गेंदे के फूल का फेस पैक और बनाने की विधि – Marigold Flower Uses For Skin In Hindi

Written by , (एमए इन मास कम्युनिकेशन)

दमकती बेदाग त्वचा की चाहत हर किसी को होती है। इसके लिए लोग कई तरह के प्रोडक्ट और फेसपैक का उपयोग करते हैं, लेकिन हर बार परिणाम अच्छा नहीं मिल पाता। ऐसा ही कुछ आपके साथ भी है, तो घर के आसपास मौजूद गेंदे के फूल का इस्तेमाल कर सकते हैं। जी हां, गेंदे के फूल का फेस पैक और इसका अर्क त्वचा को स्वस्थ और ग्लोइंग बना सकता है। इसी वजह से स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम त्वचा के लिए गेंदे का फूल इस्तेमाल करने का तरीका और इसके फायदे बता रहे हैं।

शुरू करते हैं लेख

आर्टिकल में सबसे पहले हम बताएंगे कि गेंदे के फूल का फेस पैक फायदेमंद कैसे है।

गेंदे के फूल फेस पैक के फायदे – Marigold Flower Face Pack Benefits in Hindi

गेंदे के फूल का फेस पैक लगाने से त्वचा को तमाम फायदे हो सकते हैं। हम लेख में आगे रिसर्च के आधार पर त्वचा के लिए गेंदे के फूल के लाभ बता रहे हैं। 

1. मुंहासे

मुंहासों की समस्या से बचाव के लिए गेंदे का फूल अच्छा साबित हो सकता है। एक रिसर्च के अनुसार, गेंदे के फूल में मौजूद एंटीबैक्टीरियल और एंटीइंफ्लेमेटरी प्रभाव कील-मुंहासों और इनकी वजह से होने वाली सूजन से राहत दिला सकते हैं। साथ ही गेंदे के फूल में मौजूद एंटी एक्ने क्षमता की वजह से हर्बल एंटी एक्ने क्रीम बनाने में भी गेंदे के फूलों का उपयोग किया जाता है (1)

एक अन्य रिसर्च पेपर में बताया गया है कि गेंदे के फूल में मौजूद ल्यूटिन, सेपोनिन जैसे कंपाउंड मुंहासों पर लाभकारी प्रभाव दिखा सकते हैं। इसी वजह से एंटी एक्ने प्लांट में गेंदा को भी शामिल किया जाता है। बस इसके लिए गेंदे के फूल से बने पेस्ट या अर्क का इस्तेमाल करना होगा (2)। इससे संबंधित एक अध्ययन में कहा गया है कि एक्ने के लिए इसका उपयोग सिर्फ सुरक्षित ही नहीं, बल्कि प्रभावी भी है (3)

2. डार्क सर्कल

गेंदे का फूल डार्क सर्कल पर कितना असरदार है, यह तो स्पष्ट नहीं है। हां, कुछ वैज्ञानिक शोध बताते हैं कि गेंदे के फूल में स्किन व्हाइटनिंग प्रभाव होता है। यह मेलेनिन के उत्पादन यानी त्वचा की गहरी रंगत बनाने वाले पिगमेंट को नियंत्रित करके गहरे रंग में सुधार ला सकता है (4)

साथ ही रिसर्च में बताया गया है कि कोजिक एसिड को त्वचा की रंगत हल्का करने के लिए जाना जाता है (4)। यह एसिड गेंदे के फूल में भी होता है (5)। इस आधार पर कहा जा सकता है कि आंखों के काले घेरों को कम करने में भी गेंदे के फूल का फेस पैक फायदेमंद होगा।

3. टैनिंग

धूप में ज्यादा देर तक रहने से कई बार त्वचा पर टैनिंग हो जाती है। ऐसे में गेंदे के फूल से बना फेस पैक कारगर साबित हो सकता है। एक रिसर्च में बताया गया है कि गेंदे के फूल से बनी क्रीम सन बर्न की समस्या को कुछ कम कर सकती है। साथ ही गेंदे के फूल के अर्क में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट एजेंट सनबर्न से होने वाले ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को भी कम कर सकता है (6)

यही नहीं, गेंदा का अर्क त्वचा के मेलेनिन यानी गहरे पिगमेंट के उत्पादन को कम कर सकता है। साथ ही गेंदा का फूल स्किन व्हाइटनिंग प्रभाव दिखता है (4)। ऐसे में टैनिंग की समस्या में सुधार करने के लिए गेंदे के फूल को लाभकारी माना जा सकता है।

4. एजिंग

गेंदे के फूल से बना फेस मास्क एजिंग के लक्षणों से बचाव करने का काम कर सकता है। रिसर्च में बताया गया है कि गेंदे के फूल के अर्क में त्वचा को लाभ पहुंचाने वाले कई बायोएक्टिव जैसे रुटिन, क्वेरसेटिन, ल्यूटोलिन, एपिजेनिन और काम्फेरोल कंपाउंड होते हैं। ये सभी एंटीऑक्सीडेंट की तरह कार्य करके स्किन को स्वस्थ रखने और बढ़ती उम्र के लक्षणों से बचाव करने में मदद कर सकते हैं (6)।  इसी वजह से गंदे के फूल के फायदे में एंटी एजिंग प्रभाव भी शामिल है।

5. स्किन ऑयल

ऑयली स्किन की समस्या को कम करने में गेंदे के फूल से बना फेस मास्क मदद कर सकता है। एक रिसर्च पेपर की बात करें, तो उसमें कहा गया है कि गेंदे का फूल त्वचा पर सीबम यानी प्राकृतिक ऑयल के उत्पादन को कम कर सकता है (7)। वहीं, एक अन्य शोध के अनुसार, गेंदा का फूल और इससे बनी क्रीम ऑयली स्किन वालों के लिए प्रभावी नहीं है। इससे त्वचा पर तेल का निर्माण होता है, जिससे स्किन और तैलीय हो सकती है (8)। इस आधार पर कहा जा सकता है कि सिर्फ रूखी या सामान्य त्वचा वालों को ही गेंदे के फूल का उपयोग करना चाहिए। 

6. काले धब्बे

गेंदे के फूल के फेस पैक के फायदे में काले दाग-धब्बों को दूर करना भी शामिल है। जैसा कि हम ऊपर बता ही चुके हैं कि गेंदे के फूल में स्किन व्हाइटनिंग प्रभाव होता है (4)। इससे त्वचा पर दिखाई देने वाले काले व गहरे दाग-धब्बों को हल्का करने में मदद मिल सकती है।

एक अन्य रिसर्च के मुताबिक, गेंदे के फूल में क्वेरसेटिन नामक फ्लेवोनोइड कंपाउंड होता है, जो स्किन मेलेनिन यानी गहरे पिगमेंट को कम कर सकता है (8)। इसके लिए त्वचा पर गेंदे के फूल के इंफ्यूजन यानी पानी का इस्तेमाल किया जा सकता है। यह दाग-धब्बों के साथ ही झाइयों को भी कम करने में सहायक हो सकता है (9)

पढ़ते रहें लेख

अब त्वचा के लिए गेंदे के फूल से बना फेस पैक उपयोग करने के तरीके जानते हैं।

चेहरे और त्वचा के लिए गेंदे के फूल का उपयोग कैसे करें- How To Use Marigold Flower For Face And Skin in Hindi

लेख में ऊपर त्वचा के लिए गेंदे का फूल कैसे फायदेमंद है, यह बताया गया है। इन फायदों को पाने के लिए गेंदे के फूल का सही इस्तेमाल करने का तरीका जानना जरूरी है, जो इस प्रकार है।

  • गेंदे के फूल का पेस्ट बनाकर चेहरे पर लगा सकते हैं।
  • पानी में एक-दो घंटे गेंदे के फूल को रखकर उस पानी से चेहरे को धो सकते हैं।
  • गेंदे के फूल के पानी में गुलाब जल मिलकार टोनर की तरह इसे इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • फेस पैक में गेंदे के फूल का पेस्ट या पाउडर मिलकार उपयोग किया जा सकता है।

इनके अलावा, घर में ही गेंदे के फूल का फेसपैक भी बना सकते हैं, जिसकी रेसिपी हम आगे बता रहे हैं।

1. गेंदे का फूल और चंदन पाउडर

सामग्री:

  • 1 गेंदे के फूल की पंखुड़ियां
  • आधा छोटा चम्मच चंदन पाउडर
  • आवश्यकतानुसार गुलाब जल

उपयोग का तरीका:

  • गेंदे की पंखुड़ियों को पीस लें।
  • इसके बाद इसमें चन्दन पाउडर और गुलाब जल डालकर पेस्ट बनाएं।
  • अब फेस को साफ करके यह पैक चेहरे और गर्दन पर लगाएं।
  • करीब 20 मिनट तक फेस पैक लगा रहने दें।
  • इसके बाद इसे ठंडे पानी से चेहरा और गर्दन साफ कर लें।
  • हफ्ते में एक या दो बार इस पैक को लगा सकते हैं।

2. गेंदे का फूल और हल्दी पाउडर

सामग्री:

  • एक गेंदे का फूल
  • 1 चुटकी हल्दी
  • आधा चम्मच दूध की क्रीम
  • आधा चम्मच शहद
  • एक बूंद नींबू का रस

उपयोग का तरीका:

  • इन सभी सामग्रियों को एक साथ मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें।
  • मिश्रण तैयार होने पर इसे चेहरे पर लगाकर 20 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • इसके बाद चेहरे को ठंडे पानी से साफ कर लें।
  • इस पैक को हफ्ते में 2-3 बार इस्तेमाल कर सकते हैं।

3. गेंदे का फूल और दही

सामग्री:

  • एक चम्मच गेंदे के फूल का पेस्ट
  • आधा चम्मच दही
  • नींबू का रस की कुछ बूंदें
  • आधा चम्मच गुलाब जल

उपयोग का तरीका:

  • सभी सामग्रियों को एक साथ मिलाकर पेस्ट बना लें।
  • अब चेहरे को साफ करके हल्के हाथों से पेस्ट को लगाएं।
  • करीब 20 मिनट तक फेस पैक को सूखने दें।
  • उसके बाद गुनगुने पानी से चेहरे को साफ कर लें।
  • इस पैक का इस्तेमाल हफ्ते में दो बार किया जा सकता है।

नीचे स्क्रॉल करें

आगे हम त्वचा के लिए गेंदे के फूल के इस्तेमाल से जुड़ी सावधानियां बताएंगे।

त्वचा पर गेंदे के फूल का इस्तेमाल करने से पहले इन बातों का रखें ध्यान – Precautions To Follow Before Using Marigold Flower on Skin in Hindi

लेख में आपने जाना कि त्वचा के लिए गेंदे के फूल से बना फेस मास्क लगाने के फायदे कई हैं। बस इसका इस्तेमाल करने से पहले कुछ बातों को ध्यान में रखने चाहिए, जो कुछ इस प्रकार हैं।

  • चेहरे पर गेंदे के फूल से बना फेस पैक लगाने से पहले पैच टेस्ट जरूर करें।
  • हमेशा साफ चेहरे पर ही फेसपैक लगाएं।
  • गेंदे के फूल का पैक तैयार करने के लिए अन्य सामग्रियों को अपनी स्किन टाइप के अनुसार ही चुनें।
  • चेहरे पर फेस मास्क लगाते वक्त साफ रुई या हल्के हाथों का इस्तेमाल करें। इस दौरान त्वचा पर कोई दबाव न बनाएं।
  • एलर्जी का जोखिम पैदा करने वाली सामग्रियों का उपयोग फेसपैक में न करें।
  • चेहरे में नमी को बनाएं रखने के लिए फेस पैक हटाने के बाद मॉश्चराइजर का उपयोग जरूर करें।

लेख को अंत तक पढ़ें

आगे त्वचा पर गेंदे के फूल से बना फेस मास्क लगाने के साइड इफेक्ट्स जानिए।

चेहरे पर गेंदे के फूल फेस पैक लगाने के नुकसान- Side Effects Of Using Marigold Flower On Your Face in Hindi

त्वचा पर गेंदे के फूल का फेस पैक लगाने के तमाम फायदे हैं, लेकिन कुछ लोगों में यह नुकसान का कारण बन सकता है।

  • सेंसिटिव स्किन वालों को इसके उपयोग से त्वचा पर हल्की खुलजी या चुभन की शिकायत हो सकती है।
  • गेंदे के फूल से बना फेस मास्क को त्वचा से हटाते समय हल्के हाथों का इस्तेमाल करें। ज्यादा रगड़ने से चेहरे पर लाल निशान पड़ सकते हैं।
  • कुछ लोगों को गेंदे के फूल से तैयार फेसपैक से एलर्जी हो सकती है।

गेंदे का फूल त्वचा के लिए कितना फायदेमंद है, यह हम बता ही चुके हैं। इसमें मौजूद त्वचा के लिए लाभकारी प्रभाव की वजह से कॉस्मेटिक क्रीम में भी इसका उपयोग किया जाने लगा है। ऐसे में क्यों न अपनी खूबसूरती को निखारने के लिए घर में सीधे गेंदे के फूल और इससे तैयार फेसपैक का इस्तेमाल किया जाए। इससे न तो किसी केमिकल का डर होगा और न ही चेहरे को किसी नुकसान का। बस तो आज ही गेंदे के फूल को अपने स्किन केयर रूटिन में शामिल करके अपनी त्वचा पर और लाड जताएं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या गेंदा पिंपल्स के लिए अच्छा है?

हां, गेंदा पिंपल्स के लिए अच्छा माना जाता है

क्या गेंदा चेहरे के लिए अच्छा है?

जी हां, गेंदा के फूल चेहरे के लिए अच्छा है। इससे त्वचा स्वस्थ रहती है (6)। साथ ही इसे एजिंग के लक्षण जैसे झुर्रियों को कम करने के लिए भी जाना जाता है (6)। यही नहीं, एक्ने, सनबर्न, काले दाग-धब्बे, झाइयों से छुटकारा दिलाने में भी गेंदे का फूल लाभकारी साबित हो सकता है (1) (9)

क्या मैरीगोल्ड्स को रोजाना त्वचा पर लगाया जा सकता है?

हां बिल्कुल, चेहरे पर गेंदे के फूल से बना फेस पैक हफ्ते में दो-तीन बार लगा सकते हैं। चाहें तो रोजाना सिर्फ गेंदे को फूल का पेस्ट तैयार करके सोने से पहले लगा सकते हैं।

गेंदे के फूलों के सौंदर्य लाभ क्या-क्या हैं?

गेंदे के फूलों के सौंदर्य लाभ में एजिंग की प्रक्रिया को धीमा करना, त्वचा की रंगत में निखार लाना, घाव भरना, त्वचा की सूजन को कम करना, काले दाग कम करना जैसे तमाम फायदे शामिल हैं।

संदर्भ (Sources)

  1. Clinical trial of a herbal topical cream in treatment of Acne vulgaris
    https://www.researchgate.net/publication/261914265_Clinical_trial_of_a_herbal_topical_cream_in_treatment_of_Acne_vulgaris
  2. .Medicinal Plants used as Anti-Acne Agents by Tribal and Non-Tribal People of Tripura, India
    https://citeseerx.ist.psu.edu/viewdoc/download?doi=10.1.1.677.6077&rep=rep1&type=pdf
  3. Treatment of Acne with Herbal Remedie –Calendula officinalis: An Overview
    https://www.semanticscholar.org/paper/Treatment-of-Acne-with-Herbal-Remedie-%E2%80%93Calendula-An-Mishra/ef75a1d72af157ab0b66d32895bd355046ebec5f#citing-papers
  4. Evaluation of various functional skin parameters using a topical cream of Calendula officinalis extract
    https://www.researchgate.net/publication/260371919_Evaluation_of_various_functional_skin_parameters_using_a_topical_cream_of_Calendula_officinalis_extract
  5. Chemical composition and biological activities of essential oils from Calendula officinalis L. flowers and leaves
    https://onlinelibrary.wiley.com/doi/10.1002/ffj.3661?af=R
  6. Extraction and Clinical Application of Calendula officinalis L. Flowers Cream
    https://iopscience.iop.org/article/10.1088/1757-899X/571/1/012082/pdf
  7. Pot marigold (Calendula officinalis L.) – a position in classical phytotherapy and newly documented activities
    https://core.ac.uk/download/pdf/361287852.pdf
  8. Evaluation of various functional skin parameters using a topical cream of Calendula officinalis extract
    https://academicjournals.org/article/article1380799106_Akhtar%20et%20al.pdf
  9. A review on phytochemistry and ethnopharmacological aspects of genus Calendula
    https://www.phcogrev.com/sites/default/files/PhcogRev-7-14-179.pdf

Was this article helpful?
thumbsupthumbsup
The following two tabs change content below.
कविता सिंह ने पंजाब तकनीकी विश्वविद्यालय से मास कम्युनिकेशन में स्नातक हैं। इन्होंने वर्ष 2014 में एक प्रख्यात न्यूज चैनल... more

ताज़े आलेख