सामग्री और उपयोग

किशमिश के 21 फायदे, उपयोग और नुकसान – Raisins Benefits, Uses and Side Effects in Hindi

by
किशमिश के 21 फायदे, उपयोग और नुकसान – Raisins Benefits, Uses and Side Effects in Hindi Hyderabd040-395603080 September 24, 2019

किशमिश के स्वाद से हर कोई वाकिफ है, लेकिन क्या आप इसके स्वास्थ्य लाभों के बारे में जानते हैं? आपको जानकर हैरानी होगी कि छोटे से आकार की किशमिश सिर्फ अपने मीठेपन तक सीमित नहीं है, बल्कि शरीर से जुड़ी कई सामान्य और गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए इसका सेवन किया जा सकता है। यह हाजमा ठीक करने से लेकर शरीर में ऊर्जा बढ़ाने तक का काम कर सकती है।

अगर आपके मन में किशमिश को लेकर उत्सुकता जाग चुकी है, तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें। हमारे साथ जानिए कि किशमिश आतंरिक स्वास्थ्य से लेकर त्वचा व बालों पर किस प्रकार काम करती है।

किशमिश के फायदे – Benefits of Raisins in Hindi

किशमिश को चुनिंदा ड्राई फ्रूट्स में गिना जाता है, जो अंगूर का सूखा रूप है, यानी इसे बनाने के लिए अंगूरों को सुखाया जाता है। यह सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है। इसमें वो सभी औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो अंगूर में होते हैं। किशमिश आयरन, कैल्शियम, फाइबर, पोटैशियम, मैग्नीशियम, एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुणों से समृद्ध होती है (1)। इसका नियमित सेवन करने से पाचन तंत्र व इम्यून सिस्टम के साथ-साथ हड्डियां और मांसपेशियां तक स्वस्थ रहती हैं।

आइए, नीचे जानते हैं कि किशमिश किस प्रकार शरीर के आंतरिक और बाहरी स्वास्थ्य को ठीक रखने में मदद कर सकती है।

सेहत के लिए किशमिश के फायदे – Health Benefits of Raisins in Hindi

1. एनीमिया से राहत

Raisins for anemia in Hindi Pinit

Shutterstock

एनीमिया जैसी घातक बीमारी का इलाज करने के लिए आप किशमिश का सेवन कर सकते हैं। शरीर में आयरन की कमी से एनीमिया जैसे बीमारी होती है और किशमिश इस कमी को पूरा करने का काम करती है। किशमिश आयरन और विटामिन-बी से समृद्ध होती है, जो एनीमिया के लिए फायदेमंद साबित हो सकती है (2)।

2. पाचन में सहायता

पाचन क्रिया को सही रखने के लिए आप रोजाना कुछ किशमिश खा सकते हैं। किशमिश अन्य जरूरी पोषक तत्वों के साथ-साथ फाइबर से भी समृद्ध होती है (3)। फाइबर भोजन को पचाने में सहायता करता है और कब्ज से भी राहत दिलाता है।

किशमिश का दैनिक सेवन आपको मल त्यागने में सहायता करेगा और इसमें मौजूद फाइबर विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करेगा। पाचन स्वास्थ्य के लिए रोजाना किशमिश का सेवन एक कारगर विकल्प हो सकता है।

3. हड्डियों के लिए

पाचन के अलावा किशमिश खाने का फायदा हड्डियों को भी मिलता है। यह कैल्शियम का अहम स्रोत है, जो हड्डियों के बेहतर स्वास्थ्य के लिए जरूरी तत्व है (4)। शरीर में कैल्शियम का स्तर बने रहने से गठिया और गाउट जैसी समस्याएं दूर रहती हैं।

4. कैंसर के लिए उपयोगी

आपको जानकर हैरानी होगी कि किशमिश कैंसर जैसी घातक बीमारी की आशंका को भी कम कर सकती है। इसमें कैटेचिन नामक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है, जो शरीर को मुक्त कणों (Free Radicals) से बचाने का काम करता है। ये मुक्त कण ट्यूमर और पेट के कैंसर का कारण बन सकते हैं (5)।

5. एसिडिटी

Raisins for acidity in hindi Pinit

Shutterstock

एसिडिटी एक आम समस्या है, जो खानपान में गड़बड़ी के कारण हो जाती है। इससे निजात पाने के लिए आप किशमिश का सहारा ले सकते हैं। किशमिश में पोटैशियम और मैग्नीशियम जैसे पोषक तत्व होते हैं (6)। ये पोषक तत्व एसिडिटी को कम करने का काम करते हैं। इसके अलावा, ये पोषक तत्व गठिया, गाउट, पथरी और यहां तक कि हृदय रोग जैसी बीमारियों को रोकने में भी मदद करते हैं।

6. ऊर्जावान

अंगूर को सूखाने के बाद उसमें मौजूद पोषक तत्व अधिक केंद्रित हो जाते हैं। आप रोजाना आधी मुट्ठी भर किशमिश नाश्ते में ले सकते है। इसमें विटामिन-बी के समूह (बी1, बी2, बी3, बी4, बी5, बी6, बी7 और बी12) से समृद्ध होती है, जो आपको दिन भर ऊर्जावान रखने में मदद करेंगे (1), (2)। इन पोषक तत्वों के अलावा इसमें मौजूद कार्बोहाइड्रेट भी एनर्जी का अच्छा स्रोत है। खासकर, अधिक शारीरिक श्रम करने वाले लोग किशमिश को अपने दैनिक जीवन में स्थान दे सकते हैं।

7. आंखों के लिए

आंखों के लिए भी किशमिश के फायदे बहुत हैं। इसमें पॉलीफेनोलिक फाइटोन्यूट्रिएंट्स नामक जरूरी तत्व प्रचुर मात्रा में पाया जाता है (7), जो कारगर एंटीऑक्सीडेंट है और आंखों की रोशनी को मजबूत रखने में मदद करता है। किशमिश में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट आंखों को कमजोर करने वाले मुक्त कणों से बचाता है, जो मोतियाबिंद का कारण बन सकते हैं।

8. मुंह और दांतों की देखभाल

किशमिश मुंह और दांतों के स्वास्थ्य के लिए लाभकारी है। इसमें ओलीनोलिक एसिड होता है, जो दातों को टूटने से और कैविटीज से बचाता है। इसके अलावा, किशमिश दांतों की बेहतर स्थिति बनाए रखने के लिए मुंह में बैक्टीरिया के विकास को भी रोकता है। चूंकि, इसमें कैल्शियम की अच्छी मात्रा होती है, इसलिए दांतों के छिलने और टूटने की स्थिति को नियंत्रित करता है (8)।

9. वजन बढ़ाने में मददगार

अगर आप अंडरवेट हैं और अपने वजन को बढ़ाना चाहते हैं, तो किशमिश आपकी मदद कर सकती है। किशमिश फ्रुक्टोज से भरपूर होती है, जो शरीर का वजन बढ़ाने में मदद कर सकती है (9)।

10. उच्च रक्तचाप

उच्च रक्तचाप से परेशान लोग किशमिश को दैनिक जीवन में जगह दे सकते हैं। किशमिश हेल्दी डाइट को बढ़ावा देने का काम करती है, जिसे खाने की सलाह डॉक्टर देते हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार किशमिश उच्च रक्तचाप की स्थिति को नियंत्रित कर सकती है।

किशमिश के महत्व को इस प्रकार समझा जा सकता है कि इसे डैश (DASH) डाइट प्लान में भी जगह दी गई है। डैश कम सोडियम युक्त फल-सब्जियां, फैट मुक्त या कम फैट वाले डेयरी प्रोडक्ट्स, अनाज, मछली व नट आदि खाद्य सामग्रियों का समूह होता है। शरीर से जुड़ी कई बीमारियों के लिए डैश डाइट को अपनाया जा रहा है। डैश डाइट हाइपरटेंशन की स्थिति को सामान्य करने में मदद कर सकती है (10, 11)। उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए आप किशमिश की एक चौथाई मात्रा का सेवन कर सकते हैं।

11. बुखार में मददगार

किशमिश खाने के फायदे बहुत हैं। एंटीऑक्सीडेंट और एंटीबैक्टीरियल गुणों से समृद्ध किशमिश संक्रमण को खत्म कर बुखार को कम कर सकती है। बुखार के लिए किशमिश का सेवन करने के लिए आप लगभग 20 किशमिश को एक घंटे के लिए एक कप पानी में भिगोकर रख दें और जब किशमिश नरम हो जाए, तो इसका सेवन करें। बुखार होने पर आप इस उपाय को रोजाना कर सकते हैं (12)।

12. मधुमेह के लिए

Raisins for diabetes in hindi Pinit

Shutterstock

मधुमेह के रोगियों के लिए भी किशमिश लाभकारी हो सकती है। अध्ययनों से पता चलता है कि किशमिश पोस्ट-प्रांडियल इंसुलिन प्रतिक्रिया को नियंत्रित कर सकती है। शुगर से ग्रसित मरीजों के लिए यह फायदेमंद हो सकती है। इसके अलावा, किशमिश लेप्टिन और घ्रेलिन को भी नियंत्रित कर सकती है। ये वो हार्मोंस होते हैं, जो बताते हैं कि आपको भूख लगी है या नहीं। मधुमेह के मरीज इस प्रकार अपने खानपान पर नियंत्रण कर सकते हैं (13)।

13. कब्ज में फायदेमंद

जैसा कि हमने पहले बताया है कि किशमिश में अन्य जरूरी पोषक तत्वों के साथ-साथ फाइबर भी होता है। फाइबर पाचन क्रिया को संतुलित करने में मदद करता है। किशमिश में मौजूद फाइबर कब्ज जैसी स्थितियों में भी लाभकारी होता है (3)। कब्ज से दूर रहने के लिए आप रोजाना किशमिश का सेवन कर सकते हैं।

14. यौन स्वास्थ्य

किशमिश यौन स्वास्थ्य को बनाए रखने में भी मददगार साबित हो सकती है। किशमिश में आर्जिनिन नामक एक एमिनो एसिड होता है, जो काम उत्तेजना को बढ़ाने का काम करता है। यह पुरुषों के लिए नपुंसकता (Erectile dysfunction) जैसी समस्या के लिए उपयोगी हो सकता है। इसके अलावा, किशमिश शरीर को ऊर्जावान बनाने का काम भी करती है। आप रोजाना दूध के साथ पांच-दस किशमिश का सेवन कर सकते हैं (14)।

सेहत के बाद आगे जानिए त्वचा के लिए किशमिश के फायदे।

त्वचा के लिए किशमिश के फायदे – Skin Benefits of Raisins in Hindi

आंतरिक स्वास्थ्य के साथ-साथ त्वचा के लिए भी किशमिश के फायदे बहुत हैं। नीचे जानिए स्किन के लिए किशमिश के फायदे।

1. एंटी-एजिंग

Raisins for Anti-aging in Hindi Pinit

Shutterstock

कम उम्र में ही त्वचा पर पड़ने वाली झुर्रियों को ठीक करने के लिए आप किशमिश का सहारा ले सकते हैं। किशमिश विटामिन-ए और ई से समृद्ध होती है (15), जो त्वचा की बाहरी परतों में नई कोशिकाओं के विकास को बढ़ावा देते हैं। इसके अलावा, विटामिन-ई त्वचा को हाइड्रेट करने का काम करता है, जिससे त्वचा जवां और खूबसूरती दिखती है। किशमिश का नियमित सेवन कर आप त्वचा को आकर्षक बना सकते हैं।

2. साफ और स्वस्थ त्वचा

किशमिश न सिर्फ एंटी-एजिंग के रूप में काम करती है, बल्कि यह त्वचा को साफ और स्वस्थ बनाने का काम भी करती है। किशमिश में रेस्वेराट्रोल नामक तत्व होता है, जो त्वचा के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है (16), (17)। यह खून को साफ कर लाल कोशिकाओं के उत्पादन में सहयोग करती है। त्वचा को साफ और चमकदार बनाने के लिए आप रोजाना किशमिश का सेवन कर सकते हैं।

3. सूर्य की तेज किरणों से बचाव

सूर्य की हानिकारक किरणों से प्रभावित त्वचा का इलाज भी किशमिश के माध्यम से किया जा सकता है। इसमें मौजूद फाइटोकेमिकल्स त्वचा की कोशिकाओं को सूरज की तेज किरणों से होने वाले नुकसान से बचाते हैं। किशमिश में मौजूद अमीनो एसिड त्वचा के नवीकरण को बढ़ावा देता है और सूरज की क्षति के खिलाफ एक सुरक्षात्मक कवच बनाता है। यह त्वचा के कैंसर को रोकने के लिए उपयोगी है (18)।

4. दमकती त्वचा के लिए

काली किशमिश का सेवन करने से लिवर की कार्यप्रणाली बेहतर होती है, जिससे शरीर डिटॉक्स होता है। यह त्वचा को साफ और दमकता बनाने के लिए शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करती है। आप रोज नाश्ते में 10 से 15 काली किशमिश का सेवन कर सकते हैं।

बालों के लिए किशमिश के फायदे – Hair Benefits of Raisins in Hindi

बालों के लिए भी किशमिश खाने के फायदे बहुत हैं, किशमिश में विटामिन-बी, आयरन, पोटैशियम और एंटीऑक्सीडेंट जैसे पोषक तत्व होते हैं, जो बालों की स्थिति में सुधार के लिए आवश्यक होते हैं। बालों के लिए किशमिश के कुछ लाभ निम्नलिखित हैं:

1. स्वस्थ और मजबूत बाल

Raisins for Healthy and strong hair in hindi Pinit

Shutterstock

किशमिश आयरन से समृद्ध होती है (19), जो बालों के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए आवश्यक है। आयरन की कमी से बाल झड़ने की समस्या हो सकती है। आयरन शरीर में रक्त परिसंचरण में सुधार करता है और बालों की रोम कोशिकाओं को उत्तेजित करता है। बालों के लिए आयरन बनाए रखने के लिए रोजाना आधी मुट्ठी किशमिश का सेवन करें।

2. बाल झड़ने की समस्या

एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करने से बालों का झड़ना काफी हद तक कम हो सकता है। एंटीऑक्सीडेंट बालों के रोम को उत्तेजित कर बालों के नुकसान को रोकते हैं। साथ ही बालों के विकास के लिए आवश्यक स्वस्थ कोशिकाओं को भी बढ़ावा देते हैं।

3. रूसी और खुजली

किशमिश का सेवन प्रतिदिन करने से रक्त वाहिकाएं स्वस्थ बनी रहती हैं, जिससे स्कैल्प की समस्या, रूसी और खुजली से राहत मिलती है। इसके अलावा, किशमिश में रेस्वेराट्रोल होता है (17), जो स्कैल्प की जलन और सेल डैमेज को रोककर बालों को झड़ने से रोकता है। आप बालों के लिए किशमिश को अपने दैनिक जीवन में जरूर स्थान दें।

किशमिश के पौष्टिक तत्व – Raisins Nutritional Value in Hindi

तत्वपोषक मूल्य(प्रति 100 ग्राम)आरडीए का प्रतिशत
ऊर्जा299 Kcal15%
कार्बोहाइड्रेट79.18 g61%
प्रोटीन3.07 g5.5%
कुल फैट0.46 g1.5%
कोलेस्ट्रॉल0 mg0%
डाइटरी फाइबर3.7 g10%
विटामिन्स
फोलेट5 µg1%
नियासिन0.766 mg5%
पैंटोथेनिक एसिड0.095 mg2%
पाइरिडोक्सिन0.0174 mg13%
रिबोफ्लेविन0.125 mg10%
थियामिन0.106 mg9%
विटामिन-ए0 IU0%
विटामिन-सी2.3 mg4%
विटामिन-ई0.12 mg1%
विटामिन-के3.5 µg3%
इलेक्ट्रोलाइट
सोडियम11%1 mg
पोटैशियम749 mg16%
मिनरल्स
कैल्शियम50 mg5%
कॉपर0.318 mg35%
आयरन1.88 mg23%
मैग्नीशियम7 mg2%
मैंगनीज0.299 mg12%
फास्फोरस101 mg15%
सेलेनियम0.6 µg1%
जिंक0.22 mg2%
साइटो न्यूट्रिएंट
कैरोटीन -ए0 µg
कैरोटीन-ß0 µg
क्रिप्टो-जैथिन-बी0 µg
लुटें ज़ेआक्शंतहीं0 µg

किशमिश के उपयोग – Uses of Raisins in Hindi

किशमिश को दैनिक आहार में कई स्वस्थ तरीकों से शामिल किया जा सकता है, जैसे :

स्वीट क्रंच: आप किशमिश को सलाद, पीनट बटर व फ्रूट सलाद आदि के साथ मिलाकर खा सकते हैं।
सलाद: किशमिश के साथ ब्रोकोली और गाजर को मिलाकर सलाद की तरह खाया जा सकता है।
नाश्ता: अगर आप नाश्ते में दलिया लेना पसंद करते हैं, तो दलिये में चीनी की जगह किशमिश का इस्तेमाल कर सकते हैं।
प्राकृतिक स्वीटनर: आप इसका इस्तेमाल मफिन और पैनकेक में कर सकते हैं।
स्नैक: आप किशमिश को सीधे ही खा सकते हैं। ड्राई फ्रूट्स हर उम्र के लोगों के लिए फायदेमंद होते हैं।

किशमिश के नुकसान – Side Effects of Raisins in Hindi

शारीरिक फायदों के साथ-साथ किशमिश खाने के नुकसान भी हैं। इसका अत्यधिक सेवन करने से निम्नलिखित समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है, जैसे :

  • शरीर का वजन बढ़ना (20)
  • एलर्जी (21)
  • दस्त (22)
  • टाइप-2 डायबिटीज का खतरा आदि (23)

अब तो आप शरीर के लिए किशमिश खाने के फायदों के बारे में जान गए होंगे। किशमिश कई औषधीय गुणों से समृद्ध एक स्वादिष्ट खाद्य पदार्थ है, जिसे आप अपने दैनिक आहार का हिस्सा बना सकते हैं। अगर आप लेख में बताई गई किसी भी समस्या से पीड़ित हैं, तो आज से ही किशमिश का सेवन करना शुरू कर दें। साथ ही यह भी ध्यान रखें कि अगर इसके नियमित सेवन से एलर्जी जैसे लक्षण नजर आते हैं, तो इसका सेवन तुरंत बंद कर दें। मधुमेह के मरीज किशमिश का सेवन करने से पहले डॉक्टरी सलाह जरूर लें। यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

और पढ़े:

The following two tabs change content below.

Nripendra Balmiki

नृपेंद्र बाल्मीकि एक युवा लेखक और पत्रकार हैं, जिन्होंने उत्तराखंड से पत्रकारिता एवं जनसंचार में स्नातकोत्तर (एमए) की डिग्री प्राप्त की है। नृपेंद्र विभिन्न विषयों पर लिखना पसंद करते हैं, खासकर स्वास्थ्य संबंधी विषयों पर इनकी पकड़ अच्छी है। नृपेंद्र एक कवि भी हैं और कई बड़े मंचों पर कविता पाठ कर चुके हैं। कविताओं के लिए इन्हें हैदराबाद के एक प्रतिष्ठित मीडिया संस्थान द्वारा सम्मानित भी किया जा चुका है।

संबंधित आलेख