Medically Reviewed By Dr. Zeel Gandhi, BAMS
Written by , (शिक्षा- बैचलर ऑफ जर्नलिज्म एंड मीडिया कम्युनिकेशन)

चोट, घाव या किसी प्रकार के संक्रमण की वजह से शरीर में सूजन की समस्या हो सकती है (1)। इन्हीं में से एक है होठों पर सूजन का होना। होंठों पर सूजन यानी चांद जैसे चेहरे की खूबसूरती पर ग्रहण। कुछ लोगों को सूजन के कारण होंठों में दर्द होता तो कुछ को नहीं, लेकिन दोनों ही स्थितियों में होंठ देखने में भद्दे लगते हैं। यही वजह है कि स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम होंठों की सूजन के लिए घरेलू उपाय बताने जा रहे हैं। उससे पहले यह ध्यान रखना जरूरी है कि घरेलू उपाय केवल इस समस्या में राहत दिला सकते हैं। मगर, गंभीर स्थिति में पूर्ण इलाज डॉक्टरी परामर्श से ही संभव है।

नीचे स्क्रॉल करें

आर्टिकल में सबसे पहले हम जानते हैं, होठों में सूजन होने के लक्षण के बारे में।

 होंठों में सूजने के लक्षण – Symptoms Of Swollen Lips In Hindi

हाेठों का सूजना अपने आप में ही एक लक्षण है। इसके कई कारण हो सकते हैं (2)। उन कारणों के बारे में हम आगे लेख में विस्तार से बात करेंगे। वहीं, कुछ आम स्थितियों को होठों की सूजन के लक्षण के रूप में देखा जा सकता है, जो कुछ इस प्रकार हो सकती हैं :

  • बात करने में, खाने-पीने में और मुंह खोलने में तकलीफ होना।
  • होंठों का फटना या फूलना।
  • होंठों के रंग में बदलाव आना।
  • होठों को छूने पर दर्द का अनुभव होना।
  • होठों का चिटकना।

पढ़ते रहे लेख

इस हिस्से में हम बता रहे हैं होठों में सूजन आने के कारण के बारे में।

होंठों में सूजन आने के कारण – Causes Of Swollen Lips In Hindi

अमूमन होंठों के कोमल टिश्यू में किसी तरह की चोट लगने पर होंठों में सूजन आती है, लेकिन सूजन आने के अन्य कुछ कारण भी हो सकते हैं, जैसे (2):

  • एलर्जी
  • स्टीवेन्स-जॉनसन सिंड्रोम (त्वचा एवं म्यूकस मेम्ब्रेन (मुंह की त्वचा की भीतरी परत को प्रभावित करने वाला गंभीर संक्रमण)
  • एरिथेमा मल्टीफॉर्म (एलर्जी या संक्रमण से होने वाली त्वचा की एक प्रतिक्रिया, जो सूजन का कारण बन सकती है)
  • चेहरे पर लकवा लगना
  • संक्रमण
  • मेल्कोर्सन-रोसेन्थल सिंड्रोम (एक दुर्लभ न्यूरोलॉजिकल विकार है, जो सूजन का कारण हो सकता है)
  • मुंह में पाई जाने वाली लार ग्रंथि में समस्या आने पर
  • ट्यूमर
  • रक्त वाहिकाओं में किसी भी प्रकार की परेशानी होने पर।

इसके अलावा एंजियोएडेमा (एलर्जी के कारण त्वचा की अंदरूनी परत में होने वाली सूजन) भी एक कारण हो सकता है, जिसमें चेहरे के साथ ही होंठों की सूजन भी हो सकती है। इस स्थिति के पैदा होने की कई वजह हो सकती हैं, जैसे (3):

  • पशु डैंडर यानी जानवरों के शरीर से निकलने वाले फर, बाल या पंख के संपर्क में आने पर।
  • पानी, धूप, ठंड या गर्मी के संपर्क में आने पर
  • खाद्य पदार्थों जैसे जामुन, शंख, मछली, नट, अंडे और दूध से एलर्जी के कारण
  • कीड़ों के काटने के कारण
  • कुछ विशेष दवाओं के एलर्जी की स्थिति में
  • फूल के पराग से एलर्जी होने पर

आगे पढ़ें लेख

यहां तक तो हुई कारण की बात, अब जानते हैं होंठों की सूजन के घरेलु उपचार के बारे में।

सूजे हुए होंठ के लिए घरेलू उपाय – Home Remedies For Swollen Lips in Hindi

होठों की सूजन को कम करने के लिए कुछ घरेलू नुस्खों को अपनाया जा सकता है। यही वजह है कि यहां हम क्रमवार होंठों की सूजन दूर करने के कुछ आसान घरेलू उपाय बताने जा रहे हैं।

1. बर्फ का टुकड़ा

सामग्री :

  • एक-दो बर्फ के टुकड़े
  • एक मुलायम कपड़ा

क्या करें?

  • एक कपड़े में बर्फ के टुकड़े को लपेटें और होंठों पर आठ-दस मिनट तक दबाकर लगाएं।
  • फिर 10 मिनट तक रुकें और बाद में फिर से इस प्रक्रिया को दोहराएं।

ऐसा कब-कब करें?

जरूरत पड़ने पर आप कुछ-कुछ घंटों में इस प्रक्रिया को दोहरा सकते हैं।

यह कैसे काम करता है?

सूजे हुए होंठों से राहत पाने के लिए बर्फ से सिकाई करना काफी प्रभावी हो सकता है। एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की वेबसाईट पर प्रकाशित एक शोध में इस बात का जिक्र किया गया है। शोध में पाया गया कि बर्फ के टुकड़े को सूजन वाली जगह पर लगाने पर इससे सूजन की समस्या को कम करने में मदद मिल सकती है। यह प्रक्रिया मुख्य रूप से चोट लगने के कारण होने वाली सूजन को कम करने में सहायक हो सकती हैं (4)

सावधानी :

बर्फ के टुकड़े का सीधे उपयोग न करें, क्योंकि इससे होंठों पर खुजली या दर्द की समस्या हो सकती है (5)

2. गर्म पानी

सामग्री :

  • गर्म पानी
  • एक कपड़ा

क्या करें?

  • कपड़े को गर्म पानी में भिगोएं और निकालकर हल्का निचोड़ लें।
  • अब इस कपड़े को अपने होठों पर आठ-दस मिनट तक लगाएं।

ऐसा कब-कब करें?

जरूरत पड़ने पर इस प्रक्रिया को हर घंटे दोहराएं।

यह कैसे काम करता है?

गुनगुना पानी भी सूजन को कम करने का बेहतरीन जरिया है। यह सूजन को कम कर ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाता है। इसके अलावा, गर्म पानी का उपयोग सूजन के कारण होने वाली दर्द को भी कम करने में मदद कर सकता है (6)

3. हल्दी पाउडर

सामग्री :

  • एक चम्मच मुल्तानी मिट्टी
  • एक चुटकी हल्दी पाउडर
  • ठंडा पानी

क्या करें?

  • मुल्तानी मिट्टी में हल्दी पाउडर और पानी मिलाकर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को होंठ के सूजे हुए भाग पर लगाएं।
  • इसे सूखने के लिए छोड़ दें।
  • सूखने के बाद होंठों को गुनगुने पानी से धो लें।

ऐसा कब-कब करें?

इस प्रक्रिया को दिन में दो बार दोहराया जा सकता है।

यह कैसे काम करता है?

हल्दी का उपयोग सूजन की समस्या को कम करने में मददगार हो सकता है। दरअसल, हल्दी पाउडर में करक्यूमिन नामक कंपाउंड होता है। इस करक्यूमिन की मौजूदगी के कारण ही हल्दी में, एंटीइफ्लामेट्री (सूजन को कम करने वाला) प्रभाव मौजूद होता है (7)। इस आधार पर माना जा सकता है कि होंठों की सूजन को कम करने में हल्दी प्रभावी साबित हो सकती।

4. एलोवेरा

सामग्री :

  • एक एलोवेरा का पत्ता

क्या करें?

  • एलोवेरा के पत्ते को काटकर इसका जेल निकाल लें।
  • थोड़ा-सा जेल लेकर होठों पर मालिश करें।
  • जितनी देर हो सके, उतनी देर इसे होठों पर लगा रहने दें।

ऐसा कब-कब करें?

इस प्रक्रिया को रोजाना दो बार दोहराए।

यह कैसे काम करता है?

एलोवेरा का उपयोग त्वचा और सेहत के साथ ही सूजन की समस्या में भी फायदेमंद हो सकता है। इस विषय पर किए गए रिसर्च में पता चला है कि एलोवेरा में एंटी-इंफ्लेमेटरी (सूजन को कम करने वाला) गुण होता है (8)वहीं एक दूसरी रिसर्च से जानकारी मिलती है कि एलोवेरा के पौधे के जेल को सीधे त्वचा संबंधित सूजन से राहत पाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है (9)। इस आधार पर होंठों की सूजन को दूर करने के बेहतर विकल्प के तौर पर एलोवेरा को इस्तेमाल किया जा सकता है।

5. बेकिंग सोडा

सामग्री : 

  • एक चम्मच बेकिंग सोडा
  • पानी

क्या करें?

  • बेकिंग सोडा को पानी में मिलाएं।
  • इसकी मोटी परत अपने होंठों पर लगाएं।
  • इसे 10 मिनट तक होंठों पर लगा रहने दें और फिर ठंडे पानी से धो लें।

ऐसा कब-कब करें?

इस प्रक्रिया को अपनाने के बाद अगर सूजन न जाए, तो तीन-चार घंटे बाद फिर से इस प्रक्रिया को दोहराएं।

यह कैसे काम करता है?

बहुत कम लोगों को पता है कि बेकिंग सोडा होठों की सूजन कम करने का प्रभावशाली घरेलू उपचार हो सकता है। एक शोध के अनुसार बेकिंग साेड़ा में एंटी इन्फ्लामेट्री प्रभाव पाया जाता है। इस प्रभाव के कारण बेकिंग सोडा का इस्तेमाल करने से सूजन को कम करने में मदद मिल सकती है (10)

6. शहद

सामग्री : 

  • एक चम्मच शहद
  • रूई

क्या करें? 

  • रूई को शहद में डुबोकर अपने होंठों पर लगाएं।
  • इसे 20 मिनट के लिए लगा रहने दें, फिर ठंडे पानी से होंठ धो लें।

ऐसा कब-कब करें?

बेहतर प्रभाव के लिए इस प्रक्रिया को दिन में दो से तीन बार तक दोहराया जा सकता है।

यह कैसे काम करता है?

शहद का उपयोग भी होंठों की सूजन को कम करने में काफी अहम भूमिका निभा सकता है। इस विषय पर हुए अध्ययन से पता चला कि शहद में एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रभाव होता है। शहद में पाया जाने वाले यह प्रभाव सूजन और इसके कारण होने वाली समस्या को कम कर सकता है (11)

7. विच हेजल एक्सट्रेक्ट और नमक

 सामग्री : 

  • एक चम्मच विच हेजल एक्सट्रैक्ट
  • आधा चम्मच नमक
  • रूई

क्या करें? 

  • विच हेजल एक्सट्रेक्ट में नमक मिलाएं।
  • इस मिश्रण को रूई की मदद से अपने होंठों पर लगाएं और 30 मिनट के लिए लगा रहने दें।
  • फिर ठंडे पानी से होंठ धो लें।

ऐसा कब-कब करें?

बेहतर परिणाम के लिए इसे दो से तीन बार अपने होंठों पर लगाएं।

यह कैसे काम करता है?

विच हेजल का इस्तेमाल होठों की सूजन को कम करने में लाभदायक हो सकता है। दरअसल, रिसर्च में पाया गया कि विच हेजल का उपयोग त्वचा पर होने वाली सूजन को कम करने के लिए किया जा सकता है। इसमें एंटी इफ्लामेट्री गुण पाया जाता है, जो सूजन को कुछ हद तक कम करने में मददगार हो सकता है (12)। इस शोध के आधार पर हम कर सकते हैं कि विच हेजल होठों की सूजन में फायदेमंद हो सकता है।

8. टी-ट्री ऑयल और एलेवेरा

सामग्री :

  • एक चम्मच एलोवेरा जेल
  • कुछ बूंद टी-ट्री ऑयल

क्या करें?

  • टी-ट्री ऑयल में एलोवेरा जेल को मिला लें।
  • इस मिश्रण को होंठों पर लगाकर एक-दो मिनट के लिए मालिश करें।
  • इसे 10-12 मिनट के लिए रखें और फिर ठंडे पानी से होंठ धो लें।

ऐसा कब-कब करें?

इसे दिन में एक या दो बार अपने होंठों पर लगाएं।

यह कैसे काम करता है?

होंठों की सूजन के लिए एलोवेरा का इस्तेमाल सीधे तौर पर किया जा सकता है, लेकिन, एलोवेरा और टी-ट्री ऑयल का उपयोग एक साथ करने पर यह ज्यादा असर दिखा सकता है। टी-ट्री ऑयल में एंटीमाइक्रोबियल गुण पाए जाते हैं, जो संक्रमण के कारण आई सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं (13)। वहीं एलोवेरा भी त्वचा संबंधी सूजन को कम करने में मदद कर सकता है (9)। इस आधार पर माना जा सकता है कि होठों की सूजन को करने के मामले में टी-ट्री ऑयल और एलोवेरा का यह उपाय कारगर साबित हो सकता है।

9. नारियल तेल

सामग्री :

  • ऑर्गेनिक नारियल तेल

क्या करें?

  • नारियल तेल से होंठों की मालिश करें।
  • इसे कुछ घंटों तक होंठों पर लगा रहने दें।

ऐसा कब-कब करें?

जब तक होंठों की सूजन न चली जाए, तब तक इस प्रक्रिया को थोड़ी-थोड़ी देर में दोहराते रहें।

यह कैसे काम करता है?

होठों पर होने वाली सूजन को कम करने के लिए नारियल का तेल का उपयोग भी फायदेमंद हो सकता है। रिसर्च में पाया गया कि नारियल तेल में एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रभाव पाया जाता है। यह प्रभाव होठों की सूजन की समस्या काे कम करने में मददगार हो सकता है (14)

10. सेंधा नमक

सामग्री :

  • एक चम्मच सेंधा नमक
  • एक कप गुनगुना पानी
  • कपड़ा

क्या करें? 

  • सेंधा नमक को पानी में घोल लें।
  • इस पानी में कपड़े को भिगोएं और सूजे होंठ पर 15 मिनट के लिए रखें।

ऐसा कब-कब करें?

सूजन दूर होने तक इस प्रक्रिया को दिन में दो से तीन बार तक इस्तेमाल किया जा सकता है।

यह कैसे काम करता है?

सेंधा नमक का उपयोग त्वचा के दर्द को कम करने में मदद कर सकता है। वहीं अगर होंठ पर किसी कीड़े ने काटा है, तो उस स्थिति में आने वाली सूजन को कम करने में भी सेंधा नमक सहायक हो सकता है। इस बात को सेंधा नमक से संबंधित एक शोध में स्पष्ट रूप से स्वीकार किया गया है (15)

11. सेब का सिरका

सामग्री :

  • एक चम्मच सेब का सिरका
  • एक चम्मच पानी
  • रूई

क्या करें?

  • सेब के सिरके को पानी में मिला लें और फिर रूई की मदद से होंठों पर लगाएं।
  • इसे कुछ मिनटों के लिए होंठों पर लगा छोड़ दें।
  • फिर पानी से होंठ साफ कर लें।

ऐसा कब-कब करें?

इस प्रक्रिया को एक दिन में दो बार दोहराएं।

यह कैसे काम करता है?

सेब के सिरका का इस्तेमाल सूजन को कम करने में मदद कर सकता है। शोध में पाया गया कि सेब के सिरके में एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रभाव पाया जाता है। यह प्रभाव सूजन और उसके कारण होने वाली समस्या में फायदेमंद हो सकता है (16)

पढ़ना जारी रखें

घरेलु उपचार के बाद जानते है हाेंठों की सूजन दूर करने के इलाज के बारे में।

होंठों की सूजन का इलाज – Swollen Lips Treatment in Hindi

सूजन के हल्के लक्षणों को उपचार की जरूरत नहीं होती है। वे कुछ ही समय में अपने आप ठीक हो सकते हैं। मगर, सूजन अपने आप नहीं ठीक होती हैं या फिर घरेलू उपायों को अपनाने के बावजूद समस्या बनी रहती है तो होठों की सूजन का इलाज आवश्यक है। होंठों की सूजन का इलाज हम निम्न बिन्दुओं के माध्यम से समझ सकते हैं (3)

  • सूजन और दर्द को कम करने के लिए एंटीइंफ्लेमेटरी दवाएं उपयोग में ली जा सकती हैं।
  • गंभीर स्थिति में सूजन को कम करने वाले इंजेक्शन का उपयोग डॉक्टर के द्वारा किया जा सकता है।
  • इसके अलावा सूजन को कम करने के लिए लिप बॉम का उपयोग भी किया जा सकता है।

नीचे स्क्रॉल करें

आर्टिकल के इस हिस्से में हम बता रहे हैं होंठों की सूजन से बचने के लिए कुछ और उपायों के बारे में।

होंठों की सूजन के लिए कुछ और उपाय  – Other Tips For Swollen Lips in Hindi

यहां हम होंठों की सूजन कम करने के कुछ सामान्य उपाय बताने जा रहे हैं, जो कुछ इस प्रकार हैं (3): 

  • एलीर्ज के कारण होने वाली सूजन को कम करने के लिए ऐसे पदार्थों से दूर रहे, जो एलर्जी को ट्रिगर करते हैं।
  • उन दवाईओं के सेवन से बचना चाहिए जो सूजन को ट्रिगर करती हों।
  • ठंडी सिकाई के मध्यम से भी होठों की सूजन और उसके कारण होने वाले दर्द को कम करने में मदद मिल सकती है।

होठों की सूजन कोई गंभीर समस्या नहीं है, लेकिन समय पर इलाज करवाने पर इससे होने वाली परेशानी से बचा जा सकता है। आर्टिकल के माध्यम से हमने कुछ आसान घरेलू उपाय आपके साथ शेयर किए  हैं, जिनकी मदद से होंठों की सूजन कम की जा सकती है। इसके अलावा, होंठों की सूजन से बचने के लिए आपको पौष्टिक आहार भी लेना चाहिए। अगर फिर भी किसी के होंठों में सूजन बार-बार आती है, तो डॉक्टर से संपर्क करने में देर नहीं करनी चाहिए।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या होंठों की सूजन का कारण एलर्जी हो सकती है?

हां, एलर्जी के कारण होंठों की सूजन की समस्या हो सकती है (2)

होंठों की सूजन अपने आप कब जा सकती है?

सामान्य और हल्की सूजन कुछ ही समय में अपने आप ठीक हो सकती है, लेकिन समस्या गंभीर होने पर इसे उपचार से ही दूर किया जा सकता है। उपचार से ठीक होने में कितनी समय लगता है, यह सूजन की गंभीरता पर निर्भर करता है।

क्या ऑटोइम्यून बीमारी के कारण होंठ में सूजन होती है?

हां, ऑटोइम्यून बीमारी के कारण होंठ में सूजन हो सकती है (17)

क्या तनाव के कारण होंठों में सूजन आ सकती है?

हां, तनाव के कारण होंठों में सूजन आ सकती है, हालांकि इस विषय पर कोई सटीक प्रमाण उपलब्ध नहीं है (18)

References

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. What is an inflammation?
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK279298/
  2. Selected presentations of lip enlargement: clinical manifestation and differentiation
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5872243/
  3. Angioedema
    https://medlineplus.gov/ency/article/000846.htm#:~:text=Exposure%20to%20water%2C%20sunlight%2C%20cold,blood%20pressure%20medicines%20(ACE%20inhibitors)
  4. Ice reduces edema. A study of microvascular permeability in rats
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/12208913/
  5. Cold urticaria
    https://rarediseases.info.nih.gov/diseases/6131/cold-urticaria
  6. Scientific Evidence-Based Effects of Hydrotherapy on Various Systems of the Body
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4049052/
  7. Efficacy of Turmeric Extracts and Curcumin for Alleviating the Symptoms of Joint Arthritis: A Systematic Review and Meta-Analysis of Randomized Clinical Trials
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5003001/
  8. ALOE VERA: A SHORT REVIEW
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2763764/
  9. Oral administration of Aloe vera gel, anti-microbial and anti-inflammatory herbal remedy, stimulates cell-mediated immunity and antibody production in a mouse model
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4440021/
  10. Baking soda dentifrice and periodontal health
    https://jada.ada.org/article/S0002-8177(17)30823-1/pdf
  11. Evidence for Clinical Use of Honey in Wound Healing as an Anti-bacterial, Anti-inflammatory Anti-oxidant and Anti-viral Agent: A Review
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3941901/
  12. Safety profile of suppository Hamamelis virginiana leaf extract
    https://citeseerx.ist.psu.edu/viewdoc/download?doi=10.1.1.404.6264&rep=rep1&type=pdf
  13. Melaleuca alternifolia (Tea Tree) Oil: a Review of Antimicrobial and Other Medicinal Properties
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC1360273/
  14. Anti-Inflammatory and Skin Barrier Repair Effects of Topical Application of Some Plant Oils
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5796020/
  15. Lavana (salt): An Ayurvedic outlook on Saindhava (Rock salt)
    https://rfppl.co.in/subscription/upload_pdf/ijamy2_708.pdf
  16. Evaluation of acute and chronic anti-nociceptive and anti-Inflammatory effects of apple cider vinegar
    http://ijpr.sbmu.ac.ir/article_466.html
  17. Severely Crusted Cheilitis as an Initial Presentation of Systemic Lupus Erythematosus
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5527738/#:~:text=Lupus%20erythematosus%20(LE)%20is%20an,present%20solely%20with%20lip%20lesions.
  18. Depression led pitting edema: A rarest case presentation
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5669516/
Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
The following two tabs change content below.

ताज़े आलेख