लाल अंगूर के फायदे, उपयोग और नुकसान – Red Grapes Benefits and Side Effects in Hindi

Written by

प्रकृति ने हमें औषधीय गुणों और पोषक तत्वों से भरपूर कई फलों से नवाजा है। उन्हीं में से एक है अंगूर। ये भले ही आकार में छोटे हों, लेकिन गुणों से भरपूर होते हैं। वहीं, विश्व भर में अंगूर विभिन्न आकार और रंगों में पाए जाते हैं, जिनमें से एक के बारे में हम इस लेख में बताएंगे और वो है लाल अंगूर। इसका वैज्ञानिक नाम विटिस विनिफेरा (Vitis vinifera) है। वहीं, माना जाता है कि इसका सेवन शरीर के लिए कई तरह से लाभकारी हो सकता है। यही वजह है कि स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम लाल अंगूर के फायदे बताने जा रहे हैं। इसके अलावा, यहां लाल अंगूर का उपयोग किस प्रकार किया जा सकता है, यह भी बताया जाएगा। साथ ही यहां लाल अंगूर के नुकसान भी बताए गए हैं।

स्क्रॉल करें

लेख की शुरुआत करते हैं सेहत के लिए लाल अंगूर के फायदे के साथ।

लाल अंगूर के फायदे – Benefits of Red Grapes in Hindi

लाल अंगूर में कई तरह के औषधीय गुण होते हैं। साथ ही इसमें पोषक तत्वों की भी अच्छी मात्रा पाई जाती है। ये दोनों ही लाल अंगूर को सेहत के लिए फायदेमंद बनाते हैं। यहां हम विस्तार से जानेंगे सेहत के लिए लाल अंगूर के फायदे। वहीं, इस बात का ध्यान रखें कि लाल अंगूर बताई गई शारीरिक समस्याओं का इलाज नहीं है। इसका सेवन बीमारियों से बचाव और उनके लक्षणों को कुछ हद तक कम करने में मदद कर सकता है। अब पढ़ें आगे :

1. वजन कम करने के लिए 

शरीर में अतिरिक्त चर्बी का जमा होना मोटापे का कारण बन सकता है। मोटापा की समस्या को कम करने के लिए लाल अंगूर के फायदे देखे गए हैं। एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक रिसर्च से इस बात की पुष्टि होती है। रिसर्च के अनुसार, लाल अंगूर में रेस्वेराट्रोल (Resveratrol) पाया जाता है। रेस्वेराट्रोल एक प्रकार का पॉलीफेनोल है, जिसमें एंटीओबेसिटी प्रभाव पाया जाता है। लाल अंगूर के रेस्वेराट्रोल में पाया जाने वाला यह गुण माेटापे को कुछ हद तक कम करने में मददगार हाे सकता है (1)

2. आंखों के लिए 

लाल अंगूर का सेवन करना आंखों की समस्या में भी फायदेमंद हो सकता है। रिसर्च में पाया गया कि ऑक्सीडेटिव डैमेज और सूजन के कारण रेटिनल डिजनरेशन (रेटिना की कोशिकाओं का नष्ट होना) की समस्या हो सकती है। वहीं, रेटिनल डिजनरेशन की समस्या के कारण उम्र से संबंधित मैक्यूलर डिजनरेशन (नेत्र रोग, जो दृष्टि हानि का कारण बन सकता है) और रेटिनाइटिस पिगमेंटोसा (रेटिना से जुड़ी बीमारी) का जोखिम खड़ा हो सकता है (2)

वहीं, रिसर्च में आगे जिक्र मिलता है कि अंगूर में (जिसमें लाल अंगूर भी शामिल है) एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लामेटरी प्रभाव होता है। जहां एक ओर एंटीऑक्सीडेंट ऑक्सीडेटिव क्षति को कम करने का काम कर सकता है, तो वहीं एंटीइंफ्लामेटरी प्रभाव सूजन को कम करने में मददगार हो सकता है। इस प्रकार लाल अंगूर का सेवन आंखों के लिए फायदेमंद हो सकता है (2)

3. अल्जाइमर की समस्या में

अल्जाइमर रोग एक तरह का ब्रेन डिसऑर्डर है, जिसमें धीरे-धीरे याद रखने और सोचने की क्षमता कम होती जाती है (3)। लाल अंगूर का रस काफी हद तक अल्जाइमर के प्रभाव को कम करने में मदद कर सकता है। रिसर्च से पता चलता है कि लाल अंगूरों में पॉलीफेनोलिक यौगिक जैसे कि फ्लेवोनोइड्स और रेस्वेराट्रोल पाए जाते हैं। इन पॉलीफेनोलिक यौगिकों में पाया जाने वाला एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करके सीखने और याददाश्त की हानि को रोक सकता है। इससे हम यह कह सकते हैं लाल अंगूर का सेवन याददाश्त को बढ़ाने में मदद कर सकता है (4)

4. किडनी को स्वस्थ रखने के लिए

किडनी की समस्या में भी लाल अंगूर को फायदेमंद माना जा सकता है। शोध के मुताबिक ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस की वजह से गंभीर किडनी की बीमारी होने की आशंका हो सकती है। वहीं, होल ग्रेप्स पाउडर (जिसमें लाल अंगूर को भी शामिल किया गया) का सेवन किडनी की समस्या में फायदेमंद हो सकता है। चूहों पर किए गए अध्ययन में जिक्र मिलता है कि होल ग्रेप्स पाउडर में एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव होता है, जो ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम कर किडनी की समस्या में फायदेमंद हो सकता है (5)

5. हड्डियों को रखे स्वस्थ

लाल अंगूर और इसके रस का सेवन हड्डियों की समस्या को कम करने के लिए किया जा सकता है। इस विषय पर हुई रिसर्च के अनुसार, हाई सैचुरेटेड फैट युक्त भोजन का सेवन बोन मिनरल पर हानिकारक प्रभाव डाल सकता है, जिससे हड्डियां कमजोर हो सकती हैं। वहीं, रिसर्च में इस बात का भी जिक्र किया गया कि लाल अंगूर में रेस्वेराट्रॉल मौजूद होता है। रेसवेराट्रॉल में ओस्टियोजेनिक (हड्डी के निर्माण से जुड़ा) प्रभाव होते हैं, जो हड्डियों के स्वास्थ्य और उनकी मजबूती के लिए फायदेमंद हो सकते हैं (6)

6. स्वस्थ हृदय के लिए

रक्त में मौजूद लिपिड की अधिकता, उच्च रक्तचाप की समस्या और ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस के कारण गंभीर हृदय रोग का खतरा हो सकता है। वहीं, हृदय को स्वस्थ रखने के लिए लाल अंगूर और इससे बने पदार्थों को फायदेमंद माना गया है। रिसर्च के अनुसार, लाल अंगूर में पाए जाने वाले रेस्वेराट्रोल, एंथोसायनिन और प्रोंथोसायनिडिन जैसे फाइटोकेमिकल्स हृदय रोग के जोखिम को कम कर सकते हैं। वहीं, लाल अंगूर में मौजूद फाइटोकेमिकल्स रक्त में मौजूद लिपिड और उच्च रक्तचाप को कम कर सकते हैं। साथ ही यह ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को रोकने में भी मदद कर सकते हैं। इस प्रकार लाल अंगूर का सेवन हृदय के लिए लाभकारी हो सकता है (7)

जारी रखें पढ़ना

7. मस्तिष्क स्वास्थ्य के लिए

अच्छी सेहत के साथ ही मस्तिष्क को स्वस्थ रखने के लिए लाल अंगूर फायदेमंद हो सकते हैं। इस विषय पर हुई एक रिसर्च के मुताबिक, बढ़ती उम्र के साथ ही सीखने और याद रखने में परेशानियां शुरू हो सकती हैं। अध्ययन में आगे पता चला है कि बढ़ती उम्र में ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस के कारण मस्तिष्क की कार्यप्रणाली जैसे सोचने और याद करने क्षमता बाधित हो सकती है। वहीं, रिसर्च में इस बात की भी पुष्टि हुई कि लाल अंगूर के रस में एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव होता है। एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस के कारण होने वाली मस्तिष्क कार्यप्रणाली की क्षति में सुधार करने में मददगार हो सकता है (8)

8. अस्थमा के लिए

अस्थमा श्वास संबंधी एक बीमारी है, जो पर्यावरणीय एलर्जी, श्वसन संक्रमण, ठंडी हवा और कुछ दवाओं के दुष्प्रभाव के कारण हो सकती है। इस समस्या में लाल अंगूर का उपयोग लाभकारी हाे सकता है। रिसर्च के अनुसार लाल अंगूर के अल्कोहलिक अर्क में गैलिक एसिड और रेस्वेराट्रोल जैसे फेनोलिक कंपाउंड पाए जाते हैं। इन कंपाउंड में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लामेटरी प्रभाव सामान्य और एलर्जी के कारण होने वाली अस्थमा की समस्या को कम करने में मददगार हो सकते हैं (9)

9. कैंसर की रोकथाम के लिए

कैंसर जैसी बीमारी के जोखिम कम करने के लिए लाल अंगूर का सेवन लाभकारी हो सकता है। इस विषय पर हुई रिसर्च के अनुसार लाल अंगूर के फेनोलिक कंपाउंड में एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव होता है, जो कैंसर की रोकथाम में मददगार हो सकता है। इसके अलावा, लाल अंगूर में पाए जाने वाले एंटी इन्फ्लेमेटरी और एंटी प्रोलाइफरेटिव (कोशिकाओं के प्रसार को रोकने या मंद करने वाला प्रभाव) प्रभाव भी कैंसर से बचाव में मददगार हो सकते हैं (10)

इस रिसर्च के अनुसार हम कह सकते हैं कि कैंसर से बचाव में लाल अंगूर कुछ हद तक फायदेमंद हो सकते हैं। हालांकि, लाल अंगूर का सेवन कैंसर का सटीक उपचार नहीं है। कैंसर होने पर डॉक्टर के द्वारा बताए गए उपचार ही लाभदायक माने जा सकते हैं।

10. प्रतिरक्षा प्रणाली सुधारे

कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली कई प्रकार की बीमारियों और संक्रमण की समस्या का कारण बन सकती है। वहीं, रिसर्च में पाया गया कि लाल अंगूर का उपयोग प्रतिरक्षा प्रणाली को सुधारने के साथ ही इसे बूस्ट करने में फायदेमंद हो सकता है। रिसर्च में पाया गया कि लाल अंगूर में रेस्वेराट्रोल नामक पॉलीफेनोलिक कंपाउंड पाया जाता है। यह पॉलीफेनोलिक कंपाउंड इम्यून सेल रेगुलेशन में फायदेमंद हो सकता है। इस आधार पर कहा जा सकता है कि लाल अंगूर प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने में मददगार हो सकते हैं (11)

11. एंटीबैक्टीरियल प्रभाव

हानिकारक बैक्टीरिया के कारण बीमारी और संक्रमण होने का खतरा बना रहता है। विषय से जुड़े एक शोध में जिक्र मिलता है कि कई बीमारियों में शामिल होने की वजह से बैक्टीरिया शरीर को गंभीर रूप से प्रभावित कर सकता है। खासकर उनमें, जिनमें ऑक्सीडेटिव तनाव शामिल होता है, जैसे हृदय रोग और खाद्य जनित बीमारियां। यहां लाल अंगूर के लाभ देखे जा सकते हैं, क्योंकि इसमें एंटीमाइक्रोबियल प्रभाव मौजूद होता है, जो बैक्टीरिया के प्रभाव को कम करने में मदद कर सकता है (12)

12. त्वचा के लिए

लाल अंगूर का उपयोग न सिर्फ सेहत के लिए फायदेमंद है, बल्कि यह त्वचा के लिए भी लाभदायक हो सकता है। जैसा कि हमने ऊपर बताया कि लाल अंगूर में रेस्वेराट्रोल पाया जाता है। वहीं, इससे जुड़े एक शोध में जिक्र मिलता है कि रेस्वेराट्रोल त्वचा के प्रति सुरक्षात्मक प्रभाव प्रदर्शित कर सकता है, जैसे सूर्य की हानिकारक किरणों से उत्पन्न ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करना और स्किन डैमेज से बचाव करना (13)। इसके अलावा, लाल अंगूर में एंटी एंजिंग प्रभाव भी पाए जाते हैं। यह प्रभाव समय से पहले त्वचा पर दिखने वाली झुर्रियों व महीन रेखाओं से बचाने में मददगार हो सकता है (14)

पढ़ते रहें

लाल अंगूर के फायदे जानने के बाद जानते हैं लाल अंगूर के पौष्टिक तत्वों के बारे में।

लाल अंगूर के पौष्टिक तत्व – Red Grapes Nutritional Value in Hindi

लाल अंगूर में पाए जाने वाले पोषक तत्व ही इसे फायदेमंद बनाते हैं, यहां हम बता रहे हैं अंगूर में पाए जाने वाले पोषक तत्वों के बारे में (15)

पोषक तत्वमात्रा प्रति 100 ग्राम
पानी80.54 ग्राम
एनर्जी69 केसीएल
प्रोटीन0.72 ग्राम
टोटल लिपिड (फैट)0.16 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट18.1 ग्राम
फाइबर0.9 ग्राम
शुगर15.48 ग्राम
कैल्शियम10 मिलीग्राम
आयरन0.36 मिलीग्राम
मैग्नीशियम7 मिलीग्राम
फास्फोरस 20 मिलीग्राम
    पोटैशियम191 मिलीग्राम
     सोडियम2 मिलीग्राम
जिंक0.07 मिलीग्राम
कॉपर0.127 मिलीग्राम
मैंगनीज0.071 मिलीग्राम
    सेलेनियम0.1 माइक्रोग्राम
विटामिन सी, टोटल एस्कॉर्बिक एसिड3.2 मिलीग्राम
थियामिन0.069 मिलीग्राम
राइबोफ्लेविन0.07 मिलीग्राम
     नियासिन1.188 मिलीग्राम
पैंटोथैनिक एसिड0.05 मिलीग्राम
विटामिन बी-60.086 मिलीग्राम
फोलेट, कुल2 माइक्रोग्राम
कोलीन, कुल5.6 मिलीग्राम
विटामिन ए3 माइक्रोग्राम
बीटा कैरोटीन39 माइक्रोग्राम
 विटामिन ई (अल्फा-टोकोफेरॉल)0.19 मिलीग्राम
विटामिन के (फिलोक्विनोन)14.6 माइक्रोग्राम
फैटी एसिड, टोटल सैचुरेटेड0.054 ग्राम
फैटी एसिड, टोटल मोनोअनसैचुरेटेड0.007 ग्राम
फैटी एसिड, टोटल पॉलीअनसैचुरेटेड0.048 ग्राम

आगे है कुछ और खास

नीचे लाल अंगूर को लंबे समय तक सुरक्षित रखने के तरीके जानते हैं। 

लाल अंगूर को लम्बे समय तक सुरक्षित कैसे रखें

लाल अंगूर को लंबे समय तक सुरक्षित रखने के लिए नीचे दिए कुछ टिप्स अपनाए जा सकते हैं : 

  • हमेशा ताजे लाल अंगूर का चुनाव करना चाहिए। कभी भी ज्यादा नर्म, गले हुए और पिचके लाल अंगूर न खरीदें।
  • इन्हें किसी प्लास्टिक जिपर बैग में या प्लास्टिक के पैकेट में डालकर फ्रिज में स्टोर किया जा सकता है।
  • ध्यान रहे कि लाल अंगूर को फ्रिज में रखने से पहले धोना नहीं चाहिए, क्योंकि धोकर रखने से लाल अंगूर जल्दी खराब हो सकते हैं।
  • हां, यह भी जरूरी है कि लाल अंगूर को खाने के तुरंत पहले धोएं।
  • लाल अंगूरों को खरीदने के बाद ज्यादा से ज्यादा दो या तीन दिन में खा लेना चाहिए। 

पढ़ते रहें

आर्टिकल के इस हिस्से में हम बता रहे हैं कि लाल अंगूर का उपयोग कैसे कर सकते हैं।

लाल अंगूर का उपयोग – How to Use Red Grapes in Hindi

लाल अंगूर का उपयोग कई प्रकार से किया जा सकता है। नीचे जानते हैं इसे उपयोग करने के तरीकों के बारे में :

  • लाल अंगूर को फ्रूट चाट में मिलाकर सेवन कर सकते हैं।
  • इसका जूस स्वादिष्ट होता है, लाल अंगूर का जूस बनाकर पी सकते हैं।
  • कस्टर्ड में डालकर भी लाल अंगूर का सेवन कर सकते हैं।
  • लाल अंगूर को ऐसे ही खा सकते हैं।
  • लाल अंगूर की चटनी को बड़े चाव से खाया जाता है।
  • लाल अंगूर की चाय भी कई स्थानों पर लोकप्रिय है।

मात्रा : एक स्वस्थ व्यक्ति हफ्ते में तीन-चार दिन एक बार में एक कप (छोटा) तक लाल अंगूर का सेवन कर सकता है। हालांकि, व्यक्ति के स्वास्थ्य के आधार पर इसकी मात्रा में बदलाव हो सकता है। इसलिए, इस विषय से जुड़ी जानकारी डॉक्टर से ली जा सकती है। 

नीचे स्क्रॉल करें

आगे जानिए लाल अंगूर के नुकसान के बारे में। 

लाल अंगूर के नुकसान – Side Effects of Red Grapes in Hindi

जहां एक ओर लाल अंगूर खाने में स्वादिष्ट और फायदेमंद है, वहीं कुछ परिस्थितियों में लाल अंगूर के नुकसान भी हो सकते हैं। यहां हम बता रहे हैं लाल अंगूर के नुकसान के बारे में :

  • लाल अंगूर के बीज खाने से अपेंडिसाइटिस यानी पेट में अपेंडिक्स की सूजन हो सकती है (16)
  • लाल अंगूर में रेस्वेराट्रोल नामक पॉलीफेनॉल होता है। रेस्वेराट्रोल का अधिक सेवन करने पर मतली, उल्टी, दस्त और नॉन अल्कोहलिक फैटी लिवर विकार वाले लोगों में लिवर की क्षति का जोखिम बढ़ सकता है (17)
  • कुछ व्यक्तियों में लाल अंगूर से गंभीर एलर्जी (Anaphylaxis) की शिकायत हो सकती है। इसमें व्यक्ति को सांस लेने में दिक्कत, उल्टी, मतली व त्वचा पर रैशेज जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है (18)
  • ध्यान रहे कि छोटे बच्चों को साबुत लाल अंगूर खाने के लिए नहीं दें। साबुत अंगूर बच्चे के गले में फंस सकते हैं।

बेशक, लाल अंगूर एक छोटा फल है, लेकिन इसे फायदे बड़े हैं, जिनके बारे में आपने इस आर्टिकल में पढ़ा। यदि इसे पढ़कर आप लाल अंगूर को अपनी डाइट में शामिल करना चाह रहे हैं, तो ध्यान रहे कि लाल अंगूर के फायदे और नुकसान दोनों ही हैं। अच्छी सेहत के लिए इसे कम मात्रा में आसानी से डाइट में शामिल किया जा सकता है। इसे डाइट में शामिल करने के लिए आर्टिकल में दिए गए तरीकों को अपना सकते हैं। ध्यान रहे, खुद को स्वस्थ रखने में सिर्फ लाल अंगूर नहीं, बल्कि अच्छी जीवनशैली भी जरूरी है।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल :

लाल अंगूर की तासीर कैसी होती है?

लाल अंगूर की तासीर गर्म मानी जाती है। हालांकि, इस विषय पर फिलहाल कोई शाेध उपलब्ध नहीं है।

एक दिन में कितने लाल अंगूर खाए जा सकते हैं?

एक दिन में एक कप लाल अंगूर खाना सेहत के लिए फायदेमंद हो सकता है। लेकिन, ध्यान रहे कि इसकी मात्रा उम्र और सेहत के हिसाब से अलग-अलग हो सकती है (19)

क्या खाली पेट लाल अंगूर खाना ज्यादा फायदेमंद है?

खाली पेट लाल अंगूर खाने के फायदे पर कोई रिसर्च उपलब्ध नहीं हैं। बेहतर होगा खाली पेट इसका सेवन करने के पहले डॉक्टर की सलाह लें।

Sources

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

    1. Anti-obesity effect of resveratrol-amplified grape skin extracts on 3T3-L1 adipocytes differentiation
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3439571/
    2. Protective effects of a grape-supplemented diet in a mouse model of retinal degeneration
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4744109/
    3. Alzheimer’s Disease Fact Sheet
      https://www.nia.nih.gov/health/alzheimers-disease-fact-sheet
    4. The effect of red grape juice on Alzheimer’s disease in rats
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3544087/#:~:text=%5B20%5D%20These%20results%20suggest%20that,and%20impairment%20of%20the%20parts
    5. Daily Intake of Grape Powder Prevents the Progression of Kidney Disease in Obese Type 2 Diabetic ZSF1 Rats
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5409684/
    6. Effects of red wine, grape juice and resveratrol consumption on bone parameters of Wistar rats submitted to high-fat diet and physical training
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/29756977/
    7. Fruits for Prevention and Treatment of Cardiovascular Diseases
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5490577/
    8. Effect of Red Grape Juice on Learning and Passive Avoidance Memory in Rats
      https://www.magiran.com/paper/718300/?lang=en
    9. Investigation of anti-asthmatic potential of dried fruits of Vitis vinifera L. in animal model of bronchial asthma
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4988050/
    10. Potential Anticancer Properties of Grape Antioxidants
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3420094/
    11. Influence of Resveratrol on the Immune Response
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6566902/
    12. A Comparative Study on Antiradical and Antimicrobial Properties of Red Grapes Extracts Obtained from Different Vitis vinifera Varieties
      https://www.researchgate.net/publication/236582881_A_Comparative_Study_on_Antiradical_and_Antimicrobial_Properties_of_Red_Grapes_Extracts_Obtained_from_Different_Vitis_vinifera_Varieties
    13. The grape antioxidant resveratrol for skin disorders: promise, prospects, and challenges
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/21215251/#:~:text=Abstract,including%20those%20of%20the%20skin.
    14. Bioactive Compounds of Edible Fruits with Their Anti-Aging Properties: A Comprehensive Review to Prolong Human Life
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC7698232/
    15. Grapes, red or green (European type, such as Thompson seedless), raw
      https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/174683/nutrients
    16. Can fruit seeds and undigested plant residuals cause acute appendicitis
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3609170/
    17. Resveratrol: A Double-Edged Sword in Health Benefits
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6164842/
    18. Grape anaphylaxis: a study of 11 adult onset cases
      https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/15813289/
    19. How to Use Fruits and Vegetables to Help Manage Your Weight
      https://www.cdc.gov/healthyweight/healthy_eating/fruits_vegetables.html
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.
सरल जैन ने श्री रामानन्दाचार्य संस्कृत विश्वविद्यालय, राजस्थान से संस्कृत और जैन दर्शन में बीए और डॉ. सी. वी. रमन विश्वविद्यालय, छत्तीसगढ़ से पत्रकारिता में बीए किया है। सरल को इलेक्ट्रानिक मीडिया का लगभग 8 वर्षों का एवं प्रिंट मीडिया का एक साल का अनुभव है। इन्होंने 3 साल तक टीवी चैनल के कई कार्यक्रमों में एंकर की भूमिका भी निभाई है। इन्हें फोटोग्राफी, वीडियोग्राफी, एडवंचर व वाइल्ड लाइफ शूट, कैंपिंग व घूमना पसंद है। सरल जैन संस्कृत, हिंदी, अंग्रेजी, गुजराती, मराठी व कन्नड़ भाषाओं के जानकार हैं।

ताज़े आलेख