Written by , (एमए इन मास कम्युनिकेशन)

खूबसूरत दिखना हर किसी की चाहत होती है और यह तभी हो सकता है, जब चेहरा पिंपल्स और दाग-धब्बों से मुक्त हो। ऐसे में कई लोग जानकारी की कमी के कारण दाग-धब्बों से छुटकारा पाने के लिए केमिकल युक्त प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल कर लेते हैं। इन केमिकल युक्त प्रोडक्ट्स के कुछ नुकसान भी हो सकते हैं। यही कारण है कि बड़े-बुजुर्ग आज भी कील-मुंहासों के लिए मुल्तानी मिट्टी को बेहतर मानते हैं। इसी बात को ध्यान में रखते हुए स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम मुल्तानी मिट्टी से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें बता रहे हैं। उससे पहले यह जान लेना आवश्यक है कि मुल्तानी मिट्टी कील-मुंहासों से राहत तो पहुंचा सकती है, लेकिन पूर्ण इलाज डॉक्टरी परामर्श पर ही निर्भर करता है।

आइए, शुरू करें लेख

सबसे पहले हम मुल्तानी मिट्टी क्या है, इस बारे में जान लेते हैं।

मुल्तानी मिट्टी क्या है?

मुल्तानी मिट्टी को इंग्लिश में फुलर्स अर्थ के नाम से जाना जाता है। यह हाइड्रेटेड एल्यूमीनियम सिलिकेट्स का रूप है। इसमें मैग्नीशियम, सोडियम और कैल्शियम जैसे महत्वपूर्ण धातु मौजूद हाेते हैं। यही नहीं इसमें मोंटमोरिल्लोनाइट (Montmorillonite) के अलावा एटापुलगाइट (attapulgite) और पैलगोरोसाइट (palygorskite) जैसे प्रमुख खनिज भी शामिल हैं (1)। यह चेहरे से फुंसियों और मुंहासों को दूर करने के लिए जाना जाता है। यह मुंहासों को कैसे ठीक करता है, इस बारे में हम आगे लेख में जानेंगे।

आगे पढ़ें

अब हम आपको बताएंगे कि मुल्तानी मिट्टी मुंहासों की समस्या को कैसे दूर करती है।

मुल्तानी मिट्टी मुंहासों की समस्या को कैसे दूर करती है?

मुल्तानी मिट्टी फैस पैक त्वचा में निखार लाने के साथ-साथ चेहरे के स्वास्थ के लिए भी बेहद लाभकारी मानी जाती है (2)। वहीं, इसमें मौजूद कुछ खास तत्व कील-मुंहासों की समस्या को दूर करने में भी मदद कर सकते हैं। कील-मुंहासों में मुल्तानी मिट्टी कैसे काम करती है, इस बारे में हम नीचें विस्तार से बता रहे हैं (3):

  • मुल्तानी मिट्टी त्वचा के रोमछिद्रों के आकार को कम करने में मदद कर सकती है।
  • मुल्तानी मिट्टी चेहरे पर मौजूद ब्लैकहेड्स और व्हाइटहेड्स को दूर करने के साथ-साथ झूर्रियों से भी बचाव कर सकती है।
  • मुल्तानी मिट्टी टैनिंग को कम करने का भी कम कर सकती है।
  • इसमें भरपूर मात्रा में मैग्नीशियम क्लोराइड पाया जाता है, जो त्वचा को साफ करने, ब्लड सर्कुलेशन में सुधार और रंगत में निखार लाने का काम कर सकता है।
  • इसके अलावा, मुल्तानी मिट्टी त्वचा पर मौजूद अतिरिक्त तेल को हटाकर मुहांसों की समस्या को दूर करने में भी मदद कर सकती है।

स्क्रॉल करें

आगे जानें कई प्रकार के मुल्तानी मिट्टी फेस पैक के बारे में।

मुंहासों और फुंसियों के लिए मुल्तानी मिट्टी का प्रयोग – Multani Mitti For Acne And Pimples in Hindi

चेहरे के मुंहासों और फुंसियों से राहत पाने के लिए मुल्तानी मिट्टी फैस पैक किसी संजीवनी से कम नहीं है। इसका इस्तेमाल कई तरीकों से किया जा सकता है, जो त्वचा को मुलायम और स्वस्थ बनाए रखने में मदद कर सकती है। मुल्तानी मिट्टी से तैयार कुछ आसान फेस पैक बनाने की विधी हम लेख में आगे विस्तार से बताएंगे।

पढ़ते रहें यह लेख

चलिए, अब हम कुछ आसान मुल्तानी मिट्टी फेस पैक के बारे में जानने का प्रयास करते हैं।

मुल्तानी मिट्टी के 6 फेस पैक से पाएं एक्ने- फ्री स्किन

जैसा कि लेख में ऊपर बताया गया है कि मुल्तानी मिट्टी फेस पैक के इस्तेमाल से त्वचा को एक्ने-फ्री बनाया जा सकता है। अब मुल्तानी मिट्टी के साथ किन-किन सामग्रियों का इस्तेमाल कर कील-मुंहासों के लिए बेस्ट फेस पैक बनाया जा सकता है, यहां हम इस बारे में जानने का प्रयास करेंगे। आइए, अब हम मुल्तानी मिट्टी के 6 बेस्ट फेस पैक बनाने के तरीके और ये कील-मुंहासों में कैसे लाभदायक हैं, इस बारे में जान लेते हैं।

1. मुल्तानी मिट्टी और नीम

सामग्री:

  • दो चम्मच मुल्तानी मिट्टी
  • एक चम्मच नीम पाउडर
  • एक चम्मच गुलाब जल
  • आधा चम्मच नींबू का रस

उपयोग करने का तरीका:

  • सबसे पहले मुल्तानी मिट्टी और नीम पाउडर को मिला लें।
  • फिर इसमें गुलाब जल और नींबू का रस डालें।
  • सभी को अच्छे से मिलाकर एक पेस्ट तैयार कर लें।
  • फिर अपने चेहरे को क्लीन्जर से अच्छे से धो लें और उसे सुखाएं।
  • इसके बाद तैयार किए गए पेस्ट को अपने चेहरे पर अच्छे से लगाएं।
  • 15 से 20 मिनट तक इसे सुखाएं और फिर चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।
  • इस प्रक्रिया को सप्ताह में दो बार तक इस्तेमाल कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद:

मुल्तानी मिट्टी त्वचा के रोम छिद्रों के आकार को कम करने ब्लैकहेड्स और व्हाइटहेड्स को दूर करने में मदद करती है। साथ ही यह त्वचा को साफ कर विभिन्न पोषक तत्वों के साथ उसे चमकदार भी बना सकती है। वहीं, नीम में एंटी-इंफ्लेमेटरी (सूजन को कम करने वाला), एंटीऑक्सीडेंट (मुक्त कणों के प्रभाव को कम करने वाला) और एंटीसेप्टिक (बैक्टीरिया को नष्ट करने वाला) गुण होता है। ये सभी गुण संयुक्त रूप से त्वचा से मुंहासे आदि हटाने में प्रभावी हो सकते हैं (4)।

2. मुल्तानी मिट्टी और हल्दी

सामग्री:

  • दो चम्मच मुल्तानी मिट्टी
  • एक चम्मच हल्दी
  • दो चम्मच शहद

उपयोग करने का तरीका:

  • सबसे पहले मुल्तानी मिट्टी और हल्दी पाउडर को मिला लें।
  • इसके बाद इसमें शहद डालें।
  • सभी को अच्छे से मिलाकर एक पेस्ट तैयार कर लें।
  • फिर अपने चेहरे को क्लीन्जर से अच्छे से धो लें और उसे सुखाएं।
  • इसके बाद तैयार किए गए पेस्ट को अपने चेहरे पर अच्छे से लगाएं।
  • 15 से 20 मिनट तक इसे सुखाएं और फिर चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।
  • इस प्रक्रिया को सप्ताह में दो बार उपयोग कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद:

मुल्तानी मिट्टी के फायदे तो हम ऊपर बता ही चुके हैं। वहीं, अगर इसमें हल्दी मिलाकर फैस पैक के तौर पर इसका इस्तेमाल किया जाए, तो यह और भी लाभकारी सिद्ध हो सकता है। दरअसल, हल्दी में एंटीसेप्टिक, एंटीबैक्टीरियल व एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण मौजूद होते हैं, जो त्वचा के लिए फायदेमंद होते हैं। हल्दी में मौजूद एंटीसेप्टिक और एंटीबैक्टीरियल गुण मुंहासों की समस्या से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं (4)। वहीं, शहद त्वचा को नमी देने के साथ-साथ मुंहासों को कम करने में भी मदद कर सकता है (5)।

3. मुल्तानी मिट्टी और दही

सामग्री:

  • दो चम्मच मुल्तानी मिट्टी
  • दो चम्मच दही
  • एक चम्मच नींबू का रस

उपयोग करने का तरीका:

  • सबसे पहले मुल्तानी मिट्टी, दही और नींबू के रस को मिला लें।
  • सभी को अच्छे से मिलाकर एक पेस्ट तैयार कर लें।
  • फिर अपने चेहरे को क्लीन्जर से अच्छे से धो लें और उसे सुखाएं।
  • इसके बाद तैयार किए गए पेस्ट को अपने चेहरे पर अच्छे से लगाएं।
  • 15 से 20 मिनट तक इसे सुखाएं और फिर चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।
  • इस प्रक्रिया को सप्ताह में दो बार उपयोग किया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद:

दही और मुल्तानी मिट्टी से बना फेस पैक भी चेहरे से मुंहासों और फुंसियों को हटाने के लिए फायदेमंद है। एनसीबीआई के एक शोध के अनुसार, दही में प्रोबायोटिक (स्वास्थ्य के लिए लाभदायक बैक्टीरिया) मौजूद होते हैं, जिसमें एंटीबैक्टीरियल गुण होता है, यह एक्ने का कारण बनने वाले बैक्टीरिया से लड़कर एक्ने को पनपने से रोक सकते हैं (6)। वहीं, मुल्तानी मिट्टी के फायदे के बारे में तो आप लेख के ऊपर भाग में जान ही चुके हैं।

4. मुल्तानी मिट्टी और चंदन

सामग्री:

  • दो चम्मच मुल्तानी मिट्टी
  • दो चम्मच चंदन पाउडर
  • एक चम्मच बेसन
  • एक चम्मच गुलाब जल

उपयोग करने का तरीका:

  • सबसे पहले मुल्तानी मिट्टी और चंदन पाउडर को मिला लें।
  • इसके बाद इसमें बेसन और गुलाब जल डालकर मिलाएं।
  • सभी को अच्छे से मिलाकर एक पेस्ट तैयार कर लें।
  • फिर अपने चेहरे को क्लीन्जर से अच्छे से धो लें और उसे सुखाएं।
  • इसके बाद तैयार किए गए पेस्ट को अपने चेहरे पर अच्छे से लगाएं।
  • 15 से 20 मिनट तक इसे सुखाएं और फिर चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।
  • इस प्रक्रिया को सप्ताह में दो बार उपयोग कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद:

चंदन का उपयोग सदियों से त्वचा की देखभाल के लिए किया जाता रहा है। चंदन न सिर्फ त्वचा को चमकदार और स्वस्थ रखता है, बल्कि इसके एंटीमाइक्रोबियल गुण मुंहासों के साथ-साथ त्वचा की विभिन्न समस्याओं को ठीक करने का भी काम कर सकते हैं। इसके अलावा, चंदन चेहरे के निशान को भी दूर करने में मदद कर सकता है। वहीं, बेसन त्वचा की टैनिंग को कम करता है। यह त्वचा के तैलीयपन को भी कम करता है, इस प्रकार यह एक अच्छा एंटी-पिंपल एजेंट साबित हो सकता है (7)।

5. मुल्तानी मिट्टी और गुलाब जल

सामग्री:

  • एक चम्मच मुल्लतानी मिट्टी
  • एक चम्मच गुलाब जल

उपयोग करने का तरीका:

  • सबसे पहले मुल्तानी मिट्टी और गुलाब जल को मिला लें।
  • दोनों को अच्छे से मिलाकर एक पेस्ट तैयार कर लें।
  • फिर अपने चेहरे को क्लीन्जर से अच्छे से धो लें और उसे सुखाएं।
  • इसके बाद तैयार किए गए पेस्ट को अपने चेहरे पर अच्छे से लगाएं।
  • 15 से 20 मिनट तक इसे सुखाएं और फिर चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।
  • इस प्रक्रिया को सप्ताह में दो बार इस्तेमाल कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद:

मुल्तानी मिट्टी चेहरे को स्वस्थ बनाने के लिए कारगर है। यह त्वचा की जलन को शांत करने के साथ-साथ चेहरे से अधिक तेल को भी निकालता है। साथ ही यह बढ़े हुए फ्लोजिस्टिक एजेंट (phlogistic agents) के कारण होने वाली सूजन को भी ठीक करता है (7)। वहीं, गुलाब का अर्क मुंहासे से छुटकारा पाने में मदद करता है। इसके एंटीऑक्सीडेंट गुण त्वचा की कोशिकाओं को मजबूत करने और त्वचा के ऊतकों को पुनर्जीवित करने में मदद कर सकते हैं (8)।

6. मुल्तानी मिट्टी और एलोवेरा जेल

सामग्री:

  • एक चम्मच मुल्तानी मिट्टी
  • दो चम्मच एलोवेरा जेल

उपयोग करने का तरीका:

  • सबसे पहले मुल्तानी मिट्टी और एलोवेरा जेल को मिला लें।
  • दोनों को अच्छे से मिलाकर एक पेस्ट तैयार कर लें।
  • फिर अपने चेहरे को क्लीन्जर से अच्छे से धो लें और उसे सुखाएं।
  • इसके बाद तैयार किए गए पेस्ट को अपने चेहरे पर अच्छे से लगाएं।
  • 15 से 20 मिनट तक इसे सुखाएं और फिर चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।
  • इस प्रक्रिया को सप्ताह में दो बार उपयोग कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद:

मुल्तानी मिट्टी में मैग्नीशियम क्लोराइड समृद्ध मात्रा में होता हैं, जो त्वचा की सफाई करने के साथ-साथ मुंहासों से छूटकारा दिलाने में मदद करता है। साथ ही चेहरे पर चमक भी लाता है। वहीं, एलोवेरा के फायदे भी बहुत हैं। यह त्वचा के लिए बेहतरीन मॉइस्चराइजर के रूप में काम करता है। यह त्वचा को नमी प्रदान करता है, साथ ही इसके एंटी-माइक्रोबियल गुण मुंहासों और फुंसियों से छूटकारा दिलाने में मदद कर सकते हैं (4)।

नोट: मुल्तानी मिट्टी के उपयोग से पूर्व पैच टेस्ट कर यह सुनिश्चित कर लें कि इससे किसी को एलर्जी तो नहीं है।

नीचे स्क्रॉल करें

अब हम बताएंगे कि मुल्तानी मिट्टी फेस पैक को इस्तेमाल करते समय किन सावधानियाें का ध्यान रखना चाहिए।

मुल्तानी मिट्टी को स्किनकेयर रूटीन में शामिल करते समय रखें इन बातों का ध्यान- Things to keep in mind when adding multani mitti to your skincare routine

  • ध्यान रखें कि मुल्तानी मिट्टी लगाते वक्त आपके मुंह में न जाए।
  • मुल्तानी मिट्टी त्वचा से तेल को निकालती है, इसलिए इसका उपयोग थोड़ा संभलकर करें (9)। इससे चेहरा ड्राई हो सकता है। इसमें बादाम का दूध, शहद या मलाई मिलाकर इस्तेमाल कर सकते हैं, इससे त्वचा की नमी बनी रहेगी।
  • मुल्तानी मिट्टी को हमेशा एयर टाइट डिब्बे में बंद करके रखें। इससे इसकी नमी बरकरार रहेगी।
  • मुल्तानी मिट्टी के फेस पैक को लगाने के बाद चेहर पर मॉइस्चराइजर जरूर लगाएं। इससे त्वचा रूखी नहीं रहेगी।

आगे पढ़ें लेख

मुल्तानी मिट्टी चेहरे के लिए कितनी उपयोगी है, इसकी जानकारी तो इस लेख को पढ़ने के बाद मिल ही गई होगी। लेख में दिए गए सभी मुल्तानी मिट्टी फेस पैक चेहरे को कोमल और कील-मुहांसों से मुक्त बनाए रखने के लिए कारगर साबित हो सकते हैं। इस के साथ स्किन केयर रुटीन को फॉलो करना भी जरूरी है, तभी इसके प्रभाव दिखाई देंगे। ये सभी उपाय बेहद सरल और आसान हैं। त्वचा संबंधी अन्य सौंदर्य लाभों के लिए आप स्टाइलक्रेज में दिए गए अन्य लेखों को भी पढ़ सकते हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या मुल्तानी मिट्टी पिम्पल्स के लिए अच्छी है?

हां, मुल्तानी मिट्टी पिम्पल्स के लिए अच्छी है। इसी वजह से ऊपर हमने पिंपल्स हटाने के लिए मुल्तानी मिट्टी फेस पैक के बारे में जानकारी दी है।

क्या मुल्तानी मिट्टी का इस्तेमाल रोज चेहरे पर किया जा सकता है?

नहीं, मुल्तानी मिट्टी त्वचा के प्राकृतिक तेल को अवशोषित करती है (10)। इसलिए, इसका अधिक उपयोग त्वचा ली प्राकृतिक नमी को छीन सकता है।

क्या मुल्तानी मिट्टी को स्क्रब के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है?

हां, मुल्तानी मिट्टी को स्क्रब के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है?

क्या मुल्तानी मिट्टी को स्टोर किया जा सकता है?

हां, मुल्तानी मिट्टी को स्टोर किया जा सकता है। इसे एयर टाइट डिब्बे या फिर एयर टाइट बैग में बंद करके फ्रिज में रख सकते हैं।

क्या मुल्तानी मिट्टी के उपयोग से कोई नुकसान हो सकता है?

जैसा कि हमने ऊपर बताया है कि यह चेहरे के प्राकृतिक तेल को हटाने का काम करता है (10)। ऐसे में इसका अधिक इस्तेमाल करने से ड्राई स्किन की समस्या हो सकती है।

क्या पूरी रात मुल्तानी मिट्टी लगा सकते हैं?

नहीं, मुल्तानी मिट्टी को रात में लगाकर नहीं सोना चाहिए। इससे त्वचा ड्राई हो सकती है।

Sources

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

      1. Fuller’s Earth – Medical Countermeasures Database
        https://chemm.nlm.nih.gov/countermeasure_fullersearth.htm#other
      2. Short Communication Multani Mitti -Is it more than a placebo?
        https://www.researchgate.net/publication/336868352_Short_Communication_Multani_Mitti_-Is_it_more_than_a_placebo

3.Formulation And Evaluation Of Herbal Antibacterial Face Pack
https://www.researchgate.net/publication/337972552_FORMULATION_AND_EVOLUTION_OF_HERBAL_ANTIBACTERIAL_FACE_PACK

    1. Formulation And Evaluation Of Cosmetic Herbal Face Pack For Glowing Skin
      https://www.ijrap.net/admin/php/uploads/1887_pdf.pdf
    2. Medicinal and cosmetic uses of Bee’s Honey – A review
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3611628/
    3. The effect of probiotics on immune regulation, acne, and photoaging
      https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5418745/
    4. In-House Preparation and Standardization of Herbal Face Pack
      https://pdfs.semanticscholar.org/1ca2/5c17343fd28d0dfa868e2abd0919f8e986dd.pdf
    5. Formulation and evaluation of herbal face mist  http://www.jipbs.com/VolumeArticles/FullTextPDF/471_JIPBSV7I102.pdf
    6. In-House Preparation and Standardization of Herbal Face Pack
      https://www.researchgate.net/publication/320900643_In-House_Preparation_and_Standardization_of_Herbal_Face_Pack
    7. An Assessment of Fungal Quality of Solum fullonum – A Cosmetic Base
      https://www.researchgate.net/publication/261707925_An_Assessement_of_Fungal_Quality_of_Solum_fullonum_-_A_Cosmetic_Base
Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
The following two tabs change content below.
कविता सिंह ने पंजाब तकनीकी विश्वविद्यालय से मास कम्युनिकेशन में स्नातक हैं। इन्होंने वर्ष 2014 में एक प्रख्यात न्यूज चैनल... more

ताज़े आलेख