घरेलू उपचार

कान में दर्द के कारण और घरेलू उपचार – Earache (Ear Pain) Home Remedies in Hindi

by
कान में दर्द के कारण और घरेलू उपचार – Earache (Ear Pain) Home Remedies in Hindi Hyderabd040-395603080 July 26, 2019

कान में होने वाला दर्द सामान्य से लेकर कई गंभीर कारणों की वजह से हो सकता है। अगर समय रहते कान के दर्द का उपचार नहीं किया गया, तो यह कई शारीरिक समस्याएं पैदा कर सकता है। कई बार कान का दर्द असहनीय हो जाता है और ऐसी स्थिति में अगर घर पर दवा न हो, तो ज्यादा मुश्किल हो जाती है। इस लेख में हम कान दर्द के कारण के साथ कान दर्द का घरेलू उपचार बताने जा रहे हैं, जिससे आपको वक्त रहते आराम मिल सकता है।

कान में दर्द के कारण – Causes of Earache Hindi

कान का दर्द कई कारणों से हो सकता है। निम्नलिखित बिंदुओं के माध्यम से जानिए कान में दर्द होने के कुछ सामान्य कारण (1)।

  • जबड़े में गठिया
  • कान से जुड़ा संक्रमण
  • कान में चोट लगने से
  • कान के परदे में छेद होने पर
  • साइनस
  • गले में समस्या होने के कारण भी कान में दर्द हो सकता है।
  • दांत से जुड़ा रोग भी आपके कान में दर्द का कारण बन सकता है।

इस लेख के आगे के भाग में हम कान दर्द का घरेलू उपचार की जानकारी देंगे।

कान दर्द के घरेलू उपचार – Home Remedies for Ear Pain in Hindi

कान का दर्द कभी भी अचानक शुरू हो सकता है। ऐसे में तुरंत डॉक्टर के पास जाना संभव नहीं हो पाता है। इसलिए, कान का दर्द के घरेलू उपचार की जानकारी होना आवश्यक है। नीचे जानिए कुछ सटीक कान के दर्द के घरेलू इलाज।

1. अदरक कान दर्द की दवा के रूप में

Ginger as a pain medication Pinit

Shutterstock

सामग्री :
  • एक चम्मच कद्दूकस किया हुआ अदरक
  • दो बड़े चम्मच जैतून का तेल
  • इयर ड्रॉपर
कैसे करें इस्तेमाल :
  • अदरक को पीसकर जैतून के तेल के साथ मिलाएं।
  • लगभग 10 मिनट बाद इस मिश्रण की दो बूंदें इयर ड्रॉपर की मदद से कान में डालें।
कितनी बार करें :
  • इस उपाय को दिन में दो बार करें।
कैसे है लाभदायक :

अदरक कान दर्द की दवा के रूप में काम कर सकता है। यह एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटी-बैक्टीरियल गुणों से समृद्ध होता है। इसमें दर्द निवारक गुण भी मौजूद होते हैं, जिससे कान दर्द से निजात पाने में मदद मिल सकती है (2)।

2. लहसुन

सामग्री :
  • पांच लहसुन की कलियां
  • आधा कप जैतून का तेल
  • 20 बूंदें नीलगिरी का तेल
कैसे करें इस्तेमाल :
  • लहसुन की कलियों को कुचलें।
  • फिर उन्हें जैतून और नीलगिरी तेल के साथ गर्म करें।
  • मिश्रण को ठंडा होने दें।
  • अब दो-तीन बूंदें कान में डालें।
कितनी बार करें :
  • जब तक कान दर्द ठीक नहीं होता, रोजाना दो बार इसका उपाय करें।
कैसे है लाभदायक :

लहसुन का इस्तेमाल नेचरोपैथिक इलाज में भी किया जाता है। इसमें एंटी-बैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण पाए जाते हैं, जो कान के संक्रमण से छुटकारा दिलाने का कार्य कर सकते हैं (3)। कान दर्द के इलाज के लिए लहसुन का प्रयोग किया जा सकता है।

3. सेब का सिरका

सामग्री :
  • सेब का सिरका
  • इयर ड्रॉपर
कैसे करें इस्तेमाल :
  • ड्रॉपर से सेब के सिरके की कुछ बूंदें कान में डालें।
  • फिर इसे सूखने दें।
कितनी बार करें :
  • हर 12 घंटे में डालें
कैसे है लाभदायक :

सेब का सिरका एंटी-इफेक्टिव गुणों से समृद्ध होता है। विनेगर अन्य संक्रमणों के साथ-साथ कान से जुड़े संक्रमणों पर भी प्रभावी रूप से काम कर सकता है। अगर कान दर्द की वजह से कोई संक्रमण है, तो यहां विनेगर एक कारगर कान दर्द का घरेलू इलाज साबित हो सकता है (4)।

4. पुदीना का तेल

सामग्री :
  • एक मुट्ठी पुदीने के पत्ते
  • आधा कप जैतून का तेल
कैसे करें इस्तेमाल :
  • पुदीना के पत्ते को कुचलें और जैतून के तेल में गर्म करें।
  • एक-दो मिनट के लिए तेल में डुबो कर रखें।
  • फिर तेल की दो बूंदें कान में डालें।
कितनी बार करें :
  • दिन में दो बार उपयोग करें
 कैसे है लाभदायक :

कान दर्द का इलाज करने के लिए पुदीने के तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है। पुदिना विटामिन-सी से समृद्ध होता है और विटामिन-सी को कारगर दर्द निवारक के रूप में जाना जाता है। पुदीने में मौजूद विटामिन-सी कान दर्द पर प्रभावी असर दिखा सकता है (5), (6)।

5. जैतून का तेल

Olive oil Pinit

Shutterstock

सामग्री :
  • जैतून का तेल (आवश्यकतानुसार)
कैसे करें इस्तेमाल :
  • जैतून के तेल को गर्म करें और ठंडा होने के लिए अलग रख दें।
  • अब तेल की दो से तीन बूंदें कान में डालें।
कितनी बार करें :
  • कान दर्द से जल्द निजात पाने के लिए आप यह उपाय दिन में दो बार कर सकते हैं।
कैसे है लाभदायक :

जैतून का तेल कान दर्द का घरेलू उपचार के लिए किया जा सकता है। एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार, जैतून तेल में मौजूद विटामिन-ई कान से संक्रमण पर प्रभावी असर दिखा सकता है, जिससे कान दर्द से राहत मिल सकती है (7)।

6. सरसों का तेल

सामग्री :
  • सरसों का तेल
कैसे करे उपयोग :
  • सरसों के तेल को गर्म कर लें और थोड़ी देर के लिए ठंडा होने दें।
  • रात में सोने से पहले 2 से 3 बूंदें कान में डालें।
कितनी बार करें :
  • दर्द कम न हो तक दोहराते रहें।
कैसे है लाभदायक :

कान में दर्द के लिए सरसों तेल का चलन काफी पुराना है। ऐसा माना जाता है कि सहने योग्य गर्म सरसों का तेल कान दर्द से निजात दिलाने का काम कर सकता है। इस बात की वैज्ञानिक पुष्टि के लिए अभी और शोध की आवश्यकता है (8)।

7. नीलगिरी का तेल

सामग्री :
  • नीलगिरी का तेल
  • एक-दो चम्मच गुनगना पानी
  • एक इयर ड्रॉपर
कैसे करें उपयोग
  • गुनगुने पानी में नीलगिरी तेल की कुछ बूंदें मिलाएं।
  • अब ड्रॉपर की मदद से तेल की दो-तीन बूंदें कान में डालें।
कैसे है लाभदायक :

कान दर्द के लिए नीलगिरी तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है। नीलगिरी के तेल में दर्द निवारक गुण होते हैं, जो कान दर्द पर प्रभावी असर दिखा सकते हैं (9)।

8. कान दर्द के दवा के लिए तुलसी

सामग्री :
  • तुलसी का तेल
  • नारियल का तेल
कैसे करे उपयोग :
  • तुलसी और नारियल के तेल को मिला लें।
  • फिर इसकी कुछ बूंदें कान में डालें।
कैसे है लाभदायक :

तुलसी का तेल आपको आसानी से मिल जाएगा, जो कान दर्द का घरेलू तरीके से इलाज करने में अधिक सहायक हो सकता है। इसमें कान के इन्फेक्शन से राहत दिलाने वाले गुण पाए जाते हैं, जो दर्द कम करने में लाभदायक होते हैं (10)।

9. नमक

salt Pinit

Shutterstock

सामग्री :
  • तीन से चार चम्मच नमक
  • साफ सूती का कपड़ा
कैसे करें उपयोग :
  • नमक को सबसे पहले गर्म कर लें।
  • फिर साफ सूती कपड़े में गर्म नमक को बांध लें।
  • अब कान के आसपास सिकाई करें।
कितनी बार करें :
  • जरूरत पड़ने पर इस उपाय को करें।
कैसे है लाभदायक :

कान के दर्द से छुटकारा पाने के लिए कान के आसपास कपड़े से सिकाई लंबे समय से की जा रही है (11), लेकिन नमक के साथ कपड़े की सिकाई, कान दर्द के लिए कितनी फायदेमंद है, इस पर सटीक वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है।

10 . गरम पानी

सामग्री :
  • 500ml गुनगुना पानी
  • 500ml की बोतल
कैसे करें उपयोग :
  • गुनगने पानी को बोतल में डालें।
  • फिर बोतल से कान के आसपास सिकाई करें।
कितनी बार करें :
  • जरूरत पड़ने पर इस उपाय को करें।
कैसे है लाभदायक :

जब बात कान दर्द के घरेलू तरीके की हो रही है, तो हम गुनगुने पानी को कैसे भूल सकते हैं। गुनगुने पानी को बोतल में डालकर कान के आसपास सिकाई करने से कान दर्द की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है (12)।

11. विटामिन-सी

सामग्री :
  • विटामिन-सी युक्त तेल (आवश्यकतानुसार)
  • इयर ड्रॉपर
कैसे करें उपयोग :
  • तेल को गर्म करें और ठंडा करके ड्रॉपर में डालें।
  • अब तेल की दो से तीन बूंदें कान में डालें।
कितनी बार करें :
  • जरूरत पढ़ने पर यह उपाय करें।
कैसे है लाभदायक :

विटामिन-सी में दर्द निवारक गुण पाए जाते हैं, जो कान के दर्द में प्रभावी असर दिखा सकते हैं (6)। इसे कान दर्द की दवा के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।

12. नारियल तेल

Coconut oil Pinit

Shutterstock

सामग्री :
  • नारियल तेल आवश्यकतानुसार
  • इयर ड्रॉपर
कैसे करें इस्तेमाल :
  • तेल गर्म करें और हल्का ठंडा होने के लिए कुछ देर रख दें।
  • अब ड्रॉपर की मदद से तेल की कुछ बूंदें कान में डालें।
कितनी बार करें :
  • जब भी दर्द का महसूस हो, इस उपाय को करें।
कैसे है लाभदायक :

नारियल का तेल एनाल्जेसिक (दर्द निवारक) गुण से समृद्ध होता है, जो कान के दर्द को ठीक करने का काम कर सकता है (13)। कान दर्द के घरेलू इलाज के लिए नारियल तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है।

13. अरंडी का तेल

सामग्री :
  • अरंडी का तेल
  • इयर ड्रॉपर
कैसे करें इस्तेमाल :
  • अरंडी के तेल को हल्का गर्म करें।
  • ड्रॉपर की मदद से कान में इसकी दो बूंदें डालें।
कितनी बार करें :
  • जब भी कान दर्द हो, इस उपाय को करें।
कैसे है लाभदायक :

कान दर्द के घरेलू उपाय के रूप में अरंडी का तेल एक कारगर विकल्प हो सकता है। दरअसल, यह एनाल्जेसिक (दर्द निवारक) और एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों से समृद्ध होता है, जो कान दर्द को ठीक करने के साथ-साथ कान की सूजन दूर करने का काम भी कर सकता है (14)।

  • 14. लैवेंडर का तेल
सामग्री :
  • लैवेंडर तेल की कुछ बूंदें
  • जैतून तेल की कुछ बूंदें
कैसे करें इस्तेमाल :
  • सबसे पहले जैतून के तेल को हल्का गर्म कर लें।
  • फिर इसमें लैवेंडर तेल मिलाएं।
  • अब कॉटन बॉल की मदद से कान के द्वार और कान के आसपास तेल लगाएं।
कितनी बार करें :
  • कान दर्द के दौरान दिन में दो बार इस उपाय को करें।
कैसे है लाभदायक :

लैवेंडर के तेल को कान दर्द का इलाज करने में उपयोग किया जा सकता है। इस खास तेल का इस्तेमाल प्राकृतिक चिकित्सा में किया जाता है और एक अध्ययन के अनुसार, लैंवेंडर का तेल कान दर्द से निजात दिलाने में मदद कर सकता है (7)।

15. प्याज का रस

सामग्री :
  • एक छोटा प्याज
कैसे करें उपयोग :
  • सबसे पहले प्याज को बारीक काट लें।
  • फिर एक सूती रूमाल लें और उसमें कटा हुआ प्याज बांध लें।
  • अब इस रूमाल को कान पर रखें और स्कार्फ से हल्का बांध लें, ताकि रूमाल अपनी जगह पर टीका रहे।
कितनी बार करें :
  • रात को सोने से पहले इस उपाय को करें।
कैसे है लाभदायक :

कान दर्द का घरेलू उपचार करने के लिए प्याज का इस्तेमाल लंबे समय से किया जा रहा है। कान दर्द और कान के संक्रमण को दूर करने के लिए प्याज का प्रयोग कारगर साबित हो सकता है (15)।

16. मिनरल ऑयल

सामग्री :
  • मिनरल ऑयल की कुछ बूंदें
कैसे करें इस्तेमाल :
  • इस तेल की एक-दो बूंदें दर्द वाले कान में डालें।
कैसे है लाभदायक :

कान के दर्द का एक कारण, कान में जमने वाली मैल होती है। यहां मिनरल ऑयल आपकी मदद कर सकता है। एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार, मिनरल ऑयल कान के सख्त मैल को मुलायम बनाकर बाहर निकालने का काम करता है (16), लेकिन स्टाइलक्रेज आपको सलाह देता है कि इस कान साफ के घरेलू उपाय को करने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर कर लें।

17. ओरिगैनो तेल

Organo oil Pinit

Shutterstock

सामग्री :
  • अजवाइन के तेल की कुछ बूंदें
  • जैतून के तेल की कुछ बूंदें
कैसे करें इस्तेमाल
  • जैतून के तेल को हल्का गर्म करें और उसमें अजवाइन तेल की कुछ बूंदें मिलाएं।
  • फिर कॉटन बॉल की मदद से तेल को कान के द्वार और कान के आसपास लगाएं।
कितनी बार करें :
  • दिन में दो बार इस उपाय को करें।
कैसे है लाभदायक :

अजवाइन का तेल एनाल्जेसिक (दर्द निवारक) गुणों से समृद्ध होता है (17)। अजवायन तेल का यह गुण कान में दर्द का इलाज करने में आपकी मदद कर सकता है।

18. मां का दूध

सामग्री :
  • मां का दूध
  • इयर ड्रॉपर
कैसे करें इस्तेमाल :
  • एक ड्रॉपर की मदद से दूध की कुछ बूंदें कान के द्वार पर डालें।
कितनी बार करें :
  • दिन में तीन-चार बार इस उपाय को करें।
कैसे है लाभदायक :

ब्रेस्ट मिल्क में एंटीबॉडी गुण पाया जाता है, जो संक्रमण को दूर करने काम करता है (18), (19)। कान से संक्रमण को दूर करने के लिए एंटीबॉडी एक प्रभावी विकल्प हो सकता है, लेकिन अभी इस पर और शोध की आवश्यकता है।

19. हाइड्रोजन पेरोक्साइड

सामग्री :
  • डाइल्यूटेड हाइड्रोजन पेरोक्साइड
  • गुनगना पानी
  • इयर ड्रॉपर
  • दो-तीन इयरबड्स
कैसे करें इस्तेमाल :
  • सबसे पहले बराबर मात्रा में हाइड्रोजन पेरोक्साइड और गुनगुने पानी को मिलाएं।
  • अब डॉपर की मदद से इस मिश्रण की कुछ बूंदें कान में डालें।
  • कुछ मिनट के लिए मिश्रण को कान में रहने दें।
  • बाद में इयरबड्स से कान साफ कर लें।
कैसे है लाभदायक :

जैसा कि हम पहले बता चुके हैं कि कान में जमी मैल (ear wax) कान दर्द का कारण बन सकती है (16)। कान में जमी मैल साफ करने के लिए हाइड्रोजन पेरोक्साइड एक प्रभावी विकल्प हो सकता है (20), लेकिन स्टाइलक्रेज आपको सलाह देता है कि इस उपाय को करने से पहले एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर कर लें।

20. कोलाइडयन चांदी

सामग्री :
  • कोलाइडयन सिल्वर
  • इयर ड्रॉपर
  • दो-तीन इयरबड्स
कैसे करें इस्तेमाल :
  • ड्रॉपर की मदद से कोलाइडयन सिल्वर की दो-तीन बूंदें कान में डालें।
  • थोड़ी देर इस तरल को कान में रहने दें।
  • बाद में इयरबड्स से कान साफ कर लें।
कितनी बार करें :
  • जरूरत पड़ने डॉक्टरी सलाह पर यह उपाय करें।
कैसे है लाभदायक :

कान के दर्द की इलाज में कोलाइडल सिल्वर भी काम आता है। कान का दर्द, कान में जमने वाले इयर वैक्स की वजह से भी होता है (16)। इस स्थिति में आप कान से इयर वैक्स निकालने के लिए कोलाइडयन सिल्वर का उपाय अपना सकते हैं (20)। आप इस उपाय को डॉक्टरी परामर्श पर ही करें।

आगे हम बता रहे हैं कि डॉक्टर से कब सलाह लेनी चाहिए।

कान में दर्द के लिए डॉक्टर की सलाह कब लेनी चाहिए?

कान से संबंधित छोटी समस्या को बड़ा रूप लेने में समय नहीं लगता, इसलिए नीचे बताए गए लक्षण दिखाई दे, तो आप डॉक्टर से संपर्क जरूर करें (1)।

  • कान दर्द के साथ बुखार आना
  • तेज सिरदर्द
  • कान के आसपास सूजन
  • चेहरे पर कमजोरी दिखना
  • चिड़चिड़ापन
  • चक्कर आना

नोट : अगर ऊपर बताए गए कान दर्द का घरेलू उपचार भी असर न करें, तो डॉक्टर से सलाह लें ।

कान में होने वाले दर्द को नजरअंदाज न करें। इसके बढ़ने से पहले, इसका उपचार आपके लिए सही होगा। इस लेख में आपको, कान दर्द के घरेलू उपचार बताए गए हैं, जिन्हें आप प्रयोग में ला सकते हैं। हो सकता है, कान के दर्द के घरेलू उपचार के बाद भी, कान का दर्द कम नहीं हो रहा है, तो ऐसी स्थिति में आप डॉक्टर से जरूर संपर्क करें। आशा है कि यह लेख आपके लिए मददगार साबित होगा। सुझावों और सवालों के लिए, आप कमेंट बॉक्स की मदद ले सकते हैं।

संबंधित आलेख