Written by , (शिक्षा- एमए इन जर्नलिज्म मीडिया कम्युनिकेशन)

किशमिश का प्रयोग लगभग हर घर में किया जाता है। कोई ड्राइफ्रूट के रूप में, तो कोई स्वीट डिश की गार्निशिंग के लिए इसका इस्तेमाल करता है। अमूमन सभी लोग जानते हैं कि छोटी सी दिखने वाली किशमिश कई गुणों से भरपूर होती है, लेकिन क्या आप किशमिश के पानी के औषधीय गुणों के बारे में जानते हैं? यही कारण है कि स्टाइलक्रेज के इस लेख में किशमिश का पानी पीने के फायदे और नुकसान के बारे में विस्तार से जानेंगे। साथ ही, इस लेख में किशमिश का पानी बनाने की विधि व किशमिश का पानी पीने के तरीके के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी दी गई है।

लेख पढ़ना शुरू करें

लेख की शुरुआत करते हैं किशमिश का पानी पीने के फायदे के साथ।

किशमिश का पानी पीने के फायदे – Kishmish Ka Pani Peene Ke Fayde in Hindi

किशमिश का पानी पीने के फायदे कई सारे हैं, लेकिन इससे जुड़े वैज्ञानिक शोध की कमी है। लेख में नीचे हम किशमिश के आधार पर किशमिश के पानी से होने वाले स्वास्थ्य लाभ के बारे में बता रहे हैं। ध्यान रखें कि किशमिश का पानी किसी भी बीमारी से बचाव व उसके प्रभाव को कम करने में सहायक हो सकता है, लेकिन पूर्ण इलाज डॉक्टरी परामर्श पर ही निर्भर करता है।

1. लिवर डिटॉक्सिफाई करने में सहायक

लिवर को स्वस्थ रखने के लिए किशमिश का पानी एहम भूमिका निभा सकता है। इस बात की पुष्टि दो अलग-अलग शोध से होती है। एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की साइट पर प्रकाशित एक शोध में जिक्र मिलता है कि किशमिश का सेवन लिवर को डिटॉक्सिफाई करने में मदद कर सकता है (1)

वहीं, अन्य शोध में भी पाया गया है कि किशमिश के अर्क में एंटीऑक्सीडेंट के साथ लिवर को सुरक्षित रखने वाला प्रभाव मौजूद होता है (2)। इस वजह से ऐसा कहा जा सकता है कि लिवर को डिटॉक्स करने के लिए किशमिश के पानी का उपयोग लाभकारी हो सकता है।

2. एसिडिटी से बचाव के लिए

किशमिश का पानी पेट में एसिड को नियंत्रित करने में मददगार हो सकता है। दरअसल, एक शोध में साफ तौर से बताया गया है कि किशमिश में एल्कलाइन गुण मौजूद होता है, जो शरीर में बनने वाले एसिड की मात्रा को नियंत्रित करने में अहम भूमिका निभा सकता है (3)। ऐसे में माना जा सकता है कि किशमिश पानी पीने के फायदे में एसिडिटी की समस्या से राहत पाना भी शामिल है।

3. इम्यूनिटी को बूस्ट करने के लिए

किशमिश में भरपूर मात्रा में विटामिन-सी मौजूद होता है (4)। बता दें, विटामिन-सी एक कारगर एंटीऑक्सीडेंट है, जो शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने में सहायक हो सकता है (5)। इसके अलावा, एक अन्य रिसर्च में भी इस बात का जिक्र मिलता है कि किशमिश का सेवन प्रतिरक्षा प्रणाली में सुधार कर सकता है (6)। इस आधार पर किशमिश के पानी को रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए उपयोगी माना जा सकता है।

4. हृदय स्वास्थ्य होगा बेहतर

किशमिश के पानी के फायदे हृदय स्वास्थ्य को बेहतर बना सकते हैं। अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के अनुसार, किशमिश में मौजूद पॉलीफेनॉल शरीर में मौजूद खराब कोलेस्ट्रॉल यानी एलडीएल और ट्राइग्लिसराइड्स यानी रक्त में मौजूद एक तरह के फैट को कम कर हृदय स्वास्थ पर सकारात्मक असर दिखा सकता है (7)। इस तथ्य के आधार पर माना जा सकता है कि किशमिश का पानी हृदय रोग के जोखिम को काफी हद तक कम कर सकता है ।

5. कैंसर से बचाव

कैंसर के लिए भी किशमिश के पानी के फायदे देखे जा सकते हैं। दरअसल, एनसीबीआई द्वारा किए गए एक रिसर्च के अनुसार, किशमिश का सेवन कैंसर से लड़ने में मददगार हो सकता है। हालांकि, किशमिश का कौन सा गुण कैंसर से बचाव के लिए उपयोगी हो सकता है, इस बात की पुष्टि नहीं की गई है (8)

इसके अलावा, एक अन्य शोध से पता चलता है कि किशमिश के मेथनॉल एक्सट्रैक्ट में एंटी रेडिकल और कैंसर प्रिवेंटिव गुण पाए जाते हैं, जो कोलन कैंसर से बचाव में कुछ हद तक मददगार हो सकते हैं (9)। यहां हम स्पष्ट कर दें किशमिश का पानी कैंसर का इलाज नहीं है। कैंसर से बचाव के तौर पर इसे अपने आहार का हिस्सा बनाना फायदेमंद हो सकता है। वहीं, कैंसर जैसी गंभीर बीमारी होने पर घरेलू उपचार की जगह डॉक्टर से इलाज करवाना चाहिए।

6. मल त्याग की प्रक्रिया में सुधार के लिए

मल त्याग की प्रक्रिया को बेहतर बनाने में भी किशमिश का पानी लाभकारी हो सकता है।  इस बात की पुष्टि एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन) में प्रकाशित एक शोध में भी होती है। दरअसल, किशमिश में डाइट्री फाइबर और फाइटोकेमिकल्स मौजूद होते हैं, जो मल त्याग की प्रक्रिया में काफी हद तक सुधार कर सकते हैं (10)। ऐसे में किशमिश के पानी को भी मल त्याग प्रक्रिया में सुधार के लिए गुणकारी माना जा सकता है।

7. वजन कम करने में सहायक

किशमिश के पानी के फायदे में वजन को नियंत्रित करना भी शामिल है। एनसीबीआई में पब्लिश एक वैज्ञानिक रिसर्च में बताया गया है कि किशमिश में डाइटरी फाइबर और प्रीबायोटिक मौजूद होते हैं। ये दोनों ही तत्व पेट में अच्छे व स्वस्थ बैक्टीरिया को बनाने के साथ वजन को नियंत्रित करने में सहायक हो सकते हैं। हालांकि, पाठक इस बात का ध्यान रखें कि सिर्फ किशमिश का पानी पीकर वजन नियंत्रित नहीं किया जा सकता है। इसके साथ ही व्यायाम व आहार पर ध्यान देना भी आवश्यक है (11)

8. रक्तचाप के लिए

किशमिश का पानी पीने के फायदे में रक्तचाप को नियंत्रित करना भी शामिल है। किशमिश से संबंधित एक शोध में बताया गया है कि किशमिश में मौजूद पोटैशियम उच्च रक्तचाप को नियंत्रित कर सकता है (12)। यही वजह है कि रक्तचाप को नियंत्रित करने में किशमिश का पानी उपयोगी हो सकता है।

9. एनीमिया के लिए फायदेमंद

आयरन की कमी के कारण होने वाली एनीमिया की समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए किशमिश के पानी का सेवन फायदेमंद हो सकता है। दरअसल, किशमिश में आयरन की प्रचूर मात्रा मौजूद होती है (4)। इस प्रकार नियमित रूप से किशमिश के पानी का सेवन आयरन की कमी को दूर कर सकता है।

10. हड्डियों के लिए

हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए किशमिश का पानी लाभकारी साबित हो सकता है। एक शोध के अनुसार, किशमिश में बोरोन मिनरल की प्रचूर मात्रा होती है, जो स्केलेटल मेंटेनेंस यानी हड्डियों को स्वस्थ रखने में मदद कर सकती है (8)। बता दें, बोरोन को हड्डी स्वास्थ्य बनाए रखने के लिए जाना जाता है (13)

इसके अलावा, एक अन्य शोध में पाया गया कि किशमिश में मौजूद कैल्शियम हड्डियों को स्वस्थ बनाए रखने में मददगार हो सकता है (14)। इन तथ्यों के आधार पर माना जा सकता है कि किशमिश पानी पीने के फायदे में हड्डी स्वास्थ्य को भी गिना जाता है।

11. ब्लड शुगर लेवल नियंत्रित

किशमिश पानी पीने के फायदे में ब्लड शुगर को नियंत्रित करना भी शामिल है। एक रिसर्च पेपर के अनुसार किशमिश का ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है, जो इंसुलिन रिस्पांस को संतुलित रखने में मददगार हो सकता है। इससे काफी हद तक शुगर को नियंत्रित करने में सहायता मिल सकती है (11)

जिन लोगों को शुगर कि समस्या है, उन्हें भ्रम होता है कि वो किशमिश का सेवन नहीं कर सकते पर ऐसा नहीं है। डायबिटीज से ग्रसित लोग सीमित मात्रा में किशमिश का सेवन कर सकते हैं। इसके बावजूद अगर कोई शुगर पेशेंट है, तो वो किशमिश के पानी को आहार में शामिल करने से पहले किसी आहार विशेषज्ञ से परामर्श अवश्य लें।

12. त्वचा के लिए

किशमिश के पानी का सेवन त्वचा के लिए लाभकारी हो सकता है। एक शोध में किशमिश को त्वचा के लिए एक बेहतरीन टोनर बताया गया है (15)। इसके अलावा, एक अन्य शोध के अनुसार किशमिश में मौजूद एंटी बैक्टीरियल प्रभाव एस.औरियस (Staphylococcus Aureus) जैसे बैक्टीरिया से लड़ने में मददगार हो सकता है (5)। बता दे, एस.औरियस बैक्टीरिया से स्किन इंफेक्शन हो सकता है (16)। इस आधार पर त्वचा के लिए किशमिश के पानी को एक बेहतर विकल्प माना जा सकता है।

13. बालों के लिए

किशमिश का पानी बालों के लिए फायदेमंद हो सकता है। एक शोध की मानें तो विटामिन सी और आयरन की कमी के कारण बाल झड़ने की समस्या हो सकती है (17)। वहीं, किशमिश में आयरन और विटामिन-सी दोनों ही पाए जाते हैं (4)। ऐसे में माना जा सकता है कि बालों की समस्या से निजात दिलाने के लिए किशमिश के पानी का सेवन उपयोगी साबित हो सकता है।

अंत तक पढ़ें

आगे जानिए किशमिश का पानी बनाने की विधि क्या है।

किशमिश का पानी बनाने की विधि

सामग्री 

  • 2 कप पानी
  • 80-90 ग्राम  किशमिश

बनाने की विधि 

  • सबसे पहले एक पैन में पानी उबलने रख दें।
  • आंच बंद कर दें। गर्म पानी में किशमिश को रातभर पानी में भिगोकर रख दें।
  • सुबह पानी को छान लें और धीमी आंच पर गर्म करें।
  • इस पानी को सुबह खाली पेट पिएं। 

स्क्रॉल करें

लेख के अगले भाग में जानिए किशमिश का पानी पीने का तरीका क्या है।

किशमिश का पानी पीने का तरीका

किशमिश के पानी का निम्नलिखित तरीकों से सेवन किया जा सकता है :

  • किशमिश के पानी को हर उसे रोज सुबह डिटॉक्स ड्रिंक के रूप में खाली पेट ले सकते हैं।
  • किशमिश के पानी को खाना खाने से आधा घंटा पहले ले सकते हैं।
  • किशमिश के पानी को आटे में मिलाकर इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • किशमिश के पानी में ब्रेड स्लाइसेस डाल कर ब्रेड टोस्ट बना सकते हैं।

सामान्यतौर पर प्रतिदिन सुबह खाली पेट किशमिश का पानी पीने के फायदे से कई स्वास्थ लाभ हो सकते हैं, हर रोज 1-2 कप किशमिश का पानी का सेवन किया जा सकता है। हालांकि, इस बारे में सटीक वैज्ञानिक शोध का अभाव है, इसलिए बेहतर होगा कि इसकी मात्रा को लेकर एक बार डॉक्टर से परामर्श ले लें।

लेख को अंत तक पढ़ें

किशमिश के पानी के फायदे और उपयोग के बाद किशमिश का पानी पीने के नुकसान जान लेते हैं।

किशमिश का पानी पीने के नुकसान – Side Effects of Drinking Raisin Water In Hindi

किशमिश का पानी पीने के फायदे हैं, तो कुछ मामलों में इसके नुकसान भी हो सकते हैं। नीचे किशमिश का पानी पीने के नुकसान की जानकारी दे रहे हैं:

  • अधिक मात्रा में किशमिश का सेवन टाइप-2 डायबिटीज के जोखिम को बढ़ सकता है (18)। इसलिए डायबिटीज पेशेंट सीमित मात्रा में ही किशमिश के पानी का सेवन करें।
  • कुछ लोगों को किशमिश का सेवन करने से एलर्जी की शिकायत हो सकती है (19)। ऐसे में इन लोगों को किशमिश के पानी से भी परहेज करना चाहिए।
  • शोध के अनुसार किशमिश के सेवन से डायरिया और गैस की समस्या भी हो सकती है (20)। इसलिए, किशमिश के पानी का अत्यधिक मात्रा में सेवन करने से ये समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं।

किशमिश के पानी के लाभ जानने के बाद इसे अपनी डाइट में शामिल करने की इच्छा जरूर हो रही होगी, लेकिन इस बात का ध्यान अवश्य रखें कि अधिक मात्रा में इसका सेवन करने से कुछ नुकसान भी हो सकते हैं। यही कारण है कि लेख में बताए गए किशमिश के पानी को  बनाने व उपयोग करने के तरीके के साथ नुकसान के बारे में अवश्य समझ लें। अगर किसी तरह की स्वास्थ्य समस्या से जूझ रहे हैं, तो इसके सेवन से पहले डॉक्टर से जरूर सलाह लें। उम्मीद करते हैं कि इस लेख में दी गई सभी जानकारी आपके काम आएगी।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या किशमिश का पानी त्वचा के लिए अच्छा है?

जी हां, किशमिश का पानी त्वचा के लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है। एक शोध में इसे त्वचा के लिए एक बेहतरीन टोनर बताया गया है (15)। त्वचा के लिए इसके और भी फायदे हैं, जिनके बारे में लेख में ऊपर जानकारी दी जा चुकी है।

क्या काली किशमिश का पानी अच्छा होता है?

हां, किशमिश के पानी की तरह काली किशमिश का पानी भी स्वास्थ्य के लिए लाभकारी हो सकता है।।

क्या वजन बढ़ाने के लिए किशमिश का पानी अच्छा है?

हां, किशमिश के पानी के सेवन से शरीर का वजन बढ़ सकता है (11)

क्या मैं रोज किशमिश का पानी पी सकता हूं?

हां, हर रोज सीमित मात्रा में किशमिश के पानी का सेवन किया जा सकता है। लेख में ऊपर विस्तृत रूप से इसकी जानकारी दी गई है।

किशमिश को कब तक पानी में भिगोकर रखना चाहिए?

किशमिश को रातभर पानी में भिगोकर रख सकते हैं।

क्या किशमिश को पानी में भिगोना सही है?

हां, किशमिश को पानी में भिगोकर फायदेमंद माना जाता है।

मुनक्का का पानी पीने के फायदे क्या हैं ?

किशमिश और मुनक्का दोनों अंगूर से ही बनाए जाते हैं। इसलिए, इन दोनों के पोषक तत्व लगभग एक सामान होते हैं (4)। ऐसे में लेख में ऊपर बताए गए किशमिश पानी पीने के फायदे के समान ही मुनक्का का पानी पीने के फायदे हो सकते हैं।

काली किशमिश का पानी पीने के फायदे क्या हैं ?

हरी किशमिश की तरह काली किशमिश को भी अंगूर को सुखाकर बनाया जाता है। दोनों किशमिश के पोषक तत्व लगभग समान होते हैं। एक शोध में जिक्र है कि काली किशमिश में मौजूद एंटी-माइक्रोबियल गुण होता है। यह ई.कोली यानी यूरिन इन्फेक्शन फैलाने वाले बैक्टीरिया से राहत दिलाने में कारगर है (7)। इस आधार पर बैक्टीरियल इंफेक्शन को दूर करने के लिए काली किशमिश के पानी को लाभकारी माना जा सकता है।

संदर्भ (Sources) 

  1. Plants Consumption and Liver Health
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4499388/
  2. Raisins: A kitchen cabinet item can restores the liver function and structure
    https://www.researchgate.net/publication/343821161_Raisins_A_kitchen_cabinet_item_can_restores_the_liver_function_and_structure
  3. Application of diet to eliminate Gastroesophageal complications in people suffering from heartburn
    http://citeseerx.ist.psu.edu/viewdoc/download?doi=10.1.1.428.5910&rep=rep1&type=pdf
  4. Raisins, dark, seedless (Includes foods for USDA’s Food Distribution Program)
    https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/168165/nutrients
  5. Identification of phenolic compounds, antibacterial and antioxidant activities of raisin extracts
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6356098/
  6. Vitamins
    https://www.accessdata.fda.gov/scripts/interactivenutritionfactslabel/assets/InteractiveNFL_Vitamins&MineralsChart_March2020.pdf
  7. A Comprehensive review of Raisins and Raisin components and their relationship to human health
    https://www.researchgate.net/publication/319062831_A_Comprehensive_review_of_Raisins_and_Raisin_components_and_their_relationship_to_human_health
  8. Is Eating Raisins Healthy?
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/31878160/
  9. Chemopreventive properties of raisins originating from Greece in colon cancer cells
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/23211994/
  10. Dietary raisin intake has limited effect on gut microbiota composition in adult volunteers
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6404294/
  11. Acute effects of raisin consumption on glucose and insulin reponses in healthy individuals
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4153099/
  12. Evaluation of physico-chemical
    nutritional quality and safety of imported raisin samples available in Indian market
  13. Essential Nutrients for Bone Health and a Review of their Availability in the Average North American Diet
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3330619/
  14. Raisin Consumption by Humans: Effects on Glycemia and Insulinemia and Cardiovascular Risk Factors
    https://onlinelibrary.wiley.com/doi/full/10.1111/1750-3841.12071
  15. Alimental Excellence of Grapes, Prunes and Raisins for a Salubrious and tranquil Body Physiology
    http://soeagra.com/iaast/iaastsept2015/1.pdf
  16. Staphylococcal Infections
    https://medlineplus.gov/staphylococcalinfections.html
  17. The Effects of Overfeeding on Body Composition: The Role of Macronutrient Composition – A Narrative Review
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5786199/
  18. Fruit consumption and risk of type 2 diabetes: results from three prospective longitudinal cohort studies
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3978819/
  19. Raisin allergy in an 8 year old patient
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4304147/
  20. Chapter 90 Abdominal Gas
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK417/

Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
The following two tabs change content below.
पुजा कुमारी ने बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी से जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन में एमए किया है। इन्होंने वर्ष 2015 में अपने... more

ताज़े आलेख