सामग्री और उपयोग

नीम के तेल के 22 फायदे, उपयोग और नुकसान – Neem Oil Benefits, Uses and Side Effects in Hindi

by
नीम के तेल के 22 फायदे, उपयोग और नुकसान – Neem Oil Benefits, Uses and Side Effects in Hindi Hyderabd040-395603080 October 18, 2019

नीम को उन चुनिंदा पड़ों में गिना जाता है, जिसके सभी भाग अपने आप में औषधीय गुणों से भरपूर हैं। प्राचीन काल से ही नीम के पत्तों, निबोरियों, छाल और जड़ों का प्रयोग स्वास्थ्य के लिए आयुर्वेदिक दवाइयों में किया जाता रहा है। खासकर, नीम का तेल त्वचा संबंधी रोगों के लिए रामबाण माना जाता है। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हमारे साथ जानिए शरीर के लिए नीम के तेल के फायदे। जानिए, शरीर की कौन-कौन सी समस्याओं के लिए आप नीम के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं।

नीम के तेल के फायदे – Benefits of Neem Oil in Hindi

नीम के तेल के उपयोग से कई तरह के फायदे हो सकते हैं, जिसे इस लेख में अलग-अलग श्रेणी में समझाया गया है।

आइए, सेहत के लिए नीम के तेल के फायदे के बारे में विस्तार से जानते हैं।

सेहत/स्वास्थ्य के लिए नीम के तेल के फायदे – Health Benefits of Neem Oil in Hindi

कई तरह की शारीरिक समस्याओं को दूर करने के लिए नीम के तेल का उपयोग किया जा सकता है। जो इस प्रकार है:

1. गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल रोग

Gastrointestinal Disease Pinit

Shutterstock

गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल संबंधी समस्याओं को दूर करने के लिए नीम का तेल किस प्रकार काम करता है, इस पर अभी सटीक प्रमाण उपलब्ध नहीं है। फिलहाल, एक शोध में कहा गया है कि नीम की छाल के अर्क में गैस्ट्रो प्रोटेक्टिव और एंटी अल्सर गुण पाए जाते हैं। इसका मतलब नीम की छाल का अर्क गैस्ट्रिक हाइपरएसिडिटी और अल्सर की स्थिति में लाभ पहुंचाने में मदद कर सकता है (1)। हालांकि, इस विषय पर अभी और शोध की आवश्यकता है।

2. दांतों के लिए

नीम का तेल दांतों की समस्या के लिए भी फायदेमंद हो सकता है। यह एंटीबैक्टीरियल गुण से समृद्ध होता है और दांतों के प्लाक को दूर करने में मदद कर सकता है। हालांकि, दांतों के लिए इसके इस्तेमाल के विषय में एक बार डॉक्टरी परामर्श जरूर लें। इसके अलावा, नीम की टहनी का इस्तेमाल आप मुंह की दुर्गन्ध दूर करने, दांत दर्द से राहत और दांतों की सफाई के लिए कर सकते हैं (2)।

3. मलेरिया

Malaria Pinit

Shutterstock

नीम के तेल का इस्तेमाल मलेरिया से बचाव के लिए किया जा सकता है। शोध के अनुसार, नीम का अर्क मरेलिया फैलाने वाले मच्छरों से आपकी सुरक्षा कर सकता है, इसलिए कई कीटनाशकों में नीम के तेल का इस्तेमाल किया जाता है। मच्छरों के प्रकोप से बचने के लिए आप नीम के तेल का प्रयोग त्वचा पर या रूम डिफ्यूजर के रूप में कर सकते हैं (3)।

4. वायरस

नीम के इस्तेमाल से वायरल संक्रमण को दूर रखा जा सकता है। इनमें चिकन पॉक्स, स्मॉल पॉक्स, फाउल पॉक्स और स्किन इन्फेक्शन शामिल हैं। यह इसमें पाए जाने वाले एंटी वायरल गुण के कारण ही संभव होता है (4)। नीम के ये गुण नीम के तेल में मौजूद हो सकते हैं। इसलिए, ऐसा कहा जा सकता है कि नीम के तेल का उपयोग वायरस को दूर रखने के लिए किया जा सकता है। फिलहाल, इस पर अभी और शोध की आवश्यकता है।

5. अल्सर

एक अध्ययन में पाया गया है कि नीम का इस्तेमाल कर अल्सर को दूर किया जा सकता है। इसमें  एंटीअल्सर गुण पाया जाता है, जो इस समस्या से निपटने में मदद कर सकता है। नीम का तेल सीधे तौर पर अल्सर पर कैसे काम करता है, फिलहाल इस पर कोई सटीक वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं हैं (1)।

6. दवाई बनाने के लिए

To make medicine Pinit

Shutterstock

प्राचीन काल से ही नीम का इस्तेमाल विभिन्न प्रकार की आयुर्वेदिक दवाइयों के निर्माण में किया जा रहा है। खासकर, त्वचा समस्याओं (मुंहासे, सोरायसिस, एक्जिमा, दाद आदि) के इलाज के लिए कई तरह की दवाइयों में नीम के तेल का प्रयोग किया जाता है (5)।

7. एंटीसेप्टिक गुण

नीम में अनेक गुण पाए जाते हैं, जिनमें से एक एंटीसेप्टिक है। एंटीसेप्टिक और अन्य गुणों के कारण इसके तेल का इस्तेमाल कई तरह की दवाइयों और कॉस्टेमिट उत्पादों में किया जाता है (5) (6)।

ऊपर आपने सेहत के लिए नीम तेल के फायदे पढ़ें, आगे त्वचा के लिए इसके फायदे जानेंगे।

त्वचा के लिए नीम के तेल के फायदे – Skin Benefits of Neem Oil in Hindi

1. रूखी त्वचा से राहत

Dry skin relief Pinit

Shutterstock

त्वचा की नमी कम होने पर त्वचा सूखने लगती है। ऐसे में कई त्वचा संबंधी रोग उत्पन्न हो सकते हैं। सूखी त्वचा की समस्या को दूर करने के लिए नीम के तेल का उपयोग किया जा सकता है। नीम के तेल सूखी त्वचा को आराम देने का काम करते हैं (7)। साथ ही इसमें विटामिन-ई, अमीनो एसिड और फैटी एसिड पाए जाते हैं, जो त्वचा को पोषण देने का काम करते हैं। इन पोषक तत्वों में खासकर विटामिन-ई त्वचा में नमी बनाए रखने में मदद करता है। इसलिए, नीम का तेल ड्राई स्किन के लिए लाभदायक हो सकता है (8) (9)।

कैसे करें उपयोग :

  • आधा चम्मच नारियल/बादाम के तेल में नीम के तेल की कुछ बूंदें मिलाएं।
  • फिर इसे त्वचा पर सामान्य तेल की तरह लगाएं।
  • हफ्ते में दो बार यह उपाय किया जा सकता है।

2. एक्जिमा और सोरायसिस को कम करना

जैसा कि हमने बताया कि नीम का तेल विटामिन-ई, अमीनो एसिड और फैटी एसिड जैसे खास पोषक तत्वों से समृद्ध होता है। इस कारण यह खास तेल एक्जिमा और सोरायसिस जैसी त्वचा समस्याओं को दूर करने में अहम भूमिका निभा सकता है। नीचे जानिए कैसे करें तेल का इस्तेमाल – (10)।

कैसे करें उपयोग :

  • आधा चम्मच जैतून के तेल में 8 से 10 बूंदें नीम के तेल की मिला लें।
  • फिर इसे प्रभावित त्वचा पर रूई की सहायता से लगाकर छोड़ दें।
  • जब तक समस्या ठीक न हो, रोजाना इस उपाय को दोहराएं।

3. खुजली और फंगल संक्रमण से राहत

Relieving itching and fungal infections Pinit

Shutterstock

नीम के तेल के फायदे खुजली और फंगल संक्रमण को दूर करने का काम कर सकते हैं। दरअसल, नीम एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुणों से समृद्ध होता है और यही गुण नीम के तेल में भी मौजूद होते हैं (11)। नीचे जानिए कैसे करें नीम तेल का इस्तेमाल।

कैसे करें उपयोग :

  • थोड़ा नीम का तेल लें और प्रभावित त्वचा पर अच्छी तरह लगाकर छोड़ दें।
  • यह उपाय दिन में दो बार किया जा सकता है।

4. एंटी एजिंग सीरम

नीम का उपयोग बढ़ते उम्र के प्रभाव को धीमा करने के लिए किया जा सकता है। नीम में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो बढ़ते उम्र के प्रभाव को कम कर सकते हैं (12)। इसलिए, ऐसा माना जा सकता है कि नीम के तेल का इस्तेमाल एजिंग के प्रभाव को कम करने में सहायक हो सकता है। हालांकि, इस बात की पुष्टि के लिए वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है।

कैसे करें उपयोग :

  • रूई की मदद से नीम के तेल को लगभग 15 से 20 मिनट के लिए त्वचा पर लगाएं।
  • फिर त्वचा को गुनगुने पानी से धो लें।

5. मुंहासे

Acne Pinit

Shutterstock

अगर आपके चेहरे पर मुंहासे हो गए हैं, तो नीम का तेल आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है (13)। यह एंटी बैक्टीरियल, एंटी फंगल और एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों से समृद्ध होता है, जो मुंहासों को दूर करने में मदद कर सकता है (11)।

कैसे करें उपयोग :

  • एक चम्मच जैतून तेल के साथ एक चम्मच नीम का तेल मिलाएं।
  • इस मिश्रण को मुंहासे वाले हिस्से पर लगाएं।
  • इसे लगाने के एक घंटे बाद चेहरा गुनगुने पानी से धो लें।

6. दाद

नीम का तेल दाद की समस्या को दूर करने का काम भी कर सकता है। दरअसल, नीम के तेल में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुण पाए जाते हैं, जो दाद की समस्या को दूर करने का काम कर सकते हैं (11)।

कैसे करें उपयोग :

  • नीम तेल को हल्का गर्म करें।
  • फिर उसे दाद पर अच्छी तरह लगाकर छोड़ दें।
  • जब तक दाद ठीक न हो रोजाना दो बार यह उपाय किया जा सकता है।

7. स्किन टोनर

त्वचा की गन्दगी साफ करने के लिए टोनर का उपयोग किया जाता है। ऐसे में नीम के तेल का उपयोग टोनर की तरह किया जा सकता है। इसके लिए इसमें पाए जाने वाले एंटी बैक्टीरियल और एंटी माइक्रोबियल गुण लाभदायक हो सकते हैं (14) (11)।

कैसे करें उपयोग

  • रूई की मदद से नीम के तेल से त्वचा को साफ करें।
  • बाद में गुनगुने पानी से त्वचा को धो लें।

8. पिगमेंटेशन

Pigmentation Pinit

Shutterstock

नीम के तेल में विटामिन-ई की मात्रा पाई जाती है और एक शोध के अनुसार विटामिन-ई यूवी किरणों के कारण होने वाले हाइपर पिगमेंटेशन से बचाव कर सकता है। हालांकि, इस विषय पर अभी और शोध की आवश्यकता है (8), (15)।

कैसे करें उपयोग :

  • नीम के तेल को चेहरे पर लगाएं और 15 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • फिर गुनगने पानी से धो लें।

9. कॉस्मेटिक्स बनाने में

नीम के तेल में कई तरह के आयुर्वेदिक गुण होते हैं। यही कारण कि इसे कई तरह के कॉस्मेटिक्स उत्पादों के निर्माण में उपयोग किया जाता है (8)। आप घर में भी नीम के तेल का इस्तेमाल कर घरेलू कॉस्मेटिक उत्पाद बना सकते है।

कैसे करें उपयोग :

  • 8 से 10 तुलसी के पत्ते में 6 से 9 नीम के पत्ते को मिलाकर पीस लें।
  • फिर उसमे एक चम्मच शहद और आधा कप मुल्तानी मिट्टी को डालकर अच्छे से मिला लें।
  • इस मिश्रण को चेहरे पर लगाएं और 30 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • फिर इसे पानी से धो लें।

ऊपर आपने त्वचा के लिए नीम तेल के फायदे पढ़ें, आगे बालों के लिए इसके फायदे जानेंगे।

बालों के लिए नीम के तेल के फायदे – Hair Benefits of Neem Oil in Hindi

1. बालों की वृद्धि

Hair growth Pinit

Shutterstock

नीम के तेल का उपयोग बालों के विकास के साथ बालों को घना और मजबूत बनाने में किया जा सकता है। इसमें कई तरह के फैटी एसिड पाए जाते हैं, जिनमें लिनोलिक, ओलिक और स्टीयरिक एसिड शामिल  होते हैं, जो स्कैल्प और बालों को पोषण प्रदान करते हैं (16)।

कैसे करें उपयोग :

  • एक चम्मच बादाम या नारियल तेल में दो चम्मच नीम तेल मिला लें।
  • इसे सोने से पहले अच्छी तरह से बालों पर लगाएं।
  • इसका उपयोग हफ्ते में एक बार करें।

2. सिर की जुंओं का इलाज

सिर की जुएं और उसके अंडों को खत्म करने के लिए भी नीम का तेल कारगर साबित हो सकता है। बेशक, बाजार में जुएं मारने वाले कई प्रोडक्ट उपलब्ध हैं, लेकिन नीम का तेल सबसे अच्छा और प्राकृतिक इलाज है (17)।

कैसे करें उपयोग :

  • रात को सोने से पहले नीम के तेल को हल्का गर्म करके बालों पर लगा लें।
  • फिर बालों को शॉवर कैप से ढककर रातभर के लिए छोड़ दें।
  • सुबह कंघी का उपयोग कर बालों से जुएं निकालें और बालों को शैंपू करें।
  • समस्या पूरी तरह खत्म न होने पर इस उपाय को दोहरा सकते हैं।

3. रूसी

Russian Pinit

Shutterstock

रूसी की समस्या को दूर करने के लिए नीम तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है। नीम में एंटी डैंड्रफ गुण पाए जाते हैं। इस कारण इसे रूसी को दूर करने वाले शैम्पू में भी उपयोग किया जाता है (18)।

कैसे करें उपयोग :

  • दो चम्मच नीम के तेल के साथ एक चम्मच नारियल तेल मिलाकर हल्का गर्म कर लें।
  • फिर इस मिश्रण को बालों में लगाकर कुछ मिनट तक मालिश करें।
  • 25 से 30 मिनट बाद बालों को शैंपू कर लें।

4. दो मुंहे बाल

जैसा कि आपने ऊपर पढ़ा कि नीम के तेल से बालों को घना और मजबूत बनाने में मदद मिल सकती है। साथ ही इसके उपयोग से रूसी और जुंओं की समस्या को दूर किया जा सकता है। नीम का तेल बालों और स्कैल्प को पोषण देने का काम करता है। इसलिए, ऐसा माना जा सकता है कि नीम के तेल का इस्तेमाल दो मुंहे बालों की समस्या को ठीक कर सकता है। हालांकि, इस बात कि पुष्टि के लिए कोई वैज्ञानिक प्रमाण मौजूद नहीं है।

कैसे करें उपयोग :

  • नारियल के तेल की कुछ बूंदों के साथ नीम का तेल मिलाएं।
  • फिर उसे बालों में अच्छे से लगा लें।
  • एक दो घंटे बाद बालों को शैम्पू से धो लें।

5. हेयर टेक्सचर में सुधार

नीम का तेल बालों को पोषण देने के साथ-साथ बालों से जुड़ी कई समस्याओं को दूर करने का काम करता है, लेकिन यह बालों के टेक्सचर में सुधार करने में कितना प्रभावी होगा, इस पर अभी सटीक वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है। फिर भी बालों के टेक्सचर के लिए आप नीचे बताए गए तरीके से नीम के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं।

कैसे करें उपयोग :

  • अपने नियमित उपयोग वाले शैम्पू में नीम के तेल की कुछ बूंदें मिलाकर इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • यह उपाय हफ्ते में दो बार किया जा सकता है।

6. स्वस्थ स्कैल्प के लिए

नीम  के  तेल  का  उपयोग  स्कैल्प के  लिए भी  लाभदायक हो सकता है। दरअसल, नीम के तेल में कई तरह के फैटी एसिड पाए जाते हैं, जो बालों के साथ स्कैल्प को पोषण देने का काम कर सकते हैं (16)।

कैसे करें उपयोग :

  • आधा चम्मच नीलगिरी तेल, एक चम्मच नारियल तेल और आधा चम्मच नीम के तेल को मिला लें।
  • इस मिश्रण को बाल और स्कैल्प पर पूरी तरह से लगाकर 10 से 15 मिनट तक हल्की मालिश करें।
  • अच्छे परिणाम के लिए इसे सोने से पहले लगाकर पूरी रात के लिए छोड़ दें।
  • जब आप नहाएं, तो बालों को शैंपू कर लें।

चलिए जानते हैं कि नीम के तेल का उपयोग किस तरह से किया जा सकता है।

नीम के तेल का उपयोग – How to Use Neem Oil in Hindi

कैसे करें इस्तेमाल :

  • नीम के तेल को जैतून के तेल के साथ मिलाकर शरीर के किसी भी तरह के घाव पर लगाया जा सकता है।
  • मच्छरों को दूर रखने के लिए नीम के तेल को त्वचा पर लगाया जा सकता है।
  • मच्छरों और कीड़ों को दूर रखने के लिए घर में नीम के तेल का छिड़काव कर सकते हैं।
  • नीम के तेल को बढ़ते उम्र के प्रभाव को कम करने के लिए त्वचा पर लगा सकते हैं।
  • डॉक्टरी सलाह पर नीम के तेल का इस्तेमाल दांतों के लिए किया जा सकता है।
  • नीम तेल को बालों में लगाने के लिए भी उपयोग किया जा सकता है।

कहां करें इस्तेमाल :

  • बाल
  • त्वचा
  • दांत (डॉक्टरी सलाह पर)
  • घर में
  • घाव पर

क्या नीम के तेल से भी नुकसान हो सकते हैं, चलिए जानते हैं।

नीम के तेल के नुकसान – Side Effects of Neem Oil in Hindi

नीम का तेल जिस तरह लाभदायक है, उसी तरह इसके कुछ नुकसान भी हो सकते हैं, जो इस प्रकार हैं:

  • कुछ लोगों की त्वचा संवेदनशील होती है, जिस कारण नीम के तेल के उपयोग से त्वचा में एलर्जी हो सकती है।
  • बाजार में कई नकली नीम तेल भी उपलब्ध हैं। इनका उपयोग करने पर शरीर को नुकसान हो सकता है।
  • अगर गलती से नीम के तेल का सेवन कर लिया गया, तो यह शरीर में विषाक्ता पैदा कर सकता है, जिससे उल्टी, सिरदर्द व मतली जैसी समस्याएं हो सकती हैं (19)।

तो देखा आपने कि नीम का तेल किस प्रकार शरीर से जुड़ी समस्याओं के लिए लाभकारी हो सकता है। नीम के तेल की कुछ बूंदें आपके स्वास्थ्य के लिए वरदान साबित हो सकती हैं। अगर आप लेख में बताई गई किसी भी समस्या से पीड़ित हैं, तो नीम के तेल का प्रयोग कर सकते हैं। वहीं, जिन लोगों की त्वचा संवेदनशील है, वो बिना डॉक्टरी परामर्श पर इसका इस्तेमाल न करें। आपको यह लेख कैसा लगा हमें नीचे कॉमेंट बॉक्स में बताना न भूलें। अगर नीम के तेल से जुड़ा कोई सवाल आपके मन में है, तो आप बेहिचक हमसे पूछ सकते हैं। हमें आपकी प्रतिक्रिया का इंतजार रहेगा।

और पढ़े:

The following two tabs change content below.

Bhupendra Verma

भूपेंद्र वर्मा ने सेंट थॉमस कॉलेज से बीजेएमसी और एमआईटी एडीटी यूनिवर्सिटी से एमजेएमसी किया है। भूपेंद्र को लेखक के तौर पर फ्रीलांसिंग में काम करते 2 साल हो गए हैं। इनकी लिखी हुई कविताएं, गाने और रैप हर किसी को पसंद आते हैं। यह अपने लेखन और रैप करने के अनोखे स्टाइल की वजह से जाने जाते हैं। इन्होंने कुछ डॉक्यूमेंट्री फिल्म की स्टोरी और डायलॉग्स भी लिखे हैं। इन्हें संगीत सुनना, फिल्में देखना और घूमना पसंद है।

संबंधित आलेख