घनी और खूबसूरत पलकें पाने के लिए 9 घरेलू उपाय – Home Remedies for Long Eyelashes In Hindi

Medically reviewed by Dr. Zeel Gandhi, Ayurvedic Doctor
by

खूबसूरत आंखें हर शख्स के चेहरे का नूर बढ़ा देती हैं। अगर किसी महिला की पलकें घनी और गहरी हों, तो खूबसूरती बेमिसाल लगती है। यही कारण है कि युवतियां घनी पलकों की चाहत रखती हैं, इसलिए कई युवतियों के मन में बार-बार यह सवाल आता है कि पलकें कैसे बढ़ाएं। खासकर जिन युवतियों की पलकें हल्की होती हैं, वो इन्हें घना बनाने के लिए मेकअप और आर्टिफिशियल लैशेज लगाती हैं। कुछ लड़कियां तरह-तरह के घरेलू नुस्खें अपनाती हैं। इसी वजह से स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम पलकें बढ़ाने के लिए घरेलू उपाय की जानकारी लेकर आए हैं।

शुरू करते हैं लेख

सबसे पहले जानते हैं कि पतली और छोटी पलकें होने के कारण क्या हैं।

पलकें पतली और छोटी होने के कारण- Causes of Thin And Shorten Eyelashes in hindi

पतली और छोटी पलकें होने की कई वजह हो सकती हैं। यह समस्या कभी बीमारियों और कभी हमारी दिनचर्या के कारण हो सकती है। इन कारणों के बारे में हम विस्तार से बता रहे हैं (1) (2)

  • आई कॉस्मेटिक्स
  • मैड्रोसिस (Madarosis) जैसी स्थिति जिसमें आई लैशेज झड़ने लगती है
  • एटॉपिक डर्मेटाइटिस (स्किन एलर्जी)
  • मीबोमियन ग्लैंड डायफंक्शन के कारण
  • एलोपेशिया यूनिवर्सलिस (बाल झड़ने की बीमारी)
  • ब्लेफेरिटिस (Blepharitis) यानी पलकों की सूजन
  • आंखों से संबंधित अन्य बीमारियां
  • एलोपेशिया एरियाटा की स्थिति के कारण
  • कुछ दवाओं के कारण
  • बढ़ती उम्र की वजह से

पढ़ते रहें यह आर्टिकल

अब जानते हैं कि आई लैशेज बढ़ाने के घरेलू नुस्खे क्या हो सकते हैं।

आई लैशेज बढ़ाने के लिए घरेलू उपाय – Home Remedies for Long Eyelashes in Hindi

पलकें लंबी और घनी बनाने के लिए कुछ प्रचलित घरेलू उपचार के बारे में हम नीचे बता रहे हैं। इन सभी घरेलू उपचारों से जुड़ी जानकारी हमने बालों को बढ़ावा देने वाले गुण के आधार पर दी है। इसका कारण ये है कि पलकें भी कुछ और नहीं, बल्कि बाल ही हैं, जो हमारी आंखों की रक्षा करते हैं। इसी वजह से माना जाता है कि बालों की ग्रोथ से जुड़ी गतिविधि पलकों को भी बढ़ा सकती हैं। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं, क्योंकि पलकों के संबंध में वैज्ञानिक शोध का अभाव है।

1. अरंडी का तेल

सामग्री :

  • एक से दो बूंद अरंडी का तेल
  • एक बूंद टी-ट्री ऑयल

उपयोग की विधि :

  • अरंडी के तेल में टी-ट्री ऑयल मिला लें।
  • अब इस मिश्रण को मस्कारा ब्रश या ईयर बड की मदद से रात को पलकों पर लगाएं।
  • रात भर इसे पलकों पर लगा रहने दें।
  • सुबह पानी से आंखों को धो लें।
  • इसे रोजाना रात को पलकों पर लगाकर सोएं।

कैसे है लाभकारी:

अरंडी का तेल आई लैशेज बढ़ाने के लिए घरेलू उपाय का काम कर सकता है। एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध के अनुसार, अरंडी के तेल से बालों को बढ़ाने में मदद मिल सकती है (3)। एक अन्य रिसर्च में लिखा है कि अरंडी के तेल में मौजूद फैटी एसिड और विटामिन-ई बालों के विकास को बढ़ावा दे सकते हैं (4)

वहीं, टी-ट्री ऑयल पलकों में होने वाली सूजन (ब्लेफेराइटिस) और आंखों की बीमारी मीबोमियन ग्लैंड डायफंक्शन को ठीक कर सकता है। हम ऊपर बता ही चुके हैं कि इन दोनों की वजह से पलकें झड़ सकती हैं (5)। इसी वजह से माना जाता है कि इन दोनों तेल के मिश्रण से पलकों की ग्रोथ हो सकती है।

2. नारियल का तेल

सामग्री: 

  • एक चम्मच नारियल का तेल

उपयोग की विधि:

  • सबसे पहले पलकों को अच्छी तरह साफ कर लें।
  • फिर रूई को तेल में भिगोकर पलकों पर लगाएं।
  • इसे रातभर के लिए लगे रहने दें।
  • सुबह पानी से मुंह और पलकों को अच्छी तरह धो लें।
  • इस प्रक्रिया को प्रतिदिन दोहरा सकते हैं।

कैसे है लाभकारी:

 

आंखों की पलकें बढ़ाने के लिए नारियल तेल का उपयोग किया जाता है। बताया जाता है कि यह तेल बालों की ग्रोथ को बढ़ावा देता है। साथ ही यह बालों को पोषण देने और मजबूत बनाने में भी मदद कर सकता है। इसी वजह से कहा जाता है कि नारियल तेल पलकों को भी घना और लंबा बना सकता है (6)

3. विटामिन-ई

सामग्री :

  • एक विटामिन-ई कैप्सूल

उपयोग की विधि:

  • विटामिन-ई कैप्सूल में एक पिन से छेद करें
  • अब इसका तेल निकालकर साफ उंगलियों से अपनी पलकों पर लगा लें।
  • इस तेल को तीन-चार घंटे या पूरी रात पलकों पर लगा रहने दें।
  • फिर सुबह साफ पानी से आंखों को धो लें।
  • बेहतर परिणाम के लिए रोज आंखों पर विटामिन-ई कैप्सूल का तेल लगा सकते हैं।

कैसे है लाभकारी:

विटामिन-ई कैप्सूल को भी पलक बढ़ाने के तरीके में शामिल किया जा सकता है। एक शोध के मुताबिक, विटामिन-ई में टोकोट्रिनॉल कंपाउंड होता है, जो बालों की संख्या को बढ़ाने और एलोपेशिया की समस्या से राहत दिला सकता है (7)। हम ऊपर बता ही चुके हैं कि एलोपेशिया के कारण भी पलकों के झड़ने व पतले होने की समस्या हो सकती है। इसी वजह से पलकें घनी करने के घरेलू उपाय के तौर पर विटामिन-ई का उपयोग किया जाता है।

4. ग्रीन-टी

सामग्री :

  • एक चम्मच ग्रीन-टी की पत्तियां
  • एक कप गर्म पानी

उपयोग की विधि:

  • एक कप गर्म पानी में ग्रीन-टी की पत्तियां डालकर कुछ देर उबाल लें।
  • जब पानी ठंडा हो जाए, तो उसे पलकों पर लगाएं।
  • इस पानी को रातभर अपनी पलकों पर लगा रहने दें।
  • अगली सुबह पानी से चेहरा धो लें।
  • ऐसा रोजाना किया जा सकता है।

कैसे है लाभकारी: 

पलकें बढ़ाने के लिए घरेलू उपाय के तौर पर ग्रीन-टी का इस्तेमाल किया जा सकता है। इस संबंध में प्रकाशित एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार, ग्रीन टी के अर्क से बनाया गया जेल पलकों को बढ़ाने के लिए प्रभावी रूप से काम कर सकता है। इससे पलकें लंबी हो सकती हैं और इसका उपयोग सुरक्षित भी होता है (8)। फिलहाल, ग्रीन-टी में मौजूद पलकों को लाभ पहुंचाने वाला गुण स्पष्ट नहीं है।

5. लेमन पील ऑयल

सामग्री :

  • एक नींबू का छिलका
  • दो कप जैतून या अरंडी का तेल

उपयोग की विधि:

  • नींबू के छिलके को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें और दो-तीन दिन के लिए इसे किसी एक तेल में भिगो दें।
  • अब इस तेल को सोने से पहले अपनी पलकों पर लगाएं।
  • घनी और खूबसूरत पलकें पाने के लिए इसे रोजाना सोने से पहले पलकों पर लगाएं।

कैसे है लाभकारी:

अगर कोई सोच रहा है कि आई लैशेज को घना कैसे करें, तो उन्हें हम नींबू के छिलके से बने तेल का उपयोग करने की सलाह देंगे। इस संबंध में प्रकाशित एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार, नींबू के तेल में मिटीसिडल एक्टिविटी (Miticidal Activity) होती है। यह गतिविधि माइट (कीट जैसे सूक्ष्म जीव) के कारण झड़ने वाले बालों को दोबारा से ग्रो करने करने में मदद कर सकता है (9)

6. पेट्रोलियम जेली

सामग्री :

  • पेट्रोलियम जेली आवश्यकतानुसार

उपयोग की विधि:

  • सावधानीपूर्वक अपनी पलकों पर पेट्रोलियम जेली लगाएं।
  • अब कुछ देर इससे मसाज करें और रात भर लगाकर छोड़ दें।
  • इसे हर रात को सोने से पहले लगा सकते हैं।

कैसे है लाभकारी:

पलकें घनी करने के घरेलू उपाय में पेट्रोलियम जेली व वैसलीन को भी शामिल किया जा सकता है। एक मेडिकल रिसर्च में दिया है कि पेट्रोलियम जेली माइट के कारण ब्लेफेरिटिस जैसी समस्या को कम किया जा सकता है। यह माइट्स को मारकर पलकें झड़ने का कारण बनने वाले ब्लेफेरिटिस से छुटकारा दिला सकता है (10)। इसी वजह से माइट्स या फिर उसके कारण होने वाले ब्लेफेरिटिस की वजह से किसी की पलकें पतली हो गई हैं, तो परेशानी को कुछ कम किया जा सकता है।

7. शिया बटर

सामग्री :

  • शिया बटर आवश्यकतानुसार

उपयोग की विधि:

  • सबसे पहले उंगलियों पर थोड़ा-सा शिया बटर लें और अच्छी तरह रगड़ कर पिघला लें।
  • अब इसे पलकों पर लगाएं।
  • इसे पलकों पर लगाकर रात भर के लिए छोड़ दें और सुबह पानी से धो लें।
  • बेहतर परिणाम के लिए ऐसा रोज रात को सोने से पहले प्रयोग करें।

कैसे है लाभकारी:

शिया बटर का उपयोग आई लैशेज बढ़ाने के लिए घरेलू उपाय के रूप में किया जा सकता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक वैज्ञानिक शोध के मुताबिक, शिया बटर में जिंक, मैग्नीशियम और कॉपर पाया जाता है, जो बालों को स्वस्थ रखने का काम कर सकता है (11)। माना जा सकता है कि इससे इससे पलकों के विकास को भी लाभ मिल सकता है।

8. जैतून का तेल

सामग्री :

  • एक से दो बूंद जैतून का तेल
  • एक से दो बूंद अरंडी का तेल
  • एक ईयर बड

उपयोग की विधि:

  • सबसे पहले जैतून के तेल और अरंडी के तेल को अच्छी तरह मिला लें।
  • रात को सोने के पहले ईयर बड की मदद से इस तेल को पलकों पर लगाएं।
  • सुबह उठकर मुंह को रोजाना की तरह पानी से धो लें।
  • इस प्रक्रिया को रोजाना रात को सोने से पहले करें।

कैसे है लाभकारी:

अगर आप अभी भी सोच रहे हैं कि आंखों की पलकें कैसे बढाएं, तो उन्हें जैतून के तेल को इस्तेमाल करने का सुझाव देंगे। इस संबंध में पब्लिश एक रिसर्च पेपर में दिया हुआ है कि इसमें ओल्यूरोपिन केमिकल कंपाउंड होता है (12)। इसे बालों के विकास को बढ़ावा देने के लिए जाना जाता है (13)। इसलिए, कहा जाता है कि पलकों पर भी जैतून का तेल सकारात्मक असर दिखा सकता है।

9. बायोटिन

सामग्री :

  • बायोटिन युक्त खाद्य पदार्थ और बायोटिन सप्लीमेंट्स

उपयोग की विधि:

  • रोजाना बायोटिन युक्त खाद्य पदार्थों को आहार में शामिल करें।
  • डॉक्टर की सलाह पर प्रतिदिन बायोटिन सप्लीमेंट का सेवन भी कर सकते हैं।

कैसे है लाभकारी:

आंखों की पलक कैसे बढ़ाएं, इस सवाल का जवाब बायोटिन युक्त खाद्य पदार्थ भी है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर पब्लिश एक वैज्ञानिक अध्ययन में दिया हुआ है कि बायोटिन की कमी से बालों, भौंहें और पलकें झड़ सकती हैं। ऐसे में बायोटिन सप्लीमेंट लेने से इन्हें झड़ने से रोका या कम किया जा सकता है (14)। अगर बायोटिन सप्लीमेंट लेना चाह रहे हैं, तो एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर लें। विशेषज्ञ इस सप्लीमेंट की सही खुराक के बारे में बता सकते हैं।

स्क्रॉल करें

आई लैशेज को घना कैसे करें के घरेलू उपाय जानने के बाद टिप्स के बारे में बात करते हैं।

आई लैशेज बढ़ाने के लिए टिप्स और सावधानियां – Tips and Precaution to Get Long Eyelashes in Hindi

आई लैशेज से जुड़ी कुछ सावधानियां बरतने से इसे नुकसान से बचाया जा सकता है। इसी वजह से नीचे हम कुछ टिप्स और सावधानियों के बारे में बता रहे हैं:

  • रात को आंखों से मेकअप उतारकर सोएंआंखों में अगर थोड़ा भी मेकअप लगा हो, तो उसे साफ करके ही सोएं। कई लोग मस्कारा को साफ किए बिना ही सो जाते हैं। ऐसी गलती बिल्कुल न करें।
  • खानपान – पलकों को घना बनाए रखना चाहते हैं, तो पोषक तत्व युक्त भोजन खाएं। इससे पलकों को स्वस्थ रखने और बीमारियों से बचाए रखने में मदद मिल सकती है।
  • आंखें रगड़ने से बचें- अगर कभी आंखों में कुछ चला जाए, तो उसे रगड़ने से बचें। आंखों को रगड़ने से पलकें पर भी बुरा असर पड़ सकता है, वो कमजोर होकर टूट सकती हैं।
  • सावधानी से चेहरे पर क्रीम लगाएं – अक्सर लोग चेहरे पर क्रीम लगाते समय आंखों पर भी लगा लेते हैं। ऐसा करने से बचें। इससे आंखों और पलकों दोनों को नुकसान हो सकता है। कुछ क्रीम से एलर्जी होने कारण पलकें पतली व कमजोर हो सकती हैं।
  • मसाज – स्कैल्प की मसाज करने से बालों के विकास में मदद मिलती है ()। इसी आधार पर माना जाता है कि पलकों के शुरुआती हिस्से की मसाज भी उसकी ग्रोथ के लिए फायदेमंद हो सकती है।

जब बालों की देखभाल की जाती है, तो पलकों की अनदेखी क्यों? अगर आपको पलकों का ख्याल रखने का तरीका अब तक पता नहीं था, तो ऊपर बताए गए घरेलू उपचार और टिप्स की मदद ले सकते हैं। इनसे पलकों को नुकसान पहुंचने का खतरा बिल्कुल नहीं होगा, क्योंकि हमने प्राकृतिक तेल, केयर टिप्स और कुछ विटामिन के बारे में बताया है। बस अब बिना किसी घबराहट के इन नुस्खों को आजमाएं और अपनी पलकों पर भी बालों की तरह ही ढेर सारा प्यार लुटाएं।

आगे जानते हैं पलकों को बढ़ाने से जुड़े कुछ सवालों के जवाब।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

पलकों को काटने के बाद उन्हें बढ़ने में कितना समय लगता है?

पलकों को काटने की सलाह नहीं दी जाती है, इसलिए ऐसा करने से बचें। अगर किसी ने पलकों को काट लिया है, तो ध्यान दें कि इसकी ग्रोथ सामान्य बालों से बहुत धीमी होती है।

आई लैश बढ़ाने के लिए सबसे अच्छा सीरम कौन-सा है?

बाजार में कई सारे लैश बढ़ाने वाले आई सीरम हैं, लेकिन बेहतर होगा इसे विशेषज्ञ की सलाह पर ही खरीदें।

क्या लैश एक्सटेंशन आपके प्राकृतिक लैशेज को नुकसान पहुंचा सकते हैं?

लैश एक्सटेंशन से प्राकृतिक आई लैशेज को नुकसान पहुंच सकता है या नहीं, इस पर किसी तरह का स्पष्ट वैज्ञानिक शोध उपलब्ध नहीं है। हां, लेकिन ऐसा माना जाता है कि लैश एक्सटेंशन के उपयोग से पलकों पर बुरा असर पड़ सकता है। वैसे यह लैश एक्सटेंशन की गुणवत्ता पर भी निर्भर करता है।

संदर्भ (Sources):

Stylecraze has strict sourcing guidelines and relies on peer-reviewed studies, academic research institutions, and medical associations. We avoid using tertiary references. You can learn more about how we ensure our content is accurate and current by reading our editorial policy.
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Bhupendra Verma

भूपेंद्र वर्मा ने सेंट थॉमस कॉलेज से बीजेएमसी और एमआईटी एडीटी यूनिवर्सिटी से एमजेएमसी किया है। भूपेंद्र को लेखक के तौर पर फ्रीलांसिंग में काम करते 2 साल हो गए हैं। इनकी लिखी हुई कविताएं, गाने और रैप हर किसी को पसंद आते हैं। यह अपने लेखन और रैप करने के अनोखे स्टाइल की वजह से जाने जाते हैं। इन्होंने कुछ डॉक्यूमेंट्री फिल्म की स्टोरी और डायलॉग्स भी लिखे हैं। इन्हें संगीत सुनना, फिल्में देखना और घूमना पसंद है।

ताज़े आलेख

scorecardresearch