मशरूम के 17 फायदे, उपयोग और नुकसान – Mushroom Benefits, Uses and Side Effects in Hindi

by

प्रकृति ने हमें वनस्पति के रूप में कई प्रकार की खाद्य वस्तुएं दी हैं। उन्हीं में से एक है मशरूम। मशरूम की विभिन्न प्रजातियां दुनिया भर में मौजूद हैं। क्या आपको मालूम है कि इस छोटे-से पौधे में कई सारे पोषक तत्व मौजूद होते हैं, जाे हमारे अच्छे स्वास्थ्य के लिए लाभदायक हो सकते हैं। स्टाइलकेज के इस आर्टिकल में हम मशरूम के गुण और सेहत के लिए उसके फायदों के बारे में बात करेंगे। मशरूम न सिर्फ हम स्वस्थ रखने में मदद करती है, बल्कि बीमारी की अवस्था में उससे उबरने में भी मदद कर सकती है। इतने फायदों के बावजूद इस बात को समझना जरूरी है कि गंभीर बीमारी की अवस्था में सिर्फ और सिर्फ डॉक्टर इलाज ही सही विकल्प है।

आइए, सबसे पहले हम मशरूम के विभिन्न प्रकारों के बारे में जान लेते हैं।

मशरूम के प्रकार – Types of Mushroom in Hindi

वैसे ताे दुनिया भर में मशरूम की ढेरों प्रजातियां मिल जाती हैं, लेकिन यहां हम कुछ ऐसी प्रजातियों के नाम बता रहे हैं, जो आसानी से उपलब्ध हैं। साथ ही ये खाने योग्य भी हैं (1) :

  • बटन मशरूम (button mushroom)
  • शिटेक मशरूम (shiitake mushroom)
  • सीप मशरूम (oyster mushroom)
  • प्लुरोटस ओस्ट्रेटस (Pleurotus ostreatus)
  • एगारिकस बिस्पोरस (Agaricus bisporus)

अब हम लेख के इस अहम हिस्से में सेहत के लिए मशरूम के विभिन्न फायदों पर चर्चा करेंगे।

मशरूम के फायदे – Benefits of Mushroom in Hindi

कई मशरूम का उपयोग खाद्य पदार्थ और दवा के रूप में लंबे समय से किया जाता रहा है। एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉज इंफॉर्मेशन) की ओर से प्रकाशित शोध में पाया गया कि मशरूम में पॉलीफेनोल, पॉलीसैकेराइड, विटामिन और कई मिनरल होते हैं। मशरूम में कई प्रकार के बायोएक्टिवट कंपाउंड भी होते हैं। साथ ही इसमें एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीकैंसर, इम्यूनोमॉड्यूलेटरी, एंटीमाइक्रोबियल, हेपेटोप्रोटेक्टिव और एंटीडायबिटिक आदि कई मशरूम के गुण होते हैं। इसलिए, यह कैंसर, हृदय रोग, मधुमेह और न्यूरोडीजेनेरेटिव जैसी बीमारियों से बचाने में मदद कर सकता है (2)। आइए, अब मशरूम के इन्हीं फायदों के बारे में विस्तार से जानते हैं।

सेहत/स्वास्थ्य के लिए मशरूम के फायदे – Health Benefits of Mushroom in Hindi

जैसा कि आपने ऊपर पढ़ा कि मशरूम में कई औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो सेहत के लिए फायदेमंद हो सकते हैं। जानते हैं कि मशरूम किस प्रकार से हमारी सेहत के लिए फायदेमंद हो सकता है।

1. कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए मशरूम खाने के फायदे

एनीसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शाोध के अनुसार ऑइस्टर मशरूम पर 46 वर्ष की आयु वाले कुछ लोगों पर 24 दिन तक शोध किया गया। शोध में पाया कि मशरूम का सेवन कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स को नियंत्रित करने में मददगार हो सकता है। इसलिए, कोलेस्ट्रॉल के डर के बिना मशरूम का सेवन आराम से किया जा सकता है (3)। मशरूम के किस गुण ने कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम किया, यह अभी शोध का विषय है।

2. स्तन और प्रोस्टेट कैंसर से बचाव

वैज्ञानिकों ने इस संबंध में भी मशरूम पर शोध किया है। बाद में इसे बतौर रिसर्च पेपर एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित किया गया। इस शोध में पाया गया कि स्तन और प्रोस्टेट कैंसर से बचने के लिए मशरूम एक रामबाण तरीका साबित हो सकता है। इसमें एंटी-ट्यूमर, इम्यूनोमॉड्यूलेटिंग व एंटी-कैंसर गुण पाए जाते हैं। मशरूम में पाए जाने वाले ये गुण और साथ ही इसमें मौजूद फेनोलिक यौगिक स्तन कैंसर के साथ-साथ प्रोस्टेट कैंसर के लक्षणों को दूर रखने में मददगार हो सकते हैं। इसके अलावा, यह कैंसर को बढ़ाने वाली कोशिकाओं को पनपने से रोकने में भी फायदेमंद हो सकता है (4)। यहां हम स्पष्ट कर दें कि कैंसर घातक बीमारी है। अगर कोई इससे पीड़ित है, तो उसे डॉक्टर से उचित इलाज करवाना चाहिए। सिर्फ घरेलू उपचार के भरोसे रहना सही निर्णय नहीं है।

3. मधुमेह को दूर करने के लिए मशरूम के फायदे

मधुमेह जैसी समस्या से बचने के लिए मशरूम बेहतरीन खाद्य पदार्थ साबित हो सकता है। एनसीबीआई ने इसी संबंध में एक शोध प्रकाशित किया है। इसमें बताया गया है कि कुछ खास प्रकार के मशरूम में एंटीडायबिटिक गुण पाए जाते हैं, जो रक्त में मौजूद शुगर की मात्रा को कम करने में मदद कर सकते हैं। इन गुणों के कारण मशरूम मधुमेह को नियंत्रित कर उसके प्रभाव को बढ़ने से रोक सकता है। साथ ही अगर मशरूम का उपयोग मधुमेह को दूर करने वाली दवाओं के साथ किया जाए, तो शरीर में इंसुलिन का स्तर बेहतर हो सकता है (5)। साथ ही ध्यान रहे कि अगर कोई मधुमेह से पीड़ित है, तो उसे डॉक्टर की सलाह पर दवा का सेवन जरूर करना चाहिए।

4. प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने के लिए

अगर कोई हमेशा कमजोर या बीमार महसूस करता हैं, तो इसका एक कारण कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली हो सकता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध के अनुसार, प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने के लिए मशरूम फायदेमंद हो सकता है। यह पॉलीसेकेराइड (polysaccharides) से समृद्ध होता है, जो प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत कर सकते हैं और मशरूम को लाभकारी औषधीय गुण प्रदान करते हैं (6)।

5. वजन को कम करने के लिए मशरूम खाने के फायदे

बढ़ता हुआ वजन हर किसी के लिए एक परेशानी का विषय हो सकता है। वजन को कम करने और उसे नियंत्रित करने के लिए मशरूम अच्छा प्राकृतिक विकल्प साबित हाे सकता है। चीन की एक शोध संस्था के अनुसार, मशरूम में फाइबर के साथ-साथ पॉलीसेकेराइड, टेरपेन, पॉलीफेनोल, फ्लेवोनोइड्स जैसे कई बायोएक्टिव कंपाउंड पाए जाते हैं, जो मोटापे के कारण होने वाली हृदय संबंधी समस्या को कम करने में मदद कर सकते हैं। इसके अलावा, मशरूम में एंटीओवेसिटि गुण भी होते हैं, जो बढ़ते वजन को कम करने में फायदेमंद हो सकते हैं (7)। ध्यान रहे कि मोटापे को कम करने के लिए मशरूम के सेवन के साथ-साथ नियमित रूप से शारीरिक व्यायाम और जीवनशैली में बदलाव भी जरूरी है।

6. स्वस्थ्य हृदय के लिए मशरूम के फायदे

हृदय की कार्यप्रणाली को बेहतर बनाए रखने के लिए मशरूम का सेवन फायदेमंद हो सकता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित शोध में पाया गया है कि मशरूम में उच्च फाइबर, अनसैचुरेटेड फैटी एसिड व सोडियम के साथ-साथ इरिटेडेनिन (eritadenine), फेनोलिक यौगिक (phenolic compounds) और स्टेरोल्स ( sterols) जैसे घटकों की मात्रा पाई जाती है। मशरूम में पाए जाने वाले ये घटक अच्छे कॉलेस्ट्राल के स्तर को बेहतर करते हैं और हानिकारक कॉलेस्ट्राल को कम करते हैं। इसके अलावा, ये घटक ब्लड प्रेशर, ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस और इंफ्लेमेटरी डैमेज पर भी सकारात्मक प्रभाव दिखाते हैं। मशरूम में पाए जाने वाले ये सभी फायदे हृदय को स्वस्थ रखने के साथ-साथ कई समस्याओं से बचाने में भी मदद कर सकते हैं (8)।

7. अच्छे चयापचय के लिए मशरूम खाने के फायदे

खराब चयापचय के कारण कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इसमें हृदय रोग, मोटापा, कैंसर व मधुमेह आदि समस्याएं शामिल हैं। इन समस्याओं को दूर करने के लिए मशरूम का सेवन फायदेमंद हाे सकता है। इसमें पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट और एंटीइंफ्लेमेटरी गुण इन सभी समस्याओं को दूर करने में मददगार हो सकते हैं। साथ ही चयापचय की परेशानी को दूर कर उसे मजबूती प्रदान कर सकते हैं (7)।

8. पेट की समस्याओं को दूर करने के लिए

शायद इस पर यकीन करना मुश्किल हो, लेकिन अल्सर के कुछ लक्षणों को मशरूम के जरिए ठीक किया जा सकता है। इसके लिए मशरूम का अर्क लाभदायक साबित हो सकता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर उपलब्ध एक रिसर्च पेपर में भी इस बारे में विस्तार से बताया गया है। चूहों पर किए गए  इस रिसर्च में पाया गया कि मशरूम में एंटी-अल्सर गुण पाए जाते हैं। मशरूम में पाया जाने वाला यह गुण अल्सर से उबरने में कुछ मदद कर सकता है (9)। एक अन्य शोध के अनुसार, मशरूम में फाइबर की मात्रा भी पाई जाती है, जिस कारण मशरूम का उपयोग कब्ज संबंधी लक्षणों को कम करने के लिए किया जा सकता है। वैज्ञानिक शोध में इस बात की भी पुष्टि की गई है कि कब्ज में मशरूम का सेवन करने से नकारात्मक परिणाम न के बराबर रहे हैं (10)।

9. विटामिन से भरपूर

आपको जानकर हैरानी होगी कि मशरूम कई प्रकार के विटामिन से भरपूर होता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध के मुताबिक, इसमें विटामिन-बी1, बी2, बी9, बी12, विटामिन-सी और विटामिन-डी2 शामिल हैं। ये सभी विटामिन किसी न किसी प्रकार से हमारी सेहत के लिए फायदेमंद हो सकते हैं। जैसे एनीमिया की रोकथाम, गर्भवती और उसके भ्रूण के लिए फायदेमंद, कोलेस्ट्राॅल को नियंत्रित करने में और त्वचा के लिए कई प्रकार से लाभदायक हो सकते हैं। स्वास्थ्य के लिहाज से विटामिन से भरपूर मशरूम के और भी कई सारे फायदे हो सकते हैं (11)।

सेहत के बारे में जानने के बाद जानते हैं कि त्वचा के लिए मशरूम किस प्रकार फायदेमंद है।

त्वचा के लिए मशरूम के फायदे – Skin Benefits of Mushroom in Hindi

10. त्वचा को हाइड्रेट करने के लिए

त्वचा को कोमल और हाइड्रेट बनाने में मशरूम कुछ हद तक मदद कर सकता है। इसी संबंध में मशरूम पर किए गए एक शोध के अनुसार, मशरूम में मॉइस्चराइजिंग गुण पाए जाते हैं। यह मॉइस्चराइजर त्वचा की नमी को नष्ट होने से बचाते हैं और झुर्रियों को कम करने में मदद कर सकते हैं। यह गुण त्वचा को नम, चिकना और मुलायम बनाने के लिए कई प्रकार से फायदेमंद हो सकता है (12)।

11. मुंहासों के इलाज के लिए

मुंहासों की समस्या होने पर चेहरे की रोनक खोने लगती है। इस समस्या को दूर करने के लिए मशरूम फायदेमंद हो सकता है। एक शोध के अनुसार, मशरूम में एंटीबैक्टीरियल और एंटीमाइक्रोबियल गुण पाए जाते हैं। ये उन बैक्टीरिया को पनपने से रोकने में मदद कर सकते हैं, जो मुंहासों का कारण बन सकते हैं। इसके अलावा, ये गुण मुंहासों को कम करने में भी फायदेमंद हो सकते हैं (13)।

12. एंटी-एजिंग प्रभाव

अगर त्वचा समय से पहले ही बूढ़ी दिखने लगे और चेहरे पर झुर्रियां आने लगें, तो इस समस्या को दूर करने के लिए मशरूम फायदेमंद हो सकता है। वैज्ञानिक शोध के अनुसार, मशरूम के अर्क में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-एजिंग गुण पाए जाते हैं, जो त्वचा को आक्सीडेटिव स्ट्रेस से होने वाली समस्या के साथ ही समय से पहले बूढ़ा होने से रोकने में मदद कर सकते हैं (14)।

13. प्राकृतिक स्किन लाइटनर

मशरूम में फेनोलिक्स, पॉलीफेनोलिक्स, टेरपेनोइड्स, सेलेनियम, पॉलीसेकेराइड, विटामिन और वोलाटाइल आग्रेनिक कंपाउंड पाए जाते हैं। इन कंपाउंड में त्वचा संबंधी कई समस्याओं को दूर करने के गुण पाए जाते हैं। इसके अलावा, इनमें स्किन व्हाइटनिंग का गुण भी होता है, जो मशरूम को प्राकृतिक स्किन लाइटनर के रूप में प्रस्तुत करता है (12)।

14. त्वचा की अन्य समस्याओं को दूर करने के लिए

मशरूम में फेनोलिक्स, पॉलीफेनोलिक्स, टेरपेनोइड्स, सेलेनियम, पॉलीसेकेराइड, विटामिन और वोलाटाइल आग्रेनिक कंपाउंड पाए जाते हैं। इस सभी में एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-एजिंग, एंटी-रिंकल, स्किन व्हाइटनिंग और मॉइस्चराइजिंग जैसे गुण पाए जाते हैं। ये सभी गुण त्वचा के लिए कई प्रकार से फायदेमंद हो सकते हैं। साथ ही त्वचा संबंधी समस्याओं को दूर करने में लाभदायक भी हो सकते हैं (12)।

त्वचा के फायदों के बाद जानते हैं कि मशरूम बालों के लिए किस प्रकार फायदेमंद है।

बालों के लिए मशरूम के फायदे – Hair Benefits of Mushroom in Hindi

15. बालों को झड़ने से रोके

बालों के झड़ने की समस्या से ज्यादातर लोग परेशान रहते हैं। इस समस्या को दूर करने के लिए मशरूम फायदेमंद हो सकता है। शोध में पाया गया है कि मशरूम को विटामिन डी, एंटीऑक्सीडेंट और आयरन, सेलेनियम व कॉपर जैसे मिनरल का अच्छा स्रोत माना गया है। ये सभी पोषक तत्व बालों के झड़ने की समस्या को दूर करने के साथ ही उन्हें स्वस्थ और मजबूती प्रदान करने में लाभदायक हो सकते हैं। साथ ही बालों के झड़ने और रूसी को रोकने में उपयोगी हो सकते हैं (12)।

16. कॉपर गुण के कारण फायदेमंद

मशरूम में कॉपर की अच्छी मात्रा पाई जाती है (15)। वहीं, कॉपर को बालों के विकास के लिए फायदेमंद माना गया है। इसकी कमी से बालों का विकास धीमा हो जाता है और साथ ही बाल सफेद होने लगते हैं। कॉपर बालों के विकास के साथ ही उनकी मजबूती और उनके काले होने का एक कारण हो सकता है (16)।

17. बालों के लिए सेलेनियम

मशरूम सेलेनियम का भी अच्छा स्रोत है (15)। सेलेनियम लगभग 35 प्रोटीनों का एक घटक है। इसकी कमी के चलते सिर के बाल झड़ने लगते हैं। वहीं, सेलेनियम में कई प्रकार के एंजाइम होते हैं, जो बालों का झड़ना रोक सकते हैं (16)।

मशरूम के फायदों के बाद जानते हैं, इसमें पाए जाने वाले पौष्टिक तत्वों के बारे में।

मशरूम के पौष्टिक तत्व – Mushroom Nutritional Value in Hindi

मशरूम में पाए जाने वाले पोषक तत्व कुछ इस प्रकार हैं (17)।

पोषक तत्वपोषक मूल्य
पानी89.61 ग्राम
कैलोरी31 कैलोरी
कार्बोहाइड्रेट5.10 ग्राम
वसा0.57 ग्राम
प्रोटीन3.12 ग्राम
शुगर0.60 ग्राम
फाइबर2.8 ग्राम
विटामिन
नियासिन2.252 मिलीग्राम
राइबोफ्लेविन0.205 मिलीग्राम
थियामिन0.069 मिलीग्राम
फोलेट9 µg
विटामिन  बी 60.136 मिलीग्राम
विटामिन डी (डी 2+ डी 3)5.1µg
विटामिन डी206 आईयू
इलेक्ट्रोलाइट
सोडियम21 मिलीग्राम
पोटैशियम411 मिलीग्राम
मिनरल
कैल्शियम43 मिलीग्राम
आयरन12.18 मिलीग्राम
मैग्नीशियम19 मिलीग्राम
फास्फोरस194 मिलीग्राम
जिंक2.03 मिलीग्राम
लिपिड
फैटी एसिड, कुल सैचुरेटेड0.065 ग्राम
फैटी एसिड, कुल मोनोसैचुरेटेड0.052 ग्राम
फैटी एसिड, कुल पोलीअनसैचुरेटेड0.433 ग्राम

मशरूम के पोषक तत्वों को जानने के बाद इसे उपयोग करने की विधि भी जान लेते हैं।

मशरूम का उपयोग – How to Use Mushroom in Hindi

मशरूम का उपयोग कई प्रकार से किया जा सकता है। यहां हम इसे उपयोग के कुछ आसान तरीकों के बारे में बता रहे हैं।

  • मशरूम की विभिन्न किस्मों का उपयोग कई प्रकार के व्यंजनों में किया जा सकता है।
  • मशरूम को मक्खन के साथ ग्रिल करके खाया जा सकता है।
  • मशरूम को शोरबा और सूप में उपयोग किया जा सकता है।
  • आप मशरूम के पाउडर को सूप और सॉस के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • मशरूम को सैंडविच और ब्रेड में स्वादिष्ट बनाने के लिए उपयोग किया जा सकता है।
  • मशरूम का उपयोग आमतौर पर पिज्जा टॉपिंग के रूप में किया जाता है। पिज्जा तैयार करते समय, आप उन्हें पनीर और अन्य सब्जियों के साथ मिला सकते हैं।

मात्रा: प्रतिदिन 100 ग्राम से लेकर 150 ग्राम तक मशरूम का सेवन कर सकते हैं (18)। फिर भी इसकी सही मात्रा जानने के लिए अपने आहार विशेषज्ञ से सलाह लें। वह आपकी सेहत के अनुसार इसकी मात्रा के बारे में बताएंगे।

सबसे अंत में जानते हैं मशरूम से होने वाले नुकसान से के बारे में।

मशरूम के नुकसान – Side Effects of Mushroom in Hindi

मशरूम (कुकुरमुत्ता) के फायदे तब तक ही हैं, जब तक उसे उचित मात्रा और सही जानकारी के साथ खाया जाए। इसे असंतुलित मात्रा में खाने से कुछ नुकसान हो सकते हैं, जो इस प्रकार हैं:

  • कुछ मशरूम में जहरीला प्रभाव होता है, जिस कारण ये जानलेवा साबित हो सकते हैं (19)।
  • फंगस लगे मशरूम काे नहीं खाना चाहिए, यह स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हाे सकता है (20)।
  • कई दिनों से रखे हुए मशरूम का सेवन न करें। कई मशरूम बेहद कम समय के लिए खाने योग्य होते हैं। उनमें जल्दी कीड़ा या फंगस लग जाती है (21)।

दोस्तों, आपने इस आर्टिकल में मशरूम के बारे में जाना कि किस प्रकार से यह सेहत के लिए फायदेमंद है। इसके साथ ही यह त्वचा और बालों के लिए भी लाभदायक है। मशरूम का सेवन सावधानी के साथ करना चाहिए, क्योंकि कुछ स्थितियों में इसके नकारात्मक परिणाम भी नजर आ सकते हैं। इसलिए, अगर आप मशरूम को अपनी डायट में शामिल करने के बारे में सोच रहे हैं, तो इस संबंध में डॉक्टर की सलाह जरूर लें और साथ ही इस आर्टिकल में दी गई काम की बातों को ध्यान में रखें। मशरूम के फायदे और नुकसान बारे में जानकारी देता यह आर्टिकल आपको कैसा लगा, हमें नीचे दिए कमेंट बॉक्स के जरिए जरूर बताएं। हमें आपकी प्रतिक्रियाओं का इंतजार रहेगा।

Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Saral Jain

सरल जैन ने श्री रामानन्दाचार्य संस्कृत विश्वविद्यालय, राजस्थान से संस्कृत और जैन दर्शन में बीए और डॉ. सी. वी. रमन विश्वविद्यालय, छत्तीसगढ़ से पत्रकारिता में बीए किया है। सरल को इलेक्ट्रानिक मीडिया का लगभग 8 वर्षों का एवं प्रिंट मीडिया का एक साल का अनुभव है। इन्होंने 3 साल तक टीवी चैनल के कई कार्यक्रमों में एंकर की भूमिका भी निभाई है। इन्हें फोटोग्राफी, वीडियोग्राफी, एडवंचर व वाइल्ड लाइफ शूट, कैंपिंग व घूमना पसंद है। सरल जैन संस्कृत, हिंदी, अंग्रेजी, गुजराती, मराठी व कन्नड़ भाषाओं के जानकार हैं।

ताज़े आलेख

scorecardresearch