क्या नाभि में नारियल तेल लगाना फायदेमंद है?

Written by , (शिक्षा- बैचलर ऑफ जर्नलिज्म एंड मीडिया कम्युनिकेशन)

नारियल तेल के फायदे से लगभग हर कोई परिचित होगा। स्वास्थ्य से लेकर बालों तक के लिए नारियल तेल के लाभ देखे जा सकते हैं। पोषक तत्वों से भरपूर नारियल तेल का सेवन और बाहरी उपयोग दोनों किया जाता रहा है। वहीं, बाहरी उपयोग के तौर पर नाभि में नारियल तेल लगाए जाने की बात भी सामने आयी है। दरअसल, नाभि में तेल लगाने की प्रक्रिया सालों से चलती आ रही है। तो इसी बात को ध्यान में रखते हुए हम नारियल तेल के गुणों के आधार पर नाभि में नारियल तेल लगाने के फायदे से जुड़ी जानकारी दे रहे हैं। नाभि में नारियल तेल लगाने के लाभ और उपयोग के तरीके के लिए लेख पूरा पढ़ें।

लेख विस्तार से पढ़ें

लेख में सबसे पहले जानते हैं, नाभि में नारियल तेल लगाने के फायदे से जुड़ी जानकारियों के बारे में।

लोकमान्यताओं के आधार पर नाभि में नारियल तेल लगाने के फायदे – Benefits of Applying Coconut Oil in Belly Button in Hindi

आयुर्वेद में नाभि को शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग माना है (1)। वहीं, माना जाता है कि मनुष्य की नाभि यह पता लगा सकती है कि शरीर का कौनसा नस सूख गया है और ऐसे में नाभि में तेल लगाने से यह तेल उन नसों तक पहुंचकर सेहत के लिए उपयोगी हो सकता है(2)। ऐसे में लोकमान्यताओं के अनुसार और नारियल तेल में मौजूद गुणों के आधार पर नाभि में नारियल तेल लगाने के फायदे की जानकारी साझा कर रहे हैं। तो नाभि में नारियल तेल लगाने के फायदे कुछ इस प्रकार हैं:

1. फटे होठों के लिए

बदलते मौसम की मार त्वचा पर भी पड़ती है। कई बार मौसम में यही बदलावफटे होठों की समस्या का कारण बन जाता है(3)। ऐसे में होठों को फटने से बचाने के लिए नारियल तेल का उपयोग लाभकारी हो सकता है(2)। दरअसल, नारियल तेल में मॉइस्चराइजिंग गुण होता है, जो त्वचा को नमी प्रदान कर सकता है (4)। यहां तक कि बाजार में उपलब्ध कई तरह के लिप बाम में भी नारियल तेल का उपयोग किया जाता रहा है (5)। ऐसे में जब शरीर के महत्वपूर्ण अंगों में से एक नाभि में नारियल तेल लगाएंगे, तो हो सकता है इसके गुणों को शरीर अवशोषित कर सके और इसके फायदे महसूस हो(2)।

2. रोग प्रतिरोधक क्षमता

नारियल तेलशरीर की इम्युनिटी पावर बढ़ाने में भी सहायक हो सकता है। एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की वेबसाइट पर प्रकाशित शोध के अनुसार नारियल तेल में मौजूद फैटी एसिड और मोनोग्लाइसराइड एंटीबायोटिक की तरह काम करने के साथ-साथ रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बेहतर कर सकता है(6)। ऐसे में कह सकते हैं कि नाभि, जो कि शरीर का केंद्रीय बिंदु माना जाता है। उसमें नारियल तेल लगाने से इम्यून पावर बेहतर हो सकती है।

3. पेट दर्द के लिए

पेट की मालिश को कब्ज की समस्या और पेट दर्द के लिए उपयोगी पाया गया है (7)। वहीं, नारियल तेल में दर्दनिवारक गुण मौजूद होता है(8)। ऐसे में हल्के-फुल्के पेट दर्द में नारियल तेल की हल्की मालिश और नाभि में नारियल तेल लगाने से कुछ हद तक राहत मिल सकती है। हालांकि, हम स्पष्ट कर दें किपेट दर्द की गंभीर स्थिति में मेडिकल ट्रीटमेंट को ही प्राथमिकता दें।

4. आंखों के लिए

नाभि में नारियल तेल लगाना आंखों के लिए भी उपयोगी हो सकता है(2)। दरअसल, नारियल तेल को आंखों को स्वस्थ रखने के लिए उपयोगी माना गया है। इसका एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण ड्राई आई की समस्या के लिए प्रभावकारी हो सकता है (9)। साथ ही हमने लेख की शुरुआत में ही जानकारी दी थी की नाभि शरीर के सूखे हुए नसों का पता कर उन तक तेल पहुंचा सकती है।

दरअसल, माना जाता है कि नाभि में तेल लगाने से आंखों की रोशनी में और आंखों के स्वास्थ्य में सुधार हो सकता है(2)। इस आधार पर मान सकते हैं कि नारियल तेल के इस गुण का असर नाभि के जरिए शरीर में अवशोषित हो सकता है, जिससे आंखें स्वस्थ हो सकती हैं।

5. एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण

नारियल तेल के स्वास्थ्य लाभ कई सारे हैं और ऐसा इसमें मौजूद गुणों के कारण है। नारियल तेल में कई सारे गुण मौजूद हैं और उन्हीं गुणों में एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण भी शामिल हैं (10)। ऐसे में माना जा सकता है कि नाभि में नारियल तेल लगाने से शरीर में इसका एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल प्रभाव भी अवशोषित हो सकता है। वहीं, हो सकता है कि इन्हीं गुणों के कारण बैक्टीरियल और फंगल संक्रमण के जोखिम कम हो सकते हैं।

6. त्वचा के लिए

त्वचा के लिए नारियल तेल के फायदे कई हैं। नारियल तेल में त्वचा को राहत प्रदान करने वाला गुण मौजूद होता है। यह  अटॉपिक डर्मेटाइटिस (खुजली),रूखी त्वचा (Xerosis) जैसे समस्याओं के लिए उपयोगी माना गया है(11)। इसमें मॉइस्चराइजिंग गुण मौजूद होता है, जो त्वचा को कोमल मुलायम बनाने में सहायक हो सकता है।

साथ ही यह क्लींजर की तरह भी काम कर त्वचा की मृत कोशिकाओं और त्वचा में छीपी अशुद्धियों को भी निकाल सकता है (12)। ऐसे में नारियल तेल के गुणों को त्वचा में अवशोषित करने के लिए इसे नाभि में लगाना भी उपयोगी हो सकता है। इतना ही नहीं, नाभि में नारियल तेल लगाने से त्वचा पर निखार आ सकता है और त्वचा ग्लोइंग दिख सकती है(2)।

आगे पढ़ें

अब जानते हैं नाभि में नारियल लगाने की विधि के बारे में।

नाभि में तेल कैसे लगाएं? – How to apply oil in belly button in hindi

बता दें कि आयुर्वेद में नाभि में लगाने की इस विधि को पेचोटि (Pechoti) कहा जाता है। ऐसे में नाभि में नारियल तेल लगाने के फायदे के लिए इसे लगाने की प्रक्रिया भी सही होनी चाहिए। तो नीचे हम नाभि में नारियल तेल लगाने की विधि साझा कर रहे हैं, जो कुछ इस प्रकार है:

सामग्री 

  • एक चम्मच नारियल तेल
  • एक रूई की बॉल

उपयोग का तरीका 

  • नारियल तेल में रूई को भिगोएं।
  • अब इस भीगे हुए रूई को नाभि पर रखें।

नोट : चाहें तो इस विधि के लिए किसी आयुर्वेदिक स्पा या सेंटर में जाकर विशेषज्ञ की देखरेख में इस विधि को ट्राई कर सकते हैं।

आगे है और जानकारी

अब जानते हैं, नाभि में नारियल तेल लगाते वक्त कुछ ध्यान देने वाली बातें।

नाभि में नारियल का तेल लगाते समय बरती जाने वाली सावधानियां – Precautions to be taken while applying Coconut Oil in belly button in Hindi

नाभि शरीर के संवेदनशील अंगों में से एक है। ऐसे में नाभि में नारियल तेल लगाते वक्त कुछ सावधानियों का ध्यान रखना भी जरूरी है। तो नाभि में तेल लगाते वक्त नीचे बताई गई बातों का ध्यान रखें, जो कुछ इस प्रकार हैं:

  • नाभि में गर्म नारियल तेल का उपयोग न करें।
  • अगर किसी को कुछ स्वास्थ्य समस्या है या कोई खास प्रकार की दवा का सेवन कर रहा हो तो नाभि में नारियल तेल लगाने से पहले डॉक्टरी सलाह लें।
  • नाभि में तेल लगाते वक्त जोर न लगाएं।
  • हमेशा साफ रूई और नारियल तेल का ही उपयोग करें।
  • अगर पहली बार यह प्रक्रिया कर रहे हैं और मन में किसी प्रकार का संशय हो तो बेहतर है एक बार एक्सपर्ट से इस बारे में बात करें।
  • नारियल में कोई अन्य तेल या अन्य सामग्री न मिलाएं।

तो ये थे नाभि में नारियल तेल लगाने के फायदे से जुड़ी कुछ जानकारियां। हालांकि, नाभि में नारियल तेल लगाने से जुड़े शोध की आवश्यकता है, लेकिन यह एक सुरक्षित विधि है। ऐसे में हल्की-फुल्की स्वास्थ्य समस्याओं के लक्षणों को कम करने के लिए नाभि में नारियल तेल लगाने की विधि को अपनाया जा सकता है। तो अगर ड्राई स्किन, सर्दी-जुकाम या अन्य कोई सामान्य स्वास्थ्य समस्या है तो ट्राई करें नाभि में नारियल तेल लगाने की इस विधि को। इस लेख को अन्य लोगों के साथ साझा करें और सभी को पेचोटि के बारे में जानकारी दें।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या नाभि में नारियल का तेल लगाना सुरक्षित है?

नारियल तेल स्वास्थ्य और त्वचा दोनों के लिए लाभकारी है(2)। ऐसे में स्वस्थ व्यक्ति नारियल तेल की कुछ बूंद नाभि पर लगा सकता है। हालांकि, इससे जुड़ा कोई वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है और यह लोगों के मान्यताओं और उपयोग के आधार पर है। ध्यान रहे नाभि में लगाने वाला नारियल तेल साफ व ठंडा हो।

नाभि में नारियल का तेल कब लगाना चाहिए?

नाभि में नारियल तेल लगाने का कोई निर्धारित समय नहीं है। इसे कभी भी लगाया जा सकता है। चाहें तो नहाने के कुछ घंटे पहले या सोने से पहले भी नाभि में नारियल तेल लगा सकते हैं(2)।

संदर्भ

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Concept of Nabhi – A Review Study
    https://www.researchgate.net/publication/319864605_Concept_of_Nabhi_-_A_Review_Study
  2. Our belly button (NABHI ) is an amazing gift
    https://www.drtotaldetox.com/our-belly-button-nabhi-is-an-amazing-gift/
  3. Chapped lips
    https://medlineplus.gov/ency/imagepages/9172.htm
  4. Physico-Chemical and Pharmacological Prospective of Roghan-e-Narjeel (Coconut Oil)
    http://www.ijpsr.info/docs/IJPSR15-06-10-001.pdf
  5. The Study on the Development and Processing Transfer of Lip Balm Products from Virgin Coconut Oil: A Case Study
    http://papers.iafor.org/wp-content/uploads/papers/acsee2016/ACSEE2016_27431.pdf
  6. Coconut Oil and Immunity: What do we really know about it so far?
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/32602684/
  7. Effects of abdominal massage in management of constipation–a randomized controlled trial
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/19217105/
  8. Anti-inflammatory analgesic and antipyretic activities of virgin coconut oil
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/20645831/
  9. A Pilot Study: The Efficacy of Virgin Coconut Oil as Ocular Rewetting Agent on Rabbit Eyes
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4352907/
  10. Coconut Oil and Virgin Coconut Oil: An Insight into its Oral and Overall Health Benefits
    https://www.jcdr.net/articles/PDF/11051/31409_190118_31409_CE(Ra1)_F_(AnG)_PF1(BHV_AnG)_PFA(AnG)_PB(MJ_AP)_PN(AP).pdf
  11. In vitro anti-inflammatory and skin protective properties of Virgin coconut oil
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6335493/
  12. Herbal Cosmetics: Used for Skin and Hair
    https://www.researchgate.net/publication/235944029_Herbal_Cosmetics_Used_for_Skin_and_Hair
Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
The following two tabs change content below.
सरल जैन ने श्री रामानन्दाचार्य संस्कृत विश्वविद्यालय, राजस्थान से संस्कृत और जैन दर्शन में बीए और डॉ. सी. वी. रमन... more

ताज़े आलेख