50+ दोस्ती में ब्रेकअप शायरी – Friendship Breakup Quotes in Hindi | दोस्ती में ब्रेकअप कोट्स

Written by , (एमए इन जर्नलिज्म)

हर किसी की जिंदगी में दोस्त की अहमियत बेहद अहम होती है। हम हर बात अपने माता-पिता के साथ शेयर नहीं कर पाते, परंतु दोस्तों के साथ बेझिझक सबकुछ साझा कर पाते हैं। दोस्त अगर अच्छा न निकले या किसी बात पर उससे झगड़ा हो जाए, तो जिंदगी में उदासी छा जाती है। दोस्त से ब्रेकअप के बाद अक्सर लोग उन्हें मैसेज भेजकर अपनी हालत बयां करना चाहते हैं। वहीं, कुछ लोग सोशल मीडिया पर दोस्त के लिए ब्रेकअप स्टेटस लगा कर अपने मन की बात रखते हैं। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम ऐसी ही कुछ दोस्ती में ब्रेकअप शायरी का कलेक्शन लेकर आए हैं।

स्क्रॉल करें

आइए, लेख की शुरुआत करते हैं और पढ़ते हैं दोस्ती ब्रेकअप कोट्स।

दोस्ती में ब्रेकअप कोट्स | Friendship Breakup Quotes In Hindi

नीचे हम बेस्ट इमोशनल ब्रोकन फ्रेंडशिप शायरी लेकर आए हैं। इनके जरिए आप अपने दोस्त के आगे अपनी भावनाएं वयक्त कर सकते हैं।

  1. दूर जा कर तुझसे बस हमें ये फायदा हुआ है,
    प्यार के साथ दर्द भी अब ज्यादा हुआ है।
  1. मुझे छोड़ कर अगर तुम खुश हो।
    तो दुआ ये मैं करूंगा,
    कि कभी भी तुम्हे मैं मिलू ही नहीं।
  1. तेरी मुझे जरूरत अब नहीं है,
    तू मेरा अब दोस्त नहीं है,
    जैसा भी था कभी हमारा रिश्ता,
    वो प्यारा सा रिश्ता हमारे बीच अब नहीं है।
  1. तुम्हारे शायद काफी नजदीक हो गया था मैं,
    इसलिए दूर होने पर तुमसे इतनी तकलीफ हो रही है।
  1. पता होने के बाद भी तेरा मुझसे हाल पूछते हैं,
    मुझसे कुछ लोग जलाने के लिए ये सवाल पूछते हैं।
  1. बुरे वक्त में मैं अकेला हूं,
    कोई दोस्त अब साथ नहीं,
    किसी को अब दोस्त कहूं,
    किसी में भी वो अब बात नहीं।
  1. वक्त कितना भी बुरा हो, गुज़र ही जाता है,
    हर किसी की असलियत दिखा ही जाता है।
  1. ऐ खुदा! दुनिया की ये कैसी रीत बनाई है,
    दिल उनसे मिल जाते हैं, जो अक्सर चले जाते हैं छोड़कर।
  1. कुछ लोग कह गए… कुछ लोग सह गए… और कुछ लोग कहते कहते रह गए…
    मैं हूं सही तुम हो गलत, ये सभी चक्कर में ना जाने रिश्ते वक्त के साथ बह गए।
  1. दिल जहां भर जाते हैं,
    वहां बहाने कुछ ना कुछ मिल ही जाते हैं।
  1. खूबसूरत बहुत होते हैं ऐसे रिश्ते,
    जिन पर न शक हो और पूरा हक हो।
  1. चुपके से मैं टूटा था,
    जमीं पर बिखरता तो शोर हो जाता,
    क्या करूं शिकायत गैरों से,
    अपनो ने ही जब कोई मौका नहीं छोड़ा।
  1. हमारा शोर जिसको सुनाई तक नहीं देता,
    उसकी खामोशियां तक हम सुनना चाहते हैं।
  1. अब दोस्त भी अजनबी की तरह बर्ताव हमसे करने लगा है,
    लगता है वो किसी और के साथ अब दोस्ती निभाने लगा है।
  1. मत गिन दोस्ती में खता,
    किसने कितना किया गुनाह,
    दोस्ती ही तो एक नशा है,
    जो तूने भी किया और मैंने भी किया।
  1. किसी से दिल तभी लगाना, दिलों को जब पढ़ना सीख लो,
    हर किसी की वरना फितरत में नहीं होती वफदारी।
  1. कितना मासूम है ये दिल जो समझ कर भी कुछ समझता नहीं,
    उसी पर मरता है जो कुछ इसे समझता नहीं।
  1. हमारे साथ जो रहना नहीं चाहता,
    क्यों हम फिर उसके पीछे चले जाते हैं।
  1. तुम अपने जीवन में खूब कामयाब हो और खुश रहो,
    पर कभी किसी को यूं इस तरह से झूठे मन से दोस्त न कहो।
  1. कितना भी तुम इस दिल को दर्द दे दो,
    ये दिल लेकिन फिर भी तुम्हे अपना ही कहेगा।
  1. जेब से भले ही मैं गरीब हूं,
    दिल का लेकिन मैं अमीर हूं,
    तुम जैसे दोस्तों के लिए
    मैं दुश्मन हूं।
  1. दोस्ती के खातिर मैंने अपना सब कुछ लगा दिया,
    और तुमने उस दोस्ती का ये सिला दिया।
  1. जिनको साथ नहीं चलना होता है,
    वो अक्सर रूठने का बहाना कर रास्ता बदल लेते हैं।
  1. मुझे अब हर किसी से दोस्ती करने से डर लगता है,
    क्योंकि हर कोई तेरे जैसा ही अब लगने लगता है।
  1. हमने उन्हें अपने दिल में बिठाया, परिवार का अपने हिस्सा बनाया,
    पर उन्होंने हमारी दोस्ती का अच्छे से बहुत फायदा उठाया।
  1. अगर रिश्तों को बचाने की जरूरत पड़े,
    समझ लो वो रिश्ता बहुत पहले ही टूट चुका है।
  1. सभी करते हैं प्यार,
    बस फर्क इतना है,
    कोई दिल से करता है,
    तो कोई दिमाग से करता है।
  1. क्या बताये अब, किसी को कि ये क्या सजा है,
    इस बेनाम खामोशी की क्या वजह है।
  1. वो मेरे बिना अब खुश रहता है,
    कभी मुझसे मिलने नहीं आता है,
    जरूरत जब पड़ती है मेरी,
    बस तभी वो मेरे पास आता है।
  1. कभी माफ खुद को नहीं कर पाओगे,
    जिंदगी में जिस दिन कमी हमारी पाओगे।
  1. जाने के बाद मेरे, तुम्हें ये जरूर एहसास होगा,
    एक था सच्चा दोस्त, उस जैसा कोई न दूजा होगा।
  1. क्यों पुकारू मैं उसे की लौट आओ,
    उसे खबर क्या नहीं की मेरे पास कुछ नहीं उसके सिवाय।
  1. मुझे तुमने पराया समझा,
    पर मैंने तुम्हें अपना समझा,
    दोस्ती निभाई है मैंने तुमसे,
    तभी तो मैंने अपनो से बढ़कर तुझे समझा।
  1. कांटों से मैंने दोस्ती की,
    उन्होंने बदले में दर्द दिया,
    बताया था सबने कि ये बहुत चुभेगा,
    लोगों की बात को मैंने ही अनदेखा किया।
  1. दिल तोड़ो तुम और माफ मैं करूं।
    पर मेरे जख्मों को में कैसे साफ करूं।
  1. लौट आई देखो फिर से बरसात यहां,
    एक तुम हो जिसे, अभी तक यहां आने की नहीं फुर्सत मिली।
  1. मैंने जिसे सबसे ज्यादा इस दिल से चाहा था,
    इस दिल को उसी ने सबसे ज्यादा जख्म दिया है।
  1. दोस्ती तुमने देखी है मेरी,
    अब दुश्मनी भी मेरी देख लेना,
    दोनों मैं दिल से निभाता हूं,
    ये बात तुम समझ लेना।
  1. उसे मैंने अपना समझा,
    कभी मेरा जो शायद था ही नहीं,
    क्या करोगे अब मेरे पास आकर,
    खो दिया तुमने मुझे बार बार ऐसे आजमा कर।
  1. आज वो अनजान बनकर करीब से गुजरे गए।
    कभी जो दूर से ही पहचान लिया करते थे।
  1. खास से वो फिर आम हुआ,
    बस ऐसे ही मेरा और उसका किस्सा तमाम हुआ।
  1. वो छल हमसे ऐसा कर गया।
    हम बुझ गए और हमारा दिल जल गया।
  1. बुरे भी इतने नहीं थे हम,
    जितना तुमने बुरा किया हमारे साथ।
  1. तुझसे मिटा लूंगा मैं खुद को बड़े ही ऐहतिहात के साथ,
    बस निशां तो लगा दे जहां भी मैं बसा हूं हुवा के साथ।
  1. अब क्या फर्क पड़ता है तुम्हे,मेरे रोने से या हंसने से,
    कौन सा पहले फर्क पड़ता था,
    मेरे होने या ना होने से।
  1. तुम याद बेशक आते हो,
    तुम्हारी पर अब जरूरत नहीं हमें।
  1. मालूम है मुझे बहुत खुश हो तुम इस जुदाई से,
    बस ख्याल रखना हम जैसा कोई दोबारा नहीं मिलेगा।
  1. मिला होगा उसे कोई और,
    मेरा यार वरना ऐसे ही बदलने वाला नहीं था।
  1. क्या उनका यू हीं मुझे हर बार ऐसे ही छोड़ जाना सही है। इसे दोस्ती तो नहीं कहेंगे।
  1. मेरा दिल मजबूत जरूर है,
    पर पत्थर तो नहीं है।
  1. हमें हमारे दोस्त ने ही दिया धोखा,
    दोस्ती दुश्मनों से करके हमारा ही मजाक बना दिया।

दोस्ती का रिश्ता तब अच्छा होता है, जब दोनों तरफ से दिल से निभाया जा रहा हो। यदि दोनों में से कोई भी एक मतलबी होता है तो ऐसी दोस्ती से जिंदगी में दोस्त न होना बेहतर होता है। ऐसे में अगर आपका भी कोई दोस्त मतलबी हो और आप उससे अपनी दोस्ती तोड़ने की सोच रहे हैं, तो लेख में ऊपर बताई गई दोस्ती में ब्रेकअप कोट्स की मदद ले सकते हैं। इससे आपके उस दोस्त को अहसास होगा कि दोस्ती मतलब के लिए नहीं बल्कि दिल से निभाए जाने वाला रिश्ता है।

Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
The following two tabs change content below.
मोना नारंग ने चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी से जर्नलिज्म एंड मास कॉम में बीए और माखन लाल चतुर्वेदी यूनिवर्सिटी से... more

ताज़े आलेख