घरेलू उपचार

पथरी (किडनी स्टोन) के कारण, लक्षण और घरेलू इलाज – Kidney Stone Symptoms and Home Remedies in Hindi

by
पथरी (किडनी स्टोन) के कारण, लक्षण और घरेलू इलाज – Kidney Stone Symptoms and Home Remedies in Hindi Hyderabd040-395603080 December 13, 2019

क्या आप जानते हैं, पेट के निचले हिस्से में होने वाला दर्द पथरी की समस्या भी हो सकती है। यह गलत खानपान और अनियंत्रित जीवनशैली का नकारात्मक प्रभाव है। इसे किडनी स्टोन के नाम से जाना जाता है। अगर समय रहते इसका इलाज न करवाया जाए, तो यह समस्या गंभीर रूप ले सकती है। इस लेख में हम किडनी स्टोन के लक्षण, किडनी स्टोन होने के कारण व इससे बचने के आसान घरेलू उपाय बता रहे हैं। आइए, सबसे पहले जानते हैं कि आखिर किडनी स्टोन है क्या?

क्या होता है किडनी स्टोन – What is Kidney Stone in Hindi

  • किडनी स्टोन को पथरी और नेफ्रोलिथियासिस के रूप में भी जाना जाता है। दरअसल, पथरी एक प्रकार का ठोस अपशिष्ट पदार्थ है, जो किडनी में बनना शुरू होता है और क्रिस्टल के रूप में विकसित होता है।
  • किडनी स्टोन कई प्रकार के होते हैं, जिनमें से 80 प्रतिशत कैल्शियम और ऑक्सालेट के कारण बनते हैं। वहीं, अन्य स्टोन के बनने का कारण स्ट्रवाइट, यूरिक एसिड व सिस्टीन जैसे पदार्थ होते हैं (1)। किडनी स्टोन आकार में छोटे या बड़े हो सकते हैं।
  • आमतौर पर छोटी पथरी से ज्यादा समस्या नहीं होती, लेकिन अगर इनका आकार बड़ा है, तो मूत्र प्रणाली में रूकावट हो सकती है। कुछ मामलों में किडनी स्टोन से पीड़ित इंसान अहसनीय दर्द, उल्टी और रक्तस्राव (Bleeding) का सामना करता है।
  • अध्ययन से पता चलता है कि जिसे एक बार स्टोन की समस्या हो जाए, उसके ठीक होने बाद अगले 10 वर्ष में फिर से यह समस्या हो सकती है (2)।

अब नीचे दिए गए बिंदुओं के माध्यम से किडनी स्टोन के लक्षण जानते हैं।

पथरी के लक्षण – Symptoms of Kidney Stone in Hindi

किडनी स्टोन सिम्पटम्स में निम्नलिखित बिंदु शामिल हैं-

  • पीठ, बाजू, पेट के निचले हिस्से में तेज दर्द।
  • गुलाबी, लाल या भूरे रंग का पेशाब आना।
  • लगातार पेशाब लगना।
  • पेशाब करते समय दर्द होना।
  • पेशाब करने में दिक्कत या कम मात्रा में मूत्र निकलना।
  • बदबूदार मूत्र।

किडनी स्टोन सिम्पटम्स का मतलब हो सकता है कि किडनी स्टोन की समस्या हो चुकी है। अगर दर्द ज्यादा समय तक रहता है, तो यह इन परेशानियों की ओर संकेत हो सकता है –

  • जी मिचलाना
  • उल्टी
  • बुखार
  • ठंड लगना आदि

किडनी स्टोन के लक्षण जानने के बाद आगे जानिए किडनी स्टोन होने के कारण।

किडनी स्टोन होने के कारण – Causes of Kidney Stone in Hindi

किडनी स्टोन की समस्या नीचे बताए जा रहे कारणों की वजह से हो सकती है (3) –

  • मूत्र में कैल्शियम, ऑक्सालेट व यूरिक एसिड जैसे पदार्थों का स्तर बढ़ जाने से किडनी स्टोन की समस्या हो सकती है।
  • किडनी रोग, कैंसर और एचआईवी के इलाज के लिए ली जा रही दवाओं से भी पथरी हो सकती है।
  • उन चिकित्सीय स्थितियों के कारण भी पथरी विकसित हो सकती है, जो शरीर में कैल्शियम, ऑक्सालेट व यूरिक एसिड का स्तर बढ़ा देते हैं।

पथरी के लक्षण व उपचार दोनों आपस में जुड़े हुए हैं। किडनी स्टोन होने के कारण पता चलते ही व किडनी स्टोन होने के लक्षण नजर आते ही सटीक इलाज जरूरी है। यहां हम कुछ ऐसे ही घरेलू उपचार बता रहे हैं।

1. सेब का सिरका

सामग्री

  • दो बड़े चम्मच सेब का सिरका
  • एक गिलास पानी

कैसे करें इस्तेमाल

  • पानी में सिरका मिलाएं और इसे पिएं।

कितनी बार करें

पथरी का देसी इलाज करने के लिए रोजाना भोजन से पहले सेब के सिरके का सेवन करें। भविष्य में पथरी से बचे रहने के लिए सप्ताह में एक या दो बार सेब के सिरके का पानी पी सकते हैं।

कैसे है लाभदायक

सेब के सिरके को किडनी के लिए सुपरफूड कहा जाता है। यह किडनी को साफ करने का काम करता है (4)। सिरके में मौजूद रासायनिक तत्व पथरी को नरम कर बाहर निकालने का काम कर सकते हैं। सेब के सिरके में मौजूद एसिड भविष्य में किडनी स्टोन को विकसित होने से रोक सकता है। पथरी से निजात पाने का यह सबसे सटीक घरेलू उपाय है। किडनी में स्टोन होने के लक्षण नजर आने पर इस घरेलू उपाय का प्रयोग किया जा सकता है।

सावधानी : सेब का सिरका दांत की परत को नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए, इसका सेवन करने से पहले पानी में पतला कर लें। रक्तचाप और डायबिटीज की दवा ले रहे मरीज इसका सेवन न करें।

2. नींबू का रस और-जैतून का तेल

सामग्री

  • एक बड़ा चम्मच जैतून का तेल
  • एक बड़ा चम्मच नींबू का रस
  • 60-80 ml पानी

कैसे करें इस्तेमाल

  • पानी में नींबू का रस और जैतून का तेल मिलाएं।
  • अब इस मिश्रण को पी लें।

कितनी बार करें

अगर समस्या अधिक है, तो इस मिश्रण को एक दिन में दो से तीन बार ले सकते हैं।

कैसे है लाभदायक

पथरी का इलाज करने के लिए नींबू का उपाय कारगर रहेगा। नींबू के रस में मौजूद सिट्रिक एसिड किडनी स्टोन को बाहर निकालने में मदद कर सकता है। वहीं, जैतून तेल की चिकनाई पथरी को मूत्रमार्ग से निकालने में मदद करेगी (5)।

सावधानी : इस उपाय को तीन दिन तक प्रयोग करें, अगर कुछ फायदा नहीं मिलता है, तो डॉक्टर से संपर्क करें।

3. अनार का जूस

सामग्री

  • 1 अनार

कैसे करें इस्तेमाल

  • सबसे पहले अनार के दानों को बाहर निकाल लें।
  • अब अनार के दानों को जूसर में डालें। जूस ठीक से बने, इसलिए थोड़े पानी का इस्तेमाल कर सकते हैं।

कैसे है लाभदायक

पथरी की दवा के रूप में अनार का जूस पिया जा सकता है। इसका शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव शरीर को किडनी को डिटॉक्स करने का काम कर सकता है। यह मूत्र प्रणाली को रेगुलेट करने और पेशाब की जलन को कम करने का काम भी कर सकता है।

किडनी के लिए अनार का जूस फायदेमंद है, क्योंकि यह नेफ्रोटोक्सिटी (किडनी में होने वाली विषाक्तता) से बचाव करता है। अनार का नियमित सेवन किडनी स्टोन को बाहर निकालने में मदद कर सकता है (6)।

4. राजमा (किडनी बीन्स)

सामग्री

  • एक कप किडनी बीन्स

कैसे करें इस्तेमाल

  • फली से बीन्स निकाल लें और फली के छोटे-छोटे स्लाइस कर लें।
  • लगभग 60 ग्राम कटी हुई फली को 4 लीटर पानी में चार घंटे तक उबालें। उबालते समय आंच को धीमा रखें।
  • अब पानी को मलमल के साफ कपड़े से छान लें और लगभग 8 घंटे के लिए ठंडा होने के लिए रख दें।
  • अब मरीज को एक गिलास बीन्स की फली का पानी एक दिन के लिए हर दो घंटे के अंतराल में दें। इसके बाद फली का पानी हफ्ते में तीन-चार बार लिया जा सकता है।

नोट : एक बार फली का पानी उबालने के बाद इसका सेवन 24 घंटे के अंदर कर लें।

कैसे है लाभदायक

पथरी का उपचार करने के लिए राजमा का सेवन एक कारगर विकल्प हो सकता है। राजमा जिसे किडनी बीन्स के नाम से भी जाना जाता है, वह स्टोन को निकालने का काम कर सकती है (7)। किडनी में स्टोन होने के लक्षण नजर आने पर राजमा कुछ हद तक राहत दिला सकता है।

5. तुलसी

सामग्री

  • पांच-छह तुलसी के पत्ते
  • एक कप गर्म पानी
  • शहद स्वादानुसार

कैसे करें इस्तेमाल

  • पत्तियों को 10 मिनट के लिए गर्म पानी में डूबा रहने दें।
  • स्वादानुसार शहद मिलाएं।
  • अब आराम से तुलसी की चाय का आनंद लें।

कितनी बार करें

एक दिन में दो-तीन कप तुलसी की चाय पी जा सकती है।

कैसे है लाभदायक

पथरी का आयुर्वेदिक उपचार करने के लिए तुलसी का सहारा लिया जा सकता है। तुलसी को भारतीय जड़ी-बूटियों में विशेष स्थान प्राप्त है। किडनी स्टोन के लिए भी इसका सेवन किया जा सकता है। यह एक प्राकृतिक उपाय है, जो पथरी की समस्या से निजात दिलाने का काम करेगा (8)।

6. तरबूज

किडनी स्टोन से निजात पाने के लिए तरबूज का सेवन भी फायदेमंद हो सकता है। तरबूज एक खास फल है, जिसमें पानी की मात्रा अधिक होती है। तरबूज साइट्रिक एसिड और पोटैशियम तत्व से समृद्ध होता है, जो पथरी को बाहर निकालने का काम कर सकता है। पथरी से पीड़ित मरीज रोजाना तरबूज खा सकते हैं या इसका जूस पी सकते हैं (9), (10)।

7. अंगूर

गुर्दे की पथरी को ठीक करने के लिए अंगूर का सेवन एक कारगर विकल्प हो सकता है। अंगूर भी साइट्रिक गुणों से समृद्ध होता है और इसमें पानी की मात्रा अधिक होती है (10)। अंगूर को अपने डिटॉक्सीफाइंग गुणों के लिए भी जाना जाता है। किडनी स्टोन से पीड़ित मरीज रोजाना अंगूर का सेवन कर सकते हैं (11)।

8. सिंहपर्णी

सामग्री

  • एक चम्मच सिंहपर्णी जड़
  • एक कप गर्म पानी

कैसे करें इस्तेमाल

  • सिंहपर्णी की जड़ को गर्म पानी में डालें और इसे लगभग 10 मिनट तक पानी में रहने दें।
  • अब पानी को छान लें और चाय की तरह धीरे-धीरे पिएं।

कितनी बार करें

एक दिन में दो-तीन कप।

कैसे है लाभदायक

पथरी का इलाज करने के लिए सिंहपर्णी की जड़ कारगर रहेगी। सिंहपर्णी की जड़ एंटीइंफ्लेमेटरी गुणों से समृद्ध होती है, जो दर्द-सूजन से राहत दिला सकती है। साथ ही इसमें मौजूद पोटैशियम किडनी स्टोन की स्थिति में सहायता कर सकता है। सिंहपर्णी मूत्र को बढ़ाने का काम भी करती है (12)।

सावधानी : मधुमेह, उच्च रक्तचाप और गॉल ब्लैडर संबंधी रोग की स्थिति में सिंहपर्णी का यह उपाय न करें।

9. सेलेरी

सामग्री

  • कच्ची सेलेरी (इतना कि एक कप रस निकल सके)

कैसे करें इस्तेमाल

  • ब्लेंडर की मदद से सेलेरी का जूस निकालें।
  • जूस का सेवन सुबह खाली पेट करें।

कितनी बार करें

हफ्ते में तीन बार ले सकते हैं।

कैसे है लाभदायक

सेलेरी का जूस मूत्रवर्धक के रूप में काम करता है, जिससे किडनी स्टोन को बाहर निकालने में मदद मिलेगी। इसमें एंटीबैक्टीरियल गुण भी होता, जो संक्रमण से दूर रखता है (13)।

10. बिच्छू पत्ती

सामग्री

  • दो बड़े चम्मच सूखी बिच्छू पत्तियां
  • एक कप गर्म पानी

कैसे करें इस्तेमाल

  • सूखी बिच्छू पत्तियों को गर्म पानी में डालें और लगभग 10 मिनट तक पानी में रहने दें।
  • अब चाय की तरह इसे आराम से पिएं।

कितनी बार करें

  • एक दिन में 2-3 कप पिएं।

कैसे है लाभदायक

किडनी स्टोन के लिए बिच्छू की पत्तियों का उपाय किया जा सकता है। बिच्छू की पत्तियां मूत्रवर्धक का काम करती हैं। साथ ही शरीर के भीतर इलेक्ट्रोलाइट को संतुलित बनाए रखने में मदद करती हैं। मूत्र की मात्रा बढ़ने से पथरी आसानी से बाहर निकल जाती है (14)।

11. नारियल का पानी

किडनी स्टोन से बचने के लिए नारियल पानी का रोजाना सेवन किया जा सकता है। समस्या के दिनों में दिन में तीन-चार बार नारियल का पानी पिएं। इससे शरीर में मूत्र की मात्रा बढ़ेगी, जिससे पथरी आसानी से बाहर निकल सकती है (15)।

12. बेकिंग सोडा

सामग्री

  • आधा चम्मच बेकिंग सोडा
  • एक गिलास गुनगुना पानी

कैसे करें इस्तेमाल

  • पानी में बेकिंग सोडा मिलाएं और इसे तुरंत पी लें।

कितनी बार करें

दिन में दो से तीन बार पिएं।

कैसे है लाभदायक

बेकिंग सोडे (Sodium Bicarbonate) की क्षारीयता (Alkaline) मूत्र में मौजूद अम्लीय सामग्री (Acidic Content) को कम करने का काम करती है। इस प्रकार पथरी आसानी से पेशाब के रास्ते निकल सकती है (16), (17)। इस अम्लीय सामग्री के कारण ही किडनी स्टोन का निर्माण होता है।

13. शतावरी

किडनी स्टोन के लिए शतावरी एक कारगर विकल्प हो सकता है। समस्या के दिनों में शतावरी को अपने दैनिक आहार में स्थान दें। शतावरी की सब्जी बनाकर या वेजिटेबल सलाद में डालकर खा सकते हैं। शतावरी में ऐस्पेराजीन नामक तत्व होता है, जो किडनी स्टोन को तोड़ने का काम करता है और पेशाब का उत्पादन बढ़ाता है, जिससे पथरी आसानी से मूत्र के रास्ते निकल जाती है (18)।

14. मूली का जूस

सामग्री

  • एक सफेद मूली

कैसे करें इस्तेमाल

  • मूली के डंठल को हटाकर छोटा-छोटा काट लें।
  • अब जूसर की मदद से मूली का जूस निकाल लें।
  • सुबह खाली पेट लगभग 100ml मूली का जूस पिएं।

कितनी बार करें

समस्या के दिनों में रोजाना मूली के जूस का सेवन करें।

कैसे है लाभदायक

मूली एक खास सब्जी है, जो शरीर को डिटॉक्स करने का काम करती है। किडनी स्टोन को बाहर निकालने के लिए इसका रस मदद कर सकता है। मूली विटामिन-ए, बी, सी, पोटैशियम और डाइजेस्टिव एंजाइम्स से समृद्ध होती है, जो पेशाब व पाचन क्रिया में सुधार करने का काम करती है (19)।

15. हॉर्सटेल

सामग्री

  • दो-चीन चम्मच हॉर्सटेल
  • एक कप गर्म पानी

कैसे करें इस्तेमाल

  • एक कप गर्म पानी में हॉर्सटेल हर्ब को आठ से दस मिनट तक डुबो कर रखें।
  • अब धीरे-धीरे इसका सेवन करे।

कितनी बार करें

दिन में दो-तीन बार पिएं।

कैसे है लाभदायक

किडनी स्टोन का इलाज करने के लिए हॉर्सटेल का भी प्रयोग किया जा सकता है। हॉर्सटेल एक प्रभावी जड़ी-बूटी है, जो एंटीऑक्सीडेंट और एंटीइंफ्लेमेटरी गुणों से समृद्ध होती है। इसे यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन के साथ-साथ किडनी और ब्लाडर स्टोन के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। हॉर्सटेल में मौजूद रसायन इसे एक कारगर मूत्रवर्धक बनाने का काम करते हैं। मूत्र की मात्रा बढ़ने से पथरी आसानी से बाहर निकल सकती है (20)।

पथरी (किडनी स्टोन) से बचाव – Prevention Tips for Kidney Stone in Hindi

भविष्य में किडनी स्टोन से बचे रहने के लिए आप निम्नलिखित टिप्स को जरूर अपनाएं –

  • हाइड्रेट रहें, पानी पीने की प्रक्रिया दिन भर जानी रखें।
  • अत्यधिक नमक का सेवन न करें।
  • ऑक्सालेट एक केमिकल कंपाउंड है, जो बहुत से खाद्य पदार्थों में पाया जाता है। ऑक्सालेट की अत्यधिक मात्रा किडनी स्टोन के निर्माण कर सकती है। इसलिए, जितना हो सके अधिक ऑक्सालेट युक्त खाद्य सामग्री का सेवन न करें। पालक, चॉकलेट, कॉफी, स्वीट पोटैटो व मूंगफली आदि में अधिक ऑक्सालेट पाया जाता है (21)।
  • एनिमल प्रोटीन जैसे बीफ, पोर्क, फिश व चिकन आदि का सेवन कम करें।

किडनी स्टोन की समस्या उम्र के किसी भी पड़ाव में परेशान कर सकती है। पथरी का होना ज्यादातर भोजन पर निर्भर करता है। भोजन में नमक, एसिड व ऑक्सालेट की मात्रा बढ़ने से पथरी की आशंका बढ़ जाती है। अगर आपकी जानकारी में कोई भी किडनी स्टोन से पीड़ित हैं, तो लेख में बताए गए किसी भी प्राकृतिक उपाय का चुनाव कर सकते हैं। ध्यान रहे कि जो अपने शरीर के प्रति जितना जागरूक रहेगा, बीमारियां उससे उतना दूर रहेंगी। किडनी स्टोन पर लिखा हमारा यह लेख आपको कैसा लगा, हमें नीचे दिए कमेंट बॉक्स में बताना न भूलें।

और पढ़े:

The following two tabs change content below.

Nripendra Balmiki

नृपेंद्र बाल्मीकि एक युवा लेखक और पत्रकार हैं, जिन्होंने उत्तराखंड से पत्रकारिता एवं जनसंचार में स्नातकोत्तर (एमए) की डिग्री प्राप्त की है। नृपेंद्र विभिन्न विषयों पर लिखना पसंद करते हैं, खासकर स्वास्थ्य संबंधी विषयों पर इनकी पकड़ अच्छी है। नृपेंद्र एक कवि भी हैं और कई बड़े मंचों पर कविता पाठ कर चुके हैं। कविताओं के लिए इन्हें हैदराबाद के एक प्रतिष्ठित मीडिया संस्थान द्वारा सम्मानित भी किया जा चुका है।

संबंधित आलेख