ज्यादा देर तक पेशाब रोकने के नुकसान – Side Effects Of Holding Urine For Long Time In Hindi

Written by , (शिक्षा- बैचलर ऑफ जर्नलिज्म एंड मीडिया कम्युनिकेशन)

पानी पीना हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है, पर कई बार ज्यादा पानी पीने से बार-बार बाथरूम भी जाना पड़ सकता है। ऐसे में कभी-कभार काम की व्यस्तता या फिर किसी अन्य कारण से लोग पेशाब रोक लेते हैं। हालांकि, ये सामान्य लगता है, लेकिन ऐसा है नहीं। इससे हमारे स्वास्थ्य पर क्या असर पड़ सकता है, इसके बारे में विस्तृत जानकारी स्टाइलक्रेज के इस लेख में पढ़ने को मिलेगी। इस लेख में जानेंगे पेशाब रोकने के नुकसान क्या हो सकते हैं व यदि पेशाब रोकना पड़े तो क्या करें। तो ज्यादा देर तक पेशाब रोकने के नुकसान और खतरे से जुड़ी हर जानकारी के लिए लेख को अंत तक पढ़ें।

पढ़ना शुरू करें

विषय सूची


सबसे पहले जानें कितनी मात्रा में पेशाब को रोका जा सकता है।

मूत्राशय कितनी मात्रा में पेशाब को रोक सकता है? – How Much Urine Can Your Bladder Hold in Hindi

मूत्राशय में जब मूत्र एकत्रित होकर भर जाता है तो व्यक्ति को पेशाब जाने की जरूरत महसूस होती है। मूत्र एकत्रित होने से मूत्राशय गोल आकार में फूल जाता है और पेशाब होने के बाद वो वापस से सिकुड़ जाता है। ऐसे में इस विषय से जुड़ी जानकारी में इस बात का जिक्र मिलता है कि अगर व्यक्ति का मूत्राशय स्वस्थ है तो वह 2 से 5 घंटे तक आराम से लगभग 1.5 से 2 कप तक पेशाब रोक सकता है (1)।

आगे पढ़ें

अब पढ़ें यूरिन रोकने के नुकसान क्या-क्या हो सकते हैं।

ज्यादा देर तक पेशाब रोकने के नुकसान – Side Effects Of Holding Urine For Long Time In Hindi

जिन लोगों को ज्यादा देर तक पेशाब रोकने की आदत होती है, उन्हें पेशाब रोकने के नुकसान और खतरे के बारे में अवश्य जान लेना चाहिए। नीचे ज्यादा देर तक पेशाब रोकने से होने वाली समस्याओं के बारे में बताया गया है, जो कुछ इस प्रकार हैं (2):

1. यूटीआई संक्रमण

काफी देर तक पेशाब रोक कर रखने से यूटीआई का खतरा बढ़ सकता है। दरअसल, पेशाब करते वक्त मूत्र पथ में मौजूद बैक्टीरिया बाहर निकल जाते हैं। ऐसे तो ये बैक्टीरिया हानिकारक नहीं होते हैं, लेकिन ज्यादा देर तक पेशाब रोकने से ये बैक्टीरिया बढ़ने लगते हैं। फिर जब वे बाहर नहीं निकल पाते हैं, तो ये बैक्टीरिया गुर्दे को संक्रमित कर सकते हैं।

2. मूत्राशय की मांसपेशियों पर प्रभाव

जिन लोगों को ज्यादा देर तक पेशाब रोकने की आदत होती है उनके मूत्राशय की मांसपेशियां क्षतिग्रस्त हो सकती है। दरअसल ज्यादा देर तक पेशाब रोकने से मांसपेशियों में खिंचाव उत्पन्न हो सकता है। ये खिंचाव जब लंबे वक्त तक रह जाता है तो यह ब्लैडर यानी मूत्राशय की मांसपेशियों को प्रभावित कर सकता है, जिससे ब्लैडर डैमेज हो सकता है।

3. किडनी में समस्या

ज्यादा देर तक यूरिन रोकने के नुकसान में किडनी से जुड़ी समस्या भी शामिल है। दरअसल ज्यादा देर तक पेशाब रोकने से मूत्राशय पूरी तरह से पेशाब को खाली नहीं कर पाता है और वापस से पेशाब किडनी में आ सकता है। ऐसे में किडनी में पेशाब भरे रहने की वजह से सूजन आ सकती है व किडनी के आसपास के अंगों पर भी दबाव पड़ सकता है। इस दबाव के कारण किडनी को नुकसान हो सकता है और किडनी संबंधी रोग का जोखिम हो सकता है।

4. मूत्र असंयमिता

ज्यादा देर तक पेशाब रोकने से पेशाब की प्रक्रिया में समस्या हो सकती है। दरअसल ज्यादा समय तक पेशाब रोकने से मूत्राशय पूरी तरह से खाली नहीं हो पाता है, ऐसे में पेशाब के रिसाव की समस्या हो सकती है, जिसे मूत्र या पेशाब की असंयमिता (Overflow incontinence) कहा जाता है।

स्क्रॉल करें

पेशाब रोकने के नुकसान और खतरे के बाद जानते हैं अगर कभी पेशाब रोकना पड़े तो क्या करें।

यदि पेशाब रोकना पड़े तो क्या करें?

अगर कभी ऐसा हो कि किसी मजबूरी में पेशाब रोकना पड़े तो इसके लिए कुछ उपाय आजमा सकते हैं। ये कुछ इस प्रकार हैं:

  • इस दौरान पानी या कोई भी पेय पदार्थ का सेवन कम करें।
  • पेशाब करने की इच्छा को रोकने के लिए कहीं और मन को बहला सकते हैं।
  • मन को दूसरे काम में उलझाएं, जैसे कोई गेम खेलें।
  • मन को भटकाने के लिए संगीत सुन सकते हैं।
  • अगर कहीं खड़ें हैं तो एक स्थान पर बैठ जाएं।
  • एकचित्त होकर कोई किताब पढ़ सकते हैं।

लेख में पेशाब रोकने के नुकसान और खतरे के बारे में बताया गया है। इसे पढ़कर आप यह तो समझ ही गए हैं कि बार-बार ज्यादा देर तक पेशाब रोकने के नुकसान का असर स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है। ऐसे में बेहतर यही होगा कि इस बात का ध्‍यान रखें और इस तरह की गलत आदतों को खुद से दूर रखें। इसके साथ ही स्टाइलक्रेज पर दी गई यूरिन रोकने के नुकसान से जुड़ी ये जानकारी को दूसरों के साथ भी साझा कर, हर किसी को सावधान करें। इस तरह की स्वास्थ्य संबंधी अन्य जानकारियों के लिए स्टाइलक्रेज की वेबसाइट से जुड़े रहें।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या पेशाब रोकने से किडनी खराब हो सकती है?

हां, बिल्कुल ज्यादा देर तक पेशाब रोकने की आदत किडनी को खराब कर सकती है(2)।

मूत्राशय कितनी देर तक पेशाब को रोक सकता है?

मूत्राशय 2 से 5 घंटे तक आराम से पेशाब को रोक सकता है(1)।

अगर बार-बार पेशाब रोका जाए तो क्या होता है?

बार-बार पेशाब रोकने से कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं जैसे, किडनी खराब, यूटीआई संक्रमण, मूत्र का रिसाव अन्य हो सकती है (2)।

संदर्भ (Sources)

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Urine and Urination By MedlinePlus
    https://medlineplus.gov/urineandurination.html
  2. Definition & Facts of Urinary Retention By NIH
    https://www.niddk.nih.gov/health-information/urologic-diseases/urinary-retention/definition-facts
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

ताज़े आलेख