सामग्री और उपयोग

नारियल तेल के 22 फायदे, उपयोग और नुकसान – Coconut Oil (Nariyal Tel) Benefits, Uses and Side Effects in Hindi

by
नारियल तेल के 22 फायदे, उपयोग और नुकसान – Coconut Oil (Nariyal Tel) Benefits, Uses and Side Effects in Hindi Hyderabd040-395603080 September 5, 2019

नारियल तेल पोषक तत्वों से भरपूर होता है। यही वजह है कि इसका इस्तेमाल शरीर से जुड़ी कई परेशानियों से निजात पाने के लिए किया जाता है। आमतौर पर नारियल तेल का इस्तेमाल बालों के लिए और शरीर की मालिश के लिए किया जाता है, लेकिन खासकर दक्षिण भारत में इस तेल का प्रयोग भोजन बनाने के लिए भी किया जाता है। नारियल के तेल पर कई शोध हो चुके हैं, जिनसे इसके कई औषधीय गुणों के बारे में पता चला है। चलिए, इस लेख में जानते हैं सेहत और सौंदर्य के लिए नारियल तेल के फायदे और नारियल तेल का उपयोग।

नारियल तेल के फायदे – Benefits of Coconut Oil (Nariyal Tel) in Hindi

नारियल तेल में कई ऐसे गुणकारी राज छिपे हुए हैं, जिसके कारण नारियल तेल के बहुत सारे फायदे भी देखे जा सकते हैं। आगे नारियल तेल से होने वाले फायदों के बारे में विस्तृत रूप से बताया गया है, जो आपके लिए फायदेमंद हो सकते हैं।

सेहत के लिए नारियल तेल के फायदे – Health Benefits of Coconut Oil in Hindi

सेहत के लिए नारियल तेल के फायदे बहुत हैं। यह तेल वजन घटाने से लेकर मधुमेह जैसी गंभीर समस्याओं से निजात दिलाने का काम कर सकता है। नारियल के तेल के फायदे में हृदय संबंधी रोग का लाभ भी शामिल है, जिस कारण पिछले कुछ वर्षों में इसके सेवन में इजाफा हुआ है (1)। आइए, जानते हैं कि विभिन्न बीमारियों के लिए यह तेल किस प्रकार फायदेमंद हो सकता है।

1. वजन घटाना

Coconut oil for Weight loss in hindi Pinit

Shutterstock

नारियल तेल का उपयोग वजन घटाने के लिए भी किया जाता है, बशर्ते इसका प्रयोग संतुलित और निश्चित मात्रा में किया जाए। दरअसल, कुछ वैज्ञानिक शोधों में इस बात की पुष्टि की गई है कि ऐसे कई तेल हैं, जो वजन घटाने में कारगर हैं और नारियल का तेल उनमें से एक है (2) (3)। इसके सेवन से शरीर के अतिरिक्त फैट को घटाने में मदद मिल सकती है। नारियल के तेल के फायदे में वजन घटाने को शामिल किया जा सकता है।

2. पाचन के लिए सहायक

नारियल तेल का उपयोग करके आप अपना पाचन सुधार सकते हैं। नारियल तेल में एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं (4) जो अपच का कारण बनने वाले कई रोगाणुओं से लड़ सकते हैं और पाचन प्रक्रिया को दुरुस्त बनाए रखने में सहयोग कर सकते हैं। एक वैज्ञानिक रिपोर्ट में भी कहा गया है कि नारियल का तेल पाचन को बढ़ाता है (5)।

3. दौरे रोकने में सहायक

दौरे रोकने के लिए नारियल का तेल Pinit

Shutterstock

हमने कभी न कभी मिर्गी से पीड़ित हुए व्यक्ति को जरुर देखा होगा, लेकिन आपको घबराने की जरुरत नहीं है क्योंकि नारियल तेल इसमें भी फायदेमंद है। जी हां, नारियल में मौजूद एमसीटी (MCT) एक बार फिर से यहां भी लाभदायक हो सकता है।

दरअसल नारियल तेल में मौजूद एमसीटी केटोजेनिक डाइट (मिर्गी के दौरे में दी जाने वाली एक डाइट) का एक बढ़िया स्रोत माना जाता है। जब यह यकृत में पहुंचते हैं तो सीधे केटोजेनिक डाइट में टूट जाते हैं और मस्तिष्क को आवश्यक ऊर्जा प्रदान करते हैं जो दौरे से पीड़ित व्यक्तियों के लिए बहुत उपयोगी हो सकती है (6)।

4. मधुमेह में लाभदायक

नारियल तेल खाने के फायदे में मधुमेह संबंधित फायदा भी शामिल है। इसके प्रयोग से मधुमेह संबंधित समस्याओं से राहत मिल सकती है (7)। रिपोर्ट के अनुसार कहा गया है कि नारियल तेल का प्रयोग टाइप -2 डायबिटीज को कण्ट्रोल करने में ज्यादा प्रभावी देखा गया है (7)।

नारियल तेल के प्रयोग से कोलेस्ट्रॉल में कमी, और उच्च रक्तचाप के कम होने जैसे सकरात्मक प्रभाव प्राप्त किए जा सकते हैं। एक शोध के मुताबिक यह कहा गया है कि उच्च रक्तचाप को कम करके टाइप- 2 डायबिटीज के खतरे को काम किया जा सकता है (8)।

[ पढ़े: मधुमेह (डायबिटीज, शुगर) के लक्षण, इलाज और घरेलू उपचार ]

5 . ह्रदय स्वास्थ्य के लिए कारगर

अन्य खूबियों के साथ-साथ नारियल तेल के सेवन से हृदय को स्वस्थ रखा सकता है। हृदय रोग में खराब आहार एक प्रमुख कारण है जिसकी वजह से लोग इसकी चपेट में आ जाते हैं। अच्छे आहार में पॉली अनसैचुरेटेड फैटी एसिड जैसे कि नारियल तेल को शामिल करने से हृदय रोगों का खतरा कई गुना तक कम हो जाता है (9)। इस प्रकार नारियल तेल खाने के फायदे में आप इसे भी शामिल कर सकते हैं।

6. अल्जाइमर से बचाव

अल्जाइमर में रोगी की याददाश्त धीरे-धीरे कमजोर होने लगती है। आपको जानकार आश्चर्य होगा कि नारियल तेल के प्रयोग से अल्जाइमर का इलाज किया जा सकता है। नारियल तेल को सैचुरेटेड फैट का मुख्य स्रोत माना गया हे। इसके प्रयोग से शरीर में कीटोन की मात्रा बढ़ती है, जो स्वस्थ मस्तिष्क के लिए जरूरी है। कीटाेन एक प्रकार का उच्च ऊर्जा वाला फ्यूल है, जो मस्तिष्क को पोषित करता है (10)।

7. प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाना

किसी भी स्वस्थ शरीर के पीछे सबसे बड़ा राज उस शरीर की प्रतिरोधक क्षमता पर निर्भर करता है, क्योंकि प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होने से हम अक्सर बीमारियों से बचे रहते हैं। नारियल तेल में भी ऐसे गुण पाए जाते हैं, जिसकी वजह से शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली और भी मजबूत हो सकती है। नारियल तेल में कैप्रिक एसिड, लॉरिक एसिड, कैप्रीलिक एसिड पाया जाता है। ये एसिड मजबूत वायरल प्रतिरोधी होते हैं, जो हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली में सुधार करने में मदद करते हैं (11)।

8. दांतों को स्वस्थ रखने के लिए

Coconut oil To keep teeth healthy in hindi Pinit

Shutterstock

आज हर कोई अपने दांतों को स्वस्थ रखना चाहता है और इसके लिए लोग कई प्रकार के केमिकल से बने माउथवाश का भी इस्तेमाल करते हैं, जबकि नारियल तेल के इस्तेमाल से हम अपने दांतों को स्वस्थ रख सकते हैं (11)। चलिए जानते हैं कि कैसे हम अपने दांतों को नारियल तेल का इस्तेमाल करके बेहतर बना सकते हैं।

नारियल तेल को हम माउथवॉश के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए आप नारियल तेल में बेकिंग सोडा और पीपरमिंट की कुछ बूंदों को मिक्स करके टूथपेस्ट की जगह इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे दांत सफेद रहेंगे और मुंह से बदबू भी नहीं आएगी।

9. हड्डियों को स्वस्थ रखने के लिए

हड्डियों के स्वस्थ रखने और उनकी मजबूती के लिए विटामिन-डी जरूरी होता है, लेकिन हड्डियों को स्वस्थ रखने के लिए हम नारियल तेल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। नारियल तेल में इसके फिनोलिक भाग के कारण एंटीऑक्सीडेंट्स की मात्रा ज्यादा होती है। चूहों पर किए गए एक अध्ययन में देखा गया कि नारियल तेल के प्रयोग से ऑस्टियोपोरोसिस से ग्रस्त चूहे में एंटीऑक्सीडेंट एंजाइम की मात्रा बढ़ गई (12)। यही वजह है कि नारियल तेल को हड्डियों को स्वस्थ रखने के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।

10. गठिया में सहायक

नारियल तेल को गठिया में भी इस्तेमाल किया जा सकता है, क्योंकि नारियल तेल में एंटीऑक्सीडेंट और एंटीइंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। चूहों पर किए गए प्रयोग से भी पुष्टि की गई है कि गठिया का इलाज करने में नारियल तेल कारगर हो सकता है (13)।

11. किडनी के लिए नारियल तेल के फायदे

नारियल तेल किडनी के लिए भी फायदेमंद माना जाता है। एक वैज्ञानिक अध्ययन में पुष्टि की गई है कि नारियल तेल के प्रयोग से न सिर्फ उच्च रक्तचाप को नियंत्रित किया जा सकता है, बल्कि किडनी में आ रही समस्याओं को भी ठीक किया जा सकता है (14)।

12. भूख को नियंत्रित करने में सहायक

Coconut oil to Assist in controlling hunger in hindi Pinit

iStock

आज हर कोई चाहता है कि वह वजन कम करे और फिट दिखे। इसके लिए लोग अच्छी डाइट को भी अपनाने की कोशिश करते हैं। इसके लिए आप नारियल तेल का प्रयोग कर सकते हैं। नारियल तेल के सेवन से भूख को नियंत्रित किया जा सकता है। एक वैज्ञानिक अध्ययन के अनुसार, अगर आप प्रतिदिन नाश्ते में स्मूदी के अंदर नारियल तेल का प्रयोग करते हैं, तो भूख को नियंत्रित कर सकते हैं और वजन को कम कर सकते हैं (15)।

13 . फंगल संक्रमण से बचाव

फंगल संक्रमण का सामना भी नारियल तेल से किया जा सकता है। यह फंगल संक्रमण से बचाने में हमारी त्वचा की मदद कर सकता है। एक अध्ययन के अनुसार, कैंडिडा (एक प्रकार का फंगस) संक्रमण किसी को भी हो सकता है। इससे बचने के लिए नारियल तेल का उपयोग किया जाना चाहिए, क्योंकि नारियल तेल में एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जो फंगल संक्रमण से हमारी त्वचा की रक्षा करते हैं (16)।

14 . वायरल संक्रमण से बचाव

अगर आप नारियल तेल का उपयोग करते हैं, तो वायरल संक्रमण से होने वाली कई बीमारियों से बच सकते हैं। ऐसा इसलिए है, क्योंकि नारियल तेल में वायरल संक्रमण से बचाव हेतु एंटीमाइक्रोबियल गुण पाए जाते हैं। एंटीमाइक्रोबियल गुण पाए जाने के कारण ही नारियल तेल संक्रमण वाली बीमारियों से बचाने में मददगार साबित हो सकता है। एक शोध के आधार पर यह देखा गया कि नारियल तेल के इस्तेमाल से बैक्टीरियल झिल्ली में प्रभावकारी परिवर्तन हुआ, जो रोगाणुरोधी गुणों को दर्शाता है (17)।

15 . थायराइड में लाभदायक

Coconut oil in thyroid in hindi Pinit

iStock

थायराइड एक ऐसी बीमारी है, जिसमें गले के निचले हिस्से में सूजन आ जाती है। नारियल तेल का उपयोग करके हम इसमें राहत पा सकते हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार, नारियल तेल का उपयोग थायराइड में किया जा सकता है (18)।

[ पढ़े: थायराइड के कारण, लक्षण, इलाज और घरेलू उपचार ]

16. ऊर्जा स्रोत के रूप में नारियल तेल का उपयोग

नारियल तेल का उपयोग शरीर को ऊर्जा प्रदान करने में भी किया जा सकता है, क्योंकि नारियल तेल में पाई जाने वाली खूबियां इसे त्वरित ऊर्जा के योग्य बनाती हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार, प्रति 100 ग्राम नारियल तेल में 892 कैलोरी ऊर्जा पाई जाती है (19)।

17. स्वस्थ खाने के रूप में

नारियल में विटामिन-ई, ओलिक एसिड, लिनोलिक एसिड, लॉरिक एसिड, मिरिस्टिक एसिड, कैप्रिक एसिड व कैप्रेटिक एसिड जैसे गुणकारी पोषक तत्व पाए जाते हैं। ये सभी मिलकर रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। इस कारण से नारियल तेल को संपूर्ण भोजन की श्रेणी में रखा जा सकता है (11)।

सौंदर्य के लिए नारियल तेल के फायदे – Beauty Benefits of Coconut Oil (Nariyal Tel) in Hindi

Beauty Benefits of Coconut Oil Pinit

iStock

अभी तक हमने पढ़ा कि नारियल तेल का इस्तेमाल स्वास्थ्य के लिए किया जा सकता है। अब हम आपको बताएंगे कि कैसे नारियल तेल का इस्तेमाल सौंदर्य के लिए भी किया जा सकता है। चलिए जानते हैं कि सौंदर्य के लिए नारियल तेल का इस्तेमाल कैसे किया जा सकता है।

1. लिप बाम के रूप में नारियल तेल का प्रयोग

होठों के लिए भी नारियल तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है(20)। एक अध्ययन के अनुसार, नारियल तेल में एसपीएफ के गुण पाए जाते हैं, जो धूप से हमारे होठों की रक्षा करते हैं(20)।

प्रयोग का तरीका 1 बड़ा चम्मच नारियल तेल, 1 बड़ा चम्मच जोजोबा तेल, 1 बड़ा चम्मच जैतून का तेल, 1 बड़ा चम्मच अरंडी का तेल,1 बड़ा चम्मच अंगूर का तेल, 1 चम्मच कोकोआ बटर व आधा चम्मच कसी हुई मोम (1 बड़ा चम्मच अगर आप लिप बाम ट्यूब कंटेनर का उपयोग करना चाहते हैं) को आपस में मिला लें। इसके बाद आप इसे लिप बाम के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं।

2. सनस्क्रीन के रूप में नारियल तेल का उपयोग

सूर्य की हानिकारक पराबैंगनी किरणों से बचने के लिए लोग तरह-तरह की क्रीम का इस्तेमाल करते हैं। कुछ सनस्क्रीन के साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। ऐसे में आप नारियल तेल पर भरोसा कर सकते हैं।

प्रयोग का तरीका अगर आपकी त्वचा पहले रूखी है, तो आप प्रभावित जगह पर नारियल तेल से मालिश कर सकते हैं। एक अध्य्यन के अनुसार, नारियल तेल को प्रयोग करने से त्वचा के लिपिड स्तर में बढ़ोत्तरी तो होती ही है, साथ ही इससे त्वचा को मॉइस्चराइजर मिलता है (21)। यह सूर्य की हानिकारक किरणों से प्रभावित त्वचा को जल्द ठीक करता है (22)। आजकल तो कई सनस्क्रीन में भी नारियल का इस्तेमाल किया जा रहा है (23)।

3. आंखों के नीचे की क्रीम के रूप में

क्या आपने कभी नारियल तेल को आंखों के नीचे की क्रीम के रूप में इस्तेमाल किया है ? एक अध्य्यन के अनुसार, आँखों के नीचे की त्वचा कोमल और मुलायम होती है, और नारियल तेल का इस्तेमाल आंखों के नीचे की क्रीम के रूप में करने से आंखों के नीचे के काले घेरे और और रेखाओं को हटाया जा सकता है।

4. बालों के लिए

Coconut oil For hair in hindi Pinit

Shutterstock

बालों की सुरक्षा के लिए बहुत से लोग चिंतित रहते हैं कि कौन सा सही तेल इस्तेमाल कर वह अपने बालों की सभी समस्याओं से बच सकते हैं। नारियल तेल को बालों की खूबसूरती और मजबूती के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है (24)।

प्रयोग का तरीका : बालों को खूबसूरत बनाने के लिए नारियल तेल को बालों को शैम्पू से धोने के तुरंत बाद गीले बालों में ही लगा लें और बालों को जूड़े के सहारे से बांध लें।

इसे तकरीबन 5 मिनट तक लगा रहने दें। फिर इसे साफ पानी से धो लें और आपको चमचमाते हुए बाल देखने को मिल सकते हैं। एक अन्य शोध के अनुसार नारियल तेल का प्रयोग बालों को होने वाले नुकसान से बचाता है (25)।

5. मेकअप साफ करने के लिए

आजकल हर कोई मेकअप का सहारा ले रहा है, लेकिन उसे हटाने में काफी मशक्कत करनी पड़ती है। ऐसे में आप नारियल तेल का इस्तेमाल करके मेकअप को साफ कर सकते हैं (11)।

इसके साथ साथ मेकप के लिए इस्तेमाल होने वाले ब्रश को भी साफ करने के लिए नारियल तेल का उपयोग किया जा सकता है। मेकप के ब्रश को साफ करने के लिए नारियल तेल को ब्रश में लगाकर उसे पांच मिनट तक छोड़ दें उसके बाद उसे सूती कपड़े से साफ कर सकते हैं (11)।

प्रयोग का तरीका : हल्के नारियल तेल को लें और उसे कोई मुलायम कपड़े में लगा लें और अब हल्के हाथों से अपनी त्वचा पर इसकी मालिश करें और जब मेकअप पिघलने लगे तो उसे साफ कर लें।

आइए, अब नारियल तेल में मौजूद पोषक तत्वों के बारे में जान लेते हैं।

नारियल तेल के पौष्टिक तत्व – Coconut Oil (Nariyal Tel) Nutritional Value in Hindi

Coconut Oil Nariyal Tel Nutritional Value in Hindi Pinit

Shutterstock

हम नीचे एक टेबल दे रहे हैं, जिसके जरिए आप समझ सकते हैं कि नारियल तेल में कौन-कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं और उसकी मात्रा कितनी होती है (19)।

पौष्टिक तत्वमात्रा प्रति 100 ग्राम
जल0.03g
ऊर्जा892kcal
प्रोटीन0.00g
कुल फैट99.06g
कार्बोहाइड्रेट0.00g
फाइबर0.0g
शुगर0.00g
मिनरल्स
कैल्शियम1mg
आयरन0.05mg
मैग्नीशियम0mg
फास्फोरस0mg
पोटैशियम0mg
सोडियम0mg
जिंक0.02mg
विटामिन्स
विटामिन्स सी , कुल एस्कॉर्बिक अम्ल0.0mg
थायमिन0.000mg
रिबोफ्लेविन0.000mg
नायसिन0.000mg
विटामिन बी-60.000mg
फोलेट, डीएफई0μg
विटामिन बी-120.00μg
विटामिन ए, आरएई0μg
विटामिन ए, आईयू0IU
विटामिन ई (अल्फा टोकोफेरोल)0.11mg
विटामिन डी

(डी2+डी3)

0.0μg

 

विटामिन डी0IU
विटामिन के (फिलोकिनोन)0.6μg
लिपिड्स
फैटी एसिड्स, टोटल सैचुरेटेड82.475g
फैटी एसिड्स, टोटल मोनोअनसैचुरेटेड6.332g
फैटी एसिड्स, टोटल पॉलीअनसैचुरेटेड1.702g
फैटी एसिड्स, टोटल ट्रांस0.028g
कोलेस्ट्रॉल0g
अन्य
कैफीन0g

अभी आपने नारियल तेल में मौजूद पोषक तत्वों के बारे में पढ़ा, अब हम नारियल तेल के विभिन्न प्रकारों के बारे में बात करेंगे।

नारियल तेल के प्रकार – Types of Coconut Oil in Hindi

Types of Coconut Oil in Hindi Pinit

Shutterstock

अभी आपने ऊपर नारियल तेल के पोषक तत्वों के बारे में पढ़ा। अब आप यह जानना चाह रहे होंगे कि आखिर नारियल तेल कितने प्रकार के होते हैं, ताकि आप नारियल तेल का उपयोग सावधानीपूर्वक कर सकें। चलिए, आपको बताते हैं नारियल तेल के प्रकार के बारे में :

1. ऑर्गेनिक नारियल का तेल

इस तेल का निर्माण सीधा पेड़ से तोड़े गए नारियल से किया जाता है। इस तरह के पेड़ों को विकसित करने के लिए रासायनिक खाद का इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे पेड़ों से बनने वाले तेल से त्वचा को हानि हो सकती है। इसलिए, यह इस्तेमाल करने से पहले यूएसडीयू का आर्गेनिक लोगो जरूर देख लें।

2. नॉन आर्गेनिक नारियल का तेल

इसके उत्पादन में किसी भी प्रकार के रासायनिक खाद का इस्तेमाल न किया गया जाता। इसमें रसायनिक की जगह प्राकृतिक खाद का इस्तेमाल किया जाता है। इस तरह के नारियल तेल में पोषक तत्वों में कोई कमी नहीं होती।

3. रिफाइंड नारियल का तेल

इसका निर्माण सूखे नारियल से किया जाता है। इसे ब्लीच किया जाता है और ऐसी प्रक्रिया से गुजारा जाता है, जिससे इसमें बैक्टीरिया न के बराबर रह जाएं। इसे आकर्षक बनाने के लिए इसमें थोड़ा सफेद रंग का इस्तेमाल भी किया जा सकता है। इसमें प्राकृतिक सुगंध व स्वाद बना रहता है।

4. अनरिफाइंड नारियल का तेल

आमतौर पर अनरिफाइंड नारियल का तेल ही सबसे ज्यादा प्रयोग होता है, क्योंकि यह पूरी तरह से शुद्ध व ताजे नारियल के फल से तैयार किया जाता है। इसमें बिना किसी मिलावट के नारियल तेल का प्राकृतिक रंग दिखाई पड़ता है। अनरिफाइंड नारियल तेल बनाने के लिए जिन नारियलों को चुना जाता है, उनसे 1-2 दिन के भीतर ही नारियल तेल को तैयार कर लिया जाता है। इसे वर्जिन कोकोनट ऑयल भी कहा जाता है।

किस प्रकार का नारियल तेल करें इस्तेमाल

नारियल तेल के प्रकार जानने के बाद अब आपको यह जिज्ञासा हो रही होगी कि आखिर किस प्रकार के नारियल तेल का इस्तेमाल करना फायदेमंद हो सकता है और किस प्रकार के नारियल तेल का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए।

एक अध्ययन के अनुसार अनरिफाइंड नारियल का तेल अन्य नारियल तेल के प्रकार की अपेक्षा सबसे अच्छा माना जा सकता है। सेहत से लेकर सौंदर्य तक हर जगह अनरिफाइंड नारियल का तेल (वर्जिन कोकोनट ऑयल) का प्रयोग किया जाता है। कभी-कभी खाने के लिए रिफाइंड नारियल का तेल भी इस्तेमाल किया जा सकता है, क्योंकि रिफाइंड नारियल तेल, अनरिफाइंड नारियल के तेल के मुकाबले कम तापमान पर जल्दी गर्म हो जाता है (26)।

नारियल तेल का उपयोग – How to Use Coconut Oil in Hindi

How to Use Coconut Oil in Hindi Pinit

iStock

नारियल तेल का उपयोग पिछले कुछ सालों में बड़ी तेजी से बढ़ा हुआ देखा जा सकता है। वहीं नारियल तेल का उपयोग सबसे ज्यादा दक्षिण भारत के व्यंजनों और पकवानों को बनाने में किया जाता है। यहांं हम बता रहे हैं कि नारियल तेल का इस्तेमाल किस-किस तरह से किया जा सकता है।

  • खाने में प्रयोग करने के लिए फिल्टर नारियल तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं, क्योंकि उच्च तापमान पर पकने लिए यह सुरक्षित है।
  • आप अपनी पसंदीदा सब्जियों को भी नारियल तेल में भून सकते हैं। इसके लिए आपको कुछ बड़े चम्मच नारियल तेल की जरूरत पड़ेगी और आप आसानी से अपनी सब्जियों को भून सकते हैं।
  • स्मूदी भला किसे नहीं पसंद है, खासकर जब वह नारियल तेल से बनी हुई हो तो। इसके लिए हल्का नारियल तेल लें और धीरे धीरे इसे स्मूदी के मिश्रण में मिलने दें, फिर स्वादिष्ट व्यंजनों के साथ इसका आनंद उठाएं।
  • चाय या कॉफी में मलाईदार मिश्रण पाने के लिए ⅔ बड़े चम्मच नारियल तेल को चाय/कॉफी में अच्छी तरह से फेंट लें उसके बाद आप इसका आनंद उठा सकते हैं।
  • नारियल तेल को तेल सोखने के लिए भी प्रयोग कर सकते हैं। एक अध्ययन के अनुसार यह देखा गया कि नारियल तेल, तेल सोखने के लिए प्रभावी रूप से काम कर सकता है (27)।
  • रोजमर्रा के कामकाज में नारियल तेल का उपयोग किया जा सकता है। नारियल तेल को बालों के लिए उपयोग कर सकते हैं, जिससे बाल में डैंड्रफ नहीं होगा और रूखापन भी खत्म हो जाता है। यहां तक कि डिटर्जेंट के रूप में भी नारियल तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है (11)।

नारियल तेल की मात्रा – आहार में नारियल तेल का उपयोग करने के लिए यह जानना भी जरूरी है कि नारियल तेल की कितनी मात्रा आपके सेहत के लिए लाभदायक हो सकती है। नारियल तेल को प्रतिदिन 3 चम्मच से ज्यादा इस्तेमाल न करें।

नोट – अगर आपको नारियल तेल इस्तेमाल करने से कोई परेशानी महसूस होती है, तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लें। अगर डॉक्टर कहे, तो ही इसका सेवन करें।

नारियल तेल को लेकर कुछ गलत धारणाएं भी हैं, जिनकी सत्यता जानना जरूरी है।

नारियल तेल के बारे में गलत धारणाएं – Misconceptions About Coconut Oil in Hindi

नारियल तेल के बारे में कई गलत धारणाएं प्रचलित हैं। कहा जाता है कि नारियल तेल में सैचुरेटेड फैट पाया जाता है, जो हृदय के लिए हानिकारक होता है, लेकिन यह गलत है। एक रिपोर्ट में इस बात का दावा भी किया जा चुका है कि नारियल तेल में मौजूद सैचुरेटेड फैट हृदय रोगों के लिए लाभकारी होता है (9)।

कहा जाता है कि सेहत के लिए रिफाइंड नारियल तेल के मुकाबले अनरिफाइंड नारियल तेल ज्यादा अच्छा होता है, लेकिन ऐसा नहीं है, क्योंकि सभी प्रकार के नारियल तेल में मीडियम चेन फैटी एसिड्स पाए जाते हैं, जो सेहत के लिए फायदेमंद हो सकते हैं (28)।

नारियल तेल के बारे में गलत धारणाओं से परिचित होने के बाद आइए अब नारियल तेल के नुकसान के बारे में जानते हैं।

नारियल तेल के नुकसान – Side Effects of Coconut Oil (Nariyal Tel) in Hindi

Side Effects of Coconut Oil Pinit

iStock

नारियल तेल के जितने फायदे हैं, उस हिसाब से अगर उसका गलत मात्रा में उपयोग किया जाए, तो इससे नुकसान भी हो सकता है।

  • नारियल तेल में सैचुरेटेड फैट की मात्रा ज्यादा होती है और अगर इसका सेवन ज्यादा मात्रा में किया गया, तो यह नुकसान भी पंहुचा सकता है, क्योंकि नारियल तेल में मौजूद सैचुरेटेड फैट की अधिक मात्रा शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को बढ़ा सकती है जो हृदय रोगों के लिए हानिकारक हो सकते हैं। (29)।
  • अगर आपकी त्वचा नारियल तेल के प्रति संवेदनशील है, तो इसका प्रयोग आपकी त्वचा में एलर्जी भी बढ़ा सकता है। ऐसी स्थिति में डॉक्टर की सलाह के बिना नारियल तेल का इस्तेमाल न करें।
  • हाइड्रोजनेटेड नारियल तेल से (अनसैचुरेटेड फैटी एसिड का छोटा भाग) से दूर रहना चाहिए, क्योंकि यह हानिकारक हो सकता है, क्योंकि अनसैचुरेटेड फैटी एसिड पॉलीअनसैचुरेटेड फैट वसा को बढ़ाने के रूप में रक्त कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में दोगुना प्रभावी है(30)।

इस लेख के जरिए आपको नारियल तेल से होने वाले फायदे, इसका प्रयोग, नारियल तेल के नुकसान आदि तथ्यों के बारे में पता चल गया होगा। आप यहां बताई गई किसी भी समस्या के लिए नारियल तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर इसे इस्तेमाल करने से आपको कोई परेशानी होती है, तो आप तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। उम्मीद है कि नारियल तेल से जुड़ा यह लेख आपको पसंद आया होगा। आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स के जरिए अपने सुझाव हम तक पहुंचा सकते हैं।

और पढ़े:

The following two tabs change content below.

Somendra Singh

सोमेंद्र ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से 2019 में बी.वोक इन मीडिया स्टडीज की है। पढ़ाई के दौरान ही इन्होंने पढ़ाई से अतिरिक्त समय बचाकर काम करना शुरू कर दिया था। इस दौरान सोमेंद्र ने 5 वेबसाइट पर समाचार लेखन से लेकर इन्हें पब्लिश करने का काम भी किया। यह मुख्य रूप से राजनीति, मनोरंजन और लाइफस्टइल पर लिखना पसंद करते हैं। सोमेंद्र को फोटोग्राफी का भी शौक है और इन्होंने इस क्षेत्र में कई पुरस्कार भी जीते हैं। सोमेंद्र को वीडियो एडिटिंग की भी अच्छी जानकारी है। इन्हें एक्शन और डिटेक्टिव टाइप की फिल्में देखना और घूमना पसंद है।

संबंधित आलेख