त्वचा की देखभाल
Stylecraze

त्वचा के लिए गुलाब जल (Gulab Jal) के फायदे और उपयोग – Rose Water Benefits for Skin in Hindi

by
त्वचा के लिए गुलाब जल (Gulab Jal) के फायदे और उपयोग – Rose Water Benefits for Skin in Hindi December 18, 2018

बात जब फूलों की हो, तो गुलाब का जिक्र किए बिना कैसे रहा जा सकता है। वैसे भी शायद ही कोई ऐसा हो, जिसे गुलाब की मनमोहक खुशबू पसंद न हो। बेशक, गुलाब को चाहे घर में सजाएं या फिर अपनी खूबसूरती बढ़ाने के लिए बालों पर लगाएं, यह हर किसी का ध्यान अपनी ओर खींच ही लेता है। वहीं, इसी गुलाब से बनने वाले गुलाब जल (gulab jal) के चर्च भी कुछ कम नहीं हैं। भारतीय परंपरा में गुलाब जल का प्रयोग न सिर्फ धार्मिक अनुष्ठानों में किया जाता रहा है, बल्कि त्वचा को प्राकृतिक रूप से निखारने में भी इसका प्रयोग पौराणिक काल से हो रहा है। आखिर ऐसा क्या है गुलाब जल में, जिसे हर कोई इतना पसंद करता है। गुलाब जल के फायदे (gulab jal ke fayde) जानने के लिए आपको यह आर्टिकल पढ़ना होगा। इस लेख में हम त्वचा के लिए गुणकारी गुलाब जल के फायदे के बारे में विस्तार से बता रहे हैं।

त्वचा के लिए क्यों गुणकारी है गुलाब जल (Gulab Jal) – Why is Rose Water good for Skin in Hindi

गुलाब जल में एंटी-इंफ्लेमेटरी व एंटी-ऑक्सीडेंट जैसे कई गुण पाए जाते हैं (1), जो त्वचा के लिए बेहद लाभकारी हैं। गुलाब जल के प्रयोग से त्वचा में नमी बरकरार रहती है, जिससे स्किन स्मूद व निखरी हुई नजर आती है। इसमें ऐसे गुणकारी तत्व मौजूद हैं, जिस कारण इसे हर प्रकार की त्वचा के लिए प्रयोग किया जा सकता है। गुलाब जल से न सिर्फ आधुनिक कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स का निर्माण किया जा रहा है, बल्कि यह कई घरेलू नुस्खों में भी कारगर है।

आइए, अब जान लेते हैं कि गुलाब की पंखुड़ियों से निकला यह पानी त्वचा के लिए किस-किस प्रकार से फायदेमंद है।

त्वचा के लिए गुलाब जल (Gulab Jal) के फायदे – Benefits of Rose Water for Skin in Hindi

Benefits of Rose Water for Skin in Hindi Pinit

Shutterstock

त्वचा में निखार : हम सभी जानते हैं कि त्वचा के लिए क्लींजिंग, टोनिंग व मॉश्चराजिंग बेहद जरूरी है। जवां व खूबसूरत दिखने के लिए समय-समय पर इन्हें करते रहना चाहिए और इन सब में टोनिंग तो बेहद जरूरी है। इसके बावजूद, हम टोनिंग की अनदेखी करते हैं, जबकि टोनिंग की मदद से स्किन से गंदगी व अतिरिक्त तेल बाहर निकल जाता है। इस मामले में गुलाब जल (gulab jal) को सबसे बेहतरीन टोनर माना जाता है। गुलाब जल में एस्ट्रिंजेंट नामक गुणकारी तत्व पाया जाता है (2), जो त्वचा को निखारने का काम करता है।

संतुलित पीएच स्तर : वैज्ञानिक तौर पर पुष्टि की गई है कि स्किन का पीएच स्तर 5.0 या उससे कम होना चाहिए (3)। वहीं, आजकल जिस तरह से हम केमिकल युक्त साबुन व अन्य कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स का कर रहे हैं, उससे स्किन का पीएच लेवल तय मात्रा से ऊपर चला जाता है। इससे हमारी त्वचा रूखी और बेजान नजर आती है। ऐसे में गुलाब जल का प्रयोग करने से चेहरे की चमक लौट आती है। एक अध्ययन के अनुसार, इसमें मौजूद 5.6 का पीएच स्तर स्किन के पीएच स्तर को संतुलित करने में मदद करता है (4)।

कील-मुंहासे : प्रदूषण, धूल-मिट्टी और तनाव के चलते हमारे चेहरे पर अक्सर कील-मुंहासे उभर आते हैं। हालांकि, समय के साथ ये ठीक भी हो जाते हैं, लेकिन अपने पीछे निशान छोड़ जाते हैं। ऐसी समस्याओें के लिए सबसे सरल और सस्ता उपाय गुलाब जल है। गुलाब जल चेहरे पर जमा अतिरिक्त तेल को मिटाने में मदद करता है। साथ ही उन बैक्टीरिया को पनपने से रोकता है, जो कील-मुंहासों का कारण बनते हैं।

त्वचा में नमी : गुलाब जल ऐसा घरेलू नुस्खा है, जो चेहरे पर कारगर तरीके से काम करता है। यह चेहरे की त्वचा के अंदर रोम छिद्रों तक जाकर उन्हें साफ करता है और नमी प्रदान करता है। इससे चेहरे पर ताजगी का अहसास होता है। इस गुलाब जल की एक खास बात यह है कि इसे कभी भी और कहीं भी आसानी से प्रयोग किया जा सकता है। इसलिए, जब भी आपको लगे कि आपके चेहरे पर चमक नजर नहीं आ रही, तो गुलाब जल के प्रयोग से उसकी ताजगी लौट आएगी।

सूजन को करता है कम : जैसा कि हमने पहले भी बताया कि गुलाब जल (gulab jal) में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाया जाता है, जिससे न सिर्फ चेहरे पर ताजगी आती है, बल्कि यह चेहरे पर नजर आने वाली सूजन को भी कम करता है। अक्सर हमने देखा कि अधिक काम करने की वजह से आंखों के नीचे सूजन नजर आने लगती हैं। ऐसे में अगर आप ठंडे गुलाब जल में भीगी कॉटन बॉल्स को करीब 10-15 मिनट के लिए अपनी आंखों पर रख देंगे, तो आपको राहत महसूस होगी। चंद मिनटों में ही आंखों के नीचे से सूजन गायब हो जाएगी।

झुरियों के लिए : गुलाब जल का चेहरे पर उपयोग झुरियां कम करने के लिए भी किया जा सकता है। सूरज की अल्ट्रावायलेट किरणों का हमारी त्वचा पर बुरा असर पड़ता है। इस किरणों के कारण समय से पहले ही चेहरे पर झाइयां नजर आने लगती हैं। वहीं, आजकल केमिकल युक्त उत्पाद, तनाव व बढ़ते प्रदूषण के कारण भी हम समय से पहले बुजुर्ग नजर आने लगते हैं। ऐसे में गुलाब जल में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट गुण इन तमाम विकारों को दूर कर त्वचा को जवां और खिला-खिला बना देते हैं।

त्वचा की चमक के लिए : गुलाब जल स्किन में जमा गंदगी को साफ करने में मदद करता है। इसमें मौजूद एस्ट्रिजेंट तत्व त्वचा के रोम छिद्रों को अच्छी तरह से साफ करता है और साथ ही उन्हें बंद भी कर देता है, ताकि फिर से गंदगी जमा न हो जाए। इससे एक बार फिर चेहरे पर चमक नजर आने लगती है।

सनबर्न में सहायक : गुलाब जल का चेहरे पर उपयोग बेहद फायदेमंद है। गुलाब जल की तासीर ठंडी मानी गई है, इसलिए यह सनबर्न की स्थिति में काफी फायदा पहुंचाता है। यह सनबर्न के कारण त्वचा में पैदा हुई जलन को कम करने में मदद करता है और कोमलता प्रदान करता है।

काले घेरों के लिए : उम्र बढ़ने के साथ-साथ आंखों के नीचे की त्वचा पतली होने लगती है और काले घेरे यानी डार्क सर्कल्स नजर आने लगते हैं। इसके अलावा, अनिंद्रा, तनाव व अधिक रोने से भी आंखों के नीचे काले घेरे नजर आने लगते हैं। इन डार्क सर्कल्स को कम करने के लिए गुलाब जल का प्रयोग किया जा सकता है। गुलाब जल में विटामिन-ए और बी मौजूद होते हैं, जो स्किन में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। अगर गुलाब जल में डूबी कॉटन बॉल्स को कुछ देर के लिए आंखों पर रख लिया जाए, तो काले घेरों से छुटकारा मिल सकता है।

संवेदनशील त्वचा के लिए : गुलाब जल की सबसे खास बात यह है कि इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं होता। इसलिए, यह संवेदनशील त्वचा के लिए सबसे बेहतरीन घरेलू उपचार है। गुलाब जल में मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण त्वचा पर किसी एलर्जी के कारण उभर आए गहरे लाल धब्बों और जलन को कम करने में मदद करते हैं।

त्वचा के लिए गुलाब जल के फायदे (gulab jal ke fayde) जानने के बाद आइए, अब जान लेते हैं कि यह बालों व आंखों के लिए किस प्रकार से फायदेमंद है।

उलझे बालों के लिए : गुलाब जल चेहरे की ही तरह स्कैल्प पर जमा अतिरिक्त तेल को साफ करने का काम करता है। साथ ही यह रूखे, बेजान व उलझे हुए बालों में नई जान डाल देता है। अगर सिर की त्वचा रूखी होगी, तो बाल भी रूखे होंगे और आपस में उलझने लगेंगे। इसे दूर करने के लिए गुलाब जल का प्रयोग करना सबसे उत्तम है। यह स्कैल्प को मॉश्चराइजर प्रदान कर उसे मुलायम बनाता है और बालों की जड़ें भी मजबूत होती हैं। साथ ही उन्हें बढ़ने के लिए पर्याप्त पोषण मिलता है। बेहतर परिणाम के लिए ग्लिसरीन और गुलाब जल को एकसाथ प्रयोग किया जा सकता है। इन दोनों सामग्रियों को समान मात्रा में लेकर मिक्स कर लें और थोड़ी देर के लिए हल्के हाथों से सिर व बालों की मालिश करें। इसके करीब 15 मिनट बाद शैंपू से बालों को धो लें। अगर आप उलझे बालों से जल्द छुटकारा पाना चाहते हैं, तो इसे हफ्ते में एक बार प्रयोग किया जा सकता है।

आंखों के लिए : इसमें कोई शक नहीं कि वर्षों से गुलाब जल आंखों के लिए फायदेमंद साबित हो रहा है। हालांकि, इस विषय को लेकर काफी मतभेद भी है कि क्या गुलाब जल को आइस ड्रॉप की तरह प्रयोग किया जा सकता है या नहीं, लेकिन आयुर्वेद व अन्य पौराणिक उपचार की पद्धतियों में इस बात की पुष्टि की गई है कि शुद्ध गुलाब जल आंखों के लिए बिल्कुल भी हानिकारक नहीं है। गुलाब जल को यूनानी व आयुर्वेद में स्किन व आंखों से संबंधित बीमारियों में कई वर्षों से प्रयोग किया जा रहा है। यूनानी उपचार में तो गुलाब जल व अन्य औषधियों को मिलाकर तैयार की गई दवा को आइस ड्रॉप्स की तरह प्रयोग किया जा रहा है (5)।

वैसे तो गुलाब जल को आंखों से संबंधित विभिन्न प्रकार की बीमारियों के लिए अलग-अलग तरीके से प्रयोग किया जात है, लेकिन यहां हम आपको बता रहे हैं कि गुलाब जल से आंखों को किस तरह साफ किया जा सकता है। इसके लिए आप एक कप ठंडे पानी में दो चम्मच गुलाब जल मिलाकर, उससे अपनी आंखों में छींटे मारें और फिर साफ तौलिये से पोंछ लें। इससे न सिर्फ आपकी आंखों को ठंडक मिलेगी, बल्कि आंखों में जमी सारी गंदगी बाहर निकल जाएगी।

इस लेख में आगे आप पढ़ेंगे कि त्वचा के लिए गुलाब जल के फायदे (gulab jal ke fayde) किस प्रकार हैं।

त्वचा के लिए गुलाब जल (Gulab Jal) का उपयोग कैसे करे – How to Use Rose Water for Skin in Hindi

How to Use Rose Water for Skin in Hindi Pinit

Shutterstock

1. टोनर के तौर पर

प्रक्रिया नंबर-1

सामग्री :

  • शुद्ध गुलाब जल
  • कुछ कॉटन बॉल्स

प्रयोग का तरीका :

  • कॉटन बॉल्स को गुलाब जल में भिगो लें।
  • अब रूई के जरिए गुलाब जल को अपने पूरे चेहरे पर लगाएं।
  • इसके बाद गुलाब जल को सूखने दें।

प्रक्रिया नंबर-2

सामग्री :

  • 100 एमएल गुलाब जल
  • गुलाब के तेल की आठ-दस बूंदें
  • लैवेंडर तेल की आठ-दस बूंदें

प्रयोग का तरीका :

  • इन सभी सामग्रियों को स्प्रे बोतल में डालकर अच्छे से मिक्स कर लें।
  • अब इस टोनर को सुबह-शाम अपने चेहरे व गर्दन पर स्प्रे करें।

प्रक्रिया नंबर-3

सामग्री :

  • थोड़ा-सा केसर
  • आधा कप गुलाब जल
  • कॉटन पैड

प्रयोग का तरीका :

  • केसर को तब तक के लिए गुलाब जल में भिगो दें, जब तक कि पानी का रंग नहीं बदल जाता।
  • अब इस पानी को बोतल में डाल लें।
  • फिर सुबह बोतल को अच्छी तरह से हिलाएं और कॉटन पैड पर गुलाब जल लगाकर चेहरे को साफ करें।

कब करें प्रयोग :

  • दिन में एक-दो बार

कैसे है लाभकारी :

जैसा कि इस लेख में पहले भी बताया गया है कि गुलाब जल में एस्ट्रिंजेंट तत्व मौजूद होता है, जो चेहरे के रोम छिद्रों को साफ कर व अतिरिक्त तेल को बाहर निकालकर उन्हें बंद कर देता है। साथ ही चेहरे को नमी प्रदान करता है। अगर आपकी ड्राई स्किन है, तो आप 30 एमएल गुलाब जल में 5 एमएल ग्लिसरीन मिला सकते हैं। वहीं, मिश्रित त्वचा के लिए 30 एमएल गुलाब जल में 5 एमएल ग्लिसरीन व सेब का सिरका मिला सकते हैं। इसके अलावा, तैलीय त्वचा के लिए 5 एमएल सेब के सिरके को 50 एमएल गुलाब जल में मिला सकते हैं।

2. मॉश्चराइजिंग के लिए

प्रक्रिया नंबर-1

सामग्री :

  • तीन चम्मच शुद्ध गुलाब जल
  • एक चम्मच ग्लिसरीन
  • एक चम्मच नारियल तेल

प्रयोग का तरीका :

  • इन सभी सामग्रियों को एक बोतल में डाल लें।
  • फिर बोतल को तब तक हिलाएं, जब तक कि सभी सामग्रियां आपस में अच्छे मिक्स न हो जाएं।
  • अब इसमें से थोड़ा-सा मिश्रण लेकर अपनी त्वचा पर लगाएं।

प्रक्रिया नंबर-2

सामग्री :

  • दो चम्मच बादाम तेल
  • एक चम्मच गुलाब जल

प्रयोग का तरीका :

  • गुलाब जल को बादाम तेल में मिलाएं और इससे पूरे शरीर की मालिश करें।

प्रक्रिया नंबर-3

सामग्री :

  • दो चम्मच गुलाब जल
  • आपकी पसंदीदा क्रीम

प्रयोग का तरीका :

  • अपनी क्रीम में गुलाब जल को मिक्स करें और इसे अपनी स्किन पर लगाएं।

कब करें प्रयोग :

  • इसे दिनभर में एक या दो बार अपनी त्वचा पर लगा सकते हो।

कैसे है लाभकारी :

अगर आप अपनी त्वचा को मॉश्चराइज करना चाहते हैं, तो इससे बेहतर कुछ नहीं हो सकता। नारियल तेल व ग्लिसरीन त्वचा को नमी प्रदान करने का काम करते हैं और कोमल बनाते हैं (6) (7), जबकि गुलाब जल ताजगी का अहसास करवाता है। वहीं, बादाम के तेल में कई पोषक तत्व होते हैं, जो त्वचा के लिए गुणकारी होते हैं। अगर आपकी त्वचा ड्राई है, तो यह प्राकृतिक मॉश्चराइजर आपके लिए ही है। इसे लगाते ही इसका असर दिखना शुरू हो जाता है।

3. सनबर्न/टैनिंग के लिए

प्रक्रिया-1

सामग्री :

  • तुलसी की 10-15 पत्तियां
  • 200 एमल गुलाब जल
  • स्प्रे बोतल

प्रयोग का तरीका :

  • पहले तुलसी के पत्तों को पीस लें और फिर उन्हें गुलाब जल में मिला दें।
  • अब इस मिश्रण को स्प्रे बोतल में डालकर करीब दो घंटे के लिए फ्रिज में रख दें।
  • इसके बाद प्रभावित जगह पर इससे स्प्रे करें और बाकी बचे मिश्रण को वापस फ्रिज में रख दें, ताकि इसे बाद में इस्तेमाल किया जा सके।

प्रक्रिया-2

सामग्री :

  • ¼ कप गुलाब जल
  • एक चम्मच सेब का सिरका
  • आधा चम्मच एलोवेरा जूस
  • लैवेंडर तेल की 10 बूंदें

प्रयोग का तरीका :

  • इन सभी सामग्रियों को एक बोतल में डालकर अच्छी तरह मिक्स करें।
  • फिर प्रभावित जगह पर इसे लगाएं।

कब करें प्रयोग :

  • जब भी आपको सनबर्न या टैनिंग के कारण जलन महसूस हो।

कैसे है लाभकारी :

जब हम तुलसी और गुलाब जल को आपस में मिक्स कर देते हैं, तो इनकी तासीर बेहद ठंडी हो जाती है। इसलिए, जब सनबर्न के कारण शरीर पर जलन व खुजली के कारण अजीब-से धब्बे हो जाते हैं, तो यह मिश्रण उस पर चमत्कारी तरीके से काम करता है।

4. कील-मुंहासों के लिए

keel munhaason ke liye gulab jal Pinit

Shutterstock

प्रक्रिया नंबर-1

सामग्री :

  • एक चम्मच नींबू का रस
  • एक चम्मच गुलाब जल

प्रयोग का तरीका :

  • इन दोनों सामग्रियों को आपस में अच्छे से मिलाएं।
  • अब इसे चेहरे पर लगाएं, खासकर उस जगह पर जहां कील-मुंहासे हैं।
  • अब इसे 15 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर ठंडे पानी से चेहरा धो लें।

प्रक्रिया नंबर-2

सामग्री :

  • एक चम्मच गुलाब जल
  • एक चम्मच चने का आटा
  • एक चम्मच संतरे का जूस
  • आधा चम्मच ग्लिसरीन
  • एक चुटकी हल्दी

प्रयोग का तरीका :

  • पेस्ट बनाने के लिए इन सभी सामग्रियों को ग्राइंड कर लें। अगर पेस्ट ज्यादा गाढ़ा लगता है, तो इसमें थोड़ा गुलाब जल डाल सकते हैं।
  • चेहरे को धोने के बाद यह पेस्ट लगाएं और खासकर उस जगह पर जहां कील-मुंहासे ज्यादा हैं।
  • करीब 15-20 मिनट लगे रहने के बाद ठंडे पानी से चेहरे को धो लें।
  • इसके बाद टोनर के तौर पर गुलाब जल लगा सकते हैं।

कब करें प्रयोग :

  • हफ्ते में एक या दो बार।

कैसे है लाभकारी :

नींबू त्वचा में मौजूद उन बैक्टीरिया को खत्म करता है, जो कील-मुंहासों का कारण बनते हैं। साथ ही गुलाब जल के साथ मिलकर कील-मुंहासों को साफ करता है और इनके कारण चेहरे पर उभर आए निशानों को भरने में त्वचा की मदद करता है। यकीन मानिए, इसे प्रयोग करने से आपका फिर से पहले की तरह कोमल व चमकदार नजर आने लगेगा।

5. त्वचा की सफाई के लिए

सामग्री :

  • स्प्रे बोतल
  • शुद्ध गुलाब जल
  • टिशु पेपर

प्रयोग का तरीका :

  • गुलाब जल को स्प्रे बोतल में भर लें और इससे चेहरे पर तब तक स्प्रे करें, जब तक कि पूरा चेहरा गीला न हो जाए।
  • करीब 20-30 सेकंड ऐसे ही रहने दें और फिर टिशु पेपर से चेहरे को साफ कर लें।

कब करें प्रयोग :

  • जब भी आपको इसकी जरूरत लगे।

कैसे है लाभकारी :

सबसे पहली बात तो यह कि गुलाब जल को स्प्रे बोतल में डालकर कहीं भी ले जाना बेहद आसान है। इसलिए, जब भी आपको लगे कि धूल-मिट्टी व पसीने से चेहरे की रंगत छुप गई है, तो इसे आजमा सकते हैं। इसके प्रयोग से आपका चेहरा फिर से खिला-खिला नजर आएगा और आप स्वयं को तरोताजा महसूस करेंगे।

6. फेस पैक के तौर पर

प्रक्रिया नंबर-1

सामग्री :

  • एक चम्मच मुल्तानी मिट्टी
  • दो चम्मच गुलाब जल

प्रयोग का तरीका :

  • इन सामग्रियों को आपस में तब तक मिलाएं, जब तक कि ये अच्छे से मिल न जाएं।
  • अब चेहरे को पानी से धो लें और तौलिये से सुखाकर इस पेस्ट को लगाएं।
  • जब यह फेस पैक पूरे चेहरे पर लग जाए, तो करीब दो मिनट के लिए हल्के-हल्के हाथों से मसाज करें और पांच मिनट के लिए इसे ऐसे ही छोड़ दें।
  • इसके बाद चेहरे को ठंडे पानी से साफ कर लें।

प्रक्रिया नंबर-2

सामग्री :

  • एक चम्मच बेसन
  • दो चम्मच गुलाब जल

प्रयोग का तरीका :

  • इन सामग्रियों को आपस में मिलाकर पेस्ट बना लें। अगर यह थोड़ा गाढ़ा लगता है, तो आप इसमें और गुलाब जल मिक्स कर सकते हैं।
  • अब इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाकर करीब 15 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • इसके बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।

कब करें प्रयोग :

  • बेहतर परिणाम के लिए हफ्ते में दो-तीन बार।

कैसे है लाभकारी :

मुल्तानी मिट्टी में कई गुणकारी तत्व मौजूद होते हैं, जो चेहरे के लिए फायदेमंद हैं। इसमें प्रमुख रूप से विभिन्न प्रकार के मिनरल्स होते हैं, जो स्किन पर निखार लाने और स्वस्थ बनाने में मदद करते हैं। यह चेहरे से रूखी व मृत त्वचा को हटाने का काम करती है। गुलाब जल के साथ मिलकर मुल्तानी मिट्टी चेहरे से कील-मुंहासों को खत्म करती है, टैनिंग के असर को दूर करती है और स्किन को कोमल व मुलायम बनाती है (8)। वहीं, बेसन हर घर में आसानी से मिल जाता है और सुंदरता को निखारने के लिए वर्षों से इसका प्रयोग किया जा रहा है। बेसन न सिर्फ चेहरे पर ग्लो लेकर आता है, बल्कि यह अनचाहे बालों को साफ करता है और कील-मुंहासों को खत्म करता है। गुलाब जल के साथ मिलकर यह चेहरे की स्किन को जवां, खूबसूरत और स्वस्थ बनाता है।

गुलाब जल के फायदे (gulab jal ke fayde) जानने के लिए पढ़ते रहें यह लेख।

7. होंठों के लिए गुलाब जल

Rose water for lips in hindi Pinit

Shutterstock

सामग्री :

  • एक छोटा-सा चुकंदर
  • एक चम्मच गुलाब जल

प्रयोग का तरीका :

  • चुकंदर को छोटे-छोटे टुकड़ा में काट लें और उसे 60 डिग्री सेल्सियस तापमान पर ओवन में आठ-दस घंटे के लिए रख दें। इससे चुकंदर की प्राकृतिक नमी खत्म हो जाएगी।
  • इसके बाद चुकंदर को घिसकर पाउडर बना लें।
  • अब इसमें गुलाब जल को मिक्स कर लें, ताकि यह गाढ़ा पेस्ट बन जाए।
  • इस पेस्ट को अपने होंठों पर लगाएं और 15 मिनट बाद पानी से धो लें।

कब करें प्रयोग :

  • जब भी आपको जरूरत महसूस हो, आप इसका प्रयोग कर सकते हैं।

कैसे है लाभकारी :

इस पैक को लगाने से आपके होंठ प्राकृतिक रूप से गुलाबी हो जाएंगे। साथ ही यह पैक होंठों को बेहद मुलायम भी बना देता है। बाजार में मिलने वाले केमिकल युक्त कॉस्मेटिक सामान की जगह इस घरेलू नुस्खे को होंठों के लिए आजमाना ज्यादा आसान व सुरक्षित है।

8. निखरी त्वचा के लिए

सामग्री :

  • तीन चम्मच गुलाब जल
  • चार चम्मच शहद

प्रयोग का तरीका :

  • गुलाब जल व शहद को आपस में मिला लें।
  • अब इस मिश्रण को चेहरे पर फेस पैक की तरह लगाएं।
  • इसे करीब 15 मिनट तक चेहरे पर लगा रहने देने के बाद ठंडे पानी से धो लें।

कब करें प्रयोग :

  • हफ्ते में एक या दो बार।

कैसे है लाभकारी :

अगर आप गुलाब जल को शहद के साथ प्रयोग करते हैं, तो स्किन पर निखार आना तय है। शहद दाग-धब्बों, टैनिंग के निशानों और पिगमेंटेशन को जड़ से खत्म कर देता है। यह न सिर्फ त्वचा को नमी प्रदान करता है, बल्कि लंबे समय तक उसे बरकरार भी रखता है। शहद में एंटीऑक्सीडेंट, एंटीमाइक्रोबियल व विभिन्न प्रकार के मिनरल्स मौजूद होते हैं, जो त्वचा के लिए बेहद जरूरी हैं (9)।

9. तरोताजा त्वचा के लिए

सामग्री :

  • एक छोटा-सा ताजा खीरा
  • दो चम्मच शहद
  • एक चम्मच गुलाब जल

प्रयोग का तरीका :

  • खीरे का छिलका उतारकर उसे शहद के साथ पीस लें।
  • अब इस मिश्रण में गुलाब जल डालकर अच्छे से मिक्स करें।
  • इस फेस पैक को चेहरे पर लगाकर करीब 15 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • फिर ठंडे पानी से चेहरे को धो लें।

कब करें प्रयोग :

  • आप इसे हफ्ते में एक या दो बार प्रयोग कर सकते हैं।

कैसे है लाभकारी :

खीरे की तासीर ठंडी मानी गई है, जिस कारण से यह चेहरे को ताजगी प्रदान करता है। अगर आपको चेहरे पर किसी तरह की जलन, सूजन या फिर खुजली महसूस हो रही है, तो इन सब समस्याओं से यह फेस पैक अकेले निपट सकता है (10)। साथ ही त्वचा पर ग्लो लाने के लिए भी इस फेस पैक का इस्तेमाल किया जा सकता है। वहीं, अगर आपकी त्वचा संवेदनशील है, तो आप इस पैक का इस्तेमाल कर सकते हैं।

10. दाग-धब्बों के लिए

सामग्री :

  • दो चम्मच चंदन का पाउडर
  • तीन से चार चम्मच गुलाब जल

प्रयोग का तरीका :

  • सबसे पहले तो चंदन पाउडर व गुलाब जल को आपस में मिला लें।
  • इसके बाद यह पेस्ट अपने चेहरे पर लगाएं और 20-25 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • फिर ठंडे पानी से चेहरे को धो लें।

कब करें प्रयोग :

  • इस पैक को हफ्ते में दो-तीन बार लगाना ठीक रहेगा।

कैसे है लाभकारी :

चेहरे के लिए चंदन पाउडर गुणकारी घरेलू नुस्खा है। यह चेहरे से अतिरिक्त ऑयल को बाहर निकाल देता है। साथ ही गुलाब जल की मदद से दाग-धब्बों को साफ करने में मदद करता है। अगर आप हमेशा जवां, खूबसूरत और स्वस्थ दिखना चाहते हैं, तो चंदन पाउडर का इस्तेमाल कर सकते हैं।

आइए, अब जान लेते हैं कि घर में गुलाब जल किस तरह से बनाया जा सकता है।

गुलाब जल बनाने की विधि – How to Prepare Rose Water at Home in Hindi

How to Prepare Rose Water at Home in Hindi Pinit

Shutterstock

गुलाब न सिर्फ अपनी खूबसूरती, बल्कि खुशबू के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध है। ऐसा माना जाता है कि गुलाब की विभिन्न रंगों में करीब 100 प्रजातियां हैं। इन्हीं गुलाब से बनता है गुलाब जल। यह हमारे लिए किस तरह से फायदेमंद है, उस बारे में हमने इस लेख में विस्तार से बताया। बेशक, बाजार में आपको गुलाब जल आसानी से मिल जाएगा, लेकिन उन्हें विभिन्न प्रकार के केमिकल्स के साथ बनाया जाता है। यहां हम आपको घर में ही गुलाब जल बनाने की दो विधियां बता रहे हैं, जो पूरी तरह से प्राकृतिक हैं।

प्रक्रिया नंबर-1

सामग्री :

  • सात-आठ गुलाब
  • करीब 1.5 लीटर उबला हुआ पानी

बनाने की विधि :

  • फलों से पंखुड़ियों को निकालकर हल्के गुनगुने पानी से साफ कर लें।
  • अब बड़े से जार में इन पंखुड़ियों को डाल दें और ऊपर से उबला हुआ पानी डाल दें। पानी इतना होना चाहिए कि सभी पंखुड़ियां उसमें डूब जाएं।
  • जार को ढक दें और उसे तब तक धीमी आंच पर गर्म होने दें, जब तक कि पंखुड़ियों से रंग पूरी तरह निकल न जाए।
  • आपका गुलाब जल तैयार है। अब पानी को छान लें और किसी बर्तन में स्टोर करके रख दें।

प्रक्रिया नंबर-2

सामग्री :

  • पांच कप गुलाब की पंखुड़ियां
  • उबला हुआ पानी, जिसमें सभी पंखुड़ियां डूब जाएं
  • बर्फ
  • ढक्कन वाला एक बड़ा-सा बर्तन
  • एक स्टील का स्टैंड, जिस पर कोई बर्तन रखा जा सके
  • कांच का बाउल, जिसे गैस पर गर्म करने के लिए रखा जा सके
  • एक कांच का जार

बनाने की विधि :

  • बर्तन के मध्य में स्टील के स्टैंड को रख दें और कांच के बाउल को उसके ऊपर रख दें।
  • गुलाब की पंखुड़ियों को स्टैंड के आसपास रखें।
  • अब बर्तन में इतना पानी डालें कि पूरी पंखुड़ियां उसमें डूब जाएं।
  • बर्तन पर ढक्कन को उल्टा रखें और ढक्कन पर बर्फ को रखें, ताकि जब पानी गर्म होने लगे, तो ढक्कन पर भाप जमा हो जाए और वह टपककर कांच के बाउल में इकट्ठा होती रहे।
  • जब बर्फ पूरी तरह से पिघल जाए, तो ढक्कन पर और बर्फ रख दें। जब तक बर्तन के अंदर पानी पूरी तरह से भाप न बन जाए, इस प्रक्रिया को दोहराते रहें।
  • करीब आधे घंटे बाद गैस को बंद कर दें और बर्तन को ठंडा होने दें। इसके बाद जब आप ढक्कन को हटाएंगे, तो देखेंगे कि कांच के बाउल में गुलाब जल एकत्र हो गया है।

नोट : जब आप ढक्कन हटाएं, तो ध्यान रहे कि बर्फ का पानी गुलाब जल में नहीं गिरना चाहिए।

यह कहना गलत नहीं होगा कि गुलाब जल त्वचा के लिए बेहद गुणकारी है और बाजार में मिलने वाले केमिकल युक्त कॉस्मेटिक सामान से तो कहीं ज्यादा सस्ता है। यह न सिर्फ बाजार में आसानी से मिल जाता है, बल्कि इसे घर में भी बनाना आसान है। इस लेख में गुलाब जल को बनाने की विधि जानने के बाद अब आप शायद ही इसे बाजार से खरीदें। इसकी एक खूबी यह भी है कि इसे आप अपने साथ कहीं भी ले जा सकते हैं और जरूरत पड़ने पर इस्तेमाल कर सकते हैं। हमें उम्मीद है कि गुलाब जल के फायदे (gulab jal ke fayde) जानने के बाद आप इसे जरूर इस्तेमाल करेंगे। गुलाब जल को प्रयोग करने से आपको किस-किस प्रकार से लाभ हुआ, उस बारे में नीचे दिए कंमेट बॉक्स में हमें जरूर बताएं।

और पढ़े:

संबंधित आलेख