सामग्री और उपयोग
Stylecraze

ओट्स (जई) के 24 फायदे, उपयोग और नुकसान – Oats Benefits, Uses and Side Effects in Hindi

by
ओट्स (जई) के 24 फायदे, उपयोग और नुकसान – Oats Benefits, Uses and Side Effects in Hindi Hyderabd040-395603080 August 20, 2019

अगर दिन की शुरुआत हेल्दी नाश्ते से हो, तो दिनभर शरीर में ऊर्जा बनी रहती है। इस मामले में ओट्स से बेहतर और कुछ नहीं हो सकता। यह न सिर्फ खाने में स्वादिष्ट होता है, बल्कि इसमें कई तरह के पोषक तत्व भी पाए जाते हैं। ओट्स शरीर को पोषण देने के साथ-साथ कई तरह के बीमारी से भी राहत दिला सकते हैं। फिर चाहे आपको अपना स्वास्थ्य बेहतर करना हो या फिर त्वचा और बालों में निखार लाना हो। हर मामले में ओट्स लाजवाब है। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम आपको ओट्स के फायदे के साथ-साथ ओट्स बनाने की विधि के बारे में भी बताएंगे।

ओट्स (जई) क्या हैं – What is Oats in Hindi

कुछ लोग अक्सर पूछते हैं कि ओट्स क्या होता है। आपको बता दें कि ओट्स (जई) एक तरह का दलहन है। इसका साइंटिफिक नाम ऐवना सटाइवा (Avena sativa) है और यह पोएसी (Poaceae) परिवार से संबंधित है। ओट्स को मुख्य रूप से खाने के लिए उपयोग किया जाता है। इसे ज्यादातर लोग नाश्ते के तौर पर उपयोग करते हैं। इसकी खेती की शुरुआत स्कॉटलैंड में हुई और आज लगभग सभी देशों में इसका उपयोग किया जाता है। स्कॉटलैंड में ओट्स को मुख्य आहार के रूप में उपयोग किया जाता है। इसका सेवन आपको स्वस्थ रखने के साथ-साथ कई रोगों से छुटकारा दिलाने में भी सहायता कर सकता है।

आइए देखते हैं कि ओट्स खाने के फायदे क्या-क्या हो सकते हैं।

ओट्स के फायदे – Benefits of Oats in Hindi

ओट्स में पाए जाने वाले पौष्टिक तत्व आपको अनेक तरह से फायदा पहुंचा सकते हैं। इस लेख में उन फायदों को विस्तार से जानेंगे।

सेहत के लिए ओट्स (जई) के फायदे – Health Benefits of Oats in Hindi

कई बीमारियों को रोकने और उनसे निजात दिलाने के लिए ओट्स का सेवन लाभदायक हो सकता है। चलिए, सबसे पहले हम ओट्स के सेहत संबंधी फायदों के बारे में बात करते हैं।

1. मधुमेह के लिए

For diabetes Pinit

Shutterstock

एक शोध में पाया गया है कि ओट्स घुलनशील फाइबर का अच्छा स्रोत होता है। फाइबर में बीटा-ग्लूकॉन पाए जाते हैं, जो ग्लाइसेमिक प्रभाव को कम करते हैं और इंसुलिन के प्रभाव को सक्रिय करने का काम करते हैं। इससे रक्त में शुगर की मात्रा को संतुलित रखने में मदद मिलती है (1)। इसका फायदा मधुमेह के रोगियों को हो सकता है।

2. कार्डिएक हेल्थ (ह्रदय + कोलेस्ट्रॉल)

ओट्स का सेवन ह्रदय रोग और कोलेस्ट्रॉल की समस्या से राहत दिलाने में मददगार साबित हो सकता है। कारण यह है कि इसमें प्रचुर मात्रा में फाइबर पाया जाता है। इस संबंध में किए गए एक अध्ययन में पाया गया है कि ओट्स में मौजूद फाइबर कोलेस्ट्रोल को भी कम करने का काम करता है। साथ ही इससे ह्रदय संबंधी जोखिमों को भी दूर रखने में मदद मिलती है (2)।

3. कैंसर के लिए

For cancer Pinit

Shutterstock

ओट्स का उपयोग कैंसर जैसी गंभीर समस्या से निजात पाने में भी किया जा सकता है। इस संबंध में किए शोध में यह पाया गया है कि ओट्स में मौजूद एंटीइंफ्लेमेटरी गुण कैंसर को बढ़ावा देने वाली कोशिकाओं को कम करते हैं और अच्छे कोशिकाओं को बनाए रखते हैं (3)। इस आधार पर यह माना जा सकता है कि ओट्स का सेवन कैंसर की समस्या में राहत दिलाने का भी काम कर सकता है।

4. उच्च रक्तचाप

ओट्स का उपयोग उच्च रक्तचाप की समस्या को दूर करने में मददगार साबित हो सकता है। इसमें घुलनशील फाइबर होता है, जो उच्च रक्तचाप के रोगियों के सिस्टोलिक व डायस्टोलिक ब्लड प्रेशर (डीबीपी) को कम कर सकता है। इससे उच्च रक्तचाप के खतरे को दूर रखा जा सकता है (4)।

5. वजन घटाने के लिए

To lose weight Pinit

Shutterstock

ओट्स का सेवन आपके वजन को कम करने में सहायक हो सकता है। इस बात कि पुष्टि एक साइंटिफिक रिसर्च से भी हो चुकी है। एक शोध के अनुसार, ओट्स में पाए जाने वाला बीटा ग्लूकॉन खाने को पचाने के साथ ही शरीर में ऊर्जा को बनाए रखता है, जो भूख को शांत रखता है। इससे कि वजन को कम करने में मदद मिल सकती है (5)। इसके सेवन के साथ नियमित व्यायाम का भी ध्यान रखना जरूरी है।

6. इम्युनिटी के लिए

ओट्स में बीटा-ग्लूकॉन पाए जाते हैं, जो ग्लाइसेमिक प्रभाव को कम करने में और इंसुलिन के प्रभाव को सक्रिय करने में मदद कर सकते हैं। साथ ही इम्यून सिस्टम को मजबूत करने का भी काम करते हैं। ओट्स के सेवन से मैक्रोफेज (macrophage) और न्यूट्रोफिल (neutrophil) ( ये दोनों श्वेत रक्त कोशिकाओं के प्रकार हैं) को बढ़ावा मिलता है, जो बैक्टीरिया, वायरस और फंगस को दूर रखने के लिए जाने जाते हैं (6)।

7. कब्ज के लिए ओट्स के फायदे

Benefits of oats for constipation Pinit

Shutterstock

ठीक से पेट साफ न होने पर दिनभर स्वभाव चिड़चिड़ा रहता है। ऐसे में ओट्स का सेवन कर कब्ज की समस्या को दूर किया जा सकता है। ओट्स में पाए जाने वाला फाइबर इस समस्या से निजात दिलाने में सहायक हो सकता है, क्योंकि यह भोजन को पचाकर मल के रूप में बाहर निकालने का काम करता है (7) (8)। इससे आंत को मजबूत करने में मदद मिलती है, जिससे कब्ज से राहत मिलती है।

8. तनाव से राहत

ओट्स खाने के फायदे में तनाव से राहत मिलने का भी जिक्र किया गया है। तनाव को कम करने के लिए विटामिन बी के समूह के साथ फोलेट भी फायदेमंद होते हैं। इसमें विटामिन बी-6 और बी-12 को खास वरीयता दी गई है (9)। ओट्स में विटामिन बी समूह की अच्छी मात्रा पाई जाती है। विटामिन बी-6 और फोलेट तनाव के साथ-साथ स्वास्थ्य के लिए भी लाभकारी हो सकते हैं (10)।

9. पाचन क्रिया के लिए

एक रिसर्च में पाया गया है कि घुलनशील फाइबर पानी को आकर्षित करता है और पाचन के दौरान जेल में बदल जाता है। इससे पाचन की प्रक्रिया धीमी हो जाती है। कुछ खाद्य आहार में घुलनशील फाइबर की मात्रा पाई जाती है, जिनमें ओट्स (जई), जौ, नट्स, मटर और फल व सब्जियां शामिल हैं। घुलनशील फाइबर ह्रदय रोग के जोखिम को भी कम करने में मदद कर सकता है। ओट्स में अघुलनशील फाइबर भी होता है, जो पचे हुए खाद्य पदार्थ को मल के रूप में बाहर निकालने में मदद करता है (11)।

10. हड्डियों के लिए

To bones Pinit

Shutterstock

सिलिकॉन एक खनिज है, जिसे हड्डियों के निर्माण और उन्हें मजबूत करने के लिए जाना जाता है। एक शोध में पाया गया कि ओट्स में कैल्शियम, प्रोटीन, मैग्नीशियम व सिलिकॉन की अच्छी मात्रा पाई जाती है, जो हड्डियों के लिए फायदेमंद हो सकते हैं (12)(8) । इसलिए, कह सकते हैं कि ओट्स का सेवन हड्डियों के लिए फायदेमंद होता है।

11. ऊर्जा बढ़ाने के लिए

ओट्स के सेवन से शरीर की ऊर्जा बढ़ाने में सहायता मिल सकती है। ओट्स में विटामिन्स, मिनरल और फाइबर मुख्य होते हैं। इसके सेवन से शरीर को लंबे समय तक थकान का अनुभव नहीं होता है (13) (8)।

12. बेहतर नींद लाने में सहायक

Helpful in getting better sleep Pinit

Shutterstock

ओट्स खाने के फायदे में बेहतर नींद सोना भी शामिल है। ओट्स की हस्क के उपयोग से सेरोटोनिन (एक तरह का तत्व, जो मूड को अच्छा करने का काम करता है) के स्तर में सुधार किया जा सकता है , जो अच्छी नींद के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है (14)।

13. रजोनिवृत्ति के लक्षणों से राहत

रजोनिवृत्ति के दौरान हाई डेंसिटी लिपिड (एचडीएल) यानी अच्छे कोलेस्ट्रोल के स्तर में कमी आती है, जबकि लो डेंसिटी लिपिड (एचडीएल) यानी खराब कोलेस्ट्रोल का स्तर बढ़ जाता है। इससे ह्रदय रोग कि समस्या बढ़ सकती है। ऐसा एस्ट्रोजन में कमी के कारण होते है (15)। ऐसे में ओट्स का सेवन शरीर में लिपिड के स्तर को संतुलित करता है, जो रजोनिवृत्ति के लक्षण से राहत दिलाने का काम करता है (16)।

ऊपर आपने स्वास्थ्य के लिए ओट्स के गुण जाने, अब त्वचा के लिए इसके फायदों की बात करते हैं।

त्वचा के लिए ओट्स के फायदे – Skin Benefits of Oats in Hindi

जैसा कि ऊपर आपने बीमारियों के लिए ओट्स खाने के फायदे जानें , वैसे ही त्वचा के लिए ओट्स किस तरह फायदेमंद है, आगे जानेंगे।

1. मुंहासों के लिए

For acne Pinit

Shutterstock

कैसे है लाभदायक :

मुंहासे को दूर करने के लिए ओट्स का उपयोग लाभदायक हो सकता है। ओट्स में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं, जो त्वचा के लिए अधिक फायदेमंद होते हैं। उन्हीं फायदों में से एक मुंहासे के लिए भी हो सकता है (17)।

सामग्री :

  • 2 चम्मच ओट्स
  • 1 चम्मच बेकिंग सोडा
  • पानी

कैसे करें उपयोग :

  • ओट्स को पीस लें और बेकिंग सोडा के साथ पानी मिलाकर पेस्ट बना लें।
  • पेस्ट को चेहरे पर लगाएं और 10 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • फिर ठंडे पानी से धो लें।

2. त्वचा को मॉइस्चराइज करने के लिए

कैसे है लाभदायक :

एक वैज्ञानिक रिसर्च में देखा गया है कि ओट्स पाउडर का उपयोग कर बनाया गया मॉइस्चराइजर लोशन त्वचा को सूखने से बचा सकता है। यह त्वचा को 24 घंटे तक मॉइस्चराइज रखने का काम कर सकता है (18), लेकिन इस संबंध में अभी और वैज्ञानिक अध्ययन की जरूरत है।

सामग्री :

  • 2 चम्मच ओट्स
  • 1 चम्मच नींबू का रस
  • 1 चम्मच शहद

कैसे करें उपयोग :

  • ओट्स पाउडर, नींबू के रस और शहद को मिला लें।
  • फिर इसे चेहरे पर लगाएं।
  • कुछ समय रहने दें और फिर गर्म पानी से धो लें।

3. सूखी त्वचा और खुजली का इलाज

Treatment of dry skin and itching Pinit

Shutterstock

कैसे है लाभदायक :

ओट्स आपको त्वचा पर जलन, रूखेपन और खुजली आदि से दूर रखने में मदद कर सकता है। ओट्स में एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटीइंफ्लेमेटरी प्रभाव पाए जाते हैं, जो बैक्टीरिया को दूर रखने का काम कर सकते हैं। बैक्टीरिया के कारण विभिन्न प्रकार के त्वचा संबंधी रोग हो सकते हैं (19)। कुछ बॉडी केयर क्रीम में ओट्स के उपयोग कि जानकारी मिलती है।

सामग्री :

  • आधा कप ओट्स
  • 1 अंडा
  • 1 चम्मच बादाम का तेल
  • 1 केला मैश किया हुआ
  • 1 चम्मच शहद

कैसे करें उपयोग :

  • सभी को मिलाकर चेहरे पर लगाएं।
  • फिर 10 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • उसके बाद गर्म पानी से धो लें।

4. निखरी त्वचा के लिए

कैसे है लाभदायक

त्वचा का सांवला होना मेलोनिन की कमी के कारण होता है। इस कमी को पूरा करने के लिए विटामिन सी की भूमिका पाई गई है। ओट्स में विटामिन सी पाया जात है, इसलिए इसके उपयोग से आपकी त्वचा की रंगत में निखार आ सकता है (20) (21)।

सामग्री :

  • 2 चम्मच ओट्स
  • 1 चम्मच शहद

कैसे करें उपयोग :

  • ओट्स को पीस लें और शहद में मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें।
  • फिर पेस्ट को त्वचा पर लगाएं और 10 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • उसके बाद गुनगुने पानी से धो लें।

5. ओट्स क्लीन्जर के रूप में

कैसे है लाभदायक :

एक रिसर्च में देखा गया कि ओट्स में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रभाव पाए जाते हैं, जो त्वचा के लिए बतौर मॉइस्चराइजर और क्लींजर का काम करते हैं (22)। इसलिए, ओट्स का उपयोग क्लीन्जर के रूप में किया जा सकता है।

सामग्री :

  • 1 कप ओट्स
  • लैवेंडर तेल की कुछ बूंदें

कैसे करें उपयोग :

  • गुनगुने पानी में ओट्स को भिगो लें और उसमे लैवेंडर तेल की कुछ बूंदें डाल दें।
  • 15 से 30 मिनट तक अच्छी तरह से भीगने दें और फिर उस पानी से त्वचा को साफ करें।

6. चिकन पॉक्स का इलाज

Treat chicken pox Pinit

Shutterstock

कैसे है लाभदायक :

चिकन पॉक्स के समस्या से राहत दिलाने में एंटी माइक्रोबियल अहम किरदार निभाता है (23)। एक शोध में पाया गया कि ओट्स में एंटी माइक्रोबियल जाते हैं, जो इस समस्या के लिए फायदेमंद हो सकते हैं (24)।

सामग्री :

  • 1 कप ओट्स
  • 1 कप बेकिंग सोडा

कैसे करें उपयोग :

  • पानी में ओट्स पाउडर और बेकिंग सोडा को मिलकर उससे स्नान करें।
  • स्नान के बाद त्वचा को तौलिये से साफ करें।

7. त्वचा की रक्षा

एक वैज्ञानिक शोध से पता चलता है कि ओट्स में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी प्रभाव पाए जाते हैं, जो विभिन्न प्रकार के त्वचा में आई सूजन को ठीक करने में मदद कर सकते हैं। साथ ही ओट्स त्वचा को सूरज की पराबैंगनी किरणों से सुरक्षा प्रदान करते हैं (25)।

आर्टिकल के इस हिस्से में हम बालों के लिए ओट्स के फायदे बता रहे हैं।

बालों के लिए ओट्स के फायदे – Hair Benefits of Oats in Hindi

जैसा कि आपने त्वचा के लिए ओट्स के फायदे जाने, वैसे ही यह बालों के लिए किस तरह फायदेमंद है आगे जानते हैं।

1. बालों का झड़ना रोके

Stop hair fall Pinit

Shutterstock

कैसे है लाभदायक :

एक रिसर्च में देखा गया है कि सिलिकॉन बालों के विकास में मदद कर सकता है। कुछ खाद्य पदार्थ में सिलिकॉन एसिड पाए जाते हैं, जिनमे चावल ,गेहूं और ओट्स को शामिल हैं (26)। इसलिए, ओट्स का उपयोग आपके बालों के विकास के लिए फायदेमंद माना जा सकता है।

सामग्री :

  • 3 चम्मच ओट्स
  • 1 कप दूध
  • 1 चम्मच नारियल तेल
  • 1 चम्मच शहद

कैसे करें उपयोग :

  • सभी सामग्रियों को मिलकर पेस्ट बना लें।
  • फिर इसे स्कैल्प और बालों पर लगाएं।
  • 30 मिनट के बाद शैम्पू से बालों को धो लें।

2. रूसी को दूर करने के लिए

To remove dandruff Pinit

Shutterstock

कैसे है लाभदायक :

ओट्स आपकी रूसी की समस्या को दूर करने में सहायक हो सकता है। ओट्स में विटामिन बी-6 पाया जाता है, जिसे रूसी को हटाने के लिए मुख्य रूप से जाना जाता है। इसलिए, कहा जा सकता है कि ओट्स रूसी से निजात दिलाने में सहायक होता है (27)।

सामग्री :

  • 4 चम्मच ओट्स पाउडर
  • 2 चम्मच कंडीशनर

कैसे करें उपयोग :

  • ओट्स पाउडर और कंडीशनर को मिलाकर पेस्ट बना लें।
  • पेस्ट को बालों में लगाकर अच्छे से मालिश करें।
  • फिर इसे कुछ समय के लिए छोड़ दें और बाद में शैम्पू कर लें।

3. बाल बनें चमकदार

कैसे है लाभदायक :

ओट्स में सिलिकॉन पाया जाता है, जो बालों का झड़ना कम कर सकता है। साथ ही बालों को चमकदार बनाने में मदद कर सकता है (28) (29)।

सामग्री :

  • 3 चम्मच ओट्स
  • 1 कप दूध
  • 1 चम्मच नारियल तेल
  • 1 चम्मच शहद

कैसे करें उपयोग :

  • सभी सामग्री को मिलकर पेस्ट बना लें।
  • पेस्ट को सिर पर लगाकर अच्छी तरह से मालिश करें और 30 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • फिर बालों को शैम्पू से धो लें।

4. ब्लॉन्ड हेयर के लिए

यह तो आप जान ही चुके हैं कि ओट्स बालों के लिए फायदेमंद है। इसलिए, ऐसा माना जाता है कि ओट्स सफेद बालों ( ब्लॉन्ड हेयर) के लिए भी लाभदायक हो सकता है। यहां हम स्पष्ट कर दें कि इस मामले में अभी तक कोई वैज्ञानिक अध्ययन नहीं हुआ है। इसलिए, आप इसे प्रयोग करने से पहले एक बार विशेषज्ञों की राय जरूर लें।

चलिए,अब ओट्स में पाए जाने वाले पौष्टिक तत्वों पर एक नजर डालते हैं।

ओट्स (जई) के पौष्टिक तत्व – Oats Nutritional Value in Hindi

ओट्स में अनेक तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं, जिसकी जानकारी हम इस चार्ट के माध्यम से देने का प्रयास कर रहे हैं (8):

पोषक तत्वमात्रा प्रति 100 g
पानी8.22 g
ऊर्जा389 kcal
प्रोटीन16.89 g
टोटल लिपिड (फैट)6.90 g
कार्बोहाइड्रेट66.27 g
फाइबर, टोटल डाइटरी10.6 g
मिनरल्स
कैल्शियम ,Ca54 gm
आयरन ,Fe4.72 mg
मैग्नीशियम , Mg177 mg
फास्फोरस ,P523 mg
पोटैशियम ,K429 mg
सोडियम ,Na2  mg
जिंक ,Zn3.97 mg
विटामिन्स
विटामिन सी , टोटल एस्कॉर्बिक एसिड0.0 mg
थाइमिन0. 763 mg
राइबोफ्लेविन0. 139 mg
नियासिन0.961 mg
विटामिन बी -60. 119 mg
फोलेट DFE56 µg
विटामिन बी-120. 00 µg
विटामिन ए ,RAE0 µg
विटमिन ए ,।U0 ।U
विटामिन डी (D2 +D3)0. 0 µg
विटामिन डी0 ।U
लिपिड
फैटी एसिड्स, टोटल सैचुरेटेड1.217 g
फैटी एसिड, टोटल मोनोसैचुरेटेड2.178 g
फैटी एसिड, टोटल पोलीअनसैचुरेटेड2.535 g
कोलेस्ट्रॉल0 mg

इस लेख के अगले भाग में हम बताएंगे कि अच्छे ओट्स की चयन कैसे किया जा सकता है।

ओट्स का चयन कैसे करें और लंबे समय तक सुरक्षित कैसे रखें?

ओट्स का चयन करते समय कुछ बातों पर ध्यान देना जरूरी होता है, जो इस प्रकार हैं :

  • ओट्स को कम मात्रा में खरीदें, क्योंकि अन्य अनाजों की तुलना में यह तेजी से सड़ता है।
  • किसी होटल में ओट्स या ओट्स सूप लें, तो ध्यान रहे कि वह गर्म हो।
  • ओट्स खरीदते समय ध्यान दे कि पैकेट कहीं से फटा हुआ न हो, क्योंकि पैकेट फटने से ओट्स खराब भी हो सकते हैं।
  • पैकेट बंद ओट्स खरीदते वक्त एक्सपायरी डेट जरूर चेक कर लें।

सुरक्षित कैसे रखे :

  • ओट्स को एयर टाइट डिब्बे में रखा जाना चाहिए।
  • पैकेट खुलने के बाद 3 महीने के अंदर उस ओट्स को खत्म करें।

ओट्स को किस तरह से उपयोग में लाया जा सकता है, इस बारे में हम आगे जानेंगे।

ओट्स (जई) का उपयोग – How to Use Oats in Hindi

  • ओट्स को दूध मिलकर नाश्ते की तरह खाया जा सकता है।
  • ओट्स को सूप की तरह पिया जा सकता है।
  • ओट्स को सामान्य दाल की तरह पकाकर चावल या रोटी के साथ खाया जा सकता है।
  • ओट्स (जई) के बीज को अंकुरित करके भी खाया जा सकता है।

कब खा सकते हैं :

वैसे तो ओट्स खाने का कोई निर्धारित समय नहीं है:

  • ओट्स को सुबह-शाम नाश्ते की तरह खा सकते है।
  • ओट्स को रात में दाल या सूप की तरह पिया जा सकता है।

कितना खाना चाहिए :

  • ओट्स खाने की कोई निर्धारित मात्रा नहीं है। यह व्यक्ति की खुराक पर निर्भर करता है।

क्या ओट्स से नुकसान हो सकते हैं, आइए जानते हैं इस बारे में।

ओट्स के नुकसान – Side Effects of Oats in Hindi

  • अगर ओट्स के पैकेट को तैयार करते समय केमिकल का उपयोग किया गया हो, तो वह स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक हो सकता है।
  • ओट्स ठीक से पके होने चाहिए। अगर कच्चे ही रह जाएंगे, तो पेट खराब हो सकता है।
  • ओट्स के अधिक मात्रा में सेवन करने से आपके आंत और पाचन तंत्र को नुकसान पहुंचा सकता है, क्योंकि इसमें फाइबर की अधिक मात्रा पाई जाती है (8) (30)।

अब तो आप जान गए होंगे कि ओट्स क्या है। इससे कौन-कौन से फायदे हो सकते हैं। अगर आप इसे अपनी डाइट में शामिल करने के बारे में सोच रहे हैं, तो पहले इस लेख को अच्छे से पढ़ें और समझ लें कि यह किन-किन बीमारियों के लिए उपयोगी है। साथ ही आप इस लेख के माध्यम से कुछ हद तक यह भी समझ गए होंगे कि ओट्स कैसे बनाते हैं। आशा करते हैं कि हमारा यह लेख आपके लिए फायदेमंद होगा। अगर आपके पास ओट्स से संबंधित कोई अन्य जानकारी है, तो उसे कमेंट बॉक्स के माध्यम से हमारे साथ शेयर कर सकते हैं।

संबंधित आलेख