गुड़ और चना साथ में खाने के फायदे – Gud Aur Chana Ke Fayde in Hindi

Written by , MA (Journalism & Media Communication) Puja Kumari MA (Journalism & Media Communication) linkedin_icon
 • 
 

गुड़ और चने में पाए जाने वाले पोषक तत्वों की अपनी-अपनी खूबियां हैं। वैसे क्या आप दोनों को साथ में खाने के फायदे जानते हैं? अगर नहीं, तो इस लेख में हम विस्तार से इन दोनों को एक साथ खाने के फायदे बताएंगे। बता दें कि गुड़ और चने का साथ में सेवन सेहत के लिए फायदेमंद हो सकता है। ये दोनों कई शारीरिक समस्याओं से बचाव और उनके प्रभाव को कम करने में अहम भूमिका निभा सकते हैं। यही वजह है कि लंबे समय से एक हेल्दी स्नैक्स के रूप में इनका इस्तेमाल किया जा रहा है। स्टाइलक्रेज के इस लेख में जानिए गुड़ और चने के साथ में सेवन के फायदे। साथ ही यहां उनके उपयोग के तरीके और कुछ नुकसान भी बताए गए हैं। गुड़ और चने के फायदे जानने के लिए लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

शुरू करते हैं लेख

सबसे पहले गुड़ और चना खाने के फायदे से जुड़ी जानकारी हासिल करते हैं।

गुड़ और चना खाने के फायदे – Benefits of jaggery and Chana in Hindi

गुड़ और चना स्वास्थ्य के लिए कई तरह से फायदेमंद हो सकते हैं, जिनके बारे में नीचे विस्तार से बताया गया है। बस ध्यान दें कि ये किसी बीमारी का उपचार नहीं हैं। ये नीचे बताई गईं स्वास्थ्य स्थितियों में कुछ हद तक राहत प्रदान कर सकते हैं। अगर किसी को कोई गंभीर बीमारी है, तो इसके लिए डॉक्टर से इलाज कराना बेहतर होगा।

1. इम्यूनिटी के लिए गुड़ और चने के फायदे

रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने के लिए गुड़ और चने का सेवन लाभकारी हो सकता है। दरअसल, गुड़ में ऐसे कई विटामिन और मिनरल मौजूद होते हैं, जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर करने में मदद कर सकते हैं 1। वहीं, चने में जिंक मौजूद होता, जो इम्यूनिटी को मजबूत करने में अहम भूमिका निभा सकता है (2) (3)। इसके अलावा, एक अन्य शोध में जिक्र मिलता है कि चने के छिलके में मौजूद पॉलीसैकेराइड इम्यून सिस्टम की गतिविधि को बढ़ाने का काम कर सकता है (4)। इन तथ्यों को देखते हुए कहा जा सकता है कि शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में गुड़ और चने का सेवन लाभकारी हो सकता है।

2. पाचन के लिए चना और गुड़ खाने के फायदे

खाना खाने के बाद अक्सर लोगों को मीठा खाने की चाह होती है। ऐसे में गुड़ चने का सेवन किया जा सकता है। दरअसल, गुड़ न सिर्फ मीठे की क्रेविंग को शांत करेगा बल्कि खाने को पचाने में भी मदद कर सकता है। दरअसल, गुड़ शरीर में जाकर डाइजेस्टिव एजेंट की तरह काम कर पाचन क्रिया को मजबूत रखने में मदद कर सकता है (5)। बात करें चने की, तो इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर होता है, जो पाचन तंत्र को मजबूत बनाने के साथ कब्ज से बचाव में मदद कर सकता है (6) (7)। इस आधार पर गुड़ और चने के फायदे में पाचन को भी गिना जा सकता है।

3. हृदय के लिए

चना और गुड़ खाने के फायदे में हृदय को स्वस्थ रखना भी शामिल है। दरअसल, गुड़ में मौजूद पोटैशियम, मैग्नीशियम, सेलेनियम, मैंगनीज और जिंक ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने के साथ हृदय को स्वस्थ रखने में मदद कर सकते हैं (8)। वहीं, एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) पर उपलब्ध एक शोध के मुताबिक, चने का सेवन हृदय रोग के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है (6)। इस प्रकार हृदय स्वास्थ्य को बनाए रखने में गुड़ चना खाने के फायदे देखे जा सकते हैं।

4. हड्डियों के लिए

हड्डियों को मजबूत बनाने के मामले में भी गुड़ और चने खाने के फायदे हासिल किए जा सकते हैं। दरअसल, गुड़ में मौजूद कैल्शियम, फास्फोरस और मैग्निशियम जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो हड्डियों को स्वस्थ बनाने के लिए जरूरी माने गए हैं (9) (10)। मजबूत हड्डियों के लिए कैल्शियम से समृद्ध खाद्य पदार्थों के सेवन की सलाह दी जाती है (11)। वहीं, चने में भी कैल्शियम की मात्रा पाई जाती है, जो शरीर में कैल्शियम की कमी को दूर कर हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद कर सकता है (2)। इसलिए, हड्डियों के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए गुड़ और चने का सेवन उपयोगी साबित हो सकता है।

जारी रखें पढ़ना

5. कब्ज में मददगार

भीगा हुआ चना और गुड़ खाने के फायदे में कब्ज से राहत भी शामिल है। कब्ज से परेशान रहने वाले लोगों के लिए गुड़ और चने का सेवन लाभकारी साबित हो सकता है। जैसा कि हम ऊपर बता ही चुके हैं कि गुड़ डाइजेस्टिव एजेंट की तरह काम कर सकता है और बेहतर पाचन के लिए सहायक हो सकता है (5)। पाचन बेहतर होगा, तो कब्ज की समस्या से बचाव हो सकता है। इसी तरह चना फाइबर से भरपूर होता है और फाइबर पाचन में मदद कर कब्ज से निजात दिलाने में सहायक हो सकता है (6) (7)। ऐसे में हम कह सकते हैं कि गुड़ और चने का सेवन कब्ज से राहत प्रदान कर सकता है।

6. वजन कम करने में सहायक

वजन कम करने के लिए भी गुड़ और चने का सेवन किया जा सकता है। दरअसल, चने की गिनती लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स (जीआई) फूड में होती और इसमें प्रोटीन की मात्रा भी पाई जाती है (6)। बता दें, ग्लाइसेमिक इंडेक्स एक तरह का माप है, जिससे यह मालूम होता है कि कोई खाद्य पदार्थ शरीर में कितनी जल्दी रक्त शर्करा को बढ़ा सकता है। बता दें कि सिर्फ कार्बोहाइड्रेट युक्त खाद्य पदार्थों को जीआई में शामिल किया जाता है। विशेषज्ञ की मानें, तो लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स फूड वजन कम करने में सहायक हो सकते हैं (12)। वहीं, इसमें मौजूद प्रोटीन भूख को नियंत्रित कर वजन कम करने में मदद कर सकता है (13)।
इसके अलावा, गुड़ का सेवन भी कुछ हद तक वजन को कम करने में मदद कर सकता है। दरअसल, इससे जुड़े एक शोध में जिक्र मिलता है कि गुड़ में पोटेशियम पाया जाता है, जो वजन नियंत्रण प्रक्रिया में सहायक हो सकता है (14)। इस प्रकार भीगा हुआ चना और गुड़ खाने के फायदे वेट लॉस में देखे जा सकते हैं, लेकिन इसके साथ संतुलित आहार और नियमित व्यायाम करना भी आवश्यक है।

7. दांतों के लिए

गुड़ चना खाने के फायदे में ओरल हेल्थ भी शामिल है। दांतों को सेहतमंद रखने के लिए भी गुड़ और चने का सेवन लाभदायक हो सकता है। दरअसल, गुड़ में मौजूद विटामिन-सी  मसूड़ों के साथ दांतों के स्वास्थ्य  के लिए उपयोगी हो सकता है (9)। बात करें चने की, तो इसमें कैल्शियम और मैग्नीशियम मौजूद होता है, जो दांतों के स्वास्थ्य के लिए जरूरी माने गए हैं। एनसीबीआई की ओर से उपलब्ध शोध के मुताबिक, कैल्शियम और मैग्नीशियम दांतों को मजबूत बनाए रखने का काम कर सकते हैं (15)।

8. त्वचा के लिए फायदेमंद

त्वचा के लिए भी गुड़ और चने के फायदे देखे जा सकते हैं। दरअसल, गुड़ में एंटीऑक्सीडेंट क्षमता पाई जाती है और एंटीऑक्सीडेंट चेहरे पर एंजिग के प्रभाव को कम करने में मदद कर सकता है। दरअसल, फ्री रेडिकल प्रभाव एजिंग को बढ़ाने का काम कर सकते हैं और वहीं, एंटीऑक्सीडेंट गुण फ्री रेडिकल प्रभाव को कम कर एजिंग से बचाव का काम कर सकता है (16) (17)। इसके अलावा, चने में विटामिन-ए और विटामिन-सी भी मौजूद होते हैं (2)। विटामिन ए एंटी-रिंकल की तरह काम कर सकता है, जो त्वचा को जवां रखने में मदद कर सकता है (18)। वहीं, विटामिन-सी कोलेजन का उत्पादन कर त्वचा को रिपेयर कर उसे स्वस्थ बनाए रखने में मदद कर सकता है। इसके अलावा, विटामिन-सी जख्मों को भरने, सूरज की हानिकारक किरणों व एजिंग से बचाव में मदद कर सकता है (19)।

लेख पढ़ते रहें

चना और गुड़ खाने के फायदे के बाद अब बारी है गुड़ और चना के उपयोग के बारे में जानने की।

गुड़ और चना का उपयोग – How to Use Gud Aur Chana in Hindi

चना और गुड़ साल भर उपलब्ध रहते हैं। इन्हें आप घर के पास किसी भी किराने की दुकान या सुपर मार्केट से खरीद सकते हैं। वहीं, नीचे बताए तरीकों को अपनाकर इनका सेवन कर सकते हैं :

  • गुड़ और चने का सेवन लंच और डिनर के बाद मीठे की क्रेविंग को शांत करने के लिए कर सकते हैं।
  • नाश्ते में भी इसका सेवन अच्छा ऑप्शन हो सकता है। जो लोग बॉडी बनाने के लिए जिम जाते हैं, वे नाश्ते में भीगे हुए चने और गुड़ खा सकते हैं।
  • गुड़ और चने के लड्डू या चिक्की बनाकर भी सेवन किया जा सकते हैं।

कितना खाएं : गुड़ और चने को प्रतिदिन कितनी मात्रा में ले सकते हैं, फिलहाल इसे लेकर कोई वैज्ञानिक शोध मौजूद नहीं है। फिर भी रोजाना 10-12 ग्राम गुड़ और 50 ग्राम चने का सेवन आहार विशेषज्ञ की सलाह पर किया जा सकता है। हालांकि, व्यक्ति के स्वास्थ्य के आधार पर इसके सेवन की सही मात्रा में बदलाव हो सकता है।

जारी रखें पढ़ना

चना और गुड़ के उपयोग के बाद हम गुड़ और चना के नुकसान जानेंगे।

गुड़ और चना के नुकसान – Side Effects of Gud and Chana in Hindi

सीमित मात्रा में गुड़ और चने का सेवन सेहत के लिए अच्छा हो सकता है, लेकिन अत्यधिक मात्रा में इन्हें  लेने के नुकसान भी हो सकते हैं। गुड़ और चने खाने के फायदे जानने के बाद नीचे पढ़िए गुड़ और चने के नुकसान के बारे में :

  • चने में एंटीन्यूट्रिशनल कंपाउंड की मौजूदगी का पता चलता है, जो शरीर में पोषक तत्वों का संतुलन बिगाड़ सकते हैं (21)।
  • गुड़ में शुगर मौजूद होता है और शुगर का अधिक सेवन दांतों की क्षति का कारण बन सकता है (22)।
  • पेट के लिए फाइबर युक्त चने का सेवन लाभकारी है, लेकिन फाइबर को ज्यादा लेना गैस, पेट फूलना और पेट में ऐंठन की परेशानी का कारण बन सकता है (23)।

इस बात में कोई संशय नहीं है कि गुड़ और चने का सेवन विभिन्न स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं में कुछ हद तक लाभकारी हो सकता है। वहीं, इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि इनके फायदे पाने के लिए इनका जरूरत से ज्यादा सेवन करें। इनका अधिक मात्रा में किया गया सेवन बताए गए गुड़ और चने के नुकसान का कारण बन सकता है। भीगा चना और गुड़ खाने के फायदे पाने के लिए इन्हें हमेशा सीमित मात्रा में ही खाएं। उम्मीद है यह लेख आपको पसंद आया होगा। ऐसे ही सेहत और स्वास्थ्य से जुड़े अन्य लेख पढ़ने के लिए स्टाइलक्रेज से जुड़े रहें।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

सुबह खाली पेट गुड़ और चना खाने से क्या फायदा होता है?

भीगा चना और गुड़ खाने के फायदे से जुड़ी जानकारी लेख में ऊपर दी गई है। इसके लिए इनका सेवन स्नैक्स के तौर पर किया जा सकता है।

क्या गुड़ और चने का सेवन वजन घटाने के लिए अच्छा होता है?

हां, भुने हुए चने और गुड़ खाने के फायदे में वजन को नियंत्रित करना भी शामिल हो सकता है। लेख में ऊपर इस विषय पर विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई है।

क्या गुड़ और चने का सेवन प्रेगनेंसी में किया जा सकता है?

हां, प्रेगनेंसी में चना और गुड़ खाने के फायदे हासिल किए जा सकते हैं। गुड़ और चना दोनों में आयरन मौजूद होता है, जो गर्भावस्था में आयरन की कमी से होने वाले एनीमिया के जोखिम को कम कर सकता है (24)। सावधानी के लिए प्रेगनेंसी में इन दोनों का सेवन डॉक्टरी सलाह पर ही करें और स्वास्थ्य अनुसार इनकी सही मात्रा की भी जानकारी जरूर लें।

References

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. A Study on Development of Spice Flavoured Herb (Phyllanthus Niruri) Tea for Healthy Immune System,
    https://www.academia.edu/30871071/A_Study_on_Development_of_Spice_Flavoured_Herb_Phyllanthus_Niruri_Tea_for_Healthy_Immune_System
  2. CHICKPEAS,
    https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/536727/nutrients
  3. Zinc as a Gatekeeper of Immune Function,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5748737/
  4. Immunomodulatory Activity in vitro and in vivo of Polysaccharides from Kabuli Chickpea (Cicer arietinum L.) Hull,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC7821783/
  5. The Unconventional Value Addition of Jaggery,
    https://www.researchgate.net/publication/317593129_The_Unconventional_Value_Addition_of_Jaggery
  6. The Nutritional Value and Health Benefits of Chickpeas and Hummus,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5188421/
  7. Dietary Fiber,
    https://medlineplus.gov/dietaryfiber.html
  8. Consumption Pattern of Jaggery and Jaggery Products in 3 Cities in Western Maharashtra,
    https://www.ijsr.net/archive/v6i6/ART20174624.pdf
  9. Manufacturing Jaggery, a Product of Sugarcane, As Health Food,
    https://www.researchgate.net/publication/271098473_Manufacturing_Jaggery_a_Product_of_Sugarcane_As_Health_Food
  10. Nutritional Aspects of Bone Health and Fracture Healing,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5804294/
  11. Calcium and bones,
    https://medlineplus.gov/ency/article/002062.htm
  12. Glycemic index and diabetes,
    https://medlineplus.gov/ency/patientinstructions/000941.htm
  13. The role of protein in weight loss and maintenance,
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/25926512/
  14. Jaggery: A natural sweetener,
    https://www.phytojournal.com/archives/2020/vol9issue5/PartAR/9-5-516-642.pdf
  15. Evaluation of calcium and magnesium contents in tooth enamel without any pathological changes: in vitro preliminary study,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6153988/
  16. Cytoprotective and antioxidant activity studies of jaggery sugar,
    https://citeseerx.ist.psu.edu/viewdoc/download?doi=10.1.1.1058.3361&rep=rep1&type=pdf
  17. Antioxidants in dermatology,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5514576/
  18. Retinoids: active molecules influencing skin structure formation in cosmetic and dermatological treatments,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6791161/
  19. The Roles of Vitamin C in Skin Health,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5579659/
  20. Sugar intake, obesity, and diabetes in India,
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/25533007/
  21. Health Risks and Benefits of Chickpea (Cicer arietinum) Consumption,
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/27779388/
  22. Role of Sugar and Sugar Substitutes in Dental Caries: A Review,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3893787/
  23. Fiber,
    https://medlineplus.gov/ency/article/002470.htm
  24. Impact of Iron Rich Food Supplementation on Poor Anemic Rural Pregnant Women and Adolescent Girls,
    https://www.ijcmas.com/8-3-2019/Sunita%20Kumari,%20et%20al.pdf
Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
Puja Kumari

Puja Kumariहेल्थ एंड वेलनेस राइटर

पुजा कुमारी ने बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी से जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन में एमए किया है। इन्होंने वर्ष 2015 में अपने करियर की शुरुआत न्यूज आधारित वेब पोर्टल से की थी। अब तक इनके 2 हजार से भी ज्यादा आर्टिकल प्रकाशित हो चुके हैं। पुजा को विभिन्न विषयों पर लेख लिखना पसंद है, लेकिन इनका सबसे ज्यादा पसंदीदा विषय घर की...read full bio

ताज़े आलेख