मेपल सिरप के 11 फायदे, उपयोग और नुकसान – Maple Syrup Benefits and Side Effects in Hindi

Medically Reviewed By Neelanjana Singh, RD
Written by , (शिक्षा- एमए इन जर्नलिज्म मीडिया कम्युनिकेशन)

मेपल सिरप, कई लोगों के लिए यह नाम नया हो सकता है। ऐसे में जो लोग इस खाद्य पदार्थ के बारे में नहीं, जानते हैं, उनके लिए हम मेपल सिरप से जुड़ी खास जानकारी लेकर आए हैं। यह खूबसूरत सा सुनहरा सिरप आपके खाने का जायका बढ़ाने के साथ-साथ आपकी सेहत के लिए भी गुणकारी हो सकता है। खासकर, उत्तर-पूर्वी संयुक्त राज्य अमेरिका और पूर्वी कनाडा में बनने वाले इस मेपल सिरप के फायदे के बारे में हम स्टाइलक्रेज के इस लेख में विस्तार से बताएंगे (1)। आप जानेंगे कि मेपल सिरप क्या होता है और यह किस तरह से फायदेमंद है। इस लेख को पूरा पढ़ लेने के बाद आप मेपल सिरप के स्वास्थ्य लाभ और नुकसान के बारे में अच्छी तरह से समझ जाएंगे।

लेख से सबसे पहले भाग में जानिए कि मेपल सिरप क्या है।

मेपल सिरप क्या है? – What is Maple Syrup in Hindi

मेपल के पेड़ों से निकलने वाले रस को मेपल सिरप कहा जाता है। पेड़ो में इस रस के बनने की शुरुआत सर्दियों में होती है, जब मेपल की पत्तियों में मौजूद शुगर, कार्बोहाइड्रेट में बदल कर पेड़ की लकड़ियों में जमा होने लगती है। वसंत ऋतु तक ये कार्बोहाइड्रेट्स पिघल कर रस के रूप में पेड़ों से बहने लगते हैं। उसी दौरान मशीन की मदद से पेड़ के तने में छेद करके इस रस को निकाला जाता है (1)। वहीं, मेपल सिरप सफेद चीनी या सुक्रोज का एक बेहतर विकल्प हो सकता है।

यह जानने के बाद कि मेपल सिरप क्या होता है, अब समय है मेपल सिरप के फायदे के बारे में जानने का।

मेपल सिरप के फायदे – Benefits of Maple Syrup in Hindi

1. पाचन शक्ति बढ़ाए

मेपल सिरप आपकी पाचन शक्ति को बढ़ाने में मदद कर सकता है। दरसरल, मेपल सिरप में प्रीबायोटिक गुण होते हैं, जो आंत के लिए लाभकारी होते हैं। ये शरीर में लैक्टिक एसिड का उत्पादन बढ़ाते हैं, जो पाचन शक्ति को बेहतर करते हैं और आंत को संक्रमण से बचाते हैं (2) (3)।

2. सूजन को कम करे

मेपल सिरप के लाभ आपको सूजन से राहत दिलाने या उनसे बचाव में सहायक हो सकता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध में मेपल सिरप में एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण होने का जिक्र मिलता है (4)। वहीं, सूजन के कारण होने वाले गठिया रोग में भी मेपल सिरप को शामिल किया जा सकता है (5)। हालांकि, बेहतर है इस बारे में एक बार डॉक्टरी सलाह भी ली जाए। रोग जैसे अर्थराइटिस से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं।

3. मानसिक स्वास्थ्य के लिए

मेपल सिरप के स्वास्थ्य लाभ की बात करें, तो यह आपको दिमाग से जुड़ी बीमारियों से बचा कर, आपके मानसिक स्वास्थ्य को सही बनाए रखने में मदद कर सकता है। यहां भी इसमें मौजूद मैंगनीज काम करता है (4)। यह दिमाग के लिए के जरूरी खनिज माना गया है। इसका सेवन सही मात्रा में करने से दिमाग में न्यूरोन्स को सही ढंग में काम करने में मदद मिलती है। हालांकि, मैंगनीज का असंतुलित सेवन न्यूरोडीजेनेरेटिव रोग जैसे पार्किंसंस का कारण बन सकता है (6)। इसलिए इसका सीमित और संतुलित सेवन जरूरी हैं।

4. कैंसर से बचाए

मेपल सिरप के लाभ आपको कैंसर से बचाने में भी मदद करते हैं। शोध में पाया गया है कि मेपल सिरप के गुण आंत के कैंसर (colorectal cancer) के सेल को बढ़ने से रोक सकते हैं। साथ ही यह भी पाया गया है कि ज्यादा गहरे रंग के मेपल सिरप में ज्यादा एंटीप्रोलिफेरेटिव गुण पाए जाते हैं (7)। इसलिए, यह कहा जा सकता है कि कैंसर के खतरे से बचने के लिए आप मेपल सिरप का उपयोग कर सकते हैं।

5. स्वस्थ दिल के लिए मेपल सिरप के लाभ

आहार में शुगर की मात्रा ज्यादा होने से ब्लड कोलेस्ट्रोल का स्तर बढ़ सकता है, जिससे हृदयरोग का खतरा हो सकता है (8)। ऐसे में आप, अपने आहार में मेपल सिरप का उपयोग कर सकते हैं। शक्कर के मुकाबले, इसमें कार्बोहाइड्रेट और शुगर की मात्रा कम होती है (4) (9), जिस वजह से संतुलित मात्रा में मेपल सिरप का सेवन आपके हृदय को स्वस्थ बनाए रखने का काम कर सकता है।

6. हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए मेपल सिरप के फायदे

मेपल सिरप के स्वास्थ्य लाभ की बात करें, तो यह हड्डियों को स्वस्थ और मजबूत बनाए रखने के काम भी आता है। मेपल सिरप में कैल्शियम, कॉपर, फास्फोरस व जिंक जैसे कई खनिज पाए जाते हैं, जो हड्डियों के स्वास्थ्य और मजबूती के लिए जरूरी हैं (4) (10)। हालांकि, हम यह स्पष्ट कर दें कि मेपल सिरप में इन पोषक तत्वों की मात्रा काफी कम होती है, ऐसे में मेपल सिरप के साथ अन्य पौष्टिक खाद्य पदार्थों का सेवन करना भी आवश्यक है।

7. मधुमेह के लिए मेपल सिरप

अगर आप मधुमेह से ग्रसित हैं और डॉक्टर ने आपको शक्कर से दूर रहने को कहा है, तो मीठे के लिए आप मेपल सिरप का उपयोग कर सकते हैं। एक शोध में पाया गया है कि मेपल सिरप ऐसा प्राकृतिक मीठा सिरप है, जिसमें कार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम होती है। इससे ब्लड ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। इस प्रक्रिया को लोअर ग्लाइसेमिक इंडेक्स (Lower Glycemic Index) कहा जाता है (11)। हालांकि, ध्यान रखें कि डायबिटीज को कम करने के लिए इसका सेवन नियंत्रित मात्रा में या डॉक्टरी सलाह के बाद ही करना जरूरी है।

8. एनीमिया के लिए मेपल सिरप के फायदे

खून में आयरन की कमी एनीमिया का सबसे बड़ा कारण होती है। आयरन शरीर में हीमोग्लोबिन बनाता है, जिससे खून को लाल रंग मिलता है और यह फेफड़ों से ऑक्सीजन को पूरे शरीर में पहुंचाता है (12)। ऐसे में, मेपल सिरप का सेवन लाभदायक हो सकता है। इसमें आयरन पाया जाता है, जिस वजह से यह आपको एनीमिया से निजात पाने में मदद कर सकता है (4)। हालांकि, अन्य खाद्य पदार्थों की तुलना में इसमें आयरन काफी कम होता है, ऐसे में बेहतर है मेपल सिरप के साथ अन्य आयरन और पौष्टिक तत्व युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन भी किया जाए।

9. मेटाबॉलिज्म के लिए

शरीर के ठीक तरह से काम करने के लिए हमारे अंदर चल रही रसायानिक प्रक्रियाओं को मेटाबॉलिज्म कहा जाता है। मेटाबॉलिज्म कम होने के कई कारण हो सकते हैं, जैसे मधुमेह, ह्रदय रोग व उच्च कोलेस्ट्रोल आदि। कम मेटाबोलिक दर आगे चल कर हृदय रोग, स्ट्रोक और यहां तक कि मृत्यु का कारण भी बन सकती है (13)। जैसा कि हम लेख में बता चुके हैं कि मेपल सिरप मधुमेह, ह्रदय को स्वास्थ्य रखने और उच्च कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है। जब ये सब ठीक रहेंगे, तो मेटाबॉलिज्म का स्तर अपने आप संतुलित रहेगा। इस प्रकार कहा जा सकता है कि मेटाबॉलिज्म ठीक करने के उपाय में आप मेपल सिरप का उपयोग कर सकते हैं।

10. रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए

विभिन्न प्रकार के रोगों से लड़ने की शारीरिक क्षमता को रोग प्रतिरोधक क्षमता कहा जाता है। इसके कम होने की वजह से आप आसानी से बीमारियों के चपेट में आ सकते हैं (14)। ऐसे में, मेपल सिरप के फायदे रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय में इस्तेमाल किए जा सकते हैं। मेपल सिरप के कुछ अर्क में एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं, जो कई प्रकार के संक्रमण फैलाने वाले बैक्टीरिया से आपको बचाते हैं (15) (16)।

11. साधारण टेबल शुगर से बेहतर विकल्प

ऊपर बताए गए मेपल सिरप के फायदे पढ़ कर आप यह तो समझ ही गए होंगे कि यह स्वास्थ्य के लिए कितना लाभदायक है। साधारण चीनी की जगह मेपल सिरप का उपयोग करने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि जहां एक तरफ साधारण चीनी मधुमेह को बढ़ाती है, वहीं मेपल सिरप उसे नियंत्रित करने में मदद करता है (11)। साधारण चीनी की तुलना में मेपल सिरप में फैट, कार्बोहाइड्रेट्स और शुगर की मात्रा कम होती है। इस वजह से यह साधारण चीनी की तुलना में स्वास्थ्य के लिए अधिक लाभदायक हो सकता है (4) (9)।

मेपल सिरप के लाभ जानने के बाद, आइये अब आपको इसमें मौजूद पोषक तत्वों के बारे में बात करते हैं।

मेपल सिरप के पौष्टिक तत्व – Maple Syrup Nutritional Value in Hindi

नीचे जानिये कि मेपल सिरप में कौन-कौन से पोषक तत्व और कितनी मात्रा में पाए जाते हैं (4):

पोषक तत्वमात्रा प्रति 100 ग्राम
पानी32.39 ग्राम
कैलोरी260 kcal
प्रोटीन0.04 ग्राम
टोटल लिपिड (फैट)0.06 ग्राम
ऐश0.47 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट्स67.04 ग्राम
शुगर60.46 ग्राम
मिनरल
कैल्शियम102 मिलीग्राम
आयरन0.11 मिलीग्राम
मैग्नीशियम21 मिलीग्राम
फास्फोरस2 मिलीग्राम
पोटैशियम212 मिलीग्राम
सोडियम12 मिलीग्राम
जिंक1.47 मिलीग्राम
कॉपर0.018 मिलीग्राम
मैंगनीज2.908 मिलीग्राम
विटामिन
थायमिन (B1)0.066 मिलीग्राम
राइबोफ्लेविन (B2)1.27 मिलीग्राम
नियासिन (B3)0.081 मिलीग्राम
विटामिन बी-60.002 मिलीग्राम
कोलीन1.6 मिलीग्राम
पैन्टोथैनिक एसिड0.036 मिलीग्राम
लिपिड
फैटी एसिड (टोटल सैचुरेटेड)0.007 ग्राम
फैटी एसिड (टोटल मोनोअनसैचुरेटेड)0.011 ग्राम
फैटी एसिड (पॉलीअनसैचुरेटेड)0.017 ग्राम

मेपल सिरप के पोषक तत्वों के बारे में जानने के बाद, आइए आपको इसके उपयोग के बारे में बताते हैं।

मेपल सिरप का उपयोग – How to Use Maple Syrup in Hindi

iStock

आप मेपल सिरप का उपयोग कई तरह से कर सकते हैं, जैसे:

  • इसे फ्रूट सलाद, पैन केक, आइसक्रीम, पॉपकॉर्न व फ्रेंच टोस्ट आदि के ऊपर डाल कर खा सकते हैं।
  • मेपल सिरप को बटर के साथ मिलाकर खाना पकाने में उपयोग किया जा सकता है।
  • बेकरी उत्पाद जैसे केक, पुडिंग या कूकीज बनाने में इसका उपयोग वनिला फ्लेवर की तरह किया जा सकता है।
  • आप इसका उपयोग डिपिंग सॉस की तरह भी कर सकते हैं।
  • इसे कॉकटेल या जूस में मिलाने से पेय को एक अलग स्वाद मिलेगा।
  • स्वाद के लिए मेपल सिरप को आप कस्टर्ड में भी मिला सकते हैं।
कितना उपयोग करें:

एक से दो चम्मच मेपल सिरप खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए पर्याप्त होती है। इसका उपयोग करने की मात्रा खाद्य पदार्थ की मात्रा पर निर्भर करती है। ध्यान रखें कि यह स्वाद में मीठा होता है, इसलिए मेपल सिरप की ज्यादा मात्रा खाने को अधिक मीठा बना सकती है।

रोज आहार में शामिल कैसे करें:

अगर आप नाश्ते में फल, पैनकेक व कॉर्नफ्लेक्स आदि खा रहे हैं, तो उन पर एक छोटा चम्मच मेपल सिरप डालना पर्याप्त होगा।

लेख के अगले भाग में जानिए कि मेपल सिरप, शक्कर और शहद के बीच क्या फर्क होता है।

मेपल सिरप, चीनी और शहद से कैसे अलग है?

मेपल सिरप और चीनी : जैसा कि हम लेख के पहले भाग में बता चुके है मेपल सिरप, मेपल के पेड़ का रस होता है। यह पूरी तरह प्राकृतिक होता है और इसे बनाने में किसी प्रकार के रसायनों और प्रिजर्वेटिव (chemicals and preservatives) का उपयोग नहीं होता। इसे सीधा पेड़ से लिया जाता है (1)।

वहीं चीनी भी प्राकृतिक पदार्थ है, लेकिन इसे बनाने के लिए गन्ने को प्रासेस्ड किया जाता है और कई रिफाइनरी प्रक्रिया से गुजारा जाता है, जिस वजह से इसे रिफाइंड शुगर भी कहा जाता है। (17)।

मेपल सिरप और शहद : मेपल सिरप और शहद, दोनों ही प्राकृतिक उत्पाद होते हैं। जहां मेपल सिरप पेड़ के तने से निकलता है, वहीं मधुमक्खियां फूलों के अर्क से शहद का निर्माण करती हैं (18)। फर्क इन दोनों के पोषक तत्वों में है। शहद में पाए जाने वाले कुछ विटामिन जैसे विटामिन-सी व फोलेट आदि मेपल सिरप में नहीं होते और मेपल सिरप में फैटी एसिड पाया जाता है, जिसकी मात्रा शहद में शून्य होती है (4) (19)।

अब आप यह अच्छी तरह समझ गए होंगे की मेपल सिरप क्या है और यह कितना गुणकारी है। लेख के अगले भाग में जानिए मेपल सिरप के कुछ दुष्प्रभावों के बारे में।

मेपल सिरप के नुकसान – Side Effects of Maple Syrup in Hindi

मेपल सिरप का सेवन अगर संतुलित मात्रा में किया जाए, तो यह पूरी तरह सुरक्षित है। गर्भावस्था या स्तनपान के दौरान भी मेपल सिरप का उपयोग सुरक्षित है। बस, ध्यान रखें कि किसी भी चीज की अति नुकसानदायक होती है और यही बात मेपल सिरप के उपयोग पर भी लागू होती है। आखिरकार यह भी एक प्रकार का शुगर (sweetener) है। शुगर का अधिक सेवन करने से आपको नीचे बताई गई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है (20):

  • मोटापा
  • टाइप 2 डायबिटीज
  • उच्च रक्तचाप
  • दांत की सड़न
  • मेटाबोलिक सिंड्रोम

इस आर्टिकल से पूरी तरह से स्पष्ट हो गया कि मेपल सिरप क्या होता है और इसके कितने लाभ हैं। ऐसी कोई खाद्य सामग्री नहीं है, जहां आप चीनी की जगह मेपल सिरप का उपयोग नहीं कर सकते। खास बात यह भी है कि मेपल सिरप के स्वास्थ्य लाभ, साधारण चीनी के मुकाबले कई गुना ज्यादा हैं। इसलिए, अगली बार आप कोई मीठी चीज बनाएं, तो उसमें चीनी की जगह मेपल सिरप का प्रयोग कर सकते हैं। इससे खाने का स्वाद बढ़ जाएगा, बशर्ते आप इसका उपयोग सीमित मात्रा में ही करें। उम्मीद है यह लेख आपको पसंद आया होगा, ऐसे ही अन्य लेख पढ़ने के लिए स्टाइलक्रेज की वेबसाइट विजिट करते रहें।

और पढ़े:

Sources

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Maple Syrup
    https://pss.uvm.edu/ppp/articles/maplesyrup.html
  2. Detection of Inulin, a Prebiotic Polysaccharide in Maple Syrup
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5819732/
  3. Health and nutritional benefits from lactic acid bacteria
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/2271223/
  4. Anti-glycation and anti-oxidative effects of a phenolic-enriched maple syrup extract and its protective effects on normal human colon cells
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5818990/
  5. Arthritis- Can Nutrition reduce inflammation?
    https://www.arthritis.org.nz/wp-content/uploads/2012/08/Arthritis-Nutrition-Linda-Outhwaite_web.pdf
  6. Manganese action in brain function
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/12505649/
  7. Inhibitory effect of maple syrup on the cell growth and invasion of human colorectal cancer cells
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4358083/
  8. Sugar

  9. Sugars, granulated
    https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/334247/nutrients
  10. Essential Nutrients for Bone Health and a Review of their Availability in the Average North American Diet
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3330619/
  11. Comparison of the enhancement of plasma glucose levels in type 2 diabetes Otsuka Long-Evans Tokushima Fatty rats by oral administration of sucrose or maple syrup
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/24005018/
  12. Anemia
    https://medlineplus.gov/anemia.html
  13. Metabolic Syndrome
    https://www.nhlbi.nih.gov/health-topics/metabolic-syndrome
  14. Immune System Disorders
    https://www.urmc.rochester.edu/encyclopedia/content.aspx?ContentID=123&ContentTypeID=134
  15. Polyphenolic extract from maple syrup potentiates antibiotic susceptibility and reduces biofilm formation of pathogenic bacteria
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/25819960/
  16. Cellular antimicrobial immunity

  17. Sugarcane Processing
    https://www3.epa.gov/ttn/chief/ap42/ch09/final/c9s10-1a.pdf
  18. Honey Bees
    https://www.in.gov/dnr/kids/6114.htm
  19. Honey
    https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/169640/nutrients
  20. Sweeteners – sugars
    https://medlineplus.gov/ency/article/002444.htm
  21. https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/healthyliving/sugarhttps://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/383406/

Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
The following two tabs change content below.
पुजा कुमारी ने बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी से जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन में एमए किया है। इन्होंने वर्ष 2015 में अपने... more

Neelanjana Singh

(RD)
Neelanjana Singh has over 30 years of experience in the field of nutrition and dietetics. She created and headed the... more

ताज़े आलेख