खाली पेट लहसुन खाने के फायदे और नुकसान – Khali Pet Lahsun Khane Ke Fayde

by

लहसुन का उपयोग अमूमन हर भारतीय घर में होता है। यहां इसका अधिक इस्तेमाल एक मसाले के तौर पर किया जाता है। इसके अलावा, औषधीय गुणों के कारण इसका उपयोग सदियों से एक घरेलू नुस्खे के रूप में भी किया जाता रहा है। माना जाता है कि इसमें कई शारीरिक समस्याओं से बचाव और उनके लक्षणों को कम करने की क्षमता है। यही वजह है कि इस लेख में हम सुबह-सुबह लहसुन खाने के फायदे बताने जा रहे हैं। यहां जानिए कच्चा लहसुन खाने के फायदे क्या-क्या हो सकते हैं। इसके अलावा, लेख में खाली पेट लहसुन खाने का तरीका और इसके नुकसान के विषय में भी बताया गया है।

शुरू करते हैं लेख

चलिए सबसे पहले जान लेते हैं कि लहसुन का सेवन सेहत के लिए अच्छा है या नहीं।

क्या लहसुन खाना सेहत के लिए अच्छा होता है?

हां, लहसुन खाना सेहत के लिए अच्छा हो सकता है। दरअसल, लहसुन में एंटीऑक्सीडेंट (मुक्त कणों से लड़ने वाला), एंटीफंगल (फंगस को पनपने से रोकने वाला), एंटीवायरल (वायरल संक्रमण से लड़ने वाला), एंटी-ट्यूमर (ट्यूमर के गठन या वृद्धि को रोकने में सहायक) और एंटी-माइक्रोबियल (सूक्ष्म जीवों को मारने या उसकी वृद्धि को रोकने में सहायक) जैसे प्रभाव पाए जाते हैं, जो संयुक्त रूप से शरीर को स्वस्थ रखने का काम कर सकते हैं। इसके अलावा, लहसुन का सेवन हृदय रोग के जोखिम को कम करने में भी सहायक हो सकता है (1)। लेख में आगे हम खाली पेट लहसुन खाने के फायदे के बारे में विस्तार से बता रहे हैं।

बने रहें हमारे साथ

लेख के इस भाग में हम सुबह लहसुन खाने के फायदे के बारे में बता रहे हैं।

खाली पेट लहसुन खाने के फायदे – Benefits Of Eating Raw Garlic in Hindi

खाली पेट लहसुन खाने के फायदे से जुड़ा सटीक शोध उपलब्ध नहीं है। नीचे लहसुन के फायदों के आधार पर ही विभिन्न शारीरिक समस्याओं में खाली पेट लहसुन के फायदे बताए जा रहे हैं। चलिए क्रमवार तरीके से पढ़िए सुबह खाली पेट लहसुन खाने के फायदे:

1. कोलेस्ट्रॉल के लिए

खाली पेट लहसुन खाने के फायदे में कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण शामिल है। एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध के मुताबिक, लहसुन का सेवन एलडीएल (low-density lipoproteins – खराब कोलेस्ट्रॉल) को कम करके एचडीएल (high-density lipoproteins – अच्छा कोलेस्ट्रॉल) को बढ़ाने में मदद कर सकता है (1)। वहीं, एक अन्य शोध से भी इस बात की जानकारी मिलती है कि लहसुन में एंटी-हाइपरलिपिडेमिया गुण मौजूद होता है, जो हानिकारक (एलडीएल) कोलेस्ट्रॉल के साथ-साथ टोटल कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद कर सकता है (2)।

2. अल्जाइमर के लिए

अल्जाइमर की समस्या में भी खाली पेट लहसुन के फायदे देखे जा सकते हैं। इससे जुड़े एक शोध में साफ जिक्र मिलता है कि लहसुन का उपयोग अल्जाइमर (भूलने की बीमारी) और डिम्नेशिया (याददाश्त और सोचने की क्षमता में कमी) के जोखिम को करने में मदद कर सकता है। दरअसल, ऑक्सीडेटिव डैमेज को डिम्नेशिया का मुख्य कारण माना गया है और लहसुन में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण ऑक्सीडेटिव डैमेज से बचाव का काम कर सकते हैं। वहीं, लेख में यह भी जिक्र मिलता है कि लहसुन, न्यूरॉन्स को सुरक्षित रख दिमागी क्षमता में गिरावट से बचाव कर सकता है (3)।

3. ब्लड प्रेशर के लिए

हाई ब्लड प्रेशर में भी सुबह-सुबह लहसुन खाने के फायदे देखे जा सकते हैं। दरअसल, एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध में लहसुन के एंटी-हाइपरटेंसिव प्रभाव के बारे में पता चलता है। शोध में इस बात का जिक्र मिलता है कि लहसुन रक्तचाप को 10 mmhg सिस्टोलिक और 8 mmhg डायस्टोलिक तक कम कर सकता है। इस शोध में यह भी बताया गया है कि उच्च रक्तचाप की समस्या सल्फर की कमी से भी हो सकती है। ऐसे में लहसुन से प्राप्त ऑर्गोसल्फर कंपाउंड की मदद से इसे कम किया जा सकता है (4)।

अभी बाकी है जानकारी

4. वजन घटाने के लिए

वजन घटाने के लिए भी सुबह खाली पेट लहसुन खाने के फायदे देखे जा सकते हैं। इससे जुड़े अध्ययनों से पता चलता है कि लहसुन, एंटी-ओबेसिटी (मोटापा कम करने वाला) प्रभाव प्रदर्शित कर सकता है। इसके अलावा, लहसुन का सेवन शरीर में थर्मोजेनेसिस (thermogenesis) यानी शरीर में गर्मी का उत्पादन कर सकता है, जिससे वजन घटाने में मदद मिल सकती है (5)। वहीं, एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध में इस बात का साफ तौर से जिक्र मिलता है कि मोटापा रोकने में लहसुन खाने से संभावित लाभ हो सकते हैं (6)।

5. डेंटल हेल्थ के लिए

दांतों के स्वास्थ्य के लिए भी कच्चा लहसुन खाने का फायदा देखा जा सकता है। एक रिसर्च के मुताबिक, लहसुन में मौजूद एलिसिन, कैविटी और पेरियोडोंटाइटिस (मसूड़ों की बीमारी) से जुड़े मौखिक रोगजनकोंं के खिलाफ एंटीमाइक्रोबियल (बैक्टीरिया से लड़ने वाला) प्रभाव प्रदर्शित कर सकता है (7)। वहीं, एक अन्य शोध की मानें, तो लहसुन के अर्क से युक्त माउथवॉश या टूथपेस्ट का इस्तेमाल दंत क्षय (दांत की क्षति) की रोकथाम के लिए प्रभावी हो सकता है (8)। इस आधार पर यह माना जा सकता है कि खाली पेट लहसुन का सेवन दांतों से स्वास्थ्य के लिए लाभकारी सिद्ध हो सकता है।

6. त्वचा के लिए

खाली पेट लहसुन खाने के फायदे में त्वचा से जुड़े लाभ भी शामिल हैं। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक रिसर्च के मुताबिक, सोरायसिस (खुजलीदार लाल चकत्तों के साथ त्वचा की ऊपरी परत का पपड़ीदार होना), केलोइड निशान (चोट ठीक हो जाने पर वहां बनने वाला निशान), घाव भरने, वायरल और फंगल संक्रमण, लीशमैनियासिस (लीशमैनिया परजीवी से फैलने वाला संक्रमण), स्किन एजिंग (त्वचा पर झुर्रियां आना) के साथ-साथ त्वचा को जीवंत करने में लहसुन का अर्क संभावित रूप से प्रभावी हो सकता है (9)।

7. बालों के लिए

लहसुन का सेवन बालों की देखभाल के लिए भी उपयोगी हो सकता है। दरअसल, एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध में इस बात का जिक्र मिलता है कि एलोपेशीया एरियाटा (बालों का पैचेज में झड़ना) की समस्या से राहत पाने में लहसुन का अर्क सहायता कर सकता है (9)। इसके अलावा, बालों से रूसी हटाने में भी लहसुन कारगर साबित हो सकता है। जैसा कि लेख की शुरुआत में हमने बताया कि लहसुन में एंटीफंगल गुण मौजूद होते हैं, जो फंगस को पनपने से रोकने में मदद कर सकते हैं। बता दें कि बालों में डैंड्रफ का एक कारण मालासेजिया फुरफुर (Malassezia furfur) नामक फंगी को भी माना जाता है (10)। ऐसे में यह माना जा सकता है कि डैंड्रफ से निजात पाने में लहसुन मददगार साबित हो सकता है।

नीचे स्क्रॉल करें

कच्चा लहसुन खाने का फायदा जानने के बाद चलिए जानते हैं खाली पेट लहसुन खाने का तरीका।

खाली पेट लहसुन खाने का तरीका

सुबह लहसुन खाने के फायदे तो आप जान ही चुके हैं। अब सवाल उठता है कि इन लाभों को प्राप्त करने के लिए इसका सेवन कैसे किया जाए? नीचे हम क्रमवार तरीके से खाली पेट लहसुन खाने का तरीका बता रहे हैं:

  • सुबह खाली पेट सीधे दो लहसुन की कलियों का सेवन किया जा सकता है।
  • सुबह नाश्ते में अगर वेजिटेबल सलाद लेते हैं, तो उसमें दो-तीन लहसुन की कलियों को मिलाकर सेवन किया जा सकता है।
  • दो-तीन लहसुन की कलियों को घी में हल्का फ्राई करके भी खाया जा सकता है।
  • सुबह नाश्ते में अगर सूप लेते हैं, तो सूप में दो-तीन लहसुन की कलियों का उपयोग किया जा सकता है।

नोट: लहसुन खाने की मात्रा व्यक्ति के स्वास्थ्य पर भी निर्भर करती है। ऐसे में डॉक्टरी सलाह पर इसके सेवन की सही मात्रा के बारे में जानकारी ली जा सकती है।

पढ़ते रहिए

खाली पेट लहसुन खाने के दुष्प्रभाव नीचे बताए गए हैं।

खाली पेट लहसुन खाने के नुकसान – Side Effects of Raw Garlic in Hindi

सुबह खाली पेट लहसुन खाने के फायदे तभी हो सकते हैं, जब इसका सेवन सीमित मात्रा में किया जाए। वहीं, अधिक मात्रा में इसका सेवन शरीर के लिए हानिकारक हो सकता है। तो चलिए जान लेते हैं खाली पेट लहसुन खाने के नुकसान क्या-क्या हो सकते हैं (11) (12):

  • जिन्हें लहसुन से एलर्जी की समस्या है, वे खाली पेट लहसुन का सेवन न करें। इससे एलर्जी की समस्या हो सकती है।
  • अधिक मात्रा में लहसुन के सेवन से सांस और शरीर से दुर्गंध आने की समस्या हो सकती है।
  • अधिक मात्रा में लहसुन का सेवन ब्लीडिंग की समस्या को भी बढ़ा सकता है। अगर कोई एंटीकोगुलेंट (रक्त पतला करने वाला) लेता है या किसी की सर्जरी होनी है, तो ऐसे लोगों को लहसुन के सेवन से परहेज करना चाहिए।
  • अधिक मात्रा में लहसुन का सेवन एसिडिटी का कारण बन सकता है।
  • इसके अलावा, अगर लहसुन का सेवन अधिक मात्रा में किया जाए, तो यह अपच, मतली, उल्टी, दस्त की समस्या और गैस की समस्या को उत्पन्न कर सकता है।

इस लेख को पढ़ने के बाद अब आप अच्छे से समझ चुके होंगे कि सुबह खाली पेट लहसुन खाने के फायदे कितने सारे हैं। वहीं, लेख में हमने खाली पेट लहसुन खाने का तरीका भी बताया है। ऐसे में अब आप लहसुन को अपनी जीवनशैली में शामिल कर सकते हैं। वहीं, इसके सेवन के वक्त इसकी मात्रा का भी ध्यान रखें, नहीं तो इसके दुष्प्रभाव भी सामने आ सकते हैं। हम उम्मीद करते हैं कि यह आर्टिकल आपके लिए लाभकारी साबित होगा।

संदर्भ (Sources):

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Check out our editorial policy for further details.
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Aviriti Gautam

आवृति गौतम ने सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ बिहार से मास कम्युनिकेशन में एमए किया है। इन्होंने अपने करियर की शुरूआत डिजिटल मीडिया से ही की थी। इस क्षेत्र में इन्हें काम करते हुए दो वर्ष से ज्यादा हो गए हैं। आवृति को स्वास्थ्य विषयों पर लिखना और अलग-अलग विषयों पर विडियो बनाना खासा पसंद है। साथ ही इन्हें तरह-तरह की किताबें पढ़ने का, नई-नई जगहों पर घूमने का और गाने सुनने का भी शौक है।

ताज़े आलेख

scorecardresearch