सामग्री और उपयोग
Stylecraze

त्वचा, बालों व स्वास्थ्य के लिए मौसंबी के 28 फायदे – Amazing Benefits Of Mosambi (Sweet Lime) in Hindi

by
त्वचा, बालों व स्वास्थ्य के लिए मौसंबी के 28 फायदे – Amazing Benefits Of Mosambi (Sweet Lime) in Hindi January 8, 2019

बात की जाए फलों के रस की, तो अधिकतर लोग सिर्फ मौसंबी का जूस पीना पसंद करते हैं। स्वाद और सेहत से भरपूर मौसंबी का फल में कई पौष्टिक तत्व होते हैं, जो हर किसी को काफी फायदा पहुंचाते हैं। कुछ लोग मौसंबी को खाना पसंद करते हैं, तो कुछ इसका जूस बड़े चाव से पीते हैं। इसमें मौजूद विटामिन-सी व फाइबर आपकी सेहत को दुरुस्त रखते हैं और आपको तरोताजा महसूस कराते हैं। यह मुख्य रूप से दक्षिण-पूर्व एशिया में पाया जाता है। इसका रंग या तो हरा होता है या फिर पीला। जब मौसंबी का पेड़ पांच-सात वर्ष पुराना हो जाता है, तब कहीं जाकर इस पर फल उगने होते हैं। हम स्टाइलक्रेज के इस लेख में मौसंबी के फायदों के बारे में बात करेंगे।

मौसंबी के नाम – Name of Mosambi in Hindi

इस फल को अंग्रेजी में लाइम लेमन (Lime lamon) कहा जाता है। इसके अन्य नाम भी हैं, जैसे – पर्शियन लाइम, स्वीट लाइम व मेडिटेरेनियन स्वीट लेमन।

वहीं बात की जाए इसके भारतीय नामों की, तो इसे बट्टाय पांडु (तेलुगू), कट्टुकुट्टी (तमिल), मधुरा नारंगा (मलयालम) व मौसंबी (गुजराती) भी कहा जाता है।

मौसंबी के फायदे – Benefits Of Mosambi In Hindi

नीचे हम त्वचा, बालों और स्वास्थ्य के लिए मौसंबी के फायदे बताने जा रहे हैं :

मौसंबी के स्वास्थ्य लाभ :

मौसंबी एक खट्टा-मीठा फल है, जिसमें ढेरों पोषक तत्व मौजूद हैं। इसे जूस, जैम, आचार, कैंडी, स्नैक्स व शरबत के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इसके जूस को सलाद और मीट को मैरिनेट करने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। आइए जानते हैं मौसंबी के स्वास्थ्य संबंधी लाभ :

  1. पाचन शक्ति मजबूत करे : मौसंबी में फ्लेवोनॉयड होता है, जो एसिड और पित्त को उत्तेजित कर पाचन शक्ति को मजबूत बनाने में मदद करता है। यही कारण है कि जिन लोगों को पेट संबंधी परेशानी जैसे अपच, गैस जैसी समस्या होती है, उन्हें मौसंबी का जूस पीने की सलाह दी जाती है। मौसंबी शरीर में बने टॉक्सिन को भी दूर करने में मदद करती है। इसमें ऐसे तत्व पाए जाते हैं, जो पेरिस्टाल्टिक मोशन के लिए फायदेमंद होते हैं। इसके अलावा, यह उल्टी, दस्त और जी-मिचलाने की समस्या से राहत दिलाने में मदद करती है।
  1. कब्ज से दिलाए राहत : मौसंबी में मौजूद एसिड शरीर से टॉक्सिन दूर करने में मदद करता है। इसके अलावा, इसमें प्रचुर मात्रा में फाइबर होता है, जो कब्ज की समस्या से राहत दिलाता है। जिन लोगों को कब्ज की समस्या होती है, उन्हें मौसंबी के रस में एक चुटकी नमक डालकर पीने की सलाह दी जाती है।
  1. स्कर्वी से करे बचाव : स्कर्वी विटामिन-सी की कमी से होने वाली बीमारी है। इस बीमारी में मसूड़ों से खून, मसूड़ों में सूजन व होंठ फटने जैसी समस्या हो सकती है। मसूड़ों से खून आने की समस्या को मौसंबी का जूस कम कर सकता है। इसके लिए मौसंबी के रस में थोड़ा-सा पानी और एक चुटकी काला नमक डालें। इस मिश्रण को प्रभावित मसूड़ों पर लगाएं। इससे मसूड़ों से होने वाला रक्तस्राव कम हो सकता है। इसके अलावा, यह मुंह की दुर्गंध को भी दूर करती है।
  1. पेप्टिक अल्सर (पाचन संबंधी अल्सर) : मौसंबी में लिमोमिन ग्लूकोसाइड नामक फ्लेवोनॉयड होता है, जिसमें एंटी-कार्सिनोजेनिक, एंटीऑक्सीडेंट, डिटॉक्सीफाई और एंटीबायोटिक गुण हैं। ये मुंह और पेप्टिक अल्सर को ठीक करने में मदद करते हैं।
  1. सांस संबंधी समस्याएं : मौसंबी के तेल में एंटी-कंजेस्टिव गुण होते हैं, जो सांस संबंधी परेशानियां दूर रखने में मदद करते हैं। यही कारण है कि इसका इस्तेमाल बाल्म, इन्हेलर और वेपराइजर जैसी चीजों में किया जाता है।
  1. रोग-प्रतिरोधक क्षमता में सुधार : मौसंबी के रस का नियमित सेवन करने से हृदय को सुचारू रूप से काम करने में मदद मिलती है। यह शरीर में रक्त संचार को दुरुस्त करता है और रोग-प्रतिरोधक क्षमता में सुधार लाता है। इसमें मौजूद विटामिन-सी इम्यून सिस्टम को बढ़ाता है और सर्दी-खांसी से बचाव करता है।
  1. कैंसर-विरोधी गुण : मौसंबी में मौजूद लिमोनॉयड कैंसर जैसी बीमारी से लड़ने में मदद करता है। लिमोनॉइड ग्लूकोज नामक शुगर अणु से जुड़ा होता है, जिसे आसानी से पचाया जा सकता है।
  1. रुमेटॉयड आर्थराइटिस से बचाए : मौसंबी में विटामिन-सी होता है, जो सूजन से बचाता है। इसके अलावा, यह आर्थराइटिस और रुमेटॉयड आर्थराइटिस के खतरे को भी कम करता है।
  1. वजन घटाने में मददगार : मौसंबी वजन कम करने में भी मदद करती है। एक गिलास गुनगुने पानी में मौसंबी का रस मिलाकर पीने से वजन कम करने में मदद मिलती है। साथ ही आपको कोलेस्ट्रोल का स्तर कम होगा और रक्तचाप नियंत्रित रहेगा।
  1. मूत्र संबंधी समस्या : मौसंबी में प्रचुर मात्रा में पोटैशियम होता है, जो किडनी और मूत्राशय को डिटॉक्सिफाई कर मूत्राशय के संक्रमण से बचाने में मदद करती है।
  1. गठिया : मौसंबी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट शरीर से यूरिक एसिड और मुक्त कणों को दूर करने में मदद करते हैं। वहीं, विटामिन-सी भी शरीर में मुक्त कणों को बेअसर करने में मदद करता है।
  1. मोशन सिकनेस से राहत दिलाए : मौसंबी का खट्टा स्वाद मोशन सिकनेस (गाड़ी में बैठने से सिर चकराना या जी-घबराने जैसी होने वाली परेशानी) से राहत दिलाने में मदद करता है। यह जठरांत्र प्रणाली (गैस्ट्रोएन्टराइटिस) को शांत करता है और पेट संबंधी समस्याएं कम करने में मदद करता है।
  1. सनस्ट्रोक और निर्जलीकरण का उपचार : मौसंबी का रस कार्बोनेटेड ड्रिंक का बेहतरीन विकल्प हो सकता है, क्योंकि यह आवश्यक विटामिन और खनिज प्रदान करता है। यह जूस एथलीटों और जिम करने वाले लोगों को लेने की सलाह दी जाती है। मौसंबी या अन्य नींबू आधारित अनुपूरक डिहाइड्रेशन और मांसपेशियों की ऐंठन को कम करने में मदद करती है। यह आपको लू लगने से भी बचाती है।
  1. गर्भवती महिला के लिए फायदेमंद : मौसंबी में भरपूर मात्रा में कैल्शियम होता है, जो गर्भ में पल रहे शिशु के विकास में फायदा पहुंचाता है।
  1. तंत्रिका तंत्र के लिए फायदेमंद : मौसंबी का रस मस्तिष्क को ठंडक प्रदान करता है। यह रस मस्तिष्क के बुखार और अन्य मस्तिष्क संबंधी विकारों को दूर करने में मदद करता है। इस रस को पीने से शांति मिलती है।
  1. पीलिये का इलाज : पीलिये (जॉन्डिस) के मरीज को मौसंबी का जूस पीने की सलाह दी जाती है। यह लिवर को ठीक से काम करने में मदद करता है, जिससे पीलिये की बीमारी नियंत्रण में आती है।
  1. अस्थमा के लिए फायदेमंद : मौसंबी के रस, जीरा और अदरक के चूर्ण से बनी ड्रिंक अस्थमा के मरीज को राहत दिलाती है।
  1. टॉन्सिल से राहत : विटामिन-सी सर्दी व बुखार से राहत दिलाने में मदद करता है। मौसंबी के जूस और गर्म पानी में एक चम्मच शहद मिलाकर पीने से गले में खराश और टॉन्सिल से राहत मिलती है।
  1. अन्य फायदे : इसके अलावा, मौसंबी भूख बढ़ाती है, प्यास बुझाती है और रक्त को साफ करती है। साथ ही यह पुरुषों में स्पर्म की मात्रा को बढ़ाने में मदद करती है।

बालों के लिए मौसंबी के फायदे – Hair Benefits Of Mosambi in Hindi

विभिन्न उद्योगों ने मौसंबी के लाभों को पहचाना, यही कारण है कि वो इसका इस्तेमाल अपने उत्पादों में करने लगे हैं।

  1. एंटीसेप्टिक और एंटीबैक्टीरिल गुण : चूंकि मौसंबी में एंटीसेप्टिक और एंटीबैक्टीरियल गुण हैं, इसलिए ब्यूटी थैरेपी में बालों और त्वचा के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है।
  1. बालों को मजबूत करे : विभिन्न तरह के मेडिकल सप्लीमेंट्स बनाने में मौसंबी के जूस का प्रयोग किया जाता है। इसमें मौजूद विटामिन बालों को मजबूती देते हैं।
  1. दोमुंहे बालों और डैंड्रफ से दिलाए छुटकारा : यह फल दोमुंहे बाल और डैंड्रफ से राहत पहुंचाने में मदद करता है।

त्वचा के लिए मौसंबी के फायदे – Skin Benefits Of Mosambi in Hindi

बालों को फायदा पहुंचाने के साथ-साथ मौसंबी त्वचा के लिए भी काफी फायदेमंद मानी जाती है। बेहतरीन खुशबू और विटामिन-सी के कारण इसे रूखी त्वचा, मॉइस्चराइजर, त्वचा के टोन में सुधार लाने जैसी त्वचा संबंधी दवाओं में इसका इस्तेमाल किया जाता है। इसके अलावा, त्वचा के लिए मौसंबी के और भी कई फायदे हैं, जिनके बारे में हम नीचे बताने जा रहे हैं :

  1. हल्की ब्लीचिंग और क्लीनिंग के गुण : मौसंबी त्वचा को प्राकृतिक रूप से हल्का ब्लीच और साफ करने का भी काम करती है। इस कारण पिगमेंटेश, मुंहासे, दाग-धब्बे दूर होकर त्वचा स्वस्थ और मुलायम बनती है।
  1. कीड़े काटने के दर्द और त्वचा का टोन हल्का करने में मदद करे : अगर आपको कीड़ा काट जाए, तो उससे होने वाले दर्द को कम करने में मौसंबी मदद करती है। इसके अलावा, यह कुहनियों, हाथों या घुटनों पर पिगमेंटेशन को कम करने में मदद करती है।
  1. शरीर को डिटॉक्सीफाई करे : मौसंबी के लगातार सेवन से आपका शरीर डिटॉक्स रहता है, जिससे चेहरे पर प्राकृतिक निखार और चमक आती है। यह रक्त को साफ कर त्वचा संबंधी समस्याएं दूर रखने में मदद करती है।
  1. होंठों का कालापन दूर करे और फटे होंठ को मुलायम बनाए : रोजाना तीन से चार बार अपने होंठों पर मौसंबी का जूस लगाएं। इससे होठों का कालापन दूर होगा और फटे होंठों से राहत मिलेगी।
  1. रंग साफ करे : चने के आटे में मौसंबी का रस मिलाकर पेस्ट बनाएं और इसे चेहरे पर लगाएं। इससे आपका निखार बढ़ेगा।
  1. मुंहासों से राहत दिलाए : मौसंबी को छिल्कों पीसकर उन्हें चेहरे पर लगाने से मुंहासे कम होने में मदद मिलती है।

मौसंबी के पौष्टिक मूल्य | Nutritional Value Of Mosambi In Hindi

अगर आप कम फैट की डाइट लेना चाहते हैं, तो मौसंबी सही विकल्प है। इस फल की एक सर्विंग में 43 कैलोरी और 0.3 ग्राम फैट होता है। इसके अलावा, इसमें 9.3 एमजी कार्बोहाइड्रेट और 0.8 ग्राम प्रोटीन होता है। एक खट्टा फल होने के चलते, इसमें 50 एमजी विटामिन-सी पाया जाता है।

इसके अलावा, यह शरीर को एक सर्विंग में 490 एमजी पोटैशियम प्रदान करता है। वहीं, इसमें थोड़ी मात्रा में तांबा, कैल्शियम, आयरन और फास्फोरस भी पाया जाता है। नीचे हम मौसंबी के फल के पौष्टिक मूल्यों की तालिका दे रहे हैं :

कैलोरी43 कैलोरी/100 ग्राम
कोलेस्ट्रॉल और सोडियमशून्य
पोटैशियम490 एमजी/100 ग्राम
डाइटरी फाइबर100 ग्राम में 12 प्रतिशत
आयरन0.7/100 ग्राम
कैल्शियम40 एमजी/100 ग्राम
फास्फोरस30 एमजी/100 ग्राम
प्रोटीन1.5 प्रतिशत/100 ग्राम
विटामिन-सी50एमजी/100 ग्राम
विटामिन-ए20आईयू
फ्लेवोनॉयड और अन्य फेनॉलिक, केरोटेनॉइड्स और लिमोनॉयड्सकम मात्रा में।

मौसंबी में मौजूद पौष्टिक मूल्यों के चलते यह संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक है। अगर आप अपनी सेहत का खास ख्याल रखते हैं, तो मौसंबी को अपनी डाइट में शामिल जरूर करें। यह सेहत के लिए काफी फायदेमंद है। हालांकि, पित्त की थैली या किडनी संबंधित समस्या वाले लोगों को इसका इस्तेमाल करने से मना किया जाता है या बहुत कम मात्रा में खाने के लिए कहा जाता है। इसके अलावा, यह कैल्शियम के अवशोषण में रुकावट डाल सकती है। हम उम्मीद करते हैं कि इस लेख में दी गई जानकारियां आपके काम आएंगी और आप इस बेहतरीन फल का फायदा उठा पाएंगे। नीचे कमेंट बॉक्स में हमें यह जरूर बताएं कि आप अपने खानपान में किस तरह मौसंबी का सेवन करते हैं।

और पढ़े:

संबंधित आलेख