घरेलू उपचार

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के घरेलू इलाज – Home Remedies To Boost Immunity in Hindi

by
रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के घरेलू इलाज – Home Remedies To Boost Immunity in Hindi Hyderabd040-395603080 October 17, 2019

क्या आप अक्सर सर्दी-जुकाम, एलर्जी या शारीरिक कमजोरी से पीड़ित रहते हैं? अगर हां, तो ये रोग प्रतिरोधक क्षमता के कमजोर होने के लक्षण हो सकते हैं। दोस्तों संक्रमण और बीमारियों से लड़ने के लिए इम्यूनिटी का मजबूत रहना बहुत जरूरी है। अगर कोई व्यक्ति रोग प्रतिरोधक शक्ति की कमजोरी से गुजर रहा है, तो उसके संक्रमण की चपेट में आने के आसार बढ़ जाते हैं। ऐसे लोगों के लिए स्टाइलक्रेज का यह लेख फायदेमंद साबित हो सकता है। इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे ही खाद्य पदार्थों के बारे में बता रहे हैं, जिनके सेवन से आप अपने इम्यून सिस्टम को बूस्ट कर सकते हैं।

आइए, सबसे पहले रोग प्रतिरोधक क्षमता की कार्यप्रणाली को समझ लेते हैं।

रोग प्रतिरोधक क्षमता क्या होती है – What is Immunity in hindi

रोग प्रतिरोधक क्षमता को समझना बेहद आसान है। दरअसल, रोग प्रतिरोधक क्षमता के अंतर्गत हमारे शरीर की कोशिकाएं और टिशू विभिन्न बीमारियों से बचाए रखने का काम करते हैं। रोग प्रतिरोधक शक्ति हमारे शरीर को ऐसा सुरक्षा कवच प्रदान करती है, जिससे शरीर जल्दी किसी साधारण बीमारी की चपेट में नहीं आता। इम्यून सिस्टम के कमजोर हो जाने पर अक्सर सर्दी-जुकाम और बुखार जैसी समस्या बनी रहती है। एक मजबूत रोग प्रतिरोधक शक्ति विभिन्न रोगाणुओं और संक्रामक बीमारियों से हमें बचा सकती है (1)

आइए, अब जानते हैं कि किन कारणों से हमारा इम्यून सिस्टम कमजोर हो सकता है।

इम्यून सिस्टम कमजोर होने के कारण – Causes of Low Immunity in Hindi

इम्यून सिस्टम कमजोर होने के कई कारण हो सकते हैं। यह आपके खाने से लेकर आपकी दिनचर्या तक से प्रभावित हो सकता है। नीचे जानिए इम्यून सिस्टम कमजोर होने के विभिन्न कारण (2)

  • प्रतिरोधक क्षमता का जन्म से कमजोर होना।
  • कैंसर के लिए कीमोथेरेपी या अन्य दवाओं के चलते।
  • अंग प्रत्यारोपण (organ transplants) के बाद, उस अंग को सक्रिय रखने के लिए ली जाने वाली दवाओं का सेवन करने से।
  • संक्रमण के कारण।
  • अल्कोहल का सेवन करना।
  • धूम्रपान करना।
  • शरीर में पोषक तत्वों की कमी होना।
  • एचआईवी (एड्स का मुख्य कारण)

लेख के अगले भाग में जानते हैं कि इम्यून सिस्टम कमजोर होने के लक्षण क्या-क्या हो सकते हैं। 

इम्यून सिस्टम कमजोर होने के लक्षण – Low Immunity Symptoms in Hindi

इम्यून सिस्टम कमजोर होने के कई लक्षण हैं, जो यहां नीचे बताए जा रहे हैं (3) :

  • बलगम वाली खांसी या सूखी खांसी
  • कंपकंपी लगना
  • जल्दी थकान का अनुभव होना
  • बेचैनी बनी रहना
  • बुखार आना
  • सिरदर्द होना
  • भूख न लगना
  • जी मिचलाना या उल्टी होना
  • गहरी सांस लेने में दिक्कत
  • सीने में दर्द

लेख के अगले भाग में आपको रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के घरेलू उपाय के बारे में जानकारी दी जा रही है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के घरेलू उपाय – Home Remedies To Boost Immunity in Hindi

रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने के लिए आप नीचे बताए जा रहे घरेलू उपाय का प्रयोग कर सकते हैं।

1. अदरक

1. अदरक Pinit

iStock

सामग्री :
  • एक चम्मच कूटा हुआ अदरक
  • एक कप से थोड़ा ज्यादा पानी
उपयोग करने की विधि :
  • सबसे पहले पानी को गर्म होने के लिए रख दें।
  • पानी को हल्का गर्म हो जाने पर इसमें अदरक को डाल दें।
  • अब इसे ढककर तीन मिनट तक उबलने दें।
  • अब इसे छानकर सेवन करें।
  • इस प्रक्रिया को हफ्ते में दो बार कर सकते हैं।
कैसे है लाभदायक :

आमतौर पर स्वास्थ्य संबंधी फायदे में अदरक का प्रयोग किया जाता है। यह इम्युनोन्यूट्रीशन और एंटी-इन्फ्लेमेटरी (immunonutrition and anti-inflammatory) प्रतिक्रिया से शरीर के कई प्रकार के रोगों को ठीक कर सकता है। साथ ही इसमें मौजूद एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण मांसपेशियों के दर्द पर प्रभावी असर दिखा सकते हैं (4)

2. लहसुन 

सामग्री :
  • लहसुन की 3 से 4 कलियां
  • आधा चम्मच शहद
उपयोग करने की विधि :
  • लहसुन को कूटकर पेस्ट बना लें।
  • अब इसमें शहद मिला लें।
  • अब इस पेस्ट का सेवन सुबह या शाम करें। 
कैसे है लाभदायक :

लहसुन के प्रयोग से भी इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाया जा सकता है। एक वैज्ञानिक अध्ययन के अनुसार, लहसुन में इम्यूनोमॉड्यूलेटरी (immunomodulatory) गुण पाया जाता है, जो इम्यून सिस्टम को मॉड्यूलेट करने में अहम भूमिका निभाते हैं, जिससे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ने में मदद मिलती है (5)

3. ग्रीन टी 

सामग्री :
  • एक ग्रीन टी बैग
  • एक कप गर्म पानी
  • स्वादानुसार चीनी (वैकल्पिक)
उपयोग करने की विधि :
  • एक कप गर्म पानी में ग्रीन टी-बैग डालें।
  • टी-बैग को दो-तीन मिनट तक कप में डालकर रखें।
  • अब टी-बैग निकाल दें।
  • स्वाद के लिए चीनी मिलाएं और ग्रीन-टी का आनंद लें। 
कैसे है लाभदायक :

रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ाने के लिए ग्रीन-टी का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। एक वैज्ञानिक अध्ययन के अनुसार, ग्रीन टी प्रतिरक्षा प्रणाली को ऑक्सीडेंट और मुक्त कणों (free radicals) से बचाकर मजबूत बनाने का काम कर सकती है (6)

4. हल्दी

4. हल्दी Pinit

iStock

सामग्री :
  • हल्दी की दो छोटी गांठ
  • शहद 1 छोटा चम्मच
  • एक कटोरी
  • एक बड़ा कप पानी 
उपयोग करने की विधि :
  • कटोरी में एक बड़ा कप पानी डालें।
  • अब इसमें हल्दी को भिगों दें।
  • इसे लगभग पांच से छह घंटे तक पानी में ही रहने दें।
  • फिर इसे निकाल लें और पीसकर पेस्ट बना लें।
  • अब इसमें शहद मिला लें।
  • अब एक छोटा चम्मच इस मिश्रण का सेवन करें।
  • इस विधि को हफ्ते में दो बार इस्तेमाल किया जा सकता है।
कैसे है लाभदायक :

इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए हल्दी के फायदे देखे जा सकते हैं। एक वैज्ञानिक रिपोर्ट के अनुसार, हल्दी का सेवन इम्यून सिस्टम को मजबूत बना सकता है। दरअसल, हल्दी में कर्क्यूमिन नामक तत्व पाया जाता है, जो इम्यून सिस्टम को मॉड्यूलेट करने का काम करता है (7)

5. सेब का सिरका 

सामग्री :
  • सेब का सिरका 1 चम्मच
  • लहसुन की 2 कलियां 
उपयोग करने की विधि :
  • एक कटोरी लें और उसमें सेब का सिरका डालें।
  • अब इसमें लहसुन की कलियां 1-2 घंटे तक भिगों दें।
  • सेब के सिरके में लहसुन को अच्छी तरह से अवशोषित (Absorbed) होने दें।
  • अब इसका सेवन सप्ताह में एक या दो बार किया जा सकता है। 
कैसे है लाभदायक :

सेब का सिरका भी इम्यून सिस्टम को मजबूत बना सकता है। दरअसल, सेब का सिरका इम्यूनोमॉड्यूलेटरी (immunomodulatory) प्रक्रिया को बढ़ावा देने का काम करता है, जिससे रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूती मिलती है (8)। एक अन्य रिपोर्ट भी इस तथ्य का समर्थन करती है कि सेब का सिरका इम्यूनिटी को बूस्ट करने का का काम कर सकता है (9)

[ पढ़े: सेब के सिरके (एप्पल साइडर विनेगर) के 21 फायदे, उपयोग और नुकसान ]

6. एसेंशियल ऑयल

सामग्री :
  • यूकेलिप्टस (नीलगिरी) तेल की 4-5 बूंदें
उपयोग करने की विधि :
  • संक्रमण और फंगल संक्रमण से प्रभावित त्वचा पर हल्के हाथों से तेल लगाएं।
  • सर्दी-जुकाम जैसी स्थितियों के लिए गर्म पानी में तेल की कुछ बूंदें डालकर भाप ली जा सकती है। हालांकि, इसके लिए एक बार डॉक्टरी परामर्श जरूर लें।

नोट – जिन लोगों की त्वचा संवेदनशील है, वो त्वचा पर तेल लगाने से पहले इसमें पानी की कुछ बूंदें मिला सकते हैं।

 कैसे है लाभदायक :

यूकेलिप्टस (नीलगिरी) एसेंशियल ऑयल इम्यून सिस्टम के कार्य में मदद कर सकता है। यह एंटीसेप्टिक और एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुणों से समृद्ध होता है, जो रोग प्रतिकार शक्ति बढ़ाने के उपाय में काम आ सकता है (10)। एक अन्य वैज्ञानिक शोध के अनुसार, नीलगिरी का तेल सिरदर्द, अस्थमा, बुखार और फ्लू जैसी समस्याओं पर प्रभावी असर दिखा सकता है (11)। हालांकि, यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को कैसे मजबूत बनाता है, इस पर अभी सटीक वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है।

7. विटामिन सी 

सामग्री :
  • दो-तीन कीवी
उपयोग करने की विधि :
  • कीवी को पानी से अच्छी तरह से धो लें।
  • अब इसके छिलके को साफ कर लें।
  • अब किवी को छोटा-छोटा काट लें और सेवन करें।
  • यह एक गुणकारी फल है, जिसका सेवन नाश्ते में किया जा सकता है।
कैसे है लाभदायक :

कीवी विटामिन सी का अच्छा स्रोत माना जाता है (12)। एक वैज्ञानिक अध्ययन के अनुसार, यह देखा गया है कि विटामिन सी इम्यून सिस्टम को मजबूत करने में मदद कर सकता है (13)

8. मशरूम

8. मशरूम Pinit

iStock

सामग्री :
  • मशरूम 100 ग्राम 
उपयोग करने की विधि :
  • मशरूम का सेवन आप आम सब्जी की तरह कर सकते हैं, लेकिन पकाने से पहले इसे अच्छी तरह धोकर जरूर उबाल लें। 
कैसे है लाभदायक :

मशरूम के सेवन को इम्युनिटी बढ़ाने के घरेलू उपाय में शामिल किया जा सकता है। एक वैज्ञानिक अध्ययन के अनुसार, मशरूम में ऐसे गुण पाए जाते हैं, जो इम्यून सिस्टम को मजबूत कर सकते हैं (14)

9. जिनसेंग 

सामग्री :
  • 2 चम्मच जिनसेंग का पाउडर
  • 1 गिलास पानी
उपयोग करने की विधि :
  • पहले पानी को गर्म कर लें।
  • अब इसमें जिनसेंग का पाउडर डालकर 2 मिनट तक उबलने दें।
  • अब इसे उतारकर ठंडा होने दें।
  • फिर इसका सेवन करें।
कैसे है लाभदायक :

जिनसेंग एक जड़ी-बूटी है। यह बाजार में जड़ के रूप में, टी बैग के रूप में और पाउडर के रूप में आपको मिल जाएगी। इम्युनिटी बढ़ाने के घरेलू उपाय में इसका प्रयोग किया जा सकता है। एक वैज्ञानिक अध्ययन के अनुसार, जिनसेंग रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाकर शरीर को संक्रामक बीमारियों से दूर रखने का काम कर सकती है (15)

10. अजवायन की पत्ती (ऑरिगेनो)

सामग्री :
  • 8-10 ऑरिगेनो की पत्तियां
  • नमक स्वादानुसार
उपयोग करने की विधि :
  • अजवायन की पत्तियों को धोकर बारीक पीस लें।
  • इसे एक कटोरी में रख लें।
  • ऊपर से नमक का छिड़काव करें।
  • अब इसका सेवन करें।
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता के कमजोर होने की स्थिति में इसका सेवन रोजाना एक बार किया जा सकता है।
कैसे है लाभदायक :

रोग प्रतिकार शक्ति बढ़ाने के उपाय में अजवायन की पत्ती लाभदायक साबित हो सकती हैं। दरअसल, ऑरिगेनो विटामिन ए से समृद्ध होता है, जो शरीर की रोग प्रतिरोधक शक्ति को मजबूत करने में मदद कर सकता है (16)

11. नींबू का जूस 

सामग्री :
  • नींबू
  • एक गिलास पानी
उपयोग करने की विधि :
  • पानी में नींबू के रस को मिलाकर सुबह खाली पेट इसका सेवन करें।
कैसे है लाभदायक :

रोग प्रतिकार शक्ति बढ़ाने के उपाय में नींबू के रस का सेवन कारगर साबित हो सकता है। दरअसल, नींबू में विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है (17)। विटामिन सी एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करता है, जो शरीर की रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाने में मदद करता है (13)

12. मनुका शहद

12. मनुका शहद Pinit

iStock

सामग्री :
  • मनुका शहद एक छोटा चम्मच 
उपयोग करने की विधि :
  • मनुका शहद को एक छोटे चम्मच में लें।
  • अब इसका सेवन सुबह और शाम करें। 
कैसे है लाभदायक :

रोग प्रतिकार शक्ति बढ़ाने के उपाय के रूप में मनुका शहद का सेवन किया जा सकता है। मनुका में एंटीमाइक्रोबियल गुण पाए जाते हैं (18)। शोधकर्ताओं के द्वारा किए गए एक अध्ययन में देखा गया है कि मनुका शहद के सेवन से रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाया जा सकता है (19)

13. सहजन (Moringa)

सामग्री :
  • सहजन के कटे हुए 6-7 छोटे टुकड़े
  • दो चम्मच खाना बनाने वाला तेल
  • नमक स्वादानुसार
 उपयोग करने की विधि :
  • सहजन को पानी से धो लें।
  • फिल एक पैन में तेल डालकर सहजन को भूरा होने तक फ्राई करें।
  • क्रंची रूप में फ्राई करने के बाद इसे प्लेट में डालें।
  • अब ऊपर से नमक का छिड़काव करें और खाएं।
  • आप सहजन की सब्जी बनाकर भी सेवन कर सकते हैं।
कैसे है लाभदायक :

रोग प्रतिरोधक क्षमता कैसे बढ़ाएं यह सवाल आपको जरूर परेशान करता होगा, लेकिन सहजन के सेवन से आप इस सवाल का जवाब पा सकते हैं। एक वैज्ञानिक अध्ययन के अनुसार, यह देखा गया है कि सहजन के सेवन से शरीर में फाइटोकेमिकल्स की मात्रा पर्याप्त रूप से मिल सकती है, जो इम्यून सिस्टम के लिए फायदेमंद हो सकती है (20)

14. जैतून का तेल 

सामग्री :
  • जैतून का तेल दो छोटे चम्मच
  • एक प्याज
  • एक टमाटर
  • एक मूली
  • एक खीरा
  • एक चुकंदर
  • नमक और नींबू का रस (स्वादानुसार)
उपयोग करने की विधि :
  • प्याज, टमाटर, मूली, खीरा और चुकंदर को सलाद के रूप में काटकर रख लें।
  • अब ऊपर से नमक, नींबू का रस और जैतून का तेल डालकर सभी सामग्रियों को अच्छी तरह से मिक्स कर लें।
  • इस प्रकार आप जैतून के तेल को सलाद में इस्तेमाल कर सेवन कर सकते हैं।
  • आप चाहें तो खाना बनाने में भी जैतून का तेल प्रयोग में ला सकते हैं।
कैसे है लाभदायक :

इम्युनिटी बढ़ाने के उपाय में जैतून का उपयोग भी शामिल हो सकता है। जैतून के तेल में विटामिन ई की मात्रा पाई जाती है (21)। इम्यून सिस्टम को मजबूत करने के लिए विटामिन ई एक जरूरी पोषक तत्व है, जिसकी शरीर में पूर्ति जैतून के तेल के जरिए की जा सकती है (22)

एक अन्य वैज्ञानिक शोध के अनुसार, इम्यून सिस्टम बढ़ाने के लिए जैतून के तेल का सेवन फायदेमंद हो सकता है (23)

14. प्रोबायोटिक्स (Probiotics)

सामग्री :
  • छाछ एक गिलास
उपयोग करने की विधि :
  • रोजाना दोपहर को खाना खाने के बाद एक कप छाछ का सेवन करें।
कैसे है लाभदायक :

प्रोबायोटिक्स एक प्रकार का बैक्टीरिया होता है, जो हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभदायक माना जाता है। दरअसल, प्रोबायोटिक्स के लिए छाछ एक अच्छा स्रोत माना जाता है, जो इम्यून सिस्टम को मजबूत करने का काम कर सकता है (24)

इम्युनिटी बढ़ाने के घरेलू उपाय जानने के बाद लेख के अगले भाग में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले आहार के बारे में जानते हैं।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले आहार – Immunity Boosting Foods in Hindi

 रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले आहार - Immunity Boosting Foods in Hindi Pinit

iStock

रोग प्रतिरोधक क्षमता कैसे बढ़ाएं यह सवाल आपको परेशान कर सकता है। एक वैज्ञानिक शोध में यह कहा गया है कि विटामिन सी इम्यून सिस्टम को मजबूत करने में मदद कर सकता है (13)।  लेख के इस भाग में आपको जानकारी दी जा रही है, कि किन-किन विटामिन सी युक्त फलों और सब्जियों का सेवन रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए किया जा सकता (12)

फल – संतरा, अंगूर, कीवी, आम, पपीता, अनानास, स्ट्रॉबेरी, रसभरी, ब्लूबेरी और तरबूज आदि।

सब्जी – ब्रोकोली, गोभी, पालक, शलजम का साग, सफेद आलू, टमाटर व कद्दू आदि।

अन्य खाद्य पदार्थ : जिंक इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने में मदद कर सकता है (25)। इसके लिए आप जिंक युक्त खाद्य पदार्थों (बादाम, लौकी के बीज, काजू व दही) का सेवन कर सकते हैं (26)

आइए, लेख के अगले भाग में अब जानते हैं कि रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय और क्या-क्या हो सकते हैं।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए कुछ और टिप्स – Other Tips To Increase Stamina in Hindi

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के अन्य टिप्स के लिए नीचे कुछ महत्वपूर्ण बिंदु दिए जा रहे हैं, जो रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में आपकी मदद करेंगे (27)

  • धूम्रपान न करें।
  • फलों और सब्जियों को आहार में शामिल करें।
  • नियमित रूप से व्यायाम करें।
  • स्वस्थ वजन बनाए रखें।
  • अल्कोहल के सेवन से बचें।
  • पर्याप्त नींद लें।
  • अपने हाथों को साफ रखें।
  • मांस को अच्छी तरह से पकाएं।
  • तनाव से मुक्त रहने की कोशिश करें।

अब तो आप यह जान गए होंगे कि स्वस्थ रहने के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता का मजबूत रहना कितना जरूरी है। लेख पढ़कर आप यह भी जान गए होंगे कि रोग-प्रतिरोधक क्षमता को कैसे मजबूत किया जा सकता है। अपने स्वास्थ्य के लिए दी गई जानकारी को गंभीरता से जरूर लें। आशा है कि आपको यह लेख पसंद आया होगा। लेख से संबंधित सवाल या सुझाव के लिए नीचे दिए गए कॉमेंट बॉक्स का सहारा लें। साथ ही हमें यह भी बताएं कि रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय अपनाकर आपका अनुभव कैसा रहा।

और पढ़े:

The following two tabs change content below.

Somendra Singh

सोमेंद्र ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से 2019 में बी.वोक इन मीडिया स्टडीज की है। पढ़ाई के दौरान ही इन्होंने पढ़ाई से अतिरिक्त समय बचाकर काम करना शुरू कर दिया था। इस दौरान सोमेंद्र ने 5 वेबसाइट पर समाचार लेखन से लेकर इन्हें पब्लिश करने का काम भी किया। यह मुख्य रूप से राजनीति, मनोरंजन और लाइफस्टइल पर लिखना पसंद करते हैं। सोमेंद्र को फोटोग्राफी का भी शौक है और इन्होंने इस क्षेत्र में कई पुरस्कार भी जीते हैं। सोमेंद्र को वीडियो एडिटिंग की भी अच्छी जानकारी है। इन्हें एक्शन और डिटेक्टिव टाइप की फिल्में देखना और घूमना पसंद है।

संबंधित आलेख