सामग्री और उपयोग

केले के छिलके के 8 फायदे, उपयोग और नुकसान – Banana Peel Benefits in Hindi

by
केले के छिलके के 8 फायदे, उपयोग और नुकसान – Banana Peel Benefits in Hindi Hyderabd040-395603080 January 2, 2020

क्या आप जानते हैं कि केले के साथ-साथ उसके छिलके में भी कई ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। केला का छिलका आपको कई गंभीर समस्याओं से छुटकारा दिलाने में मदद कर सकता है। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम आपको केले के छिलके के उपयोग और फायदों के बारे में बताएंगे। बेशक, केले का छिलका गुणकारी है, लेकिन यह घरेलू नुस्खा किसी बीमारी का इलाज नहीं हो सकता। यह आपको बीमारी से उबरने में मदद जरूर कर सकता है। इसलिए, इसके उपयोग से पहले अपने डॉक्टर से यह जरूर सुनिश्चित कर लें कि यह आपके लिए फायदेमंद होगा कि नहीं।

लेख में आगे बढ़ते हुए अब हम केले के छिलके के फायदे जान लेते हैं।

केले के छिलके के फायदे – Benefits of Banana Peel in Hindi

1. दांतों को बनाए चमकदार

दांतों को चमकदार बनाने के लिए केले के छिलके का उपयोग बेहतर घरेलू नुस्खा साबित हो सकता है। दरअसल, इसमें पोटैशियम, मैग्नीशियम और मैंगनीज की अच्छी मात्रा माई जाती है। ये दांतों में अवशोषित होकर उन्हें सफेद और चमकदार बनाने में मदद कर सकते हैं। इस कारण यह माना जा सकता है कि दांतों को चमकदार बनाने में केले का छिलका मदद कर सकता है। केले के छिलके के फायदे पाने के लिए आप इसके एक टुकड़े को लेकर दांतों पर कुछ देर घिस सकते हैं (1)

2. मस्सों से दिलाए छुटकारा

मस्सों की समस्या में भी केले के छिलके के लाभ हासिल किए जा सकते हैं। दरअसल, इस संबंध में किए गए एक शोध में माना गया है कि केले के छिलके में कुछ खास तत्व पाए जाते हैं, जो मस्सों से छुटकारा दिलाने में सहायक साबित हो सकते हैं (2)। इसके लिए आप केले के छिलके के टुकड़े को मस्से वाले स्थान पर रात भर के लिए रख सकते हैं। इस प्रक्रिया को नियमित अपनाने से मस्सा धीरे-धीरे खत्म हो सकता है।

3. मुंहासों से करे बचाव

केले के छिलके में एंटी-माइक्रोबियल (बैक्टीरिया को नष्ट करने वाले) और एंटी-ऑक्सीडेंट (सूजन को कम कर त्वचा को रिपेयर करने में सहायक) गुण पाए जाते हैं। यह गुण मुंहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया को नष्ट करके त्वचा को फिर से ठीक करने में मदद कर सकता है। इस कारण यह कहा जा सकता है कि मुंहासों से छुटकारा पाने में केले के छिलके के गुण आपकी मदद कर सकते हैं (3)। इसके लिए आप केले के छिलके को पीसकर उसका फेसपैक लगा सकते हैं या छिलके को प्रभावित त्वचा पर सीधे रगड़ कर उपयोग कर सकते हैं।

4. सोराइसिस में लाभदायक

सोराइसिस की समस्या में केले के साथ-साथ केले के छिलके के गुण को भी लाभकारी माना गया है। बताया जाता है कि केले के छिलके को प्रभावित स्थान पर नियमित कुछ मिनट तक रगड़ने से इस समस्या में राहत मिल सकती है। वहीं, आप चाहें तो छिलके के साथ केले के गूदे को भी इस्तेमाल में ला सकते हैं (4)। इस कारण हम कह सकते हैं कि सोराइसिस की समस्या में भी केले के छिलके के फायदे पाए जा सकते हैं।

5. झुर्रियों को घटाए

केले के छिलके में मौजूद एंटी-माइक्रोबियल (बैक्टीरिया को नष्ट करने वाले) और एंटी-ऑक्सीडेंट (सूजन को कम कर त्वचा को रिपेयर करने में सहायक) गुण त्वचा संबंधी कई समस्याओं को ठीक करने के साथ झुर्रियों को दूर करने में भी लाभकारी परिणाम दे सकते हैं (3)। इस कारण हम कह सकते हैं कि केले के छिलके के गुण झुर्रियों से छुटकारा पाने में मददगार साबित हो सकते हैं।

6. दर्द में दिलाए आराम

केले के छिलके के फायदे में दर्द से आराम दिलाना भी शामिल है। दरअसल, केले के छिलके पर किए गए एक शोध में पाया गया है कि इसमें एनाल्जेसिक (दर्द निवारक) और सूजन संबंधी विकारों को दूर करने का गुण मौजूद होता है। इस कारण यह माना जा सकता है कि दर्द वाले स्थान पर केले के छिलके को बांधने से कुछ हद तक राहत पाई जा सकती है। हालांकि, यह प्रत्यक्ष रूप से दर्द को कम करने में कारगर है या नहीं इस संबंध में कोई ठोस प्रमाण उपलब्ध नहीं है। इस विषय पर अभी और शोध किए जाने की जरूरत है (5)

7. अल्ट्रा वायलेट किरणों से करे बचाव

अल्ट्रा वायलेट किरणों से बचाव में भी केले के छिलके के लाभ पाए जा सकते हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक, केले के छिलके में फेनोलिक कंपाउंड अधिक मात्रा में उपलब्ध होते हैं (6)। वहीं, एक अन्य शोध में इस बात का जिक्र मिलता है कि फेनोलिक कंपाउंड त्वचा को अल्ट्रा वायलेट किरणों से बचाने में मददगार साबित हो सकते हैं (7)। ऐसे में यह माना जा सकता है कि केले के फेस पैक को नियमित चेहरे पर उपयोग करने से सूरज से होने वाले अल्ट्रा वायलेट रेडिएशन से बचा जा सकता है।

8. कीड़ों के काटने पर होने वाले प्रभाव को करे दूर

कीड़ों के काटने से लोगों को त्वचा पर जलन, सूजन और खुजली की समस्या होती है। केले के छिलके को उपयोग कर आप इस समस्या से भी राहत पा सकते हैं। दरअसल, त्वचा के लिए लाभकारी केले के छिलके में त्वचा संबंधी कई समस्याओं को दूर करने के साथ-साथ कीड़ों के विष को खत्म करने का गुण पाया जाता है (3)। ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि केले के छिलके के लाभ इस समस्या में सकारात्मक परिणाम दे सकते हैं।

लेख के अगले भाग में हम आपको केले के छिलके के उपयोग करने के तरीके के बारे में बताएंगे।

केले के छिलके का उपयोग – How to Use Banana Peel in Hindi

केले के छिलके के उपयोग के बारे में बात करें, तो त्वचा के लिए आप इसे सीधे रगड़ कर भी इस्तेमाल कर सकते हैं। वहीं, अधिक प्रभाव के लिए आप इसका फेसपैक बना कर भी प्रयोग में ला सकते हैं। आइए, अब हम केले के छिलके का फेसपैक तैयार करने का एक तरीका जान लेते हैं।

सामग्री :

  • एक से दो केले के छिलके
  • आधा चम्मच नींबू का रस
  • आधा चम्मच शहद

कैसे इस्तेमाल करें :

  • सबसे पहले केले के छिलके को मिक्सर में डालकर अच्छे से पीस लें।
  • अब तैयार पेस्ट में आधा चम्मच नींबू का रस और शहद मिला लें।
  • अब इस पेस्ट को प्रभावित स्थान पर लगाएं और 15 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • समय पूरा होने के बाद गुनगुने पाने से इसे धो डालें।

कब इस्तेमाल करें :

  • यह उपाय सुबह नहाने से पहले और रात में सोने से पहले प्रतिदिन दो बार किया जा सकता है।

केले के छिलके के उपयोग को जानने के बाद अब हम इससे होने वाले कुछ नुकसान आपको बताएंगे।

केले के छिलके के उपयोग संबंधी कुछ सुझाव

केले के छिलके को त्वचा पर उपयोग करने के दौरान आपको कुछ अहम बातों को ध्यान में रखना होगा, जो निम्न प्रकार से हैं :

  • बेहतर परिणाम के लिए हमेशा ताजा केले के छिलकों का ही उपयोग करें।
  • बिना पके हुए केले के छिलके को तुरंत इस्तेमाल करें, रखें नहीं।
  • केले को ठंडी जगह पर रखें और इन्हें सूरज की रोशनी से दूर रखें।
  • केले के छिलकों को कभी भी फ्रिज में न रखें।
  • केले के छिलकों को कुछ समय के लिए सुरक्षित करने के लिए एयर टाइट डिब्बे का ही उपयोग करें।

अब जब आप केले के छिलके के लाभ और गुणों को पहचान गए हैं, तो केला खाने के बाद इसके छिलकों को फेंकने से पहले दस बार जरूर सोचेंगे। यह कई बीमारियों के प्रभाव को कम करने में आपकी मदद कर सकता है। साथ ही जरूरी है कि इसके उपयोग से पहले आप डॉक्टर से सलाह जरूर लें कि यह आपके लिए फायदेमंद रहेगा या नहीं। उसके बाद ही इसे इस्तेमाल में लाएं, ताकि इसका बेहतर और सकारात्मक लाभ आप हासिल कर सकें। इस संबंध में कोई अन्य सवाल या सुझाव आपके मन में हो, तो उसे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स के माध्यम से हम तक पहुंचाएं।

और पढ़े:

The following two tabs change content below.

Ankit Rastogi

अंकित रस्तोगी ने साल 2013 में हिसार यूनिवर्सिटी, हरियाणा से एमए मास कॉम की डिग्री हासिल की है। वहीं, इन्होंने अपने स्नातक के पहले वर्ष में कदम रखते ही टीवी और प्रिंट मीडिया का अनुभव लेना शुरू कर दिया था। वहीं, प्रोफेसनल तौर पर इन्हें इस फील्ड में करीब 6 सालों का अनुभव है। प्रिंट, टीवी और डिजिटल मीडिया में इन्होंने संपादन का काम किया है। कई डिजिटल वेबसाइट पर इनके राजनीतिक, स्वास्थ्य और लाइफस्टाइल से संबंधित कई लेख प्रकाशित हुए हैं। इनकी मुख्य रुचि फीचर लेखन में है। इन्हें गीत सुनने और गाने के साथ-साथ कई तरह के म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट बजाने का शौक भी हैं।

संबंधित आलेख