लौकी और इसके जूस के 10 फायदे, उपयोग और नुकसान – Bottle Gourd and it’s Juice Benefits in Hindi

Medically Reviewed By Neha Srivastava (Nutritionist), Nutritionist
Written by
554835

क्या आप लौकी खाने से परहेज करते है? अगर हां, तो यह लेख आपके लिए ही है। इस लेखा को पढ़ने के बाद आप खुद को लौकी खाने से रोक नहीं पाएंगे। दरअसल, लौकी में कई तरह के पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं, जो आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। साथ ही लौकी कई तरह के बीमारियों से निपटने में भी सहायता कर सकती है। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम लौकी के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे। इसमें लौकी का जूस बनाने की विधि और लौकी का जूस के फायदे के बारे में मुख्य रूप से बताया गया है।

चलिए, जानते है कि लौकी या लौकी का जूस सेहत के लिए कैसे अच्छा है।

लौकी या लौकी का जूस आपके सेहत के लिए क्यों अच्छा है?

लौकी का सेवन शरीर को तरोताजा बनाए रखने का काम कर सकता है। लौकी में पाया जाने वाला फाइबर कब्ज और बवासीर की समस्या को दूर करने के लिए मददगार साबित हो सकता है (1)। लौकी शरीर के दर्द और सूजन से राहत दिलाने का काम कर सकती है (2)। कुछ शोध से यह भी पता चला हैं कि लौकी का रस अनिद्रा और मिर्गी के इलाज में भी फायदेमंद होता है। इसलिए, लौकी के जूस को सेहत के लिए अच्छा माना जा सकता है।

चलिए, जानते हैं कि लौकी किस तरह से फायदेमंद हो सकती है।

लौकी के फायदे – Benefits of Bottle Gourd in Hindi

1. वजन कम करने के लिए

Shutterstock

लौकी का सेवन कर वजन को कम किया जा सकता है। लौकी को फाइबर का अच्छा स्रोत माना गया है। साथ ही इसमें वसा की मात्रा न के बराबर होती है, जो खाने को पचाने के साथ-साथ शरीर में ऊर्जा को बनाए रखने का काम करते हैं। इससे भूख कम लगती है, जिस कारण आपका वजन कम हो सकता है (3)। इसके सेवन के साथ नियमित व्यायाम भी जारी रखे।

2. पाचन क्रिया के लिए

लौकी का जूस के फायदे में आपके पाचन तंत्र को ठीक करना भी शामिल है। एक शोध में पाया गया है कि फाइबर भोजन को पचाने में सहायक होता है। लौकी में फाइबर की मात्रा पाई जाती है, जो आपके पाचन तंत्र को  फायदा पहुंचाने का काम कर सकता है (4)। लौकी में कैलोरी, कार्बोहाइड्रेट की मात्रा बहुत कम पाई जाती है, साथ ही पानी की मात्रा ज्यादा होती है और यह आसानी से डाइजेस्ट हो सकती है। इसलिए बीमारी की अवस्था में या पाचन संबंधी परेशानी होने पर लौकी का ही सेवन किया जाता है। लौकी के अलावा लौकी के जूस का सेवन भी किया जा सकता है। लौकी का जूस शरीर को ठंडक प्रदान कर सकता है और इसके अल्कलाइन कंटेंट से एसिडिटी की परेशानी कम हो सकती है।

3. ह्रदय के लिए लौकी के फायदे

Shutterstock

एक रिसर्च के अनुसार, लौकी को ह्रदय के लिए आयुर्वेद और वैकल्पिक चिकित्सा के रूप में उपयोग किया जा सकता है (5)। लौकी के सेवन से आपके रक्त लिपिड का स्तर संतुलित हो सकता है, जो दिल के लिए फायदेमंद होता है। इसमें एंटीहाइपरलिपिडेमिया, एंटीहाइपरग्लाइसेमिक और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं (6), जो शरीर को लाभ पहुंचाने का काम कर सकते हैं। डॉक्टरों की मानें तो सुबह खाली पेट लौकी के जूस का सेवन लाभदायक हो सकता है।

4. मधुमेह के लिए

लौकी को मधुमेह के इलाज के लिए घरेलू उपचार के रूप में उपयोग किया जाता है। लौकी में एंटी डायबिटीज गुण पाए जाते है, जो रक्त में ग्लूकोज को कम करने का काम करता है। साथ ही लौकी इंसुलिन सीरम को बढ़ाने में भी मदद करती है। इससे मधुमेह को दूर रखने में सहायता मिलती है (7)।

5. यूरिन ट्रैक्ट इन्फेक्शन के लिए

Shutterstock

एक शोध में देखा गया कि लौकी के उपयोग से यूरिनरी डिसऑर्डर से जुड़ी समस्याओं को ठीक किया जा सकता है। यूरिनरी डिसऑर्डर में से एक यूरिन ट्रैक्ट इंफेक्शन (यूटीआई) भी है (8)। लौकी में विटामिन ए, विटामिन बी, विटामिन सी ,आयरन और मिनरल अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं। साथ ही लौकी के बीज में एंटीबायोटिक गुण भी पाए गए हैं, जो यूरिन ट्रैक्ट इन्फेक्शन के समस्या से निजात दिलाने में सहायक हो सकते हैं (9)।

6. कोलेस्ट्रॉल के लिए

लौकी खाने के फायदे की बात करें, तो इसमें कोलेस्ट्रॉल को कम करने के गुण भी शामिल हैं। एक अध्ययन में पाया गया है कि लौकी में फैट और कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम होती है (3)। लौकी के जूस का प्रतिदिन सेवन रक्त में ट्राइग्लिसराइड्स (एक तरह का वसा या लिपिड) और कुल कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मददगार साबित होता है (10)।

7. रक्तचाप के लिए लौकी के फायदे

Shutterstock

लौकी के रस का सेवन रक्तचाप की समस्या को दूर करने में मददगार साबित हो सकता है। लौकी के रस में पोटैशियम की मात्रा पाई जाती है, जो रक्तचाप को नियंत्रित करने का काम करता है (3)।

8. कैंसर के लिए 

लौकी के फायदे आपको कैंसर की समस्या से दूर रखने में भी सहायक साबित हो सकते हैं। एक वैज्ञानिक अध्ययन में पाया गया है कि लौकी में कीमोप्रीवेंटिव (कैंसर को दूर रखने वाला कारक) प्रभाव होता है, जो कैंसर को दूर रखने का काम करता है। लौकी के रस का उपयोग त्वचा के कैंसर को भी दूर रखने का काम कर सकता है (11)।

9. त्वचा का रंग निखारने के लिए

Shutterstock

लौकी का उपयोग त्वचा संबंधित समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए किया जा सकता है (12)। इसमें एंटीबैक्टीरियल प्रभाव पाए जाते हैं, जो खराब बैक्टीरिया को आपसे दूर रखने का काम करते हैं। साथ ही लौकी में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव त्वचा को क्षति पहुंचने से रोकने के साथ-साथ चमकदार बनाने का भी काम कर सकते हैं (13) (14)।

10. बालों के लिए लौकी के फायदे

लौकी के गुण के कारण यह आपके बालों के लिए भी फायदेमंद हो सकता है । लौकी के रस को तिल के तेल के साथ मिलकर उपयोग करने से गंजेपन की समस्या को दूर करने मदद मिल सकती है (15)। फिलहाल, इस संबंध में अभी और शोध की आवश्यकता है।

आइए, अब लौकी में मौजूद पोषक तत्वों के बारे में जान लेते हैं।

लौकी का पौष्टिक तत्व – Bottle Gourd Nutritional Value in Hindi

यहां हम टेबल के जरिए समझा रहे हैं कि लौकी में कौन-कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं (16) :

पोषक तत्वमात्रा प्रति 116 gm
ऊर्जा16 kcal
कुल कार्ब्स4 gm
फैट0.1 gm
कोलेस्ट्रॉल0 gm
विटामिन ए2 ।U
विटामिन बी 10.02 mg
विटामिन बी 20.03 mg
विटामिन बी 30.35 mg
विटामिन सी12  mg
सोडियम1 mg
पोटैशियम101 mg
कैल्शियम30 mg
आयरन0.23 mg
फास्फोरस15 mg

लेख के अगले भाग में हम बता रहे हैं कि लौकी का जूस कैसे बनाया जा सकता है।

 घर में लौकी का जूस बनाने का तरीका 

Shutterstock

लौकी के रस का सेवन करने के लिए सबसे उचित समय सुबह का होता है। इस लेख में घरेलू तरीके से लौकी का जूस बनाने की विधि के बारे में जानेंगे।

सामग्री :
  • 2 मध्य आकर की लौकी
  • 15 से 20 पुदीने की पत्तियां
  • 1 बड़ा चम्मच जीरा
  • 2 से 3 बड़े चम्मच नींबू का रस
  • 2 छोटे टुकड़े अदरक
  • नमक आवश्यकतानुसार
बनाने की विधि :
  • लौकी और अदरक को अच्छे से धोकर छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें।
  • फिर सभी कटी हुई सामग्रियों को पुदीने व नमक के साथ मिक्सर में डालकर जूस बना लें।
  • ऊपर से नींबू के रस की कुछ बूंदें मिक्स कर दें।
  • आपका जूस पूरी तरह से तैयार है।

नोट : ध्यान रहे हमेशा ताजा लौकी का जूस ही पीएं। जूस के लिए ताजा लौकी ही खरीदें। यदि लौकी में थोड़ी भी कड़वाहट हो तो उसे इस्तेमाल ना करें। बेहतर है लौकी को पहले हल्का टेस्ट कर लें।

चलिए आगे जानते है कि लौकी का उपयोग किस तरह से किया जा सकता है।

लौकी का उपयोग – How to Use Bottle Gourd in Hindi

लौकी लेने के बात आप सोच रहे होंगे कि इसका उपयोग कैसे करें, तो इस मामले में हम आपकी कुछ मदद कर देते हैं।

  • लौकी की सब्जी बनाकर खाई जा सकती है।
  • लौकी का जूस निकाल कर पिया जा सकता है।
  • लौकी का हलवा बनाकर खाया जा सकता है।
कब उपयोग करें :
  • लौकी का जूस सुबह के समय पीना चाहिए।
  • आप दोपहर या रात में इसी सब्जी बनाकर खा सकते हैं।
कितना उपयोग करें :
  • प्रतिदिन 1 गिलास जूस लें।
  • दिनभर में एक कप लौकी की सब्जी खाई जा सकी है।

क्या लौकी से नुकसान हो सकता है, चलिए आगे जानते हैं।

लौकी के नुकसान – Side Effects of Bottle Gourd in Hindi

लौकी के फायदे अनेक हैं, वैसे ही इससे कुछ नुकसान भी हो सकते हैं, जो इस प्रकार हैं :

  • लौकी का रस अगर कड़वा है, तो उसे न पिएं, क्योंकि इससे आपके शरीर को नुकसान पहुंच सकता है।
  • माना जाता है कि गर्भावस्था के दौरान लौकी का कड़वा जूस भ्रूण और गर्भवती के लिए हानिकारक हो सकता है।

यह तो मानना ही पड़ेगा कि एक लौकी में कई बीमारियों का इलाज छुपा हुआ है। फिर चाहे आप इसका जूस पिएं या फिर सब्जी बनाकर अपनी डाइट में शामिल करें, यह हर लिहाज से आपके लिए फायदेमंद है। हां, लौकी का सेवन करते समय इस लेख में बताई गई सावधानियों का पालन जरूर करें। साथ ही इस लेख को अन्य लोगों के साथ शेयर कर सभी को लाभकारी लौकी के गुणों से अवगत कराएं।

और पढ़े:

Sources

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Interpretation and Medicinal Potential of Yaqtin – Lagenaria siceraria (Molina) Standley (Family-Cucurbitaceae): A Review
    http://citeseerx.ist.psu.edu/viewdoc/download?doi=10.1.1.389.9024&&rep=rep1&&type=pdf
  2. AN UPDATED REVIEW ON MEDICINAL PROPERTIES OF Lagenaria siceraria
    http://citeseerx.ist.psu.edu/viewdoc/download?doi=10.1.1.570.4783&&rep=rep1&&type=pdf
  3. Is bottle gourd a natural guard?
    https://www.researchgate.net/publication/285778085_Is_bottle_gourd_a_natural_guard
  4. Phytochemical and pharmacological review of Lagenaria sicereria
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3117318/
  5. Bottle Gourd (Lagenaria Siceraria) Toxicity: A “Bitter” Diagnostic Dilemma

    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4316287/

  6. Lipid-Lowering and Antioxidant Functions of Bottle Gourd (Lagenaria siceraria) Extract in Human Dyslipidemia
    http://citeseer.ist.psu.edu/viewdoc/download;jsessionid=E93F78AA96CB20AD89553DA0D2422DC7?doi=10.1.1.1001.8697&&rep=rep1&&type=pdf
  7. ANTI-DIABETIC ACTIVITY OF LAGENARIA SICERARIA PULP AND SEED EXTRACT IN NORMAL AND ALLOXANINDUCED DIABETIC RATS
    http://citeseerx.ist.psu.edu/viewdoc/download?doi=10.1.1.278.5465&rep=rep1&type=pdf
  8. Kidneys and Urinary System
    https://medlineplus.gov/kidneysandurinarysystem.html
  9. Is bottle gourd a natural guard?
    https://www.researchgate.net/publication/285778085_Is_bottle_gourd_a_natural_guard
  10. Lipid-lowering and antioxidant functions of bottle gourd (Lagenaria siceraria) extract in human dyslipidemia
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/24647091/
  11. Chemopreventive effect of Lagenaria siceraria in two stages DMBA plus croton oil induced skin papillomagenesis
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/23914728/
  12. Phytochemical and pharmacological review of Lagenaria sicereria
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3117318/
  13. Lipid-lowering and antioxidant functions of bottle gourd (Lagenaria siceraria) extract in human dyslipidemia
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/24647091/
  14. Systemic antioxidants and skin health
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/23135663/
  15. Phytochemical and pharmacological review of Lagenaria sicereria
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3117318/
  16. Ethnic Ingredients Nutrient Composition Table
    https://nnlm.gov/sites/default/files/psr/files/Ethnic%20ingredients%20food%20composition%20table%20Kittler%20P%20Sucher%20K.pdf
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Neha Srivastava (Nutritionist)

(Nutritionist)
Neha Srivastava - Nutritionist M.Sc -Life Science PG Diploma in Dietetics & Hospital Food Services. I am a focused health professional and I am determined to promote healthy living. I have worked for Apollo Hospitals in Hyderabad and gained rich experience in Dietetics and Hospital Food Services. I have conducted several Diet Counselling Sessions in various Multi National Companies like... more

ताज़े आलेख

554835