सामग्री और उपयोग

नींबू के 17 फायदे, उपयोग और नुकसान – Lemon (Nimbu) Benefits, Uses and Side Effects in Hindi

नींबू के 17 फायदे, उपयोग और नुकसान – Lemon (Nimbu) Benefits, Uses and Side Effects in Hindi Hyderabd040-395603080 June 10, 2019

गर्मियों में लू से बचना हो या शरीर को करना हो तरोताजा, नींबू से अच्छा और कोई विकल्प नहीं हो सकता। नींबू अपनी खटास के लिए लोकप्रिय है। इसके रस का इस्तेमाल जायकेदार व्यंजनों से लेकर कई तरह की रिफ्रेशिंग ड्रिंक्स बनाने के लिए किया जाता है। नींबू के फायदों को लेकर कई वैज्ञानिक शोध भी हो चुके हैं। इस लेख में हमारे साथ जानिए कि आपके स्वास्थ्य के लिए नींबू कितना फायदेमंद है और विभिन्न बीमारियों के लिए इसका इस्तेमाल किस प्रकार किया जा सकता है।

नींबू के फायदे – Benefits of Lemon in Hindi

1. वजन घटाने के लिए

Weight loss Pinit

Shutterstock

अगर आप मोटापे से परेशान हैं और वजन घटाने के लिए प्राकृतिक उपाय की तलाश में है, तो नींबू आपकी मदद कर सकता है। एक अध्ययन के अनुसार, नींबू में मौजूद पॉलीफेनॉल्स बढ़ते मोटापे को नियंत्रित कर सकते हैं (1)। शरीर में अतिरिक्त फैट के जमाव को रोकने के लिए ये पॉलीफेनॉल्स कारगर माने गए हैं।
एक अन्य अध्ययन में पाया गया है कि एक डिटॉक्स ड्रिंक के रूप में नींबू शरीर से फैट को कम करने में मदद करता है। साथ ही हृदय रोग के जोखिम को भी कम करता है (2)। इसके अलावा, नींबू को विटामिन-सी का भी अच्छा स्रोत माना गया है। वजन घटाने के लिए विटामिन-सी सबसे खास तत्व माना जाता है (3), (4)।

2. किडनी स्टोन

किडनी स्टोन को हटाने के लिए भी नींबू के फायदे देखे गए हैं। किडनी स्टोन (पथरी) एक चिकित्सीय स्थिति है, जिसमें अपशिष्ट पदार्थ किडनी में जमने लगते है और ठोस होकर क्रिस्टल के रूप में विकसित हो जाते हैं। इससे छुटकारा पाने के लिए नींबू का इस्तेमाल किया जा सकता है। एक रिपोर्ट के अनुसार, नींबू में मौजूद सिट्रिक एसिड किडनी स्टोन को बनने से रोकता है (5)। सिट्रिक एसिड किडनी स्टोन को तोड़ने और पेशाब के रास्ते पथरी को बाहर निकालने में मदद करता है। एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार, रोजाना आधा कप नींबू का रस पानी के साथ मिलाकर पीने से किडनी स्टोन के जोखिम से बचा सकता है (6)।

3. कैंसर

आपको जानकर हैरानी कि नींबू कैंसर जैसी घातक बीमारी से भी रोकथाम का काम करता है। एक अध्ययन के अनुसार, नींबू जैसे सिट्रस फलों का सेवन करने से अग्नाशय के कैंसर (Pancreatic Cancer) से बचा जा सकता है (7)। एक अन्य अध्ययन के अनुसार, नींबू में मौजूद फ्लेवोनोइड्स एंटीकैंसर के रूप में काम करते हैं (8)।

4. पाचन स्वास्थ्य

नींबू के गुण पाचन स्वास्थ्य के लिए भी हैं। सुबह खाली पेट नींबू पानी पीने से पाचन में मदद मिलती है और कब्ज जैसी समस्या से निजात मिलती है। नींबू में मौजूद अम्लता (Acidity) हाइड्रोक्लोरिक एसिड के उत्पादन को उत्तेजित करती है, जिससे पाचन में सुधार आता है। नींबू अन्य पोषक तत्वों के अवशोषण और शरीर को हाइड्रेट करने में मदद भी करता है, जिससे पाचन तंत्र को सुचारू रूप से चलने में मदद मिलती है (9)।

5. बुखार

fever Pinit

Shutterstock

बुखार होने के पीछे कई कारण हो सकते हैं, जिसमें बैक्टीरियल और वायरल संक्रमण प्रमुख हैं (10)। यहां आपकी मदद नींबू कर सकता है। नींबू विटामिन-सी से समृद्ध होता है और इससे बैक्टीरिया व वायरस के कारण होने वाले संक्रमण से बचाव करने में मदद मिलती है (4), (11)।

6. दांत दर्द

दांतों और मसूड़ों के दर्द के लिए भी नींबू के फायदे देखे गए हैं। यहां पर भी नींबू में मौजूद विटामिन-सी की भूमिका देखी जा सकती है। एक रिपोर्ट के अनुसार विटामिन-सी व्यस्कों में दांत निकालने के बाद होने वाले दर्द में निजात दिलाने में मदद कर सकता है (12)।

7. हृदय स्वास्थ्य

आपको जानकर हैरानी होगी कि नींबू का रस हृदय को स्वस्थ रखने में भी अहम भूमिका निभा सकता है। जैसा कि हमने बताया कि नींबू विटामिन-सी बड़ा स्रोत है और विटामिन-सी कोरोनरी हृदय रोग के जोखिम को कम कर सकता है (13)। कुछ वैज्ञानिक अध्ययन बताते हैं कि विटामिन-सी रक्तचाप को नियंत्रित करने का काम भी करता है, जो हृदय के लिए लाभकारी हो सकता है (4) (14), (15)।

नींबू जैसे सिट्रिक फल फ्लेवोनोइड्स से भरपूर होते हैं, जो एथेरोस्क्लेरोसिस के उपचार में मदद करते हैं। एथेरोस्क्लेरोसिस एक चिकित्सीय स्थिति है, जिसमें धमनी की दीवारों पर वसा, कोलेस्ट्रॉल और अन्य पदार्थों का निर्माण होने लगता है (16)।

8. एनीमिया

एनिमिया एक गंभीर रक्त विकार है, जो शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं की कमी से होता है। लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण में आयरन महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, जिसकी पूर्ति नींबू के सेवन से की जा सकती है। नींबू एक सिट्रिस फल है, जो आयरन से भरपूर होता है (4), (17)।

9. रोग प्रतिरोधक क्षमता

Disease resistance Pinit

Shutterstock

नींबू का एक और महत्वपूर्ण काम है, शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करना। इस गुण के लिए नींबू में मौजूद विटामिन-सी की तारीफ की जा सकती है। विटामिन-सी एक कारगर इम्यून बूस्टर के रूप में जाना जाता है, जो शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर शरीर को रोगों से लड़ने के लिए मजबूत बनाता है (4), (18)।

10. लीवर

लीवर के लिए भी नींबू के फायदे देखे जा सकते हैं। नींबू एंटीऑक्सीडेंट गुणों से समृद्ध होता है, जो लीवर स्वास्थ्य को बढ़ावा देने का काम करता है। एक वैज्ञानिक शोध में एल्कहोल से प्रभावित लीवर पर नींबू की सुरक्षात्मक प्रतिक्रिया देखी गई है (19)।

11. श्वसन स्वास्थ्य

श्वसन स्वास्थ्य के लिए भी नींबू के फायदे देखे जा सकते हैं। जैसा कि हमने बताया कि नींबू विटामिन-सी का बड़ा स्रोत है और विटामिन-सी निमोनिया जैसी गुर्दे की बीमारी पर सकारात्मक प्रभाव डाल सकता है (4), (20)। एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार विटामिन-सी सर्दी और अपर रेस्पिरेटरी इन्फेक्शन (वायरल संक्रमण जो नाक, गले और वायुमार्ग को प्रभावित करता है) को भी ठीक करने का काम कर सकता है (21)।

12. मुंहासों के लिए

यहां भी नींबू में विटामिन-सी की अहम भूमिका देखी जा सकती है। विटामिन-सी एंटीइंफ्लेमेटरी गुण से समृद्ध होता है, जो मुंहासों और रोसासिया (त्वचा का लाल होना और पस से भरे दानें) जैसी त्वचा संबंधी परेशानियों को दूर कर सकता है (4), (22)।

13. अंडरआर्म्स के लिए

बगल (अंडरआर्म्स) की चमक बढ़ाने के लिए भी आप नींबू का इस्तेमाल कर सकते हैं। जब भी आप बगल के बालों को हटाएं, तब नींबू की एक स्लाइस लें और अच्छी तरह अंडरआर्म्स पर रगड़ लें। ऐसा करने से अंडरआर्म्स के जीवाणु साफ होंगे और चमक भी बढ़ेगी।

14. स्ट्रेच मार्क्स

शरीर के वजन और आकार में बदलाव के कारण नजर आने वाले स्ट्रेच मार्क्स आपको परेशान कर सकते हैं। इन्हें दूर करने के लिए आप नींबू का उपयोग कर सकते हैं। नींबू विटामिन-सी से समृद्ध होता है, जो त्वचा में कोलेजन को बढ़ाकर स्ट्रेच मार्क्स को दूर करने का काम कर सकता है (4), (23)।

15. झुर्रियों के लिए

झुर्रियों को कम करने के लिए नींबू कारगर हो सकता है। नींबू में मौजूद विटामिन-सी की यहां सुरक्षात्मक भूमिका देखी जा सकती है। विटामिन-सी एक कारगर एंटीऑक्सीडेंट है और झुर्रियों को हटाकर एजिंग के प्रभाव को कम करने में मदद करता है। इसके अलावा, विटामिन-सी कोलेजन को बढ़ाता है और सूर्य की हानिकारक पराबैंगनी किरणों से त्वचा की रक्षा भी करता है (4), (24)।

16. एक्जिमा

Eczema Pinit

Shutterstock

त्वचा संबंधी गंभीर परेशानियों के लिए भी नींबू के गुण देखे गए हैं। एक्जिमा एक गंभीर त्वचा संबंधी बीमारी है, जिससे निजात पाने के लिए आप नींबू का उपचार कर सकते हैं। नींबू में विटामिन-ई गुण होता है, जो एंटीऑक्सीडेंट से समृद्ध होता है। यह एक्जिमा जैसे त्वचा रोगों से निजात दिलाने में मदद कर सकता है (25)।

17. बालों के लिए

बालों के लिए भी नींबू के फायदे बहुत हैं। विटामिन-सी से समृद्ध नींबू बालों की झड़ने की समस्या से निजात दिलाने का काम करता है। इसके अलावा, नींबू आयरन व विटामिन-बी12 से भी समृद्ध होता है, जो बालों को समय से पहले सफेद होने से बचाता है (4), (26)।

नींबू के फायदे जानने के बाद आइए अब जान लेते हैं नींबू के पौष्टिक तत्वों के विषय में।

नींबू के पौष्टिक तत्व – Lemon Nutritional Value in Hindi

शरीर के लिए नींबू के फायदे जानने के बाद आइए जानते हैं इसमें मौजूद पौष्टिक तत्वों के बारे में (4) –

पोषक तत्वमात्रा प्रति 100 ग्राम
पानी

92.31g

ऊर्जा

22kacl

प्रोटीन

0.35g

कुल लिपिड(वसा)

0.24g

फाइबर, कुल डाइटरी

0.3g

शुगर, कुल

2.52g

मिनरल्स
कैल्शियम

6mg

आयरन

0.08mg

मैग्नीशियम

6mg

फास्फोरस

8mg

पोटैशियम

103mg

सोडियम

1mg

जिंक

0.05mg

विटामिन
विटामिन सी

38.7mg

थायमिन

0.024mg

राइबोफ्लेविन

0.015mg

नियासिन

0.091mg

विटामिन-बी6

0.046mg

फोलेट, डीएफई

20µg

विटामिन-बी12

0.00µg

विटामिन ए, RAE

0µg

विटामिन ए IU

6IU

विटामिन ई (अल्फा-टोकोफेरॉल)

0.15mg

विटामिन-डी (डी 2 + डी 3)

0.0µg

विटामिन-डी

0

विटामिन-के (फाइलोक्विनोन)

0.0IU

लिपिड
फैटी एसिड, कुल सैचुरेटेड

0.040g

फैटी एसिड, कुल मोनोअनसैचुरेटेड

0.006g

फैटी एसिड, कुल पॉलीअनसैचुरेटेड

0.021g

फैटी एसिड, कुल ट्रांस

0.000g

कोलेस्ट्रॉल

0mg

नींबू के फायदे और इसके पौष्टिक तत्वों को जानने के बाद नीचे जानिए नींबू का उपयोग किस प्रकार किया जाए।

नींबू का उपयोग – How to Use Lemon in Hindi

सेहत, त्वचा और बालों के लिए नींबू का सेवन विभिन्न प्रकार से किया जा सकता है। नीचे जानिए कि किस प्रकार करें नींबू का इस्तेमाल –

1. मुंहासों के लिए

  • एक नींबू का रस निकालें और कॉटन बॉल की मदद से प्रभावित जगह पर अच्छी तरह लगाएं।
  • एक-दो मिनट के बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।
  • अगर आपकी त्वचा संवेदनशील है, तो आप नींबू के रस में पानी की कुछ बूंदें मिला सकते हैं।

नोट : नींबू के रस में एसिड की मात्रा ज्यादा होती है, इसलिए त्वचा के लिए इसका इस्तेमाल करने से पहले पैच टेस्ट जरूर कर लें।

2. झुर्रियों के लिए

  • नींबू की एक स्लाइस लें और प्रभावित जगह पर कुछ मिनट तक मसाज करें।
  • अगर आपकी त्वचा संवेदनशील है, तो पैच टेस्ट के बाद ही त्चवा के लिए नींबू का प्र्योग करें।

3. स्ट्रेच मार्क्स के लिए

  • एक नींबू से रस लें और उंगलियों की मदद से स्ट्रेच मार्क्स पर लगाएं।
  • लगभग तीन मिनट तक धीरे-धीरे रगड़ें।
  • बाद में गुनगुने पानी से त्वचा को धो लें।

4. इम्यून और पाचन तंत्र के लिए

रोजाना सुबह खाली पेट एक गिलास पानी में एक नींबू का रस निचोड़ कर पिएं।

5. बालों के विकास के लिए

सामग्री :
  • एक चम्मच मेंहदी पाउडर
  • एक अंडे की सफेदी
  • एक कप गर्म पानी
  • आधा नींबू
कैसे करें इस्तेमाल :
  • एक कटोरे में मेंहदी पाउडर, अंडे की सफेदी और गर्म पानी मिलाकर पेस्ट बनाएं।
  • इस मिश्रण में आधा नींबू निचोड़ें।
  • इस मिश्रण को अपने बालों और स्कैल्प पर लगाएं। जब तक मिश्रण सूख न जाए, इसे लगा रहने दें।
  • बाद में साफ पानी से बालों को धो लें।

आप नीचे बताई जा रही नींबू की रेसिपी भी ट्राई कर सकते हैं –

लेमन मोजीतो

Lemon Mojito Pinit

Shutterstock

सामग्री :
  • 10 से 12 पुदीने की पत्तियां
  • नींबू के दो गोल स्लाइस
  • एक चम्मच नींबू का रस
  • एक चुकटी नमक
  • 500ml सोडा
  • चीनी स्वादानुसार
  • चार से पांच आइस क्यूब
बनाने की प्रक्रिया :
  • सबसे पहले ओखली में पुदीने की पत्तियां, नींबू की स्लाइस, नमक और चीनी मिलाकर कूट लें।
  • फिर सभी सामग्री को एक गिलास में डालें।
  • अब इसमें एक चम्मच नींबू का रस मिलाएं।
  • ऊपर से आइस क्यूब डालें।
  • अब अंत में धीरे-धीरे सोडा डालें।
  • आपका लेमन मोजीतो तैयार है।

इसके अलावा, आप खीरे, गाजर और प्याज को मिलाकर बनी सलाद के ऊपर नींबू की कुछ बूंदें छिड़क सकते हैं।

नींबू का उपयोग जानने के बाद अब जानते हैं नींबू से होने वाले वाले नुकसानों के बारे में।

नींबू के नुकसान – Side Effects of Lemon in Hindi

इसमें कोई शक नहीं कि नींबू गुणकारी फल है, लेकिन इसके कुछ दुष्प्रभावों को नकारा नहीं जा सकता है। नीचे जानिए नींबू के कुछ नुकसान :

  • नींबू में सिट्रिक एसिड का मात्रा ज्यादा होती है। इसलिए, नींबू का अधिक सेवन दांत को नुकसान पहुंचा सकता है (28)।
  • नींबू में मौजूद सिट्रिक एसिड संवेदनशील त्वचा के लिए एलर्जी का कारण बन सकता है (29)।

नींबू विटामिन-सी का बड़ा स्रोत है और विटामिन-सी का अत्यधिक सेवन निम्नलिखित शारीरिक समस्याओं का कारण बन सकता है (30) –

  • दस्त
  • मतली
  • पेट में ऐंठन

अगर आप लेख में बताई गई किसी भी शारीरिक समस्या से पीड़ित हैं, तो नींबू के बताए गए उपाय कर सकते हैं। नींबू विभिन्न औषधीय गुणों से भरपूर खाद्य पदार्थ है, जो आपको जल्द स्वास्थ्य लाभ देने का काम करेगा। इसके नियमित प्रयोग के दौरान अगर कुछ दुष्प्रभाव नजर आते हैं, तो घबराए नहीं और डॉक्टर से संपर्क करें। आशा है कि आपको यह लेख पसंद आया होगा। नींबू के ये नुस्खे आपके लिए कितने कारगर हैं, हमें नीचे कमेंट बॉक्स में बताना न भूलें। अन्य जानकारी के लिए आप हमसे सवाल भी पूछ सकते हैं।

संबंधित आलेख