मेथी का पानी पीने के 9 फायदे और नुकसान – Benefits and Side Effects of Fenugreek Water in Hindi

Written by

मेथी लगभग हर रसोई में पाए जाने वाला मसाला है। इसका इस्तेमाल अमूमन हर रेसिपी के स्वाद को बढ़ाने के लिए किया जाता है। यह न सिर्फ खाने के टेस्ट को बढ़ाने का काम करती है, बल्कि सेहत के लिए भी लाभकारी होती है। औषधीय गुणों से भरपूर होने के कारण, अच्छे स्वास्थ्य के लिए मेथी का पानी पीना अच्छा माना जाता है। यही कारण है कि स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम मेथी का पानी पीने से क्या फायदा होता है और मेथी का पानी पीने के नुकसान क्या हो सकते हैं ,इसकी जानकारी दे रहे हैं। साथ ही यहां हम मेथी पानी को तैयार करने की विधि भी साझा करेंगे।

विषय सूची


नीचे पूरी जानकारी है

आइए जान लेते हैं कि मेथी पानी पीने के फायदे क्या-क्या हो सकते हैं।

मेथी का पानी पीने के फायदे – Methi Ka Pani Peene Ke Fayde in Hindi

जिस तरह मेथी के कई सारे फायदे हैं, ठीक उसी तरह मेथी का पानी पीने के भी अनेक लाभ हैं, जिनके बारे में आगे जानकारी दे रहे हैं। मेथी के पानी के फायदों को लेकर कोई सटीक शोध उपलब्ध नहीं है, इसलिए लेख में दी गई जानकारी मेथी और इसके अर्क पर आधारित है। चलिए जानते हैं स्वास्थ्य के लिए मेथी का पानी किस प्रकार लाभकारी हो सकता है।

1. पाचन के लिए

अगर कोई जानना चाहता है कि मेथी पानी पीने से क्या होता है, तो उन्हें बता दे कि इससे पाचन की समस्या ठीक हो सकती है। इस बात की पुष्टि दो अलग-अलग शोध से होती है। एक मेडिकल रिसर्च के मुताबिक, मेथी के बीज में फाइबर की अच्छी मात्रा पाई जाती है, जो पाचन क्रिया को बेहतर बनाने के साथ ही पाचन से जुड़ी समस्याओं को दूर कर सकता है (1)। वहीं, एक अन्य शोध में मेथी के बीज युक्त टॉनिक को पाचन की समस्या कि लिए उपयोगी बताया गया है (2)। ऐसे में कह सकते हैं कि मेथी दाने का पानी पीने के फायदे में पाचन तंत्र को दुरुस्त रखना भी शामिल है।

2. किडनी के लिए

एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक वैज्ञानिक रिसर्च के अनुसार,मेथी का सेवन रेनल फंक्शन यानी गुर्दे की कार्यक्षमता को बढ़ाकर कैल्सीफिकेशन की प्रक्रिया को धीमा कर सकता है (3)। बता दें, कैल्सीफिकेशन प्रक्रिया के दौरान कैल्शियम शरीर के टिश्यू में जमने लगता है। इससे टिश्यू कठोर हो सकते हैं (4)।

इसके अलावा, मेथी का सेवन शरीर में एंटीऑक्सिडेंट के स्तर को भी बढ़ा सकता है, जो ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम कर गुर्दे के कार्य में सुधार कर सकता है (3)। इसलिए, यह माना जा सकता है कि किडनी संबंधित परेशानी से बचाव के लिए मेथी का पानी अहम भूमिका निभा सकता है।

3. सूजन के लिए

सिर्फ 1 महीने मेथी का पानी पीने के फायदे की बात करें, तो इसमें सूजन से जुड़ी समस्याओं को दूर करना भी शामिल है। एक वैज्ञानिक शोध की मानें, तो मेथी के अर्क में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण पाया जाता है, जो सूजन को कम कर सकता है। इससे एडिमा और गठिया जैसी सूजन से संबंधित समस्या का जोखिम काफी हद तक कम हो सकता है (5)। इस आधार पर यह कहना गलत नहीं होगा कि सूजन संबंधित परेशानी से राहत दिलाने में मेथी का पानी उपयोगी है।

4. हृदय स्वस्थ को बनाए रखने में

मेथी दाने का पानी पीने के फायदे में हृदय को स्वस्थ रखना भी शामिल है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर पब्लिश एक वैज्ञानिक अध्ययन में साफ तौर से बताया गया है कि मेथी के बीज में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम कर हृदय रोग से बचाव कर सकते हैं (6)।

इसके अलावा, एक अन्य शोध में इस बात का जिक्र मिलता है कि मेथी के अर्क में हाइपोकोलेस्ट्रॉलेमिक प्रभाव होता है, जो कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित कर सकता है (7)। बता दें, कोलेस्ट्रोल का स्तर सामान्य रहने से हृदय रोग का जोखिम कम हो सकता है (8)। इन तथ्यों को देखते हुए मेथी के पानी को हृदय को स्वस्थ रखने के लिए लाभकारी माना जा सकता है।

5. मधुमेह के लिए

सिर्फ 1 महीने मेथी का पानी पीने के फायदे मधुमेह की स्थिति पर भी दिखाई दे सकते हैं। एक वैज्ञानिक रिसर्च की मानें, तो मेथी के दाने के पानी में हाइपोग्लाइसेमिक प्रभाव होता है। यह प्रभाव रक्त शुगर को कम करने के लिए जाना जाता है (9)।

वहीं, एक अन्य शोध में साफ तौर से इस बात का जिक्र है कि मेथी के बीज के अर्क को पौराणिक समय से मधुमेह की दवा के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है (10)। इस आधार पर कह सकते हैं कि मेथी का पानी पीने से मधुमेह की स्थिति में सुधार हो सकता है। वहीं, अगर कोई मधुमेह के लिए किसी तरह की दवाई ले रहा है, तो इसके सेवन से पहले अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

6. बॉवेल मूवमेंट में सुधार

मेथी दाने का पानी पीने के फायदे बॉवेल मूवमेंट को बेहतर करने के लिए भी देखे जा सकते हैं। इससे जुड़े एक वैज्ञानिक शोध में बताया गया है कि मेथी के दाने इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम की स्थिति में राहत प्रदान कर सकते हैं (11)। इसके अलावा, मेथी में मौजूद नॉन-स्टार्च पॉलीसेकेराइड बॉवेल मूवमेंट को बढ़ाने का काम कर सकता है (1)। मेथी में मौजद इन खूबियों की वजह से कह सकते हैं कि मेथी का पानी बॉवेल मूवमेंट में सुधार कर सकता है।

7. वजन घटाने के लिए

अगर कोई वजन कम करने का तरीका ढूंढ रहा है, तो मेथीदाना का पानी उपयोगी हो सकता है। दरअसल, एक शोध में साफ तौर से जिक्र मिलता है कि मेथी में फाइबर की अच्छी मात्रा होती है, जो वजन को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। ऐसे में वजन कम करने के लिए मेथी के पानी और दाने का सुबह खाली पेट सेवन करना फायदेमंद हो सकता है (11)।

8. त्वचा के लिए

त्वचा संबंधी कई समस्याओं को दूर रखने के लिए भी मेथी पानी के फायदे हो सकते हैं। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक वैज्ञानिक शोध में यह बताया गया है कि मेथी के दाने में एंटीऑक्सीडेंट, स्किन हीलिंग, वाइटनिंग, मॉइस्चराइजिंग, स्किन स्मूदिंग और एंटीरिंकल गुण होते हैं, जो त्वचा संबंधित कई परेशानियों से बचाव करने में सहायक हो सकते हैं। यही कारण है कि कई स्किन केयर प्रोडक्ट्स में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है (12)। इस आधार पर कहा जा सकता है कि मेथी का पानी त्वचा के लिए लाभकारी हो सकता है।

9. बालों के लिए

बालों के लिए भी मेथी के पानी का इस्तेमाल किया जा सकता है। एक वैज्ञानिक अध्ययन के अनुसार, गंजेपन के इलाज के लिए मेथी के बीज के टॉनिक का इस्तेमाल लाभकारी हो सकता है (2)। वहीं एक अन्य शोध के मुताबिक, मेथी के बीज में प्रोटीन की अच्छी मात्रा होती है, जो हेयर फॉल की समस्या को कम करने में मदद कर सकता है (11)।

इसके अलावा, मेथी के बीज में लेसिथिन भी होता है, जो प्राकृतिक रूप से बालों को मजबूत और मॉइस्चराइज करने का काम कर सकता है। इसके अलावा, यह डैंड्रफ और जुओं से भी छुटकारा दिला सकता है (11)। इस प्रकार बालों के लिए मेथी के पानी का इस्तेमाल उपयोगी माना जा सकता है।

नीचे भी पढ़ें

लेख के अगले भाग में मेथी पानी बनाने का तरीके बता रहे हैं।

मेथी का पानी बनाने की विधि

मेथी का पानी बनाना बहुत ही आसान है। नीचे जानिए मेथी का पानी बनाने की विधि:

प्रक्रिया नंबर-1

सामग्री :

  • एक चम्मच मेथी के दाने
  • एक गिलास पानी

बनाने की विधि :

  • सबसे पहले एक बाउल में मेथी के दाने और पानी डालकर रातभर के लिए भिगोकर रख दें।
  • सुबह पानी को छान लें।
  • मेथी का पानी बनकर तैयार है।
  • सुबह खाली पेट इसका सेवन किया जा सकता है।

प्रक्रिया नंबर-2

सामग्री :

  • एक चम्मच मेथी के दाने
  • एक गिलास पानी

बनाने की विधि 2

  • एक चम्मच मेथी दाने को तवे में तेल डालकर हल्का फ्राई कर लें।
  • अब ब्लेंडर में मेथी दाने को पीसकर पाउडर बना लें।
  • फिर एक चम्मच पाउडर को एक गिलास गर्म पानी में डालकर अच्छे से मिक्स करें।
  • मेथी पानी तैयार है। इसे पी सकते हैं।

पढ़ना जारी रखें

चलिए, अब जान लेते है कि मेथी का पानी किस तरह से पी सकते हैं।

मेथी का पानी पीने का तरीका

मेथी के पानी को कई तरह से उपयोग में लाया जा सकता है, जिसके बारे में नीचे बता रहे हैं :

कैसे और कब इस्तेमाल करें :

  • इसे रात भर भिगोकर सुबह पी सकते हैं।
  • मेथी के बीज को पानी में उबालकर चाय की तरह सुबह या शाम को पी सकते हैं।
  • मेथी पाउडर को गर्म पानी में मिलाकर सुबह पी सकते हैं।

कितना इस्तेमाल करें :

  • मेथी के पानी को कितना इस्तेमाल करना है, इसपर वैज्ञानिक शोध का अभाव है। हालांकि, प्रतिदिन सुबह खाली पेट एक कप मेथी पानी का सेवन किया जा सकता है। इसकी मात्रा व्यक्ति की उम्र और स्वास्थ्य स्थिती पर भी निर्भर करती है। बेहतर होगा इसके लिए चिकित्सक से संपर्क करें।

लेख को पढ़ते रहें

अब हम मेथी का पानी पीने के नुकसान के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं।

मेथी का पानी पीने के नुकसान – Side Effects of Drinking Fenugreek Water In Hindi

मेथी दाने का पानी पीने के फायदे तो अनेक है, पर इससे कुछ नुकसान भी हो सकते हैं। मेथी का पानी पीने के नुकसान कुछ इस तरह हो सकते हैं :

  • मेथी एक तरह का एलर्जेंस खाद्य पदार्थ होता है, जिसके पानी का सेवन करने पर एलर्जिक रिएक्शन होने का जोखिम उत्पन्न हो सकता है (13)।
  • गर्भवती महिलाओं को मेथी का पानी पीने से बचना चाहिए, क्योंकि यह गर्भपात का कारण बन सकता है (14)।
  • मेथी पानी के अधिक उपयोग से दस्त, मतली और पाचन तंत्र से संबंधित नुकसान हो सकते हैं (15)।
  • इससे कुछ लोगों को चक्कर और सिरदर्द की समस्या भी हो सकती है (15)।
  • अधिक मात्रा में मेथी के पानी का सेवन करने पर निम्न रक्त चाप का जोखिम उत्पन्न हो सकता है (15)।

मेथी पानी का उपयोग कई तरह के स्वास्थ्य लाभ पहुंचा सकता है, जिसके बारे में इस लेख की मदद से जान ही गए होंगे। ऐसे में अगर आप इसे अपनी आहार सूची में शामिल करना चाहते हैं, तो एक बार पूरे लेख को अच्छे से पढ़ लें। क्योंकि, इसके फायदे के साथ ही इससे कुछ नुकसान भी हो सकते हैं, जिसे लेकर सावधानी बरतनी जरूरी है। हम उम्मीद करते हैं कि इस लेख में दी गई सभी जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित होगी।

इस लेख के अंतिम भाग में हम मेथी पानी को लेकर पूछे गए कुछ सवालों के जवाब दे रहे हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल:

क्या मेथी का पानी त्वचा के लिए अच्छा है?

हां, मेथी का पानी त्वचा के लिए लाभकारी हो सकता है। एक शोध में जिक्र मिलता है कि इसके इस्तेमाल से झुर्रियां, ब्लैकहेड्स, पिंपल्स, ड्राईनेस और रैशेज जैसे त्वचा संबंधी समस्याओं से बचाव में मदद हो सकती है (11)।

क्या वजन बढ़ाने के लिए मेथी का पानी अच्छा है?

वैसे तो मेथी के पानी का उपयोग वजन कम करने के लिए जाना जाता है, लेकिन इसका इस्तेमाल वजन को बढ़ाने के लिए भी किया जा सकता है। दरअसल, एक शोध में इस बात का जिक्र मिलता है कि मेथी के बीज का सेवन भूख न लगने की समस्या को ठीक करने में सहायक हो सकता है(11) (2)। इस तरह मेथी के पानी का सेवन भूख को बेहतर कर काफी हद तक वजन बढ़ाने में मदद कर सकता है।

क्या मैं मेथी का पानी रोज पी सकता हूं?

जी हां, सीमित मात्रा में रोजाना सुबह मेथी के पानी को पिया जा सकता है। वहीं, लेख में जैसे कि पहले ही बताया जा चुका है कि सीधे तौर पर मेथी के पानी से जुड़े शोध का अभाव है, इसलिए एक बार चिकित्सक से परामर्श जरूर लें।

मेथी को कितने समय तक पानी में भिगोना चाहिए?

मेथी के दाने को करीब 12 घंटे तक भिगोकर रखना चाहिए। इसे रातभर भिगोकर सुबह छान के इसके पानी को सेवन करना चाहिए।

मेथी भिगोकर खाने के फायदे क्या हो सकते हैं ?

मेथी भिगोकर खाने के फायदे अनेक हैं। यह मधुमेह व कोलेस्ट्रॉल की समस्या से राहत दिलाने के साथ ही पाचन की समस्या को भी ठीक कर सकता है (11)।

सुबह खाली पेट मेथी का पानी पीने से क्या होता है?

अगर आप सोच रहे हैं कि सुबह खाली पेट मेथी का पानी पीने से क्या होता है ,तो आपको बता दे कि इससे वजन कम करने में मदद मिल सकती हैं (11)।

Sources

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Check out our editorial policy for further details.

  1. A Review of the Health Benefits Of Fenugreek (Trigonella foenum-graecum L.): Nutritional, Biochemical and Pharmaceutical Perspectives
    https://citeseerx.ist.psu.edu/viewdoc/download?doi=10.1.1.678.1980&rep=rep1&type=pdf
  2. Fenugreek
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK548826/
  3. Efficacy of Fenugreek-based bionanocomposite on renal dysfunction and endogenous intoxication in high-calorie diet-induced obesity rat model—comparative study
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5700020/
  4. Calcification
    https://medlineplus.gov/ency/article/002321.htm
  5. Anti-inflammatory activity of fenugreek (Trigonella foenum-graecum Linn) seed petroleum ether extract
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4980935/
  6. Cardioprotective effect of fenugreek on isoproterenol-induced myocardial infarction in rats
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3195119/
  7. Fenugreek with its medicinal applications
    https://www.researchgate.net/publication/311791738_Fenugreek_with_its_medicinal_applications
  8. Cholesterol and Heart Disease: Current Concepts in Pathogenesis and Treatment
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2571342/
  9. Fenugreek: A review on its nutraceutical properties and utilization in various food products
    https://www.sciencedirect.com/science/article/pii/S1658077X15301065
  10. Beneficial effects of fenugreek glycoside supplementation in male subjects during resistance training: A randomized controlled pilot study
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6191980/
  11. Fenugreek (Trigonella foenum-graecum L.) As a Valuable Medicinal Plant
    http://www.ijabbr.com/article_7851_bbd8fa7701b237d7746306a9df24e736.pdf
  12. Formulation and characterization of a cream containing extract of fenugreek seeds
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/20369794/
  13. Allergy to fenugreek (Trigonella foenum graecum)
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/9087156/
  14. Causal explanations of miscarriage amongst Qataris
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5532791/
  15. Fenugreek
    https://www.nccih.nih.gov/health/fenugreek
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.
भूपेंद्र वर्मा ने सेंट थॉमस कॉलेज से बीजेएमसी और एमआईटी एडीटी यूनिवर्सिटी से एमजेएमसी किया है। भूपेंद्र को लेखक के तौर पर फ्रीलांसिंग में काम करते 2 साल हो गए हैं। इनकी लिखी हुई कविताएं, गाने और रैप हर किसी को पसंद आते हैं। यह अपने लेखन और रैप करने के अनोखे स्टाइल की वजह से जाने जाते हैं। इन्होंने कुछ डॉक्यूमेंट्री फिल्म की स्टोरी और डायलॉग्स भी लिखे हैं। इन्हें संगीत सुनना, फिल्में देखना और घूमना पसंद है।

ताज़े आलेख