लेमन ग्रास के फायदे और नुकसान – Lemon Grass Benefits and Side Effects in Hindi

by

लेमन ग्रास का नाम सुनते ही आपके दिमाग में जरूर हरी-हरी घास की तस्वीर आई होगी। साथ ही आप सोच रहे होंगे कि भला घास भी क्या स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो सकती है? बस यहीं आप धोखा खा गए। आपको स्पष्ट कर दें कि हम यहां कोई ऐसी-वैसी घास नहीं, बल्कि लेमन ग्रास की बात कर रहे हैं। लेमन ग्रास के औषधीय गुण के बारे में सुन कर आप हैरान रह जाएंगे। यह सिर से लेकर पैर तक की कई बीमारियों से निजात दिलाने में सहायक हो सकती है। अगर आप नहीं जानते कि लेमन ग्रास क्या है और शरीर के लिए लेमन ग्रास के फायदे क्या-क्या हैं, तो स्टाइलक्रेज का यह लेख जरूर पढ़ें। इस लेख में आप जानेंगे इसके लाभ और इसके उपयोग के बारे में। साथ ही, हम आपको लेमन ग्रास के नुकसान के बारे में भी बताएंगे।

लेख के सबसे पहले भाग में जानिए कि लेमन ग्रास क्या है।

लेमन ग्रास क्या है – What is Lemon Grass in Hindi

लेमन ग्रास एक औषधीय पौधा है, जो खासकर दक्षिण-पूर्वी एशिया में पाया जाता है। यह घास जैसा ही दिखता है, बस इसकी लंबाई आम घास से ज्यादा होती है। वहीं, इसकी महक नींबू जैसी होती है और इसका ज्यादातर उपयोग चाय में अदरक की तरह किया जाता है। लेमन ग्रास के औषधीय गुण जैसे एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-इन्फ्लेमेटरी व एंटी-फंगल आदि आपको कई तरह की बीमारियों और संक्रमण से बचाते हैं (1)। दवा के रूप में लेमन ग्रास तेल का भी उपयोग किया जाता है। इसमें लगभग 75 प्रतिशत सिट्रल पाया जाता है, जिसकी वजह से इसकी खुशबू भी नींबू जैसी होती है। अक्सर लेमन ग्रास तेल का उपयोग सौंदर्य उत्पाद और पेय पदार्थों में भी किया जाता है (2)।

लेमन ग्रास क्या है जानने के बाद आगे जानिए लेमन ग्रास के फायदे क्या-क्या हैं?

लेमन ग्रास के फायदे – Benefits of Lemon Grass in Hindi

1. कोलेस्ट्रोल को करता है नियंत्रित

शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्रा बढ़ने से स्ट्रोक और हृदय रोग का खतरा बढ़ जाता है (3)। ऐसे में लेमन ग्रास के औषधीय गुण शरीर में कोलेस्ट्रोल के स्तर को कम कर सकते हैं और आपको इनसे बचा सकते हैं। एक वैज्ञानिक अध्ययन के अनुसार, लेमन ग्रास तेल के सेवन से रक्त में कोलेस्ट्रोल के स्तर को कम किया जा सकता है (4)।

2. पेट के लिए लेमन ग्रास के फायदे

लेमन ग्रास के गुण आपकी पाचन शक्ति बढ़ाने में भी मदद कर सकते हैं (1)। इसके अलावा, इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट गुण ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस से बचाते हैं और पेट के अल्सर व पेट से जुड़ी अन्य समस्याओं को रोकने का काम कर सकते हैं (5)।

3. किडनी के लिए लेमन ग्रास के फायदे

लेमन ग्रास में मूत्रवर्धक गुण (Diuretic properties) होता है (6)। इसका सेवन करने से आपको बार-बार पेशाब जाने की जरूरत हो सकती है, जो आपकी किडनी के लिए अच्छा है। इससे आपके शरीर के विषाक्त पदार्थ पेशाब के जरिए बाहर निकल जाएंगे और आपकी किडनी स्वस्थ रहेगी। इसके अलावा, पथरी की दवाइयों में भी मूत्रवर्धक गुण होते हैं, जो किडनी स्टोन को बाहर निकालने में सहायक भूमिका निभाते हैं (7)।

4. कैंसर के लिए लेमन ग्रास के फायदे

लेमन ग्रास और लेमन ग्रास तेल में एंटी-कैंसर गुण पाए जाते हैं, जो कैंसर सेल्स को खत्म कर कैंसर के खतरे को कम करने में मदद करते हैं (8)। इसके अलावा, कैंसर सेल्स को खत्म करने के लिए आप लेमन ग्रास की चाय भी पी सकते हैं (9)।

5. वजन कम करने के लिए लेमन ग्रास के फायदे

लेमन ग्रास के मूत्रवर्धक गुण (Diuretic Properties) की वजह से यह शरीर को डिटॉक्सिफाई करता है और यूरिन के जरिए विषाक्त पदार्थों को शरीर से बाहर निकालता है। माना जाता है कि डिटॉक्सिफिकेशन से आपको वजन कम करने में मदद मिल सकती है (10)। फिलहाल, वजन कम करने के लिए लेमन ग्रास के फायदे पर कोई ठोस प्रमाण उपलब्ध नहीं है और इस पर अधिक शोध की आवश्यकता है।

6. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए

लेमन ग्रास के औषधीय गुण आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते हैं। इसमें एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-फंगल, एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी होते हैं, जो आपको कई प्रकार के संक्रमण और बीमारियों से बचा सकते हैं (1)। इसके अलावा, इसमें मौजूद विटामिन और मिनरल इम्यून सिस्टम को बढ़ावा देने का काम कर सकते हैं (11) (12)।

7. नींद में लाभदायक

अगर आपको ठीक से नींद नहीं आ रही है, तो इस समस्या से आराम पाने के लिए आप लेमन ग्रास तेल का उपयोग कर सकते हैं। इसमें सीडेटिव (Sedative) गुण होते हैं, जो आपको बेहतर नींद लेने में मदद करेंगे (1)। आप चाहें तो लेमन ग्रास तेल की कुछ बूंदें डिफ्यूजर में डाल कर उससे अरोमाथेरेपी ले सकते हैं।

8. गठिया के लिए लेमन ग्रास के फायदे

रूमेटाइड अर्थराइटिस (Rheumatoid Arthritis) ऐसी समस्या है, जिसमें जोड़ों में दर्द, सूजन और अकड़न आने लगती है। 30-60 साल की उम्र में ये समस्या होना आम है। अगर आप भी गठिया की समस्या से परेशान हैं, तो लेमन ग्रास तेल आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो आपको गठिया के लक्षणों से आराम दिलवा सकते हैं (13)। आराम पाने के लिए आप लेमन ग्रास तेल की कुछ बूंदों से प्रभावित जगह पर मसाज कर सकते हैं।

9. अवसाद के लिए लेमन ग्रास

अवसाद से लड़ने में भी लेमन ग्रास के फायदे देखे गए हैं। दरअसल, लेमन ग्रास में एंटी-डिप्रेसेंट गुण पाए जाते हैं, जो अवसाद (Depression) को दूर करने का काम कर सकते हैं (14)।

10. तंत्रिका तंत्र के लिए लेमन ग्रास के फायदे

लेमन ग्रास के पोषक तत्व तंत्रिका तंत्र (Nervous System) के लिए लाभकारी हो सकते हैं। दरअसल, इसमें मैग्नीशियम पाया जाता है (11), जो न्यूरोडीजेनेरेटिव रोग (Neurodegenerative Diseases) से बचा सकता है (15)। न्यूरोडीजेनेरेटिव रोग में मस्तिष्क के न्यूरॉन्स नष्ट होने लगते हैं।

11. अस्थमा के लिए लेमन ग्रास के फायदे

लेमन ग्रास के औषधीय गुण आपको एलर्जिक अस्थमा से बचा सकते हैं। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-एलर्जिक गुण होते हैं, जो संक्रमित कोशिकाओं को आपके फेफड़ों में घुसने से रोकते हैं और आपको एलर्जिक अस्थमा से बचाने में लाभदायक साबित हो सकते हैं (16)।

12. स्ट्रेस के लिए लेमन ग्रास

लेमन गार्स के गुण आपको स्ट्रेस से भी आराम दिला सकते हैं। असल में ये काम लेमन ग्रास में पाया जाने वाला मैग्नीशियम करता है। शोध में पाया गया है कि मैग्नीशियम की कमी तनाव से जुड़ी समस्याओं जैसे सिरदर्द, अनिद्रा, थकान, अति-भावनात्मकता व चिंता आदि हो सकती हैं (17)। ऐसे में लेमन ग्रास का सेवन आपकी मदद कर सकता है, क्योंकि इसमें मैग्नीशियम की पर्याप्त मात्रा पाई जाती है (11)। आप चाहें तो स्ट्रेस और चिंता को दूर करने के लिए लेमन ग्रास तेल से अरोमाथेरेपी भी ले सकते हैं (18)। फिलहाल, इस पर अभी और शोध की आवश्यकता है।

13. मधुमेह के लिए लेमन ग्रास के फायदे

अगर आप मधुमेह से परेशान हैं, तो लेमन ग्रास के गुण आपकी मदद कर सकते हैं। लेमन ग्रास और उसके फूलों को पारंपरिक रूप से मधुमेह के इलाज के लिए उपयोग किया जा रहा है। इसमें एंटी-डायबिटिक गुण होते हैं, जो खाली पेट और खाने के बाद के ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करने में आपकी मदद कर सकते हैं (19)।

14. मुंहासों के लिए लेमन ग्रास के फायदे

लेमन ग्रास के गुण आपको बेदाग और पिंपल-फ्री त्वचा पाने में मदद कर सकते हैं। इसमें एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुण होते हैं, जो पिम्पल और संक्रमण फैलाने वाले कीटाणुओं से लड़ते हैं और उन्हें जड़ से खत्म करते हैं (1)। इसके अलावा, इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण भी होते हैं, जो ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस को कम करते हैं और मुहांसों को बढ़ने से रोकते हैं (20)।

लेमन ग्रास के गुण के बारे में जानने के बाद, लेख के अगले भाग में जानिए लेमन ग्रास के पोषक तत्वों के बारे में।

लेमन ग्रास के पौष्टिक तत्व – Lemon Grass Nutritional Value in Hindi

इस टेबल की मदद से जानिए कि लेमन ग्रास में कौन-कौन से पोषक तत्व कितनी मात्रा में पाए जाते हैं (11)।

पोषक तत्वमात्रा प्रति 100 ग्राम
पानी 70.58 ग्राम
ऊर्जा99 कैलोरी
प्रोटीन1.82 ग्राम
फैट0.49 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट25.31 ग्राम
मिनरल
कैल्शियम65 मिलीग्राम
आयरन8.17 मिलीग्राम
मैग्नीशियम60 मिलीग्राम
फास्फोरस101 मिलीग्राम
पोटैशियम723 मिलीग्राम
सोडियम6 मिलीग्राम
जिंक2.23 मिलीग्राम
कॉपर0.266 मिलीग्राम
मैंगनीज5.224 मिलीग्राम
सिलेनियम0.7 माइक्रोग्राम
विटामिन
विटामिन सी2.6 मिलीग्राम
थियामिन0.065 मिलीग्राम
राइबोफ्लेविन0.135 मिलीग्राम
नियासिन1.101 मिलीग्राम
पैंटोथैनिक एसिड0.050 मिलीग्राम
विटामिन बी-60.080 मिलीग्राम
फोलेट डीएफई75 माइक्रोग्राम
विटामिन ए आईयू6 आईयू
लिपिड
फैटी एसिड टोटल सैचुरेटेड0.119 ग्राम
फैटी एसिड टोटल मोनोअनसैचुरेटेड0.054 ग्राम
फैटी एसिड टोटल पॉलीअनसैचुरेटेड0.170 ग्राम

आइए, अब आपको बताते हैं कि लेमन ग्रास का उपयोग कैसे किया जाता है।

लेमन ग्रास का उपयोग – How to Use Lemon Grass in Hindi

लेमन ग्रास का स्वाद नींबू से मिलता-जुलता होता है। थाई और कॉन्टिनेंटल खाना बनाने में लेमन ग्रास का खास उपयोग किया जाता है। आप लेमन ग्रास का उपयोग कई तरह से कर सकते हैं, जैसे:

कैसे उपयोग करें:
  • आप ग्रीन टी की तरह इसकी चाय बना सकते हैं। आप इसे चाय में अदरक/इलाइची की तरह भी उपयोग कर सकते हैं।
  • चिकन बनाते समय आप उसमें थोड़ी-सी लेमन ग्रास काट कर डाल सकते हैं। यह चिकन को एक अलग स्वाद दे सकती है।
  • आप लेमन ग्रास का सूप बना सकते हैं। आप थोड़ी-सी लेमन ग्रास टमाटर के सूप में भी डाल सकते हैं।
  • लेमन ग्रास चाय में बर्फ डाल आप इसकी आइस्ड लेमन ग्रास टी बना सकते हैं।
  • लेमन ग्रास का पेस्ट बना कर आप सब्जियां बनाने में उपयोग कर सकते हैं।
  • आप खाने में नींबू के छिलके (Lemon Zest) की जगह लेमन ग्रास का उपयोग कर सकते हैं।
कब उपयोग करें:
  • लेमन ग्रास चाय का सेवन आप सुबह और शाम कर सकते हैं।
  • दोपहर या रात के भोजन में भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।
कितना उपयोग करें:
  • चाय को कड़क बनाने के लिए आवश्यकतानुसार आप उसमें एक या दो लेमन ग्रास की पत्तियां डाल सकते हैं।
  • खाना बनाने में भी आप स्वादनुसार (8-10 पत्तियां) लेमन ग्रास डाल सकते हैं, लेकिन इसका उपयोग सीमित मात्रा में ही करें।

नोट: ध्यान रखें कि आप ताजी लेमन ग्रास का ही उपयोग करें। उपयोग करने से पहले इसके डंठल के नीचे का टुकड़ा काट दें और सूखी हुई पत्तियां हटा दें। आप लेमन ग्रास की पत्तियां चाय बनाने में और अंदर का पीला भाग खाना बनाने में उपयोग कर सकते हैं।

लेमन ग्रास के फायदे जानने के बाद अब आगे जानिए लेमन ग्रास के नुकसान।

लेमन ग्रास के नुकसान – Side Effects of Lemon Grass in Hindi

वैस तो इसका सेवन सुरक्षित है, लेकिन इसकी अधिक मात्रा का सेवन करने से लेमन ग्रास के नुकसान का सामना करना पड़ सकता है। नीचे जानिए लेमन ग्रास के कुछ दुष्प्रभावों के बारे में :

  • चक्कर आना
  • अधिक भूख लगना
  • मुंह सूखना
  • अधिक पेशाब आना
  • थकान
लेमन ग्रास तेल के नुकसान :
  • रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन
  • त्वचा पर जलन और रैशेज
  • आंखों में जाने से आंखों में जलन
  • निगलने से पाचन तंत्र में समस्या

नोट: लेमन ग्रास के नुकसान का अभी कोई वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है। इसके सभी नुकसान लोगों के अनुभवों पर आधारित हैं। इसलिए, अगर आपको कोई स्वास्थ्य समस्या है, तो डॉक्टर की सलाह पर ही इसका सेवन करें।

अब तो आप लेमन ग्रास के नुकसान और फायदों के बारे में समझ ही गए होंगे। आपने ध्यान दिया होगा कि लेमन ग्रास के नुकसान ज्यादा नहीं हैं और ये लगभग सुरक्षित ही है, बशर्ते आप इसका सेवन सीमित और नियंत्रित मात्रा में करें। साथ ही, इस बात का भी ध्यान रखें कि अगर आप लेमन ग्रास का उपयोग किसी विशेष समस्या के लिए कर रहे हैं, तो एक बार अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर कर लें। अगर अब भी आपके मन में लेमन ग्रास के फायदे या उससे जुड़ा कोई सवाल है, तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर हमें बता सकते हैं। साथ ही, यह बताना न भूलें कि यह लेख आपको कैसा लगा।
और पढ़े:

Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Soumya Vyas

सौम्या व्यास ने माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय, भोपाल से इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में बीएससी किया है और इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ जर्नलिज्म एंड न्यू मीडिया, बेंगलुरु से टेलीविजन मीडिया में पीजी किया है। सौम्या एक प्रशिक्षित डांसर हैं। साथ ही इन्हें कविताएं लिखने का भी शौक है। इनके सबसे पसंदीदा कवि फैज़ अहमद फैज़, गुलज़ार और रूमी हैं। साथ ही ये हैरी पॉटर की भी बड़ी प्रशंसक हैं। अपने खाली समय में सौम्या पढ़ना और फिल्मे देखना पसंद करती हैं।

ताज़े आलेख

scorecardresearch