सामग्री और उपयोग

मूंग दाल के 20 अद्भुत फायदे – Amazing Benefits Of Mung Beans in Hindi

by
मूंग दाल के 20 अद्भुत फायदे – Amazing Benefits Of Mung Beans in Hindi Hyderabd040-395603080 December 17, 2018

मूंग बीन्स को आम बोलचाल में हरी दाल कहा जाता है। वहीं, कुछ लोग इसे सुनहरी दाल भी कहते हैं। मूल रूप से इसका सेवन एशिया, यूरोप और अमेरिका में किया जाता है। यहा विभिन्न शारीरिक जरूरतों को पूरा करने में सक्षम है। भारत में यह मुख्य भोजन का हिस्सा होने के साथ-साथ त्वचा को स्वस्थ रखने में भी बड़ी भागीदारी निभाती है। यहां तक कि इसका इस्तेमाल चेहरे की सुंदरता को बढ़ाने के लिए भी किया जाता है। इस लेख में हमारे साथ जानिए मूंग की दाल खाने के चमत्कारी फायदों के बारे में।

विषय सूची


मूंग दाल के फायदे – Benefits Of Mung Beans in Hindi

हमने मूंग दाल खाने के फायदों की एक सूची बनाई है, नीचे जानिए यह आपके लिए किस प्रकार फायदेमंद है :

1. एंटी एजिंग

मूंग दाल का एक फायदा एंटी एजिंग है। मूंग बीन्स कारगर एंटी-एजिंग एजेंट की तरह काम करती है। इसमें कॉपर होता है, जो त्वचा के लिए लाभकारी है। यह चेहरे से झुर्रियां, फाइन लाइन्स और बढ़ती उम्र को प्रदर्शित करने वाले धब्बों को हटाने का काम करता है। ऐसी कोई महिला नहीं है, जिसे बढ़ती उम्र की चिंता न हो। ऐसे में मूंग दाल का नियमित इस्तेमाल करने से आप अपनी असल उम्र से 10 साल कम नजर आ सकते हैं। इसके लिए मूंग दाल को अपने नाश्ते का हिस्सा बनाएं।

2. बढ़ती है चमक

मूंग दाल को मुख्य खाद्य पदार्थों में गिना जाता है। यह त्वचा को स्वस्थ रखने और चमक को बढ़ाने का काम करती है। कॉपर की उपस्थिति के कारण इसे काफी गुणकारी माना गया है। इसका इस्तेमाल खाने के साथ-साथ चेहरे के लिए बनने वाले कई सौंदर्य प्रसाधनों में किया जाता है, जैसे फेस पैक और फेस क्रीम आदि। मूंग दाल का प्रयोग स्क्रबर के तौर पर भी किया जा सकता है। आप घर में ही मूंग दाल से फेस पैक बना सकते हैं।

मूंग दाल से कैसे बनाएं नेचुरल फेस पैक?

  • मूंग दाल को ग्राइंड कर पाउडर बना लें।
  • जरूरत के हिसाब से मूंग के पाउडर में पानी मिलाकर पेस्ट तैयार करें।
  • अब यह पेस्ट अपने चेहरे व गले पर लगाएं और 10 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • अब थोड़ा पानी लेकर पांच मिनट तक चेहरे को स्क्रब करें।
  • अब साफ पानी से चेहरे को धो लें।

यह एक प्राकृतिक स्क्रबर है, जो चेहरे से कील-मुंहासे, टैन और अतिरिक्त तेल हटाने का काम करता है।

3. बालों को देता है चमक

जैसा कि हमने पहले बताया कि मूंग दाल में कॉपर होता है, जो स्कैल्प को स्वास्थ बनाए रखने में सहयोग करता है। कॉपर मानव शरीर में आयरन, कैल्शियम और मैग्नीशियम का उचित उपयोग सुनिश्चित करता है। मूंग दाल के सेवन से शरीर में कॉपर की आपूर्ति पर्याप्त मात्रा में होती है। मस्तिष्क तक ऑक्सीजन की उचित आपूर्ति स्कैल्प के स्वास्थ्य को बरकरार रखती है, जिससे आपको चमकदार, लंबे, घने और मजबूत बाल मिलते हैं। आप मूंग दाल का इस्तेमाल कर घर पर ही हेयर मास्क बना सकते हैं।

मूंग दाल का इस्तेमाल कर कैसे बनाए हेयर मास्क?

  • मूंग दाल को ग्राइंट कर पाउडर बना लें।
  • पेस्ट बनाने के लिए ग्रीन-टी का पानी डालें।
  • पेस्ट में जैतून और बादाम का तेल मिलाएं।
  • मिश्रण में चम्मच का 2/3 हिस्सा दही का मिलाएं।

यह हेयर मास्क सूखे, बेजान, क्षतिग्रस्त व उलझे बालों के लिए कारगर उपाय है। यह बालों में रूसी की समस्या से भी निजात दिलाता है। यह हेयर मास्क स्कैल्प को गहराई से पोषित करता है और स्कैप्ल के पीएच स्तर को संतुलित कर बालों की खोई हुई चमक वापस लाने का काम करता है।

4. मेटाबॉलिक नियामक

मेटाबॉलिज्म में गड़बड़ी के कारण लोग अपचन और अम्लता से ग्रस्त हो जाते हैं। मूंग दाल का सेवन मेटाबॉलिज्म में सुधार लाता है। मूंग में मौजूद फाइबर पाचन तंत्र को मजबूत बनाने का काम करता है। फाइबर मल को नरम बनाकर पाचन स्तर को बढ़ाने का काम करता है। अपचन और अम्लता से बचने के लिए आप मूंग दाल का सेवन कर सकते हैं।

5. कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण

इन दिनों हृदय रोग बहुत आम है। अनियंत्रित जीवनशैली इसके प्रमुख कारणों में से एक है। ऐसे में मूंग खाने के एक फायदा कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण भी है। मूंग दाल मानव शरीर में पाचन और चयापचय स्तर में वृद्धि करता है, जिसके कारण धमनी दीवारों और कोशिकाओं में कोलेस्ट्रॉल का गठन और संचय कम हो जाता है।

6. हल्का भोजन

बुखार, पेट दर्द और दस्त से पीड़ित लोगों के लिए खाना पचाना बेहद मुश्किल होता है। इन शारीरिक समस्याओं के कारण टेस्ट बड्स ठीक से काम नहीं करते है और मरीज को भोजन खाने में परेशानी होती है। इस स्थिति में मूंग दाल खाने की सलाह दी जाती है, क्योंकि यह हल्का आहार है औ इसे आसानी से पचाया जा सकता है।

7. हड्डी को करता है मजबूत

मूंग दाल का इस्तेमाल प्राकृतिक कैल्शियम पूरक के रूप में किया जा सकता है। इसके सेवन से हड्डियां मजबूत होती हैं और फ्रैक्चर होने की आशंका बेहद कम हो जाती है।

8. वजन घटाने में कारगर

100 ग्राम मूंग दाल में 330 कैलोरी मौजूद होती है, जिस वजह से इसे वजन घटाने वाले पौष्टिक आहार में गिना जाता है। जो लोग अपने अतिरिक्त वजन से परेशान हैं, वो मूंग दाल को अपने आहार का हिस्सा बना सकते हैं।

9. मसूड़ों को रखता है स्वस्थ

मसूड़ों और दांतों के स्वास्थ्य के लिए सोडियम एक आवश्यक तत्व है। मूंग में कैल्शियम के अलावा सोडियम भी पाया जाता है। मसूड़ों से खून निकलना, दर्द, कमजोरी व मसूड़ों से दुर्गंध जैसी परेशानियों से सोडियम लड़ने का काम करता है। इन समस्याओं से निजात पाने के लिए आप मूंग दाल का सेवन कर सकते हैं।

10. रक्तचाप नियंत्रण

मूंग दाल शरीर में वसा (फैट) नियंत्रक के रूप में काम करती है। इसमें अत्यधिक मात्रा में मैग्नीशियम पाया जाता है, जो रक्तचाप को नियंत्रित करने का काम करता है। मूंग दाल रक्त में मैग्नीशियम के स्तर को बनाए रखती है। मैग्नीशियम रक्त वाहिकाओं को आराम पहुंचाने के साथ-साथ उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करती है।

11. बढ़ाती है दिमागी क्षमता

जो लोग एकाग्रता और कमजोर स्मृति की समस्याओं से ग्रसित होते हैं, उन्हें निश्चित रूप से मूंग दाल का सेवन करना चाहिए। मूंग दाल में आयरन पाया जाता है, जो सभी अंगों और टिशू में ऑक्सीजन की आपूर्ति करने का काम करता है। मूंग दाल मस्तिष्क सहित शरीर के सभी हिस्सों में ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित करता है। परिणामस्वरूप, इससे एकाग्रता में बढ़ोतरी होती है और याददाश्त तेज होती है। आप अंकुरित मूंग दाल को अपने दैनिक आहार का हिस्सा बना सकते हैं।

12. रोग प्रतिरोधक क्षमता

मूंग दाल में मौजूद आयरन मानव शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है। यह दाल इम्युनिटी बूस्टर की तरह काम करती है और मांसपेशियों व टिशूओं को आराम पहुंचाती है। इससे रक्त में वाइट ब्लड सेल्स अधिक सक्रिय होते हैं। शरीर को स्वस्थ रखने में रोग प्रतिरोधक क्षमता का मजबूत रहना बहुत जरूरी है।

13. एंटी टॉक्सिक लाभ

टॉक्सिसिटी एक गंभीर समस्या है, जिसके दूरगामी परिणाम अल्सर और कैंसर के रूप में सामने आ सकते हैं। आप मूंग दाल का सेवन कर अपने शरीर को विषाक्त पदार्थों से मुक्त रख सकते हैं। यह शरीर से विषाक्त पदार्थों को आसानी से बाहर निकाल देती है और मुक्त कणों (free radicals) को बढ़ने में मदद करती है।

14. एंटी कैंसर लाभ

मूंग की दाल ‘फ्री रेडिकल्स’ को नियंत्रित करने का काम करती है। ये ‘फ्री रेडिकल्स’ प्रदूषण, तनाव और शरीर में विषाक्तता के कारण उत्पन्न हो सकते हैं। ‘फ्री रेडिकल्स’ कोशिकाओं के सामान्य रूप से बढ़ने की प्रक्रिया में बाधा डालते हैं। असामान्य रूप से कोशिकाओं का बढ़ना कैंसर का कारण बन सकता है। कैंसर से बचने के लिए आप मूंग दाल का सेवन कर सकते हैं।

15. मधुमेह नियंत्रक

मूंग दाल का सेवन करने से शरीर के लिए उपयोगी शुगर का निर्माण होता है और खराब शुगर शरीर से बाहर निकल जाती है। शरीर के लिए उपयोगी शुगर पाचनशील होते हैं और यह रक्त में फैलते नहीं हैं। यह आसानी से एटीपी में परिवर्ती हो जाती है। मूंग दाल के सेवन से शरीर में शुगर मेटाबॉलिज्म का स्तर संतुलित रहता है और मधुमेह को नियंत्रण में किया जा सकता है।

16. आंखों को रखता है स्वस्थ

मूंग दाल का सेवन करने से आंखे स्वस्थ रहती हैं। मूंग दाल से आंखों को पर्याप्त मात्रा में विटामिन-सी मिलता है। विटामिन-सी रेटिना के लचीलेपन को बनाए रखने में सहयोग करता है। आंखों के स्वास्थ्य के लिए मूंग दाल एक कारगर विकल्प है। आप अंकुरित मूंग का सेवन सुबह खाली पेट कर सकते हैं।

17. एंटी वायरल एजेंट

विटामिन-सी मूंग दाल को एक शक्तिशाली एंटी-वायरल एजेंट बनाने का काम करता है। वायरल होने पर विटामिन-सी शरीर में डब्ल्यूबीसी (वाइट ब्लड सेल्स) का उत्पादन बढ़ा देता है। डब्ल्यूबीसी के बढ़ने से वायरस निष्क्रिय हो जाते हैं और शरीर को वायरस मुक्त होने में मदद मिलती है। मूंग दाल में आयरन भी पाया जाता है और यह भी डब्लूबीसी को बढ़ाने में सहयोग देता है। मूंग दाल को रोग प्रतिरोधक विकार के लिए भी काफी लाभदायक माना गया है।

18. शारीरिक विकास

बच्चों में छोटे कद की समस्या माताओं के लिए चिंता का कारण बनती है, लेकिन मूंग दाल का नियमित सेवन इस समस्या से छुटकारा दिला सकता है। मूंग दाल में सभी प्रकार के आवश्यक विटामिन और खनिजों का प्राकृतिक मिश्रण होता है। बाजार में मिलने वाले ग्रोथ सप्लीमेंट्स के स्थान पर आप मूंग दाल का सेवन कर सकते हैं। यह शारीरिक विकास में काफी योगदान देती है।

19. खून के थक्के

कई बार शरीर में रक्त के थक्के फायदेमंद भी साबित होते हैं। चोट लगने पर ये अत्यधिक रक्त के बहाव को रोकने का काम करते हैं। शरीर में विटामिन-के की कमी होने पर खून जमने की प्रक्रिया काफी हद तक प्रभावित होती है। शरीर से अत्यधिक खून निकलने से धातक परिणाम भी सामने आ सकते हैं। मूंग दाल में विटामिन-के भरपूर मात्रा में पाया जाता है।

20. लिवर रहता है स्वस्थ

अन्य पोषक तत्वों के साथ-साथ् मूंग दाल में प्रोटीन भी पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। हड्डियों और मांसपेशियों के साथ-साथ लिवर (गुर्दे) के लिए भी प्रोटीन बेहद जरूरी है। मूंग दाल शाकाहारियों के लिए एक सबसे अच्छा स्रोत हैं। लिवर को सुरक्षित रखने के लिए आप प्रतिदिन मूंग का सेवन कर सकते हैं। प्रोटीन के कारण लिवर में बिलीरुबिन और बिलिवर्डिन अपना काम ठीक तरह से करते हैं। साथ ही पीलिया होने की आशंका कम हो जाती है।

इस लेख में बताए गए मूंग दाल के फायदे इसे श्रेष्ठ पोषक खाद्य पदार्थों में शामिल करते हैं। यह आंतरिक स्वास्थ्य लाभ के साथ-साथ शारीरिक खूबसूरती बढ़ाने का काम भी करती है। शरीर को स्वस्थ रखने के लिए आप इसे अपने आहार का हिस्सा जरूर बनाएं। यह लेख आपके लिए किस प्रकार लाभदायक रहा, हमें नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

और पढ़े:

The following two tabs change content below.

Nripendra Balmiki

नृपेंद्र बाल्मीकि एक युवा लेखक और पत्रकार हैं, जिन्होंने उत्तराखंड से पत्रकारिता एवं जनसंचार में स्नातकोत्तर (एमए) की डिग्री प्राप्त की है। नृपेंद्र विभिन्न विषयों पर लिखना पसंद करते हैं, खासकर स्वास्थ्य संबंधी विषयों पर इनकी पकड़ अच्छी है। नृपेंद्र एक कवि भी हैं और कई बड़े मंचों पर कविता पाठ कर चुके हैं। कविताओं के लिए इन्हें हैदराबाद के एक प्रतिष्ठित मीडिया संस्थान द्वारा सम्मानित भी किया जा चुका है।

संबंधित आलेख