नमक पानी पीने के फायदे और नुकसान – Salt Water Benefits and Side Effects in Hindi

Written by , (शिक्षा- बैचलर ऑफ जर्नलिज्म एंड मीडिया कम्युनिकेशन)

जल ही जीवन है, ऐसा तो हर किसी को कहते हुए आपने सुना ही होगा। इस जीवन में अगर थोड़ा-सा नमक मिला दिया जाए, तो इसके फायदे दोगुने हो जाते हैं। किस तरह से नमक पानी पीने के लाभ होते हैं, यह समझने के लिए स्टाइलक्रेज के इस लेख को पढ़ें। यहां नमक पानी पीने के फायदे के साथ ही इसके नुकसान की भी जानकारी वैज्ञानिक शोध से प्रेरित होकर दी गई है। नमक पानी पीने से जुड़ी हर जरूरी जानकारी के लिए अंत तक इस लेख को जरूर पढ़ें।

लेख में आगे बढ़ते हैं

इधर-उधर की बातें किए बिना सीधे नमक वाला पानी पीने के फायदे पर नजर डाल लेते हैं।

नमक का पानी पीने के फायदे – Benefits of Salt Water in Hindi

पानी की तरह ही नमक का पानी पीने के फायदे भी होते हैं। बशर्ते नमक पानी को सीमित मात्रा में पिया जाए। अधिकता किसी भी चीज की हानिकारक होती है, इसलिए सीमित मात्रा में नमक का पानी पीकर इसके लाभ उठाए जा सकते हैं। ध्यान दें कि हर तरह के फायदे के लिए अलग-अलग तरह के नमक का उपयोग हो सकता है, जिसकी जानकारी हम लेख में आगे दे रहे हैं।

1. पाचन के लिए

पाचन के लिए नमक का पानी पीने के फायदे हो सकते हैं। बस इसके लिए काले नमक या सेंधा नमक का इस्तेमाल करने की जरूरत होगी। पानी में चुटकी भर काला नमक डालकर पीने से कब्ज की परेशानी कुछ कम हो सकती है। इंटरनेशनल जर्नल ऑफ एडवांस इन फार्मेसी द्वारा किए गए रिसर्च में भी इस बात की जानकारी मिलती है (1)।

एक अन्य रिसर्च पेपर की मानें, तो नमक में सोडियम और कलोराइड नामक दो आयन (Ion) होते हैं। इनमें से कलोराइड शरीर में जाकर हाइड्रोक्लोरिक एसिड पैदा करता है, जो पाचन में मदद कर सकता है। साथ ही काला नमक मल को मुलायम करके कब्ज की शिकायत को दूर कर सकता है। यही नहीं, काले नमक में मौजूद आयरन पेट फूलने की समस्या को भी कम कर सकता है (2)।

2. गले में खराश

अगर अक्सर गले में खराश रहती है, तो नमक पानी पीने के फायदे हो सकते हैं। मेडलाइन प्लस में प्रकाशित जानकारी में बताया गया है कि गले में खराश, दर्द, सूजन और खुजली जैसी परेशानी को कुछ कम करने में नमक वाला पानी पीने के फायदे देख जा सकते हैं (3)।

एक अन्य रिसर्च पेपर में कहा गया है कि अगर गले की खराश का कारण बैक्टीरिया नहीं हैं, तो नमक पानी की मदद से इससे जुड़े दर्द और अन्य लक्षण को कम किया जा सकता है (4)। इसके लिए गुनगुना नमक पानी पीने के अलावा नमक पानी से गरारे भी कर सकते हैं (3)।

3. टॉन्सिलाइटिस

टॉन्सिल गले में जीभ के पीछे मौजूद टिश्यू का जोड़ा होता है। जब इसमें बैक्टीरिया की वजह से सूजन हो जाती है, तो उसे टॉन्सिलाइटिस कहते हैं। इस दौरान गले में सूजन, खाना निगलने में परेशानी और कई बार बात करने में भी तकलीफ होने लगती है। ऐसे में इससे राहत पाने के लिए अधिक से अधिक तरल पदार्थ पीने और नमक पानी से गरारे करने की सलाह दी जाती है (5)। इस आधार पर यह कहा जा सकता है कि नमक वाला पानी पीने के फायदे में से एक टॉन्सिलाइटिस से राहत मिलना भी है।

4. शरीर में मिनरल्स पहुंचाए

नमक पानी शरीर में मिनरल्स को सही तरीके से पहुंचाने में मदद कर सकता है। एक रिसर्च पेपर में इस बात का जिक्र मिलता है कि नमक आहार में आवश्यक खनिजों जैसे मैग्निशियम, मैंगनीज, आयरन, कॉपर, और जिंक की जरूरी मात्रा को डाइट में पहुंचाने का आर्दश विकल्प है (6)। ऐसे में माना जा सकता है कि नमक पानी पीने के लाभ में शरीर को आवश्यक मिनरल पहुंचाना भी शामिल है।

5. मस्तिष्क के लिए जरूरी

नमक वाला पानी पीने के फायदे में मस्तिष्क स्वास्थ्य को भी गिना जाता है। साथ ही नमक पानी मस्तिष्क के विकास में भी अहम भूमिका निभा सकता है। इससे संबंधित एक रिसर्च पेपर में इस बात का जिक्र मिलता है। शोध में यह तक कहा गया है कि नमक की कमी शरीर में हो जाए, तो व्यक्ति दिमागी रूप से अस्वस्थ हो सकता है। साथ ही न्यूरोलोजिकल विकास भी इसकी कमी से धीमा पड़ सकता है। इसी वजह से नमक पानी पीने के फायदे में मस्तिष्क स्वास्थ्य को भी जोड़ा जा सकता है (2)।

6. हाइड्रेशन के लिए

शरीर में पर्याप्त मात्रा में पानी होना जरूरी है। अगर ऐसा नहीं होता है, तो उस स्थिति को डीहाइड्रेशन व निर्जलीकरण कहा जाता है। ऐसा अक्सर कम पानी पीने या फिर डायरिया के कारण होता है। दरअसल, शरीर में पर्याप्त पानी न होने से जरूरी इलेक्ट्रेलाइट जैसे कि सोडियम, मैग्निशियम की कमी हो जाती है। वहीं, ये दोनों तत्व शरीर में फ्लूइड को बैलेंस करते हैं (6)। ऐसे में नमक वाला पानी पीने के फायदे हो सकते हैं। इस बात का जिक्र वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन की वेबसाइट में भी मिलता है (7)।

दरअसल, शरीर में दोबारा से पानी की पूर्ति करने को रिहाइड्रेशन थेरेपी कहते हैं। इसके लिए नमक पानी का घोल मदद कर सकता है। नमक पानी के साथ ही इस घोल में थोड़ी सी चीनी भी मिला दी जाए, तो यह और असरदार हो सकता है। इसी वजह से हाइड्रेशन और रिहाइड्रेशन थेरेपी दोनों के लिए नमक पानी पीने के लाभ देखे जा सकते हैं (8)।

7. इंफ्लेमेशन/सूजन

नमक का पानी पीने के फायदे में से एक सूजन को कम करना भी है। हम ऊपर बता ही चुके हैं कि नमक में मैग्नीशियम होता है। इस कंपाउंड को इंफ्लेमेशन यानी सूजन कम करने के लिए जाना जाता है। इस बात की पुष्टि एनसीबीआई की वेबसाइट में मौजूद रिसर्च पेपर से भी होती है (9)। ऐसे में कहा जा सकता है कि नमक पानी से शरीर की सूजन थोड़ी कम हो सकती है।

यही नहीं, नमक पानी का गरारा या इसे माउथ वॉश की तरह इस्तेमाल करने से मुंह संबंधी सूजन कम हो सकती है। एक वैज्ञानिक अध्ययन से यह जानकारी मिलती है कि सोडियम कलोराइड माउथवॉश में एंटी इंफ्लामेटरी प्रभाव होता है (10)। हम सब जानते ही हैं कि नमक का वैज्ञानिक नाम सोडियम कलोराइड ही है।

8. फटी एडियां और रूखी त्वचा

फटी एडियों को ठीक करने के लिए नमक पानी का उपयोग किया जा सकता है। दरअसल, डिहाइड्रेशन यानी शरीर में पानी की कमी से त्वचा रूखी होने लगती है (6)। जब त्वचा रूखी होती है, तो स्किन फट सकती है (11)। इसे क्रेक स्किन भी कहा जाता है। साथ ही नमक में मैग्नीशियम होता है (2)। इस केमिकल कंपाउंड को स्किन हाइड्रेशन के लिए जाना जाता है (9)। इस आधार पर कह सकते हैं कि फटी एड़ियों में भी नमक पानी का उपयोग फायदेमंद साबित हो सकता है। वैसे नमक पानी पीने से ज्यादा नमक पानी में पैर डूबोने से क्रेक हील में अधिक लाभ मिलता है।

9. पैरों की ऐंठन व मांसपेशियों के लिए

नमक पानी पीने के फायदे में मांसपेशियों को स्वस्थ रखना और पैरों की ऐंठन को कम करना भी शामिल है। इससे जुड़े एक रिसर्च पेपर में इस बात का जिक्र मिलता है कि सोडियम शरीर की मांसपेशियों की गतिविधि को नियंत्रित कर सकता है (2)। इसी वजह से नमक में मौजूद सोडियम को मांसपेशियों के लिए जरूरी मिनरल माना जाता है । यह मांसपेशियों को कमजोरी से भी बचा सकता है (12)

यही नहीं, पैरों में होने वाली ऐंठन को भी कम करने में यह सोडियम मदद कर सकता है। दरअसल, रिसर्च पेपर में बताया गया है कि शरीर में सोडियम का स्तर घटने पर पैरों में ऐंठन हो सकती है। ऐसे में नमक पानी पीने से पैरों की ऐंठन को कम करने और मांसपेशियों की गतिविधि को सही रखने में मदद मिल सकती है (2)।

10. थकान को कम करे

नमक की मात्रा शरीर में कम हो जाती है, तो व्यक्ति को थकान महसूस होने लगती है। इसकी वजह शरीर में सोडियम की मात्रा का कम होना भी हो सकता है। ऐसी स्थिति में भी नमक पानी पीने के लाभ हो सकते हैं। दरअसल, नमक पानी में मौजूद सोडियम शरीर में इसके स्तर को नियंत्रित करने में मदद करेगा। नतीजन व्यक्ति की थकान धीरे-धीरे कम हो सकती है (12)।

11. चिड़चिड़ापन और बैचेनी को घटाए

अगर किसी को ज्यादा चिड़चिड़ापन हो रहा है, तो नमक पानी का सेवन कुछ हद तक इस परेशानी को कम कर सकता है। दरअसल, बताया जाता है कि जब शरीर में सोडियम का स्तर गिरने लगता है, तो व्यक्ति चिड़चिड़ा हो जाता है। यही नहीं, उसे बैचेनी भी महसूस होने लगती है। इन दोनों ही स्थितियों में नमक पानी पीना फायदेमंद साबित हो सकता है (12)।

लेख में आगे बढ़ते हुए पढ़िए नमक पानी पीने के नुकसान क्या हो सकते हैं।

नमक के पानी के नुकसान – Salt Water Side Effects in Hindi

जिस तरह नमक पानी पीने के फायदे होते हैं, उसी तरह इसके कुछ नुकसान भी हो सकते हैं। ये नुकसान कुछ इस प्रकार से दिखाई दे सकते हैं। दरअसल, नमक पानी पीने के नुकसान पानी में नमक की 200 mg/L से अधिक मात्रा होने पर नजर आ सकते हैं (13)। क्योंकि, नमक पानी को तभी शरीर के लिए हानिकारक माना जाता है। चलिए, आगे पढ़ते हैं नमक पानी पीने के नुकसान (13) (14) (15) (2)।

  • अधिक नमक युक्त पानी पीने से उच्च रक्तचाप का जोखिम बढ़ सकता है।
  • प्रेगनेंसी में नमक पानी पीने से उच्च रक्तचाप से जुड़ा जोखिम प्रीक्लेम्पसिया हो सकता है।
  • अगर इसे शिशु को अधिक मात्रा में दिया जाए, तो इससे उनकी मृत्यु हो सकती है।
  • इससे हैजा और दस्त जैसी समस्या भी हो सकती है।
  • नमक पानी के सेवन से प्रोटीन डाइजेशन में बाधा उत्पन्न हो सकती है।
  • नमक पानी ऑस्टियोपोरोसिस जैसी हड्डियों की समस्या को उत्पन्न कर सकता है।
  • इसके अधिक मात्रा में सेवन करने पर किडनी स्टोन का खतरा बढ़ सकता है।
  • शरीर से पेशाब के जरिए कैल्शियम की मात्रा को बाहर निकालना।

नमक पानी पीने के लाभ क्या हो सकते हैं, यह तो आप समझ ही गए होंगे। बस ध्यान दें कि इसकी अधिकता होने से नमक पानी पीने के नुकसान होने का भी जोखिम बना रहता है। बस तो लेख में नमक पानी पीने के नुकसान और नमक पानी पीने के लाभ दोनों अच्छे से पढ़ने के बाद ही इसे अपनी दिनचर्या में शामिल करें। साथ ही नमक पानी को किसी भी चिकित्सकीय स्थिति का उपचार न समझें। यह महज छोटी-मोटी परेशानी से बचाव करने और उनके लक्षण कम करने में ही कारगार साबित हो सकता है।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

गर्म पानी में नमक डालकर पीने से क्या फायदा होगा?

गर्म पानी में नमक डालकर पीने के फायदे गले की खराश को दूर करने और टॉन्सिलाइटिस से राहत दिलाने के लिए देखे जा सकते हैं (3) (5)।

सुबह-सुबह गर्म पानी में नमक डालकर पीने से क्या होता है?

सुबह सुबह गर्म पानी में नमक डालकर पीने से पाचन क्रिया बेहतर हो सकती है (2)। साथ ही यह शरीर के विषैले पदार्थ को भी बाहर करने का काम कर सकता है।

नींबू नमक पानी पीने के फायदे होते हैं?

हां, नींबू नमक पानी पीने के फायदे हो सकते हैं।

नींबू नमक पानी पीने के फायदे क्या हैं?

नमक वाला नींबू पानी पीने के फायदे पाचन क्रिया के लिए हो सकते हैं। इससे पाचन तंत्र बेहतर हो सकता है, जिससे पाचन से जुड़ी समस्या को दूर किया जा सकता है (16)। इसके अलावा, नींबू नमक पानी के फायदे में वजन को नियंत्रित करना भी शामिल हो सकता है।

क्या गर्म पानी में नमक डालकर पीने के फायदे हो सकते हैं?

हां, गर्म पानी में नमक डालकर पीने के फायदे भी हो सकते हैं। बशर्ते, नमक का सीमित मात्रा में उपयोग किया जाना चाहिए।

संदर्भ (Sources)

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. INTERNATIONAL JOURNAL OF ADVANCES IN PHARMACY BIOLOGY AND CHEMISTRY
    http://www.ijapbc.com/files/07-2110.pdf
  2. Elemental Analysis of Condiments Food Additives and Edible Salts Using X-Ray Fluorescence Technique
    https://globalresearchonline.net/journalcontents/v35-2/24.pdf
  3. Pharyngitis – viral
    https://medlineplus.gov/ency/article/001392.htm
  4. Randomised Controlled Trial of Salt Solution (Sodium Chloride) Mouth Wash vs Thymol Glycerine Usage in Sore Throat with Non Bacterial Pharyngitis
    https://www.researchgate.net/publication/335681220_Randomised_Controlled_Trial_of_Salt_Solution_Sodium_Chloride_Mouth_Wash_vs_Thymol_Glycerine_Usage_in_Sore_Throat_with_Non_Bacterial_Pharyngitis
  5. Tonsillitis
    https://medlineplus.gov/tonsillitis.html
  6. Dehydration
    https://medlineplus.gov/dehydration.html
  7. Rehydration Therapy
    https://www.cdc.gov/cholera/treatment/rehydration-therapy.html
  8. Diarrhoeal disease
    https://www.who.int/news-room/fact-sheets/detail/diarrhoeal-disease
  9. The Importance of Magnesium in Clinical Healthcare
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5637834/#B117
  10. Anti-inflammatory effect of salt water and chlorhexidine 0.12% mouthrinse after periodontal surgery: a randomized prospective clinical study
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/33389135/
  11. Dry skin – self-care
    https://medlineplus.gov/ency/patientinstructions/000751.htm
  12. Low blood sodium
    https://medlineplus.gov/ency/article/000394.htm
  13. Health Implications of Drinking Water Salinity in Coastal Areas of Bangladesh
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6801928/#B10-ijerph-16-03746
  14. High-Salt Diet Has a Certain Impact on Protein Digestion and Gut Microbiota: A Sequencing and Proteome Combined Study
    https://www.frontiersin.org/articles/10.3389/fmicb.2017.01838/full
  15. Cardiovascular and other effects of salt consumption
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4089690/
  16. A Critical Review on Nutritional and Medicinal Importance of Lemon
    https://www.researchgate.net/publication/340085271_A_Critical_Review_on_Nutritional_and_Medicinal_Importance_of_Lemon
Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
The following two tabs change content below.
सरल जैन ने श्री रामानन्दाचार्य संस्कृत विश्वविद्यालय, राजस्थान से संस्कृत और जैन दर्शन में बीए और डॉ. सी. वी. रमन... more

ताज़े आलेख