प्रेगनेंसी में गाजर खाने के फायदे और नुकसान – Carrot During Pregnancy In Hindi

Written by , (शिक्षा- एमए इन जर्नलिज्म मीडिया कम्युनिकेशन)

गर्भवतियां वक्त के साथ ही अपने इस नाजुक दौर को लेकर सतर्क होने लगी हैं। वो अपनी प्रेगनेंसी डाइट में यूं ही कुछ भी शामिल नहीं करतीं। अब गर्भवतियां पहले खाद्य पदार्थ को लेकर रिसर्च करना और फिर उसे खाने या न खाने का फैसला लेने लगी हैं। भले ही उन्हें एक सामान्य सलाद गाजर ही क्यों न खाना हो, वो इसे खाने से पहले इसके फायदे और नुकसान जानना जरूरी समझती हैं। आप भी ऐसी ही जागरूक गर्भवती हैं, तो इस लेख को पढ़ें। यहां हम रिसर्च के आधार पर प्रेगनेंसी में गाजर का सेवन किया जाना चाहिए या नहीं, यह बता रहे हैं। साथ ही प्रेगनेंसी में गाजर खाने के फायदे और अन्य जरूरी बातें भी बताई हैं।

शुरू करते हैं लेख

सबसे पहले जानते हैं कि गर्भावस्था में गाजर का सेवन किया जा सकता है या नहीं।

क्या गर्भावस्था में गाजर खाना सुरक्षित है?

गर्भावस्था के समय गाजर का सेवन करना सुरक्षित हो सकता है। इसे प्रेगनेंसी डाइट में शामिल करने की सलाह दी जाती है। साथ ही गर्भवतियों को क्रंची चीजों की क्रेविंग होते समय गाजर ही खाने के लिए कहा जाता है (1)

इसमें मौजूद विटामिन-ए को भी गर्भवतियों के लिए अच्छा बताया गया है। एक रिसर्च के अनुसार, गाजर से प्रेगनेंसी को किसी तरह का नुकसान नहीं होता है (2)

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन ने भी गर्भवतियों को विभिन्न तरह की सब्जियों और फलों को प्रेगनेंसी डाइट में शामिल करने की सलाह दी है, जिसमें से एक गाजर भी है (3)

आगे पढ़ें

गर्भावस्था में गाजर खाना सुरक्षित है, यह तो स्पष्ट हो गया। अब प्रेगनेंसी में गाजर के फायदे पर नजर डाल लीजिए।

प्रेगनेंसी में गाजर खाने के फायदे – Benefits of Eating Carrot During Pregnancy In Hindi

गर्भावस्था में गाजर का सेवन करने से होने वाले फायदे और इसमें मौजूद पोषक तत्वों से गर्भवती व गर्भस्थ शिशु को होने वाले फायदों के बारे में हम आगे बता रहे हैं।

1. विटामिन ए से भरपूर

विटामिन-ए से भरपूर खाद्य पदार्थों में गाजर का नाम भी शामिल है। इसमें विटामिन ए की अच्छी मात्रा होती है। यह विटामिन आंखों की रोशनी और रतौंधी (नाइट ब्लाइंडनेस) से बचाव के लिए अच्छा माना जाता है (4)

प्रेगनेंसी के समय भी विटामिन ए को इन सभी फायदों के कारण अहम माना गया है। रिसर्च के अनुसार, यह विटामिन गर्भवती के साथ ही गर्भस्थ शिशु के लिए भी आवश्यक है। इसे भ्रूण और गर्भवती दोनों की रोग प्रतिरोधक बढ़ाने के लिए जाना जाता है। यही नहीं गर्भ में शिशु के आने के बाद से ही उसकी ग्रोथ में विटामिन ए मदद कर सकता है (5)

2. एनीमिया

प्रेगनेंसी में होने वाली आम जटिलताओं में से एक एनीमिया है। इस दौरान होने वाले शारीरिक बदलावों के कारण हिमोग्लोबिन कम हो जाता है, जिसके चलते एनीमिया की समस्या उत्पन्न हो सकती है (6)। ऐसी स्थिति में गाजर का सेवन किया जा सकता है। इसमें विटामिन ए और आयरन दोनों होते हैं, जिनकी कमी होना भी एनीमिया का कारण है (5)। इस आधार पर कहा जा सकता है कि एनीमिया डाइट चार्ट में प्रेगनेंसी के समय गाजर को शामिल किया जा सकता है।

3. विटामिन सी युक्त

प्रेगनेंसी में कई पोषक तत्वों को जरूर माना जाता है, जिनमें से एक विटामिन सी भी है (7)। यह विटामिन गाजर में भरपूर मात्रा में मौजूद होता है। एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नलॉजी) द्वारा पब्लिश एक रिसर्च पेपर में भी गर्भावस्था में विटामिन सी के फायदों का जिक्र मिलता है। रिसर्च में कहा गया है कि गर्भावस्था के समय विटामिन सी का सेवन करने से प्री-एक्लेमप्सिया यानी गर्भावस्था में होने वाले उच्च रक्तचाप से बचाव हो सकता है (8)

यही नहीं, विटामिन सी से शिशु के अंतर्गर्भाशयी (गर्भ के अंदर) विकास में आने वाली बाधा और मेटरनल एनीमिया के जोखिम को दूर करने में भी मदद मिल सकती है (8)

एक अन्य रिसर्च के मुताबिक, प्रसव से पहले व बाद में होने वाले जच्चा-बच्चा की मृत्यु से बचाव में विटामिन सी अहम भूमिका निभा सकता है (9)। बस इसके लिए विटामिन सी सप्लीमेंट लेने की जगह विटामिन सी युक्त खाद्य पदार्थों को डाइट में जगह दें।

4. कब्ज से राहत

प्रेगनेंसी में कब्ज की समस्या होना भी आम है। इससे राहत पाने के लिए भी गाजर का सेवन किया जा सकता है। रिसर्च बताती हैं कि गाजर में लैक्सेटिव प्रभाव होता है, जो पाचन को बेहतर करके कब्ज को कम कर सकता है (10)। साथ ही गाजर में फाइबर भी होता है, जिसे कब्ज से राहत दिलाने के लिए जरूरी बताया जाता है (11)। इसी वजह से प्रेगनेंसी में गाजर खाने के फायदे में कब्ज को भी गिना जाता है।

5. मधुमेह से बचाव

गर्भावस्था में मधुमेह यानी जेस्टेशनल डायबिटीज से भी महिलाओं को गुजरना पड़ता है (12)। पके हुए गाजर को इसमें लाभदायक माना जाता है (13)। दरअसल, मधुमेह होने पर गहरी पीली रंग की सब्जियों और सलाद को अच्छा माना जाता है, जिसमें गाजर का नाम भी शामिल है (14)। ऐसे में प्रेगनेंसी डाइट में महिला संतुलित मात्रा में गाजर को जगह दे सकती हैं। बस यह स्पष्ट नहीं है कि गाजर में मौजूद किस प्रभाव की वजह से यह मधुमेह की समस्या में लाभकारी होता है।

6. फोलेट

गर्भावस्था के लिए फोलेट को काफी माना जाता है और गाजर में इसकी अच्छी मात्रा पाई जाती है (15)। गर्भस्थ शिशु के विकास के साथ ही दिमाग से संबंधित बर्थ डिफेक्ट से बचाने के लिए फोलेट को मददगार माना जाता है। साथ ही यह गर्भवती और भ्रूण को एनीमिया और को मस्तिष्क व रीढ़ की हड्डी की नसों से जुड़ी समस्या से बचा सकता है (16)। ऐसे में गर्भवतियां गाजर का सेवन करके शरीर में फोलेट (विटामिन बी9) का स्तर बढ़ा सकती हैं।

7. ऊर्जा के लिए

गर्भावस्था के समय एनर्जी की काफी जरूरत होती है, क्योंकि इस दौरान थकान ज्यादा महसूस होती है (17)। ऐसे में गाजर का सेवन किया जा सकता है। रिसर्च बताती हैं कि गाजर में मौजूद न्यूट्रिएंट्स से शरीर को ऊर्जा मिल सकती है। बताया जाता है कि इसमें मौजूद मैग्निशियम भी एनर्जी प्रोडक्शन में सहायक हो सकता है (18)। साथ ही इसमें एनर्जी वैल्यू 126 किलोजूल होती है (19)। इस आधार पर गाजर को ऊर्जा का स्रोत कहना गलत नहीं होगा।

8. भ्रूण के लिए

गाजर गर्भस्थ शिशु के लिए भी लाभदायक होता है। हम ऊपर बता ही चुके हैं कि यह गर्भस्थ शिशु की ग्रोथ के साथ ही उन्हें बर्थ डिफेक्ट से बचा सकता है। यही नहीं, रिसर्च पेपर बताते हैं कि गाजर में मौजूद एंटीमाइक्रोबियल प्रभाव निमोनिया के बैक्टीरिया को नष्ट करने में मदद कर सकता है (20)

एनसीबीआई द्वारा प्रकाशित एक शोध में कहा गया है कि गाजर में मौजूद विटामिन ए शरीर को वायरल इंफेक्शन से बचा सकता है। साथ ही इससे इम्यूनिटी बढ़ाने में भी मदद मिल सकती है (21)

पढते रहें लेख

आगे जानते हैं कि प्रेगनेंसी के समय किस तरह से गाजर को डाइट में शामिल करना चाहिए।

गर्भावस्था में गाजर को अपने आहार में कैसे शामिल करें?

प्रेगनेंसी डाइट में गाजर को कई तरीकों से शामिल किया जा सकता है, जो कुछ इस प्रकार हैं :

  • गाजर का हलवा बना सकते हैं
  • सीधे गाजर को सलाद के रूप में खाया जा सकता है।
  • गाजर का जूस निकालकर पी सकते हैं।
  • मिक्स जूस में भी गाजर को मिलाया जा सकता है।
  • इसकी सब्जी बनाकर खा सकते हैं।
  • गाजर का सूप बनाकर पी सकते हैं।

पढ़ना जारी रखें

लेख में आगे बढ़ते हुए प्रेगनेंसी में गाजर के नुकसान पर एक नजर डाल लेते हैं।

प्रेगनेंसी में गाजर खाने के नुकसान- Side Effects of Eating Carrot While Pregnant In Hindi

गर्भावस्था के दौरान सीमित मात्रा में गाजर खाना सुरक्षित होता है, लेकिन इसकी अधिकता से कुछ नुकसान भी हो सकते हैं।

  • गाजर में विटामिन ए की मात्रा अधिक होती है। ऐसे में अगर विटामिन ए की अधिकता हो जाए, तो हृदय और केंद्रीय तंत्रिका से संबंधित जन्म दोष हो सकता है (5)
  • गाजर में मौजूद विटामिन ए की मात्रा शरीर में बढ़ने से गर्भपात हो सकता है (5)
  • संवेदनशील महिलाओं को गाजर से एलर्जी का खतरा रहता है (22)
  • गाजर में मौजूद कैरोटीन पिगमेंट से कैरोटेनीमिया भी हो सकता है। इस समस्या में त्वचा का रंग पीला पड़ जाता है (23)
  • प्रिजर्व किए गए गाजर के जूस से बोटुलिज्म जैसी पॉइजनिंग हो सकती है, जो क्लोस्ट्रीडियम बोटुलिनम बैक्टीरिया से पनपती है (24)

कई सारे वैज्ञानिक अध्ययनों से यह स्पष्ट होता है कि प्रेगनेंसी में गाजर खाने के फायदे कई हैं। गर्भस्थ शिशु और गर्भवती दोनों को ही गाजर खाने के फायदे मिलते हैं। बस इसे सीमित मात्रा में ही अपनी डाइट में शामिल करें। साथ ही प्रेगनेंसी से संबंधित किसी तरह की जटिलता हो, तो प्रेगनेंसी में गाजर का सेवन करने से पहले आहार विशेषज्ञ की राय जरूर लें।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या कच्चे गाजर गर्भावस्था के लिए अच्छी है?

हां, प्रेगनेंसी के लिए कच्चे गाजर भी अच्छे होते हैं। बस गाजर को खाने से पहले अच्छी तरह से धो लें।

क्या गर्भावस्था के दौरान गाजर का रस लेना सुरक्षित है?

हां, सीमित मात्रा में गाजर का जूस गर्भावस्था में पी सकते हैं।

क्या अच्छे होते हैं गाजर के बीज फॉर प्रेगनेंसी?

नहीं, गर्भावस्था के समय गाजर के बीज का उपयोग करने की सलाह नहीं दी जाती है। इसे गर्भनिरोधक माना जाता है (25)

Sources

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. HEALTHY EATING TIP OF THE MONTH
    http://www.med.umich.edu/pfans/_pdf/hetm-2017/0417-prenatalnutrition.pdf
  2. Proper Maternal Nutrition during Pregnancy Planning and Pregnancy
    https://www.euro.who.int/__data/assets/pdf_file/0003/337566/Maternal-nutrition-Eng.pdf
  3. Healthy Eating during Pregnancy and Breastfeeding
    https://www.euro.who.int/__data/assets/pdf_file/0020/120296/E73182.pdf
  4. Spinach or carrots can supply significant amounts of vitamin A as assessed by feeding with intrinsically deuterated vegetables
    https://academic.oup.com/ajcn/article/82/4/821/4607517
  5. Vitamin A and Pregnancy: A Narrative Review
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6470929/
  6. Anemia in pregnancy
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/10818399/
  7. Macronutrient and Micronutrient Intake during Pregnancy: An Overview of Recent Evidence
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6413112/
  8. Vitamin C supplementation in pregnancy
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/26415762/
  9. The role of vitamin C in prevention of preterm premature rupture of membranes
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/23682322/
  10. Efficacy of carrot extract in Constipation
    https://rjptonline.org/HTMLPaper.aspx?Journal=Research%20Journal%20of%20Pharmacy%20and%20Technology;PID=2018-11-3-30
  11. Dietary fibre in foods: a review
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3614039/
  12. Gestational diabetes mellitus
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4404472/
  13. Managing Gestational Diabetes
    https://www.nichd.nih.gov/sites/default/files/publications/pubs/Documents/managing_gestational_diabetes.pdf
  14. Gestational diabetes diet
    https://medlineplus.gov/ency/article/007430.htm
  15. EVALUATING CARROT AS A FUNCTIONAL FOOD
    https://www.researchgate.net/publication/351153672_EVALUATING_CARROT_AS_A_FUNCTIONAL_FOOD
  16. Folic Acid Supplementation and Pregnancy: More Than Just Neural Tube Defect Prevention
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3218540/
  17. Associations between Nausea, Vomiting, Fatigue and Health-Related Quality of Life of Women in Early Pregnancy: The Generation R Study
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5096665/
  18. Nutritional and Health Benefits of Carrots and Their Seed Extracts
    https://www.researchgate.net/publication/276499931_Nutritional_and_Health_Benefits_of_Carrots_and_Their_Seed_Extracts
  19. Study of different varieties of carrot and its benefits for human health: A review
    https://www.phytojournal.com/archives/2021/vol10issue1/PartR/10-1-180-561.pdf
  20. Antimicrobial Activity of Probiotic Microorganisms from Probioticated Carrot Juice against Selective Pathogenic Strains
    https://www.ijser.org/researchpaper/Antimicrobial-Activity-of-Probiotic-Microorganisms-from-Probioticated-Carrot-Juice-against-Selective-Pathogenic-Strains.pdf
  21. Enhancing immunity in viral infections, with special emphasis on COVID-19: A review
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC7161532/
  22. POLLEN-FRUIT SYNDROMES: A CASE WITH BIRCH-APPLE-CARROT ASSOCIATION
    https://www.academia.edu/16792223/POLLEN_FRUIT_SYNDROMES_A_CASE_WITH_BIRCH_APPLE_CARROT_ASSOCIATION
  23. Carotenemia: A Case Report
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6758952/
  24. Botulism
    https://medlineplus.gov/ency/article/000598.htm
  25. Carrot seed for contraception: A review
    https://www.researchgate.net/publication/289343049_Carrot_seed_for_contraception_A_review
Was this article helpful?
thumbsupthumbsup
The following two tabs change content below.
पुजा कुमारी ने बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी से जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन में एमए किया है। इन्होंने वर्ष 2015 में अपने... more

ताज़े आलेख