15 इंडियन वेज रेसिपीज – 15 Best Indian Vegetarian Dishes In Hindi

Written by

इंडियन रेसिपीज की शृंखला न सिर्फ बहुत बड़ी है, बल्कि यह बेहद लजीज और हेल्दी भी है। यहां के पकवानों में भारतीय संस्कृति और परंपराओं की झलक साफ तौर पर देखाई देती है। भारत में आप स्ट्रीट फूड से लेकर नवाबी अंदाज के स्वादिष्ट भारतीय पकवान अपनी डाइट में शामिल भी कर सकते हैं। अगर आप शुद्ध शाकाहारी हैं, तो अपनी डाइट में विभिन्न टेस्टी इंडियन रेसिपी के विकल्प शामिल कर सकते हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम आपको 15 वेज इंडियन रेसिपीज की जानकारी दे रहे हैं। यहां आप इन टेस्टी वेज रेसिपीज की सामग्री और बनाने की विधि विस्तार से पढ़ सकते हैं।

स्क्रॉल करें

नीचे पढ़ें 15 वेज इंडियन रेसिपीज की जानकारी विस्तार से।

15 स्वादिष्ट वेज रेसिपी: 15 Delicious Veg Recipes Of India In Hindi

वेज इंडियन रेसिपीज के तौर पर आप यहां चटपटे स्वाद से लेकर खट्टे-मीठे और तीखे स्वाद से भरे विभिन्न टेस्टी इंडियन रेसिपीज की जानकारी पढ़ेंगे। एक ही डिश को भारत के अलग-अलग क्षेत्रों में अलग-अलग तरीके से बनाया जाता है। अगर आप यहां बताए गए किसी भी रेसिपी में अपनी पसंद या स्वाद के अनुसार कोई बदलाव करना चाहते हैं, तो बेशक आप ऐसा कर सकते हैं। यही तो खासियत है इंडियन रेसिपीज की।

1. पनीर टिक्का

Paneer Tikka

Shutterstock

स्वास्थ्य के लिए पनीर के फायदे कई सारे हैं। ऐसे में वेज इंडियन रेसिपीज में शामिल पनीर टिक्का न सिर्फ एक स्टार्टर की तरह परोसा जा सकता है, बल्कि दोपहर के लंच और रात के डिनर में भी इसे बड़े चाव से खा सकते हैं। वैसे तो पनीर से कई टेस्टी वेज रेसिपीज बनते हैं, लेकिन पनीर टिक्का को इन सबसे खास मान सकते हैं। इसे कैसे बनाते हैं, आइये जानते हैं।

सामग्री:

  • 250 ग्राम फ्रेश पनीर
  • आधा कप फ्रेश दही
  • स्वादानुसार नमक
  • आधा छोटा चम्मच काली मिर्च पाउडर
  • 2 चम्मच मक्खन या घी
  • आधा छोटा चम्मच जीरा पाउडर
  • आधा से एक चम्मच अदरक-लहसुन का पेस्ट (वैकल्पिक)
  • 1 से 2 शिमला मिर्च
  • 3 टमाटर
  • 1 चम्मच चाट मसाला
  • चुटकीभर लाल मिर्च पाउडर
  • 1 से 2 चम्मच बारीक कटा हरा धनिया
  • 1 नीबू, जिसे चार बराबर टुकड़ों में काट लें

बनाने की विधि:

  • पनीर को धोकर इसे बड़े चौकोर आकार के टुकड़ों में काट लें।
  • आप चाहें तो बीना धोए भी पनीर को काट सकते हैं।
  • अब एक बर्तन में दही को फेंट लें।
  • इस दही में नमक, काली मिर्च और अदरक-लहसुन का पेस्ट अच्छे से मिलाएं।
  • फिर इसमें काटे गए पनीर के टुकड़े मिला दें और इसे 20 से 30 मिनट के लिए ढककर रख दें।
  • 20 से 30 मिनट में पनीर अच्छे से दही सोख लेगा।
  • अब पनीर के टुकड़ों को एक प्लेट में निकाल लें और इसे 2 घंटों के लिए फ्रिज में रख दें।
  • इस दौरान शिमला मिर्च को धोकर उसके बीज निकाल दें और उसे लंबे और पतले आकार में काट लें।
  • आप चाहें तो शिमला मिर्च को चौकोर टुकड़ों में भी काट सकते हैं।
  • इसी तरह टमाटर को धोकर उसे भी गोल या लंबे आकार में पतला काट लें।
  • अब गैस पर कड़ाही गर्म होने के लिए रखें।
  • कड़ाही के गर्म होने पर इसमें मक्खन या घी डालें।
  • जब यह गर्म हो जाए, तो धीमी आंच पर इसमें पनीर के कुछ टुकड़े डालकर उसे दोनों तरफ से सुनहरा होने तक तले।
  • इसी तरह पनीर के सारे टुकड़ों को तल लें।
  • अब कड़ाही में बचे हुए घी में जीरा पाउडर और अदरक-लहसुन का पेस्ट डालकर उसे धीमी आंच भून लें।
  • जब इसकी तेज खुशबू आने लगे, तो इसमें शिमला मिर्च मिलाएं और 1 मिनट तक इसे ढककर पकाएं।
  • अब इसमें टमाटर और तले हुए पनीर के टुकड़े मिलाएं।
  • फिर इसमें चाट मसाला, लाल मिर्च पाउडर और अन्य मसाले मिलाकर इसे अच्छे से धीमी आंच पे पका लें।
  • दो से तीन मिनट तक मिलाते हुए इसे पकाएं और बस बनकर तैयार है टेस्टी पनीर टिक्का।
  • सर्व करते समय इसमें बारीक कटा हरा धनिया और नींबू का रस निचोड़कर दे सकती हैं।

2. लिट्टी चोखा

Litti Chokha

Shutterstock

लिट्टी चोखा बिहार के साथ ही उत्तर प्रेदश का भी पारंपरिक पकवान है। यह काफी पौष्टिक भी होता है, क्योंकि इसे गेहूं के आटे, घी और सब्जियों के साथ सर्व करके खाया जाता है। ऐसे में यूपी- बिहार की शान को क्यों न आप अपने किचन में ट्राई करें। तो सत्तू की पौष्टिकता से भरे इस आसान वेज इंडियन रेसिपी को कुछ इस प्रकार बनाएं।

लिट्टी के लिए सामग्री:

  • 2 से 3 कप गेहूं का आटा
  • चुटकीभर बेकिंग पाउडर
  • चुटकीभर अजवायन
  • चुटकीभर नमक
  • 2 चम्मच घी
  • गूंथने के लिए पानी

सत्तू के लिए सामग्री:

  • 1 कप सत्तू
  • 2 चम्मच बारीक कटा हरा धनिया
  • 1 बड़ा प्याज बारीक कटा हुआ (वैकल्पिक)
  • 1 चम्मच कटी हुई हरी मिर्च
  • आधा छोटा चम्मच अदरक और लहसुन का पेस्ट
  • चुटकीभर जीरा
  • चुटकीभर कलौंजी
  • चुटकीभर अजवायन
  • आधा छोटा चम्मच नमक
  • 1 चम्मच नींबू का रस
  • 2 चम्मच सरसों का तेल
  • 1 से 2 चम्मच अचार (वैकल्पिक)

चोखा के लिए सामग्री:

  • 3 से 4 टमाटर
  • 1 बैंगन
  • 2 से 3 उबले हुए आलू
  • 2 बारीक कटी हरी मिर्च
  • आधा छोटा चम्मच बारीक कटा लहसुन
  • 1 चम्मच बारीक कटा अदरक
  • 2 छोटे प्याज बारीक कटे हुए
  • 1 चम्मच बारीक कटा हरा धनिया
  • 1 चम्मच नींबू का रस
  • 2 चम्मच सरसों का तेल
  • स्वादानुसार नमक

लिट्टी बनाने की विधि:

  • एक बड़े बर्तन में आटा निकाल लें।
  • अब आटे में अजवायन, नमक, घी और बेकिंग सोडा मिलाएं।
  • फिर आवश्याकतानुसार पानी डालकर आटा गूथें।
  • आटे को थोड़ा नर्म ही रखें, जैसे पराठे का आटा गूंथते हैं।
  • आटा गूंथने के बाद इसे ढककर 15 मिनट के लिए सेट होने के लिए रख दें।
  • इसके बाद, एक बर्तन में सत्तू लें।
  • अब इसमें प्याज, मिर्च, अजवाइन, कलौंजी, जीरा, अदरक-लहसुन का पेस्ट, नींबू का रस, अचार स्वादानुसार नमक अच्छे से मिक्स करें।
  • आप चाहें तो अदरक-लहसुन की पेस्ट की जगह उन्हें बारीक काटकर भी मिला सकते हैं।
  • फिर इसमें सरसों का तेल अच्छी तरह से मिलाएं।
  • अब जरूरत पड़ने पर इसमें एक से दो चम्मच पानी मिलाएं।
  • ध्यान रखें भरावन के लिए सत्तू न तो ज्यादा सूखा होना चाहिए और न ही ज्यादा गीला।
  • अब गूंथे गए आटे का एक छोटा टुकड़ा लेकर उसे हाथों से पुरी की तरह छोटा गोल बनाएं।
  • ध्यान रहे लिट्टी का साइज आप अपने पसंद के अनुसार छोटा या बड़ा रख सकते हैं।
  • बेलने के अलावा आटे की लोई को दबाकर पेड़ा जैसा भी बना सकते हैं और उंगली और अंगूठे से हल्का दबा-दबाकर उसे प्याले या कटोरी का आकार दे सकते हैं।
  • फिर इसमें तैयार किया गया सत्तू का मिश्रण भरें और मिश्रण को थोड़ा अंदर दबा दें।
  • इसके बाद इसे कचौरी की तरह चारों तरफ से बंद कर दें और इसे हल्के हाथों से गोल आकार दें।
  • ध्यान दें इस दौरान आटे पर कोई दरार न हो। ऐसा होने पर तलते समय तेल में सत्तू फैल सकता है।
  • अब ऐसे ही सारी लिट्टी बना लें।
  • इसके बाद एक कड़ाही में घी लगाएं।
  • गर्म होने पर उसमें भरा हुआ लिट्टी डालें और दोनों तरफ से भूरा होने तक उसे ढककर पकाएं।
  • बीच-बीच में लिट्टी को घुमाते रहें ताकि वो चारों तरफ से पक जाए।
  • लिट्टी के पकने के बाद लिट्टी पर घी लगाएं और तैयार किए गए चोखे के साथ इसे सर्व करें और खाएं।
  • आप चाहें तो अप्पम मेकर में भी घी लगाकर लिट्टी को सेंक सकते हैं।
  • इसके अलावा, गैस पर जाली रखकर उसमें भी लिट्टी को सेंक सकते हैं और लिट्टी के बनने के बाद उसे घी में डिप करके सर्व कर सके हैं।
  • आप चाहें तो इसकी लिट्टी के बजाय बेलकर सत्तू का पराठा भी बना सकते हैं।

चोखा बनाने की विधि:

  • सबसे पहले बैंगन को हल्का काटकर देख लें कि बैंगन अच्छा है या नहीं।
  • अगर बैंगन कहीं से सड़ा हो या उसमें कीड़े हों तो उसका उपयोग न करें।
  • ध्यान रहे चोखा बनाने के कुछ देर पहले बैंगन और टमाटर को धोकर रखें।
  • जब यह पक्का हो जाए कि बैंगन ठीक है तो टमाटर और बैंगन पर तेल लगा लें।
  • अब गैस ऑन करके उसमें एक जाली रखें और उसके ऊपर बैंगन और टमाटर को रख दें।
  • अगर जाली न हो तो सीधे गैस पर भी टमाटर और बैंगन को रख सकते हैं।
  • बैंगन और टमाटर को पकाते वक्त थोड़ी-थोड़ी देर में घुमाते रहें।
  • अब बैंगन और टमाटर को अच्छी तरह आग में भून लें।
  • जब वे पक जाएं, तो उनको एक बर्तन में थोड़ी देर के लिए ठंडा होने के लिए रख दें।
  • जब वो ठंडे हो जाए तो चाकू की मदद से उनका छिलका छील लें।
  • फिर उबले हुए आलू के साथ बैंगन और टमाटर को हल्का मैश करें।
  • इसके बाद इनमें कटी हुई मिर्च, लहसुन, अदरक, प्याज और धनिया मिलाएं।
  • फिर नींबू का रस, सरसों का तेल और नमक भी अच्छे से मिला लें।
  • इन्हें मैशर से अच्छे से मैश कर लें।
  • तैयार है लिट्टी का चटपटा चोखा।
  • अब इसे लिट्टी के साथ सर्व करें।

3. दाल फरा

Dal Fara

Shutterstock

इंडियन रेसिपी में अगली जानकारी हम दाल फरा की दे रहे हैं। यूपी स्टाइल का दाल फरा भी काफी लोकप्रिय व्यंजन है। यह काफी स्वादिष्ट होता है। अगर किसी ने अभी तक उत्तर प्रदेश के मशहूर दाल फरे नहीं खाएं हैं, तो हमारी रेसिपी से वो इसे बना सकते हैं और टेस्टी वेज रेसिपी में इसे शामिल कर सकते हैं।

सामग्री:

  • 3 से 4 कप चावल का आटा
  • एक कप दूध (वैकल्पिक)
  • पानी आवश्यकतानुसार
  • 2 से 3 कप उड़द की दाल (रात भर पानी में भीगी हुई)
  • 2 से 3 कप चने की दाल (रात भर पानी में भीगी हुई)
  • चाहें तो बनाने के 3 से 4 घंटे पहले भी दाल को भिगो सकते हैं।
  • 4 से 5 लहसुन की कलियां
  • एक चम्मच अदरक बारीक कटा हुआ
  • 4 से 5 हरी मिर्च
  • 1 चम्मच बारीक कटा हरा धनिया
  • 2 चम्मच सरसों का तेल या घी
  • 1 छोटी चम्मच हल्दी पाउडर
  • 1 छोटा चम्मच लाल मिर्च पाउडर
  • नमक स्वादानुसार

बनाने की विधि:

  • सबसे पहले के पतीले में दो से तीन कप पानी लें।
  • अब उसमें दो से तीन चम्मच घी और आधा छोटा चम्मच नमक डालें।
  • फिर इसे ढक दें और पानी में उबाल आने दें।
  • जब पानी उबल जाए तो गैस बंद कर दें और इसमें चावल का आटा डाल दें।
  • अब चम्मच की मदद से इसे अच्छी तरह से मिला दें और ढककर थोड़ी देर के लिए रख दें, ताकि आटा थोड़ा फूल जाए।
  • अब इस दौरान भीगी हुई उड़द और चने की दाल को दरदरा पीस लें।
  • अब एक बर्तन में इसे निकाल लें और इसमें मिर्च, अरदक, धनिया, हल्दी, लाल मिर्च और लहसुन मिला लें।
  • फिर इसमें स्वादानुसार नमक मिलाएं।
  • अब इन्हें अच्छे से मिलाकर स्टफिंग तैयार करके रख लें।
  • फिर जो चावल का आटा ठंडा होने के लिए रखा था उसे मसल-मसलकर गूंथ लें।
  • जरूरत पड़ने पर एक या दो चम्मच दूध और पानी का इस्तेमाल करते हुए भी गूंथ सकते हैं।
  • इसे गूंथते वक्त हाथ में थोड़ा घी लगा लें।
  • गूंथे हुए आटे की छोटी-छोटी लोई बना लें और एक बर्तन में ढक कर रख लें।
  • अब एक-एक करके उन्हें गोल पूरी के आकार में बेल लें।
  • बेलते वक्त जरूरत पड़ने पर इसमें चावल के आटे का ही पर्थन लगाएं।
  • फिर इसमें दाल की फिल्लिंग डालें और उसे दूसरे तरफ से मोड़कर आधा बंद कर लें।
  • फिर एक-एक करके सभी पूरियों के बीच में पिसी हुई दाल भरें।
  • ध्यान रखें कि पूरियों के बीच दाल को दबाते हुए उसका मुंह जबरदस्ती एक्स्ट्रा दाल भरते हुए बंद न करें। पूरी के बीच में जितनी दाल आए, उतनी ही भरें।
  • अब गैस पर किसी गहरे पैन में दो से तीन गिलास पानी लें।
  • फिर उसे अच्छे से ढककर उबलने दें।
  • जब पानी उबल जाए तो उसके ऊपर एक जाली रख दें।
  • ध्यान रहे जाली को उसके ऊपर रखने से पहले घी या तेल से थोड़ा ग्रीस कर लें, ताकि फरे उसमें चिकपे नहीं।
  • अब इसे उबलते पानी के बर्तन के ऊपर रखें और इस जाली पर एक-एक करके फरे रखें।
  • फिर इसे ढक दें और मध्यम से हाई आंच पे 10 मिनट तक पकाएं।
  • आप चाहें तो फरे बनाने के लिए साफ सूती के कपड़े का उपयोग भी कर सकते हैं।
  • बस पानी उबलने के बाद बर्तन के मुंह पर साफ सूती कपड़ा बांधना है और उसके ऊपर फरे पकने के लिए रखने हैं।
  • आप चाहें तो स्टीमर का उपयोग भी कर सकते हैं।
  • अब जब फरे पककर तैयार हो जाए तो गरमा-गर्म या थोड़ा ठंडा होने के बाद चटनी, आचार या सिरके के साथ इसे सर्व करें।
  • आप चाहें तो सर्व करने से पहले इसे तेल में फ्राई करके भी सर्व कर सकते हैं।
  • एक कड़ाही में एक चम्मच तेल, एक चम्मच सरसों के दाने, जीरा, एक से दो हरी मिर्च बारीक कटी हुई, छोटे टुकड़ों में कटे हुए फरे, चुटकिभर हल्दी, एक छोटा चम्मच लाल मिर्च और आधा चम्मच नमक डालकर फ्राई कर लें।
  • फिर गरमा-गर्म सर्व कर लें।

4. दाल बाटी और चूरमा

Dal Bati and Churma

Shutterstock

स्वादिष्ट भारतीय खाना बिना देसी घी के अधूरा माना जाता है। अगर किसी को घी खाना ज्यादा ही पसंद है, तो वे वेज इंडियन रेसिपी में घी में डूबे राजस्थानी डिश दाल बाटी और चूरमा को शामिल कर सकते हैं। दरअसल, इसमें घी का ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है। इंडियन रेसिपीज स्टाइल में इसे कैसे बनाते हैं, यह हम नीचे बता रहे हैं:

बाटी के लिए सामग्री:

  • 3 से 4 कप गेहूं का आटा
  • आधा कप सूजी
  • आधा चम्मच अजवाइन
  • आधा छोटा चम्मच नमक
  • चुटकीभर बेकिंग पाउडर
  • 4 चम्मच घी
  • आवश्यकतानुसार पानी

चूरमा के लिए सामग्री:

  • 2 चम्मच घी
  • 3 चम्मच सफेद या भूरी (पीसी हुई चीनी)
  • 2 चम्मच कटे हुए काजू और बादाम
  • चुटकीभर इलायची पाउडर

दाल के लिए सामग्री:

  • आधा कप मूंग दाल
  • एक चौथाई कप मसूर दाल
  • एक चौथाई कप चना दाल
  • 3-4 कप पानी
  • 3-4 चम्मच घी
  • 1 छोटा चम्मच सरसों के दाने
  • 1 छोटा चम्मच जीरा
  • चुटकीभर हिंग
  • 1-2 प्याज, बारीक कटा हुआ
  • 1 से 2 टमाटर बारीक कटा हुआ
  • आधा से 1 छोटा चम्मच अदरक और लहसुन का पेस्ट
  • 10 करी पत्ता
  • 2 से 3 हरी मिर्च, लंबी कटी हुई
  • चुटकीभर हल्दी
  • आधा से एक चम्मच लाल मिर्च पाउडर
  • आधा से एक चम्मच धनिया पाउडर
  • आधा से एक चम्मच गरम मसाला
  • 1 छोटा चम्मच नमक
  • 1 कप पानी
  • 1 चम्मच धनिया पत्ता, बारीक कटा हुआ

बाटी बनाने की विधि:

  • एक बर्तन में गेहूं के आटे में सूजी, नमक, अजवाइन, बेकिंग पाउडर मिलाएं।
  • फिर इसमें घी मिलाकर इसे नम करें।
  • अब आवश्यकतानुसार पानी मिलाकर आटा गूंथ लें। इसे थोड़ा सख्त ही रखें।
  • फिर इसे 15 मिनट के लिए ढककर रख दें, ताकि आटा फूलकर तैयार हो जाए।
  • जब आटा सेट हो जाए तो अब आटे की छोटी-छोटी लोई बनाकर रखते जाएं।
  • आप चाहें तो लोई को दबाकर पेड़े का आकार भी दे सकते हैं।
  • इसके बाद इन्हें हाथों से गोल आकार देते हुए लड्डू की तरह बनाएं। इस दौरान इन्हें बीच से थोड़ा खोखला ही रखें, ताकि यह अच्छे से पके।
  • देखा जाए तो बाटी को तंदूर में ही बनाया जाता है, लेकिन अगर तंदूर नहीं है तो अप्पे पैन, कुकर या गैस पर जाली रखकर बना सकते हैं।
  • अब इसे अप्पे पैन में 15 मिनट के लिए पकाएं। अप्पे पैन आसानी से ऑनलाइन या बाजार में उपलब्ध है।
  • ध्यान रहे अप्पे पैन को अच्छे से तेल से ग्रीस कर लें, ताकि खाद्य सामग्री चिपके न।
  • अब इसे धीमी आंच पे पकाएं, बीच-बीच में पलटते रहें।
  • फिर से इसे 5 मिनट के लिए सेंके।
  • आप चाहें तो पैन में भी थोड़ा तेल डालकर पका सकते हैं।
  • जब ये पैन में पक जाए तो इसके किनारों को पकाने के लिए चिमटे की मदद से सीधे गैस की आंच पर किनारों को पका सकते हैं।
  • इस तरह बाटी बनकर तैयार हो गई है।

चूरमा बनाने की विधि:

  • चूरमा बनाने के लिए 2 से 3 पकाए हुए बाटी लें और उसे तोड़कर मिक्सी में डाल लें और इसका दरदरा पाउडर बना लें।
  • अब पैन में घी डालकर 5 मिनट तक बाटी से तैयार किया गया पाउडर भून लें।
  • फिर इसमें कटे हुए काजू-बादाम और इलायची पाउडर मिला लें।
  • जरूरत पड़ने पर थोड़ा घी मिलाएं और अब इसमें चीनी मिलाएं।
  • थोड़ी देर भून लें फिर ठंडा होने दें।
  • तैयार है चूरमा।

दाल बनाने की विधि:

  • प्रेशर कुकर में सभी दालों को मिक्स करें और पानी और घी डालकर 4 सीटी आने तक इसे पकाएं।
  • इसके बाद कड़ाही में घी गरम करें और उसमें हींग, जीरा, अदरक-लहसुन का पेस्ट, सरसों दाना, करी पत्ता और कटी हुई हरी मिर्च
  • डालकर मीडियम आंच पर भूनें।
  • इसके बाद इसमें कटे हुए प्याज, मिलाकर उन्हें अच्छे से 2-3 मिनट के लिए भून लें।
  • फिर इसमें टमाटर मिलाएं और थोड़ा सा नमक डाल दें, ताकि टमाटर जल्दी से पक जाए।
  • अब इसे ढक दें और 4 से 5 मिनट तक धीमी आंच पर पकने दें।
  • फिर हल्दी, मिर्च पाउडर, धनिया पाउडर और थोड़ा नमक मिलाकर 2 मिनट तक भून लें।
  • अब इसमें उबली हुई दाल मिलाएं।
  • फिर अपनी इच्छानुसार गर्म पानी मिलाएं और 5 मिनट तक इसे पकाएं।
  • अब इसमें आवश्यकता अनुसार नमक डालें, ध्यान रहे हमने पहले भी नमक डाला है तो उसी अनुसार नमक डालें।
  • फिर इसमें गरम मसाला पाउडर डालें, अब इसे ढककर कुछ मिनट के लिए धीमी आंच पे पकने दें।
  • दाल पकने के बाद गैस बंद करके हरा धनिया मिलाएं और तैयार किए गए इस दाल बाटी चूरमा को नाश्ते, लंच या डिनर में सर्व करें।
  • ध्यान रहे सर्व करते वक्त बाटी में घी भी लगा सकते हैं।

5. दाल बाफला

Dal Bafla

Shutterstock

राजस्थानी दाल बाटी चूरमे की ही तरह दाल बाफला भी होता है, लेकिन यह मध्य प्रदेश का एक पारंपरिक पकवान है। इसकी रेसिपी भी दाल बाटी चूरमे से मिलती-जुलती ही होती है। गेंहू के आटे से बनाया जाने वाला यह पकवान स्वादिष्ट होने के साथ ही पौष्टिक भी माना जाता है।

बाफला के लिए सामग्री:

  • 2 से 3 कप गेहूं का आटा
  • एक चौथाई कप सूजी
  • एक कप दही
  • घी, बाफला बनाने और रोस्ट करने के लिए
  • चुटकीभर हल्दी
  • चुटकीभर अजवाइन
  • चुटकीभर बेकिंग सोडा
  • आधा छोटा चम्मच नमक
  • पानी, आटा गूंथने के लिए

दाल के लिए सामग्री:

  • आधा-आधा कप मूंग और मसूर दाल, कुछ घंटों के लिए भिगोए हुए
  • एक चौथाई कप चना दाल, कुछ घंटों के लिए भिगोए हुए
  • 3 कप पानी
  • 3 चम्मच घी
  • 1 चम्मच सरसों दाना
  • 1 चम्मच जीरा
  • चुटकीभर हींग
  • 1 प्याज, बारीक कटा हुआ
  • आधा छोटा चम्मच अदरक और लहसुन का पेस्ट
  • 2 से 3 हरी मिर्च, लंबी कटी हुई
  • 1 बारीक कटा हुआ टमाटर
  • चुटकीभर हल्दी
  • आधा से एक चम्मच लाल मिर्च पाउडर
  • आधा से एक चम्मच गरम मसाला
  • स्वादानुसार नमक
  • 1 कप पानी
  • 2 चम्मच बारीक कटा हरा धनिया

बाफला बनाने की विधि:

  • एक कटोरे में गेहूं का आटा और सूजी मिलाएं।
  • इसमें दही, दो चम्मच घी, हल्दी, अजवाइन, बेकिंग सोडा और नमक मिलाकर इसे गुनगुने पानी से थोड़ा सॉफ्ट गूंद लें।
  • रोटी के लिए जैसे आटा गूंदते हैं वैसे ही आटा गूंद लें।
  • अब आटे को ढककर 15 से 20 मिनट के लिए सेट होने के लिए रख दें।
  • जब आटा सेट हो जाए तो हाथ में थोड़ा सा घी लगा लें।
  • अब इसकी छोटी-छोटी लोई बना लें।
  • अब इसे हल्का दबाकर पेड़े का आकार दें।
  • ऐसे ही सारे लोई को तैयार कर लें।
  • इस दौरान एक पैन में पानी उबलने के लिए रख दें, क्योंकि इन बाटियों को पानी में उबालना है।
  • ध्यान रहे पानी इतना होना चाहिए कि बाटियां उसमें डूब जाए।
  • पानी में जब अच्छे से उबाल आ जाए तो एक-एक करके इसमें बाटी डाल दें।
  • इन्हें 15 मिनट तक उबालें।
  • जब आटे के लड्डू पानी में तैरने लगे, तो यह पक कर तैयार हो गए होते हैं।
  • इसके बाद इन उबले हुए आटे के लड्डूओं को पानी से छान लें।
  • अब इसे ठंडा होने दें।
  • फिर एक पैन या कड़ाही में घी गर्म करें और सुनहरा होने तक इन आटे के लड्डूओं को धीमी से मध्यम आंच पर ढककर अच्छे से पकाएं।
  • इन्हें बीच-बीच में पलट-पलटकर पूरे 25 मिनट तक पकाएं।
  • इस तरह बाफला बनकर तैयार हो जाएगा।
  • सर्व करने से पहले इसे तोड़कर इसमें घी डाल दें।

दाल बनाने की विधि:

  • प्रेशर कुकर में सभी दालों को मिक्स करें, इसमें घी, नमक और पानी मिलाकर इसे 4-5 सीटी आने तक पकाएं।
  • अब कड़ाही में 2 चम्मच घी गर्म करें और उसमें सरसों दाना और जीरा भून लें।
  • फिर इसमें चुटकीभर हींग मिलाएं।
  • इसके बाद अदरक और लहसुन का पेस्ट, कटी हुई हरी मिर्च और प्याज डालकर इसे अच्छे से भून लें।
  • अब इसमें कटे हुए टमाटर डालें और चुटकीभर नमक डालकर टमाटर के नर्म होने तक इसे पकाएं।
  • फिर इसमें पकी हुई दाल, हल्दी, लाल मिर्च पाउडर, गरम मसाला और स्वादानुसार नमक और जरूरत हो तो एक कप पानी मिलाएं।
  • फिर इसे ढक दें और 5 मिनट तक पकाएं।
  • सर्व करने से पहले इसे हरा धनिया से गर्निश करें और बाफला के साथ इसे परोसें।

6. पहाड़ी गहत या कुलथी की दाल (फानु)

Pahari Gahat or Kulthi Dal (Fanu)

Shutterstock

देखा जाए तो भारतीय खाने में दाल की एक खास जगह है। सेहत और स्वाद का भंडार होता है दाल। इसी में पहाड़ी गहत दाल, कुलथी दाल या फानु भी एक प्रकार का वेज इंडियन रेसिपी है। इसे विशेषकर सर्दियों के दिनों में पहाड़ी क्षेत्रों में चावल या रोटी के साथ खाया जाता है। तो इस टेस्टी दाल की रेसिपी कुछ इस प्रकार है:

सामग्री:

  • एक कटोरी गहत या कुलथी की दाल (रात भर पानी में भिगोए हुए)
  • 3 कप पानी
  • 1 छोटा टमाटर बारीक कटा हुआ
  • 3 से 4 लहसुन की कली बारीक कटी हुई
  • 1 छोटा प्याज बारीक कटा हुआ
  • 2 चम्मच सरसों का तेल
  • आधा छोटा चम्मच जीरा
  • नमक स्वादानुसार
  • आधा चम्मच हल्दी पाउडर
  • आधा से एक छोटा चम्मच लाल मिर्च पाउडर
  • आधा से एक छोटा चम्मच धनिया पाउडर
  • आधा से एक छोटा चम्मच गरम मसाला पाउडर
  • 1 चम्मच कटा हुआ हरा धनिया

बनाने की विधि:

  • ध्यान रहे दाल भिगोने से पहले उसे अच्छी तरह से साफ करके धो लें।
  • फिर इसे दो कप पानी में भिगो दें।
  • अगर तुरंत बनाना है तो दाल बनाने के एक से दो घंटे पहले गर्म पानी में दाल को भिगो सकते हैं।
  • अब प्रेशर कुकर में भीगे हुए गहत की दाल, पानी, आधा चम्मच नमक, हल्दी, तेल डालकर मीडियम आंच पर 4 सीटी आने तक इसे पकाएं।
  • फिर एक कड़ाही में सरसों का तेल डालें।
  • गर्म होने पर उसमें जीरा डालकर भूनें।
  • अब इसमें लहसुन, प्याज और टमाटर भूनें।
  • आप चाहें तो टमाटर, लहसुन को दाल उबालते वक्त भी डालकर पका सकते हैं।
  • इसके बाद इसमें धनिया पत्ता डालें और फिर इसमें हल्दी, गरम मसाला, धनिया पाउडर, मिर्ची पाउडर को धीमी आंच पर भून लें।
    फिर इसमें उबली हुई दाल अच्छे से मिलाएं।
  • धीमी आंच पर कुछ मिनट के लिए इसे पकाएं।
  • आप अपने जरूरत के अनुसार दाल को पतला या गाढ़ा रखने के लिए इसमें पानी मिलाएं।
  • दाल पकने के बाद गैस बंद कर दें और गरमा-गर्म चावल या रोटी के साथ खाएं।

7. आलू पोस्तो

Potato Posto

Shutterstock

टेस्टी इंडियन रेसिपी में शामिल अगली डिश का नाम है आलू पोस्तो। यह एक बंगाली डिश है। इसे बनाने में आलू का उपयोग किया जाता है, जिसके स्वाद को बढ़ाने में खसखस की भूमिका अहम है। इंडियन रेसिपीज में बंगाली खाने की अपनी अलग ही जगह है। तो आलू पोस्तो की आसान रेसिपी के साथ इसे अपने डाइट में शामिल करें।

सामग्री:

  • 4 आलू धोकर छोटे टुकड़ों में कटे हुए
  • आधी छोटी चम्मच कलौंजी
  • आधा छोटा चम्मच हल्दी पाउडर
  • चुटकीभर चीनी (वैकल्पिक)
  • नमक स्वादनुसार
  • 2 बड़े चम्मच सरसों का तेल
  • 2 बड़ा चमच्च खसखस
  • 2 सूखी लाल मिर्च
  • 2 हरी मिर्च बारीक कटी हुई
  • 2 हरी मिर्च लंबे टुकड़ों में कटी हुई
  • आवश्यकतानुसार पानी

बनाने की विधि:

  • मिक्सी में खसखस के बीज, लाल मिर्च और लंबी कटी हुई हरी मिर्च डालकर उसे थोड़ा सा पानी डालकर पीस लें।
  • आप चाहें तो पोस्तो को पहले से ही पानी में भिगोकर रख सकते हैं, इससे पीसने में आसानी हो सकती है।
  • ध्यान रहे पोस्तो को स्मूद पेस्ट बनने तक ग्राइंड करें।
  • अब पैन या कड़ाही में सरसों का तेल गरम करें और उसमे कलौंजी के बीज डालकर उसे मीडियम आंच पर भून लें।
  • अब इसमें कटे हुए आलू डाल दें और दो से तीन मिनट तक लो मीडियम आंच पर फ्राई कर लें।
  • आप इसे ढककर भी 5 मिनट तक पकने दे सकते हैं।
  • अब इसमें बारीक कटी हरी मिर्च, और हल्दी डालें।
  • फिर इसे अच्छे से मिलाकर आलू को और थोड़ी देर फ्राई करें।
  • ध्यान रहे इस दौरान गैस का फ्लेम लो मीडियम या मीडियम रखें।
  • इसके बाद तैयार किया गया खसखस का पेस्ट, नमक और चीनी मिलाएं।
  • फिर गैस का फ्लेम कम कर दें और इसे लगभग 10 मिनट तक ढककर लो फ्लेम में पकाएं।
  • 10 मिनट बाद आवश्यकतानुसार आधा से एक गिलास पानी मिलाएं और फिर इसे 10 मिनट तक लो मीडियम फ्लेम में ढककर पकाएं।
  • इसे तब तक पकाएं जब तक आलू पक न जाए।
  • जब आलू पक जाए तो आपको जितनी ग्रेवी या सूखी आलू पोस्तो चाहिए उसी अनुसार उसमें पानी रहने दें।
  • बस तैयार है बंगाली आलू पोस्तो इसे रोटी, पराठे या चावल दाल के साथ खाएं।

8. सोल कढ़ी

sol kadhi

Shutterstock

मशहूर और पारंपरिक भारतीय पकवानों में सोल कढ़ी का नाम भी शामिल है। यह न सिर्फ स्वादिष्ट वेज रेसिपी है, बल्कि स्वाद और रंग-रूप में भी यह काफी अलग होती है। इसे कोंकणी रेसिपी भी कह सकते हैं। इसे बनाने में कोकोनट मिल्क यानी नारियल के दूध और कोकम फल का इस्तेमाल खासतौर पर किया जाता है। इसे कैसे बनाते हैं, जानने के लिए नीचे इसकी आसान रेसिपी पढ़ें।

सामग्री:

  • 2 कप कद्दूकस किया हुआ ताजा नारियल (नारियल दूध का भी इस्तेमाल कर सकते हैं)
  • 7-8 कोकम फल
  • 2 हरी मिर्च
  • 4-5 लहसुन की कली
  • 4-5 काली मिर्च के दाने
  • चुटकीभर हींग
  • नमक स्वादानुसार
  • 1 चम्मच बारीक कटा हरा धनिया, गार्निश के लिए
  • 2 कप पानी

बनाने की विधि:

  • एक कटोरी में कोकम फल लें। उसमें चुटकीभर हींग और थोड़ा नमक मिलाएं।
  • फिर इसमें पानी मिलाकर उसे 5 मिनट के लिए सोखने के लिए रख दें।
  • अब मिक्सर में कद्दूकस किया हुआ नारियल, हरी मिर्च और काली मिर्च डालें और आवश्यकतानुसार पानी मिलाते हुए इसे पतला पीस लें।
  • इसके बाद छन्नी या किसी महीन कपड़े से इसे इच्छे से छान लें। इससे नारियल का दूध मिल जाएगा।
  • अब इसमें पानी में भिगोए हुए कोकम फल मिलाएं और धनिया पत्ती से गर्निश करके इसे 10 मिनट के लिए फ्रिज में ठंडा होने के लिए रख दें।
  • ठंडा होने के बाद नाश्ते, लंच या डिनर में इसे शामिल करके इसके स्वाद का आनंद लें।
  • इसे चाहे तो पी सकते हैं या फिर इसे चावल के साथ खा भी सकते हैं।

9. छोले भटूरे

Chole bhature

Shutterstock

अगर किसी को मसालेदार-चटपटा खाना पसंद है, तो वे वेज इंडियन रेसिपीज में छोले भटूरे की रेसिपी शामिल कर सकते हैं। वैसे तो छोले भटूरे पंजाब से लेकर दिल्ली और कई क्षेत्रों में काफी मशहूर है, लेकिन दिल्ली की गलियों में छोले भटूरे सबसे ज्यादा प्रसिद्ध हैं। इसे दिल्ली का सबसे पसंदीदा स्ट्रीट फूड भी कह सकते हैं। छोले का सेवन भटूरे के अलावा, चावल के साथ भी कर सकते हैं।

छोले के लिए सामग्री:

  • 2 कटोरी काबुली चना, रातभर पानी में भिगोए हुए
  • 1 टी बैग (वैकल्पिक)
  • आधा छोटा चम्मच बेकिंग सोडा
  • 2 से 3 टमाटर का पेस्ट/बारीक कटा हुआ
  • 2 चम्मच कुकिंग ऑयल
  • 2 से 3 हरी मिर्च का पेस्ट
  • 2 प्याज का पेस्ट/ बारीक कटा हुआ
  • 1 तेज पत्ता
  • 1 से 2 इलायची
  • 1 चम्मच अदरक और लहसुन का पेस्ट
  • 1 चम्मच गरम मसाला
  • 1 छोटा चम्मच हल्दी पाउडर
  • 1 चम्मच धनिया पाउडर
  • 1 चम्मच कशिमिरी लाल मिर्च
  • आधा चम्मच जीरा
  • 2 चम्मच छोला मसाला
  • स्वादानुसार नमक
  • आधा छोटा चम्मच काला नमक
  • हरी धनियां, गर्निश के लिए

भटूरे के लिए सामग्री:

  • 4 कप मैदा
  • 2 चम्मच सूजी
  • 1 चम्मच चीनी
  • चुटकीभर बेकिंग सोडा
  • आधा छोटा चम्मच नमक
  • 2 चम्मच तेल
  • दो चम्मच दही
  • पानी, गूंथने के लिए

छोला बनाने की विधि:

  • पानी से छानकर काबुली चनों को साफ करके प्रेशर कुकुर में डालें। साथ में इसमें एक जरूरत अनुसार पानी, आधा चम्मच नमक,
  • बेकिंग सोडा और टी बैग भी रखें और इसे 3 से 4 सीटी आने तक उबालें।
  • जब छोले पक जाएं तो सीटी निकलने पर टी बैग इसमें से निकाल दें।
  • अब एक कड़ाही में तेल डालकर उसमें जीरा, तेज पत्ता और इलायची भून लें।
  • फिर इसमें प्याज, मिर्च और अदरक-लहसुन का पेस्ट मध्यम आंच पर भूनें।
  • अब इसमे छोला मसाला, गरम मसाला, कशिमिरी लाल मिर्च, हल्दी और धनिया पाउडर मिलाकर भून लें।
  • इसके बाद टमाटर का पेस्ट इसमें डालकर भूनें, इस दौरान चाहें तो थोड़ा नमक मिला सकते हैं, ताकि पेस्ट जल्दी पक जाए।
  • जब तेल मसालों से ऊपर दिखाई देने लगे, तो इसमें उबले हुए चने और नमक मिला दें।
  • ध्यान रहे चने उबालते वक्त भी हमने नमक मिलाया था तो उसी अनुसार नमक डालें।
  • चनों को 5 मिनट तक भूनें फिर इसमें आवश्यकता अनुसार पानी मिला लें और 15 मिनट तक ढककर पकाएं।
  • जब छोले पक जाएं, तो हरा धनिया से गर्निश करें।

भटूरा बनाने की विधि:

  • ध्यान रहे मैदे को बनाकर दो घंटे के लिए रखना होता है। इसलिए छोले-भटूरे खाने के दो घंटे पहले आटा सान लें।
  • सबसे पहले एक बर्तन में मैदा और सूजी लें और उसमें बीच में चम्मच से थोड़ी सी जगह बना लें।
  • अब इस जगह में दही, चीनी, बेकिंग सोडा और नमक मिलाएं।
  • फिर इसमें दो चम्मच तेल डालकर मिला लें।
  • अब इसे गुनगुने पानी से थोड़ा नम करके आटा गूंथ लें। आटा नरम ही रखें।
  • फिर हाथ में थोड़ा तेल लेकर अच्छे से आटे को मुलायम-चिकना गूंथ लें।
  • अब इस आटे में थोड़ा तेल लगाकर और ढक करके दो घंटे के लिए किसी गर्म जगह पर रख दें।
  • फिर दो घंटे बाद हाथ में थोड़ा सूखा मैदा या आटा लगाएं और सने हुए मैदा को मसल लें।
  • अब इसकी छोटी-छोटी लोई बनाकर इसे रखें।
  • फिर इन्हें सूखे आटे या मैदे में लपेटते हुए बेल लें।
  • इस दौरान कड़ाही में तेल गर्म होने के लिए रख दें।
  • तेल गर्म हुआ है या नहीं यह चेक करने के लिए तेल में एक आटे की छोटी लोई डालकर देख लें।
  • अगर लोई तलकर ऊपर आ जाए तो मतलब तेल गर्म हो चुका है।
  • अब भटूरों को बेलने के बाद तेल में डालकर तल लें।
  • जब भटूरे दोनों तरफ से सुनहरे रंग के हो जाए, तो इसे तेल से छानकर बाहर निकाल लें और तैयार किए गए छोले के साथ भटूरे को सर्व करें।

10. हिमाचली खट्टा

Himachali sour

Shutterstock

हिमाचली खट्टा एक हिमाचली पारंपरिक भोजन हैं। इस रेसिपी को बनाने में चना, छोला या राजमा का इस्तेमाल किया जा जा सकता है। यहां हम राजमा का उपयोग करके हिमाचली खट्टा की रेसिपी बता रहे हैं, जो कुछ इस प्रकार है:

सामग्री:

  • 2 कप राजमा, रातभर भिगोए हुए
  • 2 कप दही
  • 1 प्याज, बारीक कटा हुआ
  • 4 चम्मच देशी घी या कोई भी कुकिंग ऑयल
  • चुटकीभर हींग (वैकल्पिक)
  • 1 छोटा चम्मच जीरा
  • 2 से 3 दालचीनी के टुकड़े
  • आधा छोटा चम्मच इलायची पाउडर या 2 छोटी इलायची
  • 2 बड़ी इलायची
  • आधा छोटा चम्मच लौंग का पाउडर या 2 से 3 लौंग
  • 2 से 3 तेज पत्ता
  • आधा छोटा चम्मच काली मिर्च पाउडर
  • 4 से 5 किशमिश
  • 2 चम्मच धनिया पाउडर
  • 1 चम्मच हल्दी पाउडर
  • 1 चम्मच लाल मिर्च पाउडर
  • नमक, स्वादानुसार

बनाने की वि​धि:

  • पानी से राजमा छान लें। फिर उसे साफ करके प्रेशर कुकर में आवश्यकतानुसार पानी डालकर 4 से 5 सीटी तक उबाल लें।
  • अब एक कटोरी में दो कप दही लें। उसमें हल्दी, धनिया और लाल मिर्च पाउडर मिक्स करके गाढ़ा घोल तैयार करें।
  • अब कड़ाही में तेल या घी गर्म करें।
  • इसमें जीरा, काली मिर्च, तेजपत्ता, लौंग, इलायची, हींग, दालचीनी सभी मसाले मिलाकर इसे अच्छे से मध्यम आंच पर भून लें।
  • आप चाहें तो जीरा, लौंग, इलायची और काली मिर्च तेल में भून लें और हींग, दालचीनी पाउडर, लाल मिर्च पाउडर राजमा के पानी में मिलाकर रख लें।
  • फिर कड़ाही में कटे हुए प्याज मिलाएं और सुनहरा होने तक उसे भूनें।
  • प्याज पकने के बाद गैस बंद कर दें और इसे ठंडा होने दें।
  • जब यह मिश्रण ठंडा हो जाए तो इसमें तैयार किया गया दही का गाढ़ा घोल मिला दें और गैस ऑन करके धीमी आंच पर 15 मिनट तक इसे पकाएं।
  • अब जब मसालों के ऊपर तेल दिखाई देने लगे, तो उसमें उबले हुए राजमा मिलाएं और 5 मिनट तक इसे पकाएं।
  • इसके बाद इसमें राजमा का पानी मिलाकर ग्रेवी को पतला करें और 5 मिनट के लिए पकाएं।
  • अगर सारे मसालों को कड़ाही में ही बना रहे हैं तो इसमें थोड़ा सा गर्म पानी मिलाकर ग्रेवी तैयार कर सकते हैं।
  • अब इसमें स्वादानुसार नमक और एक चम्मच दालचीनी पाउडर मिला लें।
  • बस हिमाचली खट्टा पक कर तैयार है। इसमें बारीक कटे हुए किसमिस मिलाएं और चावल या रोटी के साथ सर्व करें।

नोट : इसमें राजमा के बजाय काबुली चने या काले चने का उपयोग भी कर सकते हैं। साथ ही प्याज वैकल्पिक है, अगर चाहें तो डाल सकते हैं, नहीं तो बिना प्याज के भी ये बना सकते हैं।

11. मक्के की रोटी और सरसों का साग

Maize bread and sarson ka saag

Shutterstock

सरसों द साग और मक्के दी रोटी, इस जोड़ी की बात ही निराली है। कहा जाता है कि सरसों का साग और मक्के की रोटी एक दूसरे के बिना अधूरे ही लगते हैं, लेकिन इन्हें अलग-अलग पकवानों के साथ भी खाया जा सकता है। यहां पर हम मक्के की रोटी और सरसों के साग की रेसिपी बता रहे हैं, जो कुछ इस प्रकार है:

सरसों के साग के लिए सामग्री:

  • एक किलो सरसों का साग
  • आधा किलो पालक साग
  • 3 टमाटर
  • 1 चम्मच जीरा
  • 250 ग्राम बथुआ साग
  • 100 ग्राम मेथी के पत्ते
  • 1 चम्मच बारीक कटा लहसुन
  • 1 चम्मच बारीक कटा अदरक
  • 2 हरी मिर्च
  • दो कप प्याज
  • आधा चम्मच हल्दी पाउडर
  • 1 चम्मच धनिया पाउडर
  • 1 चम्मच लाल मिर्च पाउडर
  • 1 से 2 कप मक्के का आटा
  • 2 चम्मच धनिया पत्ता बारीक कटा हुआ
  • स्वादानुसार नमक

मक्के की रोटी के लिए सामग्री:

  • 4 से 5 कप मक्के का आटा
  • एक गिलास गुनगुना पानी
  • स्वादानुसार नमक
  • आवश्यकतानुसार घी

सरसों का साग बनाने की वि​धि:

  • सबसे पहले सरसों, पालक, बथुआ और मेथी के पत्तों को काट लें।
  • अब इन्हें अच्छी तरह चुनकर धो लें।
  • फिर प्रेशर कुकर में आवश्यकतानुसार पानी डालकर इन्हें उबालने के लिए डाल दें।
  • अब दो से तीन सीटी आने तक साग को कुकर में पकाएं।
  • इस दौरान अदरक, हरी मिर्च और टमाटर का पेस्ट तैयार कर लें।
  • फिर दो से तीन सीटी आने के बाद कुकर का प्रेशर निकलने तक सब्जियों को अंदर ही रहने दें।
  • प्रेशर निकलने के बाद कुकर खोलकर सब्जियों को चेक कर लें।
  • सब्जियां जब उबल जाएंगी तो इसे मैशर की मदद से मैश कर लें।
  • अगर सब्जियां मोटी काटी हो तो मिक्सर में इसे दरदरा ग्राइंड कर सकते हैं।
  • अब एक पैन में 2-3 छोटे चम्मच सरसों तेल या घी गर्म करें।
  • फिर इसमें जीरा, हल्दी, धनिया पाउडर, प्याज डालकर धीमी आंच पर मसाले को भूनें।
  • अब इसमें दो चम्मच मक्के का आटा डालें और लगातार चलाते हुए हल्का सा भून लें।
  • फिर इसमें टमाटर, अदरक और मिर्ची की पयूरी डालें।
  • मसाले को तब तक भूनना है, जब तक मसाला तेल न छोड़ दे।
  • जब मसाले भूनकर तैयार हो जाए तो इसमें पके हुए साग डाल दें।
  • अब इसमें लाल मिर्च पाउडर, स्वादानुसार नमक और अपने हिसाब से पानी डालें, जितना गाढ़ा आपको चाहिए।
  • अब इसमें धनिया पत्ता डालें।
  • फिर 10-15 मिनट तक इसे ढककर मीडियम फ्लेम पर पकाएं और पकाने के दौरान इसे चलाते रहें, ताकि साग जले ना।
  • 10-15 मिनट बाद सब्जी को चेक करें, तैयार है स्वादिष्ट सरसों का साग।

मक्के की रोटी बनाने की विधि:

  • मक्के के आटे में पानी डालकर लगातार मसलते हुए सॉफ्ट कर लें।
  • इस दौरान रोटी बनाने के लिए गैस पर तवा गर्म करने के लिए चढ़ा दें।
  • अब आटे की एक बड़ी लोई लें।
  • फिर हाथ को थोड़ा पानी से गिला करें और मक्के के आटे की लोई दबाते हुए थोड़ा बड़ा करें।
  • अब दोनों हाथों की हथेलियों से दबा-दबाकर थोड़ी सी मोटी रोटी तैयार कर लें।
  • फिर तवे पर रोटी को सेंकने के लिए रख दें।
  • जब रोटी एक तरफ सिंक जाए तो उसे पलट दें।
  • जब दोनों तरफ रोटी सिंक जाए तो सीधे गैस की आंच पर दोनों तरफ व किनारों पर सेंकना है।
  • अब इसी तरह से सारी रोटियां बना लें।
  • फिर रोटियां तैयार हो जाए तो एक प्लेट में सरसों के साग और रोटी में घी लगाकर सर्व करें और इस डिश का आनंद लें।

12. कर्ड राइस

curd rice

Shutterstock

कर्ड राइस यानी दही भात दक्षिण भारत की एक प्रसिद्ध रेसिपी है। यह खाने में जितनी स्वादिष्ट होती है उतनी ही पौष्टिक है। यह आसान टेस्टी वेज रेसिपी में से एक है। खासतौर पर इसे गर्मियों के दिनों में खाया जा सकता है। इसे बनाने में चावल और दही का इस्तेमाल किया जाता है, जिसे सब्जी के साथ खा सकते हैं। तो कर्ड राइस की रेसिपी विस्तार से जानने के लिए नीचे पढ़ें।

सामग्री:

  • 2 कप चावल, नर्म पके हुए
  • 2 कप दही अच्छे से फेंटी हुई
  • नमक,स्वादानुसार
  • एक चम्मच नींबू का रस (वैकल्पिक)
  • 4 से 5 करी पत्ता
  • हरा धनिया, गर्निश के लिए
  • आधा छोटा चम्मच सरसों के बीज
  • आधा चम्मच उरद की दाल (वैकल्पिक)
  • आधा चम्मच जीरा
  • 2 साबूत सूखी लाल मिर्च
  • 1 हरी मिर्च बारीक कटी हुई
  • आवश्यकतानुसार कुकिंग ऑयल या घी

बनाने की वि​धि:

  • अब एक कटोरी में पके हुए चावल लें।
  • फिर चावल स्वादानुसार नमक और दही डालकर अच्छे से मिला लें।
  • फिर बारीक कटी हुई हरा धनिया से गर्निश करें।
  • अब एक पैन में तेल या घी गर्म करें।
  • फिर उसमें सरसों के दानें, जीरा, उरद की दाल डालकर हल्का ब्राउन होने तक सिंकने दें।
  • अब हरी मिर्च, साबूत लाल मिर्च और करी पत्ता भून लें और फिर इससे कर्ड राइस में तड़का लगाएं।
  • इस तरह कर्ड राइस बनकर तैयार है, इसका स्वाद बढ़ाने के लिए इसमें नींबू का रस भी मिला सकते हैं।

13. गाजर का हलवा

Sweet made with carrot

Shutterstock

इंडियन रेसिपी की बात हो और मीठा न हो ऐसा हो ही नहीं सकता है। गाजर का हलवा एक स्वादिष्ट वेज रेसिपी है, जो किसी के भी मुंह में पानी ला सकता है। तो इंडियन रेसिपी को इस आसान स्वीट रेसिपी से पूरा करें, जिसे कुछ इस तरह बनाएं:

सामग्री:

  • 1 किलो गाजर
  • 2 लीटर दूध
  • 8 छोटी इलायची
  • 5-6 चम्मच घी
  • चीनी, स्वादानुसार
  • 2 चम्मच किशमिश
  • 8 से 10 बादाम बारीक कटे हुए
  • 3 से 4 खजूर बीज हटाकर बारीक कटे हुए
  • चाहें तो आप मिक्सड ड्राई फ़्रूट भी उपयोग कर सकते हैं।

बनाने की वि​धि:

  • गाजर को अच्छे से धोकर छील लें और फिर इसे कद्दूकश कर लें।
  • इसके बाद एक पैन में दूध को उबालें और इसमें इलायची को छीलकर उसके बीज मिलाएं।
  • अब कड़ाही में घी गर्म करें और उसमें गाजर भून लें।
  • 5 मिनट बाद भूने हुए गाजर में गर्म किया हुआ दूध मिलाएं।
  • धीमी आंच पर 10 से 15 मिनट के लिए इसे पकाएं और बीच-बीच में इसे चलाते भी रहें।
  • जब हलवा पककर तैयार हो जाए, तो सबसे आखिरी में इसमें चीनी मिलाएं और सर्व करते समय बारीक कटे हुए ड्राई फ्रूट्स से गर्निश करें।
  • चाहें तो गाजर का हलवा बनाते वक्त भी इसमें ड्राई फ़्रूट मिला सकते हैं।

14. जलेबी

Syrup field rings

Shutterstock

जलेबी को भारत की पारंपरिक मिठाई कहा जा सकता है। इसका मीठा स्वाद और कुरकुरा मिजाज हर किसी के मन को आसानी से लुभा सकता है। एक तरफ मध्य प्रदेश में जहां लोग पोहे के साथ जलेबी को बड़े चाव से खाते हैं, वहीं, उत्तर प्रदेश में लोग दही के साथ जलेबी को बड़े ही खुश मन से खाना पसंद करते हैं।

जलेबी बैटर के लिए सामग्री:

  • आधा कप मैदा
  • 2 चम्मच बेसन
  • 1 चम्मच चावल का आटा
  • 2 बड़ा चम्मच दही
  • चुटकीभर हल्दी फूड कलर के तौर पर
  • चुटकीभर बेकिंग सोडा या आधा इनो
  • तलने के लिए रीफाईन तेल
  • एक मलमल का कपड़ा या सॉस बॉटल या स्क्वीजर जलेबी को आाकर देकर तलने के लिए

चाशनी के लिए सामग्री:

  • आधा कप चीनी
  • एक तिहाई कप पानी
  • 1 चम्मच इलायची पाउडर
  • 1 चम्मच दूध या नींबू का रस

चाशनी बनाने की विधि:

  • गहरे पैन में पानी और चीनी मिलाकर उसे धीमी आंच पर पकने दें।
  • जब उसमें झाग जैसा दिखाई देने लगे तो दूध या नींबू का रस मिलाएं।
  • इसके बाद इलायची पाउडर मिलाएं।
  • अब ऊंगली पर इस चाशनी की एक बूंद लें। अगर तार बनता दिखाई दे, तो चाशनी तैयार है, और अगर ऐसा नहीं होता है, तो इसे
  • कुछ मिनट के लिए और गर्म कर सकते हैं।
  • फिर गैस बंद कर दें।
  • इस तैयार चाशनी को ढककर एक तरफ रख दें।

जलेबी बनाने की विधि:

  • एक बर्तन में मैदा, चावल का आटा, बेसन और हल्दी मिलाएं।
  • दही और थोड़ा-थोड़ा पानी मिलाकर अच्छे से इसका गाढ़ा बैटर तैयार करें।
  • अब इसे 5 मिनट के लिए ढककर सेट होने के लिए रख दें।
  • 5 मिनट के बाद इसमें बेकिंग सोडा या इनो मिलाएं, ताकि यह फूल सके।
  • अब इसे मलमल के कपड़े से बनाए गए कोन या स्क्वीजर में भरें।
  • फिर एक कड़ाही में तेल डालें।
  • तेल गर्म होने पर उसमें बैटर से जेलबी को मनचाहा आकार देते हुए तले।
  • भूरा होने पर इसे तेल से छान लें फिर चाशनी में भिगो दें।
  • 1 मिनट बाद चाशनी से निकाल कर गर्मा-गरम जलेबी सर्व करें और खाएं।

15. बैंगन का भरता

brinjal filling

Shutterstock

कुछ लोग बैंगन का नाम सुनते ही नाक सिकोड़ लेते हैं, तो वहीं कुछ लोग बड़े ही खुश मन से बैंगन से बने पकवान खाते हैं। अगर किसी को बैंगन पसंद है, तो वे टेस्टी इंडियन रेसिपी में बैंगन का भरता शामिल कर सकते हैं। यह एक आसान वेज इंडियन रेसिपी है, जिसे कुछ इस प्रकार बनाएं:

सामग्री:

  • मध्यम आकार के 2 बैंगन
  • 2 चम्मच सरसों का तेल
  • 2 बारीक कटे टमाटर
  • 2 बारीक कटे प्याज (वैकल्पिक)
  • एक कप छीला हुआ हरा मटर,
  • उबले मटर का उपयोग भी कर सकते हैं या भरता बनाते समय मटर तेल में कुछ देर के लिए पका भी सकते हैं।
  • 2 बारीक कटी हुई हरी मिर्च
  • 1 छोटा टुकड़ा अदरक, बारीक कटा हुआ
  • चुटकी भर हींग (वैकल्पिक)
  • आधा छोटा चम्मच जीरा
  • आधा छोटा चम्मच हल्दी पाउडर
  • 1 चम्मच धनिया पाउडर
  • आधा छोटा चम्मच लाल मिर्च पाउडर
  • चुटकी भर गरम मसाला पाउडर
  • स्वादानुसार नमक
  • 2 चम्मच बारीक कटा हरा धनिया

बनाने की विधि:

  • सबसे पहले बैंगन को धो लें।
  • अब बैंगन काटकर देख लें कि कहीं उसमें कीड़े या बैंगन सड़ा हुआ तो नहीं है।
  • फिर बैंगन में तेल लगा लें।
  • अगर अवन में भून रहे हैं तो लगभग 6 से 7 मिनट का टाइमर सेट कर सकते हैं।
  • वहीं, अगर गैस पर भून रहे हैं, तो एक तरफ भूनने के बाद इसे दूसरी तरफ पलटते हुए चारों तरफ से भून लें। ध्यान रखें इस दौरान बैंगन जले नहीं।
  • अब भूने हुए बैंगन का चाकू की मदद से छिलका हटा दें और उसे किसी बर्तन में मसल लें।
  • अब कड़ाही में तेल गर्म करें।
  • तेल में हींग और जीरा डालकर धीमी आंच पे भून लें।
  • अब इसमें हरी मिर्च और अदरक को भून लें।
  • इसके बाद इसमें हल्दी पाउडर, धनिया पाउडर, गरम मसाला और लाल मिर्च पाउडर डालकर 1 मिनट तर धीमी आंच पर भून लें।
  • अगर मटर के दाने उबले हुए हैं, तो उसे सबसे आखिरी में मिलाएं। यदि मटर के दाने तेल में पकाने हैं, तो सारे मसाले भूनने के दौरान इसमें मटर मिला दें और ढककर इसे धीमी आंच पर 5 से 7 मिनट के लिए पकाएं।
  • मटर के पकने के बाद इसमें कटे हुए प्याज व टमाटर मिलाएं, जल्दी पकने के लिए इसमें थोड़ा नमक मिलाएं और ढककर 2 मिनट तक पकाएं।
  • प्याज-टमाटर के नरम होने पर उसे चलाएं और जब मसालों के ऊपर तेल दिखाई देने लगे, तो इसमें मसले हुए बैंगन मिला दें।
  • अगर ऊबली हुई मटर का इस्टेमाल कर रहे हैं, तो अंत में उबले हुए मटर मिलाएं।
  • फिर नमक मिलाकर इसे 2 से 3 मिनट तक अच्छे से चलाएं, ताकि नमक अच्छे से मिल जाए।
  • ध्यान रहे प्याज-टमाटर को पकाने के लिए भी हमने नमक डाला था इसलिए नमक उसी अनुसार ही मिलाएं।
  • फिर गैस बंद करें दें और बस तैयार है स्वादिष्ट वेज रेसिपी वाला बैंगन का भरता।
  • इसे रोटी, पराठे या चावल-दाल के साथ खाएं।

टेस्टी इंडियन रेसिपी में ऐसे कई डिश है, जिन्हें आप बड़े ही चाव से खा सकते हैं। स्वादिष्ट वेज रेसिपी में शामिल ये फूड मांसाहारी लोगों को भी काफी पसंद आ सकते हैं। देखा जाए, तो वेज इंडियन रेसिपी की लिस्ट बहुत ही बड़ी है। उन सबका जिक्र कर पाना मुमकिन नहीं हो सकता है। हालांकि, हमने कोशिश की है कि यहां ज्यादा से ज्यादा प्रसिद्ध वेज इंडियन रेसिपी के बारे में जानकारी दें। उम्मीद है कि यहां पर बताए गए आसान और टेस्टी वेज रेसिपीज की जानकारी आपको पसंद आई होगी। इन टेस्टी इंडियन रेसिपीज को आप खुद से घर में बना सकते हैं और अपने करीबियों को खाने पर भी आमंत्रित कर, अपनी शेफ की कला उन्हें भी दिखा सकते हैं। इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा शेयर कर हर किसी को इन आसान और झटपट बनने वाली टेस्टी इंडियन रेसिपीज के बारे में बताएं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

सबसे ज्यादा स्वादिष्ट भारतीय खाना कौन सा है?

भारत में हर राज्य के खाने की अपनी अलग-अलग खासियत व स्वाद है। वहीं, हर किसी की पसंद और स्वाद अलग-अलग है। ऐसे में कोई एक डिश बता पाना शायद ही मुमकिन हो, लेकिन फिर भी हम कुछ स्वादिष्ट भारतीय खाने के बारे में जानकारी दे रहे हैं, जिनका लुत्फ उठाया जा सकता है। इनमें कुछ खास नाम इस प्रकार हैं:

  • मसाला डोसा
  • पोहा
  • इडली
  • बिरियानी
  • उपमा
  • वडा पाव
  • ढोकला
  • मटर पनीर
  • तंदूरी चिकन
  • पुलाव

सुबह के नाश्ते में भारतीय लोग आमतौर पर किस तरह के पकवान खाते हैं?

भारत में हर राज्य के नाश्ते की अपनी खासियत और स्वाद है। आमतौर पर अधिकतर भारतीय सुबह के समय कम तेल युक्त और शरीर को ऊर्जा देने वाले पकवान को खाना अधिक पसंद करते हैं, जैसेः

  • ओट्स
  • इडली
  • पराठा
  • थेपला
  • मूंग दाल चीला
  • दोसा
  • वड़ा-पाव
  • आलू के पराठे
  • सत्तू के पराठे

शाकाहारी भोजन के तौर पर भारत में दोपहर के समय क्या खा सकते हैं?

अगर आप शाकाहारी हैं, तो दोपहर के भोजन के तौर पर आपको कई तरह स्वादिष्ट डिशेज का विकल्प मिल सकता है, जिसमें शामिल हैंः

  • अरहर, तुअर, मूंग या उड़द की दाल। आप चाहें तो किसी दो दाल या सभी दालों को मिक्स करके भी पका सकते हैं और दोपहर के भोजन में शामिल कर सकते हैं।
  • आलू प्याज की सब्जी।
  • पालक पनीर।
  • राजमा-चावल।
  • कढ़ी चावल।
  • मलाई कोफता।
  • सूप।
  • मशरूम।
  • चने की सब्जी।
  • कद्दू की सब्जी और रोटी।
  • छोले मसाला।
  • मटर पनीर।
  • पनीर भुर्जी।

शाकाहारी भोजन के तौर पर भारत में रात के समय क्या खा सकते हैं?

अगर आप शाकाहारी हैं, तो रात के खाने में विभिन्न पकवानों का लुत्फ उठा सकते हैंः

  • मखाना कढ़ी।
  • जुकीनी की कढ़ी या सब्जी।
  • तुरई की सब्जी।
  • मिक्स दाल तड़का।
  • पालक का साग या सब्जी।
  • मेथी के पराठे।
  • रोटी और आलू-गोभी की सब्जी।
  • रोटी/पराठा और आलू मटर की सब्जी।
  • मिक्स वेज सब्जी।

भारत में कितने शाकाहारी व्यंजन हैं?

वेज इंडियन रेसिपीज की गिनती की बात की जाए, तो इसका सटीक अनुमान लगाना मुश्किल है। देखा जाए तो ये अनगिनत हैं। फिर भी अगर अनुमान लगाया जाए तो पूरे भारत वर्ष में आप 800 से भी अधिक भारतीय शाकाहारी व्यंजनों का लुत्फ उठा सकते हैं। भारत के कुछ लोकप्रिय और स्वादिष्ट वेज इंडियन रेसिपी, जैसे – पालक पनीर, वेज बिरयानी, आलू गोभी सब्जी, मलाई कोफ्ता, पुलाव और नान जैसे कई भारतीय व्यंजन आसानी से आपके भी पसंदीदा शाकाहारी पकवानों में शामिल हो सकते हैं।

Was this article helpful?
The following two tabs change content below.
अर्पिता ने पटना विश्वविद्यालय से मास कम्यूनिकेशन में स्नातक किया है। इन्होंने 2014 से अपने लेखन करियर की शुरुआत की थी। इनके अभी तक 1000 से भी ज्यादा आर्टिकल पब्लिश हो चुके हैं। अर्पिता को विभिन्न विषयों पर लिखना पसंद है, लेकिन उनकी विशेष रूचि हेल्थ और घरेलू उपचारों पर लिखना है। उन्हें अपने काम के साथ एक्सपेरिमेंट करना और मल्टी-टास्किंग काम करना पसंद है। इन्हें लेखन के अलावा डांसिंग का भी शौक है। इन्हें खाली समय में मूवी व कार्टून देखना और गाने सुनना पसंद है।

ताज़े आलेख