तैलीय बालों (ऑयली हेयर) के लिए घरेलू उपाय – Home Remedies for Oily Hair in Hindi

by

तैलीय और चिपचिपे बाल किसी को पसंद नहीं होते। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए लोग तरह-तरह के उपाय भी करते हैं, लेकिन परिणाम सकारात्मक रूप से सामने नहीं आते हैं। देखा जाए तो यह समस्या वर्तमान में आम बन चुकी है और इससे निजात कैसे पाया जाए, एक महत्वपूर्ण सवाल हो सकता है। विषय की गंभीरता देखते हुए स्टाइलक्रेज के इस लेख में ऑयली बालों के लिए घरेलू उपाय बताए गए हैं। ये उपाय सीधे तौर पर कितने कारगर होंगे, इसपर वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है। लेकिन ये घरेलू नुस्खे ऑयली बालों को दूर करने में कुछ हद तक मदद कर सकते हैं और साथ ही बालों से जुड़ी अन्य कई समस्याओं से बचाव भी कर सकते हैं।

आइये, सबसे पहले आपको बता दें कि तैलीय बालों के कारण क्या-क्या हो सकते हैं।

तैलीय बाल होने के कारण – Causes of Oily Hair in Hindi

तैलीय बालों का मुख्य कारण होता है, स्कैल्प में मौजूद सिबेशॅस (ऑयल ग्लैंड्स) से अत्यधिक तेल का निकलना (1)। इस तेल को सीबम कहा जाता है और इसके अत्यधिक निकलने के पीछे कई कारण हो सकते हैं। नीचे जानिए तैलीय बालों के कारण (2) :

  • महिलाओं की तुलना में पुरुषों में सीबम का उत्पादन अधिक होता है।
  • ओव्यूलेशन (महीने का वो समय जब ओवरी से एग्स निकलते हैं) के दौरान सीबम का उत्पादन महिलाओं में ज्यादा होता है।
  • वसंत या गर्मी के मौसम में।
  • वातावरण में नमी (ह्यूमिडिटी)
  • एण्ड्रोजन (पुरुष हार्मोन) के बढ़ने से।

तैलीय बालों के कारण बताने के बाद, लेख के अगले भाग में कुछ उपाय बताए गए हैं, जो ऑयली हेयर को दूर करने में कुछ हद तक मदद कर सकते हैं।

तैलीय बालों के लिए घरेलू उपाय – Home Remedies For Oily Hair in Hindi

लेख के इस भाग में कुछ ऐसे घरेलू नुस्खों के बारे में बताया गया है, जो बालों को स्वस्थ रखने और उन्हें बढ़ने में मदद कर सकते हैं। इन सभी का उपयोग तैलीय बालों के लिए किया जा सकता है। लेकिन इस बात का कोई वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है कि ये उपचार ऑयली हेयर के लिए उपाय के रूप में कितने कारगर होंगे।

1. नारियल का तेल

सामग्री :

  • आवश्यकतानुसार नारियल का तेल  

विधि :

  • एक कटोरी में नारियल तेल लें और उसे गुनगुना कर लें।
  • अब इस तेल से लगभग 15-20 मिनट तक सिर की अच्छे से मसाज करें।
  • फिर एक घंटे के लिए तेल को बालों में ही लगे रहने दें।
  • आखिर में बालों को शैम्पू से धो लें।

कैसे काम करता है :

नारियल तेल की चम्पी तैलीय बालों के लिए लाभकारी साबित हो सकती है। इंटरनेशनल जर्नल ऑफ ट्रिकोलॉजी द्वारा किए गए एक शोध में पाया गया है कि सूरजमुखी और मिनरल ऑयल की तुलना में नारियल का तेल हल्का होता है, जो आसानी से स्कैल्प में समा जाता है। शोध के अनुसार इन तीनों तेलों में सिर्फ नारियल तेल बालों में प्रोटीन को बनाए रखने में मदद कर सकता है और इस प्रकार यह बालों के लिए गुणकारी हो सकता है (3)।

2. सेब का सिरका

सामग्री :

  • दो से तीन चम्मच सेब का सिरका
  • एक कप पानी

विधि :

  • एक कप पानी में दो से तीन चम्मच सेब का सिरका मिला लें।
  • बालों को शैम्पू से धोने के बाद, बालों को सेब के सिरके से धोएं।
  • इसे कुछ देर छोड़ने के बाद, बालों को साफ पानी से धो लें।

कैसे काम करता है :

सेब के सिरके के फायदों की मदद से स्कैल्प और बालों को स्वस्थ रखा जा सकता है। यह अपने एंटीमाइक्रोबियल गुणों के लिए जाना जाता है, जिसकी वजह से यह बालों और त्वचा में संक्रमण फैलाने वाले बैक्टीरिया को खत्म करने में मदद कर सकता है (4)। शैम्पू करने से बाद, बालों को सेब के सिरके के पानी से धोने से बालों की चमक और उनकी सेहत बनाए रखने में मदद मिल सकती है (5)। इन फायदों की वजह से सेब के सिरके का उपयोग ऑयली बालों के लिए घरेलू उपाय के रूप में किया जा सकता है।

3. टी ट्री ऑयल

सामग्री :

  • टी ट्री ऑयल की 10-12 बूंदे
  • लगभग 30 मिली नारियल या जोजोबा ऑयल

विधि :

  • एक बोतल में दोनों तेलों को अच्छी तरह मिला कर भर लें।
  • अब इस तेल को बालों की जड़ों से लेकर सिरे तक लगाएं और कुछ देर रहने दें।
  • लगभग एक घंटे के बाद बालों को शैम्पू से धो लें।

कैसे काम करता है :

तैलीय बालों के कारण रूसी की समस्या हो सकती है (6)। टी ट्री ऑयल का बालों में उपयोग करने से रूसी की समस्या से आराम पाया जा सकता है। इसमें मौजूद एंटीफंगल गुण रूसी फैलाने वाले फंगस को खत्म कर सकते हैं, जिससे इस समस्या से राहत पाने में मदद मिल सकती है (7)।

4. एलो वेरा जेल

सामग्री :

  • एक-दो चम्मच एलो वेरा जेल
  • एक चम्मच नींबू का रस
  • एक कप पानी

विधि :

  • एक बाउल में एलो वेरा जेल और नींबू का रस मिला लें।
  •  इस घोल में एक कप पानी डालकर अच्छे से मिलाएं।
  • शैम्पू से बाल धोने के बाद इस घोल से सिर की मसाज करें।
  • कुछ देर बाद बालों को ठंडे पानी से धो लें।

कैसे काम करता है:

तैलीय बालों के लिए घरेलू उपाय के रूप में एलो वेरा कई तरीके से बालों के लिए फायदेमंद हो सकता है। यह बालों को झड़ने से रोकने के साथ, उन्हें क्षति से बचाने में मदद कर सकता है। इसके साथ, यह रूसी की समस्या से भी आराम दिला सकता है और बालों को कंडीशन करके उनकी चमक और स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद कर सकता है (8)।

5. एप्सम साल्ट

सामग्री :

  • आवश्यकानुसार एप्सम साल्ट

विधि :

  • अपने शैम्पू में थोड़ा सा एप्सम साल्ट मिला लें।
  • अच्छी तरह मिल जाने के बाद, इस शैम्पू से बालों को धोएं।

कैसे काम करता है:

एप्सम साल्ट का उपयोग शरीर के लिए अलग अलग प्रकार से किया जाता है, जैसे मांसपेशियों के दर्द या सूजन से आराम के लिए। इसके अलावा, खाने का स्वाद बढ़ाने के साथ-साथ इसका उपयोग ऑयली बालों के लिए उपाय के रूप में भी किया जा सकता है। यह बालों को घना बनाए रखने में मदद कर सकता है और बालों को बढ़ने में भी मदद करता है (9)।

6. बेकिंग सोडा

सामग्री :

  • बेकिंग सोडा (आवश्यकतानुसार)

विधि :

  • थोड़ा सा बेकिंग सोडा लेकर उसे शैम्पू के साथ बालों की जड़ों से लेकर सिरों तक लगाएं।
  • इसके बाद, कंघी की मदद से बेकिंग सोडा को पूरे बालो में फैलाएं।
  • आप चाहे तो, बेकिंग सोडा में पानी मिलाकर बालों में उपयोग कर सकते है।
  • आखिर में बालों में साफ पानी से धो लें।

कैसे काम करता है:

ऑयली हेयर के लिए घरेलू उपाय के रूप में, बेकिंग सोडा का उपयोग शैम्पू के साथ किया जा सकता है। शैम्पू के साथ इस्तेमाल करने से यह बालों में उपयोग किए गए स्टाइलिंग उत्पाद (जैसे जेल या हेयर स्प्रे) के अवशेष को पूरी तरह निकाल कर बालों को अच्छी तरह साफ करने में मदद कर सकता है। इसके साथ, इसके उपयोग से बालों को संभालने में आसानी होती है (10)। इस फायदे की वजह से बेकिंग सोडा का उपयोग ऑयली हेयर के लिए घरेलू उपाय के रूप में किया जा सकता है।

7. ग्रीन टी

सामग्री :

  • आधा कप ग्रीन टी की पत्तियां
  • एक कप पानी

विधि :

  • एक पैन में एक कप पानी उबालने रख दें।
  • जब पानी उबलने लगे तो उसमे ग्रीन टी की पत्तियां डाल दें।
  • लगभग पांच मिनट तक उबलने के बाद तैयार ग्रीन टी को छान लें।
  • अब ग्रीन टी को थोड़ा ठंडा कर लें और फिर इसे स्कैल्प और बालों में लगाएं।
  • 30 से 35 मिनट के बाद बालों को धो लें।

कैसे काम करता है:

बालों को बढ़ने और स्वस्थ रखने में डर्मल पेपिला नाम के सेल्स मदद करते हैं (11)। बालों पर ग्रीन टी का उपयोग इन सेल्स के लिए फायदेमंद हो सकता है। ग्रीन टी में प्रोलिफेरेटिव गुण होते हैं, जो सेल्स को बढ़ने में मदद कर सकते हैं (12)। इसके साथ, ग्रीन टी त्वचा में सीबम के उत्पादन को कम करती है, जिससे ऑयली बालों को दूर करने में मदद मिल सकती है (13)।

8. आर्गन ऑयल

सामग्री :

  • शुद्ध आर्गन ऑयल (आवश्यकतानुसार)
  • एक टॉवल

विधि :

  • आर्गन ऑयल लेकर बालों की अच्छे से मसाज करें।
  • अब बालों को तौलिए से लपेट लें और लगभग आधे से एक घंटे के लिए छोड़ दें।
  • आखिर में शैम्पू और गुनगुने पानी की मदद से बालों को धो लें।

कैसे काम करता है:

त्वचा से जुड़ी समस्याओं जैसे मुंहासे, झुर्रियों और रूखी त्वचा के लिए सदियों से आर्गन ऑयल का उपयोग किया जा रहा है। त्वचा के साथ, यह बालों के लिए भी फायदेमंद साबित हो सकता है। माना जाता है कि आर्गन ऑयल बालों का झड़ना कम करने के साथ-साथ बालों को रूखेपन से भी बचा सकता है (14)। साथ ही आर्गन ऑयल बालों को डाई (Hair Color) से होने वाली क्षति से बचाने में भी मदद कर सकता है (15)। आर्गन ऑयल के इन फायदों की वजह से इसका इस्तेमाल ऑयली बालों के लिए भी किया जा सकता है। फिलहाल इस संबंध में कोई वैज्ञानिक शोध उपलब्ध नहीं है।

9. कोको पाउडर

सामग्री :

  • एक चम्मच कोको पाउडर

विधि :

  • एक चम्मच कोको पाउडर को अपने बालों और स्कैल्प पर लगाएं।
  • अब एक कंघे की मदद से उसे बालों में अच्छी से फैला दें।
  • कुछ देर रखने के बाद बालों को शैम्पू से धो लें।

कैसे काम करता है:

माना जाता है कि कोको पाउडर को बालों में लगाने से यह स्कैल्प में मौजूद अतिरिक्त तेल को सोखने में मदद कर सकता है। लेकिन इसका कोई वैज्ञानिक शोध उपलब्ध नहीं है। आप चाहें तो इसका पेस्ट बना कर भी उपयोग कर सकते हैं। इसके साथ, कोको पाउडर में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण भी पाए जाते हैं, जो स्कैल्प में हुई किसी प्रकार की सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं (16)। ऑयली हेयर के लिए घरेलू उपाय के रूप में यह किस तरह काम करेगा, इसपर अभी शोध होना बाकी है।

10. अंडा

सामग्री :

  • एक अंडा
  • एक चम्मच नींबू का रस

विधि :

  • एक बाउल में अंडा फेंट लें और फिर उसमें नींबू का रस मिला लें।
  • अब इस घोल को बालों में लगाएं और 30 से 35 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • आखिर में बालों को शैम्पू और ठंडे पानी की मदद से धो लें।

नोट: अंडा लगाने के बाद बालों को गुनगुने पानी से न धोएं। ऐसा करने से उसकी दुर्गंध हटाने में मुश्किल हो सकती है।

कैसे काम करता है:

बालों और स्कैल्प से जुड़ी कई समस्याओं को दूर करने और बालों को स्वस्थ रखने में अंडा लाभदायक साबित हो सकता है। यह बालों का झड़ना कम करने के साथ, क्षतिग्रस्त बालों को ठीक करने में भी मदद कर सकता है। इसके अलावा, यह रूसी को कम करने और बालों को कंडीशन करने में मदद कर सकता है (8)। इस प्रकार बालों में अंडा लगाने के फायदे, ऑयली हेयर को दूर करने में भी मिल सकते हैं।

11. नींबू का रस

सामग्री :

  • दो नींबू का रस
  • दो कप पानी

विधि :

  • एक बाउल में दोनों सामग्री को अच्छी तरह मिला लें।
  • अब इस बाउल को कुछ देर के लिए फ्रिज में रख दें।
  • अब बालों को शैम्पू से धोएं और बालों को सुखाकर बनाए गए घोल से सिर की मसाज करें।
  • लगभग 10 मिनट मसाज करने के बाद, बालों को पानी से धो लें।

कैसे काम करता है:

तैलीय बालों के लिए घरेलू उपाय के रूप में नींबू के रस का उपयोग किया जा सकता है। नींबू के रस में एंटीफंगल गुण होते हैं, जो रूसी को कम करने में मदद कर सकते हैं। ये मालासेजिया (Malassezia species) नामक फंगस को खत्म करने का काम करते हैं, जो बालों में रूसी का कारण बनते हैं। हालांकि, ऑयली हेयर के लिए घरेलू उपचार के रूप में नींबू का रस कितना कारगर होगा, इसपर अभी और शोध की आवश्यकता है (17)।

12. जोजोबा ऑयल

सामग्री :

  • जोजोबा ऑयल (आवश्यकतानुसार)

विधि :

  • इस तेल से बालों की जड़ों से लेकर सिरे तक अच्छे से मसाज करें।
  • आधा या एक घंटे बाद बालों को शैम्पू और गुनगुने पानी से धो लें।

कैसे काम करता है:

रूसी से आराम पाने के लिए प्रभावी एंटीफंगल गुणों की जरूरत होती है। ऐसे में, जोजोबा के तेल में पाए जाने वाले एंटीफंगल गुण काम कर सकते हैं (18)। इसके साथ, जोजोबा ऑयल बालों को बढ़ने और घने होने में मदद कर सकता है (19)। आप चाहें तो जोजोबा ऑयल को नारियल के तेल में मिलाकर सिर की मसाज कर सकते हैं। लेकिन यह ऑयली हेयर के लिए घरेलू उपाय के रूप में किस तरह काम कर सकता है, इस बारे में फिलहाल ज्यादा जानकारी उपलब्ध नहीं है।

13. ओटमील

सामग्री :

  • आधा कप ओटमील (पके हुए)

विधि :

  • थोड़े से ओटमील को उंगलियों की मदद से स्कैल्प पर लगाएं।
  • ओटमील लगाने के 15 से 20 मिनट बाद बालों को शैम्पू की मदद से धो लें।

कैसे काम करता है:

ओटमील को एक प्राकृतिक क्लेंसेर के रूप में उपयोग किया जा सकता है (20)। माना जाता है कि यह स्कैल्प और बालों से गंदगी निकालकर, उन्हें साफ करने में मदद कर सकता है, जिससे स्कैल्प से अतिरिक्त ऑयल निकलने की समस्या और ऑयली हेयर को दूर करने में मदद मिल सकती है। हालांकि, यह इसमें कितना प्रभावशाली साबित होगा, इस पर कोई शोध उपलब्ध नहीं है।

14. विटामिन

सामग्री :

  • विटामिन-ए

कैसे काम करता है:

ऑयली हेयर के लिए उपाय में अपने आहार में कुछ परिवर्तन लाने से इस समस्या से आराम मिल सकता है। माना जाता है कि आहार में विटामिन-ए को शामिल करने से त्वचा और स्कैल्प में मौजूद अतिरिक्त ऑयल से राहत मिल सकती है। जैसा कि तैलीय बालों के कारण में हम आपको बता चुके हैं कि इसकी सबसे मुख्य वजह सीबम का उत्पादन अधिक होना है। ऐसे में, आहार में विटामिन-ए शामिल करने से फायदा हो सकता है, क्योंकि यह सीबम उत्पादन को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है, जिससे ऑयली स्कैल्प और ऑयली बालों से निजात पाया जा सकता है (2)।

15. दही

सामग्री :

  • आधा कप दही

विधि :

  • दही को उंगलियों की मदद से स्कैल्प पर लगाएं।
  • 15 से 20 मिनट रखने के बाद, बालों को शैम्पू और गुनगुने पानी की मदद से धो लें।

कैसे काम करता है:

जैसा कि हम आपको पहले भी बता चुके हैं कि अत्यधिक सीबम की वजह से रूसी की समस्या हो सकती है (6)। ऐसे में, बालों में दही लगाने से रूसी की समस्या से आराम मिल सकता है। इसके साथ ही दही बालों का झड़ना कम कर उन्हें बढ़ने में मदद करता है। इसके अलावा, यह बालों की चमक बरकरार रखने और बालों को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है (8)।

16. मेहंदी

सामग्री :

  • आधा कप मेहंदी
  • एक अंडे का सफेद भाग
  • दो चम्मच नारियल तेल

विधि :

  • एक बाउल में सभी सामग्री को अच्छी तरह मिला लें।
  • इसे ब्रश की मदद से बालों में लगाएं और सूखने के लिए छोड़ दें।
  • अंत में बालों को ठंडे पानी से धो लें।

कैसे काम करता है:

अंडे और नारियल के तेल के साथ, बालों में मेहंदी का उपयोग फायदेमंद हो सकता है। जहां नारियल और अंडा, बालों को स्वस्थ बनाए रख सकते हैं, वहीं मेहंदी में एंटीफंगल गुण पाए जाते हैं, जो बालों से रूसी हटाने में मदद कर सकते हैं (17)। लोगों का यह भी मानना है कि मेहंदी लगाने से बालों की चमक बरकरार रहती है और यह सफेद बालों को काला करने में भी मदद कर सकती है। लेकिन इस बात का कोई वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है।

लेख के इस भाग में जानिए तैलीय बालों से बचने के उपाय के बारे में।

तैलीय बालों से बचने के उपाय – Prevention Tips for Oily Hair in Hindi

अगर आपके बाल ऑयली हैं, तो नीचे बताई गईं कुछ बातों को ध्यान में रखने से मदद मिल सकती है:

ये करें :

  • अपने बालों पर ज्यादा हाथ न फेरें।
  • कंडीशनर को स्कैल्प पर न लगाएं।
  • अपने बालों को गरम पानी से न धोएं।
  • तनाव मुक्त रहने की कोशिश करें।
  • तैलीय खाना और फास्ट फूड खाने से बचें।

 ये करें :

  • बालों को हर दो से तीन दिन में शैम्पू से धोएं।
  • भरपूर नींद लें।
  • भरपूर पानी पिएं।
  • बालों को ठंडे या गुनगुने पानी से धोएं।
  • अपने तकिए का कवर लगभग हर हफ्ते बदलें और उसे साफ रखें।

दोस्तों, इस लेख के माध्यम से आप समझ गए होंगे कि बालों को स्वस्थ रखने के लिए बताए गए उपाय किस प्रकार काम कर सकते हैं। इसके अलावा, आप यह भी समझ गए होंगे कि बालों से जुड़ी समस्याओं के साथ ऑयली बालों को दूर करने में इनकी क्या भूमिका हो सकती है। ये उपचार ऑयली बालों के लिए घरेलू उपाय के रूप में कितने कारगर होंगे, इस पर वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है, लेकिन बालों को स्वस्थ रखने के लिए इनका प्रयोग किया जा सकता है। साथ ही ऑयली बालों को दूर करने के लिए लेख में बताई गई जरूरी बातों का भी ध्यान रखें। उम्मीद है कि यह लेख आपके लिए उपयोगी साबित होगा। लेख से जुड़े सवाल या सुझाव के लिए आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स की मदद ले सकते हैं।

Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Soumya Vyas

सौम्या व्यास ने माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय, भोपाल से इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में बीएससी किया है और इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ जर्नलिज्म एंड न्यू मीडिया, बेंगलुरु से टेलीविजन मीडिया में पीजी किया है। सौम्या एक प्रशिक्षित डांसर हैं। साथ ही इन्हें कविताएं लिखने का भी शौक है। इनके सबसे पसंदीदा कवि फैज़ अहमद फैज़, गुलज़ार और रूमी हैं। साथ ही ये हैरी पॉटर की भी बड़ी प्रशंसक हैं। अपने खाली समय में सौम्या पढ़ना और फिल्मे देखना पसंद करती हैं।

ताज़े आलेख

scorecardresearch