त्वचा की देखभाल
Stylecraze

तैलीय त्वचा (ऑइली स्किन) का ख्याल रखने के लिए 15 घरेलू उपाय – Oily Skin Care Tips in Hindi

by
तैलीय त्वचा (ऑइली स्किन) का ख्याल रखने के लिए 15 घरेलू उपाय – Oily Skin Care Tips in Hindi October 24, 2018

जिनके चेहरे की त्वचा तैलीय होती है, उन्हें कई समस्याओं से जूझना पड़ता है। ऐसे लोगों के चेहरे पर हल्का ऑयल हर समय बना रहता है और चेहरा चिपचिपा लगता है। तैलीय त्वचा के कारण कील-मुंहासे तक उभर आते हैं, जो चेहरे की सुंदरता को बिगाड़ देते हैं। बेशक, मार्केट में तैलीय त्वचा से निपटने के लिए विभिन्न तरह की क्रीम मौजूद हैं, लेकिन इनका लंबे समय तक इस्तेमाल फ़ायदेमंद नहीं हैं। इसलिए, आज इस लेख में हम आपके साथ तैलीय त्चचा के घरेलू उपाय साझा कर रहे हैं, जिनके प्रयोग से आपके चेहरा सुंदर, आकर्षक व कोमल हो जाएगा।

    तैलीय त्वचा होने के कारण – Causes of Oily Skin in Hindi

    तैलीय त्वचा की समस्या से ज्यादातर महिलाओं को जूझना पड़ता है, क्योंकि ऑयली स्किन पर मेकअप ज्यादा देर तक टिक नहीं पाता। यहां तक कि सनस्क्रीन और फाउंडेशन भी धूप के संपर्क में आते ही पिघलने लगते हैं, जिससे आपका तैलीय चेहरा और खराब लगता है। अब प्रश्न यह उत्पन्न होता है कि आखिर तैलीय त्वचा होती क्यों है। यहां हम ऐसे ही कुछ मुख्य कारणों के बारे में आपको बताने जा रहे हैं।

    1. तनाव

    यह तो सभी जानते हैं कि तनाव स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। इससे कई तरह की समस्याएं हो सकती हैं। जब हम तनाव में होते हैं, तो हमारे शरीर में हार्मोनल संतुलन बिगड़ जाता है। कोर्टिसोल भी एक तरह का हार्मोन है। हमारे तनावग्रस्त होने पर शरीर में इसका रिसाव शुरू हो जाता है, जिससे त्वचा तैलीय होती है (1)।

    2. हार्मोन में बदलाव

    जीवन के विभिन्न स्तरों पर महिलाओं के शरीर में कई तरह के हार्मोनल बदलाव होते हैं। फिर चाहे वह किशोरावस्था में हो या फिर गर्भावस्था के दौर से गुजर रही हो। यहां तक कि मेनपॉज से पहले और बाद में भी महिलाओं में हार्मोनल बदलाव होते हैं। इस दौरान शरीर में मौजूद तैलीय ग्रंथीया सक्रीय हो जाती हैं और त्वचा में मौजूद तेल चेहरे पर नरज आने लगता है, जिस कारण त्वचा तैलीय हो जाती है (2)।

    3. अनुवांशिक

    अगर किसी के माता-पिता की त्वचा तैलीय है, तो संभव है कि उनके बच्चों की त्वचा भी तैलीय हो सकती है। इस स्थिति में बच्चों के चेहरे पर ऑयनी स्किन के छिद्र बड़े हो सकते हैं, जिस कारण तैलीय ग्रंथियोंं से तेल अधिक मात्रा में निकलता है।

    4. स्किनकेयर उत्पादों का अधिक प्रयोग

    हमारे चेहरे की त्वचा सबसे ज्यादा संवेदनशील होती है। इसके बावजूद, हम चेहरे को निखारने के लिए विभिन्न स्किनकेयर उत्पादों का इस्तेमाल करते हैं। हम ज़रूर से ज़्यादा चेहरे की स्क्रबिंग करते हैं। परिणामस्वरूप, हमारे चेहरे की रंगत उड़ने लगती है। ऐसा करने से भी स्किन तैलीय हो सकती है।

    5. मौसम में बदलाव

    जैसे ही मौसम बदलता है, तो उसका असर चेहरे पर दिखाई देता है। गर्मियों में नमी बढ़ने के कारण पसीना ज्यादा आता है और तैलीय ग्रंथीयों से तेल ज़्यादा बाहर निकलता है। इस कारण चेहरा ज़रूरत से ज़्यादा ऑयली नजर आता है। वहीं, सर्दियों में त्वचा रूखी हो जाती है, ऐसे में माश्चराइजर की कमी को पूरा करने के लिए स्किन ज़्यादा ऑयली हो जाती है।

    6. अधिक दवाओं का सेवन

    अत्याधिक दवाओं का सेवन करने से भी त्वचा तैलीय हो सकती है। अगर आप हार्मोनल गर्भनिरोधक दवा या फिर हार्मोन रिप्लेसमेंट दवा का सेवन कर रही हैं, तो सावधान हो जाइए। हो सकता है कि इन दवाओं के लगातार सेवन से आपकी त्वचा भी तैलीय हो जाए और कील-मुंहासों का सामना करना पड़े।

    7. मेकअप भी है एक कारण

    ऑयली स्किन का एक मुख्य कारण अधिक मेकअप करना भी है। मेकअप करने से चेहरे के पोर्स बंद हो सकते हैं, जिससे स्किन ऑयली हो जाती है। इसके अलावा, मेकअव ब्रश और कॉस्मेटिक क्रीम का ज़्यादा इस्तेमाल भी तैलीय त्वचा का कारण बनता है (3)।

    8. गलत खानपान

    तला, मिर्च-मसाले, चिकनाई युक्त व अधिक वसा वाले खाद्य पदार्थ का सेवन करने से भी त्वचा तैलीय हो सकती है।

    अभी तक हमने जाना कि तैलीय त्वचा के पीछे कौन-कौन से कारण है। अब हम बात करेंगे कुछ घरेलू उपचारों की, जिनकी मदद से इस समस्या से निपटा जा सकता है।

    तैलीय त्वचा (ऑइली स्किन) के लिए घरेलू उपाय – Home Remedies for Oily Skin in Hindi

    Home Remedies for Oily Skin in Hindi Pinit

    Shutterstock

    यहां हम तैलीय त्वचा के घरेलू उपाय के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें बनाना ना सिर्फ बेहद आसान है, बल्कि इनका कोई हानिकारक प्रभाव भी नहीं है।

    1. गुलाब जल

    गुलाब जल को प्राकृतिक और स्वास्थ्य के अच्छा माना गया है। यह त्वचा में ऑयल को नियंत्रित कर नमी प्रदान करता है। एक अध्ययन के अनुसार, गुलाब जल में भरपूर मात्रा में एंटीमाइक्रोबायल, एंटीऑक्सीडेंट, मिनरल व विटामिन होते हैं। ये सभी गुण तैलीय त्वचा की देखभाल करने के लिए पर्याप्त हैं (4)।

    सामग्री :

    • थोड़ा-सा गुलाब जल
    • एक कॉटन बॉल

    कैसे इस्तेमाल करें

    कॉटन बॉल या फिर रूई के छोटे से टुकड़े को गुलाब जल में भिगोकर इससे चेहरे को साफ करें। ऐसा करने से ना सिर्फ चेहरे की त्वचा खिल उठेगी, बल्कि आप खुद को तरोताजा महसूस करेंगे और आप गुलाब जल की ख़ुशबू से भर उठेंगे।

    नोट : इस प्रक्रिया को आप दिन में दो बार सुबह व रात को सोने से पहले अपना सकते हैं।

    2. मुल्तानी मिट्टी

    तैलीय त्वचा के लिए मुल्तानी मिट्टी किसी वरदान से कम नहीं है। इसमें भरपूर मात्रा में खनिज पाया जाता है, जो तैलीय त्वचा पर चमत्कारी तरीके से काम करता है (5)। मुल्तानी मिट्टी का फेस पैक स्किन में से तेल को सोखकर, प्राकृतिक ख़ूबसूरती देता है। इसके अलावा, यह कील-मुंहासों को खत्म कर दाग-धब्बों को हल्का कर देता है।

    सामग्री :

    • दो चम्मच मुल्तानी मिट्टी
    • एक चम्मच ताज़ा दही
    • दो-तीन बूंद नींबू का रस

    बनाने की विधि :

    • इन सभी सामग्रियों को एक कटोरी में डालकर तब तक मिक्स करें, जब तक कि पेस्ट ना बन जाए।
    • अब चेहरे को पानी से अच्छे से धो लें और तौलिये से साफ कर लें।
    • इसके बाद पेस्ट को अपने पूरे चेहरे पर लगाएं।
    • जब फेस पैक पूरी तरह से सूख जाए, तो ठंडे पानी से चेहरा धो लें।
    • चेहरा धोने के बाद कोई भी अच्छी माश्चराइज़र क्रीम जरूर लगाएं।

    नोट : इस फेस पैक को आप हफ्ते में तीन बार लगा सकते हैं।

    3. मसूर की दाल

    माना जाता है कि मसूर की दाल में भरपूर मात्रा में खनिज व विटामिन होते हैं। यह ना सिर्फ खाने में फायदेमंद है, बल्कि त्वचा के लिए भी लाभकारी है। इसका फेस पैक तैलीय त्वचा पर असरकारक है।

    सामग्री :

    • आधा कप मसूर की दाल
    • एक तिहाई कप कच्चा दूध

    कैसे बनाएं फेस पैक

    • मसूर की दाल को रातभर पानी में भिगोकर रखें और अगली सुबह इसे अच्छी तरह पीस लें।
    • अब इसमें दूध मिलाकर गाढ़ा पेस्ट बना लें।
    • इस फेस पैक को अपने चेहरे पर लगाकर करीब 20 मिनट तक सूखने दें।
    • अब चेहरे को ठंडे पानी से अच्छी तरह धो लें।

    नोट : इस फेस पैक से आप चेहरे की स्क्रबिंग भी कर सकते हैं।

    4. नीम

    आयुर्वेदिक औषधी में नीम का अत्याधिक महत्व माना गया है। नीम के पत्तों व उसके रस से बनीं आयुर्वेदिक औषधियां स्वास्थ्य के लिए लाभप्रद हैं। साथ ही शरीर की सुंदरता को बढ़ाने में भी नीम का प्रयोग किया जाता है। इसके गुणकारी होने के कारण ही यूनानी पद्धति में भी इसके प्रयोग का वर्णन किया गया है। यहां हम बता रहे हैं कि नीम से तैयार किया गया फेस पैक किस तरह से तैलीय त्वचा के लिए उपयोग साबित हो सकता है।

    सामग्री :

    • नीम की 9-10 पत्तियां
    • 3-4 चुटकी हल्दी पाउडर

    पैक बनाने का तरीका

    • नीम की पत्तियों को पानी में भिगोकर अच्छी तरह से पीस लें, ताकि उसका पेस्ट बन जाए।
    • अब इसमें हल्दी पाउडर डाल दें।
    • अगर पेस्ट गाढ़ा हो गया हो, तो उसे पतला करने के लिए पानी की कुछ बूंदें डाल सकते हैं।
    • अब चेहरे को पानी से धोकर पेस्ट लगा लें।
    • करीब 20 मिनट बाद जब पेस्ट सूख जाए, तो चेहरा पानी से धो लें।

    नोट : यह पैक चेहरे से तेल को सोख लेता है और कील-मुंहासों को भी साफ़ करता है।

    5. संतरे का छिलका

    यह तो सभी जानते हैं कि संतरा विटामिन-सी का सबसे अच्छा स्रोत है, लेकिन संतरा त्वचा में एंटीऑक्सीडेंट्स का संचार करने में मदद करता है (6)। संतरे के छिलके से बने फेस पैक न सिर्फ त्वचा से अतरिक्त तेल को निकाल बाहर करते हैं, बल्कि दाग-धब्बों को भी मिटाने का काम करते हैं।

    सामग्री :

    • तीन चम्मचे संतरे के छिलके का पाउडर
    • चार चम्मच दूध
    • एक चम्मच नारियल का तेल
    • दो से चार चम्मच गुलाब जल

    इस तरह बनाएं पैक

    • संतरे के छिलके को दो-तीन दिन धूप में सूखा लें और फिर उसे पीसकर पाउडर बना लें। हालांकि, यह पाउडर बाजार में भी मिल जाता है, लेकिन घर में बनाया पाउडर बेहतर होता है।
    • इन सभी सामग्रियों को एक कटोरी में मिक्स कर लें और चेहरे पर लगाएं।
    • करीब 15-20 मिनट बाद चेहरे को पानी से धो लें।

    नोट : आप इस फेस पैक को हफ्ते में 4-5 बार लगा सकते हैं।

    6. खीरा

    खीरा न सिर्फ स्वास्थ्य के लिए अच्छा है, बल्कि तैलीय त्वचा के लिए काफी फ़ायदेमंद है। खीरे में विटामिन-के, सी, पोटेशियम व फोलिक एसिड जैसे पौष्टिक गुण पाए जाते हैं। इसके अलावा, इसमें सिलिकॉन नामक खास तरह का तत्व मौजूद होता है, जो स्किन को निखारने में मदद करता है (7)। खीरे के रस को त्वचा के लिए बेहतरीन टॉनिक माना गया है, जिसे चेहरे पर लगाने से ताजगी का अहसास होता है।

    सामग्री :

    • एक खीरा
    • नींबू के रस की 6-8 बूंदें
    • एक चम्मच शहद

    बनाने की विधि :

    • खीरे का छिलका उतार लें और उसके टुकड़े कर बिना पानी डाले पीस लें।
    • अब इसमें नींबू का रस और शहद को मिक्स कर लें।
    • चेहरे को अच्छी तरह साफ कर, रूई की मदद से इस पैक को अपने चेहरे पर लगाएं।
    • हल्के-हल्के हाथों से चेहरे पर मसाज करें और फिर 15-20 के लिए इसे सूखने दें।
    • इसके बाद हल्के गुनगुने पानी से चेहरे को धो लें।

    7. शहद

    ऑयली स्किन के लिए शहद को लाभकारी माना गया है। इसमें विटामिन, एंटीऑक्सीडेंट, एंटीमाइक्रोबाइल व मिनरल जैसे तत्व मौजूद होते हैं (8), जो स्किन से ऑयल को बाहर निकालकर, उसे जवां और ख़ूबसूरत बनाते हैं।

    सामग्री :

    • 10 बादाम
    • एक चम्मच शहद

    ऐसे बनाएं पैक :

    • बादाम की गिरियों को रात भर पानी में भिगोकर रखें और अगली सुबह इन्हें अच्छे से पीस लें।
    • अब इसमें एक चम्मच शहद मिलाकर अच्छे से मिक्स करें।
    • इस पैक को चेहरे पर करीब 15 मिनट लगा रहने दें और सूखने के बाद धो लें।

    8. एलोवेरा

    एलोवेरा सबसे कारक प्राकृतिक उत्पाद है। इस औषधी युक्त छोटे-से पौधे का कई तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है। एक तरफ, यह पेट के लिए काफ़ी उपयोग है, तो वहीं सुंदर व निखरी त्वचा के लिए भी इसे प्रयोग में लाया जाता है। यह तैलीय, रूखी व मिश्रित हर तरह की त्वचा के लिए फ़ायदेमंद है। यहां हम बताते हैं कि इसका घरेलू पैक कैसे बनाया जा सकता है।

    सामग्री :

    • एक चम्मच एलोवेरा जैल
    • एक चम्मच शहद

    पैक बनाने का तरीका :

    • एलोवेरा के पत्तों को गर्म पानी में उबाल लें और इन्हें पीसकर पेस्ट बना लें।
    • इन दोनों को एक कटोरी में डालकर मिक्स कर लें।
    • अब साफ हाथों से इस पैक को अपने चेहरे पर लगाएं।
    • करीब 15-20 मिनट बाद ताजे पाने से चेहरा धो लें।

    नोट : यह फेस पैक न सिर्फ चेहरे से तेल को साफ करता है, बल्कि कील-मुंहासों पर भी कारगर है। इसे हफ्ते में एक बार लगा सकते हैं।

    9. दलिया

    दलिया में एंटी-इंफ्लेमेटरी व एंटी-ऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जो स्किन को साफ कर माश्चराइज़िंग प्रदान करते हैं (9)। आगे पढ़िए कि ऑयली स्किन के लिए दलिया का पैक कैसे बनाया जाता है।

    सामग्री :

    • दो से तीन चम्मच सूखा दलिया
    • एक चम्मच शहद
    • थोड़ा-सा पानी

    ऐसे बनेगा पैक :

    • दलिये को मिक्सी में पीसकर पाउडर बना लें।
    • अब इसमें थोड़ा सा पानी डालें, ताकि यह पेस्ट की तरह गाढ़ा हो जाए।
    • फिर इसमें शहद को मिक्स कर दें।
    • अब इस पैक को चेहरे पर लगा लें और करीब 20 मिनट बाद सूखने पर पानी से धो लें।

    नोट : इस पैक को आप हफ्ते में एक या दो बार लगा सकते हैं।

    10. नींबू

    हम सभी जानते हैं कि नींबू में विटामिन-सी होता है। चेहरे के रोमछिद्रों को साफ कर, उन्हें सिकोड़ने में मदद करता है। इसे चेहरे पर लगाने से तैलीय त्वचा की समस्या काफ़ी हद तक कम हो सकती है। साथ ही सीबम (त्वचा की सतह से जुड़ा एक तरह का तैलीय पदार्थ) को नियंत्रित कर, उसके उत्पादन को कम करता है।

    सामग्री :

    • आधा कटा हुआ नींबू
    • गुलाब जल की 7-8 बूंदें

    इस तरह करें इस्तेमाल :

    • आधे कटे हुए नींबू को कोमल हाथों से चेहरे पर रगड़ें। अगर आपको जलन होती है, तो इसमें नींबू के रस में गुलाब जल मिक्स कर लें।
    • अब इसे अपने चेहरे पर लगाकर, करीब 20 मिनट बाद पानी से धो लें।

    11. अंडा

    अंडे को प्रोटीन, विटामिन व अन्य पोषक तत्वों का स्रोत माना गया है। यह सेहत बनाने के साथ-साथ ख़ूबसूरती बढ़ाने में भी सहायक है। आइए जानते हैं, अंडे से बने फेस पैक के बारे में।

    सामग्री :

    • एक अंडा
    • नींबू के रस की कुछ बूंदें

    बनाने की विधि :

    • अंडे के सफेद हिस्से को एक कटोरी में डाल लें।
    • इसमें ताज़े नींबू की बूंदें डालकर अच्छी तरह मिक्स करें।
    • चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें।
    • अंगुलियों को अच्छे से साफ कर, पैक को चेहरे पर लगाएं।
    • करीब 15 मिनट बाद जब स्किन में खिंचाव महसूस होने लगे, तो चेहरे को धो लें।

    12. बेसन

    हर भारतीय रसोई में मौजूद बेसन का प्रयोग व्यंजन व मिठाइयां बनाने के अलावा चेहरे की सुंदरता बढ़ाने में भी होता है। आज हम जागेंगे कि ऑयली स्किन से छुटकारा पाने के लिए किस तरह बेसन का प्रयोग किया जाए।

    सामग्री :

    • चार चम्मच बेसन
    • दो चम्मच गुलाब जल
    • दो चम्मच शहद

    कैसे तैयार करें पैक :

    • इन सभी सामग्रियों को कटोरी में डालकर तब तक मिक्स करें, जब तक कि यह पेस्ट न बन जाए।
    • अब इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और 15 मिनट बाद ताजे पाने से धो लें।

    नोट : आप नहाते समय, इसे फेसवॉश की तरह भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

    13. सेब का सिरका

    यह भूरे रंग के सिरका, सेब के रस से बनता है। माना जाता है कि इसमें एंटी वायरल, एंटी बैक्टीरियल व एंटी फंगल गुण पाए जाते हैं (10)। इस लिहाज से यह ऑयली स्किन पर कारगर साबित हो सकता है।

    सामग्री :

    • एक चम्मच सेब का सिरका
    • तीन चम्मच पानी
    • कॉटन बॉल

    प्रयोग करने का तरीका

    • सिरके में पानी को मिक्स कर दें।
    • अब चेहरे को पानी से धोकर, कॉटन के जरिए इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाएं।
    • करीब 10-15 मिनट बाद चेहरे को पानी से धो लें।
    • चेहरा सूखने के बाद कोई भी अच्छी-सी मॉश्चराइज़र क्रीम लगाएं।

    नोट : इसे आप हफ्ते में एक या दो बार लगा सकते हैं।

    14. ग्रीन-टी

    ग्रीन-टी पीने के साथ-साथ चेहरे पर लगाने के भी काम आती है। इसमें पॉलीफॉलिक व एंटी इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं (11), जो त्वचा संबंधि रोगों से हमारी रक्षा करते हैं। आइए जानते हैं कि ऑयली स्किन के लिए कैसे ग्रीन टी का प्रयोग किया जा सकता है।

    सामग्री :

    • दो चम्मच ग्रीन-टी
    • एक चम्मच नींबू का रस
    • एक चम्मच चावल का आटा

    बनाने की विधि :

    • एक कटोरी में इन सभी सामग्रियों को डालकर मिक्स करें।
    • इस मिश्रण को अपने चेहरे पर 15-20 मिनट तक लगाए रखें।
    • इसके बाद चेहरे को ताज़े पानी से धो लें।

    नोट : ग्रीन-टी त्वचा के रोमछिद्रों को साफ़ करने में मदद करती है।

    15. हल्दी

    बेदाग़ और निखरी त्वचा पाने के लिए हल्दी से बेहतर कुछ हो ही नहीं सकता। यह न सिर्फ ऑयली, बल्कि हर तरह की स्किन के लिए लाभप्रद है। इसमें एंटीआक्सीडेंट व एंटी-नियोप्लास्टिक गुण पाए जाते हैं (12)।

    सामग्री :

    • ¼ चम्मच हल्दी पाउडर
    • ½ चम्मच नींबू का रस
    • एक चम्मच शहद

    ऐसे तैयार करें पैक :

    • इन सभी सामग्रियों को एक कटोरी में मिला लें।
    • साफ मेकअप ब्रश की मदद से इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाएं।
    • जब यह पेस्ट सूख जाए, तो गुनगुने पानी से चेहरा धो लें।

    ऊपर हमने उन तमाम घरेलू उपायों के बारे में जाना, जिनके प्रयोग से हम तैलीय त्वचा की देखभाल कर सकते हैं। अब हम ऑयली स्किन के बारे में कुछ अन्य टिप्स बताने जा रहे हैं।

    तैलीय त्वचा (ऑइली स्किन) के लिए कुछ और टिप्स – Other Tips For Oily Skin Care in Hindi

    इन घरेलू उपचारों के अलावा अन्य तरीके भी हैं, जिनकी मदद से हम अपनी ऑयली स्किन की केयर कर सकते हैं।

    1. क्लींज़िंग : यह करने से चेहरे के सभी पोर्स खुल जाते हैं और उनमें से सारी गंदगी बाहर निकल जाती है, जिससे चेहरे पर जमा अतिरिक्त तेल साफ हो जाता है। क्लीजिंग कराते समय इस बात का ध्यान रखें कि चेहरे को गुनगुने पानी से ही धोएं।
    1. टोनिंग : क्लींज़िंग कराने के बाद टोनिंग ज़रूर करवाते हैं। इसे करवाने से पोर्स बंद हो जाते हैं और वापस गंदगी चेहरे पर जमा नहीं हो पाती।
    1. स्क्रीबिंग : ऑयली स्किन के कारण नाक के आसपास ब्लैकहेड्स हो जाते हैं। इन्हें हटाने के लिए ब्लैकहेड रिमूवर स्क्रब का इस्तेमाल किया जाता है। इससे न सिर्फ ब्लैकहेड्स साफ होंगे, बल्कि कील-मुंहासों से भी छुटकारा मिल जाएगा।
    1. माश्चराइज़र : किसी भी अच्छी कंपनी की माश्चराइज़र क्रीम लगा सकते हैं। इससे त्वचा हाइड्रेट रहती है।
    1. सनस्क्रीन : सूरज के संपर्क में आते ही त्वचा ऑयली हो जाती है। इसलिए, ऐसी सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें, जो त्वचा को ऑयली होने से बचा सके।

    अब जानते हैं कि जिनकी त्वचा ऑयली है, उन्हें क्या खाना चाहिए और क्या नहीं। हम जो कुछ भी खाते हैं, उसका असर हमारी तैलीय ग्रंथियों पर पड़ता है। अगर, हम अपना खानपान बेहतर रखते हैं, तो काफ़ी हद तक ऑयली स्किन को मात दे सकते हैं।

    क्या खाएं

    • खीरा
    • संतरा
    • ब्रोकली
    • हरी सब्जियां
    • नारियल पानी
    • नींबू
    • केला
    • दालें

    क्या ना खाएं

    • फ्राइड चिप्स
    • रेड मीट
    • डेयरी उत्पाद यानी बटर, क्रीम, चीज़
    • शक्कर युक्त पेय पदार्थ
    • पॉलिश किया अनाज
    • डीप फ्राई फूड
    • चॉकलेट

    लड़की हो या लड़का हर कोई ख़ूबसूरत व जवां दिखना चाहता है, लेकिन इस राह में तैलीय त्वचा सबसे बड़ा रुकावट साबित होती है। इसलिए, हमने इस लेख के जरिए आपको इस समस्या से निपटने के कुछ तरीके बताएं हैं। आशा करते हैं कि आपको इस संबंध में सभी प्रश्नों के जवाब मिल गए हैं। अगर, अब भी आपके मन में शंका है, तो नीचे कमेंट बॉक्स में हमारे साथ साझा करें। साथ ही अपने अनुभव भी हमें बताएं।

    और पढ़े:

    Feedback

    संबंधित आलेख