नाक पर कील मुंहासे होने के कारण और घरेलू उपाय – How to Remove Pimples on Nose in Hindi

by

त्वचा पर कील मुंहासे निकलने की समस्या बेहद आम हो गई है। खासकर उनके लिए जिनकी स्किन ऑयली होती है। वैसे तो यह समस्या चेहरे के किसी भी हिस्से में हो सकती है। मगर, जब ये कील मुंहासे चेहरे के बीचो-बीच यानी नाक पर निकल आते हैं, तो इससे चेहरे की खूबसूरती अधिक फीकी लगने लग जाती है। अब ऐसे में प्रश्न उठता है कि चेहरे की खूबसूरती को बनाए रखने के लिए नाक के मुंहासों से कैसे छुटकारा पाएं। इसी सवाल का जवाब देने के उद्देश्य से स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम नाक में मुंहासों के घरेलू उपचार के बारे में बता रहे हैं। इसके अलावा यहां हम नाक में मुंहासे होने के कारण को भी समझाने का प्रयास करेंगे।

शुरू करते हैं लेख

तो आइए बिना इधर-उधर की बात किए पहले हम नाक पर कील मुंहासे के प्रकार जान लेते हैं।

नाक पर मुंहासे के प्रकार – Different types of nose acne in Hindi

मुंहासे त्वचा संक्रमण से होने वाली एक सामान्य समस्या है, जो वसायुक्त ग्रंथियों ( sebaceous glands) में परिवर्तन यानी अत्याधिक मात्रा में सीबम (त्वचा से निकलने वाला प्राकृतिक तेल) के कारण होती है (1)। यहां हम नाक पर होने वाले मुंहासों के प्रकार के बारे में बता रहे हैं, क्योंकि एक बार जब मुंहासे की पहचान हो जाती है, तो उसका उपचार करना भी आसान हो जाता है। इसके बाद लेख में हमने नाक पर मुंहासे होने के कारण को भी बताया है। तो चलिए पहले जान लेते हैं,  नाक पर कील मुंहासे के प्रकार, जो कुछ इस प्रकार हैं :

  1. रोजेशिया – यह एक पुरानी त्वचा की समस्या है, जिससे त्वचा लाल हो जाती है और उसमें सूजन और मुंहासे हो जाते हैं (2)
  2. एक्ने – यह मुंहासे का सबसे आम रूप है, जो आमतौर पर युवावस्था में सबसे ज्यादा प्रभावित करता है। इसमें त्वचा लाल हो जाती है या फिर उस पर व्हाइट हेड्स, ब्लैकहेड्स सूजन वाले पैच विकसित होने लगते हैं (3)

बने रहें हमारे साथ

यहां अब हम नाक में मुंहासे होने के कारण जानेंगे।

नाक पर कील मुंहासे होने के कारण – What Causes Nose Pimple in Hindi

यहां हम बारी-बारी से नाक पर मुंहासे होने के कारण की चर्चा करेंगे, जो कुछ इस प्रकार हैं :

रोजेशिया होने के कारण

रिसर्च की मानें तो आमतौर पर रोजेशिया का कारण पता नहीं है। हालांकि, इसके पीछे के कारणों के लिए कुछ संभावना जताई जाती हैं, जो कुछ इस प्रकार हैं (2):

  • 30 से 50 की उम्र होने पर।
  • अत्याधिक साफ रंगत वाली त्वचा होने पर।
  • महिलाओं में इस समस्या के होने की आशंका अधिक होती है।

एक्ने होने के कारण

त्वचा पर मौजूद रोमछिद्रों का बंद होना त्वचा और नाक पर मुंहासे होने का मुख्य कारण माना जाता है। फिर भी कुछ स्थितियों को नाक पर मुंहासे होने के कारण से जोड़कर देखा जाता है। यह स्थितियां कुछ इस प्रकार हैं (3):

  • त्वचा पर कई छोटे-छोटे छेद होते हैं, जिन्हें रोम छिद्र बोला जाता है। इन रोमछिद्रों में तेल ग्रंथियां मौजूद होती हैं। ऐसे में इन रोमछिद्रों में गंदगी या मृत त्वचा के जमा हो जाने पर मुंहासे होते हैं।
  • वहीं त्वचा पर मौजूद इन रोमछिद्रों से अधिक मात्रा में प्राकृतिक तेल निकालने की वजह से भी रोम छिद्र बंद हो सकते हैं, जिसकी वजह से मुंहासे हो सकते हैं।
  • जब त्वचा ग्रंथियों से निकलने वाला प्राकृतिक तेल मृत त्वचा कोशिकाओं के साथ मिलकर चेहरे के खुले रोम छिद्रों को बंद कर देता है, तो इस स्थिति में बहुत हल्के और छोटे मुंहासे हो सकते हैं। ऐसे में यदि मुंहासों का ऊपरी भाग सफेद है, तो इसे व्हाइटहेड कहा जाता है। वहीं जब मुंहासों का ऊपरी काला या गहरा होता है, तो उसे ब्लैकहेड्स कहा जाता है।
  • वहीं जब रोमछिद्रों में जमाव के साथ इसमें बैक्टीरिया शामिल हो जाते हैं, तो शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली इस पर प्रतिक्रिया देती है, जिससे पिंपल्स हो सकते हैं।
  • वहीं जब रोमछिद्रों के बंद होने के कारण इन रोमछिद्रों में पस का जमाव गहराई तक हो जाता है, तो इस स्थिति में नोडुलोसिस्टिक एक्ने हो सकते हैं।

इसके अलावा कुछ अन्य कारक भी होते हैं, जो नाक पर मुंहासे होने का कारण बन सकते हैं, जैसे (3):

  • हार्मोनल परिवर्तन, जो त्वचा को अधिक तैलीय बनाते हैं। ये परिवर्तन युवावस्था, मासिक धर्म के समय, गर्भावस्था, जन्म नियंत्रण की गोलियां, या तनाव से संबंधित हो सकते हैं।
  • तैलीय त्वचा पर लगाए जाने वाला कॉस्मेटिक और हेयर प्रोडक्ट्स।
  • कुछ दवाएं (जैसे कि स्टेरॉयड, टेस्टोस्टेरोन, एस्ट्रोजन और फेनीटोइन)।
  • अधिक पसीना और नमी।
  • अत्यधिक स्पर्श करना या रगड़ना।

नीचे स्क्रॉल करें

नाक पर मुंहासे होने के कारण जानने के बाद अब जानिए नाक में मुंहासों के घरेलू उपचार के बारे में।

नाक पर कील मुंहासे हटाने के घरेलू उपाय – Nose Pimple Home Remedies in Hindi

यहां हम नाक में मुंहासों के घरेलू उपचार बता रहे हैं, जिसकी मदद से घर बैठे आसानी से नाक के मुंहासों को दूर किया जा सकता है। आइए जानते हैं नोज एक्ने होम रेमेडीज के बारे में, जो इस प्रकार हैं :

1. नींबू का रस

सामग्री :

  • नींबू का रस – एक चम्मच
  • रूई

उपयोग करने का तरीका :

  • सबसे पहले कॉटन बॉल को नींबू के रस में भिगो लें।
  • अब इस रूई को नाक पर लगाएं और लगभग 15 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • 15 मिनट बाद इसे पानी से धो लें।
  • इस प्रक्रिया को दिन में दो बार दोहरा सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद :

नाक में मुंहासों के घरेलू उपचार के लिए नींबू का उपयोग लाभकारी साबित हो सकता है। इस बात की जानकारी एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की साइट पर प्रकाशित एक शोध से मिलती है (4)। इसके अलावा एक अन्य शोध से पता चलता है कि नींबू के रस में एंटी एक्ने वल्गैरिस प्रभाव मौजूद होते हैं, जो मुंहासों को दूर करने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले क्लींजर के मुकाबले अधिक प्रभावी साबित हो सकता है (5)

2. एलोवेरा जेल

सामाग्री :

  • एलोवेरा जेल (आवश्यकतानुसार)        

उपयोग करने का तरीका :

  • साफ हाथों से एलोवेरा जेल ले और उसे प्रभावित जगह पर लगाएं।
  • इसका इस्तेमाल रोजाना 3 से 4 बार कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद :

नाक में मुंहासों के घरेलू उपचार के लिए एलोवेरा जेल का उपयोग बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है। दरअसल, एलोवेरा जेल में एंटी एक्ने गुण मौजूद होता है, जो मुंहासों को कम करने के लिए प्रभावी माना जाता है। इसके अलावा इसमें एंटी बैक्टीरियल (बैक्टीरियाओं को पनपने से रोकने वाला) और एंटी इंफ्लामेटरी (सूजन को कम करने वाला) गुण भी मौजूद होते हैं (6)। इस कारण यह मुंहासों के कारणों को कम करने में भी मदद कर सकता है, जिस बारे में आपको लेख में पहले ही बताया जा चुका है (3)। इस आधार पर यह माना जा सकता है कि एलोवेरा जेल नाक पर कील मुंहासे से छुटकारा दिलाने में मदद कर सकता है।

3. टी ट्री का तेल

सामाग्री :

  • टी ट्री का तेल – एक से दो बूंद
  • कॉटन बॉल

उपयोग करने का तरीका :

  • कॉटन बॉल की मदद से टी ट्री ऑयल को नाक के मुहांसों के चारों ओर लगाएं।
  • इसके बाद 10 मिनट के लिए इसे ऐसे ही छोड़ दें।
  • 10 मिनट बाद जब यह सूख जाए, तो पानी से इसे धो लें।
  • इसे रोजाना एक बार इस्तेमाल कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद :

मुंहासे के लिए टी ट्री ऑयल का उपयोग एक कारगर नुस्खा माना जा सकता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर मौजूद रिसर्च के मुताबिक, हल्के और मध्यम मुंहासे के उपचार के लिए एक बेहतरीन प्राकृतिक विकल्प के रूप में टी ट्री ऑयल का उपयोग किया जा सकता है (7)। दरअसल, इस लाभ के पीछे का कारण टी ट्री ऑयल में मौजूद  एंटीसेप्टिक और एंटी माइक्रोबियल (बैक्टीरिया से लड़ने वाला) प्रभाव को माना जाता है, जो मुंहासों का कारण बनने वाले बैक्टीरिया को खत्म करने में मददगार साबित हो सकते हैं (8)

4. सेब का सिरका

सामाग्री :

  • सेब सेब का सिरका – एक से दो बूंद

उपयोग करने का तरीका :

  • सेब के सिरके को सीधे तौर पर नाक के मुंहासों पर लगाएं और उसे प्राकृतिक रूप से सूखने दें।
  • जब यह सूख जाए, तो इसे धो लें।
  • रोजाना दिन में एक बार इस प्रक्रिया को उपयोग कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद :

नाक के मुंहासों को कम करने के लिए सेब के सिरके का उपयोग भी फायदेमंद साबित हो सकता है। ऐसा इसलिए, क्योंकि सेब का सिरका एंटीमाइक्रोबियल गुण (बैक्टीरिया से लड़ने वाला) से समृद्ध होता है। इसका यह गुण मुंहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया को पनपने से रोकने में मदद कर सकता है (9) (10)। यही कारण है कि नाक में मुंहासों के घरेलू उपचार के लिए सेब का सिरका कारगर माना जा सकता है।

5. टूथपेस्ट

सामाग्री :

  • टूथपेस्ट

उपयोग करने का तरीका :

  • रात में सोने से पहले नाक के मुंहासों पर टूथपेस्ट को लगाएं और रात भर छोड़ दें।
  • फिर अगले दिन सुबह उसे ठंडे पानी से धो लें।
  • इस प्रक्रिया को रोजाना इस्तेमाल कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद :

टूथपेस्ट पर हुए रिसर्च से जानकारी मिलती है कि नाक में मुंहासों के घरेलू उपचार के लिए टूथपेस्ट एक अच्छा और आसान विकल्प साबित हो सकता है। इस शोध के मुताबिक, टूथपेस्ट में एंटी एक्ने प्रभाव होते हैं, जो मुंहासों (खास कर सफेद मुंह वाले मुंहासे) को ठीक करने में काफी हद तक कारगर साबित हो सकते हैं (11)

6. ओट्स

सामाग्री :

  • ओट्स पाउडर – आधा चम्मच
  • शहद – आधा चम्मच

उपयोग करने का तरीका :

  • एक बर्तन में ओट्स पाउडर और शहद को अच्छे से मिला लें।
  • इसके बाद इस पेस्ट को प्रभावित जगहों पर लगाएं।
  • 15 से 20 मिनट बाद जब यह अच्छे से सूख जाए, तो इसे पानी से धो ले।
  • इस प्रक्रिया हो दिन में एक बार करें।

कैसे है फायदेमंद :

मुंहासों से राहत पाने के लिए ओट्स का इस्तेमाल लाभकारी हो सकता है। इससे जुड़े शोध से जानकारी मिलती है कि ओट्स का उपयोग मुंहासे को कम करने के लिए किया जा सकता है। दरअसल, ओट्स त्वचा से अधिक तेल और बैक्टीरिया को हटाने में मदद कर सकता है। इसके अलावा ओट्स स्किन से डेड सेल को निकालने में भी सहायक हो सकता है। ये सभी गुण मुंहासों को पनपने से रोकने में मदद कर सकते हैं (12)। वहीं शहद में भी एंटी-एक्ने यानी मुंहासों से राहत दिलाने वाला गुण मौजूद होता है (13)

लेख में आगे बढ़ें

लेख के इस हिस्से में हम चर्चा करेंगे कि नाक पर कील मुंहासे से बचाव के लिए क्या खाएं और क्या न खाएं।

नाक पर कील मुंहासे से बचाव के लिए क्या खाएं और क्या न खाएं – Diet for Pimples on Nose in Hindi

नाक के मुहांसों को कम करने के लिए सही खानपान के बारे में जानकारी होना भी बेहद जरूरी है। इसलिए यहां हम बताएंगे कि कील मुहांसों से बचाव के लिए क्या खाना चाहिए और क्या नही खाना चाहिए।

मुहांसों से बचाव के लिए क्या खाएं (1):

  • ताजे फल
  • हरी सब्जियां
  • साबुत अनाज
  • दलिया
  • ब्राउन राइस
  • ग्रीन टी
  • ठंडे खाद्य पदार्थ (जैसे-लौकी, तरबूज, हरी बीन्स)
  • उच्च फाइबर युक्त आहार
  • कम वसा वाले आहार
  • डेयरी प्रोडक्ट्स
  • अंडे
  • सी फूड्स
  • सोया
  • जिंक, विटामिन ए, विटामिन सी और विटामिन ई युक्त खाद्य पदार्थ

मुहांसों से बचाव के लिए क्या न खाएं (1) (14):

  • अधिक मीठे खाद्य पदार्थ
  • अधिक कार्बोहाइड्रेट वाले खाद्य पदार्थ जैसे – ब्रेड और चिप्स।
  • कैफीन युक्त पेय पदार्थ
  • चॉकलेट
  • दूध

बने रहें हमारे साथ

आइए अब जानते हैं, नाक पर फुंसी का इलाज किन-किन तरीकों से किया जा सकता है।

नाक पर फुंसी का इलाज – Pimples on Nose Treatments in Hindi

अगर नाक के मुंहासे घरेलू उपचार से ठीक नहीं होते हैं, तो ऐसी स्थिति में नाक पर फुंसी का इलाज कराया जा सकता है। नाक पर फुंसी का इलाज करने के लिए डॉक्टर निम्न चीजों को इस्तेमाल में लाने की सलाह दे सकते हैं (15)

  1. टॉपिकल ट्रीटमेंट – अगर नाक पर हल्के से मध्यम सूजन वाले मुंहासे हैं तो उसके इलाज के लिए एंटी इंफ्लेमेटरी (सूजन को कम करने वाला) और एंटी माइक्रोबियल (बैक्टीरियाओं को पनपने से रोकने वाला) दवाओं का प्रयोग किया जा सकता है।
  2. सिस्टमिक ट्रीटमेंट (मौखिक दवाएं) – नाक पर फुंसी का इलाज मौखिक एंटीबायोटिक की मदद से भी किया जा सकता है। इसका उपयोग मध्यम और गंभीर मुंहासे के इलाज के लिए किया जाता है।
  3. हार्मोनल थेरेपी – इस थेरेपी का उपयोग खासकर महिलाओं के लिए किया जाता है। इसके जरिए एण्ड्रोजन स्तर को कम करके और वसामय ग्रंथि (sebaceous gland) पर उनके प्रभावों को कम करके मुंहासों का उपचार किया जाता है।
  4. लाइट और लेजर थेरेपी- इसमें लाइट पर और लेजर किरणों के जरिए मुंहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया को खत्म कर मुंहासों का इलाज किया जाता है।
  5. होम्योपैथी – नाक पर कील मुंहासे का इलाज होम्योपैथी के जरिए भी किया जा सकता है। अन्य इलाज के अपेक्षा इसे अधिक सुरक्षित और सस्ता माना जाता है (16)

अभी बाकी है जानकारी

लेख के अंत में हम नाक पर कील मुंहासे से बचाव के बारे में जानेंगे।

नाक पर कील मुंहासे से बचाव – Prevention Tips for Pimples on Nose in Hindi

नाक में मुंहासों के घरेलू उपचार तो हम लेख में बता ही चुके हैं। चलिए अब जानते हैं कि नाक पर कील मुंहासे से कैसे बचाव किया जा सकता है (3) :

  • त्वचा को साफ करने के लिए ऐसे साबुन का उपयोग करें, जो त्वचा को रूखा नहीं बनाते हो।
  • चेहरे के मेकअप के लिए हमेशा ही नॉन-कॉमेडोजेनिक (जो रोम छिद्रों को बंद न करे) मेकअप का ही इस्तेमाल करें।
  • चेहरे को दिन में एक या दो बार धोएं और चेहरे के मेकअप और गंदगी को बाहर निकालें।
  • त्वचा को बार-बार धोने से बचें और उसे अधिक रगड़ने से भी बचें।
  • अगर बाल तैलीय है, तो उसे रोजाना शैम्पू करें।
  • अपने बालों पर चेहरे पर न आने दें और पीछे की ओर की झाड़ें।

मुहांसों से बचने के लिए क्या न करें :

  • त्वचा को अधिक जोर से न रगड़ें। इससे त्वचा में संक्रमण हो सकता है या फिर निशान पर सकते हैं।
  • अधिक कसी हुई टोपी या हेयर बैंड के इस्तेमाल से बचें।
  • अपनी त्वचा को हाथों या उंगलियों से बार-बार छूने से बचें।
  • तैलीय क्रीम या अन्य कॉस्मेटिक्स के प्रयोग से बचें।
  • चेहरे पर रात भर के लिए मेकअप न छोड़ें।

अब तो आप समझ गए होंगे कि नाक में मुंहासे होने के कारण त्वचा की चमक और खूबसूरती कहीं न कहीं प्रभावित जरूर होती है। इसलिए इससे निजात पाना जरूरी है। इस लेख में हमने नाक में मुंहासे होने के कारण और इससे बचाव के लिए घरेलू नुस्खों के बारे में विस्तार से बताया है। इसके अलावा आर्टिकल में हमने नाक पर फुंसी का इलाज भी बताया है। तो अब आप बेझिझक यहां बताए गए उपायों को अपना सकते हैं। वहीं अगर मुंहासे गंभीर हों, तो बिना देर  किए तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। अब आगे हम पाठकों द्वारा पूछे गए सवालों के जवाब दे रहे हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या रातों-रात नाक के पिंपल्स से छुटकारा पाना संभव है?

जी नहीं, रातों-रात नाक के मुंहासों से छुटकारा नहीं पाया जा सकता है। मुंहासे कोई एक दिन में ठीक होने वाली समस्या नहीं है। इसके लिए आपको सही उपचार अपनाते हुए खुद को थोड़ा समय देना होगा।

 क्या टूथपेस्ट नाक की फुंसियों के लिए अच्छा है?

हां, टूथपेस्ट नाक की फुंसियों के लिए अच्छा माना जा सकता है। लेख में हमने इसकी जानकारी दी है (11)

16 Sources

Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Aviriti Gautam

आवृति गौतम ने सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ बिहार से मास कम्युनिकेशन में एमए किया है। इन्होंने अपने करियर की शुरूआत डिजिटल मीडिया से ही की थी। इस क्षेत्र में इन्हें काम करते हुए दो वर्ष से ज्यादा हो गए हैं। आवृति को स्वास्थ्य विषयों पर लिखना और अलग-अलग विषयों पर विडियो बनाना खासा पसंद है। साथ ही इन्हें तरह-तरह की किताबें पढ़ने का, नई-नई जगहों पर घूमने का और गाने सुनने का भी शौक है।

ताज़े आलेख

scorecardresearch