प्रेगनेंसी में मूली खाने के फायदे और नुकसान- Radish During Pregnancy In Hindi

Written by , हेल्थ एंड वेलनेस राइटर Puja Kumari हेल्थ एंड वेलनेस राइटर
 • 
 

महिलाओं के लिए गर्भावस्था रोमांच से भरा समय होता है। इस दौरान स्वस्थ रहने के लिए महिलाएं कई पौष्टिक आहार को अपनी डाइट में जगह देती हैं। इसमें फलों से लेकर सलाद जैसे सभी खाद्य पदार्थ शामिल हैं। जब बात सलाद की आती है, तो महिलाओं के मन में सवाल उठता है कि गर्भावस्था में मूली को खाया जाना चाहिए या नहीं। इस सवाल का जवाब पाने के लिए इस लेख को पढ़ें। यहां रिसर्च के आधार पर बताया गया है कि गर्भावस्था में मूली का सेवन सुरक्षित है या नहीं। साथ ही प्रेगनेंसी में मूली खाने के फायदे और नुकसान की भी जानकारी दी गई है।

आगे पढ़ें

लेख में सबसे पहले जानते हैं कि प्रेगनेंसी में मूली का सेवन सुरक्षित है या नहीं।

क्या गर्भावस्था के दौरान मूली का सेवन किया जा सकता है? Is it Safe to Eat Radish While Pregnant?

प्रेगनेंसी में मूली का सेवन किया जा सकता है या नहीं, इस संबंध में कई रिसर्च पब्लिश हैं। एक में कहा गया है कि मूली में गर्भावस्था के लिए जरूरी मिनरल सेलेनियम होता है। यह सेलेनियम एंटीऑक्सीडेंट की तरह कार्य करके इंफेक्शन से बचाव करने के साथ ही ऊतकों के कार्य और मांसपेशियों के लिए जरूरी होता है (1)।

एक अन्य रिसर्च के दौरान गर्भावस्था में मूली लेने से परहेज करने की सलाह दी गई है, क्योंकि यह अजन्मे शिशु के पेट फूलने का कारण बन सकता है (2)। मूली को लेकर प्रकाशित एक सरकारी जानकारी में उल्लेख मिलता है कि ऐसे खाद्य पदार्थ, जिनमें कीटाणु होने की आशंका अधिक होती है, उनमें से एक मूली भी है (3)।

इन मिले जुले रिसर्च के आधार पर कहा जा सकता है कि गर्भावस्था में मूली का सेवन डॉक्टर से पूछ कर ही करना चाहिए। अगर कोई इसे अपनी डाइट में डॉक्टर की सलाह पर शामिल कर भी रहा है, तो उसे मूली सीमित मात्रा में और अच्छी तरह से धोकर या उबालकर ही खाना चाहिए।

लेख में बने रहें

यहां हम बता रहे हैं कि गर्भावस्था में मूली खाने के लाभ क्या हैं।

प्रेगनेंसी में मूली खाने के फायदे – Benefits of Eating Radish During Pregnancy In Hindi

गर्भावस्था में मूली को डाइट में शामिल करने से होने वाले कुछ संभावित फायदे के बारे में हम आगे विस्तार से बता रहे हैं। ये सभी फायदे मूली में मौजूद पोषक तत्व और गुण के आधार पर बताए गए हैं।

1. फोलिक एसिड

रिसर्च में बताया गया है कि फोलिक एसिड युक्त खाद्य पदार्थ में मूली का नाम भी शामिल है (4)। गर्भावस्था के लिए इसे जरूरी पोषक तत्व माना जाता है। यह बी विटामिन का एक प्रकार होता है। इसकी शरीर में अच्छी मात्रा होने से बच्चे को बर्थ डिफेक्ट यानी जन्म दोष से बचाया जा सकता है। खासकर, यह पोषक तत्व गर्भस्थ शिशु को दिमाग और रीढ़ से संबंधित बर्थ डिफेक्ट से बचाने की क्षमता रखता है (5)।

2. मधुमेह से बचाए

प्रेगनेंसी के समय मधुमेह होने का खतरा रहता है, जिसे गर्भावधि मधुमेह कहा जाता है (6)। मूली का सेवन करने से ब्लड शुगर को नियंत्रित करके इससे बचा जा सकता है। इससे संबंधित एक रिसर्च पेपर में कहा गया है कि मूली में मौजूद फाइटोकेमिकल्स में एंटीडायबिटिक गतिविधियां होती हैं। दरअसल, इसमें पाए जाने वाले पॉलीफेनोल, हाइपोग्लाइसेमिक यानी ब्लड ग्लूकोज को कम करने वाला प्रभाव प्रदर्शित करते हैं। रिसर्च में बताया गया है कि मूली ग्लूकोज संबंधित हार्मोन को रेगुलेट करके और मधुमेह प्रेरित ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस की रोकथाम करके डायबिटीज के जोखिम को कम कर सकती है (7)।

3. बेबी ग्रोथ

माना जाता है कि बेबी के ग्रोथ में भी मूली मददगार हो सकती है। इसको लेकर किसी तरह का प्रत्यक्ष शोध तो उपलब्ध नहीं है, लेकिन इसमें एक ऐसा जरूरी मिनरल है, जो ग्रोथ के लिए जरूरी है। दरअसल, एक रिसर्च में कहा गया है कि मूली में सेलेनियम जैसा जरूरी मिनरल होता है। यह सेलेनियम शरीर के वृद्धि और विकास को नियंत्रित कर सकता है (8)। इसी आधार पर कहा जा सकता है कि यह बच्चे की ग्रोथ में भी मदद कर सकता है।

4. रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए

ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में भी मूली फायदेमंद हो सकती है। इसमें ऐसे कई जरूरी पोषक तत्व होते हैं, जो रक्तचाप को बढ़ने नहीं देते हैं। एक रिसर्च में बताया गया है कि ब्लड प्रेशर को स्टेबल रखने में फाइबर और पोटेशियम जैसे पोषक तत्व जरूरी होते हैं (9)। ये दोनों ही न्यूट्रिएंट्स मूली में अच्छी मात्रा में होते हैं (10)। ऐसे में कहा जा सकता है कि ब्लड प्रेशर को कम करने में मूली मददगार हो सकती है।

5. हृदय स्वास्थ्य

हृदय को स्वस्थ बनाए रखने के लिए कई तरह की सब्जियों और फलों का सेवन करने की सलाह दी जाती है। हृदय के लिए लाभदायक खाद्यों में मूली को भी गिना जाता है। इसमें नाइट्रेट जैसा फाइटोकेमिकल होता है, जिसे हृदय के लिए लाभकारी माना जाता है। इससे हृदय रोग से बचाव हो सकता है (11)।

आगे और जानकारी है

प्रेगनेंसी में मूली खाने के फायदे के बाद हम इसे उपयोग करने का तरीका बता रहे हैं।

गर्भावस्था में मूली को अपने आहार में कैसे शामिल करें

  • प्रेगनेंसी में मूली खाने के फायदे पाने के लिए इसे कुछ इन तरीकों से आहार में शामिल किया जा सकता है।
  • अच्छे से धोकर मूली को सलाद के रूप में खाया जा सकता है।
  • मूली की सब्जी बनाई जा सकती है।
  • आलू और मूली को मिक्स करके या फिर सिर्फ मूली के पराठे बनाए जा सकते हैं
  • मूली को सूप में भी मिलाया जा सकता है।

अंत तक पढ़ें

गर्भावस्था में मूली से जुड़ी इतनी जानकारी के बाद इससे जुड़ी सावधानी और नुकसान पर भी एक नजर डाल लें।

प्रेगनेंसी में मूली खाने के नुकसान और सावधानियां – Side Effects of Eating Radish While Pregnant In Hindi

गर्भावस्था में मूली खाने के फायदे और उपयोग के साथ ही इससे जुड़ी सावधानी के बारे में जानना भी जरूरी है। प्रेगनेंसी में मूली खाने के नुकसान और सावधानियां कुछ इस प्रकार हैं।

  • प्रेगनेंसी में मूली के सेवन से जुड़ी पहली सावधानी यही है कि डॉक्टर से पूछकर ही इसे आहार में शामिल करें।
  • हमेशा खाने के लिए ताजी मूली का ही इस्तेमाल करें
  • मूली को खाने से पहले अच्छी तरह से गर्म पानी से धो लें।
  • धोने के बाद भी मूली में कई बार मिट्टी और अन्य कीटाणु रहने की आशंका होती है, इसलिए मूली का छिलका निकालकर ही खाएं।
  • इसे काटने वाले चाकू और चॉपिंग बोर्ड को भी अच्छी तरीके से साफ कर लें।
  • मूली को कच्चा खाने की जगह इसे पकाकर ही खाएं।
  • इसमें कीटाणु होते हैं, इसलिए बैक्टीरियल इंफेक्शन हो सकता है (3)।
  • मूली में हाइपोग्लाइसेमिक प्रभाव होता है, इसलिए यह ब्लड ग्लूकोज को कम कर सकता है (12)।

प्रेगनेंसी में मूली के सेवन से होने वाले फायदे आप समझ ही गए होंगे। फायदे के साथ ही गर्भावस्था में मूली खाने के कुछ नुकसान भी हो सकते हैं, इसलिए सावधानी से प्रेगनेंसी में मूली खानी चाहिए। सबसे पहली सावधानी डॉक्टर से परामर्श लेना ही है। इसके अलावा, लेख में इससे जुड़ी अन्य कई सावधानियों का जिक्र किया गया है। उन्हें ध्यान में रखते हुए ही मूली को प्रेगनेंसी डाइट में शामिल करें और स्वस्थ रहें!

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

प्रेगनेंसी में मूली खाना चाहिए या नहीं?

प्रेगनेंसी में मूली खाना चाहिए या नहीं, इसका फैसला डॉक्टर से पूछकर ही गर्भवती को करना चाहिए। रिसर्च इसे फायदेमंद और नुकसानदायक दोनों बताते हैं।

मूली किसे नहीं खाना चाहिए?

कम ब्लड शुगर की समस्या वालों को मूली खाने से बचना चाहिए (12)।

गर्भावस्था में मूली खाना कब शुरू करना चाहिए?

गर्भावस्था में कब मूली का सेवन करना चाहिए, यह स्पष्ट नहीं है। माना जाता है कि डॉक्टर की सलाह पर संयमित मात्रा में और सावधानी के साथ इसका सेवन पूरी प्रेगनेंसी में किया जा सकता है।

क्या प्रेगनेंसी में मूली खा सकते हैं?

डॉक्टर से पूछकर स्वस्थ प्रेगनेंसी में मूली खा सकते हैं।

References

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Minerals in Pregnancy and Lactation: A Review Article,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5713811/
  2. Factors affecting maternal nutrition and health: A qualitative study in a matrilineal community in Indonesia,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC7297355/
  3. Pregnancy and Nutrition
    ,
    https://medlineplus.gov/pregnancyandnutrition.html
  4. A folate-rich diet is as effective as folic acid from supplements in decreasing plasma homocysteine concentrations,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC1145135/
  5. Folic Acid,
    https://medlineplus.gov/folicacid.html
  6. Gestational diabetes: A clinical update
    ,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4515446/
  7. Deciphering the Nutraceutical Potential of Raphanus sativus—A Comprehensive Overview,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6412475/
  8. Minerals in Pregnancy and Lactation: A Review Article
    ,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5713811/
  9. Relationship Between Nutrition and Blood Pressure: A Cross-Sectional Analysis from the NutriNet-Santé Study, a French Web-based Cohort Study
    ,
    https://academic.oup.com/ajh/article/28/3/362/2743418
  10. Radishes, raw
    ,
    https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/169276/nutrients
  11. Cardiovascular Health Benefits of Specific Vegetable Types: A Narrative Review
    ,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5986475/
  12. Radish (Raphanus sativus) and Diabetes
    ,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5622774/
Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
The following two tabs change content below.

ताज़े आलेख