ड्राई स्कैल्प क्या है और इससे छुटकारा कैसे पाएं – 14 Home Remedies for Dry Scalp in Hindi

Written by
492174

बालों के साथ-साथ लोगों के लिए स्कैल्प का ख्याल रखना भी जरूरी है। कई बार लोग स्कैल्प से जुड़ी कई तरह की समस्याओं को अनदेखा कर जाते हैं। स्कैल्प की ड्राईनेस उन्हीं में से एक है। कई बार ड्राई स्कैल्प के कारण लगातार सिर में खुजली होने की समस्या हो सकती है। ऐसे में बेहतर है वक्त रहते ड्राई स्कैल्प की समस्या पर ध्यान दिया जाए। इसलिए, स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम ड्राई स्कैल्प के घरेलू उपाय की जानकारी दे रहे हैं। तो ड्राई स्कैल्प के उपाय के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी के लिए लेख को अंत तक पढ़ें।

लेख को पूरा पढ़ें

इस लेख में सबसे पहले बताएंगे कि ड्राई स्कैल्प क्या है।

ड्राई स्कैल्प क्या है?

सिर के ऊपर की त्वचा को स्कैल्प कहते हैं (1)। यह त्वचा जब रूखी हो जाती है, तो इस स्थिति को ड्राई स्कैल्प कहा जाता है। ऐसा स्कैल्प में सीबम यानी प्राकृतिक तेल का उत्पादन कम या न होने के कारण हो सकता है (2)। इसके अलावा, डैंड्रफ से भी स्कैल्प ड्राई हो सकती है। यही नहीं जब त्वचा में पानी खत्म होने लगता है, तो भी ड्राइनेस की समस्या उत्पन्न होती है। इसके अलावा, मौसम में बदलाव जैसे कि सर्दी और सर्द मौसम में चलने वाली शुष्क हवाओं के कारण भी सिर की त्वचा ड्राई हो सकती है (3) 

पढ़ना जारी रखें

ड्राई स्कैल्प कैसी दिखाई देती है?

जैसे कि हमने लेख कि शुरुआत में ही जानकारी दी है कि सिर के उपर की त्वचा स्कैल्प कहलाती है। वहीं, जब यही त्वचा रूखी होने लगे तो इस स्थिति को ड्राई स्कैल्प कहा जाता है। ऐसे में जैसे त्वचा में रूखापन होने से खुजली, लाल त्वचा और पपड़ी होने लगती है, वैसी ही स्थिति ड्राई स्कैल्प में भी उत्पन्न हो सकती है (3)। हालांकि, स्कैल्प का रूखापन बालों के कारण ठीक से दिखाई नहीं देता है, लेकिन इससे स्कैल्प पर सफेद चकत्ते हो सकते हैं।

आगे पढ़ें

अब हम जानते हैं ड्राई स्कैल्प और रूसी के बीच का अंतर।

ड्राई स्कैल्प और रूसी होने के बीच क्या अंतर है?

ड्राई स्कैल्प और डैंड्रफ के लक्षण लगभग समान होते हैं और कई मामलों में ड्राई स्कैल्प के कारण डैंड्रफ की समस्या भी हो सकती है (4)। लेख के इस भाग में हम ड्राई स्कैल्प और डैंड्रफ के बीच के अंतर से जुड़ी जानकारी दे रहे हैं। तो ड्राई स्कैल्प और रूसी के बीच अंतर कुछ इस प्रकार है:

ड्राई स्कैल्प– जानकारों का मानना है कि ड्राई स्कैल्प की समस्या त्वचा में नमी की कमी के कारण होती है। इसमें सिर में खुजली की समस्या हो सकती है। इसके साथ ही स्कैल्प पर सफेद रंग के फ्लेक्स हो जाते हैं।

डैंड्रफ– डैंड्रफ में सिर की त्वचा पपड़ीदार हो जाती है, ये परत पीले या सफेद रंग के होते हैं। डैंड्रफ से स्कैल्प में खुजली हो सकती है। यह आमतौर पर किशोरावस्था के बाद शुरू होता है, और पुरुषों में अधिक आम है। डैंड्रफ सेबोरहाइक डर्मेटाइटिस (Seborrheic dermatitis) या सेबोरिआ (Seborrhea) का एक लक्षण होता है। इससे त्वचा लाल हो सकती है और त्वचा में जलन की समस्या भी हो सकती है (1)

नीचे भी पढ़ें

आइए, अब जानते है ड्राई स्कैल्प होने के पीछे क्या-क्या कारण हो सकते हैं।

 ड्राई स्कैल्प के कारण – Causes of Dry Scalp in Hindi

आम कारणों के साथ कुछ चिकित्सीय समस्याएं जैसे:- सेबोरहाइक डर्मेटाइटिस (Seborrheic dermatitis), सोरायसिस (Psoriasis), डैंड्रफ और स्कैल्प प्यूरिटस (Scalp pruritus) की वजह से भी ड्राई स्कैल्प की समस्या हो सकती है। आइए, इन दोनों ही स्थितियों से संबंधित कारणों को जानते हैं (5) (6)

1. चिकित्सकीय समस्याएं और उनके कारण

सेबोरहाइक डर्मेटाइटिस (त्वचा संबंधी विकार) के कारण

यह त्वचा की स्थिति स्कैल्प पर लालिमा, रूसी और पपड़ीदार पैच के कारण बनती है। नीचे जानिए इसके होने के कारण –

  • तैलीय ग्रंथियों का अधिक सक्रिय होना।
  • तैलीय ग्रंथियों वाले क्षेत्र पर पाया जाने वाला मलसेजिया (Malassezia) नामक फंगस।
  • स्किन बैरियर फंक्शन में परिवर्तन।
  • जीन संबंधित दोष।

सोरायसिस (त्वचा संबंधी विकार) के कारण

सोरायसिस त्वचा संबंधी समस्या है, जिसमें त्वचा कोशिकाएं तेजी से बढ़ती हैं। इसमें त्वचा सफेद परतदार और लाल हो जाती है। साथ ही इसमें खुजली भी हो सकती है। नीचे जानिए इसके होने की वजह (7)

  • आनुवंशिक
  • उम्र (यह खासकर 15 से 35 साल के उम्र के लोगों को प्रभावित कर सकता है)
  • तनाव

स्कैल्प प्यूरिटस (त्वचा संबंधी विकार) के कारण

स्कैल्प प्यूरिटिस (Scalp pruritus) ऐसी समस्या है, जिसमें स्कैल्प पर खुजली की समस्या हो जाती है। आइए, इससे संबंधित कुछ कारणों को जानते हैं (8)

  • त्वचा संबंधित विकार।
  • तंत्रिका विकार।
  • मानसिक विकार।

2. आम कारण

ड्राई स्कैल्प के कुछ सामान्य कारण इस प्रकार हैं (9) (3) (2):

  • स्कैल्प एजिंग।
  • अधिक रसायनों से युक्त शैम्पू का अधिक इस्तेमाल।
  • कठोर पानी (Hard Water) का इस्तेमाल।
  • मौसम का प्रभाव।
  • बालों की देखभाल में कमी।
  • स्कैल्प में प्राकृतिक ऑयल (सीबम) का उत्पादन कम होना या न होना। 

आगे मुख्य जानकारी है

ड्राई स्कैल्प के कारणों के बाद अब हम ड्राई स्कैल्प के घरेलू उपाय बताने जा रहे हैं।

ड्राई स्कैल्प की समस्या से छुटकारा पाने के 14 घरेलू तरीके – Home Remedies for Dry Scalp in Hindi

रूखी स्कैल्प से छुटकारा पाने के लिए कई घरेलू उपायों को अपनाया जा सकता है। इन घरेलू उपाय की मदद से न सिर्फ स्कैल्प का रूखापन कम किया जा सकता है, बल्कि इससे बालों को भी लाभ पहुंच सकता है। नीचे हम उन्ही उपचारों की जानकारी दे रहे हैं :

1. ऑलिव ऑयल

सामग्री :

  • दो चम्मच जैतून का तेल

कैसे इस्तेमाल करें :

  • रात में सोने से पहले जैतून के तेल को अच्छी तरह से स्कैल्प पर लगाएं।
  • इसे रातभर के लिए छोड़ दें।
  • सुबह नहाने के समय शैम्पू से स्कैल्प और बालों को अच्छे से धो लें।
  • इस प्रक्रिया को हफ्ते में तीन से चार बार कर सकते हैं।

कैसे है लाभदायक :

ड्राई स्कैल्प के उपाय के रूप में जैतून के तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है। एक वैज्ञानिक अध्ययन के मुताबिक, जैतून के तेल में स्किन मॉइस्चराइजिंग प्रॉपर्टीज पाए जाते हैं  (10)। ऐसे में जैतून के तेल का यह गुण ड्राई स्कैल्प की समस्या पर सकारात्मक प्रभाव प्रदर्शित कर सकता है। इस आधार पर माना जा सकता है कि स्कैल्प और बालों के लिए जैतून तेल का उपयोग लाभकारी हो सकता है।

2. बादाम तेल

सामग्री :

  • आवश्यकता अनुसार बादाम तेल

कैसे इस्तेमाल करें :

  • रात को सोने से पहले बादाम तेल से स्कैल्प की मालिश कर के सोएं।

कैसे है लाभदायक :

बादाम तेल का उपयोग त्वचा और बालों के लिए फायदेमंद हो सकता है। कई वर्षों से बादाम तेल को सोरायसिस, एक्जिमा और रूखी त्वचा की समस्याओं के लिए किया जाता रहा है (11)। साथ ही यह त्वचा को आराम देने में भी सहायक हो सकता है। वहीं, हमने लेख की शुरुआत में ही जानकारी दी है कि सोराइसिस भी ड्राई स्कैल्प के कारणों में से एक है। ऐसे में इस आधार पर माना जा सकता है कि ड्राई स्कैल्प की समस्या से बचाव या राहत देने में बादाम तेल का इस्तेमाल लाभकारी हो सकता है। 

3. विटामिन ई कैप्सूल मास्क

सामग्री :

  • विटामिन-ई के पांच-दस कैप्सूल

कैसे इस्तेमाल करें :

  • सावधानीपूर्वक विटामिन-ई के कैप्सूल में सुराख करके इसका तेल एक कटोरी में निकाल लें।
  • इसे स्कैल्प पर लगाकर पांच-दस मिनट के लिए मालिश करें।
  • इसके बाद इसे कुछ देर तक लगाकर रखें और फिर शैम्पू से सिर को धो लें।
  • इसका उपयोग हफ्ते में एक बार कर सकते हैं।

कैसे है लाभदायक :

ड्राई स्कैल्प के लिए विटामिन-ई लाभकारी हो सकता है। दरअसल, विटामिन-ई का लंबे वक्त तक उपयोग त्वचा में पानी अवशोषित करने की क्षमता को बढ़ा सकता है (12)। इसके अलावा, विटामिन-ई में हाइड्रेटिंग गुण मौजूद होते हैं, जो त्वचा की बाहरी परत को हाइड्रेट कर ड्राई होने से बचा सकता है (13)। ऐसे में, इस आधार पर माना जा सकता है कि विटामिन-ई का उपयोग ड्राई स्कैल्प के घरेलू उपाय के तौर पर लाभकारी हो सकता है।

4. एलोवेरा

सामग्री :

  • एलोवेरा का एक पत्ता (एलोवेरा जेल)
  • पानी

कैसे इस्तेमाल करें :

  • एलोवेरा की पत्ते में से उसका जेल निकाल लें।
  • चाहें तो बाजार में मिलने वाले एलोवेरा जेल का उपयोग भी कर सकते हैं।
  • फिर इसमें पानी मिलाकर जूस बना लें।
  • इस जूस को बालों और स्कैल्प पर लगाकर कुछ मिनट के लिए मालिश करें।
  • मालिश के बाद 10-15 मिनट तक इसे लगा छोड़ दें और फिर सिर धो लें।
  • ड्राई स्कैल्प के उपाय के लिए इस प्रक्रिया को हफ्ते में एक बार कर सकते हैं।

कैसे है लाभदायक :

रूखे स्कैल्प से राहत पाने के लिए एलोवेरा का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन) की वेबसाइट पर पब्लिश एक वैज्ञानिक शोध की मानें, तो एलोवेरा में मॉइस्चराइजिंग गुण पाए जाते हैं, जो त्वचा में नमी के स्तर को बनाए रखने का काम कर सकता है। साथ ही यह ड्राई स्किन की समस्या के लिए भी लाभकारी हो सकता है (14)। ऐसे में, इस आधार पर यह माना जा सकता है कि ड्राई स्कैल्प के उपाय के तौर पर एलोवेरा उपयोगी हो सकता है।

5. एवोकाडो और केला

सामग्री :

  • एक पका केला
  • एक पका एवोकाडो
  • दो चम्मच ऑलिव ऑयल
  • एक कटोरी

कैसे इस्तेमाल करें :

  • एक कटोरे में पका हुआ केला और एवोकाडो को डालें और उसे अच्छे से मैश कर लें।
  • अब इसमें दो चम्मच ऑलिव ऑयल डालें और मिक्स करें।
  • अब इसे बालों और स्कैल्प पर लगाएं और करीब 15 मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें।
  • समय पूरा होने पर इसे धो लें।

कैसे है लाभदायक :

एवोकाडो और केले को भी स्कैल्प की ड्राईनेस के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। दरअसल, एवोकाडो के गूदे में मॉइस्चर मौजूद होता है (15)। वहीं, केला स्कैल्प को स्वस्थ रखने के साथ ही नमी को बनाए रखने में भी मदद कर सकता है (16)। इस कारण यह कहा जा सकता है कि स्कैल्प की ड्राईनेस दूर करने के लिए केले और एवोकाडो का मिश्रण लाभदायक सिद्ध हो सकता है।

6. शहद और नींबू मास्क

सामग्री :

  • दो चम्मच शहद
  • आधा चम्मच नींबू
  • एक बाउल

कैसे इस्तेमाल करें :

  • सबसे पहले एक बाउल में शहद और नींबू को अच्छे से मिला लें।
  • अब इस मिश्रण को पूरे स्कैल्प में अच्छी तरह लगाएं और थोड़ी देर सिर की मालिश करें।
  • इसे लगाने के बाद करीब आधे घंटे के लिए छोड़ दें।
  • फिर शैम्पू से अच्छी तरह स्कैल्प और बालों को धो लें।
  • इस विधि को हफ्ते में एक बार कर सकते हैं।

कैसे है लाभदायक :

ड्राई स्कैल्प के घरेलू उपाय के तौर पर शहद और नींबू का उपयोग कर सकते हैं। दरअसल, शहद का इस्तेमाल त्वचा में नमी प्रदान करने वाले क्रीम में किया जाता है। इसके साथ ही शहद को त्वचा से जुड़ी समस्याओं के लिए जैसे – सोरायसिस, सेबोरहाइक डर्मेटाइटिस, रूसी, टिनिया के लिए भी लाभकारी माना जाता है (17)। वहीं, हमने पहले ही जानकारी दी है कि सोरायसिस और सेबोरहाइक डर्मेटाइटिस भी ड्राई स्कैल्प के कारणों में से एक है। ड्राई स्कैल्प के घरेलू उपाय में नींबू का भी उपयोग किया गया है। बता दें कि नींबू डैंड्रफ का कारण बनने वाले फंगस के जोखिम को कम कर सकता है (18)। ऐसे में यह उपाय ड्राई स्कैल्प की समस्या के साथ-साथ डैंड्रफ के जोखिम को भी कम कर सकता है। 

7. जोजोबा ऑयल

सामग्री :

  • एक चम्मच जोजोबा ऑयल
  • पांच से छः बूंद टी ट्री ऑयल
  • एक बाउल

कैसे इस्तेमाल करें :

  • सबसे पहले एक बाउल में जोजोबा तेल और टी ट्री ऑयल को अच्छी तरह से मिलाएं।
  • अब इस मिश्रण को पूरे स्कैल्प पर लगाते हुए 5 मिनट तक सिर की मालिश करें।
  • इसे आधे घंटे के लिए छोड़ दें। फिर शैम्पू से सिर को अच्छी तरह धो लें।
  • अच्छे परिणाम के लिए इस तेल को पूरी रात लगाए रख सकते हैं।
  • इस उपाय को हफ्ते में तीन बार कर सकते हैं।

कैसे है लाभदायक :

स्कैल्प के रूखेपन से निजात पाने के लिए जोजोबा तेल को अपना सकते हैं। इससे जुड़ी जानकारी के मुताबिक जोजोबा तेल ड्राई स्कैल्प के इलाज में मदद कर सकता है। इस तेल में कंडीशनिंग और मॉइस्चराइजिंग गुण होते हैं, जो स्कैल्प के रूखेपन से छुटकारा दिला सकता है। साथ ही यह सोराइसिस और एक्जिमा के लिए भी लाभकारी माना गया है (19)। वहीं, टी ट्री तेल को स्कैल्प से जुड़ी समस्याओं के लिए लाभकारी माना गया है (20)। हालांकि कई बार इन तेल का इस्तेमाल करने से डैंड्रफ की समस्या बढ़ सकती है। ऐसे में इनके इस्तेमाल के बाद कुछ दिन इंतजार करें, अगर ऐसी कोई परेशानी न हो तो आगे भी इनका उपयोग करें। 

8. मेथी बीज

सामग्री :

  • दो चम्मच मेथी
  • आधा कप पानी
  • एक कटोरी

कैसे इस्तेमाल करें :

  • एक कटोरी में दो चम्मच मेथी को आधा कप पानी में भिगोकर रात भर रख दें।
  • सुबह इसे अच्छे से पीसकर इसका पेस्ट बना लें।
  • इस पेस्ट को बालों और स्कैल्प पर अच्छे से लगाएं।
  • अब इसे 30 मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें।
  • समय पूरा होने पर बालों को धो डालें।

कैसे है लाभदायक :

मेथी के बीज ड्राई स्कैल्प से परेशान व्यक्तियों के लिए सहायक साबित हो सकता है। दरअसल, मेथी के बीज में मॉइस्चराइजिंग और त्वचा को राहत देने वाला गुण मौजूद होते हैं (21)। ऐसे में इस आधार पर माना जा सकता है कि इन गुणों के कारण मेथी ड्राई स्कैल्प की समस्या में राहत प्रदान कर सकता है।

9. जिलेटिन मास्क

सामग्री :

  • एक चम्मच जिलेटिन पाउडर
  • एक चम्मच नींबू का रस
  • दो चम्मच पानी
  • कुछ पुदीने के पत्ते
  • एक बाउल

कैसे इस्तेमाल करें :

  • सबसे पहले पुदीना के पत्ते को ​थोड़े से पानी में कुछ मिनट उबालें। उबालने के बाद इसे अच्छी तरह पीस लें।
  • अब इसे थोड़ी देर ठंडा होने दे। उसके बाद एक कटोरी में पुदीने के पेस्ट में पानी, जिलेटिन पाउडर और नींबू के रस को मिलाएं।
  • इसे अच्छी तरह से मिलाने के बाद स्कैल्प पर लगाएं और करीब 10-15 मिनट तक सूखने दें।
  • इसके बाद सिर को अच्छी तरह शैम्पू से धो लें।
  • इस प्रक्रिया को हफ्ते में एक बार कर सकते हैं।

कैसे है लाभदायक :

अगर किसी के मन में ख्याल आ रहा है कि स्कैल्प को हेल्दी कैसे रखें, तो  जिलेटिन का उपयोग भी लाभकारी हो सकता है। एक वैज्ञानिक रिसर्च के अनुसार, जिलेटिन में नमी की मात्रा होती है (22)। वहीं, बकरी की त्वचा के जिलेटिन में भी भी मॉइस्चर मौजूद होता है (23)। इसके साथ यहां पुदीने का उपयोग भी किया गया है, जो त्वचा ठंडक और आराम प्रदान कर सकता है (24)। चाहें तो इस घरेलू उपाय में पुदीने के तेल का उपयोग भी कर सकते हैं। 

10. नारियल का तेल

सामग्री :

कैसे इस्तेमाल करें :

  • सबसे पहले नारियल के तेल को हल्का गर्म कर इसमें टी ट्री ऑयल मिला लें।
  • फिर सोने से पहले मिश्रण को स्कैल्प पर लगाएं और 5 मिनट तक मसाज करें।
  • अब इसे पूरी रात के लिए छोड़ दें और सुबह शैम्पू से अच्छी तरह स्कैल्प व बालों को धो लें।
  • इस उपचार को सप्ताह में दो बार दोहराएं।

कैसे है लाभदायक :

नारियल तेल भी स्कैल्प की ड्राईनेस को कम करने में सहायक हो सकता है। दरअसल, नारियल तेल को अच्छा मॉइस्चराइजर माना गया है (25)। साथ ही यह स्कैल्प और बालों को स्वस्थ और मुलायम रखने के साथ-साथ को पोषण देकर बालों को बढ़ाने में भी सहायक हो सकता है। साथ ही यह रूसी की समस्या से भी बचाव कर सकता है (26)। ऐसे में यह तेल बाल और स्कैल्प दोनों के लिए लाभकारी हो सकता है।

11. दही

सामग्री :

  • जरूरत अनुसार दही

कैसे इस्तेमाल करें :

  • एक कटोरी में आवश्यकता अनुसार दही लें।
  • फिर इसे नहाने के कुछ देर पहले स्कैल्प पर लगाएं।
  • कुछ देर लगा रहने के बाद शैम्पू कर लें।

कैसे है लाभदायक :

शोध में पाया गया है कि दही का उपयोग त्वचा का मॉइस्चर बेहतर कर सकता है (27)। ऐसे में इस आधार पर माना जा सकता है कि यह ड्राई स्कैल्प की समस्या पर सकारात्मक प्रभाव प्रदर्शित कर सकता है। इस विषय में सीधे तौर पर वैज्ञानिक शोध का अभाव है। हालांकि, दही का उपयोग बाल को कंडीशन करने, लंबा करने और रूसी की समस्या को दूर करने में सहायक हो सकता है (28)। ऐसे में दही को बाल और स्कैल्प के लिए उपयोगी माना जा सकता है।

12. विच हेजल

सामग्री :

  • दो चम्मच विच हेजल (बाजार में उपलब्ध)
  • एक कप पानी

कैसे इस्तेमाल करें :

  • विच हेजल को पानी में अच्छे से मिलाएं।
  • अब इस मिश्रण से बालों और स्कैल्प की अच्छे से मसाज करें।
  • 10 से 15 के लिए इसे ऐसे ही छोड़ दें।
  • समय पूरा होने पर साफ पानी से बालों को धो लें।
  • चाहें तो शैम्पू भी कर सकते हैं।
  • इस प्रक्रिया को हफ्ते में दो से तीन बार दोहराएं।

कैसे है लाभदायक :

एक शोध के मुताबिक, विच हेजल में टैनिन, गैलिक एसिड, कैटेचिन, प्रोएन्थोकायनिन, फ्लेवोनोइड (केम्पफेरोल, क्वेरसेटिन), एसेंशियल ऑयल (कारवाक्रोल, यूजेनॉल, हेक्सेनोल), कोलीन और सैपोनिन जैसे खास तत्व पाए जाते हैं। वहीं, शोध में इस बात का भी जिक्र किया गया है कि फ्लेवोनोइड और टैनिन की मौजूदगी के कारण इसमें प्रबल एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव पाए जाते हैं, जो एक्जिमा और सोरायसिस जैसे कई त्वचा संबंधी विकारों को दूर करने में सहायक साबित हो सकते हैं (29)। वहीं, हम पहले ही यह जानकारी दे चुके हैं कि ये समस्याएं स्कैल्प की ड्राईनेस की वजह बनती हैं। इस कारण ऐसा कहा जा सकता है कि स्कैल्प ड्राइनेस की समस्या में भी इसका उपयोग कारगर साबित हो सकता है।

13. टी ट्री ऑयल

सामग्री :

  • 5 से 6 बूंद  टी ट्री ऑयल
  • एक चम्मच जैतून का तेल
  • एक बाउल

कैसे इस्तेमाल करें :

  • एक बाउल में ऊपर बताए गए दोनों तेल को अच्छी तरह मिला लें।
  • अब इस मिश्रण को स्कैल्प पर अच्छी तरह लगाते हुए थोड़ी देर सिर की मालिश करें।
  • फिर इसे लगभग एक घंटे के लिए  छोड़ दें। बेहतर परिणाम के लिए सोने से पहले लगाकर रातभर के लिए छोड़ दें।
  • सुबह शैम्पू से बाल को अच्छे से धो लें।
  • इस उपाय को हफ्ते में तीन बार कर सकते हैं।

कैसे है लाभदायक :

टी ट्री ऑयल का इस्तेमाल कर रूखे स्कैल्प को स्वस्थ बनाया जा सकता है। दरअसल, टी ट्री ऑयल रूसी और स्कैल्प से जुड़ी समस्याओं से राहत दिलाने का काम कर सकता है (20)। वहीं, हम पहले ही जानकारी दे चुके हैं कि जैतून के तेल में मॉइस्चराइजिंग गुण होता है (10)। ऐसे में इन दोनों तेलों का मिश्रण स्कैल्प को स्वस्थ रखने में सहायक हो सकता है। 

14. पेट्रोलियम जेली

सामग्री :

  • जरूरत अनुसार पेट्रोलियम जेली

कैसे इस्तेमाल करें :

  • नहाने के कुछ घंटे पहले आवश्यकता अनुसार उंगली में पेट्रोलियम जेली लें।
  • फिर इसको स्कैल्प पर लगाएं।
  • उसके बाद नहाते वक्त शैम्पू कर लें।

कैसे है लाभदायक :

पेट्रोलियम जेली त्वचा के लिए मॉइस्चराइर की तरह काम कर सकती है (30)। इसके उपयोग से त्वचा की ड्राईनेस कम हो सकती है। ऐसे में स्कैल्प की त्वचा पर इसका उपयोग लाभकारी माना जा सकता है। हालांकि, कुछ मामलों में ये रूसी का कारण भी बन सकती है। इसलिए बेहतर है इसके उपयोग के बाद कुछ दिन इंतजार करें और अगर रूसी की समस्या न हो तो इसके उपयोग को जारी रखें।

लेख में बने रहे

चलिए, अब जानते है स्कैल्प को स्वस्थ रखने के लिए क्या करना है और क्या नहीं।

स्कैल्प को हेल्दी कैसे रखें – Do’s and Don’ts of Dry Scalp In Hindi

ड्राई स्कैल्प की स्थिति में कुछ चीजों का ध्यान रखना जरूरी है। ऐसे में स्कैल्प को स्वस्थ रखने के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना आवश्यक है। तो लेख के इस भाग में हम स्कैल्प को हेल्दी रखने के लिए क्या करें और न करें से जुड़ी जानकारी दे रहे हैं:

क्या करें :

  • नहाने से करीब एक घंटा पहले सिर में ऑयल लगाएं।
  • पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थ का सेवन करें।
  • शैम्पू करने के बाद बालों में कंडीशनर लगाएं।
  • रात में सोने से पहले स्कैल्प में तेल लगाकर कुछ देर मालिश करें।
  • बालों और स्कैल्प की साफ-सफाई का ध्यान रखें।
  • बाहर जाने से पहले बालों को स्कार्फ या कैप से ढकें।

क्या न करें:

  • नहाने के लिए कठोर पानी (Hard Water) का इस्तेमाल करने से बचें।
  • अधिक रसायन वाले शैम्पू का इस्तेमाल न करें।
  • स्कैल्प को प्रदूषण से बचाएं।
  • बालों व स्कैल्प पर बार-बार हीट या केमिकल ट्रीटमेंट कराने से बचें।
  • हर रोज शैम्पू न करें।

लेख अंत तक पढ़े

आगे जानिए, ड्राई स्कैल्प से निपटने के लिए जीवनशैली में किस तरह के बदलाव किए जा सकते हैं।

ड्राई स्कैल्प से निपटने के लिए जीवनशैली में बदलाव- Lifestyle Changes to Deal with Dry Scalp In Hindi

स्कैल्प के रूखापन से निपटने के लिए जीवनशैली में कई तरह के बदलाव करने पड़ सकते हैं। यह बदलाव कुछ इस प्रकार से हो सकते हैं।

  • बालों और स्कैल्प पर नियमित रूप से तेल, शैम्पू और हेयर मास्क का इस्तेमाल करें।
  • अधिक से अधिक हरी सब्जी और जूस को आहार में शामिल करें।
  • खूब पानी पीएं और खुद को हाईड्रेट रखें।
  • समय-समय पर तेल सिर की मालिश करें।
  • ध्यान रहे तेल लगाते वक्त हल्के हाथों से स्कैल्प और बालों की मालिश करें।

थोड़ा-सा ध्यान देने से ड्राई स्कैल्प और इससे होने वाली खुजली से राहत पाया जा सकता है। स्वस्थ और पोषण युक्त स्कैल्प पाने के लिए आसानी से मिल जाने वाली इन सामग्रियों का इस्तेमाल कर सकते हैं। तो अगर रूखे स्कैल्प की समस्या से परेशान हैं, तो ऊपर बताए गए उपायों को जरूर अपनाएं। साथ ही इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा शेयर करके, अन्य लोगों को भी ड्राई स्कैल्प के घरेलू उपायों से अवगत कराएं। इस लेख के अंत में जानेंगे ड्राई स्कैल्प से संबंधित सवालों के जवाब।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल :

क्या पीने का पानी ड्राई स्कैल्प की समस्या में मददगार साबित हो सकता है?

हां, पीने का पानी ड्राई स्कैल्प की समस्या के जोखिमों को कम कर सकता है। दरअसल कठोर पानी (Hard Water) का उपयोग इस समस्या के कारणों में से एक है। ऐसे में अगर पीने का पानी इस्तेमाल करते हैं, तो यह स्कैल्प के लिए फायदेमंद साबित हो सकता। फिलहाल, इस संबंध में कोई वैज्ञानिक अध्ययन उपलब्ध नहीं है। हालांकि, इससे कोई नुकसान नहीं है तो ट्रायल के तौर पर इसका उपयोग कर सकते हैं।

स्कैल्प से मृत त्वचा (डेड स्किन) को कैसे हटाएं?

जैतून के तेल, जोजोबा तेल या नारियल तेल से सिर की मालिश कर रात भर के लिए छोड़ देने के बाद माइल्ड शैम्पू से अच्छी तरह स्कैल्प को धोने पर मृत कोशिकाओं से छुटकारा मिल सकता है। इसके अलावा, घरेलू हेयर पैक का उपयोग भी लाभकारी हो सकता है।

स्कैल्प को नमी युक्त कैसे रखें?

स्कैल्प को नमी युक्त रखने के लिए जैतून का तेल, नारियल तेल या ऊपर बताए गए किसी भी घरेलू उपचार का इस्तेमाल कर सकते हैं।

क्या स्कैल्प का रूखापन अपने आप दूर हो जाता है?

नहीं, स्कैल्प का रूखापन बिना समाधान के अपने आप ठीक नहीं हो सकता है। अगर इसका सही समय पर  उपचार नहीं किया गया तो इससे स्कैल्प से जुड़ी अन्य समस्या हो सकती है और बालों को नुकसान भी हो सकता है।

ड्राई स्कैल्प के लिए डर्मेटोलॉजिस्ट कौन से शैम्पू के इस्तेमाल की सलाह देते हैं?

ड्राई स्कैल्प की स्थिति में डर्मेटोलॉजिस्ट ड्राई स्कैल्प के कारण का पता लगाकर उसी अनुसार शैम्पू का सुझाव दे सकते हैं।

रूखी स्कैल्प होने पर कितनी बार अपने बाल को धोने चाहिए?

ड्राई स्कैल्प की स्थिति में हफ्ते में दो से तीन बार माइल्ड शैम्पू से बाल धो सकते हैं।

क्या ड्राई स्कैल्प के लिए मुझे डर्मेटोलॉजिस्ट से मिलना चाहिए?

जी हां, अगर किसी का स्कैल्प अधिक रूखा या रूसी की समस्या है, तो उन्हें तुरंत विशेषज्ञ की मदद लेनी चाहिए।

ड्राई स्कैल्प और सोरायसिस के बीच क्या अंतर है?

ड्राई स्कैल्प में सिर की त्वचा रूखी हो जाती है और इसमें खुजली के साथ सफेद पपड़ी निकलने लगती है। वहीं, अगर सोरायसिस है, तो सिर खुजलाने पर खून निकल सकता है। इसके अलावा, त्वचा में सूजन और संवेदनशीलता बढ़ सकती है और लाल निशान पड़ सकते हैं (7)। वहीं, सोरायसिस ड्राई स्कैल्प की समस्या का कारण भी बन सकता है।

क्या ड्राई स्कैल्प से बाल झड़ते हैं?

हां, स्कैल्प के रूखेपन से बाल झड़ सकते हैं। दरअसल, ड्राई स्कैल्प की वजह से खुजली की समस्या हो सकती है। वहीं, स्कैल्प में बार-बार खुजली करने से बाल कमजोर होकर झड़ सकते हैं।

क्या ड्राई स्कैल्प तनाव का एक लक्षण है?

जी हां, तनाव का असर स्कैल्प पर पड़ सकता है। इसे तनाव का लक्षण भी माना जा सकता है (31)

संदर्भ (Sources) :

  1. Dandruff, Cradle Cap, and Other Scalp Conditions
    https://medlineplus.gov/dandruffcradlecapandotherscalpconditions.html
  2. Hair Cosmetics: An Overview
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4387693/
  3. Dry skin
    https://medlineplus.gov/ency/article/000835.htm
  4. AN OVERVIEW OF DANDRUFF AND NOVEL FORMULATIONS AS A TREATMENT STRATEGY
    https://ijpsr.com/bft-article/an-overview-of-dandruff-and-novel-formulations-as-a-treatment-strategy/?view=fulltext
  5. Dandruff and itching scalp Actions for this page Listen
    https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/conditionsandtreatments/dandruff-and-itching-scalp
  6. Seborrheic dermatitis
    https://medlineplus.gov/ency/article/000963.htm
  7. Psoriasis
    https://medlineplus.gov/ency/article/000434.htm
  8. The Itchy scalp – scratching for an explanation
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3233984/
  9. Scalp Condition Impacts Hair Growth and Retention via Oxidative Stress
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6369642/
  10. Enhancement of antioxidant and skin moisturizing effects of olive oil by incorporation into microemulsions
    https://www.researchgate.net/publication/309026048_Enhancement_of_antioxidant_and_skin_moisturizing_effects_of_olive_oil_by_incorporation_into_microemulsions
  11. The uses and properties of almond oil
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/20129403/
  12. Vitamin E and Skin Health
    https://lpi.oregonstate.edu/mic/health-disease/skin-health/vitamin-E
  13. Influence of vitamin E acetate on stratum corneum hydration
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/9706379/
  14. ALOE VERA: A SHORT REVIEW
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2763764/
  15. Avocado: characteristics, health benefits and uses
    https://www.scielo.br/j/cr/a/VqMdKHmY4y5zHgtJKjc98nS/?lang=en&format=pdf
  16. Traditional and Medicinal Uses of Banana
    https://www.phytojournal.com/vol1Issue3/Issue_sept_2012/9.1.pdf
  17. Honey in dermatology and skin care: a review
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/24305429/
  18. Quantification of the minimum amount of lemon juice and apple cider vinegar required for the growth inhibition of dandruff causing fungi Malassezia furfur
    https://www.isroset.org/journal/IJSRBS/full_paper_view.php?paper_id=1288
  19. Jojoba oil: Anew media for frying process
    https://juniperpublishers.com/ctbeb/pdf/CTBEB.MS.ID.555952.pdf
  20. Melaleuca alternifolia (Tea Tree) Oil: a Review of Antimicrobial and Other Medicinal Properties
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC1360273/
  21. Formulation and characterization of a cream containing extract of fenugreek seeds
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/20369794/
  22. Extraction optimization and characterization of gelatine from fish dry skin of Spanish mackerel
    https://iopscience.iop.org/article/10.1088/1755-1315/144/1/012036/pdf
  23. Characterization and functional properties of gelatin extracted from goat skin
    http://www.ifrj.upm.edu.my/25%20(01)%202018/(36).pdf
  24. Medically potential plant of labiatae
    http://docsdrive.com/pdfs/academicjournals/rjmp/2012/203-213.pdf
  25. A randomized double-blind controlled trial comparing extra virgin coconut oil with mineral oil as a moisturizer for mild to moderate xerosis
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/15724344/
  26. Formulation and Examination of Organic Oil and Shampoo from Fish Scales
    https://www.ijitee.org/wp-content/uploads/papers/v9i2s2/B11651292S219.pdf
  27. Clinical efficacy of facial masks containing yoghurt and Opuntia humifusa Raf. (F-YOP)
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/22152494/
  28. Curd : A sedative with a bonus bowl use of side effect
    https://irjponline.com/admin/php/uploads/2118_pdf.pdf
  29. A randomized double-blind controlled trial comparing extra virgin coconut oil with mineral oil as a moisturizer for mild to moderate xerosis
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/15724344/
  30. Moisturizers: The Slippery Road
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4885180/
  31. Hair loss
    https://medlineplus.gov/ency/article/003246.htm#:~:text=Physical%20or%20emotional%20stress%20may
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.

Suvina Attavar (Dermatologist & Hair transplant surgeon)

()
Dr. Suvina Attavar - I have a thirst for learning and a passion for Dermatology, Cosmetology and hair transplantation. I am well versed with lasers, chemical peels, and other minor dermatologic procedures. I have been doing hair transplants since 2018.  I have written articles on dermatology topics for Residream during my residency as well as for practo and icliniq. 

ताज़े आलेख

492174