नमक के पानी से नहाने के फायदे और नुकसान – Salt Water Bath Benefits And Side Effects In Hindi

Written by , (शिक्षा- बैचलर ऑफ जर्नलिज्म एंड मीडिया कम्युनिकेशन)

खाना बनाने के लिए नमक का प्रयोग तो हम सभी करते हैं, लेकिन क्या आपने कभी नहाने के लिए नमक का इस्तेमाल किया है। बहुत कम लोग नमक के पानी से नहाने के फायदे से वाकिफ होंगे। यही वजह है कि स्टाइलक्रेज के इस लेख में आज हम नमक के पानी से नहाने से होने वाले फायदों के बारे में चर्चा करेंगे। साथ ही इस लेख में नमक के पानी से नहाने के नुकसान से जुड़ी जानकारी भी देंगे।

स्क्रॉल करें

लेख में सबसे पहले हम जानते हैं कि बाथ साल्ट यानि नहाने का नमक क्या है।

नहाने का नमक (बाथ साल्ट) क्या है?

नहाने का नमक यानी बाथ सॉल्ट का वैज्ञानिक नाम मैग्नीशियम सल्फेट है, जो मैग्नीशियम और सल्फर से मिलकर बना है। आम भाषा में इसे एप्सम सॉल्ट और समुद्री नमक के नाम से जाना जाता है। यह नमक पानी में आसानी से मिल जाता है और सल्फेट और मैग्नीशियम आयन (Ion) को रिलीज करता है (1)।

नहाने के लिए इसका उपयोग पौराणिक काल से किया जा रहा है। गर्म पानी में बाथ साल्ट मिलाकर नहाने से दर्द और सूजन संबंधित समस्याओं से राहत मिल सकती है। इसके अलावा भी एप्सम नमक के पानी से नहाने के फायदे कई सारे हैं, जिनके बारे में हम लेख में आगे जानेंगे (2)।

पढ़ते रहें

लेख में आगे नमक के पानी से नहाने के फायदे के बारे में जानेंगे।

नमक के पानी से नहाने के फायदे – Benefits of Salt Water Bath in Hindi

नमक के पानी से नहाना हमारे स्वास्थ्य के लिए किस तरह लाभकारी हो सकती है, यहां इसकी पूरी जानकारी दी जा रही है। लेख में आगे बढ़ने से पहले ध्यान दें कि यह किसी भी गंभीर समस्या का इलाज नहीं है, बस स्वस्थ रहने का एक तरीका है। चलिए, जानते हैं नमक के पानी से नहाने के फायदों के बारे में।

1. अच्छी नींद के लिए

नमक के पानी से नहाने के फायदे की अगर बात की जाए, तो इसमें अच्छी नींद का भी जिक्र है। एक वैज्ञानिक शोध में साफ तौर से बताया गया है कि अच्छी नींद के लिए शरीर में मैग्नीशियम का संतुलित मात्रा में होना जरूरी होता है। मैग्नीशियम शरीर में सेरोटोनिन हार्मोन, जो प्राकृतिक नींद को प्रेरित करने के लिए जाना जाता है, के उत्पादन को बढ़ा सकता है (2)।

वहीं, एप्सम साल्ट का उपयोग शरीर में मैग्नीशियम के स्तर को बनाए रखने में सहायक भूमिका निभा सकता है। शोध में बताया गया है कि एप्सम साल्ट पानी में मिलते ही चार्ज होता है और मैग्नीशियम व सल्फेट आयन को रिलीज करता है, जो त्वचा के माध्यम से आसानी से अवशोषित होते हैं और अपना प्रभाव दिखा सकते हैं (2)। इस तरह अच्छी नींद के लिए नमक के पानी से नहाना फायदेमंद माना जा सकता है।

2. जोड़ों के दर्द में राहत

जोड़ों के दर्द की समस्या में भी नमक के पानी से नहाने के फायदे देखे गए हैं। एक रिसर्च के मुताबिक गर्म पानी में एप्सम साल्ट मिलाकर प्रयोग करने से घुटने के दर्द और गठिया रोगियों में होने वाले जोड़ों के दर्द में राहत मिल सकती है। इसके साथ ही शोध में इस बात का भी जिक्र है कि बाथ साल्ट पुरानी सूजन को कम करने में भी प्रभावी हो सकता है (2)। इस आधार पर यह कहना गलत नहीं होगा कि जोड़ों के दर्द के घरेलू उपाय के तौर पर नमक के पानी से नहाना कुछ हद तक राहत दिला सकता है।

3. त्वचा की खुजली और सूजन को दूर करे

शुष्क त्वचा यानी ड्राई स्किन के कारण अक्सर कई प्रकार की समस्याएं हो सकती हैं, जिनमें खुजली, लालिमा और खुदरापन शामिल हैं (3)। वहीं, एक अध्ययन में साफतौर से बताया गया है एप्सम नमक में मौजूद मैग्नीशियम क्लोराइड त्वचा को हाइड्रेट करता है, जिससे ड्राई स्किन की वजह से होने वाली खुजली में राहत मिल सकती है (4)। इसके साथ ही शोध में त्वचा संबंधित सूजन से बचाव के लिए भी इसे उपयोगी माना गया है। ऐसे में नमक के पानी से नहाना त्वचा संबंधित परेशानियों के लिए भी गुणकारी माना जा सकता है।

4. ऊर्जावान बनाए

शरीर को ऊर्जावान बनाए रखने के लिए भी नमक के पानी से नहाना फायदेमंद हो सकता है। एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार, नमक में मौजूद मैग्नीशियम एनर्जी मेटाबॉलिज्म के लिए एक जरूरी पोषक तत्व माना जाता है। दरअसल, शरीर का 60% से अधिक मैग्नीशियम कंकाल प्रणाली में संग्रहीत होता है और शेष कोशिकाओं में वितरित होता है, जो एनर्जी मेटाबॉलिज्म के लिए जरूरी होता है। इस तरह शरीर को ऊर्जावान बनाए रखने के लिए नमक के पानी से नहाने के फायदे देखे जा सकते हैं। (5)।

5. शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर करे

नमक के पानी से नहाने पर यह शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकालने में भी मदद हो सकती है। जैसा कि लेख में पहले भी बताया जा चुका है कि एप्सम साल्ट में सल्फेट पाया जाता है। एक शोध में कहा गया है कि सल्फेट पोषक तत्वों के अवशोषण में सुधार करने के साथ ही शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकालने में मदद कर सकता है। यही वजह है कि शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकालने के लिए एप्सम साल्ट को गर्म पानी में मिलाकर प्रयोग करने की सलाह दी जाती है (2)।

6. मांसपेशियों में ऐंठन और दर्द

मांसपेशियों में ऐंठन होने पर भी नमक का पानी से नहाना लाभदायक हाे सकता है। इस विषय पर किए गए एक शोध से इस बात का पता चलता है। शोध के अनुसार नमक का पानी एंटीइंफ्लामेटरी एजेंट की तरह काम करता है, जिससे मांसपेशियों में होने वाले दर्द और सूजन से काफी हद तक राहत मिल सकती है (2)।

पढ़ना जारी रखें

नमक के पानी से नहाने के फायदे के बार यहां जानते हैं नमक का पानी तैयार करने की विधि।

नमक का पानी कैसे तैयार करें – How to make Salt Bath in Hindi

पानी में नमक डालकर नहाने के फायदे तभी मिलते हैं, जब इसका इस्तेमाल सही तरीके से किया जाए। नीचे दिए गए टिप्स को फॉलो करके नहाने के लिए नमक का पानी तैयार किया जा सकता है।

सामग्री:

  • दो चम्मच एप्सम सॉल्ट
  • एक बाल्टी गुनगुना पानी

बनाने की विधि:

  • एक बाल्टी गुनगुने पानी में नमक को मिलाएं।
  • ध्यान रखें कि नहाने का पानी ज्यादा गर्म न हो।
  • कुछ देर बाद जब पानी में नमक अच्छे से घुल जाए, तो इस पानी से नहाया जा सकता है।
  • इस विधि काे हफ्ते में दो दिन आजमा सकते हैं।

नोट: ध्यान रहे कि नहाने के पानी में नमक की मात्रा 5000 मिलीग्राम से अधिक नहीं होनी चाहिए, नहीं तो इसके नकारात्मक परिणाम हाे सकते हैं, जिनके बारे में हम लेख में आगे बता रहे हैं (2)।

आगे है कुछ खास

पानी में नमक डालकर नहाने के फायदे के बाद नमक के पानी से नाहने के नुकसान के बारे में जानते हैं।

नमक के पानी से नहाने के नुकसान – Side Effects of Salt Water Bath in Hindi

एप्सम सॉल्ट के कई स्वास्थ्य लाभ के साथ-साथ नमक के पानी से नहाने के नुकसान भी हैं, जिनके बारे में हम नीचे बता रहे हैं (2)।

  • नमक के पानी का लंबे समय तक उपयोग रक्त में मैग्नीशियम और सल्फेट का स्तर बढ़ सकता है, जो विषाक्तता का कारण बन सकता है।
  • जैसा कि लेख में हमने बताया शरीर एप्सम साल्ट को सोखता है। वहीं, यदि शरीर में इसकी अधिकता से हृदय रोग का जोखिम अधिक हो सकता है।
  • नमक के पानी से अधिक स्नान करने से हाइपरमैग्नेसीमिया की समस्या हो सकती है, जिससे कोमा में जाने की आशांका हो सकती है।
  • इसके अलावा, फेफड़ों संबंधी समस्या, जिसे कार्डियोपल्मोनरी अरेस्ट भी कहते हैं, हो सकती है।
  • शरीर में इसकी अधिकता श्वसन संबंधी विभिन्न समस्याओं के साथ रक्तचाप, गंभीर दस्त, मतली और सिरदर्द की समस्या का कारण बन सकता है।

नहाने के लिए बाथ साल्ट का इस्तेमाल सही तरीके से किया जाए, तो यह स्वास्थ्य के लिए कई तरह से गुणकारी हो सकता है। हमें यकीन है कि पानी में नमक डालकर नहाने के फायदे जानने के बाद आप इसका इस्तेमाल करने में बिल्कुल देरी नहीं करेंगे। साथ ही लेख में इसकी अधिकता के कारण होने वाले नुकसान के बारे में भी जानकारी दी गई है, जिसे ध्यान में रखते हुए बाथ साल्ट का नाहाने के लिए प्रयोग करें। वहीं, ध्यान रहे कि किसी गंभीर समस्या होने पर डॉक्टर से परामर्श करने के बाद ही नहाने के लिए नमक के पानी का उपयोग करें।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या मुंहासों की समस्या में नमक के पानी से नहाने के फायदे हैं?

हां, नमक के पानी से एंटीइंफ्लामेटरी प्रभाव होता है, जो एक्ने में होने वाली सूजन को कम करने में मदद कर सकता है (6)। इस आधार पर एक्ने संबंधित परेशानी के लिए नमक के पानी से नहाने के फायदे देखे जा सकते हैं।

क्या मैं रात भर अपने चेहरे पर नमक का पानी लगा कर रख सकता हूं?

हां, इसमें मौजूद पोषक तत्व त्वचा और चेहरे के लिए फायदेमंद हो सकते हैं। हालांकि, इस विषय पर फिलहाल कोई शोध उपलब्ध नहीं है।

क्या नमक का पानी त्वचा को नुकसान पहुंचा सकता है?

वैसे तो नमक पानी त्वचा के लिए लाभकारी है, लेकिन यूवी विकिरण के संपर्क में आने के बाद यदि नमक के पानी से नहाते हैं, तो इससे सनबर्न का खतरा बढ़ सकता है (7)।

क्या मैं रोज नमक के पानी से नहा सकता हूं?

हां, रोजाना नमक के पानी से नहाया जा सकता है। एक शोध में जिक्र मिलता है कि रोजाना लगभग 50 से 55 डिग्री सेल्सियस के तापमान पर नमक के पानी से लगभग 12 मिनट तक नहाया जा सकता है (8)।

संदर्भ (Sources):

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. EPSOM SALT USE IN HOME GARDENS AND LANDSCAPES
    https://www.researchgate.net/publication/333516299_EPSOM_SALT_USE_IN_HOME_GARDENS_AND_LANDSCAPES
  2. Knowledge and awareness about beneficial effects of Epsom salt among the teenagers
    https://jprsolutions.info/files/final-file-5f393d12c3b281.15342284.pdf
  3. Dry skin – self-care
    https://medlineplus.gov/ency/patientinstructions/000751.htm
  4. Bathing in a magnesium-rich Dead Sea salt solution improves skin barrier function, enhances skin hydration, and reduces inflammation in atopic dry skin
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/15689218/
  5. Interaction of mineral salts with the skin: a literature survey
    https://onlinelibrary.wiley.com/doi/full/10.1111/j.1468-2494.2012.00731.x
  6. Acne Vulgaris
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK459173/
  7. Salt water bathing prior to UVB irradiation leads to a decrease of the minimal erythema dose and an increased erythema index without affecting skin pigmentation
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/10089826/
  8. Myth or Reality—Transdermal Magnesium?
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5579607/
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

ताज़े आलेख