सामग्री और उपयोग

राइस ब्रान ऑइल (चावल की भूसी के तेल) के 15 फायदे, उपयोग और नुकसान – Rice Bran Oil Benefits in Hindi

by
राइस ब्रान ऑइल (चावल की भूसी के तेल) के 15 फायदे, उपयोग और नुकसान – Rice Bran Oil Benefits in Hindi Hyderabd040-395603080 September 3, 2019

चावल की भूसी के बारे में तो आप जानते ही होंगे। आमतौर पर इसका इस्तेमाल नहीं किया जाता है, लेकिन क्या आपको पता है कि चावल की भूसी से तेल तैयार किया जाता है, जिसे राइस ब्रान ऑयल के नाम से भी जाना जाता है। इसके कई सारे फायदे हैं, जो सेहत के लिए लाभदायक है। यही वजह है कि खाना बनाने के लिए पारंपरिक तेलों का प्रयोग करने की बजाए अब चावल की भूसी के तेल का इस्तेमाल किया जा रहा है। स्टाइलक्रेज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि राइस ब्रान ऑयल के फायदे क्या हैं। साथ ही राइस ब्रैन ऑयल के नुकसान की भी जानकारी देंगे।

राइस ब्रान ऑइल (चावल की भूसी के तेल) क्या है – What is Rice Bran Oil in Hindi

चावल के ऊपर की परत भूरे रंग की होती है। इसे छूने पर खुरदुरेपन का एहसास होता है। इसे ही भूसी कहा जाता है। इस भूसी को मशीनों की सहायता से निकाला जाता है और इससे तेल बनाया है। राइस ब्रान ऑयल को खाने में भी प्रयोग किया जा सकता है, क्योंकि इसका स्मोक पॉइंट 450 डिग्री फॉरेनहाइट है, जो उच्च तापमान पर खाना पकाने के लिए उपयुक्त है।

आगे जानिए कि राइस ब्रान ऑयल के क्या फायदे हैं, जो हमारे स्वास्थ्य के लिए प्रभावकारी हैं।

राइस ब्रान ऑइल के फायदे – Benefits of Rice Bran Oil in Hindi

यहां आपको राइस ब्रान ऑयल के स्वास्थ्य से जुड़े हुए कई फायदों के बारे में बताया जा रहा है। इन्हें जानकर आप विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं में राइस ब्रान ऑइल का इस्तेमाल कर सकेंगे।

1. हृदय स्वास्थ्य और कोलेस्ट्रॉल में

Rice bran oil for Heart health and cholesterol in hindi Pinit

Shutterstock

एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार, खाने में राइस ब्रान ऑइल इस्तेमाल करने से कोलेस्ट्रॉल के स्तर को काफी कम किया जा सकता है। कोलेस्ट्रॉन नियंत्रित रहने से ह्रदय संबंधी रोगों से बचा जा सकता है (1)। एक अन्य वैज्ञानिक शोध के अनुसार, हाइपरलिपिडेमिक रोगियों को कम कैलोरी आहार के साथ राइस ब्रान ऑइल का सेवन कराने से ह्रदय रोग के खतरे को कम किया जा सकता है (2)।

2. वजन घटाने में

वजन घटाने में भी चावल की भूसी के तेल के फायदे देखे जा सकते हैं। एक रिपोर्ट के आधार पर यह बताया गया है कि चावल की भूसी का तेल वजन घटाने में भी सहायक हो सकता है, क्योंकि यह वजन बढ़ने के लिए जिम्मेदार सीरम लिपिड्स को कम कर सकता है (3)। एक शोध में यह भी बताया गया कि चावल की भूसी के तेल में ओरिजनोल पाया जात है, जो मेटाबॉलिज्म की प्रक्रिया को बेहतर करता है, जो सही प्रकार से वजन घटाने में मदद कर सकता है (4)।

3. लीवर के स्वास्थ्य में सहायक

राइस ब्रान आयल के फायदे लीवर के स्वास्थ्य में भी देखे जा सकते हैं। एक शोध के अनुसार, राइस ब्रान ऑयल सीरम कोलेस्ट्रॉल और ट्रीग्लिसरॉइड्स के स्तर को कम करने में मदद करता सकता है, जो लीवर के लिए लाभदायक हो सकते हैं (1)। एक अन्य शोध के अनुसार राइस ब्रान ऑयल में अनसैपोनीवबल्स (unsaponifiables – तैलीय मिश्रण से बना एक यौगिक) मौजूद होता है, जो लीवर में मौजूद सीरम कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद कर सकता है, जो हमारे लीवर को स्वस्थ्य बनाए रखने में मदद कर सकता है (5)।

4. प्रतिरोधक क्षमता में लाभकारी

शरीर बीमारियों से बचा रहे, इसके लिए जरूरी है कि शरीर की प्रतिरोधक क्षमता मजबूत रहे। इस मामले में राइस ब्रान ऑइल पर भरोसा किया जा सकता है। वैज्ञानिक रिपोर्ट के अनुसार, राइस ब्रैन ऑयल के फायदे में शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद मिल सकती है, क्योंकि राइस ब्रान तेल में फाइटोकेमिकल्स और एंटीऑक्सीडेंट मौजूद होते हैं, जो बेहतर रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए जरूरी हैं (5)।

5. कैंसर में मददगार

Rice bran oil Helpful in cancer in hindi Pinit

Shutterstock

आपको जानकर हैरानी होगी कि कैंसर जैसी गंभीर बीमारी में भी राइस ब्रैन ऑयल के फायदे देखने को मिल सकते हैं। राइस ब्रैन ऑयल के फायदे कैंसर के खतरे को कम करने में क्या हो सकते हैं, इस विषय में वैज्ञानिक अध्ययन किया गया है। वैज्ञानिक शोध के अनुसार, राइस ब्रान ऑयल में विटामिन-ई और बायोएक्टिव फाइटोन्यूट्रिएंट्स के गुण पाए जाते हैं, जो एंटीकैंसर का काम करते हैं (5)।

6. एलर्जी में कारगर

राइस ब्रान ऑयल को प्रयोग करने के फायदे एलर्जी में भी देखे जा सकते हैं। आजकल कई ब्यूटी प्रोडक्ट्स में भी राइस ब्रान ऑइल का उपयोग किया जा रहा है, जो हमारी त्वचा को एलर्जी से बचाने में मदद कर सकते हैं (5)। वैज्ञानिक शोध के अनुसार, राइस ब्रान ऑइल में बायोएक्टिव कंपाउंड (bioactive compound) मौजूद होने के कारण यह एलर्जी से रक्षा करने वाली कोशिकाओं को बढ़ाता है और एलर्जी के खतरे को कम कर सकता है (6)।

7. रजोनिवृत्ति के लिए

महिलाओं में 40- 45 वर्ष के बीच एक ऐसी स्थिति आती है। उस अवस्था में राइस ब्रान ऑयल सहायक साबित हो सकता है। एक अध्ययन के मुताबिक, राइस ब्रान ऑइल में गामा ओरिजनोल पाया जाता है, जिसमें मासिक धर्म के बंद होने पर आने वाली समस्याओं को कम करने का गुण होता है (7)।

8. मधुमेह में राइस ब्रान ऑइल के फायदे

मधुमेह की समस्या में भी राइस ब्रान ऑयल के फायदे हो सकते हैं। पांच सप्ताह तक किए गए एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार यह देखा गया कि 18 ग्राम राइस ब्रान तेल का रोजाना 5 हफ्ते तक प्रयोग करने से कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित हो सकता है, जो सीधे तौर पर मधुमेह रोगियों को प्रभावित कर सकती है। शोध में यह भी पाया गया कि मधुमेह रोगियों को असामान्य कोलेस्ट्रॉल में सुधार करने के लिए राइस ब्रान ऑइल का सेवन करना चाहिए (8)।

[ पढ़े: मधुमेह (डायबिटीज, शुगर) के लक्षण, इलाज और घरेलू उपचार ]

9. त्वचा को चमकदार बनाने के लिए

त्वचा को चमकदार बनाने के लिए भी राइस ब्रान ऑइल का इस्तेमाल किया जा सकता है। एक शोध के मुताबिक, राइस ब्रान ऑइल त्वचा की सुरक्षा में सक्रिय भूमिका निभा सकता है, क्योंकि राइस ब्रान तेल में बायोएक्टिव कंपाउंड्स मौजूद होते हैं, जो त्वचा को सुंदर, कोमल और मुलायम बनाने में मदद करते हैं (5)।

10. डार्क-स्पॉट हटाने में

राइस ब्रान ऑइल को विटामिन-ई का बढ़िया स्रोत माना गया है, जो त्वचा पर उपस्थित डार्क स्पॉट्स को खत्म करने में मदद कर सकता है (5)।

11. मुंहासे में उपयोग

Rice bran oil for Acne in hindi Pinit

Shutterstock

मुंहासों में भी राइस ब्रान ऑइल के उपयोग देखे जा सकते हैं। एक शोध के अनुसार, 60 लोगों पर 6 महीने तक अध्ययन किया गया और देखा गया कि राइस ब्रान ऑइल का उपयोग करने से उनके मुंहासे कम होने लगे। ऐसा राइस ब्रान ऑइल में मौजूद विटामिन-ई के कारण हुआ (5)। विटामिन-ई मुंहासों को ठीक करने में प्रभावी हो सकता है (9)।

12. एंटी-एजिंग प्रभाव

राइस ब्रान ऑइल में ऐसा गुण भी मौजूद होता है, जो बढ़ती उम्र के असर को कुछ कम कर सकता है। साथ ही साथ राइस ब्रान तेल शरीर को ऊर्जावान भी बनाता है (6)।

13. खुजली के लिए

खुजली के लिए भी राइस ब्रान ऑइल के फायदे देखे जा सकते हैं। चावल की भूसी से बनने वाले इस तेल गामा-ओरिजनोल (gamma-oryzanol) नामक पदार्थ होता है, जो एंटी-इचिंग का काम करता है (10)। कुछ शैंपू में भी गामा-ओरिजनोल शामिल होता है, जो स्कैल्प पर होने वाली खुजली से राहत दिलाता है।

14. बालों का झड़ना रोके

अगर आपके बाल बड़ी तेजी से गिर रहे हैं, तो राइस ब्रान ऑइल इसमें आपकी मदद कर सकता है। जी हां, इस तेल में विटामिन-ई (अल्फा-टोकोफेरॉल के रूप में) पाया जाता है। जो बालों को मजबूती प्रदान करने में मदद कर सकता है। इस तेल के प्रयोग से बाल जड़ों से मजबूत हो सकते हैं (11) (12)।

15. बालों की ग्रोथ के लिए

Rice bran oil For hair growth in hindi Pinit

Shutterstock

बालों की अच्छी देखभाल के लिए भी राइस ब्रान ऑयल के फायदे देखे जा सकते हैं। बालों के बेहतर विकास के लिए विटामिन-ई की जरूरत होती है, जो राइस ब्रान ऑइल में पाई जाती है (5)। इस तेल में पाए जाने वाले गामा-ओरिजनोल (gamma-oryzanol) में बालों को डैंड्रफ फ्री बनाने का भी गुण होता है। इसलिए, बालों की ग्रोथ के लिए राइस राइस ब्रान ऑयल का प्रयोग किया जा सकता है (13)।

राइस ब्रान ऑइल के फायदे जानने के बाद आइए अब राइस ब्रान ऑयल के पौष्टिक तत्वों के बारे में जानते हैं ।

राइस ब्रान ऑइल के पौष्टिक तत्व – Rice Bran Oil Nutritional Value in Hindi

पोषक तत्वमात्रा प्रति 100 ग्राम
पानी0.00g
ऊर्जा884kcal
प्रोटीन0.00g
कुल लिपिड (वसा)100.00g
कार्बोहाइड्रेट0.00g
फाइबर (कुल डाइटरी)0.0g
शुगर (कुल)0.00g
मिनरल्स
कैल्शियम0mg
आयरन0.07mg
मैग्नीशियम0mg
फास्फोरस0mg
पोटैशियम0mg
सोडियम0mg
जिंक0.00mg
सेलेनियम0.0µg
विटामिन्स
विटामिन ई (अल्फा-टोकोफेरॉल)32.30mg
विटामिन के24.70µg
लिपिड्स
फैटी एसिड्स, टोटल सैचुरेटेड19.700g
फैटी एसिड्स, टोटल मोनोसैचुरेटेड39.300g
फैटी एसिड्स, टोटल पॉलीअनसैचुरेटेड35.000g
कोलेस्ट्रॉल0mg
फाइटोस्टेरोल्स1190mg

राइस ब्रान ऑइल के पौष्टिक तत्वों के बाद चलिए अब राइस ब्रान ऑइल के उपयोग के बारे में जानते हैं।

राइस ब्रान ऑइल का उपयोग – How to Use Rice Bran Oil in Hindi

How to Use Rice Bran Oil in Hindi Pinit

Shutterstock

राइस ब्रैन ऑयल के फायदे के अलावा इस तेल के अन्य कई उपयोग भी हैं, जो आप आसानी से अपने घर में कर सकते हैं। आइए जानते हैं राइस ब्रान ऑइल के प्रमुख उपयोग के बारे में :

खाना पकाने में : खाना पकाने के लिए राइस ब्रान ऑइल का प्रयोग किया जा सकता है, क्योंकि इसका स्मोक पॉइंट उच्चतम स्तर का होता है। आप सब्जियों को फ्राई करते समय इस तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके अलावा, दाल फ्राई के लिए भी आप राइस ब्रान ऑइल का प्रयोग कर सकते हैं।

पकवान तलने में – अक्सर घर में सरसों के तेल या रिफाइंड से बने पकवान ही चखने को मिलते हैं, लेकिन राइस ब्रान ऑइल के फायदों को देखते हुए पकवान बनाने में भी इसका प्रयोग कर सकते हैं।

साबुन बनाने में : राइस ब्रान आयल के उपयोग की दिलचस्प बात यह भी है कि इससे साबुन भी बनाया जा सकता है। जी हां, साबुन बनाने के लिए राइस ब्रान ऑइल के साथ- साथ अन्य तेलों को भी मिलाया जाता है। आप साबुन बनाते समय इसमें सोडियम हाइड्रॉक्साइड और शिया बटर का भी प्रयोग कर सकते हैं।

आइए, अब राइस ब्रैन ऑयल के नुकसान के बारे में भी जान लेते हैं।

राइस ब्रान ऑइल के नुकसान – Side Effects of Rice Bran Oil in Hindi

राइस ब्रान ऑइल को अगर ठीक तरीके से इस्तेमाल न किया जाए, तो इसके कुछ राइस ब्रान आयल साइड इफेक्ट्स आपको परेशान कर सकते हैं, जो इस प्रकार हैं :

  • राइस ब्रान ऑइल का सेवन करने से पहले यह निश्चित कर लें कि आप अल्सर जैसी बीमारी से पीड़ित तो नहीं हैं, क्योंकि अल्सर में राइस ब्रान आयल साइड इफेक्ट्स हानिकारक हो सकता है।
  • राइस ब्रान आयल में कैलोरी की मात्रा अधिक होती है (11)। इसलिए खाना बनाते समय जितनी आवश्यकता हो उतनी मात्रा में ही इसका प्रयोग करें, अन्यथा राइस ब्रान आयल साइड इफेक्ट्स से आपके शरीर में कैलोरी की मात्रा बढ़ सकती है।
  • राइस ब्रान ऑइल को कभी भी कच्चे रूप में न इस्तेमाल करें, राइस ब्रैन ऑयल के नुकसान आपके पाचन तंत्र को खराब कर सकता है।
  • अगर आप हृदय संबंधी किसी भी बीमारी से ग्रसित हैं, तो राइस ब्रान आयल साइड इफेक्ट्स से बचने के लिए इसके सेवन से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर कर लें।

आपने इस लेख में राइस ब्रान आयल के फायदे, राइस ब्रान ऑयल के उपयोग, राइस ब्रैन ऑयल के नुकसान के बारे में तथ्यों सहित संपूर्ण जानकारी पढ़ी। इससे यह स्पष्ट हो गया है कि चावल की भूसी के तेल का इस्तेमाल आपको कई तरीके से फायदा पहुंचा सकता है। आप स्वास्थ्य और शारीरिक संबंधित विभिन्न फायदों के लिए अपनी इच्छानुसार और जरूरत के हिसाब से चावल की भूसी के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर इस लेख से संबंधित कोई भी सुझाव देना चाहते हैं या सवाल पूछना चाहते हैं, तो आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स के जरिए हम तक अपनी बात पहुंचा सकते हैं।

और पढ़े:

The following two tabs change content below.

Somendra Singh

सोमेंद्र ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से 2019 में बी.वोक इन मीडिया स्टडीज की है। पढ़ाई के दौरान ही इन्होंने पढ़ाई से अतिरिक्त समय बचाकर काम करना शुरू कर दिया था। इस दौरान सोमेंद्र ने 5 वेबसाइट पर समाचार लेखन से लेकर इन्हें पब्लिश करने का काम भी किया। यह मुख्य रूप से राजनीति, मनोरंजन और लाइफस्टइल पर लिखना पसंद करते हैं। सोमेंद्र को फोटोग्राफी का भी शौक है और इन्होंने इस क्षेत्र में कई पुरस्कार भी जीते हैं। सोमेंद्र को वीडियो एडिटिंग की भी अच्छी जानकारी है। इन्हें एक्शन और डिटेक्टिव टाइप की फिल्में देखना और घूमना पसंद है।

संबंधित आलेख