पनीर के फूल के फायदे, उपयोग और नुकसान – Paneer Ke Phool in Hindi

Written by , (शिक्षा- एमए इन जर्नलिज्म मीडिया कम्युनिकेशन)

पनीर और इससे तैयार होने वाले व्यंजन लगभग सभी लोग चाव से खाते हैं, लेकिन क्या आपने कभी पनीर के फूल के बारे में सुना है। संभव है कि आपने पहले कभी इसका जिक्र नहीं सुना होगा। चिकित्सा जगत में इसके औषधीय गुणों के कारण पनीर के फूल को कई रोगों से बचाव के लिए उपयोगी माना जाता है। स्टाइलक्रेज के इस लेख में पनीर का फूल क्या है, इसके बारे में जानेंगे। साथ ही यहां हम पनीर के फूल के फायदे और नुकसान पर विस्तार से चर्चा करेंगे।

पढ़ना शुरू करें 

सबसे पहले इस लेख में जानेंगे पनीर का फूल क्या है। 

पनीर का फूल क्या है ?- What is paneer ka phool?

पनीर फूल जिसका वैज्ञानिक नाम विथानिया कौयगुलांस है। यह सोलानेसी परिवार का एक पौधा है, जिसे इंडियन चीज मेकर, इंडियन रिनेट, पनीर डोडी, पनीर डोडा, पनीर बेड व कई अन्य नामों से भी जाना जाता है। संस्कृत में इसे ऋष्यगंधा, उर्दू में पनिरदोडी, हिंदी में पनीर का फूल व पनीरबंद, बंगाली में पनीर फूल के नाम से जाना जाता है। इसका उपयोग पनीर बनाने के लिए भी किया जाता है (1)। इसमें मौजूद औषधीय गुणों के कारण आयुर्वेद में इसे कई बीमारियों से बचाव व उनके इलाज के लिए लाभकारी माना गया है। लेख में आगे पनीर के फूल के गुणों व फायदों के बारे में विस्तार से जानेंगे।  

आगे पढ़ें 

लेख के इस भाग में पनीर के फूल के फायदे से जुड़ी विस्तृत जानकारी दे रहे हैं। 

पनीर के फूल के फायदे – Benefits of Paneer Ke Phool in Hindi

नीचे क्रमानुसार पनीर का फूल बेनिफिट्स इन हिंदी बता रहे हैं, जो कुछ इस प्रकार हैं:

1. डायबिटीज में सहायक 

पनीर फूल का पौधा डायबिटीज को नियंत्रित करने में सहायक हो सकता है। चूहों पर किए गए शोध में इस बात की पुष्टि की गई है। शोध में बताया गया है कि पनीर फूल के अर्क में एंटी डायबीटिक गुण मौजूद होता है, जो ब्लड शुगर लेवल को कम करने में  महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है (2)। इस आधार पर माना जा सकता है कि पनीर फूल के फायदे डायबिटीज को नियंत्रण करने में देखे जा सकते हैं । 

2. अल्जाइमर में लाभकारी 

पनीर फूल के फायदे अल्जाइमर रोग में भी देखे जा सकते हैं। दरअसल, पनीर के फूल के अर्क में न्यूरोप्रोटेक्टिव प्रभाव मौजूद होता है, जो मस्तिष्क के स्वास्थ्य के लिए लाभकारी हो सकता है (3)। वहीं, अल्जाइमर एक न्यूरोलॉजिकल यानी दिमाग संबंधी विकार है, जिसके कारण मस्तिष्क की कोशिकाएं नष्ट होने लगती हैं । इस आधार पर पनीर का फूल का उपयोग अल्जाइमर रोग के उपचार में फायदेमंद साबित हो सकता है (1)। 

3. अनिद्रा की समस्या में सहायक 

पनीर फूल के फायदे अनिद्रा की समस्या में भी देखे जा सकते हैं। यह तनाव को दूर कर अच्छी नींद लेने में सहयोग कर सकता है। कई अध्ययन में पनीर फूल को अनिद्रा की परेशानी के लिए लाभकारी बताया गया है (4)। हालांकि, इसके पीछे इसका कौन-सा गुण काम करता है, इसे लेकर पर्याप्त जानकारी नहीं है। फिलहाल इस बारे में अभी और शोध किए जाने की आवश्यकता है।

4. वजन कम करने में फायदेमंद 

वजन कम करने में पनीर फूल के फायदे देखे जा सकते हैं। दरअसल, अध्ययन की मानें तो पनीर के फूल के एथेनॉलिक अर्क में एंटी ओबेसिटी यानी मोटापे को कम करने वाला प्रभाव पाया जाता है (5)। ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि पनीर का फूल वजन को नियंत्रित करने में लाभकारी हो सकता है।

5. अस्थमा में लाभकारी 

अस्थमा में पनीर फूल लाभकारी हो सकता है। एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध में बताया गया है कि आयुर्वेद से लेकर यूनानी पारंपरिक चिकित्सा पद्धतियों में पनीर फूल का इस्तेमाल अस्थमा के इलाज के लिए किया जाता है (6)। फिलहाल, इसके पीछे कौन सा गुण काम करता है, इसे लेकर कोई वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है। 

6. त्वचा के लिए फायदेमंद

त्वचा से जुड़ी समस्या में पनीर के फूल के फायदे देखे जा सकते हैं। एक अध्ययन की मानें तो अश्वगंधा पाउडर के साथ पनीर फूल को मिलाकर त्वचा पर उपयोग किया जा सकता है। इससे त्वचा संबंधी विकारों को दूर करने में सहायता मिल सकती है। यही वजह है कि त्वचा के लिए बनाई जाने वाली कई क्रीम में भी इसके तेल का उपयोग किया जाता है (1)। ऐसे में पनीर फूल को त्वचा के लिए गुणकारी कहना गलत नहीं होगा।

स्क्रॉल करें 

पनीर के फूल के फायदे जानने के बाद अब बारी है उसके औषधीय गुणों को जानने की। 

पनीर फूल के औषधीय गुण

विभिन्न समस्याओं के इलाज में पनीर का फूल लाभकारी माना जाता है, क्योंकि इसमें कई औषधीय गुण पाए जाते हैं, जिनके बारे में नीचे विस्तार से जानकारी दे रहे हैं (4)

  • वूंड हीलिंग गुण – पनीर का फूल में वूंड हीलिंग गुण मौजूद होता है जो कि घाव भरने की प्रक्रिया में सहायक हो सकता है। 
  • कार्डियोवैस्कुलर प्रभाव –  पनीर फूल में मौजूद यह गुण हृदय को स्वस्थ रखने व उससे जुड़ी बीमारियों में मददगार हो सकता है। 
  • एंटी इंफ्लामेंटरी गुण – इसका यह गुण सूजन संबंधी समस्याओं से राहत दिलाने में कारगर हो सकता है।  
  • एंटी फंगल प्रभाव – पनीर फूल में मौजूद एंटी फंगल गुण किसी भी तरह के फंगस से लड़ने व संक्रमण से बचाने में सहायक हो सकता है। 
  • हेपेटोप्रोटेक्टिव प्रभाव – इसका हेपेटोप्रोटेक्टिव प्रभाव लिवर के स्वास्थ्य को बरकरार रखने का काम कर सकते हैं। 
  • इम्यून सप्रेसिव प्रभाव – इम्यूनोसप्रेशन प्रतिरक्षा प्रणाली की सक्रियता या प्रभावकारिता में कमी को मेंटेन करता है।
  • मूत्रवर्धक प्रभाव – इस प्रभाव को शरीर के ऊतकों में मौजूद अतिरिक्त पानी और नमक को पेशाब के मार्ग से निकालने में सहायक माना जा सकता है। 

 पढ़ते रहें 

आइए अब जान लेते हैं पनीर के फूल का उपयोग कैसे करते हैं, इसके बाद जानेंगे पनीर फूल के नुकसान।  

पनीर के फूल का उपयोग – How to Use Paneer Ke Phool in Hindi

जैसा कि हमने ऊपर भी बताया कि पनीर का फूल का पौधा औषधीय गुणों से भरपूर होता है। ऐसे में पनीर के फूल का उपयोग कैसे कर सकतेे हैं इसके बारे में हम नीचे विस्तार से बता रहे हैं (1):

  • दांतों की सफाई के लिए पनीर का फूल का उपयोग किया जा सकता है, इसके लिए पनीर फूल की टहनियों को चबाया जाता है। 
  • त्वचा से जुड़ी समस्याओं को दूर करने के लिए पनीर फूल में अश्वगंधा पाउडर मिलाकर उपयोग किया जा सकता है। 
  • इसके अलावा पनीर फूल के तेल को त्वचा के लिए बनाई गई क्रीम में भी इस्तेमाल किया जाता है। 
  • पनीर के फूल का उपयोग सूजन, अल्सर व खुजली की समस्या में बाहरी रूप से किया जा सकता है।  

अंत में पढ़ें

अब यहां जानेंगे पनीर के फूल साइड इफेक्ट्स इन हिंदी में पनीर फूल के नुकसान। 

पनीर के फूल के नुकसान – Side Effects of Paneer Ke Phool in Hindi

पनीर के फूल के नुकसान इन हिंदी में अब बात करेंगे इससे होने वाले नुकसान की, किसी भी चीज की अधिकता नुकसानदेह हो सकती है। पनीर के फूल के फायदे और नुकसान दोनों ही हैं नीचे हम बताने जा रहे हैं नुकसान के बारे में। 

  • पनीर फूल का पौधा में ड्यूरेटिक प्रभाव पाया जाता है (4)। ऐसे में हो सकता है कि इसके अत्यधिक सेवन से बार बार पेशाब जाने की इच्छा हो सकती है। 
  • प्रेग्नेंसी में इसका सेवन से परहेज करना चाहिए (1)। 
  • अगर किसी संक्रमण या फिर किसी बीमारी से जूझ रहे हैं तो इसके सेवन करने से बचें, क्योंकि यह उसे बढ़ाने का कारण बन सकता है (1)। 
  • पनीर फूल में हाइपरग्लाइसेमिक प्रभाव मौजूद होता है (7)। ऐसे में जिन्हें लो ब्लड शुगर की समस्या है उन्हें इसके सेवन से समस्या हो सकती है। 

पनीर फूल का पौधा अपने आप में कई औषधीय गुणों से भरपूर है, जिसकी जानकारी हम ऊपर दे चुके हैं। पनीर फूल के बारे में पढ़कर यह जरूर समझ आ गया होगा कि ये कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं में लाभकारी हो सकता है। वहीं पनीर के फूल का उपयोग भी विभिन्न तरीकों से किया जा सकता है। हालांकि इसके फायदों को देखते हुए इससे होने वाले नुकसान को भी ध्यान में रखना जरूरी है।  

संदर्भ (Source)

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Wethania cogulance – A miracle for diabetes
    https://statperson.com/Journal/ScienceAndTechnology/Article/SpecialIssue/ACAEE_43.pdf
  2. Antidiabetic effect of Withania coagulans in experimental rats
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3453475/
  3. Withania coagulans Extract Attenuates Histopathological Alteration and Apoptosis in Rat Brain Cortex Following Ischemia/Reperfusion Injury
    https://sites.kowsarpub.com/gct/articles/14836.html
  4. Withania coagulans Dunal- An overview
    https://www.researchgate.net/publication/286747008_Withania_coagulans_Dunal-_An_overview
  5. Pharmacological Evaluation of Ethanolic Extract of Withania Coagulans Dunal (Flower Buds)
    https://www.semanticscholar.org/paper/Pharmacological-Evaluation-of-Ethanolic-Extract-of-Saratha/8152656a78587bf5248894ff0dffc44426847d22
  6. Chemistry and pharmacology of Withania coagulans: an Ayurvedic remedy
    https://onlinelibrary.wiley.com/doi/full/10.1211/jpp.62.02.0001
  7. Antidiabetic effect of aqueous extract of Withania coagulans flower in Poloxamer-407 induced type 2 diabetic rats
    https://www.researchgate.net/publication/235678129_Antidiabetic_effect_of_aqueous_extract_of_Withania_coagulans_flower_in_Poloxamer-407_induced_type_2_diabetic_rats
Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
The following two tabs change content below.
पुजा कुमारी ने बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी से जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन में एमए किया है। इन्होंने वर्ष 2015 में अपने... more

ताज़े आलेख