कुंदरू के 11 फायदे, उपयोग और नुकसान – Ivy Gourd (Kundru) Benefits and Side Effects in Hindi

by

इसमें कोई शक नहीं कि सभी स्वस्थ रहना चाहते हैं। इसके लिए सप्लीमेंट्स और दवाओं पर रुपये खर्च करने से बेहतर है कि आप पोषक तत्वों से युक्त भोजन करें और संतुलित जीवनशैली का पालन करें। जब हम पौष्टिक आहार की बात करते हैं, तो सबसे पहले फलों व सब्जियों का नाम लिया जाता है। बेहतर स्वास्थ्य के लिए इससे अच्छा और कुछ हो भी नहीं सकता। पौष्टिक फलों व सब्जियों की लिस्ट बहुत लंबी है, लेकिन इस आर्टिकल में हम सिर्फ कुंदरू की बात करेंगे। आपको बता दें कि हरे रंग की यह छोटी-सी सब्जी गुणों के मामले में अन्य सब्जियों से बिल्कुल कम नहीं है। कुंदरू या कुंदरी का सेवन आपको कई तरह के लाभ पहुंचाने का काम कर सकता है। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम बताएंग कि कुंदरू क्‍या है और कुंदरू खाने के फायदे क्या-क्या हो सकते हैं।

आइए, पहले कुंदरू के बारे में जान लेते हैं, फिर इसके फायदों के बारे में बात करेंगे।

कुंदरू क्‍या है? – What is Ivy Gourd in Hindi

कुंदरू एक मौसमी सब्जी है। इसका वैज्ञानिक नाम कोकिनिया कॉर्डिफोलिया (coccinia cordifolia) है, जो कुकुरबिटेसी (cucurbitaceae) के परिवार से संबंधित है। कुंदरू बेल पर लगते हैं और बेल करीब 3 से 5 मीटर तक लंबी हो सकती है। यह पेड़ या झाड़ी के सहारे फैलती है, जिस कारण यह पेड़ या झाड़ी को पूरी तरह ढक लेती है। इसके फूल का रंग सफेद होता है। शुरुआत में इसकी खेती एशिया और अफ्रीका के कुछ देशों में होती थी, लेकिन समय के साथ-साथ यह सब्जी पूरे विश्व में फैल गई। आज यह सभी देशों में अलग-अलग नाम से प्रचलित है। कुंदरू अनेक पोषक तत्वों से समृद्ध सब्जी है। यही कारण है कि इसका इस्तेमाल औषधि के रूप में भी किया जाता है।

कुंदरू कैसे फायदा पहुंचा सकता है, जानने के लिए पढ़ते रहें यह लेख।

कुंदरू के फायदे – Benefits of Ivy Gourd (Kundru) in Hindi

यहां हम विस्तार से बता रहे हैं कि कुंदरू खाने से किस-किस तरह के लाभ हो सकते हैं।

1. पाचन के लिए

कुंदरू की सब्जी का सेवन करने से पाचन क्रिया को बेहतर किया जा सकता है। इसके लिए इसमें पाए जाने वाले फाइबर की भूमिका अहम होती है (1)। एक शोध में पाया गया है कि फाइबर भोजन को पचाकर मल को शरीर से बाहर निकालने का काम कर सकता है (2)।

2. कैंसर

कैंसर को सबसे घातक बीमारी माना गया है। इस रोग से पीड़ित मरीज के इलाज पर लाखों रुपये खर्च हो जाते हैं। वहीं, कुछ खाद्य पदार्थ ऐसे हैं, जिनका सेवन करने से कैंसर को होने से रोका जा सकता है। इनमें से एक कुंदरू भी है। कुंदरू में एंटी-कैंसर गुण पाए जाते हैं, जो इस बीमारी को होने से रोकने में मदद कर सकते हैं (3)।

3. मधुमेह

मधुमेह के दौरान विशेषज्ञ कुछ सब्जियों व फलों का सेवन करने से मना करते हैं। ऐसे में कुंदरू का उपयोग मधुमेह के रोगियों के लिए लाभकारी हो सकता है। कुंदरू में एंटी हाइपरग्लाइसेमिक प्रभाव पाया जाता है, जो रक्त में शुगर के स्तर को संतुलन में रखने का काम कर सकता है, जिससे मधुमेह की समस्या को नियंत्रित किया जा सकता है (4)।

4. प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए

शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर होने पर कई तरह के रोग उत्पन्न होने का खतरा बढ़ सकता है। ऐसे में कुंदरू का सेवन कर शरीर की प्रतिरक्षा क्षमता को बढ़ाया जा सकता है। इसके लिए कुंदरू में मौजूद विटामिन-ए फायदेमंद हो सकता है। विटामिन-ए सकारात्मक रूप से इम्यून सिस्टम को प्रभावित करता है (5)। इसलिए, कुंदरू के फायदे इम्यून सिस्टम को मजबूत कर सकते हैं।

5. किडनी स्टोन

किडनी स्टोन को दूर करने के लिए कुंदरू का उपयोग किया जा सकता है। दरअसल, कुंदरू में कैल्शियम की अच्छी मात्रा पाई जाती है। कैल्शियम पाचन तंत्र में स्टोन के बनने की सभी आशंकाओं को कम कर सकता है (6) (7)। ध्यान रहे कि आपको डॉक्टर ही बेहतर बता सकते हैं किडनी स्टोन होने पर प्रतिदिन कैल्शियम की कितनी मात्रा लेनी चाहिए।

6. हृदय के लिए 

कुंदरू अनेक पौष्टिक गुणों से समृद्ध होता है, जो हृदय को स्वस्थ रखने का काम कर सकता है। कुंदरू में विभिन्न प्रकार के फ्लेवोनोड्स पाए जाते हैं, जो एंटीऑक्सीडेंट, एंटीइंफ्लेमेटरी, एंटीबैक्टीरियल और मुख्य रूप से कार्डियो प्रोटेक्टिव गतिविधि की तरह काम करते हैं। ये ह्रदय रोग का कारण बनने वाले फ्री-रेडिकल्स को जड़ खत्म करते हैं (3)।

7. संक्रमण

ज्यादातर बीमारियों के फैलने का मुख्य कारण संक्रमण होता है, लेकिन कुंदरू के सेवन से संक्रमण को रोका जा सकता है। इसके लिए कुंदरू के एंटी बैक्टीरियल और एंटी-माइक्रोबियल गुण लाभदायक हो सकते हैं (3)।

8. डिप्रेशन

डिप्रेशन के कारण कई लोग मानसिक संतुलन खो देते है। डिप्रेशन को दूर करने के लिए एंटीऑक्सीडेंट सहायक हो सकता है। विटामिन-ए और सी में एंटीऑक्सीडेंट पर्याप्त रूप से पाया जाता है (8)। वहीं, कुंदरू को विटामिन ए और सी का अच्छा स्रोत माना गया है (1)। इसलिए, कहा जा सकता है कि कुंदरू खाने के फायदे में डिप्रेशन को खत्म करना भी शामिल है।

9. नर्वस सिस्टम

एक शोध के अनुसार, एंटीऑक्सीडेंट नर्वस सिस्टम से जुड़े रोगों से निपटने का काम कर सकता है, जिससे नर्वस सिस्टम को सुरक्षित रखा जा सकता है (8)। वहीं, एक अन्य अध्ययन के अनुसार कुंदरू में विटामिन-सी पाया जाता है, जो एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम कर सकता है (1)। इसलिए, कुंदरू के फायदे नर्वस सिस्टम से जुड़ी समस्याओं में भी कारगर हैं।

10. वजन घटाने में फायदेमंद 

वजन को घटाने के लिए कुंदरू का उपयोग किया जा सकता है। कुंदरू में फाइबर की भरपूर मात्रा पाई जाती है, जो वजन को कम करने में सहायक हो सकता है (1)। फाइबर भोजन को पचाने के साथ-साथ भूख को शांत रख सकता है (9)। इसलिए, कुंदरू के फायदे वजन कम करे में नजर आ सकते हैं।

11. थकान

कई लोगों को किसी भी तरह का काम करने पर जल्दी थकान महसूस होने लगते है। थकान की समस्या से राहत पाने में आयरन सहायक हो सकता है (10)। वहीं, कुंदरू में प्रचुर मात्रा में आयरन पाया जाता है, इसलिए ऐसा कहा जा सकता है कि कुंदरू थकान को दूर करने का काम कर सकता है (7)।

आगे हम कुंदरू के उन पोषक तत्वों के बारे में बता रहे हैं, जो फायदा पहुंचाने में मदद करते हैं।

कुंदरू के पौष्टिक तत्व – Ivy Gourd Nutritional Value in Hindi

कुंदरू में मुख्य रूप से कौन-कौन से पोषक तत्व होते हैं, उसे समझने के लिए हम नीचे एक टेबल दे रहे हैं। इस टेबल में कुंदरू के पोषक तत्वों के साथ-साथ उनकी मात्रा के बारे में भी बताया गया है (1)।

पोषक तत्वमात्रा प्रति
मॉइस्चर93.5 %
प्रोटीन1.2 g
टोटल लिपिड (फैट)0.1 g
मिनरल0.5 g
फाइबर , टोटल  डाइटरी1.6 g
कार्बोहाइड्रेट3.4 g
ऊर्जा17 kcal
कैल्शियम ,Ca18 gm
फास्फोरस ,P26 mg
आयरन0.5 mg
विटामिन ए33 ।U
राइबोफ्लेविन0.01 mg
विटामिन सी5 mg

कुंदरू के पोषक तत्वों के बारे में जानने के बाद अब हम यह भी जान लेते हैं कि इसे उपयोग कैसे किया जा सकता है।

कुंदरू का उपयोग – How to Use Ivy Gourd (Kundru) in Hindi

कैसे खाएं :
  • इसे सब्जी बनाकर खाया जा सकता है।
  • कुंदरू की चटनी बनाकर उपयोग में लाया जा सकता है।
  • कुंदरू को कई सब्जियों के साथ मिलकर मिक्स वेज बनाई जा सकती है।
  • कुंदरू के वडा (Vada) भी बनाए जा सकते हैं।
कब खाएं :
  • इसे सब्जी या चटनी के तौर पर दोपहर या रात के खाने के साथ खा सकते हैं।
कितना खाएं :
  • एक समय में एक कटोरी कुंदरू की सब्जी खाई जा सकती है।

 आर्टिकल के अंतिम भाग में कुंदरू से होने वाले कुछ दुष्प्रभावों का जिक्र किया गया है।

कुंदरू के नुकसान – Side Effects of Ivy Gourd in Hindi

जैसे कुंदरू खाने के फायदे हो सकते है, वैसे ही इससे नुकसान भी हो सकते हैं, जो निम्न प्रकार से हैं :

  • कुछ लोग नए खाद्य पदार्थों के सेवन को लेकर संवेदनशील होते हैं। ऐसे लोगों को कुंदरू का सेवन करने से उल्टी और मतली की समस्या हो सकती है। इस प्रकार के संवेदनशील लोग कुंदरू का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।
  • पके हुए और कड़वे कुंदरू के उपयोग से शरीर को नुकसान हो सकता है।
  • अगर आप किसी तरह की दवाई लेते हैं, तो कुंदरू खाने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

छोटा-सा हरे रंग का कुंदरू आपके लिए कितना उपयोगी हो सकता है, यह बात आप इस आर्टिकल को पढ़कर समझ ही गए होंगे। शायद आपने पहले कभी नहीं सोचा होगा कि कुंदरू में इतने सारे पोषक तत्व भी हो सकते हैं। इस जानकारी के बात अगर आप कुंदरू नहीं खाते होंगे, तो इसे खाने से खुद को रोक नहीं पाएंगे। अब जब अगली बार बाजार जाएं, तो कुंदरू की सब्जी जरूर लाएं और इसे चाव से खाएं। हम उम्मीद करते है कि यह लेख आपके लिए लाभदायक साबित होगा। अगर आप इस विषय से संबंधित कोई अन्य तथ्य या सुझाव हमारे साथ शेयर करना चाहते हैं, तो नीचे दिए कमेंट बॉक्स की मदद ले सकते हैं।

और पढ़े:

Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Bhupendra Verma

भूपेंद्र वर्मा ने सेंट थॉमस कॉलेज से बीजेएमसी और एमआईटी एडीटी यूनिवर्सिटी से एमजेएमसी किया है। भूपेंद्र को लेखक के तौर पर फ्रीलांसिंग में काम करते 2 साल हो गए हैं। इनकी लिखी हुई कविताएं, गाने और रैप हर किसी को पसंद आते हैं। यह अपने लेखन और रैप करने के अनोखे स्टाइल की वजह से जाने जाते हैं। इन्होंने कुछ डॉक्यूमेंट्री फिल्म की स्टोरी और डायलॉग्स भी लिखे हैं। इन्हें संगीत सुनना, फिल्में देखना और घूमना पसंद है।

ताज़े आलेख

scorecardresearch