सामग्री और उपयोग

खुबानी के 19 फायदे, उपयोग और नुकसान – Apricot (Khubani) Benefits, Uses and Side Effects in Hindi

by
खुबानी के 19 फायदे, उपयोग और नुकसान – Apricot (Khubani) Benefits, Uses and Side Effects in Hindi Hyderabd040-395603080 June 3, 2019

अपने दिलचस्प इतिहास के साथ खुबानी विश्वभर में लोकप्रिय है। इसका खूबसूरत आकार और मीठा स्वाद किसी भी फूड लवर को अपना दीवाना बना सकता है। यह एक रसदार, सुगंधित फल है, जिसे कच्चा या कई प्रकार के व्यंजनों में प्रयोग करके खाया जा सकता है। इस फल को दैनिक जीवन में इसलिए भी शामिल किया जाना चाहिए, क्योंकि यह स्वास्थ्य को बेहतर बनाने का काम करता है। खुबानी विटामिन-ए, सी, पोटैशियम और मैंगजीन जैसे खनिज और डाइटरी फाइबर से समृद्ध होती है (1)।

इस खास लेख में हमारे साथ जानिए स्वास्थ्य, त्वचा और बालों के लिए खुबानी खाने के फायदों के बारे में।

क्या है खुबानी? – What is Apricot in Hindi

एक पौष्टिक नाश्ते के लिए खुबानी को सबसे उपयुक्त माना जाता है। बस इसे पानी से धोएं और खाएं। इसे अक्सर एक मीठे खाद्य पदार्थ के रूप में खाया जाता है, लेकिन इसके खाने का तरीका मीठे तक सीमित नहीं है। मध्य पूर्वी देशों में व्यंजनों का स्वाद बढ़ाने के लिए सूखी खुबानी को मांस और मसालों के साथ पकाकर खाया जाता है। भारतीय मसालेदार व्यंजनों के साथ आप खुबानी की चटनी का आनंद ले सकते हैं।

इसकी उत्पत्ति से जुड़े तथ्य बताते हैं कि चार हजार साल पहले खुबानी की खेती चीन में की गई थी। वहां जाने वाले व्यापारी इस खास फल को अपने साथ ले गए थे, जिससे इसकी लोकप्रियता बढ़ी और परिणामस्वरूप इसकी खेती विश्व के अन्य प्रांतों में होने लगी। बाद में इसकी खेती यूरोप में भी की गई और अंग्रेज इसे ऑस्ट्रेलिया ले गए। वर्तमान में विक्टोरिया को खुबानी के मुख्य उत्पादकों में से एक माना जाता है (1)।

खुबानी के फायदे – Benefits of Apricot in Hindi

आकार में छोटा दिखने वाला यह फल न सिर्फ आपकी जीभ का स्वाद बदलता है, बल्कि कैंसर और मधुमेह जैसी घातक बीमारियों से भी आपकी रक्षा करता है। नीचे जानिए त्वचा, बाल और आंतरिक स्वास्थ्य के लिए खुबानी के फायदों के बारे में।

सेहत के लिए खुबानी के फायदे – Health Benefits of Apricot in Hindi

1. बेहतर पाचन के लिए

Apricot for Better Digestion in Hindi Pinit

Shutterstock

अधिकांश शारीरिक बीमारियां पेट के बिगड़ने से ही शुरू होती हैं। अपच के कारण गैस, पेट दर्द और न जाने कितनी तकलीफें शरीर को घेर लेती हैं। इस स्थिति में खुबानी आपकी मदद कर सकती है। एक स्वादिष्ट फल होने के साथ-साथ यह फल पेट को आराम पहुंचाने में मदद करता है। दरअसल, खुबानी फाइबर युक्त होती है और फाइबर पाचन क्रिया को सुचारू रूप से चलाने में मदद करती है (2)। कब्ज जैसी समस्याओं के लिए भी खुबानी लाभदायक मानी गई है।

2. आंखों की दृष्टि में सुधार

उम्र के साथ-साथ कुछ शारीरिक समस्याएं बिना आमंत्रण दिए ही शरीर में दाखिल हो जाती हैं, जिसमें नजर का कमजोर होना भी है। खासकर 40 के बाद आंखों की दृष्टि कमजोर होने लगती है। सही पोषण की कमी इसका एक बड़ा कारण है। विटामिन-सी, ई, β-कैरोटीन और ओमेगा-3 फैटी एसिड जैसे तत्व आंखों के स्वास्थ्य के लिए जरूरी माने जाते हैं (3)। यहां खुबानी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। खुबानी में β-कैरोटीन और विटामिन-सी जैसे प्रमुख तत्व होते हैं, जो आंखों के लिए जरूरी माने गए हैं (4)। आंखों की रोशनी बनाए रखने के लिए आप आज से ही खुबानी का सेवन करना शुरू कर सकते हैं।

3. वजन घटाने में मददगार

खुबानी कम फैट वाले आहार के लिए अनुकूल माना जाती है, क्योंकि यह फाइबर युक्त होती है। खासतौर पर इसमें घुलनशील फाइबर होता है, जो पेट भरे होने का एहसास कराता है (2)। वजन घटाने में खुबानी आपकी काफी मदद कर सकती है। यह फल बल्किंग एजेंट के रूप में काम करता है, जो आपको अत्यधिक भोजन करने से रोकता है। फाइबर आपके पाचन तंत्र को भी बेहतर रखता है, जिससे आप पेट संबंधी परेशानियों से बचे रहते हैं।

4. हृदय रोग

यहां दोबारा खुबानी में मौजूद फाइबर गुण को देख सकते हैं। फाइबर से समृद्ध होने के कारण यह फल शरीर में कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने का काम करता है, जिससे हृदय सुरक्षित रहता है (4) (5)। यह खराब कोलेस्ट्रोल को कम करता है और अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने का काम करता है। इसके अलावा, इसमें मौजूद पोटैशियम हमारे शरीर में इलेक्ट्रोलाइट स्तर को संतुलित करता है, जिससे हमारे हृदय की मांसपेशियां व्यवस्थित रहती हैं (6)। भविष्य में हृदय रोग से बचने के लिए आप रोजाना खुबानी का सेवन कर सकते हैं। सूखी हुई खुमानी ‘कोरोनरी आर्टरी कैल्सीफिकेशन’ से भी बचाती हैं। यह स्थिति हृदय रोगी के लिए घातक साबित हो सकती है (7)।

5. एनीमिया

एनीमिया एक घातक बीमारी है, जिसमें खून के अंदर लाल रक्त कोशिकाओं की कमी होने लगती है। एनीमिया के कारण शरीर के अंगों तक ऑक्सीजन का प्रवाह कम हो जाता है। थकान, त्वचा का पीलापन, सांस लेने में तकलीफ व चक्कर आदि इसके आम लक्षण हैं। एनीमिया के इलाज के लिए आप खुबानी का सेवन कर सकते हैं। यह एक गुणकारी फल है, जो विटामिन-सी से समृद्ध होता है (4) (8)। विटामिन-सी रक्त की एंटीऑक्सीडेंट सुरक्षा क्षमता में सुधार करता है। शरीर में रक्त स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए आप खुबानी का रोजाना सेवन कर सकते हैं (9)।

6. मधुमेह

सूखी खुबानी खाने के कई शारीरिक फायदे हैं। इसमें प्राकृतिक रूप से मिठास होती है, जिससे मधुमेह से बचा सकता है। खुबानी फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट गुणों से समृद्ध है और ये तत्व शरीर में शर्करा (glucose concentration) के जमा होने से रोकते हैं। मधुमेह के मरीज में ग्लूकोज के स्तर को संतुलित करने के लिए चार फेनोलिक कंपाउंड (प्रोसीएनिडिन्स, हाइड्रोक्सीसैनामिक एसिड डेरिवेटिव, फ्लेवोनोल्स और एंथोसायनिन) मिलकर खुबानी को सक्षम बनाते हैं। भविष्य में मधुमेह से बचने के लिए आप रोजाना खुबानी का सेवन कर सकते हैं (10)।

7. कैंसर

खुबानी की गुठली में एमिगडलिन नामक रासायनिक तत्व पाया जाता है, जिसकी पहचान एंटीकैंसर के रूप में मिली है। एमिगडलिन एक सायनोजेनिक ग्लाइकोसाइड है, जिसे प्राकृतिक रूप से एंटी-कैंसर एजेंट के रूप में वर्णित किया गया है (9), (11)।

8. कानदर्द

Apricot for Earache in Hindi Pinit

Shutterstock

कानदर्द जैसी समस्या के लिए भी खुमानी का इस्तेमाल किया जा सकता है। खुबानी का फल एंटीइंफ्लेमेटरी गुणों से समृद्ध होता है। खुमानी के बीज का तेल कान में होने वाले दर्द से राहत दिलाने का काम कर सकता है (9) (12)।

9. दर्द और सूजन

सिर्फ फल ही नहीं, बल्कि खुबानी के बीज औषधीय गुणों से भरपूर माने जाते हैं। खुबानी के बीज दर्द और सूजन से राहत दिलाने का काम करते हैं। एक अध्ययन से पता चला है कि खुबानी के बीज का तेल अल्सरेटिव कोलाइटिस के खिलाफ लड़ने का काम करता है, जो आंतों से जुड़ी बीमारी है (12)।

10. उच्च रक्तचाप

उच्च रक्तचाप की स्थिति में भी खुबानी को लाभदायक माना गया है। खुबानी पोटैशियम का एक बड़ा स्रोत है और पोटैशियम उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने का काम करता है। रोजाना दो खुबानी खाने से रक्तचाप नियंत्रित रहता है (13)।

11. लीवर डैमेज

सिर्फ ह्रदय ही नहीं खुबानी लीवर को भी स्वस्थ्य रखने में अहम भूमिका निभाती है। एक अध्ययन के अनुसार खुबानी का फल लीवर की रक्षा कर सकता है और फैटी लीवर रोग (जिगर में वसा का संचय) के लक्षणों को भी कम कर सकता है (14)। अपने औषधीय गुणों से ऑर्गेनिक खुबानी लिवर को फिर से काम करने के योग्य बनाती है। लिवर को स्वस्थ्य रखने के लिए आप रोजाना खुबानी का सेवन कर सकते हैं (15)।

12. गर्भावस्था

Pregnancy Pinit

Shutterstock

खुबानी अत्यधिक पोषत तत्वों से भरी होती है, जो गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिला के लिए लाभदायक साबित हो सकती है। गर्भावस्था के दौरान शरीर में आयरन और कॉपर की कमी को पूरा करने के लिए इसका सेवन किया जा सकता है। खुबानी का फल आयरन का बड़ा स्रोत है। आयरन ऐसा मिनरल है, जो शरीर के स्वस्थ रहने के लिए बहुत जरूरी है (16)।

13. फ्लूड बैलेंस

खुबानी को फाइबर और पोटैशियम का बड़ा स्रोत माना जाता है (13)। पोटैशियम एक जरूरी पोषक तत्व है, जो इलेक्ट्रोलाइट के रूप में काम करता हैं। शरीर के लिए इलेक्ट्रोलाइट्स महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह –

  • पानी की मात्रा को संतुलित करता है।
  • शरीर के पीएच स्तर को संतुलित करता है।
  • पोषक तत्वों को अपनी कोशिकाओं में स्थानांतरित करता है।
  • कोशिकाओं से गंदगी को बाहर निकालता है।
  • इसके अलावा, नसों, मांसपेशियों, हृदय और मस्तिष्क के काम को भी सुनिश्चित करता है (15)।

14. सांस संबंधी तकलीफ

खुबानी में मौजूद विटामिन-सी का उच्च स्तर सांस की तकलीफ को कम करने में मदद करता है (4)। एक अध्ययन के अनुसार यह फल सर्दी-जुकाम के दौरान सांस की तकलीफ और संक्रमण को दूर कर सकता है (16)। इस खास विषय पर अभी और अध्ययन की जरूरत है।

त्वचा के लिए खुबानी के फायदे – Skin Benefits of Apricot in Hindi

खुबानी के सेवन से त्वचा को भी कई प्रकार के लाभ होते हैं। नीचे जानिए त्वचा के लिए खुबानी के फायदों के बारे में –

15. एंटी-एजिंग

एंटी-एजिंग प्रभाव को कम करने के लिए एक तो इसका सेवन (रोजा दो से तीन) किया जा सकता और दूसरा इसका फेस पैक बनाया जा सकता है। नीचे जानिए किस प्रकार बनाए खुबानी फेस पैक।

कैसे बनाएं खुबानी का फेस पैक

सामग्री

  • तीन से चार पके हुए खुबानी के फल
  • जैतून तेल की तीन से चार बूंदें या नींबू का रस

प्रक्रिया

  • पकी हुए खुबानी का छिलका उतार लें।
  • खुबानी के गुदे के साथ जैतून का तेल या नींबू का रस मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें।
  • आप तेल या नींबू के बिना भी खुबानी के गुदे का पेस्ट बना सकते हैं।
  • अब तैयार पेस्ट को पूरे चेहरे पर लगाएं और 15 से 20 मिनट के लिए इसी अवस्था में छोड़ दें।
  • इसके बाद साफ ठंडे पानी से चेहरे को धो लें।
  • आप यह प्रक्रिया हफ्ते में दो बार दोहरा सकते हैं।

कैसे है लाभदायक

खुबानी में विटामिन-सी, ए, ई और के की अच्छी मात्रा होती है, जो त्वचा के लिए एक कारगर एंटी-एजिंग एजेंट के रूप में काम करते हैं (4)। इसमें मौजूद विटामिन्स नई कोशिकाओं के विकास में मदद करते हैं। वहीं, विटामिन-सी शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट का काम कर सकता है, जो त्वचा के स्वास्थ्य को बरकरार रखने में मदद करता है (17)।

16. त्वचा की चमक

Apricot for Skin Glow in Hindi Pinit

Shutterstock

अपने एंटी-एंजिग प्रभाव के साथ खुबानी का प्रयोग त्वचा की चमक बढ़ाने के लिए भी किया जा सकता है। नीचे जानिए चेहरे की चमक बढ़ाने के लिए किस तरह करें खुबानी का इस्तेमाल (18)।

खुबानी ब्यूटी फेस पैक

  • दो चम्मच शहद
  • खुबानी का गुदा दो चम्मच
  • बादाम तेल आधा चम्मच
  • नींबू का रस आधा चम्मच

प्रक्रिया

  • सभी सामग्री को अच्छी तरह मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें।
  • पेस्ट को चेहरे पर लगाएं।
  • अब 15-20 मिनट के लिए पेस्ट को चेहरे पर लगे रहने दें।
  • फिर ठंडे पानी से चेहरे को धो लें।
  • यह प्रक्रिया आप हफ्ते में दो बार कर सकते हैं।

खुबानी कई विटामिन्स (ए, सी, ई) से समृद्ध होती है, जो त्वचा के लिए एंटी-एजिंग और ब्यूटी एजेंट के रूप में काम करती है (4) (19) (20)। चेहरे की चमक बढ़ाने के लिए आप खुबानी का इस्तेमाल बताए गए तरीके से कर सकते हैं।

17. त्वचा विकार

विटामिन-सी और ए से भरपूर होने के कारण खुबानी का तेल संवेदनशील त्वचा के लिए कारगर माना जाता है। यह एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुणों से समृद्ध होता है, जो त्वचा संक्रमण से आपको निजात दिला सकता है (21)।

कैसे करें इस्तेमाल

खुबानी के तेल को आप एसेंशियल ऑयल के साथ मिलाकर त्वचा संक्रमण को ठीक करने के लिए प्रयोग कर सकते हैं। अच्छा होगा कि आप संक्रमित त्वचा के लिए खुबानी का तेल डॉक्टर के परामर्श पर ही इस्तेमाल करें।

बालों के लिए खुबानी के फायदे – Hair Benefits of Apricot in Hindi

स्वास्थ्य और त्वचा के अलावा खुबानी का इस्तेमाल बालों के लिए भी किया जा सकता है। नीचे जानिए बालों के लिए खुबानी के फायदों के बारे में –

1. बालों का विकास

खुबानी एक गुणकारी फल है, जो अपने विभिन्न पोषक तत्वों से बालों को स्वस्थ रखने का काम करता है। खुबानी के तेल में मौजूद विटामिन-ई बालों बढ़ाने में सहयोग करता है (4), (20)।

कैसे करें इस्तेमाल

  • खुबानी का तेल आप अपने रेगुलर शैंपू और कंडीशनर के साथ मिलाकर इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • आप इसकी चार-पांच बूंद जैतून या बादाम तेल के साथ मिलाकर स्कैल्प की मालिश कर सकते हैं।
  • मसाज के एक-दो घंटे बाद शैंपू से बालों को धो लें।
  • यह प्रक्रिया आप हफ्ते में दो बार कर सकते हैं।

2. स्कैल्प की समस्याएं

Apricot for Scalp Problems in Hindi Pinit

Shutterstock

खुबानी का तेल विटामिन-ए और ई से समृद्ध होता है। यह तत्व की मरम्मत करने का काम करता है। ड्राई स्कैल्प और रूसी के लिए खुबानी का तेल कारगर हो सकता है। यह तेल स्कैल्प को हाइड्रेट कर स्वस्थ रखने का काम करता है (4), (20), (21)। नीचे जानिए कि प्रकार करें खुबानी के तेल का इस्तेमाल-

कैसे करें इस्तेमाल

  • खुबानी के तेल को आप शैंपू के साथ मिलाकर प्रयोग में ला सकते हैं।
  • आप जैतून या बादाम तेल में इसकी चार-पांच बूंदें मिलाकर स्कैल्प की मालिश कर सकते।
  • मालिश के बाद एक-दो घंटे बाद शैंपू से बालों को धो लें।
  • यह प्रक्रिया आप हफ्ते में दो बार कर सकते हैं।

खुबानी के पौष्टिक तत्व – Apricot Nutritional Value in Hindi

खुबानी
प्रति 100 ग्राम
पोषक तत्वपोषक मूल्यआरडीए का प्रतिशत
ऊर्जा50 Kcal2.5%
कार्बोहाइड्रेट11 g8.5%
प्रोटीन1.4 g2.5%
कुल फैट0.4 g1%
कोलेस्ट्रॉल0 mg0%
डाइटरी फाइबर2 g5%
विटामिन
फोलेट9 µg2%
नियासिन0.600 mg4%
पैंटोथेनिक एसिड0.240 mg5%
पाइरिडोक्सिन0.054 mg5%
रिबोफ्लेविन0.040 mg3%
थियामिन0.030 mg2.5%
विटामिन-ए1926 IU64%
विटामिन-सी10 mg16%
विटामिन-ई0 mg0%
विटामिन के3.3 µg3%
इलेक्ट्रोलाइट
सोडियम1mg0
पोटैशियम259mg5.5%
मिनरल्स
कैल्शियम13 mg0%
कॉपर
आयरन0.39 mg5%
मैग्नीशियम10 mg2.5%
मैंगनीज0.077 mg3%
फास्फोरस23 mg3%
जिंक0.2 mg2%
साइटो न्यूट्रिएंट
कैरोटीन -ए19 µg
कैरोटीन-ß1094 µg
क्रिप्टो-जैथिन-बी104 µg
लुटें ज़ेआक्शंतहीं89 µg

खुबानी का उपयोग – How to Use Apricot in Hindi

  • आप खुबानी को दही के साथ मिलाकर भी खा सकते हैं या अपने सुबह के नाश्ते में दलिये के साथ मिलाकर सेवन कर सकते हैं।
  • जूसर की मदद से खुबानी मिल्क शेक भी बनाया जा सकता है।
  • आप इसे धोकर ऐसे ही खाएं या फिर काटकर, यह फल हर प्रकार से स्वादिष्ट साबित होगा।

खुबानी के नुकसान – Side Effects of Apricot in Hindi

  • एक अध्ययन के अनुसार खुबानी के बीजों का सेवन जानलेवा रसायन का कारण बन सकता है (22)।
  • सूखी हुए खुबानी का सेवन आंतों में रूकावट (bowel obstruction) का कारण बन सकता है (23)।
  • सूखी हुए खुबानी से उल्टी और पेट के नीचे दर्द (Abdominal Pain) हो सकता है (24)।

अब तो आप शरीर के लिए खुबानी के विभिन्न फायदों के बारे में जान गए होंगे। दोस्तों, खुबानी कई औषधीय गुणों से समृद्ध एक स्वादिष्ट फल है, जिसे आप अपनी जीवनशैली का हिस्सा बना सकते हैं। इसका इस्तेमाल चेहरे की चमक बढ़ाने से लेकर पेट की गंभीर समस्या से निजात पाने के लिए किया जा सकता है। यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। खुबानी से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए आप हमसे सवाल भी पूछ सकते हैं।

और पढ़े:

संबंधित आलेख