में पाए जाते हैं।

उपयोग पढ़ें

आगे पढ़िए गोटू कोला इन हिंदी में और जानकारी।

गोटू कोला का उपयोग – How to Use Gotu Kola in Hindi

गोटू कोला एक जड़ी बूटी है, जिसका उपयोग सप्लीमेंट या लिक्विड गोटू कोला अर्क के रूप में किया जा सकता है। इसका उपयोग खाने में सलाद के रूप में भी किया जाता है। साथ ही त्वचा पर गोटू कोला युक्त क्रीम का उपयोग भी किया जा सकता है।

हम यही सलाह देंगे कि इसका उपयोग मेडिसिन की तरह करने से पहले डॉक्टर से परामर्श कर लें कि गोटू कोला सप्लीमेंट का उपयोग कितनी मात्रा में और किस प्रकार करना चाहिए। किसी भी बीमारी या समस्या के लिए गोटू कोला का उपयोग बिना डॉक्टरी परामर्श के करना हानिकारक हो सकता है।

आगे है और जानकारी

मण्डूकपर्णी के फायदे, उपयोग और पोषक तत्वों के बाद आगे पढ़िए मण्डूकपर्णी के नुकसान।

गोटू कोला (मण्डूकपर्णी) के नुकसान – Side Effects of Gotu Kola (Mandukaparni) in Hindi

इंडियन जर्नल ऑफ फार्मास्यूटिकल साइंसेज के अनुसार, गोटू कोला में किसी प्रकार की विषाक्तता नही पाई जाती है। हां, अगर इसका सेवन अनियत्रित मात्रा में या डॉक्टरी परामर्श के बिना किया जाए, तो उपयोग करने वाले को मण्डूकपर्णी के नुकसान का सामना करना पड़ सकता है, जो इस प्रकार हो सकते हैं (2)।

नोट– गर्भावस्था के दौरान इसका सेवन गर्भपात का कारण बन सकता है। साथ ही गोटू कोला के नुकसान से बचने के लिए स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को इसका उपयोग न करने की सलाह दी जाती है।

लेख को पढ़ने के बाद गोटू कोला के अद्भुत गुणों के बारे में आप जान ही गए होंगे। यहां हमने गोटू कोला के लाभ, उपयोग और इसमें मौजूद पोषक तत्वों के बारे में विस्तृत जानकारी दी है। एक बात का ध्यान जरूर रखें कि इसके फायदों के साथ कुछ नुकसान भी हो सकते हैं, इसलिए इसका सीमित मात्रा में ही करें। अगर किसी तरह की गंभीर समस्या हो, तो इसके सेवन से पहले डॉक्टर से अवश्य परामर्श करे।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या गोटू कोला में उत्तेजक प्रभाव होता है?

नहीं, गोटू कोला में उत्तेजक प्रभाव नहीं पाया जाता है। कई बार गोटू कोला को एक अलग प्रकार का नट समझ लिया जाता है, जिसे कोला नट कहते हैं। इसी वजह से यह गलत फहमी हो जाती है कि गोटू कोला में उत्तेजक प्रभाव है (2)।

क्या गोटू कोला अवसाद में मदद कर सकता है?

हां, गोटू कोला में एंटी डिप्रेशन प्रभाव होता है, जिसे अवसाद को कम करने के लिए जाना जाता है। एडाप्टोजेन यानी तनाव प्रतिरोधक की तरह मदद कर सकता है (6)।

क्या गोटू कोला त्वचा के लिए अच्छा हो सकता है?

हां, गोटू कोला में मॉश्चराइजिंग व एंटी इंफ्लामेंटरी प्रभाव होता है, जो त्वचा स्वास्थ्य के लिए अच्छा हो सकता है (18)।

क्या प्रतिदिन गोटू कोला का सेवन सकते हैं?

ओषधि के रूप में गोटू कोला का सेवन सीमित समय तक और सीमित मात्रा में रोजाना किया जा सकता है। अगर किसी तरह की एलर्जी हो, तो डॉक्टर से पूछकर ही इसका सेवन करें। साथ ही इसका सेवन करने से किसी तरह का रिएक्शन हो, जैसे कि सिरदर्द, बेहोशी, पेटदर्द, मतली, तो इसे खाना तुरंत बंद कर दें और चिकित्सक से संपर्क करें (2)।

क्या गोटू कोला त्वचा में कसाव ला सकता है?

गोटू कोला पौधे त्वचा की लोच यानी इलास्टिसिटी में सुधार करके कसावट लाने में मदद कर सकता है (19)।

क्या गोटू कोला बालों के लिए अच्छा है?

जी हां, गोटू कोला का उपयोग करने से बालों स्वस्थ हो सकते हैं (14)।

संदर्भ (Sources) :

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Gotu Kola (Centella asiatica)
    https://www.researchgate.net/publication/328266297_Gotu_Kola_Centella_asiatica2.
  2. Pharmacological Review on Centella asiatica: A Potential Herbal Cure-all
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3116297/
  3. Alzheimer\’s Disease
    https://medlineplus.gov/alzheimersdisease.html
  4. Medicinal Property of Gotu kola (Centella asiatica) from the Selection of Traditional Applications to the Novel Phytotherapy
    https://www.researchgate.net/publication/296706780_Medicinal_Property_of_Gotu_kola_Centella_asiatica_from_the_Selection_of_Traditional_Applications_to_the_Novel_Phytotherapy
  5. Therapeutic Potential of Centella asiatica and Its Triterpenes: A Review
    https://www.frontiersin.org/articles/10.3389/fphar.2020.568032/full
  6. Centella asiatica extract protects against amyloid β1–40-induced neurotoxicity in neuronal cells by activating the antioxidative defence system
    https://www.sciencedirect.com/science/article/pii/S2225411015000784
  7. A clinical study on the management of generalized anxiety disorder with Centella asiatica
    https://nmcth.edu/images/gallery/Editorial/gQTk2u_jana.pdf
  8. Effects of Centella asiatica (L.) Urb. on cognitive function and mood related outcomes: A Systematic Review and Meta-analysis
    https://www.nature.com/articles/s41598-017-09823-9
  9. Antihypertensive Effects of Centella asiatica Extract
    http://www.ipcbee.com/vol55/023-ICFAS2013-G3020.pdf
  10. Topical management of striae distensae (stretch marks): prevention and therapy of striae rubrae and albae
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5057295/
  11. Protective effects of Centella asiatica leaf extract on dimethylnitrosamine‑induced liver injury in rats
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/27748812/
  12. Studies on the anti obesity activity of ethanolic extract of Centella Asiatica in Triton-X
    High fat diet and Progesterone induced obesity
  13. CENTELLA ASIATICA (L.): A PLANT WITH IMMENSE MEDICINAL POTENTIAL BUT THREATENED
    https://globalresearchonline.net/journalcontents/volume4issue2/Article%20003.pdf13.
  14. Herbal Medicine for Insomnia
    https://www.researchgate.net/publication/281791280_Herbal_Medicine_for_Insomnia
  15. Indian medicinal plants: For hair care and cosmetics
    https://www.wjpsonline.org/admin/uploads/7RjUkI.pdf
  16. Hair is an accoutrement hair is jewelry it’s an accessory- Realize “The killing effects of shampoo”
    https://www.plantsjournal.com/archives/2017/vol5issue2/PartD/5-2-29-448.pdf
  17. Gotu Kola (Centella asiatica): Nutritional Properties and Plausible Health Benefits
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/26602573/
  18. Moisturizing and Antiinflammatory Properties of Cosmetic Formulations Containing Centella asiatica Extract
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4852572/
  19. Skin Ageing: Natural Weapons and Strategies
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3569896/

और पढ़े:

Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

ताज़े आलेख