सफेद बालों के लिए आंवला के फायदे और उपयोग – Benefits of Amla for Hair in Hindi

Written by

आंवला के गुणों के कारण इसका उपयोग लगभग हर भारतीय रसोई में प्रमुख रूप से किया जाता है। यह शरीर को स्वस्थ रखने के साथ ही बालों को भी सेहतमंद रखता है। शायद इसी वजह से असमय सफेद होते बालों के लिए घरेलू उपचार के रूप में लोग आंवला का उपयोग करते हैं। करें भी क्यों न, आखिर आयुर्वेद भी तो बालों की विभिन्न समस्याओं के लिए आंवला का उपयोग करने की सलाह देता है। इसी विषय पर स्टाइलक्रेज भी जानकारी लेकर आया है। यहां हम सफेद बालों के लिए आंवला का उपयोग करने के तरीके के साथ ही सफेद बालों के लिए आंवला कैसे फायदेमंद है, यह बता रहे हैं।

स्क्रॉल करें

आर्टिकल में सबसे पहले हम बता रहे हैं कि सफेद बालों के लिए आंवला किस प्रकार फायदेमंद है।

सफेद बालों के लिए आंवला के फायदे – Benefits Of Amla For White Hair in Hindi

आंवला में पाए जाने वाले पोषक तत्व और औषधीय गुण सफेद बालों की समस्या से निपटने में फायदेमंद साबित हो सकते हैं। इसी वजह से आगे हम सफेद बालों की समस्या के लिए आंवला के फायदे बता रहे हैं।

1. हेयर टॉनिक

बालों की समस्या से निपटने के लिए आंवला हेयर टॉनिक के रूप में कार्य करता है। रिसर्च में पाया गया कि सफेद बालों के लिए भी आंवला का उपयोग हेयर टॉनिक के रूप में किया जा सकता है। यह बालों के विकास में फायदेमंद होने के साथ ही उन्हें घना करने और बालों के प्राकृतिक रंग को बनाए रखने में मददगार हो सकता है। इसी वजह से कई शैम्पू और तेल में आंवले का उपयोग किया जाता है (1)।

2. विटामिन सी

आंवला ही नहीं, बल्कि आंवला का चूर्ण और तेल भी बालों को असमय सफेद होने बचा सकता है। रिसर्च में पाया गया कि आंवला चूर्ण बालों को पोषण देने के साथ ही उन्हें समय से पहले सफेद होने से रोकने में मदद कर सकता है। दरअसल, इसमें विटामिन सी होता है, जो प्रभावी एंटीऑक्सीडेंट है। इससे बालों को असमय सफेद होने से बचाने के साथ ही बालों के प्राकृतिक रंग को बरकरार रखने में मदद मिल सकती है (2)।

3. ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस कम करके

एक रिसर्च के अनुसार, ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस के कारण बाल समय से पहले सफेद हो सकते हैं। ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करने के लिए एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव को जाना जाता है (3)। आंवला इस एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव से समृद्ध होता है (4)। इस आधार पर कहा जा सकता है कि आंवला ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करके सफेद बालों की समस्या को दूर कर सकता है।

पढ़ना जारी रखें

आगे जानते हैं कि सफेद बालों के लिए आंवला का उपयोग कैसे कर सकते हैं।

सफेद बालों के लिए आंवला का उपयोग कैसे करें – How To Use Amla For White Hair in Hindi

सफेद बालों के लिए आंवला का उपयोग कई प्रकार से किया जा सकता है। यहां हम असमय सफेद होने वाले बालों के लिए आंवला के उपयोग के तरीके बता रहे हैं।

1. आंवला और मेथी मास्क

सामग्री:

  • दो चम्मच आंवला का तेल
  • दो चम्मच मेथी के पिसे हुए बीज (पाउडर)

कैसे करें इस्तेमाल:

  • सबसे पहले आंवला के तेल में मेथी के पाउडर को मिला लीजिए।
  • अब एक सार पेस्ट तैयार करके इसे हेयर मास्क के रूप में स्कैल्प और बालों पर लगाएं।
  • इस मिश्रण को बालों पर 10 से 15 मिनट लगा रहने दें।
  • इसके बाद बालों को शैम्पू से धो लें।
  • सप्ताह में एक बार इसका उपयोग किया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद:

आंवला के तेल में मौजूद विटामिन सी बालों को असमय सफेद होने से रोकने में मददगार हो सकता है (2)। इसके साथ जब मेथी का उपयोग किया जाता है, तो यह और प्रभावी तरीके से कार्य करता है। दरअसल, मेथी के बीज में एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव होता है (5)। हम ऊपर बता ही चुके हैं कि एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव से ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस कम होता है, जो बालों के सफेद होने का एक कारण है (3)। साथ ही मेथी में मौजूद एसेंशियल अमीनो एसिड और लेसिथिन फैट को भी सफेद बालों के लिए फायदेमंद माना जाता है (7)।

2. आंवला और नींबू का रस

सामग्री:

  • 1 बड़ा चम्मच आंवला का पेस्ट
  • 2 चम्मच नींबू का रस
  • 2 चम्मच गुड़हल के फूल का पेस्ट

कैसे करें इस्तेमाल:

  • सभी सामग्रियों को अच्छी तरह से मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें।
  • अब इस मिश्रण को स्कैल्प के साथ ही पूरे बालों पर लगाएं।
  • फिर इसे कम-से-कम 20 मिनट तक लगा रहने दें।
  • इसके बाद शैम्पू से बालों को धो लें।
  • इस विधि का उपयोग महीने में दो बार कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद:

जैसा के हम ऊपर बता चुके हैं कि आंवला का उपयोग बालों को असमय सफेद होने से बचा सकता है। यदि आंवला के साथ गुड़हल के फूल और नींबू का उपयोग भी किया जाए, तो यह और अच्छा परिणाम दिखा सकता है। रिसर्च के अनुसार, आंवला, मेथी के अलावा नींबू भी बालों की समस्या को दूर कर सकता है, जिसमें बालों का असमय सफेद होना भी शामिल है। साथ ही गुड़हल के इस्तेमाल को भी असमय सफेद होते बालों और झड़ते बालों की समस्या से बचाव के लिए अच्छा माना जाता है (8)।

3. आंवला और जैतून का तेल

सामग्री:

  • एक बड़ा चम्मच आंवला तेल
  • आधा चम्मच जैतून का तेल

कैसे करें इस्तेमाल:

  • एक बर्तन में दोनों तेल मिला लें।
  • अब इसे स्कैल्प और बालों पर अच्छी तरह लगा लें।
  • इसे तकरीबन आधे घंटे तक बालों में लगा छोड़ दें।
  • फिर बालों को माइल्ड शैम्पू से धोकर कंडीशनर लगाएं।
  • इस प्रक्रिया को हर हफ्ते दोहराया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद:

आंवला के साथ ही जैतून के तेल का उपयोग बालों के लिए कई तरह से फायदेमंद हो सकता है। रिसर्च में पाया गया है कि जैतून के तेल में ओलिक एसिड, मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड, फ्लेवोनॉयड्स, ट्राइटरपेंस और विटामिन-ई जैसे पोषक तत्व होते हैं। ये पोषक तत्व बालों की कई समस्याओं को दूर करने के साथ ही उन्हें सफेद होने और झड़ने से रोकने में फायदेमंद हो सकते हैं (6)।

4. सफेद बालों के लिए घर का बना आंवला तेल

सामग्री:

  • तीन से चार बड़े आकार के आंवला
  • 3 बड़े चम्मच नारियल तेल

कैसे करें इस्तेमाल:

  • सबसे पहले आंवला को स्लाइस में काट लें और उसके बीजों को निकालकर अलग कर दें।
  • अब इन स्लाइस को अच्छी तरह पीसकर रस निकालने के लिए निचोड़ लें।
  • इसके बाद एक बर्तन में नारियल का तेल गर्म करें और आंवले का रस डालें।
  • ध्यान दें कि गुनगुने तेल में यह रस डालना है।
  • आप चाहें, तो पहले तेल में आंवला का रस निकाल बचे अवशेष को दो मिनट पकाने के बाद इस रस को डाल सकते हैं।
  • अब इस तेल को तकरीबन 3 घंटे तक ऐसे ही छोड़ दें।
  • समय पूरा होने के बाद इस मिश्रण को कांच के जार में छानकर स्टोर कर लें।
  • जब भी जरूरत हो इस मिश्रण का उपयोग किया जा सकता है।

कैसे है फायदेमंद:

सफेद बालों के लिए आंवला के साथ नारियल तेल का उपयोग करना ज्यादा असरदार हो सकता है। एक रिसर्च में बताया गया है कि नारियल के तेल में आंवला मिलाकर बालों में लगाने से यह असमय बालों को सफेद होने की समस्या से बचाव कर सकता है। साथ ही यह मिश्रण बालों को मजबूत करने और एजिंग से बचाने में भी मदद कर सकता है (2)।

एक अन्य रिसर्च के अनुसार, प्रोटीन लॉस होने से बालों के सफेद होने की समस्या हो सकती है (8)। नारियल तेल बालों में प्रोटीन लॉस को कम करने और इसके स्तर को बनाए रखने में मददगार हो सकता है (9)। ऐसे में कहा जा सकता है कि नारियल तेल सफेद बालों की समस्या से बचाव करने में फायदेमंद साबित हो सकता है।

पढ़ते रहें लेख

आगे सफेद बालों के लिए आंवला के उपयोग से जुड़ी कुछ बातों पर एक नजर डाल लेते हैं।

आंवला के इस्तेमाल से संबंधित जरूरी बातें – Caution

सफेद बालों के लिए आंवला का उपयोग फायदेमंद हो सकता है, लेकिन इसके उपयोग से पहले कुछ बातों को ध्यान में रखना जरूरी है। ये बातें कुछ इस प्रकार हैं।

  • आंवला युक्त किसी भी हेयर मास्क को लगाने से पहले पैच टेस्ट जरूर करें।
  • हमेशा बालों को धोकर ही ये हेयर मास्क लगाएं।
  • अगर आंवला के साथ उपयोग की गई किसी भी सामग्री से एलर्जी हो, तो उसकी जगह किसी अन्य इंग्रीडिएंट का इस्तेमाल करें।
  • सफेद बालों की समस्या अधिक होने पर डॉक्टर से परामर्श लेना फायदेमंद हो सकता है।
  • आंवला से बालों को सफेद कर रहे हैं, तो धूम्रपान न करें। दरअसल, धूम्रपान समय से पहले बालों के सफेद होने का एक कारण है (10)। धूम्रपान न करने से आंवला का असर बालों में जल्दी नजर आ सकता है।

बालों का असमय सफेद होना एक आम समस्या बन गई है। समय रहते इस पर गौर न किया जाए, तो पूरे बाल सफेद हो जाते हैं। यहां हमने कई रिसर्च के आधार पर बताया है कि असमय सफेद बालों के लिए आंवला किस प्रकार उपयोगी साबित हो सकता है। आप लेख में बताए गए आंवला के उपयोग के हिसाब से बालों में हेयर मास्क लगाकर अपने बालों को सफेद होने से रोक सकते हैं। बस तो आंवला लगाएं और बालों के प्राकृतिक रंग को बनाए रखें।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या आंवला सफेद बालों को कम कर सकता है?

हां, आंवला बालों के प्राकृतिक रंग को बनाए रखने में मदद करता है, जिससे बालों के असमय सफेद होने की समस्या से बचा जा सकता है।

आंवला का उपयोग करने से सफेद बाल कितने समय में काले हो सकते हैं?

आंवला बालों को सफेद होने से बचाने का एक प्राकृतिक तरीका है, इसलिए यह अपना असर दिखाने में तकरीबन एक महीने का समय ले सकता है।

Sources

Articles on StyleCraze are backed by verified information from peer-reviewed and academic research papers, reputed organizations, research institutions, and medical associations to ensure accuracy and relevance. Read our editorial policy to learn more.

  1. Preclinical and Clinical Studies Demonstrate That the Proprietary Herbal Extract DA-5512 Effectively Stimulates Hair Growth and Promotes Hair Health
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5429933/
  2. Recent Trends in Potential Traditional Indian Herbs Emblica officinalis and Its Medicinal Importance
    %0D%0Adoi=10.1.1.1008.1346&rep=rep1&type=pdf” rel=”follow noopener noreferrer”>http://citeseerx.ist.psu.edu/viewdoc/download?doi=10.1.1.1008.1346&rep=rep1&type=pdf
  3. Oxidative Stress in Ageing of Hair
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2929555/
  4. Critical review of Ayurvedic Varṇya herbs and their tyrosinase inhibition effect
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4623628/
  5. STUDIES ON ANTI-OXIDANT ACTIVITY OF TRIGONELLA FOENUM GRAECUM SEED USING IN VITRO MODELS
    https://ijpsr.com/bft-article/studies-on-anti-oxidant-activity-of-trigonella-foenum-graecum-seed-using-in-vitro-models/?view=fulltext#:~:text=CONCLUSION%3A%20This%20study%20suggests%20that,a%20result%20of%20oxidative%20stress.
  6. Management of Greying of Hairs (Sheeb) and Use of Hair Dyes (Khizaab) in Unani Medicine
    https://www.academia.edu/39102285/Management_of_Greying_of_Hairs_Sheeb_and_Use_of_Hair_Dyes_Khizaab_in_Unani_Medicine
  7. PREPARATION AND EVALUATION OF HERBAL HAIR OIL
    http://ijrar.com/upload_issue/ijrar_issue_20542769.pdf
  8. Premature Graying of Hair: Review with Updates
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6290285/#:~:text=Reversible%20hypopigmentation%20of%20the%20hair,compared%20to%20the%20control%20group.
  9. Hair Cosmetics: An Overview
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4387693/
  10. Smokers’ hair: Does smoking cause premature hair graying?
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3673399/
Was this article helpful?
The following two tabs change content below.
सरल जैन ने श्री रामानन्दाचार्य संस्कृत विश्वविद्यालय, राजस्थान से संस्कृत और जैन दर्शन में बीए और डॉ. सी. वी. रमन विश्वविद्यालय, छत्तीसगढ़ से पत्रकारिता में बीए किया है। सरल को इलेक्ट्रानिक मीडिया का लगभग 8 वर्षों का एवं प्रिंट मीडिया का एक साल का अनुभव है। इन्होंने 3 साल तक टीवी चैनल के कई कार्यक्रमों में एंकर की भूमिका भी निभाई है। इन्हें फोटोग्राफी, वीडियोग्राफी, एडवंचर व वाइल्ड लाइफ शूट, कैंपिंग व घूमना पसंद है। सरल जैन संस्कृत, हिंदी, अंग्रेजी, गुजराती, मराठी व कन्नड़ भाषाओं के जानकार हैं।

ताज़े आलेख