Written by , (शिक्षा- बैचलर ऑफ जर्नलिज्म एंड मीडिया कम्युनिकेशन)

अपने हमदम की आंखें, मुस्कान, होंठ, बात करने का तरीका इन सब की तारीफ करने का सबसे अच्छा तरीका है शायरी। इन सबके अलावा अपने चाहने वाले के गुलाबी गालों पर शायरी करना भी उनके मन को भा सकता है। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम लेकर आए हैं गुलाबी गालों पर शायरी। यहां आपको गुलाबी गालों पर स्टेटस के साथ ही गुलाबी गालों पर कोट्स और गुलाबी गालों पर शायरी मिलेगी। जिनमें से अपनी पसंद की शायरी का चुनाव कर आप किसी को भी भेज सकते हैं।

स्क्रॉल करें

लेख की शुरुआत करते हैं गुलाबी गालों पर शायरी और गुलाबी गालों पर कोट्स के साथ।

55+ गुलाबी गालों पर शायरी और कोट्स – 55+ Gulabi Gaal Shayari

  1. उसकी कातिल निगाहें दिल पर वार करती हैं,
    लबों को सिए वो बातें हजार करती हैं।
  1. उसकी खूबसूरती की तारीफ करने से डरते हैं,
    कहीं समझ न ले वो इसे हमारी खता,
    इसलिए इजहार-ए-मोहब्बत करने से डरते हैं।
  1. चांद को भी शर्म आ जाए उसके सामने है वो इतनी खूबसूरत,
    दिल है उसका कोमल और वो खूद है शर्मो हया की मूरत।
  1. उसकी खूबसूरती की क्या मिसाल दें,
    सारी दुनिया उसकी दीवानी है,
    उसके नाम से सजती है शाम-ए-महफ़िल,
    इस बात से वो बिल्कुल अनजान है।
  1.  उसके चेहरे की चमक ही ऐसी थी कि सब कुछ सादा-सादा सा लगने लगा,
    उसकी खूबसूरती में इस कदर खो गए कि फलक पर चांद भी अधूरा सा लगने लगा।
  1. उसके चेहरे के तिल पर फिदा मेरा दिल है,
    हंसती है तो जान ले लेती है,
    इस दुनिया में वो सबसे खूबसूरत है।
  1. देखते ही उनको फिदा हो जाएं, इतनी हसीन हैं वो,
    न गहने न श्रृंगार, फिर भी बला की खूबसूरत है वो।
  1.  सोचा पन्नों पर उतार दूं तारीफ उनकी,
    फिर ये सोचकर हाथ थम गए कि
    कहीं स्याही को भी उससे मोहब्बत न हो जाए।
  1.  उसकी तारीफ में शब्द कम पड़ने लगे,
    मासूमियत देखकर उनकी लोगों के दिल फिसलने लगे।
  1. नाजुक फूलों के जैसा चेहरा है उनका,
    खिलती कलियों सी लबों की मुस्कान,
    उनकी तारीफों में शब्द भी पड़ जाएगा कम,
    दुनिया में सबसे खूबसूरत है हमारी जान।
  1. आपकी दोस्ती नायाब है हमारे लिए,
    उसे हम खोना नहीं चाहते,
    मेरे प्यार को कहीं ठुकरा न दें आप,
    इसलिए इजहार-ए-मोहब्बत करना नहीं चाहते।

आगे हैं प्रेजिंग अ गर्ल शायरी

  1.  सुरमे से लदी उनकी आंखें कत्लेआम करती हैं,
    जिसे देख ले मुस्कुरा कर उसे अपना गुलाम बना लेती हैं।
  1.  तारीफ में उनकी निकले शब्दों को लोग शायरी समझ लेते हैं,
    उनके इकरार का इंतजार है जिसे लोग हमारी दीवानगी समझ लेते हैं।
  1. एक खूबसूरत सी परी को हम दिल दे बैठे,
    मुझ बदनसीब के नसीब में कहां होगी वो,
    बस यही सोचकर इजहार किए बिना हार बैठे।
  1. ये उसके चेहरे का है नूर,
    जिसके सामने चांद भी लगता है बेनूर।
  1. खूबसूरती के मायने क्या होते हैं, हमने कभी मापा नहीं,
    जब से तुम आए हो जिंदगी में, हमारे लिए तुमसा हसीन कोई नहीं।
  1.  ये हवा जब उनके गालों को सहलाती है,
    बेपरवाह सी जुल्फें चेहरे पर झूल जाती हैं,
    बड़े ही प्यार से वो फिर मुस्कुराती है,
    मोड़ के उन बालों को जूड़े में समेट लेती है,
    उनकी यही अदा हमारी जान ले लेती है।
  1. उसकी मासूम आंखें जब भी हमें देखती हैं,
    खुदा कसम बार-बार उस पर मर मिटने को जी चाहता है।
  1.  मेरे कलम शब्दों में कहां बांध पाएंगे उसकी खूबसूरती को,
    जब भी पन्नों पर स्याही बिखरती है बस उसका नाम ही लिख पाते हैं।
  1. उसकी बातों में खो जाने को जी चाहता है,
    जब भी होती है वो पास कसकर गले लगाने को जी चाहता है,
    कैसे बताएं कितना चाहते हैं हम उसे,
    एक जन्म क्या सौ जन्मों में भी दिल उसी का होना चाहता है।
  1.  इतनी खूबसूरत है वो कि हम खुद को रोक नहीं पाते,
    जितना भी दूर जाना चाहे उसके और करीब पहुंच जाते।
  1. कल रात ख्वाब में किसी ने बताया जो पता उसका,
    नींद में उठ कर यूं ही चल पड़े थे हम।
  1. कल रात भर चांद के सामने हमने अपने महबूब की तारीफ की,
    आज रात वो भी चिढ़ कर बादलों में छिपा बैठा है।

पढ़ते रहें कॉम्प्लिमेंट फॉर वुमन शायरी

  1.  औरों को होगी जरूरत सजने संवरने की,
    मेरा महबूब तो सादगी में ही कहर ढाता है।
  1.  उसकी बातें दीवाना बना देती है,
    उसकी मुस्कान हर गम भुला देती है,
    आंखों की मासूमियत के क्या कहने,
    जिधर नजर भर देख ले उसे पाक कर देती है।
  1. उसकी मदहोश आंखें देखकर हम खुद को संभाल नहीं पाते,
    लाख कोशिश करते हैं कि नाम न ले उसका,
    लेकिन जिक्र जब भी छिड़े उसका,
    तारीफ किए बिना रह नहीं पाते।
  1. अपनी नजरों के असर से वो अनजान हैं,
    जो मरने वाले को भी जीने की चाह सिखा देती है।
  1.  नींद से कर रहे थे शिकायत रात को कि क्यों जगाए रखते हो,
    वो भी जलते हुए बोला कसूर उसके चेहरे का है बदनाम हमें कर रहे हो।
  1. तारीफ उसकी जो करने लगा तो शब्द गुम हो गए,
    लिखने के लिए कलम उठाया तो स्याही सूख गई।
  1. बड़ी खूबसूरत है वो फूलों सी नाजुक है,
    बड़े शौक से बनाया होगा खुदा ने उसे,
    शायद इसलिए ही वो सबसे खूबसूरत है।
  1. मेरी शायरी से सबको अपनी सी कहानी मिल गई,
    दुख बस इतना है कि वो न मिली जिसके लिए ये लिखी गई थी।
  1.  उगते सूरज सा रोशन है चेहरा उनका,
    जहां भी पड़े अंधेरा उसको दूर कर दे।
  1. उनकी तारीफ सुनकर ये सितारे भी जलने लगे,
    जब नहीं कर पाए उनके हुस्न का मुकाबला तो टूटकर बिखरने लगे।
  1. उसकी मिसाल क्या दें ये संभव नहीं,
    इस दुनिया में कोई हो नहीं सकता उन सा,
    उनका इस जहां में कोई मुकाबला ही नहीं।
  1. जब सुनाते हैं वो किस्से अपने, तो निगाहें चुपचाप उन्हें देखा करती हैं,
    किसी से सुना था कि इबादत में कुछ भी कहने की मनाही होती है।
  1. उनकी गुलाबी गालों में कुछ तो खास है,
    जब भी नजरें मिलाते हैं नशा सा छा जाता है।
  1. उसके यूं शर्माने की अदा दिल में बस जाती है,
    चांद की तरह मेरी पहुंच से दूर है वो
    फिर भी दिल ने उसे पाने की जिद लगा रखी है।

पढ़ें वर्ड्स टू प्रेज अ वुमन

  1.  उसकी खूबसूरती को लोग चांद का टुकड़ा कहते हैं,
    लेकिन सिर्फ हम जानते हैं वो चांद का नहीं चांद उनका टुकड़ा है।
  1. सोचता हूं आपको प्यार का तोहफा क्या दूं,
    जो पहुंचा दे मेरे दिल की बात ऐसा क्या दूं,
    सोचा चांद को ही तोहफे में भेज दें आपके पास,
    पर जो खुद चांद हो उसे चांद क्या दूं।
  1. मेरी जिंदगी का हर सफर सुहाना बन जाए,
    गर साथ तेरा सनम उम्र भर के लिए मिल जाए।
  1.  हुस्न की परिभाषा हमें मालूम नहीं,
    बस इस दिल के लिए कोई तुमसा हसीन नहीं।
  1. मेरी हर उलझनों का हल तुम हो,
    दर्द जो उठे कभी सीने में दवा तुम हो,
    तुम्हारे लिए हम भले कुछ न हों,
    पर मेरे लिए तो सारा जहान तुम हो।
  1. कल रात वो यूं ही टहलने निकले जो छत पर,
    चांद भी शर्म के मारे बादलों में छिप गया।
  1. किन शब्दों में करूं तारीफ तुम्हारी वो अल्फाज ही नहीं बने,
    तुझे देखकर जाग जाते हैं सोये अरमान ये दिल क्या करे।
  1. उसकी मासूम निगाहें दिल में घर कर जाती हैं,
    एक पल को भी भूल पाना उन्हें मुमकिन नहीं,
    जहां भी देखूं हर चेहरे में बस वो ही नजर आती है।
  1.  वो जब भी संवर कर हमारे सामने आए,
    पलकें झपकना भूल गई, दिल ने साथ देना छोड़ दिया।
  1. उनके गालों का ये काला तिल हुस्न पर पहरा देता है,
    दुनिया की आंखें कहीं दाग न लगा दे इस पर,
    इसलिए नजर का टीका बन जाता है।
  1. अपनी मदहोश निगाहों से वो हमारे दिल को हलाल करते हैं,
    गुनहगार तो वो हैं हमारे, सब कुछ जानते हुए भी मोहब्बत से इनकार करते हैं।
  1.  उनके हुस्न के आफताब को कैसे बयां करें ए-दोस्त,
    उनके बन ठनकर निकलने से सौ चिराग रोशन हो उठते हैं।
  1. तेरी खूबसूरती के सामने वो चांद भी फीका सा लगता है,
    तेरा हुस्न जैसे चौधवी का नूर और फलक पर वो चांद आधा सा लगता है।
  1. खुदा ने मेरे महबूब को संगमरमर की मूरत सा बनाया है,
    खूबसूरत तो बहुत है वो मगर दिल पत्थर का बनाया है।
  1. उसकी सूरत से इश्क नहीं हमें,
    हम तो उसकी सीरत से मोहब्बत करते हैं,
    कितनी अनमोल हैं वो हमारे लिए,
    इस बात से अनजान वो भी एक तरफा तड़पते हैं।
  1.  वो आसपास हों तो एक अलग-सी खुशबू हवा में घुल जाती है,
    हम चाहकर भी उनसे दूर नहीं रह पाते,
    उनकी निगाहें, न जाने ऐसा कौन सा जादू चलाती हैं।
  1. अपनी इन खुली जुल्फों को हवाओं में छोड़ दो,
    मेरी मोहब्बत को ये दिशा देती है, इसे यूं न कैद करो।
  1. हुस्न की नुमाइश करने वाले बस आंखों को भाते हैं,
    दिल तो अक्सर सादगी से जीने वाले जीत जाते हैं।
  1. उनके चेहरे का अक्स नजर आता है हमारी आंखों में,
    ये देखकर लोग अब हमारी आंखों से भी जलने लगे हैं।
  1. मेरे लफ्ज़ बयां करते हैं जिस चेहरे की खूबसूरती,
    वो महबूब मेरा शायरियों में उतर आया है।
  1. उनकी जुल्फें चेहरे पर कर लेती हैं पर्दा इस तरह,
    काली रात में बादलों ने चांद को छिपा लिया हो जिस तरह।
  1.  वो आइना भी क्या दे पाएगा आपके हुस्न की गवाही,
    हमारी नजरों से पूछो, जो देखते ही आप पर मर मिटे हैं।
  1. उन्हें देखते ही सब होश खो बैठते थे,
    शायद इसलिए ही मेरे महबूब ने पर्दे को चुना है।

लड़कियों को तारीफ बहुत पसंद होती है और यदि बात हो उनके गुलाबी गालों की तो बात ही कुछ और होती है। उनके गुलाबी गालों की तारीफें अगर सच्ची हो तो सीधा दिल पर असर करती हैं। अगर आप अपने पार्टनर के गुलाबी गालों की तारीफ शायरी के माध्यम से करना चाहते हैं तो इस लेख में दी गई शायरियों का चुनाव कर सकते हैं। यहां आपको नई और दिल को छू जाने वाली गुलाबी गालों पर शायरी मिलेगी जिन्हें आप अपने स्टेटस पर लगानें के साथ ही अपने पार्टनर के साथ भी शेयर कर सकते हैं।

Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
The following two tabs change content below.
सरल जैन ने श्री रामानन्दाचार्य संस्कृत विश्वविद्यालय, राजस्थान से संस्कृत और जैन दर्शन में बीए और डॉ. सी. वी. रमन... more

ताज़े आलेख