सामग्री और उपयोग

नाशपाती के 25 फायदे और नुकसान – Pears (Nashpati) Benefits and Side Effects in Hindi

by
नाशपाती के 25 फायदे और नुकसान – Pears (Nashpati) Benefits and Side Effects in Hindi Hyderabd040-395603080 November 1, 2019

सेहतमंद रहने के लिए स्वस्थ आहार लेना जरूरी है। इसके लिए डॉक्टर सब्जियों के साथ-साथ फलों का सेवन करने की सलाह भी देते हैं। अगर फलों की बात करें, तो कई पौष्टिक फल बाजार में उपलब्ध हैं। उन्हीं में से एक है नाशपाती। कई लोगों को नाशपाती फल के बारे में पता तो होगा, लेकिन शरीर के लिए इसके फायदे कम लोगों को ही पता होंगे। इसलिए, इस लेख से हम आपको न सिर्फ नाशपाती के प्रकार और नाशपाती के फायदे बताएंगे, बल्कि इसके गुणों के बारे में भी जानकारी देंगे। इतना ही नहीं हम नाशपाती खाने के तरीके और नाशपाती के नुकसान भी आपको बताएंगे। अब देर किस बात की, तैयार हो जाइए नाशपाती खाने के फायदे जानने के लिए।

इससे पहले कि आप नाशपाती के फायदे जानें, आपके लिए यह जानना जरूरी है कि नाशपाती फल क्या है?

नाशपाती क्या है – What is Pears in Hindi

नाशपाती मौसमी फल है, जो कुछ-कुछ हरे सेब की तरह दिखता है। यह फल गर्मियों से बरसात तक के मौसम में मिलता है और इसके कुछ प्रकार साल के बारह महीने उपलब्ध रहते हैं। इसका वैज्ञानिक नाम पायरस (Pyrus) है और इंग्लिश में इसे पियर कहते हैं। अन्य भाषाओं जैसे – हिंदी में नाशपाती, मलयालम में नाशपत्ती, तमिल में पेरिक्के (Perikkay), पंजाबी में नासपाती, बंगाली में नाशपाती कहते हैं। नाशपाती खाने में मीठी होती है, लेकिन कुछ नाशपाती हल्के खट्टी भी हो सकती हैं।

इससे पहले की आप नाशपाती खाने के फायदे जानें, हम आपको नाशपाती के प्रकार की थोड़ी जानकारी दे रहे हैं। वैसे तो नाशपाती के कई प्रकार के होते हैं, लेकिन नीचे हम इसके कुछ मुख्य प्रकारों के नाम आपको बता रहे हैं।

  • ग्रीन ओनजू (Green Anjou)
  • रेड ओनजू (Red Anjou)
  • ग्रीन बार्लेट (Green Bartlett)
  • रेड बार्लेट (Red Bartlett)
  • बॉस्क (Bosc)
  • फॉरेल (Forelle)
  • कोमाइस (Comice)

अब जब नाशपाती फल के बारे में आप इतना कुछ जान ही गए हैं, तो अब बारी आती है नाशपाती के लाभ के बारे में जानने की।

सेहत/स्वास्थ्य के लिए नाशपाती फल के फायदे – Health Benefits of Pears in Hindi

ऐसे तो नाशपाती के फायदे कई हैं, लेकिन हम यहां इसके मुख्य फायदों के बारे में आपको जानकारी दे रहे हैं। शुरुआत करते हैं सेहत या स्वास्थ्य के लिए नाशपाती के गुणों के बारे में जानने की।

1. वजन कम करने के लिए नाशपाती के फायदे

बढ़ता वजन लगभग हर दूसरे व्यक्ति की समस्या बनते जा रहा है। अगर आप भी उन्हीं में से एक हैं, तो नाशपाती आपके काम का फल है। एक वैज्ञानिक अध्ययन में अधिक वजन वाली महिलाओं को 12 हफ्तों तक रोजाना तीन नाशपाती का सेवन कराया गया। परिणामस्वरूप उनके वजन में कमी दर्ज की गई। ऐसे में आप भी नाशपाती को अपने डाइट में शामिल कर बढ़ते वजन की समस्या से राहत पा सकते हैं (1)।

2. कैंसर के लिए नाशपाती फल

कैंसर जैसी घातक बीमारी से बचाव करने के लिए नाशपाती फायदेमंद साबित हो सकती है। नाशपाती में यूरोसोलिक एसिड (Urosolic Acid) मौजूद होता है, जो मूत्राशय (Bladder), फेफड़ों (Lungs) और भोजन-नलिका (Oesophageal) के कैंसर से बचाव करने में मदद कर सकता है। नाशपाती को नियमित रूप से खाने से, खासकर रजोनिवृत्ति के दौरान इसे खाने से महिलाओं में कैंसर का जोखिम कम हो सकता है (2)।

3. दिल के लिए नाशपाती के फायदे

अगर स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं की बात करें, तो दिल की बीमारी बहुत आम हो चुकी है। बदलती जीवनशैली इसका अहम कारण है। ऐसे में अगर दिल को स्वस्थ रखना है, तो नाशपाती को अपने आहार में शामिल करें। यह उच्च रक्तचाप (हृदय रोग का कारण) और दिल के दौरे के खतरे को कम करने में मदद कर सकता है (2)। इसलिए, अपनी डाइट में नाशपाती को जरूर शामिल करें।

4. डायबिटीज के लिए नाशपाती के फायदे

अगर डायबिटीज की बात करें, तो यह सर्दी-जुकाम की तरह आम समस्या बन चुकी है। एक बार अगर किसी को डायबिटीज हो जाए, तो उसे जिंदगी भर सेहत से जुड़ी अन्य समस्याओं को झेलना पड़ सकता है। ऐसे में डायबिटीज से बचाव के लिए नाशपाती का सेवन असरदार हो सकता है। इसमें एंटी-डायबिटिक गुण मौजूद होते हैं, जो डायबिटीज की समस्या से बचाव कर सकते हैं (2)। इसके अलावा, नाशपाती में प्रचुर मात्रा में फाइबर मौजूद होता है, जो डायबिटीज के मरीजों में ब्लड ग्लूकोज की मात्रा को संतुलित रखने में मदद कर सकता है।

5. इम्युनिटी बढ़ाने के लिए नाशपाती के फायदे

स्वस्थ रहने के लिए रोग-प्रतिरोधक क्षमता का मजबूत रहना जरूरी है। ऐसे में इम्युनिटी बढ़ाने के लिए नाशपाती एक अच्छा विकल्प बन सकता है। नाशपाती में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं (2)।

6. ऑस्टियोपोरोसिस (Osteoporosis) से बचाव के लिए नाशपाती के लाभ

बढ़ती उम्र और पोषक तत्वों की कमी हड्डियों की समस्याओं का कारण बनती हैं। ऑस्टियोपोरोसिस उन्हीं समस्याओं में से एक है। यह कैल्शियम की कमी से होने वाली हड्डियों की बीमारी है, जिसमें हड्डियां कमजोर हो जाती हैं। इससे ये आसानी से टूट सकती हैं या कमर-पीठ में दर्द की शिकायत भी हो सकती है। ऐसे में नाशपाती के सेवन से ऑस्टियोपोरोसिस से बचाव हो सकता है। नाशपाती शरीर के पीएच स्तर को संतुलित करने का काम कर सकती है। इसका बोरोन (Boron, एक प्रकार का केमिकल) शरीर में कैल्शियम को बनाने में मदद कर सकता है, जिससे ऑस्टियोपोरोसिस से बचा जा सकता है (2)।

7. एनर्जी बढ़ाने में मददगार नाशपाती फल

सही तरीके से काम करने के लिए शरीर को ऊर्जा की जरूरत होती है। एनर्जी के लिए नाशपाती अच्छा फल है। इसमें मौजूद पौष्टिक तत्व और एनर्जी की मात्रा शरीर को ऊर्जा प्रदान करने में मदद कर सकती है। नाशपाती के जूस को एक एनर्जी ड्रिंक की तरह सेवन किया जा सकता है। इसलिए, जब भी आपको कमजोरी महसूस हो, तो नाशपाती के जूस का सेवन कर ऊर्जा के स्तर को बढ़ा सकते हैं (2)।

8. पाचन के लिए नाशपाती के फायदे

बाहरी और अधिक तेल-मसाले वाले खान-पान के कारण पेट की समस्या आम हो चुकी है। इस स्थिति में आप डाइट में नाशपाती या नाशपाती के जूस को शामिल कर पाचन तंत्र को स्वस्थ रख सकते हैं। इसमें पेक्टिन मौजूद होता है, जो एक तरह का फाइबर है। इसके नियमित सेवन से कब्ज की समस्या से आराम मिल सकता है और पाचन क्रिया स्वस्थ हो सकती है। ध्यान रहे कि अगर किसी को इर्रिटेबल बॉउल सिंड्रोम(Irritable Bowel Syndrome) की समस्या है, तो वो नाशपाती का सेवन डॉक्टर के निर्देशानुसार ही करें, वरना उन्हें पेट दर्द, पेट खराब या गैस जैसी समस्या हो सकती है (2)।

9. गर्भावस्था के दौरान नाशपाती फल

प्रेगनेंसी के दौरान खान-पान पर विशेष ध्यान रखने की जरूरत होती है। इस दौरान महिलाओं को कई तरह के पौष्टिक तत्वों की आवश्यकता होती है, लेकिन सबसे ज्यादा जो महत्वपूर्ण होता है, वो है फोलेट। यह शिशु में न्यूरल ट्यूब डिफेक्ट (Neural Tube Defects) जैसे जन्मदोष से बचाव कर सकता है। ऐसे में नाशपाती का सेवन गर्भवती के लिए बहुत लाभकारी हो सकता है (2)।

नोट : हालांकि, इस बारे में एक बार डॉक्टर की भी राय ले लेनी जरूरी है, क्योंकि हर महिला का शरीर और उनकी गर्भावस्था एक जैसी नहीं होती है। इसलिए, नाशपाती के सेवन से पहले डॉक्टर या विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

10. ब्लड प्रेशर या उच्च रक्तचाप के लिए नाशपाती फल

अगर आपको ब्लड प्रेशर है या आप उच्च रक्तचाप की समस्या से खुद को बचाना चाहते हैं, तो नाशपाती को अपने डाइट में शामिल करें। यह उच्च रक्तचाप की समस्या से बचाव कर आपको स्वस्थ रहने में मदद कर सकता है (2)।

11. बुखार के लिए नाशपाती के फायदे

कई बार बुखार के वक्त कमजोरी की समस्या हो जाती है। ऐसे में पौष्टिक तत्वों की जरूरत होती है, जिसके लिए फलों का सेवन जरूरी होता है। कई बार लोगों को दुविधा होती है कि कौन-सा फल गुणकारी और असरदार होगा। इस स्थिति में नाशपाती लाभदायक हो सकती है। इसमें मौजूद एंटीपायरेटिक (Antipyretic) और ठंडक का गुण बुखार में काफी प्रभावी साबित हो सकता है (2)।

12. सूजन के लिए नाशपाती के फायदे

सूजन को कम करने में भी नाशपाती असरदार फल साबित हो सकता है। नाशपाती में मौजूद कैरोटीन, जियाजैंथिन और प्रोटीन सूजन की समस्या पर प्रभावी रूप से काम करते हैं। इसमें मौजूद एंटी इंफ्लेमेटरी गुण सूजन से बचाव करने में मदद कर सकते हैं। इसलिए, इस गुणकारी फल को डाइट में शामिल किया जा सकता है (2)।

13. गले की समस्या से राहत के लिए नाशपाती

कई बार गर्मियों में भी गले में खराश या सांस लेने में परेशानी हो सकती है। ऐसे में नाशपाती का जूस लाभकारी हो सकता है। यह वोकल कॉर्ड के सूजन को कम कर सकता है और गले को पोषण प्रदान कर गले की समस्या से राहत दिला सकता है। अगर आप गर्मियों में गले की समस्या से बचना चाहते हैं, तो नाशपाती या नाशपाती के जूस का सेवन करें (2)।

14. लिवर के लिए नाशपाती

शरीर के अन्य अंगों की तरह लिवर का स्वस्थ रहना भी जरूरी है। नाशपाती का सेवन लिवर के लिए लाभकारी हो सकता है। इसमें हेपाटोप्रोटेक्टिव (Hepatoprotective) गुण मौजूद होते हैं, जो लिवर को किसी भी तरह की क्षति से बचा सकते हैं। आप लिवर को सही रखने के लिए अपने आहार में नाशपाती फल को शामिल कर सकते हैं (2)।

15. दर्दनाशक की तरह नाशपाती फल

नाशपाती में एनाल्जेसिक (Analgesic) यानी दर्दनाशक गुण मौजूद होते हैं, जिससे दर्द की समस्या से राहत मिल सकती है। इसलिए, दर्द की समस्या से बचाव करने के लिए नाशपाती का सेवन कर सकते हैं (2)।

ये तो थे सेहत के लिए नाशपाती खाने के फायदे, लेकिन क्या आप जानते हैं कि सेहत के अलावा नाशपाती आपकी त्वचा के लिए भी गुणकारी है? इसलिए, लेख के इस भाग में हम आपको त्वचा के लिए नाशपाती के फायदे क्या है उसके बारे में जानकारी देंगे।

त्वचा के लिए नाशपाती फल के फायदे – Skin Benefits of Pears in Hindi

सिर्फ अच्छी सेहत ही नहीं, बल्कि स्वस्थ त्वचा का होना भी जरूरी है। शरीर के साथ-साथ त्वचा की देखभाल भी जरूरी है, इसलिए नीचे हम आपको त्वचा के लिए नाशपाती खाने के फायदे बता रहे हैं।

1. त्वचा को क्षति होने से बचाव के लिए नाशपाती

कई बार धूप, धूल-मिट्टी और मौसम में बदलाव त्वचा की क्षति का कारण बन जाते हैं। इतना ही नहीं पोषक तत्वों की कमी भी त्वचा के लिए मुसीबत बन जाती है। इसके लिए लोग कई तरह की क्रीम और तकनीक का सहारा लेते हैं, जो त्वचा के लिए हानिकारक हो सकते हैं। ऐसे में बेहतर है कि आप अपनी त्वचा को प्राकृतिक उपचार दें। आप डाइट में नाशपाती को शामिल कर त्वचा को सेहतमंद बना सकते हैं। नाशपाती में विटामिन-सी मौजूद होता है (3), जो त्वचा को कई तरह की क्षति से बचा सकता है (4)। इसलिए, इस पौष्टिक फल को अपने आहार में जरूर शामिल करें।

2. झुर्रियों और कील-मुंहासों के लिए नाशपाती के फायदे

झुर्रियां और कील-मुंहासे उम्र देखकर नहीं होते। ये कभी भी आपकी त्वचा को निशाना बना सकते हैं। इसकी वजह तरह-तरह के केमिकल युक्त कॉस्मेटिक उत्पाद, प्रदूषण, गलत खान-पान और त्वचा की देखभाल में कमी है। ऐसे में जरूरी है वक्त रहते इन पर ध्यान देना। अगर झुर्रियों और कील-मुंहासों से बचाव करना है, तो नाशपाती को अपने रूटीन में शामिल करें। यह न सिर्फ आपको झुर्रियों से छुटकारा देगा, बल्कि कील-मुंहासों को दूर रखने में मदद करेगा। नाशपाती पौष्टिक तत्वों से भरपूर होता है, जो आपकी त्वचा को लाभ पहुंचाने का काम करेगा (2)।

3. तैलीय त्वचा के लिए नाशपाती के फायदे

ऑयली स्किन वाले लोगों को कई तरह की समस्या होने लगती है, जैसे – कील-मुंहासे और अधिक पसीना। इस स्थिति में नाशपाती अच्छा विकल्प हो सकता है। यह पौष्टिक फल तैलीय त्वचा की समस्या को कम कर सकता है, जिससे पिंपल की भी परेशानी से राहत मिल सकती है। इसलिए, तैलीय त्वचा वाले लोग इस फल का सेवन कर अपनी त्वचा से निकलने वाले अधिक तेल से छुटकारा पा सकते हैं (2)।

4. त्वचा को मॉइस्चराइज करने के लिए नाशपाती के फायदे

त्वचा को मॉइस्चराइज करना भी जरूरी है। वैसे तो त्वचा को मॉइस्चराइज करने के लिए लोग कई तरह की क्रीम और बॉडी लोशन का उपयोग करते हैं, लेकिन त्वचा अगर प्राकृतिक तरीके से मॉइस्चराइज हो जाए, तो त्वचा और स्वस्थ हो सकती है। त्वचा को लंबे वक्त तक मॉइस्चराइज करने के लिए आप अपनी डाइट में नाशपाती फल को शामिल करें। इसके सेवन से त्वचा स्वस्थ और लंबे वक्त तक मॉइस्चराइज रह सकती है (2)। इसके लिए आप डाइट में नाशपाती फल या जूस को जरूर शामिल करें।

5. चमकदार त्वचा के लिए नाशपाती के फायदे

सिर्फ खूबसूरती ही नहीं, बल्कि त्वचा पर चमक होना भी जरूरी है। त्वचा की चमक उसके स्वस्थ होने का इशारा होती है। महिलाएं चमकती त्वचा पाने के लिए कई तरह के ब्यूटी प्रोडक्ट का उपयोग करती हैं। हालांकि, इनसे उनके चेहरे पर कुछ वक्त तक ही चमक रहती है और फिर चेहरा बेजान दिखने लगता है। ऐसे में चेहरे पर प्राकृतिक चमक ज्यादा कारगर हो सकती है। चेहरे की चमक बढ़ाने के लिए नाशपाती का सेवन काफी फायदेमंद हो सकता है (2)।

6. रंगत को निखारने के लिए नाशपाती

कई बार प्रदूषण और त्वचा की देखभाल के अभाव में त्वचा की रंगत पर असर पड़ने लगता है। ऐसे में कई बार लोग कॉस्मेटिक्स उत्पादों का उपयोग करते हैं, लेकिन उसका असर कुछ वक्त तक ही रहता है। ऐसे में प्राकृतिक उपाय और फलों का सेवन कारगर हो सकता है। आप अपनी रंगत को निखारने के लिए नाशपाती, नाशपाती के जूस का सेवन या नाशपाती का पैक लगा सकते हैं। नाशपाती में आरब्यूटिन (Arbutin) नामक तत्व मौजूद होता है, जो त्वचा की रंगत को निखारने में मदद कर सकता है (2)।

नीचे हम त्वचा के लिए नाशपाती को उपयोग करने के कुछ तरीके आपको बता रहे हैं।

त्वचा के लिए नाशपाती फल का उपयोग

सामग्री :
  • एक नाशपाती
  • ग्लिसरीन की कुछ बूंदें
उपयोग करने की विधि :
  • नाशपाती को कद्दूकस कर लें।
  • अब इसमें ग्लिसरीन की कुछ बूंदें डालकर मिश्रण तैयार कर लें।
  • फिर इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाएं।
  • इसे लगभग 20 से 30 मिनट के लिए लगा रहने दें।
  • जब यह सूख जाए तो गुनगुने पानी से चेहरा धो लें।
  • फिर आप चाहें तो चेहरे पर मॉइस्चराइजर लगा लें।
  • यह नाशपाती का मास्क आपकी रूखी त्वचा की समस्या को कम कर उसे मॉइस्चराइज कर सकता है।

नाशपाती फेसपैक

सामग्री :
  • आधा नाशपाती
  • एक चौथाई टमाटर का पेस्ट
उपयोग करने का तरीका :
  • नाशपाती को मैश करके पेस्ट बना लें।
  • अब इसमें टमाटर के पेस्ट को मिलाकर पैक तैयार कर लें।
  • फिर इस पैक को अपने चेहरे पर लगाएं और सूखने दें।
  • सूखने के बाद इस चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें।
  • इस पैक के नियमित उपयोग से आपके चेहरे पर प्राकृतिक चमक आएगी।

नाशपाती न सिर्फ आपकी सेहत और त्वचा का ध्यान रख सकती है, बल्कि आपके बालों को भी सेहतमंद बना सकती है। नीचे जानिए बालों के लिए नाशपाती के लाभ।

बालों के लिए नाशपाती के फायदे – Hair Benefits of Pears in Hindi

नाशपाती आपके बालों को भी खूबसूरत बनाने में मददगार साबित हो सकती है। नीचे पढ़ें कैसे –

1. बालों के रूखेपन के लिए नाशपाती खाने के फायदे

त्वचा की तरह ही बालों की देखभाल भी जरूरी है। बदलता मौसम और प्रदूषण बालों को रूखा और बेजान बनाने लगता है। नतीजतन बालों का टूटना, समय से पहले सफेद होना और अन्य कई समस्याएं हो सकती हैं। ऐसे में नाशपाती में मौजूद मॉइस्चराइजिंग गुण आपके बालों के लिए बेहद फायदेमंद हो सकते हैं। इसमें मौजूद अन्य पोषक तत्व भी बालों में नई जान डालने में मदद कर सकते हैं। आप बालों के लिए नाशपाती का सेवन कर सकते हैं, नाशपाती का जूस पी सकते हैं और चाहें तो नाशपाती का हेयर पैक बनाकर इसे बालों पर लगा सकते हैं (2)।

2. स्वस्थ और पोषित बालों के लिए नाशपाती के फायदे

सिर्फ बालों का रूखापन ही नहीं, बल्कि बालों को स्वस्थ और पोषित रखने में भी नाशपाती मददगार साबित हो सकती है। नाशपाती में कई तरह के पोषक तत्व मौजूद हैं। नाशपाती फल या जूस के नियमित सेवन से बालों को न सिर्फ पोषण मिल सकता है, बल्कि बाल स्वस्थ और मजबूत होते हैं (2)।

3. बालों में खोई चमक को लौटाए

बाल चाहें जितने लंबे हों, लेकिन अगर उनमें चमक नहीं है, तो वो सुंदर नजर नहीं आते। आजकल बालों की चमक खोने का सबसे बड़ा कारण है तरह-तरह के शैम्पू का उपयोग और बालों की स्ट्रेटनिंग व उन्हें कलर करवाना आदि। इस स्थिति में बालों की प्राकृतिक चमक कहीं खो जाती है। ऐसे में बालों को कुछ सौम्य और प्राकृतिक सामग्री की जरूरत होती है, जो बालों की खोई हुई चमक लौटा सके। नाशपाती उन्हीं प्राकृतिक सामग्रियों में से एक है, जो बालों की चमक को वापस लाने में मदद कर सकती है। बालों की चमक वापस लाने के लिए आप नाशपाती का हेयर पैक लगा सकते हैं (2)। आप चाहें तो नाशपाती फल या उसके जूस का भी सेवन कर सकते हैं।

4. घुंघराले बालों को सुलझाने के लिए नाशपाती फल

घुंघराले बालों वाली महिलाओं की समस्या थोड़ी ज्यादा होती है। कंघी करते वक्त बालों का उलझना और कीमती बालों का टूटना दुखदायी होता है। घुंघराले बालों की समस्या सुलझाने के चक्कर में आप बालों को नुकसान पहुंचाने लगते हैं। ऐसे में नाशपाती फल का हेयर पैक घुंघराले बालों की समस्या से राहत पाने में मदद कर सकता है (2)।

आगे जानिये बालों पर नाशपाती को उपयोग करने का तरीका।

नाशपाती हेयर पैक

सामग्री :
  • एक नाशपाती
  • एक चम्मच शहद
  • एक चम्मच शिया बटर
  • एक चम्मच नारियल तेल
उपयोग करने की विधि :
  • नाशपाती को अच्छे से पीस लें।
  • अब इसमें नारियल तेल, शहद और शिया बटर मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें।
  • फिर इस पेस्ट को बालों में लगाकर कम से कम आधे घंटे तक सूखने दें।
  • उसके बाद हल्के शैम्पू से बालों को धो लें।
  • इस हेयर पैक से आपके बालों को प्राकृतिक चमक मिलेगी।

टिप्स – आप नाशपाती के पेस्ट में बादाम तेल या जैतून का तेल मिलाकर बालों की मालिश भी कर सकते हैं। इससे न सिर्फ आपको आराम मिलेगा, बल्कि आपके बालों की सेहत में सुधार हो सकता है। मालिश के बाद आप हल्के शैम्पू से बालों को धो लें।

नोट : त्वचा या बालों के लिए बताए गए पैक में उपयोग किए जाने वाले किसी भी सामग्री से अगर आपको एलर्जी है, तो उसके उपयोग से पहले विशेषज्ञ की राय जरूर लें। इसके अलावा, पैक को उपयोग करने से पहले पैच टेस्ट भी अवश्य करें।

आगे जानिए नाशपाती फल में मौजूद उन पोषक तत्वों के बारे में, जो इसे इतना पौष्टिक और लाभकारी बनाते हैं।

नाशपाती के पौष्टिक तत्व – Pears Nut Nutritional Value in Hindi

नाशपाती पौष्टिक तत्वों का खजाना है, जो इसे इतना गुणकारी बनाते हैं। नीचे हम आपके साथ नाशपाती के पौष्टिक तत्वों की सूची शेयर कर रहे हैं (3)।

पोषक तत्वप्रति 100 ग्राम
जल83.96 ग्राम
ऊर्जा57 कैलोरी
प्रोटीन0.36 ग्राम
टोटल लिपिड (फैट)0.14 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट15.23 ग्राम
फाइबर, टोटल डाइटरी 3.1 ग्राम
शुगर, टोटल 9.75 ग्राम
मिनरल
कैल्शियम9 मिलीग्राम
आयरन0.18 मिलीग्राम
मैग्नीशियम 7  मिलीग्राम
फास्फोरस12 मिलीग्राम
पोटैशियम116 मिलीग्राम
सोडियम1 मिलीग्राम
जिंक0.10 मिलीग्राम
विटामिन
विटामिन सी, टोटल एस्कॉर्बिक एसिड4.3 मिलीग्राम
थियामिन 0.012 मिलीग्राम
राइबोफ्लेविन0.026 मिलीग्राम
नियासिन 0.161 मिलीग्राम
विटामिन बी-6 0.029 मिलीग्राम
फोलेट, डीएफई 7 माइक्रोग्राम
विटामिन ए, आरएई 1 माइक्रोग्राम
विटामिन ए, आईयू25 आईयू
विटामिन ई (अल्फा-टोकोफेरोल)0.12 मिलीग्राम
विटामिन डी 0 आईयू
विटामिन के (फिलोक्यूनोन-phylloquinone)4.4 माइक्रोग्राम
लिपिड
फैटी एसिड, टोटल सैचुरेटेड 0.022 ग्राम
फैटी एसिड, टोटल मोनोअनसैचुरेटेड 0.084 ग्राम
फैटी एसिड, टोटल पोलीअनसैचुरेटेड 0.094 ग्राम
कोलेस्ट्रॉल0 मिलीग्राम
अन्य
कैफीन0 मिलीग्राम

लेख के इस भाग में हम आपको नाशपाती के चुनाव की जानकारी देंगे और उसे लंबे वक्त तक स्टोर करने के कुछ टिप्स भी बताएंगे।

कैसे सही नाशपाती का चयन करें और उसे लंबे वक्त तक स्टोर करके रखें? – How To Select and Store The Selected Pears in Hindi

कुछ लोगों को नाशपाती खरीदते समय परेशानी होती है। वो सही नाशपाती का चुनाव नहीं कर पाते हैं। इसलिए, नीचे हम आपको नाशपाती का चुनाव और उसे स्टोर करने के जरूरी टिप्स दे रहे हैं।

चुनाव :
  • आपको नाशपाती बाजार में या सुपरमार्केट में आसानी से मिल जाएगी।
  • नाशपाती खरीदते वक्त ध्यान रखें कि नाशपाती ताजी हो।
  • हमेशा सुनहरे रंग की नाशपाती का चुनाव करें। साथ ही उसमें से मीठी-मीठी सुगंध आए।
  • अच्छी नाशपाती न तो ज्यादा सख्त हो और न ही ज्यादा नर्म हो।
  • नाशपाती की त्वचा पर कोई खरोंच का निशान न हो। अगर किसी नाशपाती पर भूरे रंग का दाग है, तो कोई सोचने की बात नहीं है, आप उसे खरीद सकते हैं।
  • नाशपाती खरीदते समय सुनिश्चित करें कि शीर्ष भाग (स्टेम के करीब) न तो बहुत नरम हो और न ही बहुत कठोर हो। इसे जांचने के लिए आप उंगलियों से उसे हल्का दबाकर चेक कर सकते हैं। अगर वह जरूरत से ज्यादा नर्म हो, तो उसे न खरीदें, क्योंकि वह खराब हो सकती है।
कैसे स्टोर करें?

अब बारी आती है कि इसे कब तक और कैसे लंबे वक्त तक स्टोर किया जा सकता है।

  • आप नाशपाती को ठंडी जगह पर ही स्टोर करें।
  • अगर आप पकी नाशपाती को स्टोर करना चाहते हैं, तो उन्हें रेफ्रिजरेटर में रखें। वहीं, अगर आप नाशपाती को कमरे के तापमान पर पकने देना चाहते हैं, तो उसे बिना धोए एक कटोरे में रखें, क्योंकि नमी के कारण फल तेजी से सड़ सकता है।
  • अगर आपने कच्ची और छोटी नाशपाती खरीदी है, तो आप उसे छेद वाले पेपर बैग में रख दें, ताकि वह आसानी से पक जाए।
  • ध्यान रहे कि नाशपाती को खरीदने के बाद ज्यादा दिनों तक स्टोर करके न रखें, बल्कि एक-दो दिन में ही उसका सेवन कर लें।
  • नाशपाती को काटकर ज्यादा देर तक न रखें।

नाशपाती के फायदे पाने के लिए इसका सही से उपयोग करना भी जरूरी है। लेख के इस भाग में हम आपको नाशपाती फल को उपयोग करने के बारे में जानकारी देंगे।

नाशपाती फल का उपयोग – How to Use Pears in Hindi

नाशपाती खाने के फायदे तो आप जान ही चुके हैं, अब बारी आती है नाशपाती फल के उपयोग करने का तरीका जानने की। अगर आप इसका सही तरीके से उपयोग करेंगे, तो इसके गुण आपके शरीर को और जल्दी प्राप्त होंगे।

  • नाशपाती को अन्य फलों के साथ फ्रूट सलाद के रूप में खा सकते हैं।
  • आप एक पूरी नाशपाती नाश्ते के दौरान या नाश्ते के बाद खा सकते हैं।
  • आप नाशपाती से डिजर्ट भी बना सकते हैं।
  • नाशपाती के जूस का सेवन कर सकते हैं।
  • नाशपाती का फेसपैक अपने चेहरे पर लगा सकते हैं।
  • नाशपाती का हेयर पैक बालों पर लगा सकते हैं।

हर चीज के फायदे और नुकसान दोनों होते हैं और अगर नाशपाती का जरूरत से ज्यादा सेवन किया जाए, तो यह नुकसानदायक हो सकता है। इसलिए, हम आपकी सावधानी के लिए इसके नुकसान के बारे में आपको जानकारी दे रहे हैं।

नाशपाती के नुकसान – Side Effects of Pears in Hindi

नाशपाती के नुकसान से हम आपको डराना नहीं, बल्कि सावधान करना चाहते हैं, ताकि आप इसके बेहतरीन स्वाद का मजा लेने के चक्कर में इसका सेवन जरूरत से ज्यादा न कर लें। नीचे जानिए नाशपाती के नुकसान के बारे में :

  • नाशपाती को छिल्के समेत खाया जा सकता है, लेकिन अगर इसके छिल्के को सही तरीके से चबाकर न खाया जाए, तो यह पेट की समस्या का कारण बन सकता है।
  • दस्त की समस्या में नाशपाती न दें, क्योंकि इससे परेशानी और ज्यादा बढ़ सकती है।
  • अगर किसी को सर्दी-जुकाम की ज्यादा परेशानी हो तो वो भी नाशपाती का सेवन ज्यादा न करें, वरना परेशानी बढ़ सकती है, क्योंकि नाशपाती की तासीर ठंडी होती है।
  • नाशपाती को काटने के बाद तुरंत उसका सेवन करें, क्योंकि कटी नाशपती कुछ देर में भूरे रंग की हो जाती है, जो नुकसानदायक है।
  • अगर किसी व्यक्ति को एलर्जी की समस्या है, तो इसका सेवन करने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

नोट : ऊपर बताए गए नुकसानों का कोई ठोस प्रमाण मौजूद नहीं है। ये लोगों की धारणाओं और अनुभवों के आधार पर है।

नाशपाती के नुकसान को पढ़कर आपको डरने की जरूरत नहीं है, अगर नाशपाती फल का सही और संतुलित मात्रा में सेवन किया जाए, तो यह गुणकारी फल है। आशा करते हैं कि ऊपर नाशपाती खाने के फायदे जानने के बाद आप यह जान गए होंगे कि यह फल अन्य फलों से कम नहीं है। इसलिए, अगर आप नाशपाती के लाभ चाहते हैं, तो इसे अपनी डाइट में जरूर शामिल करें। साथ ही नाशपाती फल से जुड़ा कोई सवाल आपके मन में हैं, तो आप नीचे दिए कमेंट बॉक्स के जरिए पूछ सकते हैं। साथ ही नाशपाती के फायदे से जुड़े अपने अनुभव भी हमारे साथ शेयर कर सकते हैं।

और पढ़े:

The following two tabs change content below.

Arpita Biswas

अर्पिता ने पटना विश्वविद्यालय से मास कम्यूनिकेशन में स्नातक किया है। इन्होंने 2014 से अपने लेखन करियर की शुरुआत की थी। इनके अभी तक 1000 से भी ज्यादा आर्टिकल पब्लिश हो चुके हैं। अर्पिता को विभिन्न विषयों पर लिखना पसंद है, लेकिन उनकी विशेष रूचि हेल्थ और घरेलू उपचारों पर लिखना है। उन्हें अपने काम के साथ एक्सपेरिमेंट करना और मल्टी-टास्किंग काम करना पसंद है। इन्हें लेखन के अलावा डांसिंग का भी शौक है। इन्हें खाली समय में मूवी व कार्टून देखना और गाने सुनना पसंद है।

संबंधित आलेख