त्वचा के लिए गुलाब जल के फायदे और उपयोग – Rose Water Benefits for Skin in Hindi

Medically reviewed by Dr. Suvina Attavar, MBBS, DVD Dr. Suvina Attavar Dr. Suvina AttavarMBBS, DVD linkedin_icon
Written by , MA (Mass Communication) Kavita Singh MA (Mass Communication)
 • 
 

बात जब फूलों की हो, तो गुलाब का जिक्र किए बिना कैसे रहा जा सकता है। इसी गुलाब से बनने वाले गुलाब जल की चर्चा भी कुछ कम नहीं हैं। भारतीय परंपरा में गुलाब जल का उपयोग न सिर्फ धार्मिक अनुष्ठानों में, बल्कि त्वचा को प्राकृतिक रूप से निखारने के लिए भी पौराणिक काल से हो रहा है। आखिर ऐसा क्या है गुलाब जल में कि इसे हर कोई इतना पसंद करता है। इसी के बारे में हम स्टाइलक्रेज के इस लेख में बताएंगे। यहां गुलाब जल के फायदे और गुलाब जल कैसे बनता है, इस बारे में विस्तार से जानिए।

शुरू करते हैं लेख

सबसे पहले यह जान लेते हैं कि गुलाब जल के फायदे त्वचा के लिए क्या-क्या हैं।

त्वचा के लिए गुलाब जल के फायदे – Benefits of Rose Water for Skin in Hindi

गुलाब जल त्वचा के लिए बेहद लाभकारी है। इसके इस्तेमाल से त्वचा को कई तरह के फायदे हो सकते हैं। क्या हैं गुलाब जल के फायदे इसके बारे में नीचे विस्तार से पढ़िए।

1. निखार और चमक के लिए

गुलाब जल त्वचा पर निखार लाने में सहायक हो सकता है। एक शोध में बताया गया है कि गुलाब की पंखुड़ियों के अर्क में स्किन व्हाइटनिंग गुण होता है। इस गुण की मदद से चेहरे की रंगत में निखार आ सकती है (1)। साथ ही गुलाब जल स्किन ब्लॉचीनेस (Blotchiness) यानी काले व लाल रंग के पैच को दूर करके चेहरे को चमकदार बना सकता है (2)।

2. संतुलित पीएच स्तर

स्किन के पीएच को बैलेंस रखना जरूरी होता है। अगर यह संतुलित नहीं रहता, तो त्वचा में पिंपल जैसी अन्य समस्याएं पैदा हो सकती हैं (3)। ऐसे में गुलाब जल का उपयोग लाभकारी सिद्ध हो सकता है। बताया जाता है कि गुलाब जल त्वचा के पीएच लेवल को संतुलित बनाए रखने में अहम भूमिका निभा सकता है (2)।

3. कील-मुंहासे

गुलाब जल का उपयोग लोग कील-मुंहासों को कम करने के लिए भी किया जाता है। दरअसल, गुलाब जल में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं (4)। एंटी-बैक्टीरियल गतिविधि उन बैक्टीरिया को पनपने से रोक सकती है, जिनके कारण त्वचा पर कील-मुंहासों बनते हैं। साथ ही एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रभाव पिंपल के जीवाणुओं के कारण होने वाले इंफ्लेमेश को कम करके भी कील-मुंहासे से राहत दिला सकता है (5)।

4. त्वचा की नमी के लिए

गुलाब जल के फायदे में त्वचा की नमी को बनाए रखना भी शामिल है। यह चेहरे को हाइड्रेट यानी नम बनाए रखने में मदद कर सकता है। साथ ही इसे त्वचा को पुनर्जीवित करने और मॉइस्चराइज करने में भी सहायक माना जाता है (2)।

5. सूजन के लिए

जैसा कि हमने पहले भी बताया कि गुलाब जल में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होता है। यह गुण त्वचा पर होने वाली सूजन को कम करने में सहायक हो सकता है (4)। शायद इसी वजह से आंखों के नीचे की सूजन से राहत पाने के लिए गुलाब जल में रूई को भिगोकर आंखों पर रखा जाता है।

6. झुर्रियों के लिए

उम्र बढ़ने के साथ-साथ त्वचा पर झुर्रियां पड़ने लगती हैं। गुलाब जल इन झुर्रियों को कम करने में सहायक हो सकता है। झुर्रियों के साथ ही यह बढ़ती उम्र के दूसरे लक्षण यानी फाइन लाइन्स को भी कम करने में मददगार साबित हो सकता है (2)।

7. सनबर्न में सहायक

गुलाब जल में प्रभावी एंटीऑक्सीडेंट गतिविधि होती है। यह इफेक्ट सन प्रोटेक्टिंग एजेंट की तरह त्वचा पर काम कर सकता है, जिसकी मदद से त्वचा को सूरज के हानिकारक प्रभाव से बचाया जा सकता है। साथ ही गुलाब जल फ्री-रेडिकल्स के असर को कम करके सनबर्न से भी राहत दिला सकता है (6)।

8. काले घेरों के लिए

जैसा कि हम ऊपर बता ही चुके हैं कि गुलाब जल में स्किन व्हाइटनिंग प्रभाव होता है (1)। माना जाता है कि इसकी मदद से आंखों के नीचे के काले घेरों को भी कम किया जा सकता है। वैसे, स्ट्रेस की वजह से भी काले घेरे पड़ सकते हैं (7)। ऐसे में गुलाब जल युक्त कॉटन बॉल को आंखों पर रखकर उन्हें राहत दी जा सकती है। दरअसल, गुलाब जल में स्किन को रिलैक्स करने का गुण होता है, जिसका सकारात्मक असर काले घेरों पर पड़ सकता है (2)।

9. संवेदनशील त्वचा के लिए

गुलाब जल की सबसे खास बात यह है कि इसे सभी तरह की त्वचा वाले इस्तेमाल कर सकते हैं। जी हां, संवेदनशील त्वचा वाले भी इसे बेझिझक चेहरे पर लगा सकते हैं। यह संवेदनशील त्वचा के लिए टॉनिक के रूप में कार्य कर सकता है और स्किन रेडनेस को भी कम करने में सहायक हो सकता है (8)।

10. संक्रमण को रोकने के लिए

गुलाब जल में एंटीसेप्टिक गुण होता है। यह गुण बैक्टीरिया को खत्म करके संक्रमण को रोक सकता है। इसी कारण इसका उपयोग संक्रमण से बचाव के लिए भी किया जा सकता है (9)। गुलाब जल में एंटीमाइक्रोबॉयल गुण भी मौजूद होता है, इसलिए इसका उपयोग रोजेशिया (rosacea) नामक त्वचा संक्रमण में भी किया जा सकता है। यह त्वचा को आराम पहुंचा सकता है।

12. त्वचा के छिद्रों को करे साफ

गुलाब जल में कसैला (एस्ट्रिंजेंट) गतिविधि होती है, जो रोम छिद्रों को गहराई से साफ कर सकती है। छिद्रों को गहराई से साफ करके गुलाब जल स्किन पोर्स को टाइट करता है। इसी वजह से त्वचा को साफ करने व कसावट लाने के लिए गुलाब जल का उपयोग बहुत प्रचलित है (2)।

पढ़ते रहें यह आर्टिकल

अब गुलाब जल के अन्य फायदों पर नजर डालते हैं। फिर यह जानेंगे कि गुलाब जल कैसे बनता है।

गुलाब जल के अन्य फायदे – Other Benefits of Rose Water In Hindi

त्वचा के लिए गुलाब जल के फायदे के बाद अब हम बता रहे हैं कि यह बालों व आंखों के लिए किस प्रकार फायदेमंद है। चलिए, तो पढ़ते हैं आंखों और बालों के लिए गुलाब जल के फायदे के बारे में :

1. आंखों के लिए

गुलाब जल आंखों के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। आयुर्वेद व अन्य पौराणिक उपचार की पद्धतियों में शुद्ध गुलाब जल आंखों के लिए इस्तेमाल किया जाता रहा है। बताया जाता है कि गुलाब जल आंखों से संबंधित समस्या कंजंक्टिवाइटिस से राहत दिला सकता है। इसमें एनाल्जेसिक गुण होता है, जो आंखों के दर्द को कम कर सकता है (10)। इसके लिए एक कप ठंडे पानी में दो चम्मच शुद्ध गुलाब जल मिलाकर आंखों पर छींटे मार लें।

2. स्कैल्प व बालों के लिए

गुलाब जल आंखों के लिए ही नहीं, स्कैल्प के लिए भी उपयोगी हो सकता है। दरअसल, सफेद गुलाब के फूलों में उत्कृष्ट एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-एलर्जी गुण होते हैं। इनकी मदद से स्कैल्प सेबोरीक डर्मोटाइटिस (Seborrheic Dermatitis) यानी पपड़ीदार पैच और लाल त्वचा की समस्या को कम किया जा सकता है (11)।

माना जाता है कि ये गुण स्कैल्प की समस्या को दूर करके बालों को स्वस्थ बनाने में मदद कर सकते हैं। बालों को स्वस्थ बनाने के लिए गुलाब जल युक्त फेस पैक का इस्तेमाल किया जा सकता है। घर में गुलाब जल हेयर मास्क बनाने की जानकारी आगे लेख में दी गई है।

3. होंठों के लिए

गुलाब जल का चेहरे पर उपयोग करने के साथ-साथ होंठों पर भी किया जा सकता है। हम पहले ही बता चुके हैं कि इसमें मॉइस्चराइजिंग गुण होते हैं (2)। यह गुण होंठों को नर्म रखने में मदद कर सकता है। इसके लिए रोजाना रूई की मदद से होंठों पर गुलाब जल लगाया जा सकता है।

4. दांतों के लिए

दांतों की समस्याओं को दूर करने के लिए भी गुलाब जल का इस्तेमाल किया जा सकता है। एक अध्ययन के अनुसार, गुलाब जल में अनार के सिरके को मिलाकर इसे माउथवॉश की तरह उपयोग किया जा सकता है। दरअसल, अनार और गुलाब जल दोनों एंटीमाइक्रोबियल गुण युक्त होते हैं। ये मिलकर मुंह के बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकने और दांतों को सड़न से बचाने का काम कर सकते हैं (12)।

5. खराश में उपयोगी

गले में खराश की समस्या अक्सर बैक्टीरिया और वायरस के कारण होने लगती है (13)। ऐसे में गुलाब जल से राहत मिल सकती है। एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन) द्वारा पब्लिश शोध के मुताबिक गुलाब जल का इस्तेमाल पारंपरिक रूप से खराश को कम करने के लिए किया जाता रहा है (14)। माना जाता है कि गुलाब के अर्क में मौजूद एंटी बैक्टीरियल गुण इस समस्या को कम करने में अहम भूमिका निभा सकता है (4)।

6. पाचन क्रिया के लिए

पेट की समस्या को दूर करने के लिए भी गुलाब जल व गुलाब की पंखुड़ियों का इस्तेमाल किया जा सकता है। बताया जाता है कि गुलाब के फूल की सूखी पंखुड़ियों को दही में डालकर खाने से फायदा मिलता है (4)। गुलाब जल भी गुलाब की ही पंखुड़ियों से बनता है, इसलिए गुलाब जल को भी पाचन क्रिया को बेहतर करने के लिए फायदेमंद माना जाता है।

7. तनाव के लिए

चूहों पर किए गए एक शोध से पता चलता है कि गुलाब जल में एंटी-डिप्रेशेंट प्रभाव होते हैं। यह अवसाद के साथ ही तनाव को दूर करने में सहायक हो सकता है (15)। ऐसा गुलाब जल में मौजूद फेनोलिक्स की वजह से हो सकता है। फिलहाल, इस तथ्य को स्थापित करने के लिए मानवों पर भी शोध किए जाने की आवश्यकता है।

बने रहें हमारे साथ

लेख में आगे आप पढ़ेंगे कि गुलाब जल के फायदे पाने के लिए इसका उपयोग कैसे किया जाना चाहिए।

त्वचा के लिए गुलाब जल का उपयोग कैसे करें – How to Use Rose Water for Skin in Hindi

त्वचा के लिए गुलाब जल का उपयोग कई तरीके से किया जा सकता है। हम नीचे विस्तार से इसे इस्तेमाल करने के सभी तरीके बता रहे हैं।

1. टोनर के तौर पर

सामग्री :

  • शुद्ध गुलाब जल
  • कुछ कॉटन बॉल्स
  • गुलाब के तेल की आठ से दस बूंदें (वैकल्पिक)

उपयोग करने का तरीका :

  • कॉटन बॉल्स को गुलाब जल में डाल लें।
  • अब रूई के जरिए गुलाब जल को अपने पूरे चेहरे पर लगाएं।
  • इसके बाद गुलाब जल को सूखने दें।
  • वैकल्पिक रूप से 50 ml गुलाब जल और गुलाब के तेल की कूछ बूंदों को स्प्रे बोतल में डालकर मिक्स कर लें।
  • अब इस टोनर को सुबह-शाम अपने चेहरे व गर्दन पर स्प्रे करें।

कैसे है फायदेमंद :

चेहरे के लिए गुलाब जल का उपयोग कई तरीकों से किया जा सकता है। जैसा कि इस लेख में पहले भी बताया गया है कि गुलाब जल एस्ट्रिंजेंट की तरह कार्य कर सकता है। मतलब यह चेहरे के रोम छिद्रों को साफ करके स्किन से अतिरिक्त तेल को निकालकर चेहरे पर कसावट ला सकता है (2)। इसी वजह से गुलाब जल का इस्तेमाल टोनर की तरह किया जाता है। गुलाब जल के साथ ही गुलाब से बने तेल का उपयोग भी स्किन टोनर की तरह किया जा सकता है ।

2. मॉइस्चराइजिंग के लिए

सामग्री :

  • तीन चम्मच शुद्ध गुलाब जल
  • एक चम्मच ग्लिसरीन
  • एक चम्मच नारियल तेल
  • वैकल्पिक रूप से दो चम्मच बादाम तेल

उपयोग करने का तरीका :

  • इन सभी सामग्रियों को एक बोतल में डाल लें।
  • फिर बोतल में इन्हें अच्छे से मिक्स कर लें।
  • अब इसमें से थोड़ा-सा मिश्रण लेकर त्वचा पर लगाएं।
  • वैकल्पिक रूप से गुलाब जल को बादाम तेल में मिलाकर पूरे शरीर की मालिश कर सकते हैं।
  • इसके अलावा, अपनी क्रीम में गुलाब जल को मिक्स करके स्किन पर लगा सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद :

हम ऊपर बता चुके हैं कि गुलाब जल में मॉइस्चराइजिंग गुण होता है। जब इसके साथ नारियल तेल और ग्लिसरीन मिलाया जाता है, तो यह और प्रभावी रूप से कार्य कर सकता है। दरअसल, कोकोनट ऑयल में एमोलिएंट इफेक्ट होता है, जो त्वचा की नमी को बनाए रख सकता है (16)। साथ ही ग्लिसरीन हुमेक्टैंट (Humectant) की तरह काम करता है। मतलब यह स्किन में नमी को घंटों लॉक कर सकता (17)।

इसके अलावा, वैकल्पिक रूप से इस्तेमाल किए गए बादाम तेल में भी एमोलिएंट गतिविधि होती है। यह गतिविधि स्किन को नर्म बनाने और रूखेपन को दूर करने में सहायक है। साथ ही बादाम तेल त्वचा की रंगत में निखार भी ला सकती है (18)। हालांकि, अगर किसी की त्वचा पर बार-बार मुंहासे की समस्या (acne prone skin) होती हो, तो वो इस मिश्रण का उपयोग न करें।

3. सन बर्न और टैनिंग के लिए

सामग्री :

  • 200 ml गुलाब जल
  • एक चम्मच सेब का सिरका
  • आधा चम्मच एलोवेरा जेल
  • लैवेंडर ऑयल की 10 बूंदें

उपयोग करने का तरीका :

  • सबसे पहले एक बोतल में सभी सामग्रियों को डालकर आपस में मिला लें।
  • फिर प्रभावित जगह पर इसे लगाएं।

कैसे है फायदेमंद :

हम ऊपर बता ही चुके हैं कि गुलाब जल सूरज की हानिकारक किरणों से बचाव करने में सहायक है। इसके अलावा, एलोवेरा में मौजूद हीलिंग और सूदिंग गुण भी सनबर्न से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं। साथ ही सेब का सिरका भी सनबर्न से प्रभावित त्वचा को कूलिंग प्रभाव देकर इससे राहत दिला सकता है (2)।

लैवेंडर ऑयल में भी सन प्रोटेक्शन एक्टिविटी होती है, जो सूरज की हानिकारक किरणों से बचाने के साथ ही सनबर्न से बचाव कर सकता है (19)। इसी वजह से इसे सनटैन और सनबर्न के लिए प्रभावी फेसपैक माना जाता है।

4. कील-मुंहासों के लिए

सामग्री :

  • एक चम्मच गुलाब जल
  • दो चम्मच बेसन
  • एक चम्मच संतरे का पाउडर
  • आधा चम्मच ग्लिसरीन
  • एक चुटकी हल्दी

उपयोग करने का तरीका :

  • सबसे पहले बेसन और हल्दी को मिला लें।
  • इसमें फिर ग्लिसरीन, गुलाब जल और संतरे का पाउडर डालें।
  • अच्छे से मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें।
  • इसके बाद चेहरे को धोकर इस पेस्ट को प्रभावित जगहों पर लगाएं।
  • करीब 15-20 मिनट लगे रहने के बाद ठंडे पानी से त्वचा को धो लें।
  • इसके बाद टोनर के तौर पर गुलाब जल लगा सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद :

कील-मुंहासों को दूर करने के लिए यह एक बेहतर घरेलू नुस्खा है। हल्दी में एंटीसेप्टिक और जीवाणुरोधी गुण होते हैं, जो मुंहासों को कम कर सकते हैं (20)। इसके अलावा, संतरे का पाउडर और बेसन स्किन ऑयल को कंट्रोल करके एंटी-पिंपल एजेंट की तरह काम कर सकते हैं (21)।

5. त्वचा को साफ करने के लिए

सामग्री :

  • शुद्ध गुलाब जल

उपयोग करने का तरीका :

  • गुलाब जल को स्प्रे बोतल में भर लें।
  • अब इसे चेहरे पर तब तक स्प्रे करें, जब तक पूरा चेहरा गीला न हो जाए।
  • फिर करीब 20-30 सेकंड त्वचा को ऐसे ही रहने दें।
  • अब टिशू पेपर की मदद से चेहरा साफ कर लें।
  • जरूरत पड़ने पर कभी भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद :

गुलाब जल में मौजूद एस्ट्रिंजेंट गतिविधि की वजह से यह त्वचा को गहराई से साफ कर सकता है। यह रोमछिद्रों में जमी गंदगी और त्वचा के अतिरिक्त तेल को हटाने में सहायक माना जाता है। साथ ही यह स्किन रेडनेस कम करने और त्वचा में कसावट लाने में भी मदद कर सकता है। गुलाब जल से स्किन साफ करने से एक्ने होने का खतरा भी कम हो जाता है (2)। इसी वजह से चेहरे के लिए गुलाब जल का उपयोग स्किन साफ करने के लिए किया जा सकता है।

6. फेस पैक के तौर पर

सामग्री :

  • दो चम्मच गुलाब जल
  • एक चम्मच बेसन

उपयोग करने का तरीका :

  • सबसे पहले एक चम्मच बेसन में दो चम्मच गुलाब जल डालें।
  • अब इन दोनों को अच्छे से मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें।
  • फिर साफ चेहरे और गर्दन पर यह फेस पैक लगाएं और करीब दो मिनट तक हल्के हाथों से मसाज करें।
  • मसाज करने के बाद इस पैक को चेहरे पर पांच मिनट के लिए छोड़ दें।
  • अब चेहरे को ठंडे पानी से साफ कर लें।

कैसे है फायदेमंद :

बेसन को स्किन टैनिंग कम करने में सहायक माना जाता है। साथ ही यह स्किन ऑयल को कंट्रोल करके एंटी-पिंपल एजेंट की तरह कार्य कर सकता है (21)। इसी वजह से गुलाब जल के इस फेस पैक को बहुत प्रभावी माना जाता है। हफ्ते में एक या दो बार इस फेस-पैक का उपयोग लाभकारी हो  सकता है। बेसन के अलावा, वैकल्पिक तौर पर गुलाब जल के साथ मुल्तानी मिट्टी का भी मिश्रण उपयोग किया जा सकता है।

7. होंठों के लिए गुलाब जल

सामग्री :

  • आधा चुकंदर
  • गुलाब जल की कुछ बूंदें
  • दो बूंद ऑलिव ऑयल
  • बीस वैक्स

उपयोग करने का तरीका :

  • चुकंदर को छोटे-छोटे टुकड़ाें में काट लें।
  • फिर चुकंदर का पेस्ट तैयार करें।
  • अब इसमें गुलाब जल और अन्य सामग्रियां डालकर अच्छे से मिला लें।
  • पेस्ट तैयार होने के बाद सीधे इसे अपने साफ होंठों पर लगाएं।
  • करीब 15 मिनट बाद इसे पानी से धो लें।
  • जब भी जरूरत महसूस हो, इसका उपयोग किया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद :

होंठों को मुलायम और गुलाबी बनाने का तरीका नहीं सूझ रहा है, तो इस पैक को इस्तेमाल कर सकते हैं। एक शोध में बताया गया है कि लिपस्टिक बनाने के लिए अक्सर चुकंदर का इस्तेमाल किया जाता है। इसमें बेटालिंस नामक पिगमेंट होता है, जो होंठों को प्राकृतिक लाल व पर्पल रंग दे सकता है (22)।

इसके अलावा, गुलाब जल और ऑलिव ऑयल होंठों को नमी देने में मदद कर सकते हैं। साथ ही बीस वैक्स होंठों को ग्लॉसी लुक दे सकता है (22)। इसी वजह से माना जाता है कि यह पैक होंठों को मुलायम और प्राकृतिक रंग देने में मदद कर सकता है। ध्यान रहे कुछ लोगों को बीस वैक्स से एलर्जी हो सकती है। ऐसे में इसके उपयोग से पहले पैच टेस्ट जरूर करें।

8. निखरी त्वचा के लिए

सामग्री :

  • तीन चम्मच गुलाब जल
  • दो चम्मच नींबू का रस

उपयोग करने का तरीका :

  • गुलाब जल और नींबू को आपस में मिला लें।
  • अब इस मिश्रण को चेहरे पर फेस पैक की तरह लगाएं।
  • इसे करीब 15 मिनट तक चेहरे पर लगा रहने देने के बाद ठंडे पानी से धो लें।
  • हफ्ते में एक या दो बार इस प्रक्रिया को कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद :

गुलाब जल के फायदे निखरी त्वचा पाने के लिए भी हो सकते हैं। बस इसके लिए गुलाब जल के साथ शहद मिलाना होगा। हम ऊपर बता ही चुके हैं कि गुलाब के अर्क में व्हाइटनिंग गुण होते हैं। इसके अलावा, नींबू में मौजूद विटामिन-सी भी त्वचा के रंग को निखाने में मदद कर सकता है (2)।

9. तरोताजा त्वचा के लिए

सामग्री :

  • एक छोटे आकार का ताजा खीरा
  • दो चम्मच शहद
  • एक चम्मच गुलाब जल

उपयोग करने का तरीका :

  • खीरे का छिलका उतारकर उसे शहद के साथ पीस लें।
  • अब इस मिश्रण में गुलाब जल डालकर अच्छे से मिक्स करें।
  • इस फेस पैक को चेहरे पर लगाकर करीब 15 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • फिर ठंडे पानी से चेहरा धो लें।

कैसे है फायदेमंद :

खीरा स्किन को रिलैक्स करके ताजगी का एहसास दे सकता है। साथ ही यह त्वचा की जलन को शांत करने और सनबर्न से राहत दिलाने वाले गुण से भरपूर होता है (23)। वहीं, गुलाब जल भी त्वचा को रिवाइटलाइज यानी पुनर्जीवित करके ताजगी भरा एहसास दे सकता है (2)। साथ ही शहद और गुलाब जल दोनों त्वचा को मुलायम एहसास देते हैं (24)। इसी वजह से खीरा, गुलाब जल और शहद स्किन फेस पैक को गुणकारी माना जाता है।

10. दाग-धब्बों के लिए

सामग्री :

  • दो चम्मच चंदन पाउडर
  • तीन से चार चम्मच गुलाब जल

उपयोग करने का तरीका :

  • सबसे पहले चंदन पाउडर और गुलाब जल को एक साथ मिला लें।
  • अब इस पेस्ट को चेहरे और गर्दन पर लगाएं।
  • अच्छे से लगाने के बाद इसे 20 से 25 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • फिर त्वचा को ठंडे पानी से धो लें।

कैसे है फायदेमंद :

गुलाब जल और चंदन दोनों स्किन व्हाइटनिंग प्रभाव प्रदर्शित करते हैं। एक स्टडी में बताया गया है कि इनमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट की वजह से यह स्किन पिगमेंटेशन यानी दाग-धब्बों को दूर करने में सहायक हो सकते हैं। इन दोनों के इथाइल एसीटेट अर्क को सबसे ज्यादा प्रभावी बताया गया है (1)। इसके अलावा, सामान्य चंदन पाउडर भी त्वचा को निखारने में मदद कर सकता है (21)।
स्क्रॉल करें

अब हम आगे बताएंगे कि गुलाब जल का इस्तेमाल हेयर मास्क की तरह कैसे कर सकते हैं।

गुलाब जल हेयर मास्क की तरह – Rose Water Hair Mask in Hindi

गुलाब जल का उपयोग हेयर मास्क की तरह भी किया जा सकता है। जी हां, इसमें कुछ सामग्रियों को मिलाकर हेयर मास्क आसानी से तैयार हो जाता है। इसकी विधि और फायदे हम नीचे विस्तार से बता रहे हैं।

सामग्री :

  • तीन चम्मच गुलाब जल
  • एक से दो चम्मच वर्जिन ऑलिव ऑयल या बादाम का तेल
  • दो चम्मच गुड़हल पाउडर
  • एक चम्मच शहद

उपयोग करने का तरीका :

  • सभी सामग्रियों को मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें।
  • फिर इसे 10 मिनट के लिए अलग रख दें।
  • 10 मिनट के बाद इस मिश्रण को बालों की जड़ों से लेकर सिरों तक लगाएं।
  • करीब आधे घंटे तक इसे बालों में लगा रहने दें।
  • फिर माइल्ड शैम्पू से बाल धो लें।

कैसे है फायदेमंद :

हम ऊपर बता ही चुके हैं कि गुलाब जल, स्कैल्प की समस्या को दूर करके बालों को स्वस्थ बना सकता है। इसमें मौजूद ऑलिव ऑयल या बादाम तेल दोनों बालों को गहराई तक कंडीशन कर सकते हैं। वर्जिन ऑलिव ऑयल में विटामिन-ई और मोनो अनसैचुरेटेड फैटी एसिड होते हैं, जो बालों को मजबूत बनाने के साथ ही हेयर ग्रोथ को बढ़ावा देने में मदद कर सकते हैं। वहीं, बादाम तेल में ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है, जो बालों को पोषण देकर उन्हें मजबूत बना सकते हैं (25)।

साथ ही गुड़हल पाउडर में मौजूद आयरन, विटामिन-सी जैसे कई पोषक तत्व बालों को मजबूत बनाने में मदद कर सकते हैं। साथ ही यह न्यूट्रिएंट्स बालों को बढ़ाने के लिए भी जाने जाते हैं (26)। वहीं, शहद बालों को चमकदार बनाने के साथ ही कंडीशन करने में मदद कर सकता है (24)।

आगे पढ़ें लेख

अब हम गुलाब की चाय बनाने का तरीका जानेंगे। फिर गुलाब जल कैसे बनाएं इसकी जानकारी देंगे।

गुलाब से बनी चाय – Rose Herbal Tea in Hindi

गुलाब जल का इस्तेमाल जिस तरह त्वचा और बालों को स्वस्थ रखने के लिए किया जाता है। ठीक वैसे ही गुलाब से बनी चाय का उपयोग लोग स्वस्थ रहने के लिए करते हैं। चलिए, आगे इसे बनाने की विधि और यह कैसे लाभदायक है जानते हैं।

सामग्री :

  • दो गुलाब के फूल
  • दो कप पानी
  • एक चम्मच शहद
  • नींबू के रस की 3 से 4 बूंदें

उपयोग करने का तरीका :

  • एक पैन में पानी गर्म करें।
  • फिर उसमें गुलाब की पंखुड़ियां डाल दें।
  • जब अच्छे से पानी उबल आ जाए, तो इसे 10 मिनट के लिए रख दें।
  • फिर इसे छानकर स्वादानुसार शहद और नींबू का रस मिला लें।
  • लीजिए, तैयार है आपकी गुलाब की चाय।

कैसे है फायदेमंद :

गुलाब की पंखुड़ी से बनी चाय पित्ताशय (Gallbladder) और लिवर को साफ करने में मदद कर सकती है। साथ ही पित्त स्राव (Bile secretion) को बेहतर कर सकती है। यही नहीं, गुलाब की पंखुड़ियों की चाय गले की हल्की खराश और ब्रोंकियल संक्रमण यानी फेफड़ों के एयर-वे इंफेक्शन को कम करने में भी सहायक मानी जाती है। इसके अलावा, यह चाय शरीर को ठंडक देती है और बुखार के कारण होने वाले रैशेज को कम कर सकती है (8)।

अंत तक पढ़ें लेख

गुलाब जल कैसे बनाए सोच रहे हैं, तो लेख का यह भाग जरूर पढ़ें।

गुलाब जल बनाने की विधि – How to Prepare Rose Water at Home in Hindi

मन में अगर अक्सर यह सवाल आता है कि गुलाब जल कैसे बनाएं, तो इसकी आसान विधि आप नीचे पढ़ सकते हैं। इस विधि से घर में ही गुलाब जल बनाकर इस्तेमाल कर सकते हैं।

सामग्री :

  • सात-आठ गुलाब की पंखुड़ियां
  • करीब 1.5 लीटर उबला हुआ पानी

बनाने की विधि :

  • फूलों से पंखुड़ियों को निकालकर हल्के गुनगुने पानी से साफ कर लें।
  • अब बड़े से जार में इन पंखुड़ियों को डालें और ऊपर से उबला हुआ पानी डाल दें।
  • पानी इतना होना चाहिए कि सभी पंखुड़ियां उसमें डूब जाएं।
  • अब जार को ढक दें और धीमी आंच पर गर्म होने दें।
  • जब गुलाब की पंखुड़ियों का रंग पूरी तरह से पानी में आ जाए, तो गैस बंद कर दें।
  • अब इस पानी को छानकर एक बर्तन में डाल लें।
  • बस तैयार है आपका गुलाब जल।

गुलाब जल के इतने सारे फायदे जानने के बाद आप समझ ही गए होंगे कि यह बेहद गुणकारी है। यह न सिर्फ बाजार में आसानी से मिल जाता है, बल्कि इसे घर में भी बनाया जा सकता है। यहां दी गई गुलाब जल को बनाने की विधि की मदद से आप इसे आसानी से बना सकते हैं। ऐसा करने से बाजार में मिलने वाले केमिकल युक्त गुलाब जल के नुकसान से त्वचा को बचाया जा सकता है। बस, तो आज से ही घर में बने ऑर्गेनिक गुलाब जल का इस्तेमाल करना शुरू कर दें और अपनी त्वचा व बालों पर प्यार लुटाएं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

गुलाब जल कब लगाना चाहिए?

गुलाब जल का इस्तेमाल चेहरा धोने के बाद किया जाना चाहिए। रूई की मदद से गुलाब जल को चेहरे पर सुबह या रात को सोने से पहले लगा सकते हैं।

क्या रोजाना गुलाब जल का उपयोग किया जा सकता है ?

हां, गुलाब जल का रोजाना इस्तेमाल किया जा सकता है।

क्या गुलाब जल को पी सकते है?

गुलाब जल को सीधे नहीं, बल्कि हर्बल टी बनाकर पी सकते हैं, जिसकी विधि हमने ऊपर दी है। हां, अगर घर में गुलाब जल बनाया हुआ हो, तो उसे पीने के बारे में आप सोच सकते हैं, लेकिन बाजार में मिलने वाले गुलाब जल में केमिकल हो सकते हैं। इसी वजह से गुलाब जल पीने की सलाह नहीं दी जाती है।

क्या गुलाब जल वजन कम करने में मदद करता है?

गुलाब का इस्तेमाल कई महिलाएं पतला होने के लिए करती हैं (27)। हालांकि, यह किस तरह से फायदेमंद है, यह स्पष्ट नहीं है।

गुलाब जल से चेहरा कैसे साफ करें?

रूई को गुलाब जल में डालकर चेहरा साफ कर सकते हैं। इसके अलावा, गुलाब जल को पूरे चेहरे पर स्प्रे करके कुछ सेकंड बाद रूई व टिशू की मदद से पोंछ सकते हैं।

गुलाब जल रात को कैसे लगाएं?

रात को सोने से पहले चेहरे को धोकर रूई या फिर स्प्रे बोतल की मदद से गुलाब जल लगा सकते हैं।

गुलाब जल कितने रुपये का मिलता है?

गुलाब का दाम उसकी मात्रा और ब्रांड पर निर्भर करता है। 30ml गुलाब जल का दाम कम-से-कम 15 रुपये और अधिकतम 60 रुपये हो सकता है।

गुलाब जल कैसे लगाएं?

गुलाब जल में रूई भिगोकर रूई की मदद से लगाया जा सकता है। इसके अलावा, फेस पैक में भी गुलाब जल को मिलाकर उपयोग किया जा सकता है।

गुलाब जल को कब तक स्टोर करके रखा जा सकता है?

गुलाब जल को एयर टाइट बोतल में डालकर फ्रिज में लगभग एक महीने तक स्टोर किया जा सकता है। इसके अलावा, बाजार में मिलने वाले गुलाब जल के पैक में मैनुफैक्चरिंग और एक्सपायरी डेट लिखी होती है। आप उसी तय तारीख के अनुसार गुलाब जल को स्टोर कर सकते हैं।

शहद और गुलाब जल के फायदे क्या हैं?

जैसे कि लेख में पहले ही जानकारी दी गई है कि शहद और गुलाब दोनों के उपयोग से त्वचा मुलायम हो सकती है (24)।

References

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Antityrosinase Activity And Antioxidant Activity Of Santalum Album & Rosa Bracteata Plant Extracts For Skin Whitening Assay
    https://storage.googleapis.com/journal-uploads/ejbps/article_issue/volume_5_august_issue_8/1533021626.pdf
  2. Formulation and evaluation of herbal face mist
    http://www.jipbs.com/VolumeArticles/FullTextPDF/471_JIPBSV7I102.pdf
  3. Skin Surface pH in Acne Vulgaris: Insights from an Observational Study and Review of the Literature
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5605222/
  4. Pharmacological Effects of Rosa Damascena
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3586833/
  5. Can I Prevent Acne?
    https://kidshealth.org/en/teens/prevent-acne.html
  6. International Journal Of Pharmaceutical Science And Research
    https://ijpsr.com/bft-article/photoprotective-and-antioxidant-activities-along-with-phytochemical-investigation-of-rose-water/?view=full text
  7. Do dark circles under the eyes predict health status?
    http://www.ijcem.com/files/ijcem0084644.pdf
  8. A Brief Review On Therapeutic Effect of -“Ornamental Plant ” Rose
    https://ijapr.in/index.php/ijapr/article/view/816/711
  9. Rosa damascena as holy ancient herb with novel applications
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4737971/#!po=2.08333
  10. Anti-inflammatory and Antihistaminic Study of a Unani Eye Drop Formulation
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3661513/
  11. Clinical Evaluation of a New-Formula Shampoo for Scalp Seborrheic Dermatitis Containing Extract of Rosa centifolia Petals and Epigallocatechin Gallate: A Randomized, Double-Blind, Controlled Study
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4252671/
  12. In Vitro Assessment of Antibacterial Activity of Pomegranate Vinegar and Rose Water Compared with Persica Mouthwash against Oral Bacteria
    http://jidai.ir/article-1-1809-en.html
  13. Sore throat
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2943825/
  14. Anticonvulsant and neuroprotective effects of Rosa damascena hydro-alcoholic extract on rat hippocampus
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4469956/
  15. Antidepressant-like effect of aqueous extract from Rosa damascena in mice
    http://ajp.mums.ac.ir/pdf_127_285cfcebe1cedbd441549c3b2c89f696.html
  16. In vitro anti-inflammatory and skin protective properties of Virgin coconut oil
    https://www.sciencedirect.com/science/article/pii/S2225411017300871
  17. Moisturizers: The Slippery Road
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4885180/
  18. The uses and properties of almond oil
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/20129403/
  19. Formulation and in vitro evaluation of gel for SPF determination and free radical scavenging activity of turpentine and lavender oil
    http://www.thepharmajournal.com/archives/2018/vol7issue3/PartB/7-2-22-760.pdf
  20. Formulation And Evaluation Of Cosmetic Herbal Face Pack For Glowing Skin https://www.ijrap.net/admin/php/uploads/1887_pdf.pdf
  21. In-House Preparation and Standardization of Herbal Face Pack
    https://pdfs.semanticscholar.org/1ca2/5c17343fd28d0dfa868e2abd0919f8e986dd.pdf
  22. Formulation and Evaluation of Herbal Lip Rouge.
    https://globalresearchonline.net/journalcontents/v55-1/03.pdf
  23. Phytochemical and therapeutic potential of cucumber
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/23098877/
  24. Medicinal and cosmetic uses of Bee’s Honey – A review
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3611628/
  25. A Review on Oils used in Herbal Cosmetics
    http://rjtcsonline.com/HTMLPaper.aspx?Journal=Research%20Journal%20of%20Topical%20and%20Cosmetic%20Sciences;PID=2013-4-2-5
  26. Indian medicinal plants: For hair care and cosmetics
    https://www.wjpsonline.org/admin/uploads/7RjUkI.pdf
  27. Assessment of Rose Water and Evaluation of Antioxidant and Anti-inflammatory Properties of a Rose Water Based Cream Formulation
    http://impactfactor.org/PDF/IJPCR/11/IJPCR,Vol11,Issue1,Article8.pdf
Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
Dr. Suvina Attavar

Dr. Suvina AttavarMBBS, DVD

Dr. Suvina Attavar - I have a thirst for learning and a passion for Dermatology, Cosmetology and hair transplantation. I am well versed with lasers, chemical peels, and other minor dermatologic procedures. I have been doing hair transplants since 2018. I have written articles on dermatology topics for Residream during my residency as well as for practo and icliniq.read full bio

ताज़े आलेख