रात में दूध पीने के फायदे और नुकसान – Benefits of Drinking Milk at Night in Hindi

Written by , हेल्थ एंड वेलनेस राइटर Puja Kumari हेल्थ एंड वेलनेस राइटर
 • 
 

दादी-नानी से लेकर मां भी अक्सर रात में सोते समय ही दूध पीने के लिए जोर देती हैं, लेकिन ऐसा क्यों? अगर इसके पीछे की वजह पूछी जाए, तो अधिकतर लोगों का यही जवाब हो सकता है कि दूध के पौष्टिक गुणों की वजह से वो रात को दूध पीने के लिए कहती हैं। संभवत ऐसा कुछ हद तक सही हो सकता है, लेकिन सिर्फ यही इसकी असली वजह नहीं हैं। दरअसल, दिन के मुकाबले रात को दूध पीने के फायदे अधिक होते हैं और इसी विषय पर आप स्टाइलक्रेज के इस लेख में पढ़ सकती हैं। यहां रात में दूध पीने के फायदे विस्तार से बताए गए हैं। साथ ही दूध पीने का सही तरीका व इससे होने वाले नुकसान की भी जानकारी दी गई है।

शुरू करते हैं लेख

सबसे पहले जानेंगे वो लाभ, जिनकी वजह से दूध रात को पीना चाहिए।

रात में दूध पीने के फायदे – Benefits Of Drinking Milk at Night in Hindi

नीचे रात में दूध पीने के लाभ विस्तार से बताए गए हैं, जिनकी मदद से आप खुद ही यह चयन कर सकेंगे कि दूध रात में पिएं या दिन में।

1. अच्छी नींद के लिए

रात को दूध पीने के फायदे अधिक लाभकारी हो सकते हैं, जिसकी पुष्टि एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की साइट पर उपलब्ध विभिन्न रिसर्च पेपर से होती है। शोध के मुताबिक, दूध में ट्राइटोफन और मेलाटोनिन होता है, जो नींद की गुणवत्ता बढ़ा सकते हैं, जिससे अच्छी नींद आ सकती है (1)। दूध में पाया जाने वाला मेलाटोनिन एक हॉर्मोन है, जो विशेष रूप से रात के समय रिलीज होता है। यह नींद लाने, नींद का समय बढ़ाने व नींद की गुणवत्ता में भी सुधार करता है (2)। वहीं, ट्राइटोफन अमीनो एसिड है, जो मूड को अच्छा बनाने वाले हॉर्मोन न्यूरोट्रांसमीटर (सेरोटोनिन) का उत्पादन बढ़ाता है (3)। इस तरह रात को दूध पीने के फायदे अच्छी नींद के लिए कारगर उपाय हो सकते हैं।

2. बेहतर हाजमें के लिए

एनसीबीआई की साइट पर मौजूद शोध के मुताबिक, दूध का एंटासिड प्रभाव अपच की समस्या, एसिडिटी व सूजन के साथ ही पेट से जुड़ी अन्य समस्याओं से भी राहत दिला सकता है। इसके लिए ठंडा दूध फायदेमंद हो सकता है। ठंडा दूध पेट के एसिड को न्यूट्रलाइज कर सकता है यानी पेट के एसिड के प्रभाव काे नियंत्रित कर सकता है, जिससे एसिडिटी से राहत मिल सकती है (4)। इससे पाचन क्रिया भी बेहतर हो सकती है। इस तरह अगर सोने से पहले दूध पिया जाए, तो रात में दूध पीने के फायदे पाचन की क्रिया को बढ़ावा दे सकते हैं व हाजमा भी दुरुस्त कर सकते हैं।

3. शारीरिक शक्ति बढ़ाने के लिए

दूध व दूध से बने उत्पाद का सेवन करने से शारीरिक शक्ति को बढ़ाया जा सकता है। दरअसल, डेयरी उत्पाद में अन्य खाद्य पदार्थों की तुलना में कैल्शियम, प्रोटीन, मैग्नीशियम, पोटेशियम, जिंक व फास्फोरस की अधिक मात्रा होती है। इस वजह से दूध के सेवन से शरीर को अधिक कैलोरी व ऊर्जा मिल सकती है ()। वहीं, लेख में ऊपर बताया गया है कि रात में दूध पीने के फायदे गहरी नींद में मदद कर सकते हैं, जिस वजह से अधिक आराम की स्थिति में शरीर ऊर्जा का भी अधिक संचय कर सकेगा और सुबह उठने पर शरीर को अधिक ऊर्जावान महसूस कर सकते हैं।

4. तनाव दूर करें

अगर तनाव की समस्या है, तो इसमें भी रात को दूध पीने के फायदे मिल सकते हैं। दरअसल, अध्ययनों से इसकी पुष्टि होती है कि रात को दूध पीने से दूध का एंग्जियोलिटिक (Anxiolytic) प्रभाव नजर आता है, जो चिंता संबंधी विकार कम सकता है। दूध में एंग्जियोलिटिक प्रभाव के तौर पर ट्राइप्टिक हाइड्रोलाइजेट (एक तरह का प्रोटीन) होता है, जो डायजेपाम (तनाव दूर करने वाला एजेंट) जैसा प्रभाव डाल सकता है (1)। एक अन्य शोध के आधार पर यह भी पाया गया है कि दूध का यह गुण रक्तचाप और कोर्टिसोल (स्ट्रेस हॉर्मोन) का लेवल कम करके एक एंटीस्ट्रेस के तौर पर कार्य कर सकता है (6)। इन दोनों तथ्य की पुष्टि एनसीबीआई की साइट पर उपलब्ध रिसर्च पेपर से होती है इस तरह सोते समय दूध पीने के फायदे तनाव दूर करने में मददगार हो सकते हैं।

5. त्वचा के लिए

त्वचा के लिए सोते समय दूध पीने के फायदे की बात करें, तो दूध में फॉस्फोलिपिड (एक तरह का वसा) होता है, जो स्ट्रेटम कॉर्नियम (त्वचा की ऊपरी परत) में नमी बढ़ाने व त्वचा की सूजन कम करने में मदद कर सकता है। इससे त्वचा के कार्य करने की प्रक्रिया बेहतर हो सकती है। इस तथ्य की पुष्टि एनसीबीआई की ओर से उपलब्ध रिसर्च पेपर से होती है (7)। इस वजह से सोते समय दूध पीने के फायदे त्वचा की नमी बढ़ाकर, ड्राई स्किन की समस्या से छुटकारा भी दिला सकते हैं।

आगे बढ़ते हैं

अब जानते हैं रात में दूध पीने के फायदे पाने के लिए दूध कैसे पीते हैं।

रात में दूध पीने का तरीका

रात में दूध पीने के फायदे को लेकर कई लोगों के मन में सवाल भी रहते हैं, जैसे कि सोते समय दूध कैसे पिएं या सोते समय दूध कब पिएं। इनके जवाब नीचे दिए गए बिंदुओं से समझ सकते हैं।

रात के समय दूध उपयोग करने का तरीकाः

  • रात के समय दूध हल्का गुनगुना या ठंडा करके पी सकते हैं।
  • रात में दूध पीने के फायदे पाने के लिए स्वादानुसार दूध में हल्दी, केसर या अन्य औषधीय पदार्थ भी मिलाकर पी सकते हैं।
  • रात के समय दूध में ड्राई फ्रूट्स को मिक्स करके मिल्क शेक बनाकर पी सकते हैं।
  • दूध से बने पकवान जैसे चावल या सूजी की खीर भी रात के समय खा सकते हैं।
  • रात के समय दूध के साथ हल्के-फुल्के आहार के तौर पर कॉर्न फ्लेक्स के साथ भी इसका सेवन कर सकते हैं।
  • डॉक्टर की सलाह पर रात के समय दूध में प्रोटीन या अन्य न्यूट्रिनिस्ट पाउडर डालकर पी भी सकते हैं।

नोट : रात में सोते समय या दिन में कभी भी कच्चा दूध नहीं पीना चाहिए, क्योंकि कच्चे दूध में कई तरह के बैक्टीरिया हो सकते हैं। इससे पेट से जुड़ी बीमारियों के होने की आशंका हो सकती है (8)।

रात के समय दूध पीने का सही समय

वैसे तो, दूध का सेवन किसी भी समय किया जा सकता है। जैसा लेख में बताया गया है कि दिन के मुकाबले रात को दूध पीने से नींद की गुणवत्ता अधिक बढ़ सकती है। ऐसे में दिनभर की थकान दूर करने व रात में गहरी नींद के लिए सोने से पहले रात के समय दूध पीना फायदेमंद माना जा सकता है। इसके लिए रात के समय दूध का सेवन भोजन करने के 2 घंटे बाद किया जा सकता है। वहीं, अगर किसी को पुरानी स्वास्थ्य स्थिति है, तो उन्हें अपने स्वास्थ्य के अनुसार ही दूध पीने का समय निर्धारित करना चाहिए। इस बारे में डॉक्टर की भी उचित सलाह ले सकते हैं।

रात के समय दूध कितना पिएं?

रात के समय दूध पीने की मात्रा उम्र के अनुसार तक की जा सकती है, जैसे (9) (10):

  • दूध में कैल्शियम व विटामिन डी की समृद्ध मात्रा होती है, ऐसे में 6 माह से बड़ी उम्र के शिशु से लेकर एक साल तक के शिशुओं को 800 से 1200 मिली दूध प्रतिदिन देना चाहिए।
  • वहीं, 1 से 3 साल की उम्र के बच्चों को प्रतिदिन दो कप दूध पीने के लिए दे सकते हैं।
  • इसके अलावा, इससे बड़ी उम्र के बच्चे व व्यस्क प्रतिदिन 2 से 3 कप दूध की मात्रा पी सकते हैं।
  • हालांकि, 19 से 50 वर्ष के बीच के लोगों को प्रतिदिन 2 कप (200 मिली) की मात्रा में दूध पीना चाहिए (11)।

स्क्रॉल करें

लेख के अंत में सोते समय दूध पीने से होने वाले दुष्प्रभाव भी जान लेते हैं।

रात में दूध पीने के नुकसान – Side Effects of Drinking Milk at Night in Hindi

जहां रात के समय दूध पीने के फायदे हैं, वहीं रात में दूध पीने के नुकसान भी देखे जा सकते हैं। नीचे रात में दूध पीने के नुकसान क्या हो सकते है, इसके बारे में विस्तार से पढ़ सकते हैं।

  • अगर अधिक मात्रा में दूध का सेवन किया जाए, तो दूध का लैक्टोज प्रभाव ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस (एक तरह का हॉर्मोन) का स्तर बढ़ा सकता है। इसके कारण कूल्हे का फ्रैक्चर व गंभीर स्थिति में मृत्यु का भी जोखिम बढ़ सकता है (12)।
  • जिन लोगों का शरीर पर्याप्त मात्रा में लैक्टोज का उत्पादन नहीं करता है, उन्हें दूध से एलर्जी हो सकती है। ऐसे में उन्हें दूध पीने के कारण पाचन से जुड़ी समस्या, जैसे- दस्त, पेट फूलना, गैस बनना, पेट में दर्द की समस्या हो सकती है। इसे मेडिकल टर्म में लैक्टोज इंटोलरेंस भी कहते हैं (8)।
  • गाय के दूध में पाए जाने वाले प्रोटीन हायपरसेंसिटिविटी के कारण, विशेष रूप से शिशुओं व छोटे बच्चों में दूध व दूध के उत्पाद कब्ज का कारण बन सकते हैं (13)।

तो दोस्तों, इस लेख के माध्यम से आपने यह जाना कि सोते समय दूध पीने के फायदे क्या-क्या हो सकते हैं। साथ ही यह भी जानकारी आपको मिली है कि अगर रात में दूध पीने के फायदे अधिक पाने हैं, तो इसके लिए आपको किस तरह से दूध रात को पीना चाहिए और कितनी मात्रा में दूध पीना चाहिए। वैसे देखा जाए, तो दूध के पौष्टिक गुणों की वजह से दूध का सेवन किसी भी समय किया जा सकता है। हम फिर भी यही सलाह देंगे कि आपको दूध पीने के अधिक फायदे कब हो सकते हैं, इसके बारे में अपने डॉक्टर की उचित सलाह भी जरूर लें। ऐसा इसलिए, क्योंकि हर किसी का स्वास्थ्य एक जैसा नहीं होता है। साथ ही रात में दूध पीने के नुकसान से बचने के लिए लेख में बताए गए सुझावों पर भी अमल कर सकते हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या रात में दूध पीने से वजन बढ़ सकता है?

रात में दूध पीने से वजन बढ़ सकता है या नहीं इस पर अध्ययनों की कमी है। हालांकि, दूध के प्रकार में मौजूद कैलोरी के आधार पर देखा जाए, तो इसका मिश्रित परिणाम मिल सकता है (9)। इस वजह से अगर आप वजन नियंत्रित रखना चाहते हैं, तो आपको रात को सोते समय अपने आहार में दूध के साथ अन्य कैलोरी उत्पाद की मात्रा नियंत्रित करनी चाहिए।

क्या रात में दूध पीने की वजह से कब्ज की समस्या हो सकती है?

जैसा कि हमने लेख में बताया है कि दूध का लैक्टोज प्रभाव व गाय के दूध में पाए जाने वाला प्रोटीन हायपरसेंसिटिविटी कुछ स्थितियों में पाचन से जुड़ी समस्याओं का कारण बन सकता हैं। इसमें कब्ज की भी समस्या हो सकती है। रात में दूध पीने के नुकसान के तहत कब्ज की समस्या कितनी गंभीर हो सकती है, इस विषय पर अभी और शोधो की आवश्यकता है।

References

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Milk Collected at Night Induces Sedative and Anxiolytic-Like Effects and Augments Pentobarbital-Induced Sleeping Behavior in Mice,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4638207/
  2. A review of sleep disorders and melatonin,
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/28460563/
  3. Tryptophan,
    https://pubchem.ncbi.nlm.nih.gov/compound/Tryptophan
  4. A comparative study of the antacid effect of some commonly consumed foods for hyperacidity in an artificial stomach model,
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/28917362/
  5. Effects of Dairy Products Consumption on Health: Benefits and Beliefs—A Commentary from the Belgian Bone Club and the European Society for Clinical and Economic Aspects of Osteoporosis, Osteoarthritis and Musculoskeletal Diseases,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4703621/
  6. Effects of a tryptic hydrolysate from bovine milk alphaS1-casein on hemodynamic responses in healthy human volunteers facing successive mental and physical stress situations,
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/15517308/
  7. A novel mechanism for improvement of dry skin by dietary milk phospholipids: Effect on epidermal covalently bound ceramides and skin inflammation in hairless mice,
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/25816721/
  8. Milk,
    https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/healthyliving/milk
  9. Nutritional Value of Milk,
    https://www.moh.gov.sa/en/HealthAwareness/EducationalContent/Food-and-Nutrition/Pages/milk.aspx
  10. Fortified Cow’s Milk and Milk Alternatives,
    https://www.cdc.gov/nutrition/infantandtoddlernutrition/foods-and-drinks/cows-milk-and-milk-alternatives.html
  11. How can I get enough calcium?,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK279330/
  12. Milk intake and risk of mortality and fractures in women and men: cohort studies,
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4212225/
  13. Review article: Chronic constipation and food hypersensitivity–an intriguing relationship,
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/17059511/
Was this article helpful?
thumbsupthumbsdown
The following two tabs change content below.

ताज़े आलेख