खीरे के फायदे, उपयोग और नुकसान – Cucumber (Kheera) Benefits and Side Effects in Hindi

Written by

सलाद बनाने की बात हो और खीरे का नाम न आए, ऐसा तो हो ही नहीं सकता। साथ ही इसकी सब्जी भी बड़े चाव से खाई जाती है। इसके अलावा, कई अन्य खाद्य पदार्थों में भी इसका उपयोग किया जाता है। इसमें कई औषधीय गुण भी पाए जाते हैं, जिस कारण इसका इस्तेमाल स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याओं से बचाव में किया जा सकता है। स्टाइलक्रेज के इस आर्टिकल में हम स्वास्थ्य के लिए खीरा खाने के फायदे के बारे में विस्तार से बताएंगे। साथ ही इसे उपयोग करने के तरीके और अधिक मात्रा में इस्तेमाल करने से होने वाले नुकसान के बारे में भी जानकारी देंगे। पूरी जानकारी के लिए लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

डिटेल में आगे पढ़ें

सबसे पहले हम खीरा के फायदे के बारे में बता रहे हैं।

खीरा खाने के फायदे – Cucumber Benefits in Hindi

खीरा खाने के क्या-क्या फायदे हो सकते हैं, इस बारे में नीचे विस्तार से जानकारी दी गई है। बस इस बात का ख्याल रखें कि खीरे का सेवन व्यक्ति को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है, लेकिन यह किसी बीमारी का पूर्ण इलाज नहीं हो सकता है। चलिए, अब जानते हैं कि खीरे का सेवन शरीर के लिए किस प्रकार फायदेमंद हो सकता है।

1. हाइड्रेशन

डिहाइड्रेशन यानी शरीर में पानी की कमी होना। डिहाइड्रेशन के कारण सिरदर्द, यूरिन से जुड़ी समस्या, मांसपेशियों में ऐंठन आदि का सामना करना पड़ सकता है (1)। वहीं, खीरे का सेवन इस समस्या से बचाव और इससे होने वाली जटिलताओं को कम करने में मदद कर सकता है। दरअसल, ककड़ी के फायदे से जुड़े एक शोध में पाया गया कि खीरे में 95% पानी की मात्रा पाई जाती है, जिस वजह से इसका सेवन शरीर को हाइड्रेट रखने में मददगार हो सकता है (2)।

2. वजन कम करने के लिए खीरा खाने के फायदे

माेटापे की समस्या को नियंत्रित करने के लिए खीरे का सेवन किया जा सकता है। दरअसल, एक शोध के अनुसार, 100 ग्राम खीरे में सिर्फ 15 कैलोरी होती है और पानी की मात्रा अधिक होती है। कम कैलोरी और पानी की अच्छी मात्रा के कारण, खीरा वजन कम करने वाले लोगों के लिए एक आदर्श आहार हो सकता है। इस आधार पर खीरा खाने के फायदे में बढ़ते वजन को नियंत्रित करना भी शामिल हो सकता है (3)।

3. कैंसर से बचाव में खीरा के फायदे

खीरा का सेवन कैंसर से बचाव में कुछ हद तक मददगार हो सकता है। एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन) की ओर से प्रकाशित एक मेडिकल रिसर्च से पता चला है कि खीरे के अर्क में बायोएक्टिव कंपाउंड पाए जाते हैं, जिनमें एंटी कैंसर गुण भी होते हैं। खीरे के अर्क में पाया जाने वाला यह गुण कैंसर की कोशिकाओं को बढ़ने से रोक सकता है (4)। साथ ही हम स्पष्ट कर दें कि अगर कोई कैंसर से पीड़ित है, तो उसे सिर्फ घरेलू उपचार पर निर्भर नहीं रहना चाहिए, बल्कि डॉक्टर से उचित इलाज करवाना चाहिए। इस प्रकार कैंसर से बचाव भी ककड़ी के फायदे की लिस्ट में शामिल है।

4. एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर

खीरे में एंटीऑक्सीडेंट गुण भी पाया जाता है, जो शरीर के लिए कई तरह से फायदेमंद साबित हो सकता है (4)। एंटीऑक्सीडेंट शरीर के लिए आवश्यक तत्व होता है। यह शरीर में फ्री रेडिकल्स के प्रभाव को कम कर सकता है। साथ ही यह ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम कर इससे होने वाली समस्याएं जैसे एजिंग, किडनी रोग, व हृदय रोग के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है (5)। शरीर में एंटीऑक्सीडेंट की पूर्ति के लिए खीरे का सेवन लाभकारी साबित हो सकता है।

5. हृदय के लिए खीरा के फायदे

खीरा खाने के फायदे में हृदय को स्वस्थ रखना भी शामिल है। दरअसल, एक वैज्ञानिक अध्ययन में इस बात का जिक्र मिलता है कि एंटीऑक्सीडेंट और मिनरल्स की मौजूदगी की वजह से खीरे का सेवन हृदय रोग के जोखिम को कम कर सकता है। वहीं, इसका सेवन उच्च रक्तचाप से बचाव का काम भी कर सकता है, जो कि हृदय रोग का एक जोखिम कारक है (2)। इस आधार पर माना जा सकता है कि खीरे का सेवन कुछ हद तक हृदय स्वास्थ्य को बरकरार रखने में मददगार हो सकता है। इसके अलावा, अगर किसी को हृदय संबंधी कोई समस्या है, तो उसे डॉक्टर से इलाज जरूर करवाना चाहिए, क्योंकि घरेलू उपचार केवल समस्या के प्रभाव को कुछ हद तक कम करने में सहायक हो सकते हैं, इन्हें समस्या का पूर्ण इलाज नहीं माना जा सकता है।

6. मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए

खीरे का उपयोग मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए भी किया जा सकता है। दरअसल, एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध के अनुसार खीरे में एंटीडायबिटिक गुण पाए जाते हैं। इसमें पाया जाने वाला यह गुण मधुमेह से पीड़ित व्यक्ति के रक्त में ग्लूकोज (शर्करा) के स्तर को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है। साथ ही मधुमेह की जटिलताओं से बचाव में कुछ हद तक सहायक हो सकता है (4)।

जारी रखें पढ़ना

7. आंखों के लिए खीरा

खीरा आंखों के लिए कई प्रकार से फायदेमंद हो सकता है। दरअसल, इसमें एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव पाया जाता है, जो ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम कर इससे होने वाले मैक्यूलर डिजनरेशन ( नेत्र रोग, जो अंधापन का कारण बन सकता है) के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है (4) (5)। इसके साथ ही खीरे में पाया जाने वाला हाइड्रेटिंग गुण आंख और उसकी आसपास की त्वचा को मॉइस्चराइज करने का काम कर सकता है। साथ की बंद आंखों पर खीरे की स्लाइस कूलिंग प्रभाव प्रदर्शित कर सकती है। इसके अलावा, इसमें पाया जाने वाला विटामिन-के आंखों के नीचे डार्क सर्कल की समस्या को कम करने में मददगार हो सकता है। साथ ही इसमें पाया जाने वाला लिग्नांस (lignans) नामक कंपाउंड आंखों के आसपास सूजन को कम करने में मददगार हो सकता है (2)।

8. हड्डियों के लिए खीरे के फायदे

हड्डियों को स्वस्थ बनाए रखने में भी खीरे के फायदे देखे जा सकते हैं। दरअसल, एक शोध में जिक्र मिलता है कि एंटीऑक्सीडेंट और कुछ खास मिनरल की मौजूदगी के कारण यह कमजोर हड्डियों के जोखिम को कम करने में मददगार हो सकता है (2)। इसके अलावा, इसमें कैल्शियम और विटामिन-के की मात्रा पाई जाती है (6)। वहीं, एक शोध में साफ जिक्र मिलता है कि विटामिन-के हड्डियों को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है। साथ ही यह फ्रैक्चर के जोखिम को भी कम करने में सहायक हो सकता है। इसके अलावा, यह शरीर में कैल्शियम (हड्डियों के लिए जरूरी पोषक तत्व) के संतुलन को सकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकता है (7)। वहीं, इसमें मौजूद कैल्शियम हड्डियों के स्वास्थ्य को बरकरार रखने में मदद कर सकता है (8)। इस प्रकार खीरा के फायदे की सूची में हड्डियों को मजबूत बनाना भी शामिल है। फिलहाल, इस विषय में अभी और शोध किए जाने की आवश्यकता है।

9. पाचन और कब्ज के लिए

खीरा खाने के फायदे में सही पाचन को बनाए रखना भी शामिल है। खीरे में मौजूद पानी और फाइबर विषाक्त पदार्थों को बाहर निकाल कर पाचन तंत्र को अच्छी तरह से काम करने में मदद कर सकते हैं। माना जाता है कि रोजाना खीरे का सेवन पुरानी कब्ज की समस्या को दूर करने में फायदेमंद हो सकता है। रोजाना खीरे के रस का सेवन करने से पाचन विकार, जैसे कि सीने में जलन, गैस्ट्राइटिस (पेट में सूजन) और यहां तक कि अल्सर की समस्या में आराम मिल सकता है (3)। इस तरह खाली पेट खीरा खाने के फायदे की सूची में पाचन को सही रखना भी शामिल है।

10. अल्जाइमर से बचाव के लिए

अल्जाइमर एक न्यूरोलॉजिकल बीमारी है, जिसमें धीरे-धीरे याददाश्त और सोचने की क्षमता कमजोर होने लगती है। आमतौर पर यह रोग 60 वर्ष से अधिक आयु में होता है। जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है, यह रोग गंभीर होता जाता है (9)। अल्जाइमर से बचाव में भी खीरे का सेवन लाभकारी हो सकता है। दरअसल, खीरे में फिस्टेटिन (fisetin) नामक फ्लेवोनॉइड पाया जाता है, जो न्यूरोप्रोटेक्टिव प्रभाव प्रदर्शित कर सकता है। यह प्रभाव अल्जाइमर रोग के जोखिम को कम करने में कुछ हद तक मददगार हो सकता है (10)। फिलहाल, इस विषय में अभी और शोध किए जाने की आवश्यकता है।

11. त्वचा के लिए खीरा के फायदे

खीरे का उपयोग सेहत के साथ ही त्वचा के लिए भी फायदेमंद हो सकता है। कई लोग खीरे का फेसपैक बनाकर त्वचा पर लगाते हैं। इस संबंध में हुए एक शाेध में पाया गया है कि खीरे के हाइड्रेटिंग और कूलिंग गुण के कारण यह त्वचा की कई समस्याओं में लाभकारी हो सकता है। वहीं, विटामिन-सी और एंटीऑक्सीडेंट गुणों के कारण इसका इस्तेमाल एक्जिमा (त्वचा की सूजन से जुड़ी समस्या), सोरायसिस (त्वचा पर लाल चकत्तों के साथ खुजली और पपड़ी का निर्माण) व मुहांसों के लिए कई क्रीम में बतौर मुख्य सामग्री किया जाता है (3)।

साथ ही इसमें मौजूद एंटी-एक्ने गुण मुंहासों की समस्या को कम करने में फायदेमंद हो सकते हैं। इसके अलावा, खीरे का उपयोग सनबर्न व झुर्रियों के इलाज के लिए भी किया जा सकता है। यह त्वचा को मॉइस्चराइज करने के साथ-साथ त्वचा की चमक को भी बढ़ा सकता है (2)।

12. बालों के लिए खीरा

खीरा खाने के फायदे कई हैं। यह सिर्फ सेहत और त्वचा के लिए ही लाभदायक नहीं है, बल्कि इससे बालों के स्वास्थ्य को बरकरार रखने में भी मदद मिल सकती है। दरअसल, इससे जुड़े एक शोध में जिक्र मिलता है कि खीरे में सिलिकॉन और सल्फर उच्च मात्रा में मौजूद होते हैं। ये दोनों पोषक तत्व बालों के विकास में मददगार हो सकते हैं (11)। इस आधार पर बालों के लिए भी खीरे को लाभकारी कहा जा सकता है।

आर्टिकल पढ़ते रहें

खीरे के फायदे जानने के बाद हम आगे इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्वों के बारे में बता रहे हैं।

खीरे के पौष्टिक तत्व – Cucumber Nutritional Value in Hindi

खीरे में विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो इस प्रकार हैं (6) :

    पोषक तत्व           मात्रा प्रति 100 ग्राम
पानी96.73 ग्राम
ऊर्जा10 kcal
प्रोटीन0.59 ग्राम
      फैट0.16 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट2.16 ग्राम
फाइबर0.7 ग्राम
शुगर1.38 ग्राम
कैल्शियम14 मिलीग्राम
आयरन0.22 मिलीग्राम
मैग्नीशियम12 मिलीग्राम
फास्फोरस21 मिलीग्राम
पोटैशियम136 मिलीग्राम
सोडियम2 मिलीग्राम
जिंक0.71 मिलीग्राम
कॉपर0.071 मिलीग्राम
सेलेनियम0.1 माइक्रोग्राम
विटामिन-सी3.2 मिलीग्राम
थियामिन0.031 मिलीग्राम
राइबोफ्लेविन0.025 मिलीग्राम
नियासिन0.037 मिलीग्राम
विटामिन-बी 60.051 मिलीग्राम
फोलेट14 माइक्रोग्राम
कोलीन5.7 मिलीग्राम
विटामिन-ए (RAE)4 माइक्रोग्राम
बीटा कैरोटीन31 माइक्रोग्राम
विटामिन-ए IU72 IU
विटामिन-ई0.03 मिलीग्राम
विटामिन-के7.2 माइक्रोग्राम
फैटी एसिड टोटल सैचुरेटेड0.078 ग्राम
फैटी एसिड टोटल मोनोअनसैचुरेटेड0.01 ग्राम
फैटी एसिड टोटल पॉलीअनसैचुरेटेड0.019 ग्राम

स्क्रॉल करें

खीरे के पोषक तत्वाें के बाद आगे हम इसे उपयोग करने के तरीकों के बारे में बता रहे हैं।

खीरे का उपयोग – How to Use Cucumber in Hindi

वैसे तो सभी काे मालूम है कि रसोई में खीरे का उपयोग किस प्रकार से किया जा सकता है। फिर भी हम यहां खीरे के कुछ खास और आसान तरीकों के बारे में बता रहे हैं।

  • खीरे को धोकर, फिर छिलका निकालने के बाद सीधा खा सकते हैं। ज्यादातर इसका उपयोग सलाद के रूप में किया जाता है।
  • कई स्थानों पर खीरे का अचार बड़े चाव से खाया जाता है, तो इसका अचार भी बना सकते हैं।
  • इसका उपयोग सब्जी बनाने के लिए भी कर सकते हैं।
  • दक्षिण भारत में खीरे का उपयोग सांभर और डोसा बनाने में किया जाता है।
  • खीरे का जूस निकालकर भी पिया जा सकता है।
  • सैंडविच में खीरे की स्लाइस का इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • लोगों को लंच में खीरे का रायता भी बहुत पसंद आता है।
  • खीरे का सूप भी बना सकते हैं।
  • खीरे के रस को चेहरे पर उपयोग किया जा सकता है।
  • खीरे के पल्प और दही का फेस पैक बनाकर लगाया जा सकता है।

मात्रा : राेजाना छोटे से लेकर मध्यम आकार तक का एक खीरा सलाद के रूप में खाया जा सकता है। इसके अलावा, लगभग एक कप खीरे के जूस का सेवन करना भी फायदेमंद हो सकता है, लेकिन इस संबंध में अभी कोई वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं हैं। इसलिए, इसकी सही मात्रा के बारे में आहार विशेषज्ञ से सलाह जरूर लें।

जानकारी बाकी है

खीरे के नुकसान से जुड़ी जानकारी नीचे दी जा रही है।

खीरे के नुकसान – Side Effects of Cucumber in Hindi

जहां एक ओर खीरा खाने के फायदे हैं, तो वहीं दूसरी ओर लापरवाही से इसका सेवन करना नुकसानदायक भी हाे सकता है। नीचे हम खीरा खाने के नुकसान बता रहे हैं :

  • खीरे का अधिक मात्रा में सेवन करने से गैस और पेट फूलने की समस्या हो सकती है (12)।
  • कड़वे खीरे में कुकुरबिटासिन (cucurbitacins) नामक कंपाउंड होता है, जो कुछ मामलों में विषाक्तता का कारण बन सकता है (13)। इसलिए, कड़वे खीरे का सेवन करने से मना किया जाता है।
  • खीरे में ड्यूरेटिक (मूत्रवर्धक) प्रभाव होता है। इसलिए, अधिक मात्रा में खीरे का सेवन करने से बार-बार यूरिन पास करने की समस्या हो सकती है (14)।
  • एक शोध के अनुसार, जो लोग रैगवीड एलर्जी (रैगवीड पौधों से होने वाली एलर्जी) से पीड़ित हैं, उन्हें खीरे का सेवन करने से मुंह और गले में खुजली के साथ सूजन की भी समस्या हो सकती है। (15)।

लेख में आप खीरा खाने के फायदे और नुकसान से अच्छी तरह वाकिफ हो गए होंगे। खीरे का सेवन करना गलत नहीं है, बस इसे इस्तेमाल करने की सही जानकारी होनी चाहिए। इस आर्टिकल में हमने इसी संबंध में विस्तार से बताया है। अगर इसे सीमित मात्रा में खाया जाए, तो इससे होने वाले फायदे हासिल किए जा सकते हैं। साथ ही हम एक बार फिर स्पष्ट कर दें कि खीरा किसी भी बीमारी का डॉक्टरी इलाज नहीं है, इसका सेवन शारीरिक समस्याओं से बचाव और उनके प्रभाव को कुछ हद तक कम करने के लिए किया जा सकता है। इसलिए, गंभीर बीमारी में मेडिकल ट्रीटमेंट ही सबसे बेहतर विकल्प है। लेख के अंतिम भाग में हम खीरे से जुड़े पाठकों के कुछ सवालों के जवाब दे रहे हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल :

रात को सोने से पहले खीरे का सेवन क्यों नहीं करना चाहिए?

जैसा कि हमने ऊपर बताया कि खीरे में मूत्रवर्धक गुण पाए जाते हैं। इसलिए, रात में सोने से पहले इसका अधिक सेवन बार-बार टॉयलेट जाने का कारण बन सकता है। हालांकि, इस संबंध में कोई स्पष्ट वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं हैं।

आपकी आंखों के लिए कैसे फायदेमंद है खीरे का सेवन?

आंखों के लिए खीरा कितना लाभकारी हो सकता है, इसकी जानकारी हमने ऊपर लेख में दे दी है।

क्या खीरा पेट की चर्बी कम करने में मदद करता है?

कम कैलोरी और पानी की अच्छी मात्रा होने के कारण खीरा शरीर के वजन को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है। इस आधार पर हम कह सकते हैं कि खीरा का सेवन पेट की चर्बी कम करने के लिए लाभकारी हो सकता है (3)।

क्या खीरा खाने से गैस की समस्या हो सकती है?

जी हां, इसका अधिक मात्रा में किया गया सेवन गैस की समस्या का कारण बन सकता है (12)। इसलिए, खीरे का सीमित मात्रा में सेवन करना ही बेहतर होता है।

एक दिन में कितनी मात्रा में खीरे का सेवन किया जा सकता है?

लेख में ऊपर इस बात की जानकारी दी जा चुकी है कि रोजाना छोटे से लेकर मध्यम आकार तक का एक खीरा खाया जा सकता है। फिलहाल, इस संबंध में अभी कोई वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं हैं। इसलिए, बेहतर होगा कि इसकी सही मात्रा जानने के लिए आहार विशेषज्ञ से सलाह लें।

Sources

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Dehydration
    https://medlineplus.gov/ency/article/000982.htm#:~:text=Dehydration%20occurs%20when%20your%20body,is%20a%20life%2Dthreatening%20emergency.
  2. EVALUATING THE POTENTIAL BENEFITS OF CUCUMBERS FOR IMPROVED HEALTH AND SKIN CARE
    https://www.academia.edu/28634174/EVALUATING_THE_POTENTIAL_BENEFITS_OF_CUCUMBERS_FOR_IMPROVED_HEALTH_AND_SKIN_CARE
  3. Invigorating Efficacy of Cucumis Sativas for Healthcare & Radiance
    https://www.pharmaresearchlibrary.com/wp-content/uploads/2014/04/IJCPS2001.pdf
  4. Phytochemical screening and in vitro antibacterial and anticancer activities of the aqueous extract of Cucumis sativus
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6408718/#__ffn_sectitle
  5. Oxidative stress, aging, and diseases
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5927356/
  6. Cucumber
    https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/169225/nutrients
  7. Vitamin K and bone health
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/11684396/#:~:text=Several%20mechanisms%20are%20suggested%20by,key%20mineral%20in%20bone%20metabolism.
  8. Calcium
    https://medlineplus.gov/calcium.html
  9. Alzheimer’s Disease
    https://medlineplus.gov/alzheimersdisease.html
  10. Modulation of multiple pathways involved in the maintenance of neuronal function during aging by fisetin
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2775892/
  11. Biochemical, Anti-Microbial and Organoleptic Studies of Cucumber (Cucumis Sativus)
    https://www.ijsr.net/archive/v3i3/MDIwMTMxMjc0.pdf
  12. Prevention and Treatment of Flatulence From a Traditional Persian Medicine Perspective
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4893422/
  13. Cucurbitacins – An insight into medicinal leads from nature
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4441156/
  14. Free Radical Scavenging and Analgesic Activities of Cucumis sativus L. Fruit Extract
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3019374/
  15. Oral Allergy Syndrome
    https://journals.sagepub.com/doi/abs/10.2500/ajra.2018.32.4489?journalCode=ajra
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

ताज़े आलेख